बीएफ चोदा चोदी देखना

छवि स्रोत,डॉक्टर सेक्सी वीडियो एचडी

तस्वीर का शीर्षक ,

बाल मोटा करने का तेल: बीएफ चोदा चोदी देखना, एक बार मैंने साली को पकड़कर किचन की दीवार से चिपका दिया और उसे बेइंतहा किस करने लगा.

रावण tattoo

चार पांच धक्के कस कसकर मारने के बाद मेरे लंड ले अपना लावा उगल दिया. कार्टून सेक्स वीडियोउसकी बात सही थी कि लड़कियों का सजना संवरना तभी सार्थक होता है, जब कोई उनकी तारीफ करे या उनकी खूबसूरती को लेकर कुछ कहे.

सरिता मुस्कुराकर बोली- बहुत बदमाश हो … तुम दोपहर की बात अभी भी याद रखे हो. सेक्स वीडियो एनिमलमैंने सौम्या डार्लिंग के सभी सीक्रेट्स उसको बताए जैसे कि उसकी चूत पर 5 तिल हैं, उसको बारिश में नंगी होकर नहाने का मन करता है.

मैं चाची के पास आ गया और चाची को गोद में उठा कर दूसरे कमरे में ले गया.बीएफ चोदा चोदी देखना: वो मेरे हर धक्के में साथ जरूर दे रही थीं पर उनका चेहरा बता रहा था कि अब वो थक चुकी हैं.

मैंने कहा- सरिता क्या करूं यार … मैं अपने आपको रोक ही नहीं पा रहा था और मुझे तुम्हें खुशियां भी देनी थीं ना सरिता.अब मेरा भाई भी इस बात को समझ चुका था कि मैं समीर से चुदना चाहती हूँ.

जंगली जानवर सेक्सी मूवी - बीएफ चोदा चोदी देखना

कुछ देर बाद मैंने टीना को घोड़ी बनने को बोला, तो वो तुरंत घोड़ी बन गयी.मौसी ज़ोर ज़ोर से चिल्लाने लगीं- आंह आराम से कर अरुण … बहुत दर्द हो रहा है … आराम से कर कुत्ते.

ट्रेन जब दिल्ली स्टेशन पर रुकी, तो मैं पानी और कुछ स्नेक्स लेने जा रहा था. बीएफ चोदा चोदी देखना मैंने ऊपर ऊपर से उसके साथ खेला और साड़ी उठा आकार उसकी चुत में लंड पेल दिया.

तभी अचानक एक 30-35 साल की औरत आई और मेरे सामने वाली सीट पर बैठ गयी.

बीएफ चोदा चोदी देखना?

वह मेरे एक दूध को अपने मुँह में लेकर चूसने लगा और नीचे किस करते हुए मेरी चूत तक चला गया. सबसे पहले मैं अन्तर्वासना साइट को शुक्रिया अदा करना चाहता हूं जिसकी वजह से लाखों लोगों को अपने चरम सुख की प्राप्ति होती है और लोगों की कहानियां पढ़कर पाठक मजे लेते हैं. मेरे घर से कुछ ही दूर एक अलग ब्लॉक में मेरा खास दोस्त रहता है, जिसका नाम राहुल है.

चाची ने राहुल को बाहर जाने का इशारा किया और मैंने चाची की चुदाई की. अब मेरी चूत फिर से गर्म होने में कितना टाइम ले लेगी, पता भी है?मैंने बोला- तो आज नहीं करते है ना … किसी और दिन सही. गांव से निकलते समय एक मेडिकल स्टोर दिखायी दिया तो मैंने गाड़ी रोक दी.

मैं कटोरी में पानी तो लाया, पर उसमें भी बचा हुआ थोड़ा सा पावडर छिड़क लाया. कई लोगों से खुल कर चुदवाने लगी।तब एक दिन अम्मी जान ने पूछा- कितने लण्ड खाती है तेरी बुरचोदी बुर बेटी मदीहा?मैंने कहा- ये सवाल मुझसे नहीं मेरी बुरचोदी बुर से पूछो अम्मी जान। मेरी बुर तो बस लण्ड खाती चली जाती है गिनती कभी नहीं!फ्री फॅमिली चुदाई कहानी पढ़ कर आपको बहुत अजीब लगा होगा ना? लेकिन होता यही है हमारे घर में![emailprotected]लेखिका की पिछली कहानी:मैं बुरचोदी सन्नी लियोनी की तरह ट्रेन में चुदी. ”सोनिया- तो रोका किसने है जीजू … बना लो ना मुझे अपना … मैं आपके साथ अपनी सारी जिंदगी बिताने को तैयार हूं.

