बीएफ फिल्म आ जाए

छवि स्रोत,माँ बेटा चुड़ै

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी फिल्म बीएफ ओपन: बीएफ फिल्म आ जाए, उन दोनों के लंड इतने बड़े और मोटे थे कि मेरे दिल में चुदाई के लिए मस्ती सी छा गई.

લન્ડન સેક્સ વીડિયો

उसका लंड खड़ा होते ही मैं उसके लंड पर चढ़ गई और वूमेन ऑन टॉप की पोजीशन में आकर उससे अपनी फुद्दी मरवाने लगी. બ્લુ સેક્સીलवली को मजा आने से वो कामुक सिसकारियाँ लेने लगी और मुझसे बोली- विशु तू 69 की पोजीशन में आ जा।मैं झट से लवली के बगल में उल्टा लेट गया.

मगर दीदी ने कुछ बोलने की बजाय मामा का हाथ पकड़ लिया और मामा ने दीदी को गले से लगा लिया. एक्स एक्स एक्स सेक्सी फिल्म वीडियोतुम ऐसी सब फिल्स देखते हो … और तुम रात में गेस्टहाऊस में अकेले रहते हो, तो कन्ट्रोल कैसे कर लेते हो.

मेरी सेक्स चुदाई कहानी में पढ़ें कि मेरे पति जॉब में दुबई चले गये। मैं लंड की कमी महसूस करने लगी। मैंने घर में एक दंपत्ति किराये पर रख लिए। फिर उस पराये मर्द के साथ कैसे मेरा चक्कर चला?यह कहानी सुनें.बीएफ फिल्म आ जाए: तभी मेरे दिमाग में एक खुरापाती आईडिया आया और मैं लंड को पकड़ कर चिल्लाने लगा.

अन्दर आते ही उसकी नज़र जैसे ही मुझपर पड़ी, तो मानो उसको करंट लग गया हो, वो एकटक मुझे देखता ही रह गया.कोई पन्द्रह मिनट तक मुझे धकापेल चोदने के बाद बसंत ने अपने लंड को चुत से बाहर खींचा और उसका गर्मागर्म माल मेरी चुत के ऊपर झाड़ दिया.

पंजाबी में सेक्सी ब्लू फिल्म - बीएफ फिल्म आ जाए

इतने दिनों तक जिन चूचियों को देखकर मुठ मारता था, आज वो मेरे हाथ में थीं.मैंने उसकी पूरी बात को ध्यान से सुना, तो समझ गया कि एक छेद लंड के लिए उपलब्ध हो सकता है.

तेरी और उसकी उम्र में अंतर है इसकी वजह से कोई भी तुम दोनों पर शक भी नहीं करेगा. बीएफ फिल्म आ जाए चुस्त टी-शर्ट में से मेरी 36 नाप की चुचियां मेरे सेक्सी और हॉट फिगर में चार चांद लगाती हैं.

अंत में कार्तिक ने मेरी पैंटी निकाल दी और मेरी बालों भरी काली चूत देखकर मदमस्त हो गया.

बीएफ फिल्म आ जाए?

मामी की चूचियां एकदम से तनकर टाइट हो गयीं थी जो हर धक्के के साथ हवा में डोल जाती थीं. मेरे स्कूल में सब लड़कियों को ये सब रोज़ करने मिलता है तो मैं क्यों इतना सब्र करूं!मैंने उसको समझाते हुए लेकिन सख्त लहज़े में कहा- अगर सब कुएं में जाएंगे तो क्या तुम भी जाओगी. उसके बाद …नमस्कार दोस्तो, आपको मेरी सेक्स कहानी कितनी अधिक पसंद आ रही है, इसका अंदाजा मुझे आपके हजारों की तादाद में मिल रहे ईमेल से हो गया है.

कमल के अंदर आते ही वो उससे चिपक गयी और बोली कि नींद नहीं आ रही थी बिना तुमसे चुदे. मैंने अपने लौड़े की रफ्तार बढ़ा दी और तेज़ तेज़ झटकों से चोदने लगा।जब उसका दर्द कम हुआ तो मैंने अपने होंठ उसके होंठों से हटा दिया और उसके बूब्स मसलने लगा।अब ट्रेन की रफ्तार और मेरे लौड़े की रफ्तार तेज होने लगी।वो फुसफुसाती हुई बोली- राज चोदो मुझे … चोदो मुझे … आह आह हह उहह हह उम्मह आह!मैंने लंड की रफ्तार और बढ़ा दी. हालांकि कोई और अवसर होता, तो मैं कहता कि फ्रेंड की शादी है तो वो ही मुझे कॉल करे.

