सेक्सी फिल्म बीएफ हिंदी में वीडियो

छवि स्रोत,बंगाली सेक्सी बफ

तस्वीर का शीर्षक ,

ब्लू पिक्चर बीएफ दिखाओ: सेक्सी फिल्म बीएफ हिंदी में वीडियो, मैंने कुछ नहीं कहा, जब उसने कपड़े पहन लिए, तो मैं उसके गले लगा और हम बेड पर ही बैठ गए, हमने किस की.

इंडियन ब्लू फिल्म एचडी में

मैं अपनी चुत साफ़ करके कपड़े पहन कर रंडियों के बाज़ार में कस्टमर को पकड़ने के लिए जैसे बैठ गई. एक्स गुजराती बीपीफिर मैं अलका के पीछे पीछे किचन में जाने को ही था कि वो एक ट्रे में दो मग कॉफ़ी लिए आ गई.

मैं अपनी सहेली के भाई का सर अपनी चूत में दबा रही थी और उससे अपनी चूत चटवा रही थी. सक्सि videoकुछ देर बाद मेरा मोबाइल बजा और खाला का फ़ोन था, उन्होंने कहा- सो गए थे क्या?तो मैंने कहा- सोने की तैयारी कर रहा था.

कुछ ही देर की लंड चुसाई में जब मेरा पानी निकलने को हुआ तो मैं उससे बोला- मेरी रानी, मलाई निकलने वाली है.सेक्सी फिल्म बीएफ हिंदी में वीडियो: उसके दोनों हाथ मेरे हाथों में और मेरे दोनों पैर उसके दोनों पैरों को खोल के ऊपर सहलाते हुए और धीरे धीरे मैं उसकी चूत में अपना लंड डाल रहा था.

शाम को तबस्सुम का फोन आया कि तुम आज सेक्टर 7 में चली जाना और मैं बस स्टॉप पर तुम्हें लेने के लिए गाड़ी नम्बर 7819 आएगी.पता नहीं मुझे कभी माँ का सुख मिलेगा भी या नहीं?मैंने भाभी के कंधे पे हाथ रखते हुए बोला- भाभी सब ठीक हो जाएगा परेशान नहीं हो.

इंडियन भाभी का फोटो - सेक्सी फिल्म बीएफ हिंदी में वीडियो

हालाँकि बातचीत भी रिकार्ड की जा सकती है, लेकिन वह अक्सर लोग तब करते हैं जब इरादे ही नेक न हों।जबकि उसने पूछा कि इससे क्या होगा? क्या उसकी समस्या का समाधान हो पायेगा.आपको बता दूँ कि मैं जानबूझ कर ऐसा नहीं करता था, लेकिन जब ऐसा होता था तो मुझे कभी दीदी के चूचे दिख जाते थे, तो कभी उसके नंगे चूतड़ दिख जाते थे.

जब लंड ने हरकत करनी शुरू कर दी तो मैंने भी सब जगह घास डालना शुरू कर दी. सेक्सी फिल्म बीएफ हिंदी में वीडियो आह! आह! आह!”कुतिया जैसे जीभ पूरी बाहर निकाल के सुपारी को खूब अच्छे से लप लप लप करके चाटा.

वो धीरे धीरे सिसकारियां करने लगी- आह जानू उन्ह… ईयीई… आआहज… ओहो इह एयेए… ईया…इस तरह से वो सेक्स को बहुत ही एंजाय कर रही थी, उसकी चुत की सील टूट चुकी थी.

सेक्सी फिल्म बीएफ हिंदी में वीडियो?

अच्छा मैं भी तो चख कर देखूँ कि मेरा ये शब्बो” फल कितना मीठा है?” मैं ये कहते हुए उनको अपनी बांहों में भरने के लिए उनकी तरफ चल दिया. वहाँ से मैंने उनको फोन किया कि मैं आ गया हूं, आप कहाँ हो!वो बोले- 5 मिनट रुको, मैं आता हूं. वही नज़ारा बापू के आँखों के सामने था और उसका लंड अंडरवियर से बाहर निकलने को उछल गया.

फिर मैंने अपनी जीभ उनके मुँह में डाल दी और वह मेरी जीभ को चूसने लगी. लगभग 8-10 मिनट चूची चूसने के बाद मैंने उनका हाथ अपने लंड पर रख दिया. नाही मेमसाब, हम उनके घर के पास में छोड़ सकते हैं पर उनके घर नाही जा सकत हैं.

”फिर भाईजान अपने दोनों हाथों से मेरी दोनों चूचियों को पकड़ कर दबाते हुए मेरी चुत को जीभ से चाटने चोदने लगे. उनका लंड मेरी चूत में से पूरा बाहर निकल कर फिर से अंदर घुस जाता, जिससे मुझे बहुत मजा आ रहा था. कुचों और निप्पल के इस प्रकार हो रहे मर्दन से मेरी रेखा रानी बौरा सी गयी थी.