तीन दिन बाद चाची का फोन आया- आज तुम्हें मेरे घर सोना है, तुम्हारे चाचा किसी काम से बाहर गए हैं. मैंने ऊपर ऊपर से उसके साथ खेला और साड़ी उठा आकार उसकी चुत में लंड पेल दिया.

5 से 4 इंच का ही था, जबकि मेरा लंड लगभग 6 इंच का है और मेरा लंड गोरा भी था.

एक दिन मेरी नज़र मिली तो मैंने सोचा इससे बात करके, इसका नंबर ले लूं.

वो इठला कर बोली- जिधर चाहे ले चलो मेरे बलमा … बस मुझे तो तेरे उसका प्यार चाहिए. चाची अब सीत्कारने लगी थीं और उनके मुँह से ‘ऊ आ अह्ह उन्ह्ह स्स्स उन्ह्ह …’ की आवाज आने लगी. उसने ज़ोर से उहन्न किया और उसी पल मैंने ज़ोर से लंड को गांड में भेद दिया.

उनके आनन्द भरे स्वरों की तीव्रता से उनकी मस्ती की जानकारी साफ़ समझ आ रही था. उधर से एक कटोरी में सरसों का तेल लिया और उसे थोड़ा भी गर्म कर लिया. हम दोनों के रस से सना हुआ चादर देख कर मेरी आंखों में शरारत आ गई थी.

हम सोने लगे तो फ़लक ने पहले कुछ सोचा और उसने मेरी तरफ कातिलाना नजरों से देख कर एक स्माइल दी और मुझे किस करके मेरी छाती पर सर रख कर लेट गयी.

फिर वो उठकर बेड पर बैठ गयी और गांड किनारे रखकर पीछे की तरफ लेट गयी. सबसे पहले मैं अन्तर्वासना साइट को शुक्रिया अदा करना चाहता हूं जिसकी वजह से लाखों लोगों को अपने चरम सुख की प्राप्ति होती है और लोगों की कहानियां पढ़कर पाठक मजे लेते हैं. उसके लैटर के जवाब में मैंने भी कह दिया- मैं तुम्हें काफी ज्यादा पसंद करता हूं और मुझे तुम्हारा नंबर चाहिए.

ट्रिपल X हिंदी कहानी में पढ़ें कि होटल में मैंने एक जवान प्यासी भाभी की गांड अपने मोटे लंड से फाड़ी. मैंने कहा- हां सिमरन, आज मैं तेरी चुत को अपने 7 इंच लम्बे लंड से हचक कर चोदूंगा. मैंने दिमाग़ लगाया और सोचा कि टीना ऐसे वक़्त आए, जब भाभी उसे देख लें कि टीना आई है, मगर भाभी ना आ पाएं.

सरिता मेरे होंठों को चूसने लगी तो मैंने कहा कि मेरे जाने के बाद जल्द ही खुशखबरी बताना.

मैंने कहा- वो तो होगा ही रेखा … पहली बार इतना बड़ा लंड चूत में लिया है. लंड से चुदती हुई चाची ‘आह आआ …’ करती हुई अपना भोसड़ा राहुल से चुदवाने में मस्त होने लगी थीं.

बीएफ चोदा चोदी देखना उनकी चुत से इतना अधिक रस टपका था, जैसे चाची ने मेरे मुँह पर मूत दिया हो. सच में उसकी गांड काफी टाइट थी, तो वो चिल्ला पड़ी- अह्ह आय यीईइ!उसने मुड़ कर मुझे गुस्से से देखा.

बीएफ चोदा चोदी देखना उन्होंने बताया कि खेतों में उन्होंने कई काम करने वाली लड़कियों और औरतों को पेला है. उसने ये कह कर मेरे कपड़े इतनी जल्दी से उतारे कि कहीं मैं उसे और किसी तरीके से न तड़पाने लगूँ.

वीना की उम्र उस वक़्त 19 साल थी और उसके चुचे अपने आकार में आ चुके थे.