मेरे चेहरे के करीब अपने चेहरे को लाकर वो बोला- थोड़ी तकलीफ होगी जान … तुम थोड़ा बर्दाश्त कर लेना. मेरी हिंदी भाभी सेक्स कहानी आपको कैसी लगी? आप मुझे मेल करना न भूलें. फिर एक दिन मैंने ज़रीना से कहा कि वो मुझे आसिफा से एक बार अकेले में मिलवा दे.

उसने मेरे दोनों चूचों को थाम लिया और बहुत जोर जोर से मुझे चोदने लगा. आंटी मेरे बगल बैठते हुए बोलीं- तुम पी नहीं सकते … लेकिन मेरा साथ बैठ सकते हो.

इतने में ही ससुर ने अपने पजामा नीचे करके लंड बाहर निकाला और मेरे मुंह में दे दिया.

जैसे ही सत्यम ने मेरे पेटीकोट को खोला, तो वो सरर से नीचे सरक गया और मैं उसके सामने नंगी हो गयी.

आप सबको मेरी ये देसी GF सेक्स कहानी कैसी लगी, कृपया कमेंट/ फीडबैक अवश्य दें. उसने एक पल की भी देर न करते हुए अपना मुँह अपनी मॉम की चूत पर लगा दिया. एक बार पूरा लंड चुत में चला गया तो वो मेरे ऊपर झुक कर मेरी चूचियों को चूसने लगा.

मेरा लंड गर्म होकर तन गया था और उसके हाथों में सांप के भांति हिलने लगा था. कार्ड बाँटने से लेकर दावत तक के सभी कामों की तैयारी जोर शोर से शुरू हो गई; सभी रिश्तेदारों को न्योता भेजा गया।26 दिसंबर को बहुत सर्दी थी. इसलिए बीच वाले घर की छत पर उतर कर बिल्लो के घर की छत पर जाना भी दुरूह था.

भाभी ने कहा- अभी नहीं, अभी रुको … अभी तुम्हें एक बार और मेरी चुदाई करनी है.

वो उस रूम में अकेली थी क्योंकि उसकी रूम पार्टनर शाम को अपने गांव से वापस आने वाली थी. ‘आह हहहहह … उफ़ उई मां मर गई … आह उफ़ … यस आई लाइक इट ओह्ह फ़क मी नाव आह हहह उफ. फिर ब्रा को बाहर निकाल दिया और उसके दोनों मम्मों को बड़े प्यार से थाम लिया.

वो पानी पी रही थी कि अचानक उसे खांसी आई और उसका पानी का ग्लास गिर कर उसके कपड़ों पर गिर गया, जिससे वो आगे से भीग गई और इस भीगे कुर्ते से उसके बूब्स और ब्रा दिखाई देने लगे थे. मैंने उसी तरह उसे बिठाए हुए उसके एक मम्मे को मुँह में डाला और दूसरे मम्मे को अपने हाथ से दबाने लगा. कुछ मिनट बाद उसी पोज में मेरे छोटू चोदू भगत ने अपने अन्दर की आग का लावा बिल्लो रानी की चूत में पूरा भर दिया.

वो अपने दांतों से मेरी अंडरवियर को नीचे खींच रही थी और उसने कुछ ही पलों में मेरी पूरी अंडरवियर को नीचे कर दिया.

वो पजामे के ऊपर से मेरा लंड पकड़ने लगी तो मैंने पजामा और टी-शर्ट दोनों को खोल दिया. अब वो ज्यादा मजे लेकर चुदवा रही थी।उसने बताया उसे लंड पर बैठ कर चुदवाने में मज़ा आता है।मैं जल्दी से नीचे लेट गया और उसकी चूत को लंड में रखकर बैठा दिया वो उछल उछल कर लंड लेने लगी।ऐसा लग रहा था जैसे वो मुझे चोद रही हो।आज वो बहुत खुश थी और धीमे धीमे आहह आहह हह ऊईई ईई करते हुए पूरा लौड़ा अन्दर तक ले रही थी.