इस पर आंटी ने बिस्तर के नीचे से डेरी मिल्क की टॉफी निकाली और मेरे लंड पर और अपनी चुत पर रगड़ ली. मैंने अपने पैर उसकी दोनों तरफ कर दिया, जिससे मेरा लंड उसकी गांड के पास आ गया और मैं उसकी पीठ पर मालिश करने लगा.

मेरे एक तरफ जीजा जी सोये हुये थे और दूसरी तरफ प्रिया और उसके बगल में दीदी सोई हुई थी.

अहाना वहां भी कहीं नहीं थी।फिर ज़रूर बारिश का मौसम एन्जॉय करने ऊपर ही गयी होगी।ऊपर बड़े से हिस्से में छत बारिश के पानी से भीग रही थी। जिधर सीढियां खुलती थीं, उधर ही बरामदा और तीनों कमरे थे। दोनों कमरे देखे लेकिन वह वहां भी नहीं नज़र आई तो मुझे फ़िक्र हुई.

हवस की लगातार बढ़ती हुई तेज़ी धक्कों की रफ़्तार को और भी तेज़ किये जा रही थी. हाय फ्रेंडज़, यह मेरी पहली कहानी है, कोई ग़लती हो जाए तो माफ़ कर देना. उसने मना किया, लेकिन जब मैंने बताया कि मेरे घर कोई नहीं है, मम्मी नाना के घर गई हुई हैं.

अभी मज़े से ताज़ी चूत को चोद!”मैं बोला- रीनू, क्या ये अपनी बहन को चोदते हैं?वो बोली- भइया, अभी आप मेरी चूत को शांत कर दो, फिर सारी कहानी बताती हूँ. मुझे नवीन की किस्मत से जलन होने लगी थी कि इतनी मस्त परी जैसी जवानी को एक देहाती नौकर चूस रहा है. और मैं कभी कभी अपनी सहेलियों के साथ बाहर घूमने के लिए जाती हूँ, वो भी घर वाले मना कर देंगे.

एक अच्छे सेक्स के बाद एक दूसरे की बांहों में सोने का मज़ा ही अलग होता है.

उसने चुदास भरी आवाज में पूछा- हम दोनों कहां मिलेंगे?तो मैंने बोला- होटल बुक करते हैं. मैं सोच रहा था कि शशि मुंह बनाएगा, चीखेगा, चिल्लाएगा!परंतु मैं देख कर आश्चर्य चकित रह गया कि शशि का गोरा माशूक चिकना चेहरा शांत था, आंखें हल्के से बंद थीं, ओंठों पर हल्की मुस्कुराहट थी. डॉली की गांड तो मैंने कई बार मार चुका था तो जल्दी ही स्पीड पकड़ ली और तेज़ धक्के मारने लगा.

जब वो वापस कमरे में आयी तो काफी खूबसूरत लग रही थी, उसने गुलाबी कलर की टॉप और गुलाबी कलर की ही कैपरी पहनी हुई थी. शीतल अंदर से एक हाफ पैंट पहन कर अपनी गोरी गोरी जान्घें दिखाती हुई बाहर आयी और आकर सीधा मेरी जान्घों पे बैठ गयी. पिटाई का अंदेशा था तो जो वह कर रहे थे, जरूर वह गलत ही था, क्योंकि पहले शाहिद शाजिया के केस में भी इसीलिये तमाशा हुआ था।लेकिन उस तमाशे से भी उसे उसके सवाल का जवाब कभी मिल नहीं पाया था और इस बार भी उम्मीद नहीं कि मिल जाये.

उसके लंड में इतना दम न हो या उसका साइज़ इसके जैसा न हो तो फिर तुझे मजा नहीं आएगा.

वह इस बार और ज्यादा मस्ती में था, उचक उचक कर गांड में पिलवा रहा था. पर मैं पीछे हट गया… उसने फिर कोशिश की, मैं फिर पीछे हो गया… पर फिर मैंने नीचे होकर उसके होंठों को अपने होंठों में जकड़ लिया.

सेक्सी फिल्म बीएफ हिंदी में वीडियो आप गलत समझ रहे। मेरे पास बात करने के लिये बहन है और सहेलियां भी हैं।” ऐसा लगा जैसे कहते हुए उसके कंठ में आवाज़ फँस रही हो।जी इस तरह सभी के पास होते हैं लेकिन हर किसी से इंसान अपनी तड़प नहीं कह सकता, अपनी हर तकलीफ नहीं ब्यान कर सकता. अब आगे:अपनी बहू पूजा को चोद कर मुझे ऐसा लगा जैसे ये मेरी नई सुहागरात है.