लड़की की चुदाई बीएफ

अब सौम्या पूरी तरह से खुश थी क्योंकि उसके पास मेरे जैसा प्यार करने वाला चोदू पति था, साथ ही एक नौकरी थी और दो दो प्यारे प्यारे बच्चे भी थे. मैंने उससे कहा- अगर आपको प्रॉब्लम ना हो, तो मैं आपको घर छोड़ देता हूँ. चुत चुदवाती हुई चाची बोलीं- साले मादरचोद … आज तू कौन सी गोली खा कर आया है, जो मुझे तेरा ये लंड नहीं झेला जा रहा है.

तभी मेरे दिमाग़ में एक आइडिया आया और मैंने मेडिकल स्टोर से कुछ दवाएं ओर कंडोम ले लिए … और घर आ गया. मगर मैं बनती हुई बोली- ये कौन सी परफोर्मेंस हुई?मेरा भाई भी समझ गया था, वो बात खत्म करने की नजर से बोला- चलो यार घर चलते हैं … ये सब बातें बाद में कर लेना. मेरी गांड पूरी तरह जल रही थी, पर रवि के लंड की वजह से मैं चीख नहीं पा रहा था.

जैसे ही सरिता नीचे झुकी, तो मैं उसके पीछे जाकर उसकी गांड से सटकर खड़ा हो गया.

मैंने उसकी गांड पर ज़ोरदार थप्पड़ मारते हुए अपना लंड का सुपारा वापस टीना की गुलाबी चूत पर टिकाया और उसे वापस चोदना शुरू कर दिया. मैं उसके मम्मों को निचोड़ने लगा, दोनों निप्पलों को बारी बारी से अपने दांतों से काटने लगा. कहानी के पिछले भागअनजान टूरिस्ट से चुदने होटल में चली गयीमें आपने पढ़ा किअब आगे फुल नाईट सेक्स की कहानी:10 मिनट तक एक दूसरे को प्यार करने के बाद उसका लण्ड दुबारा से पूरे विकराल रूप में आ चुका था.

अब जब मेरा जब भी मन होता है, मैं अपनी चाची के पास आ जाता हूँ और उन्हें पेलने में लग जाता हूँ. प्राची ने मुझे उसी होटल में एक रूम बुक करने को कहा, जहां वो मुझे एक नई चूत दिलवाने वाली थी. मेरा भी ये पहला सेक्स था, जो किसी लड़की को पूरी तरह से चोदने का मौक़ा था.

अब उसके घर पहुंचने पर क्या हुआ … वो सेक्स कहानी के अगले भाग में लिखूंगा. चूत का मुँह और गांड का छेद भी खुला हुआ था तो मैं लंड अन्दर बाहर कुछ आसानी से कर पा रहा था.

अपना सिर भाभी के कंधे पर झुकाया तो उन्होंने भी अपना सिर मेरे कंधे पर झुका दिया. उसकी कामुक सिसकारियां मेरे कानों में भी पड़ रही थीं जिससे मेरा भी बुरा हाल हो चला था. मुझे लगा कि टीना की गांड और नव्या भाभी की चूत दोनों हाथ से निकल गईं.

उसी तरह 10 मिनट खड़े खड़े चोदने के दौरान आंटी ने मेरी पीठ पर अपने नाखून गड़ा दिए और ‘ज़ोर ज़ोर से चोदो गौरव … और ज़ोर से चोदो …’ बोलती बोलती झड़ गईं.

उनकी चूत बहुत टाइट थी और तीन चार धक्के में लगभग आधा लंड चाची की चूत में उतर गया. एक दो बार वह मिली और इशारों इशारों में आंखों से कुछ बात ऐसे भी हुई जैसे वह भी कुछ कहना चाहती हो. विलास ने मेरे लंड पर हाथ रखकर कहा- अरे यार, तेरा तो अभी भी इतना बाहर है हर्षद … बता न कितना अन्दर गया है?मैंने बोला- बेटा अभी आधा ही अन्दर गया है.

मुझे लगा जीजा दीदी को चोद रहे हैं, पर जब वहां जाकर देखा नज़ारा कुछ और ही था. वीना की उम्र उस वक़्त 19 साल थी और उसके चुचे अपने आकार में आ चुके थे.