बीएफ फिल्म आ जाए मैं भी खुश हो गया।रात में हमने बीयर पी और 3 बार जमकर चुदाई का मज़ा लिया. अब रोमी ने अपना लंड सरिता भाभी के मुँह में दे दिया और सोनू ने अपना लंड सरिता भाभी के हाथ में दे दिया.

बीएफ फिल्म आ जाए कुल मिलाकर आप कह सकते हो कि चुदाई के मामले में मुझे बहुत ज्यादा गंदापन पसंद है. मैंने भी इस बात का फायदा उठाया और उसके गालों पर किस करना शुरू कर दिया था, मेरी चुम्मी से वो खुश हो जाती थी.

लेकिन संभोग की आग ने मुझे उस दर्द को भी बर्दाश्त करने की शक्ति दे दी थी, जिससे मैं सत्यम का साढ़े दस इंच मोटे लौड़े को अपनी चूत में ले गई.

सेक्सी वीडियो देहाती बीएफ

उसने मेरे लंड की आगे की खाल को खोलकर सुपारा निकाल लिया और उस पर अपनी जीभ चलाने लगी. उनके साथ हुई इस रसीली हॉट वाइफ फंतासी स्टोरी को अगले भाग में लिखूंगा. फिर से मीनू की चीख निकली जिसे मामा ने अपने हाथ से दबा दिया और फिर पूरा लंड उसकी चूत में उतार दिया.

फिर कुछ दिन बाद मेरे पति ने कहा कि वो जॉब करने दिल्ली जाने वाले हैं. अंदर उन दोनों की बीवियाँ मेरे नई दुल्हन के पास बैठी थी। हमें आते देख वो उठ खड़ी हुई।उसके बाद मेरे दोस्त मुझे और मेरी बीवी को नई ज़िंदगी की मुबारकबाद देकर चले गए।अब कमरे में हम दोनों अकेले रह गए।मैंने कमरे के दरवाजे की कुंडी लगाई. अनुराधा मेरी तरफ देख कर मुस्कुरा दी और बोली- समझने में बड़ी देर कर दी जीजू.

लगभग 5 दिन बाद सुबह देखा आसिफा का एक मैसेज व्हाट्सएप्प पर डिलीटेड था.

फिर डायरेक्टर ने कैमरामैन से कुछ इशारा किया और कैमरामैन मेरे पास आ गया. मैंने कहा- हां, अब जल्दी से कपड़े उतार दे और मेरे लंड को चुत चोदने दे. मैं उम्मीद करता हूं कि मेरी हॉट लेडी सेक्स कहानी आप पसंद करेंगे और मुझे मेल करेंगे.

जैसे ही उसे मैंने अपने गले से लगाया, मेरे नथुनों में उसके गर्म और मांसल बदन की खुशबू भरने लगी और लंड ने एक अंगड़ाई ले ली. नैना भी बहुत जोरों की चीख के साथ चिल्लाई- आह … मर गई … आह … अनुराग … मार दिया।मैंने अपने होंठ उसके होंठों पर रख दिये और कहा- मेरी जान … बस अब दर्द नहीं होगा।मैं अपने लण्ड को धीरे धीरे आगे पीछे करने लगा. उसका दर्द कम हुआ तो वो खुद मेरी उंगली पकड़ कर अपनी चूत में करने लगी.

एक पल को तो कुसुम उस तम्बू को देख कर मुस्कुरा उठी, फिर पास जाकर उसके लंड के उभार को बहुत गौर से देखने लगी. अगले दिन रात में भाभी ने अनिकेत को दारू पिला कर उससे खुद को चुदवाया.

बहुत दिनों बाद मुझे ऐसी कसी हुई चुत चोदने मिली थी; मैं इसका भरपूर मजा लेना चाहता था. कुछ देर बाद वो मेरे ऊपर चढ़ गई और मेरे लंड को अपनी चूत की फांकों में सैट करके धच्च से बैठती चली गई. मैं अभी कुछ समझ पाती कि उसी समय कार्तिक मेरे ऊपर कर आ गया और मेरे होंठों को किस करने लगा.