सेक्सी फिल्म बीएफ हिंदी में वीडियो मैं उनके पास हो गया और उनको अपनी बांहों में लेकर बोला- किसी को कुछ भी पता नहीं चलेगा भाभी. मैंने उनको पूरी तरह से खोलने का सोचा और गुस्सा सा होकर बाहर जाने लगा.

इतना कहते ही उसने तुरंत मेरे पेंट की जिप खोली और लंड को तुरत खींचकर बाहर निकाला.

ओपन सेक्सी वीडियो गुजराती में

मैंने उसकी कमीज ओर ब्रा को निकाल दिया, जिससे उसके चुचे उछल कर बाहर आ गए. अब दीदी ने मेरे चेहरे को अपने हाथों में लिया और धीरे धीरे गाल पे किस करने लगी. मैंने भी स्पीड बढ़ा दी और इसका नतीजा ये हुआ कि डॉली ने भी मेरे मुँह पर अपना गाढ़ा पानी निकाल दिया, जिसे मैं बड़े मजे से चाट गया.

फिर मैं मसाज करते करते पेट से होते हुए चूत तक आया और चूत के आस-पास तेल लगाकर मसाज करने लगा. मैंने उसके पैरों को फिर से ऊपर किया और पैरों को फैला कर उसके अन्दर जोर से धक्का लगाया, उसकी चीख निकल गई और वो रोने लगी. पहले तो मैंने मना कर दिया, लेकिन बाद में सोचा इतने दिनों कोई लड़की नहीं पटी है, अब जब खुद पट रही है तो क्यों छोड़ू.

मैं अंदर चला गया और उनका एक पैर को बाथरूम में बनी सेल्फ़ के ऊपर रख दिया और नीचे बैठ कर उनकी साबुन वाली चूत को धो कर चाटने लगा और अपनी पूरी जीभ उसमें डाल दी.

हवस की लगातार बढ़ती हुई तेज़ी धक्कों की रफ़्तार को और भी तेज़ किये जा रही थी. दीदी की शादी हो चुकी थी लेकिन तीन साल पहले उनका डाइवोर्स हो गया था, तब से वो भी यहीं कानपुर में ही हमारे साथ रहती हैं. मेरे लण्ड को हाथ में पकड़ कर बोली- राज! तुम तो वाकई में मर्द हो, इतना बड़ा हथियार.

उसके आगे जाकर झुक जाती थी, मेरी स्कर्ट इतनी ऊपर थी कि पूरी गांड पूरी नंगी नजर आती थी. अगले दिन सुबह सुबह भाभी के पति का कॉल आया और उन्होंने बताया कि वो आज और नहीं आएंगे. सुबह जब मैं कमरे से बाहर निकली तो मेरी छाती बुरी तरह से दर्द से भरी थी.

[emailprotected]भाभी सेक्स स्टोरीज का अगला भाग:भाभी के जिस्म की चाहत-2. मैंने एक और धक्के के साथ पूरा लंड अन्दर डाल दिया और फिर अन्दर बाहर करने लगा.

पर इस बार मैंने झटके देना बंद नहीं किया और लगातार लंड से झटके देता रहा. ” उन्होंने ऐसा बोलकर, मेरे एक तरफ के गाल को अपने हाथों से नोंचा और बेडरूम की ओर चली गईं. मुझे मालूम था कि किसी औरत को उसके कान पे, गले पर, होंठों पे और उसकी जांघों से लेकर उसके भग्नासे को किस करने से उसको बहुत मजा आता है.

कुछ देर तक ऐसे ही हमारी सामान्य सी बातचीत होने लगी और हम पार्क के एक किनारे पर रखी बेंच पर बैठ गए.

फिर मैंने उसके दिए गए नंबर पर फोन किया तो उसने बोला कि थोड़ी देर बाद इसी नम्बर पर फोन करूंगी. अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज पढ़ने वाले मेरे सभी दोस्तों को मेरा नमस्कार. लालजी बोला- वन्द्या तुम बताओ कि तुम्हें प्रॉब्लम तो नहीं होगी क्योंकि तीन तीन नए लड़कों को झेल लोगी.

भाबी गांड उठाते हुए कहने लगीं- आह… जोर से चाटो… मेरा पति तो बस अपना लंड खड़ा करता है और डाल देता है… चूत कभी नहीं चाटता. फिर लगभग 1 महीने बाद एक औरत का मैसेज आया, जिसका नाम प्रेरणा (बदला हुआ) था, मैंने तुरंत उसे रिक्वेस्ट सेंड की, परंतु बहुत देर तक उसने एक्सेप्ट नहीं की.