मैं उसे देखकर हैरान थी।दोस्तो, मैंने पहली बार असल में लन्ड देखा था. तब मैंने कहा- चलो मेरे साथ बाथरूम में!वह बोली- क्यों? बाथरूम में क्या करना है?तो मैंने वापिस कहा- तुम चलो तो सही मेरी जान!इस पर वह थोड़ी मुस्कुरा दी. उससे मेरी सेटिंग कैसे हुई और मिने उसे कैसे चोदा? मजा लें पढ़ कर!दोस्तो, मेरा नाम नवीन है और मैं गुजरात एक प्रख्यात जिले के गांव में रहता हूं.

आंटी सेक्स पिक्चर

अब मैं एक उंगली उसकी चूत पर फेरता जा रहा था और जीभ से चाट भी रहा था.

मौसी मुझे गालियां बकने लगीं- हरामी साले आराम से चोद … मैं कहीं भागी थोड़ी जा रही हूँ. मैं अपने आपको समझाती रही कि मेरे पति का काम का बोझ, अस्पताल की बढ़ती हुई जिम्मेदारियां और बारह से चौदह घंटा काम करना … शायद इसी वजह से वो मुझे अपना समय नहीं दे पाते हैं और ना ही मुझे सेक्स का पूरा आनन्द दे पाते हैं. आप सभी ने बहुत सारे ईमेल भेजे, लेकिन मैं सभी को जबाब नहीं दे सका, इसके लिए माफ कर देना दोस्तो.

लंड चूसते हुए एक मिनट भी नहीं हुआ था, मिनी अकबकाती हुई बाथरूम की ओर गई और थूकने लगी. थोड़ी देर चूचे मसलने के बाद मैंने मौसी की ब्रा को निकाल दिया और उनक़ी बड़ी और मुलायम चुचियों को दबाने चूसने लगा. फेसबुक रानी चटर्जीदोस्तो, पिछली रात बारिश हुई थी और बड़ी ठंड थी और धुंध भी बहुत ज़्यादा थी.

एक बार के लिए तो हम दोनों ही डर गए थे कि अंजलि भाभी कहीं ऊपर तो नहीं आ गईं. मैंने एक दिन अपना लंड उन दोनों के सामने ही निकाल कर हिलाना शुरू कर दिया जिसे प्रियंका और रिंकू दोनों देखने लगे.

टीना शहर से थी तो उसने पॉर्न फ़िल्में देख रखी थीं मगर वो अब तक चुदी नहीं थी. उसने मुझे फिर से पकड़ लिया और मूवी दुबारा से शुरू करके मुझे किस करने लगा. मैंने उसकी चुत में उंगली घुसेड़ी, तो अन्दर से चूत में पानी आया हुआ था.

मेरी मम्मी मुझे रोकेंगी भी तब भी मैं उनसे कोई न कोई बहाना करके आपके आ जाया करूंगा. चाचा को देखने में ऐसा लग रहा था, जैसे चाचा को फोटो क्लिक करवाने के लिए भी किसी ने सहारा दे रखा हो. कुछ देर में शिखा ने फिर अपनी गांड उचकाना शुरू किया तो मैंने उसे घुमाकर 69 में कर लिया.

यह सुनकर चाची बोलीं- तुझे क्या हो गया?मैं- चाची मैं एक बार आपकी मदमस्त जवानी का मजा लेना चाहता हूँ.

मैं भी अब झड़ने वाला था, मैंने पूरी ताकत से दस बारह धक्के मारे और इसी के साथ ही मेरे लंड ने अपना वीर्य का फव्वारा सरिता की गर्भाशय की मुख पर छोड़ दिया. कुछ ही देर में मैं फिर से उठ गया और उससे बोला- चल आ जा!उसका लंड ढीला सा हो गया था.

मेरा पालन पोषण अम्मी ने ही किया इसलिए अम्मी को हम बहुत प्यार करते हैं. मैंने देर न करते हुए सोनिया से कहा- सोनिया, अब मुझे तुम्हें चोदना है. मैं टैक्सी के बाहर निकला तो देखा कि पास की एक छोटी सी गली में एक बुरका पहनी औरत घर में घुस रही थी.