मैंने कैसे कैसे अपनी कामवासना शांत की?लेखक की पिछली कहानी:मां बेटी की चुदास मेरे लंड से मिटीयह कहानी सुनें.

रोमी बोला- क्या हुआ सरिता जान?वो कुछ बोलने लायक बची ही नहीं थी … एकदम बेदम शांत पड़ी रही. वो बहुत आराम से अपनी हथेलियों का इस्तेमाल करते हुए लकी की उत्तेजना को बढ़ा रही थी. वो मेरी गीली चूचियों को वहीं पर पीने लगा और मैं भी फिर से गर्म हो गयी.

वो अपनी एक उंगली मेरी चुत में धीरे धीरे अन्दर बाहर करता और मैं उसे ज़ोर से पकड़ लेती. विजय ने अपना वीर्य सरिता भाभी के मुँह में छोड़ दिया और सरिता भाभी भी उस मलाई स्वाद लेते हुए पी गई.

इस बीच बहुत सारी बातें हुईं और मैं और मौसी उसी संबंध को महसूस करने लगे जो कुछ वक्त पहले मेरे और मौसी के बीच में था जब हम एक दूसरे के साथ खूब मस्ती मजाक करते थे।उसके बाद मौसी किचन में खाना बनाने के लिए चली गयी. मैं किसी छोटे बच्चे के जैसे उसके निप्पल को अपने मुँह में भर लिया और उसे चूसने लगा. वो घर के अन्दर आ गई, तो मैंने बाहर झांक कर देखा कि किसी ने उसे आते तो नहीं देखा.

हिंदीएक्सएक्सएक्स

सारा को बहुत गुस्सा आया लेकिन वो भी कुछ विरोध नहीं कर सकती थी क्योंकि उसके सारे प्लान पर पानी फिर जाता।वो डिनर लगाने चली और कमल और लकी ने अपने पेग निबटाया.

आह कसम से … उसके लाल लाल होंठों को देखकर मैं अपने होश खोने लगा और इच्छा तो ऐसी हुई कि अभी ही उसके सुर्ख और जबरदस्त सेक्सी होंठों को अपने दांतों से चबा जाऊं. लगभग 5 दिन बाद सुबह देखा आसिफा का एक मैसेज व्हाट्सएप्प पर डिलीटेड था. अभी के लिए इतना ही दोस्तो, जल्दी ही आपको इसके आगे की सेक्स कहानी पढ़ने को मिलेगी.

वो घर खाली था, तो मैंने इसका फायदा उठाया और उस छत पर उतर कर नीचे कागज ले आया. मैंने उसकी बुर के होंठों को खोल कर अपनी जीभ बुर में घुसा दी और बुर चाटने लगा. क्सक्सक्स बफ वीडियो हदमुझे साइज का तो उतना पता नहीं था इसलिए मैं बता नहीं पाऊंगा कि उस समय उनका साइज कितना था लेकिन उनके चूचे पूरे हाथ में भर जाते थे।बात तब की है जब मैं 12वीं के एग्जाम देने वाला था.

मैंने उसके सामने एक ही बार में अपने सारे कपड़े निकाल दिया और उसके सामने एकदम नंगी हो गयी. एक दिन उसने मुझसे पूछा- आपका लण्ड कितना लम्बा और मोटा है़?मैंने कहा- 6 इंच का.

मैं ठंड में थोड़ा कांप रहा था और मेरे पास पहनने के लिए कुछ था ही नहीं. ज्यादा से ज्यादा बीस सेकंड ही बहन ने अपनी चुत की चटाई के लिए टांगें फड़फड़ाईं, फिर खुद ही चुत खोल कर मेरे मुँह में देने लगी. उसके पायजामे के अन्दर से ही उसका मोटा लंड मेरी चुत पर रगड़ मार रहा था.

लकी ने उससे पूछा- अगर कमल को पता चल गया तो क्या होगा?सारा मुस्कराकर बोली- वो तो यही चाहता था, मगर उसकी गांड फट गयी. हमें सही वक्त भी नहीं मिल रहा था क्योंकि उस टाइम हम दोनों के एग्जाम थे तो हमने एग्जाम खत्म होने पर सेक्स करने का फैसला किया. फिर जेठजी ने अलग होकर मेरी साड़ी, ब्लाउज सब उतार कर मुझे पूरी नंगी कर दिया.