मैं उसके पीछे पीछे चल पड़ी और जब वो दोनों होटल के किसी कमरे में जाने लगे तो मुझसे बोले कि तुम भी आ जाओ. पापा जी… नाउ ड्रिल मी डीप एंड फास्ट विद आल योर माईट!” बहूरानी भयंकर चुदासी होकर बोली और अपने नाखून मेरी पीठ में जोर से गड़ा दिए. उनकी मादकता से भरे नितम्बों अर्थात चूतड़ों की गोलाई मुझे इतना अधिक आकर्षित करती है कि बस पूछो ही मत.

अमेरिका सेक्सी सीन

उनको चाट के अलका के चूतरस का अलौकिक स्वाद लिया और उसे कंधों से पकड़ के उठा कर उसकी टॉप भी निकाल डाली.

बहुत खुजली मचती है इसको, बहुत आग है कमीनी में, आज तो अपने लंड के अमृत से इसकी प्यास बुझा ही दो. [emailprotected]कहानी का अगला भाग:रोहतक के मलंग ने हिला दिया पलंग-2. मैंने कहा- संध्या एक बात बोलूँ, तुम जितना वक़्त साथ हो, उतना तो वक़्त हम आसानी अच्छा बना सकते हैं.

वो तो बस चुदाई की फिल्म को देखते हुए अपने लंड को मसल रहा थाबिंदु ने उसके कंधे पर हाथ रख कर पूछा- क्या कर रहे हो?वो हड़बड़ा कर उठा, मगर उसका लंड उसके काबू से बाहर था. मैंने उससे अपनी प्रॉब्लम बता कर कहा- मुझे तुमसे दो तरह की सहायता चाहिए. नई एक्स वीडियोमैंने पता किया तो पता चला किसी कारण से खाला को इमरजेंसी में वापिस अपने घर कश्मीर अर्जेंट जाना पड़ा है इसीलिए वे चली गयी.

दो घंटे बाद उठ कर मैंने उनसे कहा- अब से अब घर में या तो पूरी नंगी रहोगी या सिर्फ पेंटी में रहोगी और जब बाहर जाओगी तो बिना पेंटी के ही जाओगी. [emailprotected]कहानी का अगला भाग:रोहतक के मलंग ने हिला दिया पलंग-2.

मैंने कहा कि दीदी मैं खाना खा रहा हूँ, मैं अभी नहीं जाऊंगा और वैसे भी मैं आपको कई बार देख चुका हूं. वो भी अब बहुत गर्म हो चुकी थी और बार बार कह रही थी- अब रहा नहीं जाता. मैंने भाभी को पटाया भी है और उनके घर में जा कर उन्हें चोद भी दिया है.

उसने जल्दी से अपनी कोमल बांहों का हार बापू के गले में डाल दिया और उसके सीने से चिपक गयी. मैंने उसके मम्मों के निप्पलों को अपने होंठों में भर कर मींजना शुरू कर दिया. चुदने के बाद बहूरानी पता नहीं कहां गायब हो गयी और मैं वापिस हाल में जाकर बैठ गया.

अगर तुम बुरा न मानो तो तुम मुझे पीछे से जकड़ कर मेरी चनक निकाल दो जिससे मेरी कमर एक बार चटक जाए तो शायद दर्द ख़त्म हो जाए.

अब मैंने दिनेश से कहा- लंच लेते हैं!उसकी पसंद के होटल में गए, वहां बढ़िया लंच लिया. वो बोल रही थी- और जोर से… और जोर से!मैं भी जोश में आकर जोर जोर से धक्के मार रहा था.

सोचा कि अगर इसकी बहन रेखा भी रस निकालने की ऐसी ही चैंपियन हुई तो बहनचोद मज़ा आ जायगा. किस से बात करनी है?मैं बोला- मैं राहुल बोल रहा हूँ, मुझे आपका नम्बर मेरे फ्रेंड से मिला है. मेरे हाथ ने महसूस किया उन्होंने बैकलेस चोली पहनी हुई थी जो सिर्फ दो डोरियों से बंधी हुई थी और ब्रा नहीं पहनी हुई थी फिर मेरे फिसल हाथ की कमर तक पहुँच गए थे … क्या चिकनी नरम और नाजुक कमर थी.

बुड्ढे लोग, बिन ब्याहे लड़के और लड़कियों के लिए छोटे वाले बैंक्वेट में फर्श पर बिस्तर बिछा दिए गए थे. फिर बोली कि आपको मैं कितनी खूबसूरत लगती हूँ?तो मैंने कहा कि इतनी कि बस देखता ही रहूँ. लालजी रुक गया, पीयूष मेरे पेटीकोट की गांठ को खोलने लगा, साथ ही मेरी नाभि को भी चूमने लगा.