थोड़ी ही देर मैं मैंने शिल्पा की एक टांग को ऊपर उठा कर अपने हाथ से पकड़ ली, उसकी टांग को मैंने अपनी कमर के ऊपर तक उठा दी. हॉट सिस्टर Xxx स्टोरी बताने से पहले मैं मेरी बहन के बारे में कुछ बता दूँ. सौम्या मुँह को आगे पीछे करने के साथ साथ कभी भी मेरे लंड के सुपाड़े पर भी जीभ फिराती रही.

बीएफ चोदा चोदी देखना कॉल उठाते ही आंटी बोलने लगीं- आय एम सॉरी गौरव … पर मैं भी क्या कर सकती हूं, ये लोग अचानक आ गए. मुझे भी ये समझते हुए देर नहीं लगी कि अब चाची समझ चुकी हैं कि मैं राहुल नहीं, कोई और हूँ.

राजस्थानी छोरियों की सेक्सी वीडियो

टीना ने मेरा लंड का ऐसा शुभारंभ किया था कि मैंने उसकी अलावा बहुत लड़कियों और भाभियों की चूत चोदी. मैंने अपनी बीवी को घर में पैंटी पहनने को मना कर दिया था और वो मान गई थी. कुछ देर बाद चाची ने कहा- अपनी चाची को ऐसे ही तड़पाओगे या अपने लंड का भी दर्शन करवाओगे.

फर्श पर पौंछा लगाते हुए वो अपनी साड़ी का पल्लू कमर में खौंसे रखती थी. जब मैं अपने डिपार्टमेंट में गया, तो वहां के स्टाफ में पहले से 3 लड़कियां और 3 लड़के थे. असली शिलाजीतफिर मैंने दीदी से उनके हालचाल पूछे, तो दीदी ने कहा- अब काफी ठीक हूं.

मेरी मॉम ने पापा को लैटर लिख कर रख दिया- आप अपनी फैमिली के पास रहो, मैं अपनी बेटी और बेटा को कहीं लेकर दूर जा रही हूँ.

तुम रात को घर आ जाना और हम दोनों ऊपर की मंजिल पर बने कमरे में मिल लेंगे. जैसे ही वो नीचे अपने फ्लैट में पहुंची, मैंने उन्हें कॉल किया तो वो पहले तो कुछ देर तक हंसती रहीं.

मैंने उठने की कोशिश की तो उसने कोई अवरोध नहीं दिखाया, बस बड़े प्यार से मेरे चेहरे पर उंगलियां फिराईं. भाभी ने कहा- डरो मत यार … बताओ न क्या बोल रहे थे आप?मैंने कहा- मैं आपको पसंद करता हूं … आई लव यू शीला भाभी. मैंने कहा- उसकी चिंता तुम मत करो … मैंने तुम्हें अपना दोस्त माना है तो मुझे आने में कोई दिक्कत नहीं है.

एक दिन मैंने उसे नंगी चूत में उंगली करती देखा तो …दोस्तो, यह कहानी मेरे और मेरी मौसेरी बहन की है.

रूबी की भी रोज ऐसी चुदाई करते हो कि नहीं?अब चुप रहना भी गलत होता और बोलना भी. दूसरी ओर मेरी चाची मेरे लन्ड को सहलाते हुए मेरे शरीर को चूम रही थी।मैंने मुस्कान को थोड़ा सा दूर करके मेरी चाची को बांहों में उठाया और उनके बदन चूमने लगा।कुछ देर चूमने के बाद मैंने उनके बड़े बड़े बूब्स को चूसना और चूमना शुरू किया. मैं वैसे तो शर्मीले मिजाज़ का व्यक्ति हूं यानि कि लड़कियों से बात करने में घबरा जाता हूं, धड़कन बढ़ जाती है.

पंजाबी सेक्सी फिल्म व्हिडिओउन्होंने दीदी की लैगी को गांड के नीचे सरका दी और अपना लंड बाहर निकाल कर उस पर दीदी को बिठा दिया. अब मेरा भी निकलने वाला ही था तो मैंने मौसी से पूछा- मेरा होने वाला है मौसी, कहां निकालूं?मौसी- सारा माल अन्दर ही निकालना मेरे राजा.

लड़की लड़के का सेक्स

नखरे नहीं कर यार, कब तक बैठा रहेगा?वो मान गया और हम दोनों फ्लैट पर पहुंच गए. मैंने कहा- जब बेबी को पैदा किया था तब दर्द नहीं हुआ था?इस पर भाभी हंस दीं और मुझे चूमने लगीं. वो शनाया के संगमरमर से बेदाग जिस्म पर से अपनी नज़रें ही नहीं हटा पाया.