सेक्सी लेडी पोर्न स्टोरी में पढ़ें कि आंटी को मैं तो चिड़ना चाहता ही था पर आंटी को लंड की ज्यादा जरूरत थी.

ऐसे में चुदाई करते हुए वो झड़ गई तो उसने कहा- आह जान, मेरा तो हो गया. लेकिन मैंने अपनी सांस पर संयम बरतते हुए उसका लन्ड हलक में बनाए रखा और धीरे धीरे उसको अंदर-बाहर करने लगी।अब मैं खुद से ही उसके लन्ड को हलक तक के लेकर चूसने लगी।कुछ देर लन्ड चुसवाने के बाद सागर ने मेरी पैंटी उतार के सूंघा और मुझे टेबल पर टांग फैला कर बिठा दिया, खुद कुर्सी पर बैठकर मेरी चूत को चूमने लगा।थोड़ी देर चूमने के बाद वह मेरी चूत को चाटने लगा.

दूसरी बोली- और मैं नाजिया हूँ, अब नाम की जानकारी हो गई हो तो चालू हो जाओ. फिर मैंने बिल्कुल भी देर ना करते हुए उसको दूसरी तरफ घुमाया और उसका ब्लाउज खोल दिया. मेरा लंड फच की आवाज करके पूरा का पूरा अन्दर उतर गया और उसी के साथ मैंने चुत में धक्के लगाना शुरू कर दिए.

ऐसा उसने इसलिए किया क्योंकि उसके और लकी के सेक्स के निशान भी बेडशीट पर मौजूद थे. क्या ये वही है … नशीली आंखें, गोरा रंग, पतली लंबी इकहरी देह की मंजू मस्त माल लग रही थी. पर ये आकर्षण और अहसास उस नए कड़क लंड का था, जो उसके बेटे का उसने महसूस किया था.

बीएफ फिल्म आ जाए मैंने उसे बेड पर लेटा दिया और उसके ऊपर चढ़कर उसकी ब्रा को खोलकर उसके गोल गोल रूई से भी अधिक नर्म चुचों को पीना शुरू कर दिया. मैंने धीरे से उसकी कमर में अपने दोनों हाथ सरका दिए और हल्के हल्के उसकी नाभि सहलाता रहा.

बीएफ स्किनर

मेरी सहेली सुनीता की सेक्स कहानी तो शायद आप लोगों ने पढ़ी होगी, उसी ने मेरी दोस्ती अपने बॉयफ्रेंड के दोस्त से करवा दी थी. कुछ ही समय में मैंने अपने हाथों को उसकी गांड की गोलाइयों तक पहुंचा दिया और उसकी गांड को सहलाने लगा. वो कैसे मेरे घर आयी, कैसे मुझे सेक्स के लिए तैयार किया और मेरी गुरु बनी.

उसकी इस बार घुटी हुई चीख निकली लेकिन उसके चेहरे के भाव और मुझे मस्त और उत्तेजित कर रहे थे. मगर हुआ ये कि जैसे ही उसने चिकोटी काटी, मेरी आह निकल गई और राज की निगाहें मेरी तरफ हो गईं. கேரளா பிஎஃப் வீடியோकुछ देर में मेरा साहस लौट आया और अब मैं कार्तिक के साथ किसी प्रेमी प्रेमिका की तरह बात कर रहे थे.

उन्होंने अच्छे से थूक लगाया, तो मैंने भी उनकी चुत को थोड़ा सा चाट कर गीला किया और उनकी फुद्दी पर लंड रख तेज झटका दे मारा.

मैं खुद से सत्यम के लंड पर अपनी गांड उठा उठा कर कूद कूद कर उससे चुदने लगी थी. मैंने रिट्ज से पूछा- किसने लिया है?वो अपना मुँह बना कर बड़बड़ाते हुए बोली- आप तो ऐसे पूछ रहे हैं, जैसे दिला ही देंगे.