सेक्सी फिल्म बीएफ हिंदी में वीडियो पर मेरी किस्मत में भी वो दिन आया जिसका मुझे इंतजार था और जब मैंने पहली बार सेक्स किया. !तब उस आदमी ने अपनी पकड़ को थोड़ा ढीली कर दी और आराम आराम से मॉम के चुचों को मसलने लगा.

सेक्सी वीडियो चुदाई हिंदी वाली

मेरे हाथ की कलाई के बराबर मोटा और आठ इंच लंबा लंड मेरे मुँह के सामने आ गया. मैं तुझे इसलिए समझा रही हूँ क्योंकि मैंने भी एक छोटे और पतले लंड से सील तुड़वाई थी और कसम से मुझे पहली बार में थोड़ा ही मजा आया था लेकिन जब मैंने दूसरी बार चुदवाया तो उस आदमी का लंड बहुत ही बड़ा और मोटा था, जिसने शुरू में मुझे बहुत दर्द दिया, पर बाद में बहुत मजा भी दिया. जब वापस आया तब पता चला कि दीदी और जीजा के बीच किसी बात पर कहासुनी हो गयी और जीजा जी गुस्सा होकर गेस्टरूम में चले गये हैं।दीदी ने मुझे खाना दिया और कहा कि मैं अपने लैपटॉप पर कोई अच्छी मूवी लगा दूँ.

वह खामखाह में अपनी मुनिया थोड़े रगड़ रहा था।” इस बार अहाना ने कहा।लल… लेकिन तब पूछा था तो क्यों नहीं बताया था।”क्योंकि तब ठीक से समझा नहीं सकती थी. इसलिए उसका भाई ने मेरे हाथ को पकड़ लिया और अपने हाथों से उसे सहलाने लगा. बीएफ पिक्चर ब्लू सेक्सी पिक्चरअब वो प्लान क्या था और दीदी को मैं किस तरह से चुदाई के लिए राजी कर पाया.

करीब 15 मिनट बाद अंजलि का पानी झड़ गया और वो वही बेहोशी जैसे होकर वहीं नंगी ही सो गयी.

देवेश के मुंह से निकला- आज बहुत दिनों बाद कोई टक्कर का मिला।उसके कान के पास ले जाकर धीरे से बोले- कभी मेरी मारना!अब देवेश उसकी कमर पकड़ चिपक कर रह गया, वो झड़ रहा था।उसके बाद सुमेर ने कहा- अब मेरी बारी है. लालजी बोला- वन्द्या तुम बताओ कि तुम्हें प्रॉब्लम तो नहीं होगी क्योंकि तीन तीन नए लड़कों को झेल लोगी.

मेरे मुख से निकला- ये क्या कर रहे हो तुम लोग? मधु… तू तो कह रही थी कि तुम लोग बाते करने आते हो?मधु सिटपिटाती हुई सी बोली- हं… हाँ सुनीता… मगर मैं क्या करती यार, इसकी बात ना मानो तो बुरा मान जाता है ये…राज बोला- सुनीता आ जाओ ना… नहीं तो तुम भीग जाओगी. उसने अपनी पैंटी को अपने हाथ से साइड में करके मेरी जीभ को अपनी चूत पर लगाने के लिए जगह बना दी. ”पूजा फिर रमेश का चुदाई पूरा साथ देने लगी, वो रमेश के ऊपर चढ़ के उसके सारे बदन को प्यार करने लगी.

मैंने आंटी की सलवार उतारी, उन्होंने अपने चूतड़ उठाकर सलवार उतारने में मेरी मदद की.

मुझे शुरु से ही आंटी और भाभियों को चोदना पसंद है, आज मैं आप को अपनी गर्लफ्रेंड की मां की चुदाई के बारे में बताऊंगा. फिर एक दिन जब मैं दिन के समय बाहर बैठा था और उनके सोने का इंतजार कर रहा था. मैं भाभी के चूचों को ब्रा के ऊपर से ही चूसने लगा और उनके निप्पल को काटने लगा.

দিদিকে চুদলামइसके बाद वो मेरे गले में किस करने लगीं, साथ में मेरी छाती पर भी हाथ फेरने लगीं. तब मैं कल का इन्तज़ार करने लगा, सुबह मैंने नहा कर लंड के बाल साफ किए.

सेक्सी गर्ल क्सनक्सक्स

इसके बाद मैंने उन्हें बेड पर लिटाया और पैर फैला कर चाची की चुत चाटने लगा. फिर मैंने बाथरूम में जाकर उसको याद कर के मुठ मारी और अपने कमरे में आ गया. कितना दुलार करेंगे आज आप मेरे साथ?बापू ने एक आशिक की तरह कहा- मैं तुमको बहुत चाहता हूँ मेरी गुड़िया, क्या तू अपने बापू को खुश करेगी?पद्मिनी एक मुस्कान के साथ बोली- ओफ्फो बापू.