वो मुझे अपने हाथों से समेटे हुए गंदी गंदी गालियां दिए जा रही थी- आंह भोसड़ी के चोद दे … अब नहीं रहा जा रहा … मादरचोद तेरी मां की चूत पेल दे अपने बड़े लंड को … आआआ!मैंने उसको गोद में उठाया और उसके बेडरूम में ले जाकर बिस्तर पर धकेल दिया. अब आगे Xxx इंडियन भाभी सेक्स स्टोरी:ट्रेनिंग खत्म होने के बाद जब हम दोनों घर वापिस आए, तो हमें बाहर तो मम्मा बेटे जैसा ही रहना पड़ता लेकिन घर में हम दोनों पति पत्नी की तरह चुत चुदाई का खेल खेलते रहते. कहानी के पिछले भागअंग्रेज टूरिस्ट का लंड मेरी गीली चूत परमें आपने पढ़ा कि मैंने एक अंग्रेज टूरिस्ट के साथ चलती बस में सेक्स का मजा ले रही थी.

मैं सोच रहा था कि अभी इसके साथ कुछ नहीं करूंगा क्योंकि आज इसको काफी दर्द हुआ है. फिर अपनी जीभ उसकी गुलाबी चूत में डाल दी और अपनी जीभ से चूत की मुलायम दीवारों को सहलाने लगा. वीर्य स्खलन के बाद एकदम से थकान हो गई और मेरी आंखें मुंदती चली गईं.

मैंने दीदी को अपने बिस्तर पर लिटा दिया और बिना रुके उनके शरीर के हर हिस्से को चूमने लगा. मेरा लंड अभी भी शिल्पा की चूत में ही घुसा था … पोजीशन बनते ही मैंने शिल्पा की ताबड़तोड़ चुदाई करना शुरू कर दी.

चाची वैसे तो थोड़ी मोटी थीं मगर उनके बड़े बड़े मम्मों और तोप सी तनी हुई गांड देख कर लंड खड़ा हो जाता था.

मैं भी उसकी इन मादक आवाजों से जोश में आ गया और जोर जोर से रेखा की चूत का भोसड़ा बनाने लगा. रानी २७ कांटेक्ट सिर्फ मस्तीमैं एक हाथ में लंड पकड़कर, लंड का सुपारा रेखा की गीली चूत के मुँह पर रगड़ने लगा. लिंग बढ़ाने के घरेलू उपायउसके बाद मेरी अम्मी भी!मैं आपको अपने घर में खाला की चुत चुदाई के बाद अपनी बहन की सीलपैक चुत चुदाई के बारे में आपको बता रहा था. इन भावों के साथ उनको चुदते हुए देखकर मैं धीरे धीरे स्खलन की ओर बढ़ रहा था.

हैलो फ्रेंड्स, मैं अंकित, मैंने अपनी सेक्स कहानी के पिछले भागविधवा मम्मी के प्रति सेक्स भरी फीलिंगमें बताया था कि कैसे मैंने एक ट्रेनिंग टूर पर अपनी मम्मा सौम्या से शादी कर ली और उसकी 7 दिनों तक रोज जमकर चुदाई की.

मैं मन ही मन ये सोच कर खुश था कि शायद आज रात रंगीन होने वाली है, पर मैं डर भी रहा था कि अगर कुछ उल्टा हो गया, तो मेरी वाट लग जाएगी. मैं अपने कॉलेज में ज्यादा लड़कियों से बात नहीं किया करता था लेकिन मेरी एक दूसरे कॉलेज की गलफ्रेंड थी, उसके बारे में कभी और बताऊंगा. वो बोली- मैंने अभी तक किसी का लंड तो छोड़ो अपनी उंगली को भी अन्दर नहीं लिया है.

मैं अपने एक दोस्त के साथ उस दोस्त के कमरे पर पहुंचा और रुचिता के आने का इंतज़ार करने लगा. इसके बाद नीरू ने खुद ही अपने मुँह को मेरे लंड पर लगा कर उसे चूमा और कहने लगी कि मेरा कमीना बड़ा प्यारा है. उसकी चूत को न तो मेरे मुँह से चूसा गया था और न ही उंगलियों से रस निकला था.