कुछ देर बाद मैं उसके बूब्स चूसने लगा और बीच बीच में उसके निप्पलों को भी काट लेता. बातें करते करते मैंने एक दिन खुशी को प्रपोज़ कर दिया लेकिन उसने उस समय मना कर दिया. सरिता भाभी ने कहा- हम दोपहर में खूब चुदाई करेंगे, अभी मुझे अपने पति को खाना देने जाना ही होगा.

वो बोली- नहीं, रहने दे, मैं इतनी खूबसूरत नहीं हूं कि यहां के गोरे लड़के मुझसे दोस्ती करेंगे.

भाभी की मस्त आह निकल गई और वो विजय के सर पर हाथ फेरते हुए उसे उसके मन की करने देने लगी. वो उस वक्त बीस साल की थी। वह तब नई नई जवान हुई थी।मैंने इससे पहले उस पर कभी ध्यान नहीं दिया था. आज भी वो हॉट लेडी मेरे साथ सेक्स करती है और बोलती है कि जय तुम्हारा लौड़ा बहुत मस्त है.

बंगाली भाभी की सेक्सफिर जब मुझसे रहा नहीं गया तो मैंने उसकी पैंट की चैन खोलकर उसका लौड़ा बाहर निकाल लिया. असल में उसे अहसास हो गया था कि लकी और सारा आपस में उसके पीछे से चिपटे हैं, बस यह देख कर उसका खड़ा हो गया और उसने इस आग को और बढ़ाने की सोची.

हिंदी ब्लू सेक्सी बीएफ

उसने मुझे जागता देखा तो लंड चूसते ही ही ‘उम्म … गुड मॉर्निंग डार्लिंग. साले इस कोरोना के चक्कर में बहुत दिनों से कोई नई चूत ही चोदने को नहीं मिली. पढ़ने में मैं बहुत अच्छा हूँ तो इसी के चलते मेरी दोस्ती खुशी से जल्दी हो गयी और उसने एक दिन मेरा नंबर मांग लिया.

सत्यम भी किसी फौलादी मर्द की तरह अपनी उम्र से दुगनी उम्र की औरत का मान मर्दन करता रहा. आज मैं देखना चाहती हूँ कि मर्द का लंड मेरी गांड में कैसे मजा देता है. ये सब देख कर धीरे से उसने अपनी जीभ निकाली और मेरी गांड की छेद को चाटना शुरू कर दिया.

कुछ दिन ऐसे ही चलने के बाद हम दोनों ये समझ चुके थे कि आग दोनों तरफ लगी है. मेरी मामी नीचे नंगी लेटी हुई थी और मामामेरी मामी की चूतमें लंड डाल रहे थे।मामी मस्त होकर सेक्स के मजे वाली आवाजें निकाल रही थी।ये देखकर मैं भी गर्म होने लगी. जाते जाते मैंने उसकी गांड पर एक चपेट मारकर बोला- अबकी बार इसका नंबर है, तैयार चिकनी करके रखना.

मैं भी समझ गया कि मेरी रंडी बेहन को एक साथ दो लौड़े से चुदाई का मन है. सरिता भाभी ने कहा- हम दोपहर में खूब चुदाई करेंगे, अभी मुझे अपने पति को खाना देने जाना ही होगा.

मैं बोला- रानी, ये तो अभी मजे की शुरुआत है, अभी पूरी चुदाई तो बाकी ही है.

मैंने पूरा रस सुहैला के मुँह में झाड़ दिया और सुहैला भी मेरा पूरा लावा पी गयी. સેક્સ બીપી ફોટાतभी राज़ ने दूसरा धक्का भी मार दिया और अपना पूरा लंड मेरी गांड में घुसेड़ दिया. سیکس سٹوریफिर उतरते हुए ही उसने मुझे फ़ोन पर मैसेज किया कि आप टॉयलेट के पास मिलिए, मुझे आपसे अकेले में काम है. वो मेरी तरफ देख कर बोली- आज मैं तुम्हारे फोन का इंतजार करूंगी … जरूर करना.

हॉट आंटी सेक्स कहानी के अगले भाग में मैं आपको आंटी और उनकी बेटी की चुत में लगी आग को लिखूंगा.