अब तक की इस हिंदी में चुदाई की कहानी में आपने जाना था कि बाप अपनी बेटी से अपने लंड की मुठ मरवा रहा था, उसे मर्द के लंड की मुठ मारना सिखा रहा था. मैं अपने हाथों से उसकी पीठ पर हाथ फेरने लगा, कितना सुखद अनुभव हो रहा था! ऐसा लग रहा था कि ऐसा सुख हमेशा मिलता रहे. जैसे ही लालजी के लंड के सुपारे की चमड़ी को नीचे खींचा उसका लाल गुलाबी आंवला जैसा सुपारा मेरे सामने आ गया.

तो फिर उनके पापा जो मम्मी को अब भी चोदा करते थे, उन्हें बताया तो उन्होंने फिर जाकर अपनी बेटियों को सच्चाई बताई! तब उन्हें विश्वास हुआ. फिर मैंने अपने आपको उससे छुड़ाते हुए कहा- अगर किसी ने देख लिया तो गड़बड़ हो जाएगी. मेरे एक तरफ जीजा जी सोये हुये थे और दूसरी तरफ प्रिया और उसके बगल में दीदी सोई हुई थी.

कुछ समय बाद ज्योति को पेशाब लगी और जैसे ही वो पेशाब करने को उठी तो उससे चला नहीं गया क्योंकि उसकी चूत कई जगह से कट फट गई थी. मैं बड़े आराम से उसके होंठों को चूमता रहा, वो नीचे दर्द की अधिकता से मचलती और तड़फती रही.

उसने कहा- मैं किसी लड़के को नहीं जानती हूँ और इसमें मुझे डर भी लगता है.

उस बीच मैंने उनसे बहुत बार माफी माँगी तो उन्होंने बोला- मैं तुम्हारे उस सवाल से गुस्सा नहीं हूँ लेकिन तुम शराब पी के आए. बीएफ फुल सेक्सी वीडियो हिंदी मेंमैंने चूत तो बहुतों की बहुत मारी है, पर जो मजा पिया की चूत चुदाई से मिला, वो कभी किसी चूत ने नहीं दिया. हिंदी बीएफ देवर भाभी चुदाईसो मैं पीछे के दरवाज़े से सीधा मॉम के कमरे में ही जाके मॉम को सरप्राइज देता हूँ. तो बोलो मेरे ब्वॉयफ्रेंड बनोगे?मैं- भाभी ये भी कोई पूछने वाली बात है.

मैंने पहले तो सिर्फ उनके होंठों को अपने होंठों से छुआ फिर कुछ सेकंड बाद अपने होंठों से उनके होंठों को चूसने लगा.

फिर एक दिन भाभी मेरे पास बड़ी खुश होते हुए आईं और वो बोलीं- मैं माँ बनने वाली हूँ. हमारे दोनों मेहमान भी हमारे नजदीक आ गए, आर्थर अपनी जीभ से मेरी जन्म-जन्मान्तर की साथी की चूचियों को चाटने लगा, एरिक उसके क़दमों में बैठ कर उसकी सुगन्धित, गुलाबी, क्लीन शेव्ड चूत को चाटना शुरू हो गया. डॉली ने मेरे लंड को बहुत सारा थूक लगा कर गीला किया और एकता को इशारा किया.

जो बातें कर रहे थे ब्लू फिल्म देखने के बाद और चुदने के टाईम, वह सब भी फिल्म में है।मैं बेबसी से होंठ कुचलती उसे देखने लगी।समर- वैसे मेरी आदत है लोगों के वीडियो शूट करने की. बहुत बड़ा घर था और बहुत ही अच्छा घर था उसका।उसने कहा- आप नहा लीजिये, मैं नाश्ता लगाती हूँ. पद्मिनी वैसे ही बैठी और बापू के मोटे लंड को अपनी छोटी चूत पर महसूस करके सिमट गयी.

हिंदी में सेक्सी फिल्म चलती हुई

उसने जैसे ही आँखें खोलीं, मैंने एक रोमांटिक सी शायरी बोलते हुए उसे वो फूल दे दिया. मैंने अपनी चूत मसलते हुए कहा- जल्दी मार लो मेरी चूत!वो हँसता हुआ बोला- चूत तो मार चुका हूँ, अब गांड की बारी है. उसने नम्बर तो मिला दिया, तो मैंने उसके देखे बिना ही काट दिया और बोलने लगी- मैं सर कल आपसे बात करूँगी.

फिर भाभी ने मेरी पैन्ट खोली और मेरा लंड बाहर निकल कर हाथ में पकड़ कर कहा- ये तो तुम्हारे भईया से बड़ा है.