एक्स एक्स मूवी एक्स एक्स एक्स

मैं मॉम को लेकर मामा के घर पहुंचा, तो नाना ने पूछा- अरे राजेश, तुम कब आए और तुझे तेरी मम्मी कहां मिल गयी?मैं बोला- मैं घर से आ रहा था तो मॉम अपनी सहेली के साथ पैदल आ रही थीं. कहानी के पिछले भागदोस्त की बीवी को वीर्यदान दियामें अब तक आपने पढ़ा था कि सारी रात सरिता मेरे लंड से चुदवाती रही थी और हम दोनों चार बजे नंगे ही सो गए थे. मैं उसकी आंखों में देखने लगा और खड़ा होकर उसके पास जाकर उसके नाज़ुक से हाथ को अपने हाथ में लेकर बोला- कोई नहीं, हो जाता है.

मैं घर आ गया और बाथरूम में जाकर उसको सोचते हुए आंख बंद कर, अपने लंड को हिलाने लगा.

उत्तेजना में अपना आधा लंड सरिता के मुँह में डाल दिया तो सरिता कसमसाने लगी.

मैंने उसका एक चूमा लेकर कहा- क्या बात है, नाराज हो क्या?वह बोला तो कुछ नहीं, बस मेरी तरफ पीठ कर ली. नीचे मेरा लंड सरिता की चूत पर रगड़ खा रहा था; उसकी चूचियां मेरे सीने पर रगड़ खा रही थीं. इंडियन सेक्सी मूवीदोस्तो एक अनजान भाभी से ट्रेन में लंड चुसवा कर सकिंग सेक्स में बहुत मज़ा आया.

इस सेक्सी नंगी लड़की की चुदाई कहानी पर कृपया अपनी प्रतिक्रिया मुझे कमेंट्स करके बतायें, गन्दे कमेंट्स नहीं करें।और परीक्षित को थैंक्यू जिन्होंने समय निकालकर मेरी स्टोरी लिखने में हेल्प की।. मैंने सौम्या डार्लिंग के सभी सीक्रेट्स उसको बताए जैसे कि उसकी चूत पर 5 तिल हैं, उसको बारिश में नंगी होकर नहाने का मन करता है. उसने मुझे बताया कि जब मेट्रो में भीड़ में मेरे पास खड़ी थी, तब वो मेरी सांसों को महसूस कर रही थी.

वो इस बात से बड़ी खुश थी कि मैं उसके जिस्म की तारीफ़ करते नहीं थकता हूँ. मेरी गांड में उंगली घुसेड़ता थप्पड़ मारता, मेरी गांड को दांत से काट लेता.

मैं- भाबी अब आपको इन सबका उपयोग नहीं करना पड़ेगा, मैं हूं न आपके लिए!भाबी- जाने दो मुन्ना, तुम अकेले काफी नहीं हो.

तो मैंने भी सोने का नाटक किया और उनकी गांड पर हाथ रख कर गांड को धीरे से रगड़ने लगा. चाची को भी काफी मजा आ रहा था, हम दोनों साथ मे कामुकता भरी अवाजे निकाल रहे थे, पूरा कमरा आह … ओह्ह … उई … उम्म … आह से गूंज रहा था।मैंने अब अपनी रफ्तार बढ़ाना शुरू किया. इतने में मम्मी ने आवाज दी- हर्षद तैयार हो गए क्या? चाय बनायी है मैंने, तेरे पिताजी आते ही होंगे.

सेक्सी इंग्लिश दिखाइए मैंने उनके मम्मे को टटोलना शुरू किया और जल्द ही मुझे चाची के मम्मे का कड़क होता निप्पल मिल गया. सलवार वैसी ही खुली पाकर मेरी हिम्मत बढ़ गई और मैंने अपना मोटा लंड निकाल कर अपनी डार्लिंग की चूत पर रगड़ना शुरू कर दिया.

मैंने आंखों ही आंखों में सीमा को इशारा किया जिस पर वो मंद मंद मुस्कुरायी. इसलिए जब सोनाली नीचे आकर सो गयी, तो मैं मौका पाते ही तुम्हारे पास आ गयी. मैंने प्राची से दोस्ती बढ़ा ली थी, जिस वजह से प्राची ने मुझे बहुत से राज बताए.