मैंने पूछा- आंटी, कहीं शादी में जा रही हो क्या?और मैं मन ही मन दुखी हो गया कि आज का प्लान बेकार हो गया।वो बोली- नहीं, आज मेरा जन्मदिन है. जितना हो सकता था, मैंने कोमल की जांघों को फिर से चौड़ा किया और लौड़े को चुत के छेद पर घिसकर थोड़ा सा अन्दर कर लिया. मैंने थोड़ा सा खोल कर देखा कि मेरी बीवी अंजलि, रमेश के लंड के साथ क्या कर रही है.

गांव में आस पड़ोस की लड़कियों के साथ खेल खेल में छूना वगैरह हमेशा से चलता आया है. मैं पूछा- किधर आना है?समीक्षा ने जगह का नाम लिया और बोली- बस वहां जा कर आ जाएंगे और मिल भी लेंगे. कुछ ही समय में मैं उसके घर आ पहुंचा और हम दोनों पहली बार रूबरू हुए थे.

पाकिस्तानी बीएफ सेक्सी

जैसा कि मैं रात के सफर में बनियान और अंडरवियर नहीं पहनता हूं। मैं हाफ लोवर टी-शर्ट में था।वो ऊपर आ गई और हमने केबिन बंद कर दिया।उसने अपना नाम रजनी चौधरी बताया, मैंने राज शर्मा!फिर हम बात करने लगे. मैं लपक कर पहुंच गया क्योंकि मैं खुद ही किसी ऐसे ही मौके की तलाश में था. जैसे ही सत्यम ने मेरे पेटीकोट को खोला, तो वो सरर से नीचे सरक गया और मैं उसके सामने नंगी हो गयी.

तो मैंने धीरे धीरे अपना हाथ चलाना शुरू कर दिया।तभी उसने करवट बदल ली अब उसकी नाईटी पैरों से ऊपर चढ़ गई।मैंने उसे कहा- थोड़ी खिसको, मैं किनारे पर हूं.

उसकी आँखों बंद थीं और वो बहुत गहरी सांसें ले रही थी।मैं उसके मम्मों को दबाने लगा।फिर मैंने एक जोरदार धक्का मारा। मेरा पूरा लण्ड उसकी चूत में घुस गया।अब वो मुझसे लिपट गयी.

अंजुमन ने फिर से पानी छोड़ दिया मैंने भी झटकों की रफ्तार बढ़ा दी मैं तो जैसे स्वर्ग में था।अब धीरे धीरे मेरे शरीर में अकड़न होने लगी. मैं दम साधे पड़ा रहा और लंड चुसवाने में किसी तरह की कोई हील हुज्जत नहीं की. नंगी गांडउसी स्थित में मैंने भाभी का एक पैर उठा कर लंड चूत में डालना चाहा लेकिन मेरा सिर ऊपर होने के करण में देख नहीं सकता था तो लंड को चुत के अन्दर डालने में सफल नहीं हुआ.

चुदाई के दौरान बीवी से बार बार पूछने पर उसका उत्तर न देना और उसी समय चुदाई की रफ्तार को बढ़ा देना, इससे मेरा शक और बढ़ गया था. प्रिया कहने लगी- अमन … बस अब ऊपर आओ … और अन्दर डाल दो।मैं भी तैयार था. मेरी छोटी सी चड्डी में से एकदम साफ़ फुंफकारता हुआ दिख रहा था जिसे रिट्ज ने भी देख कर मजा लिया था.

अब चूंकि कमल नशे में नहीं होता तो सारा चैटिंग नहीं कर पाती और मजबूरी में उसे कमल से चिपक कर सोना पड़ता था. खेल तो बहाना था … हमें तो आज कुछ और ही खेल खेलना था मगर समझ नहीं आ रहा था कि शुरुआत कैसे करें.

वो बोली- नहीं राज!लेकिन मैं नहीं माना और उसकी गान्ड में उंगली घुसा दी.

अब मैंने भी अपना राज उसे बता दिया कि तेरी बहन के साथ मैंने भी किया है. दो मिनट बाद मैंने स्पीड थोड़ी बढ़ा दी और धकापेल चुदाई करना शुरू कर दी. जेठजी ने एक बार लंड थोड़ा बाहर निकाला और फिर से मेरे मुँह में जोर से लंड को घुसा दिया.