उसने मेरा नाम पूछा और फिर अपना नाम बताते हुए कहा- आपका नम्बर मुझे एक लेडी ने दिया है.

लेकिन अगर आप चाहें तो बता सकते हैं कि अगला पार्ट आना चाहिए या कहानी यहीं खत्म करूँ।शायद यह भाग आपको बोरिंग लगा हो या पसंद ना आया हो. वह भी समझ चुका था कि उसे निदा के साथ गुज़रे पलों के बारे में सब पता था, हालाँकि खुद नितिन को यह नहीं पता था कि मैं अन्तर्वासना पे कहानी ही लिख रखी थी। उसे लगा था कि मैंने उसे सेक्स चैट के दौरान बताया होगा।फिर उसने जो मलाई रखी थी वह रज़िया को दे दी और रज़िया ने ही न सिर्फ अपने पूरे जिस्म पर वो मलाई मली और हम दोनों के जिस्मों पर भी उसी ने मल दी. आसामीस सेक्स वीडियोभाभी ने मुझे कहा- राज! जब भी मेरी कमर में दर्द होगा तो मैं तुम्हें बुलाऊंगी और तुम आ जाना.

ये सब इतने कामुक ढंग से हो रहा था कि मेरे लंड की तो समझो वाट लग गई थी. फिर वहाँ से निकल कर हम लक्ष्मणझूला आ गये, वहां संजू ने होटल बुक किया और मंजू को आराम करने को बोल कर हम दोनों फिर से शराब की तलाश में निकल गये!रास्ते में ही संजू को कोई फ़ोन आया उसने मुझे बताया कि उन्हें परसों सुबह ही निकलना पड़ेगा. इस तरह से उसे पूरा सेक्स चढ़ गया तब उसने कहा- मैं तुझे सब दूंगी लेकिन मुझसे शादी करनी होगी!मैंने भी पूरे सेक्स में होने की वजह से कहा- ठीक है!उसके बाद वो तो पागलों की तरह मुझे पकड़ कर किस करने लगी.

सुहैल तो अपने हाथ से अपनी मुनिया रगड़ रहा था, तुम कैसे रगड़ती हो?”यही तो परेशानी है कि लड़की कैसे रगड़े। ऐसे में उसे लड़के की जरूरत पड़ती है जिसकी मुनिया में भी खुजली हो रही हो।”फिर?” मैंने अविश्वास से दोनों को देखा।फिर क्या. शादी के दौरान खाला ने मेरे साथ खूब अपनी सेल्फ़ियाँ ली और मुझसे पूछा कि मेरी कितनी गर्लफ्रेंड हैं.

चिकन तो दिख रहा था लेकिन कुछ कमी लग रही थी और मैं अपने बेटे से दारू की कैसे कहूँ? यह सोच कर मैं सोच में डूबी हुई थी.

मेरे सारे दोस्त उस पर डोरे डालते थे, पर वो सभी के लंड खड़े करवा के किसी को भी घास नहीं डालती थी. थोड़ी देर में शादी होकर निबट गई और आधी बारात भी वापिस चली गई लेकिन वो दोनों बहिनें वहीं की वहीं थीं. सो मैं पीछे के दरवाज़े से सीधा मॉम के कमरे में ही जाके मॉम को सरप्राइज देता हूँ.

बाप और बेटी की बफ मैंने मॉम की चुत चाटी और 5 मिनट बाद फ्रिज से आइसक्रीम निकाल कर लाया और मॉम की चुत पर मल कर चूत चाटने लगा. दूसरे वो शराब के नशे में भी थी, इसलिए उसने अपनी चुत की फांकों को खोल खोल कर अपना पेट आगे पीछे करने में लग गई.

सच में पानी छोड़ने के बाद मैं जब उसके ऊपर पड़ा था, तो बहुत अच्छा फील कर रहा था. क्योंकि हम दोस्त की तरह थे तो मैंने कह दिया कि दीदी आप तो बहुत सेक्सी लग रही हो. मैं उसके मम्मों का रसपान करने लगा, बीच में नाभि को चूमने पर अकड़ जाती थी.

बंगाली सेक्सी ब्लू बंगाली सेक्सी

तब हम तक वहां छह लोग हो चुके थे, तेरी मम्मी सभी छह लोगों से एक साथ जमके चुदवाई और पांच हजार रुपए लिए और आ गई. उन दोनों ने पूरी रात में बहुत बार मेरी वाइफ को चोदा और हर बार उन दोनों अपना माल मेरी वाइफ की चुत में ही निकाला. मेरा साइज जहां बत्तीस डी था, वहीं उसका साईज चौंतीस बी था।इसके अलावा उसकी घुंडियां बाहर निकली हुईं और बड़ी थीं जबकि मेरी घुंडियां छोटी और पिचकी हुई थीं। कुछ हद तक मुझे हीनता का अहसास हुआ।मेरी छोटी हैं।” मैंने थोड़ी मायूसी से कहा।हां.