साड़ी वाली सेक्सी नंगी वीडियो

इतने सिग्नल पर मेरा भाई ने अपने लंड में क्रीम लगाई और मेरी चूत पर रगड़ने लगा. वैसे भी तुम एक साल यहां पर रुकने वाले हो तो मैंने सोचा तुम ही सही हो. मैंने एक हाथ से वो पकड़ कर रखा और दूसरे हाथ से उसकी चड्डी उतारने लगा.

विशाल ने रवि के गले में कुत्ते का पट्टा पहना दिया और बोले- अब कुतिया की तरह पलंग के किनारे खड़ी हो जा. कुछ देर बाद मैं ठहर सी गई और इसके बाद मैंने तीव्र ओर्गास्म उसके मुँह पर ही छोड़ दिया और बेसुध हो गई.

मैंने दिमाग़ लगाया और सोचा कि टीना ऐसे वक़्त आए, जब भाभी उसे देख लें कि टीना आई है, मगर भाभी ना आ पाएं.

कुछ देर बाद राहुल दरवाजा बंद करने के लिए आया और उसने चुपके से मुझे इशारा करके आने को कहा. हमारे स्कूल की छुट्टी 04:00 बजे होती है तो हमारे पास 2 घंटे थे चुदाई के लिए।स्कूल से निकलने के बाद हम दोनों जय के घर पहुंचे. सौम्या डार्लिंग ने कुछ सोच कर कहा- अच्छा ठीक है, तुम अपना रस मेरे मम्मों पर गिरा दो … अपनी मलाई से मुझे नहला दो.

भाभी के मुँह से एक दबी दबी सी सिसकारी निकली- आह मर गई!मैंने लंड को धीरे धीरे अन्दर बाहर करना शुरू कर दिया और एक जोरदार धक्का फिर से लगा दिया. मैंने एक टेबलेट निकल कर दी और कहा- आप थोड़ी देर यहीं लेट जाएं, तो मैं आपका सिर दबा दूँगा. सीमा के अंग-अंग के रोमटे खड़े हो चुके थे वो अपने स्तनों पर फिर से एक आदमी के सख्त हाथ पाकर मदहोश हो चली थी।उसके मुंह से सिसकारियां भी निकल रही थी लेकिन हम वो सब करने के लिए वहां नहीं थे।मैंने सीमा की निंद्रा भंग की और उसे सायकिल का हैंडल थमाया.

कमरे का दरवाजा खुला हुआ था और मैं दीदी के आने का इन्तजार कर रहा था.

बीएफ चोदा चोदी देखना: सौम्या ने कहा- अच्छा मेरे राजा … तो फिर देर किस बात की, आ जा चोद दे मुझे!मैंने बोला- ऐसे नहीं जानू. उसके निपल्स को खूब मींजा, उसकी जांघों में मुँह डालकर उसकी चूत को किस किया, उसकी रिसती हुई चूत को चाटा.

आज तो सौम्या कुछ ज्यादा ही मस्त लग रही थी; ज्यादा ही यंग लग रही थी. हर्षद मैं भी एक औरत हूँ, आखिर कितने दिन ऐसा करती? भगवान ने मेरी सुन ली और तुम मुझे मिले. मैंने उस कमेंट को पढ़कर मोबाइल रख दिया और चाची के बारे में सोचने लगा कि अगर कोई कमेंट करता है तो वो जवाब भी देती होंगी.

उन्होंने मुझे कॉल बैक किया और कहने लगीं- अरे गुस्सा क्यों होते हो?मैंने कहा- गुस्सा ना होऊं … तो क्या करूं?फिर वो कहने लगीं- जो आज हमारे बीच हुआ, उसे हमें एक प्यारी सी नादानी समझ कर भूल जाना चाहिए.

चूंकि मेरे मम्मी पापा अक्सर आते जाते थे इसलिए रूम आसानी से मिल गया था. रात का करीब एक बज गया था, हम दोनों थक तो गए थे पर मन अभी भी नहीं भरा था. अब बारी उसकी लैंगिंग्स को उतारने की थी, तो में खड़ा हो गया और उसे चूमने की बजाए उसकी कमर के पास उंगलियां घुमाने लगा, जिससे वो और भी ज्यादा मचलने लगी.