वीडियो चुदाई वाली और ये सोनू का लंड भी इससे छोटा है, पर रोमी के लंड से ज्यादा मोटा है. रात को नौ बजे जेठजी घर आते हैं, तो मैंने जेठजी को मैसेज किया कि जल्दी घर आइए … मैं आपका इंतज़ार कर रही हूँ.

मैं समझ गई कि जेठजी मुझे घुटनों के बल बैठा कर लंड चूसने को कह रहे हैं. ये सब करने के बाद अब इतना तो हो गया कि वो सारा के साथ हफ्ते में दो तीन दिन पोर्न मूवीज देखने लगा और उसके बाद वो सेक्स का जबरदस्ती का प्रयास करता. लंड ने एक फुंफकार मारी, तो मैं उनके लंड के सुपारे को अपनी जीभ से चाटने लगी.

हिंदी बीएफ सेक्स फुल

आप फिर भी नहीं माने और मेरे पीछे से आकर आपने मेरी नाइटी कमर तक उठा दी. आपको मेरी न्यू सेक्सी भाभी की चुदाई कहानी कैसी लगी, प्लीज़ मुझे मेल करना न भूलें. औरत की चुदाई की इस सेक्स कहानी के अगले भाग में मैं आपको सत्यम के साथ अपनी चुदाई की कहानी का वर्णन करूंगी.

जिसको पहनने से वो रस्सी सुरीली चूत और गांड के अन्दर ही रहने वाली थी. फिर भाभी ने मुझे एक कोल्डड्रिंक पिलाई और हम दोनों की चुदाई का दूसरा दौर शुरू हुआ.

लेकिन सारा पीछे पड़ गयी; बोली- बताओ मुझे नाम उसका वर्ना मैं नहीं चूसूंगी.

मेरी इस हरकत से मायरा ने आंखें बंद कर लीं और अपनी पीठ मेरी बांहों में टिका दीं. जेठानी वहां नहीं थी तो मैंने फटाफट नाइटी पहनी और अपने बेड पर कमर के नीचे तकिया लेकर लेट गई. उसकी आंखें बंद हो गई थीं और मन में सिर्फ मॉम की चूचियों की रगड़न का ही अहसास हो रहा था.

मेरे दो बच्चे हैं, एक बड़ी लड़की हॉस्टल में पढ़ती है और छोटा लड़का मेरे साथ रहता है. साथ ही भाभी मुझे महीने में पांच हजार रूपए खर्चे के लिए देने लगी थीं. उसने मेरी गांड को पकड़ा और नीचे जाकिरा की चूत में तेजी से धकेलने लगी.

मैंने उसे बहन पटाने के गुर बताये तो उसने अपनी जवान बहन की चूत कैसे फाड़ी?दोस्तो, मेरा नाम निखिल है और मैं अपनी अगली सेक्स कहानी लेकर हाज़िर हूँ.

बीएफ फिल्म आ जाए: मुझे सेक्स का चस्का लग गया था नया नया मजा था और इस अनुभव को मैं अभी और अच्छे से महसूस करना चाहता था. एकता- क्या मारने की बात कर रहे हो?मैंने उसका हाथ पकड़ा और कहा- गोटी.

मैंने उसे समझाया कि हमारे जिस्म की जरूरत अगर पूरी नहीं हो रही है, तो उसे मिटाना गलत नहीं है. फिर उसने वो डंडा अपनी चूत में डाल लिया और उसको धीरे धीरे आगे पीछे करने लगी. पांच मिनट बाद भाभी झड़ने वाली थीं तो उन्होंने मुझे पीछे को किया और झड़ गईं.

कुछ देर में आंटी का फ़ोन आया तो मैं बोला कि मैं आपके घर के बाहर खड़ा हूँ.

बस तभी वो मेरे ऊपर आ गया और पहली बार हम दोनों के नंगे बदन एक दूसरे से टकरा गए. उसी दिन रात को मॉम ने मेरे कंधे पर हाथ रख कर मुझे सहलाते हुए मुझसे कहा- मुझे अकेले डर लगता है, तू मेरे साथ सो जाएगा क्या?मैंने उनकी आंखों में झांकते हुए हां कर दिया. अब आगे हॉट कज़िन की चुदाई कहानी:सुबह जब नींद खुली, तब करीब 10 बजे थे.