तो पूजा ने गांड मरवाने से मना कर दिया, वो बोली- आज तक गांड में नहीं किया और अभी जल्दी से कर लो, अभी मैं ये करवाने नहीं आई थी. मेरी पिछली कहानीशीला का शीलऔरवो सात दिन कैसे बीतेथीं।असल में जिओ ने मेरी नौकरी की वाट लगा दी थी, फिर काफी संघर्ष भरा वक़्त गुज़रा इस बीच, जिससे मैं इस मंच से अपना कोई अनुभव साझा न कर सका।अब फिर से किसी ठिकाने लग गया हूँ तो सुकून है और इस बीच जो अनुभव ख़ास रहे, उन्हें आपके साथ ज़रूर साझा करूँगा। ऐसा तो नहीं है कि इस बीच कहीं सहवास के मौके न मिले हों.

फिर मैं उसके पैरों से हल्के हाथ से मसाज करते हुए, कूल्हों से होते हुए गर्दन और पीठ तक पहुंचा.

ने आपने पढ़ा कि पुलिस वाली दो सहेलियों ने मुझे अपने पास ही रख लिया था और मेरा इस्तेमाल चूत गांड चुदाई के लिए करती थी. जब वो क्लास में आती थी, तब मैं उसे पढ़ाने के बहाने यदा-कदा छू भी लेता था और कभी सबकी नजरें बचा कर उसके उरोज भी हल्के से मसल देता था. मैंने उसकी चूत पर उंगली घुमाई तो फिर से उसकी चूत गीली हो गई थी।अब मैंने उसे बिस्तर पर चित लिटाया और उसे उसकी जांघें फैलाने को कहा.

लेकिन पूजा तो बिंदास मेरे ऊपर लेटी ही रही, वो अंकुश से बोली- देख गांडू, मुझे चोदने वाला मिल गया. मैं जानती हूं कि आप बहुत अच्छी दोस्ती निभा रहे हो, जो प्यार से भी बढ़कर है. फिर वो कमरे में जाकर अपने बच्चे को पानी पिलाकर अच्छे से सुलाकर आ गई.

फिर मजा आने लगता है, फिर शौक हो जाता है फिर बिना मराए चैन नहीं पड़ता।यह अलग बात है कि दोस्त कभी कभी उस दोस्त को खुश करने के लिए उससे भी खुद गांड मरवाते रहते हैं। उसे किसी और चिकने की दिलाते हैं और वह लौंडा लौंडेबाज भी हो जाता है.

सेक्सी फिल्म बीएफ हिंदी में वीडियो: इस तरह मैं उनको चोदता रहा और काफ़ी टाइम बाद उनकी गांड में ही झड़ गया. मैं फूफा जी की तरफ़ चेहरा करके उनके गले में बाहें डालते हुए उनकी छाती के साथ अपने बूब्स दबा कर उनके लंड पर बैठ गयी; उनका लंड फिर से मेरी चूत में समा गया और वो मुझे अपनी गोद में उठा कर खड़े हो गये और खड़े खड़े ही मुझे अपने लंड पर अपनी दोनों बांहों से उठा उठा कर चोदने लगे.

मैं चाहता था कि भाभी जब एकदम चरम पे पहुंच जाएं, तो मैं अपना लंड उनकी चूत में डालूँ. तो मम्मी कहती- कैसे?मैंने कहा- काम वाली को कहो कि ऊपर छत पर जो कमरा है उसमें सफाई कर के आए!तो सासू माँ ने उसे ऊपर भेज दिया और उसके ऊपर जाते ही मैंने अपना लंड सासू माँ को नीचे बिठा कर मुंह में दे दिया और वो चाटने लगी और दस मिनट में मेरा पानी निकल गया. कहां गायब हो गए थे? तुमको ढूँढने मैं रोज उस दुकान पर जाती थी कि शायद तुम दिख जाओ.

अब पद्मिनी के जिस्म का हर एक हिस्सा बापू को बेहद प्रिय लगने लगा और हर उस हिस्से को वह अपनाना चाहता था.

दीदी उस समय केवल ब्रा पेंटी में थी और उसके बड़े बड़े मम्मे दूध की फैक्ट्री की तरह नजर आ रहे थे. वो मेरी चूची को चूसते चूसते मेरे निप्पलों को भी काट रहा था और मैं सिहरे जा रही थी. वो देखने में अमीर लग रहा था, वो सोफे पर बैठा था और मुझे घूर घूर कर देख रहा था.