बीएफ सेक्सी एचडी का

छवि स्रोत,गाने पर की सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

सनी सनी लियोन की सेक्सी: बीएफ सेक्सी एचडी का, पूरी तरह से जवान बिना चुदी हुई और रस से भरी हुई चूत मेरे सामने थी और मेरी उंगलियाँ उसके रस से भर गई थी। मुझे लग गया था कि अब दीपू पूरी तरह से तैयार है लन्ड लेने के लिये!और यही सोच कर मैं उसकी दोनों टांगों के बीच में आ गया और मेरा लन्ड उसकी चूत पर रगड़ने लगा जिससे उसकी चूत और रस से भीगने लगी.

सेकस हिनदी

परंतु मैं जानता था कि वह गर्म हो चुकी है और ऊपरवाले मन से ही मना कर रही है. सास की चुदाई चुदाईतो फिर चूस कर देखो न!”मैंने उसके दोनों निप्पलों को बारी बारी से अपने होंठों में दबा कर खींचते हुए चूसा.

फिर मैंने कहा- डरो मत, पहली बार में थोड़ा दर्द होगा और फिर उसके बाद नहीं होगा. देसी कैलेंडरआख़िर मुझे सोचता देख कर वो बोला कुछ दिनों बाद तुम्हारी चुत की कीमत एक बार चुदने के लिए सिर्फ 2000 की रह जाएगी और पूरी रात को चुदवाने की कीमत बस 5000 से ज़्यादा नहीं मिलगी.

एकता भी मेरी तरह निरीह भाव से देखने लगी तो डॉली ने कहा- अरे मैं हूँ ना हेल्प के लिए.बीएफ सेक्सी एचडी का: मैंने उसके लबों पर अपने लब रख कर काफी देर तक उसे चूमा, हालांकि मेरा मन तो था कि आज ही इसको चोद कर लंड को मजा दे दूँ.

मैंने कहा- रेखा जी, कान पकड़ता हूँ कि आगे से ऐसी गड़बड़ किसी के सामने नहीं करूँगा.तुम बोलो ये सब छोटी मेमसाब से करना चाहते हो?वो बोला- राम राम मेमसाब, हम तो यह सोच भी नहीं सकते… वरना साहिब हमको जान से मार देंगे.

जिला सेक्सी वीडियो - बीएफ सेक्सी एचडी का

मैंने उसके गले पर अपनी जीभ से किस करना चालू कर दिया, तो उसने मुझे अपने हाथों से जोर से दबा लिया.मैंने टांगें सिकोड़ते हुए उसका हाथ जोर से हटा दिया और वह खिलखिला कर हंस पड़ी- हटाने की नहीं होती जानेमन… जो महसूस करोगी बस वही है खुजली। तुम्हारी घुंडियां छोटी हैं न.

तुम क्या कर रही हो?उसने कहा- मैं अपनी चूत में उंगली कर रही हूँ, तुम्हारे लंड की गर्मी याद आ रही है. बीएफ सेक्सी एचडी का भाभी ने तुरंत पूजा को बुलाया और पूजा से कहा कि अगर तुम चाहती हो कि में किसी से कुछ न कहूँ तो मैं भी अमित से सेक्स करूँगी.

दोनों पुरानी दोस्त, मैं एक को चोदने आया, दूसरी को चोदने के चक्कर में पहली न निकल जाए.

बीएफ सेक्सी एचडी का?

मैंने तुरंत अपने होंठ नेहा दीदी के होंठों पर रख दिए और नेहा दीदी को किस करने लग गया. एक दिन मेरी वाइफ मेरे फ्रेंड से चुदवा रही थी तो वो मेरे फ्रेंड से बोली- मुझे 2 लंड एक साथ अपनी चुत में लेने हैं. वो चित लेट गईं, मैंने उनके होंठों पर स्तनों पर, लगभग सारे शरीर पर शहद लगा दिया और चाटने लगा.

मैं- वैशाली जग जाएगी वो हम दोनों को गलत समझेगी!कामिनी- गलत क्या समझेगी?मैं- यही कि हम भाई बहन हो कर कुछ गलत सलत कर रहे हैं. अब वो चली गई, बाद में उसने फ़ोन किया और कहा कि उसे नीचे दर्द हो रहा है और चलने में दिक्कत हो रही है. ये ट्रेन अधिकतर भरी रहती थी और इसमें रिजर्वेशन का कोई झंझट नहीं था.

हम दोनों की ही आँखें खुलीं, हमारी साँसें अब भी गर्म हवाएं जोर जोर से छोड़ रही थीं. मैंने उसका एक पैर पकड़ा हुआ था और दूसरा पैर उसने थोड़ा ऊपर कर रखा था. मेरी तो समझो हवा ही निकल गई, मैंने तुरंत कोहनी तो हटाई और उससे सरक कर दूर को बैठ गया.

मैंने जब अपने लंड के नीचे सील पैक चुत का अहसास किया तो मैं मस्त हो गया और मैं उसे अब प्यार से किस कर रहा था. अगले दिन, जब मैं अपने काम से दोपहर को वापिस होटल आया तो देखा कि जूली रिसेप्शन पर नहीं थी.

फिर उस दिन हम दोनों किस किया, मैंने उसके बूब्स खूब दबाये और फिर वहाँ से चला आया.

मैं भी अब झड़ने वाला था तो मैंने अपनी चुदाई की रफ़्तार और तेज कर दी.

बड़ी हॉल नुमा झोपड़ी थी, एक हिस्से में दो भैंसें बंधीं थी, दूसरे में पुआल बिछा दिया था, उस पर दरीनुमा फर्श बिछा था. सुबह मैं उठा तो बगल में शीतल गांड उठा के सोई थी, मैं उठा और उसकी गांड को किस करके सोफे पे आकर बैठ गया. अब उसने मुझसे बोला कि तुम साफ़ सफाई कर लो और अपने पूरे कपड़े डाल लो, जो मैंने तुमको दिए थे.

शादी वाले दिन भैया अच्छे से तैयार हुए, बहुत सारे मेहमान आये हुये थे, पूरा घर मेहमानों से भरा हुआ था।फार्म हाउस में शादी हुई, वहां मैंने एक लड़की को चोदा, लेकिन कैसे चोदा, वो कहानी मैं बाद में लिखूँगा।रात को शादी हुई, सुबह भाभी दुल्हन बनकर घर आ गयी, रात भर जागने के कारण भैया भाभी दिन में आराम करते रहे, सोते रहे. इसके बाद उसने अपनी सलवार समीज को निकाल दिया और वो मेरे सामने ब्रा और पैंटी में आ गयी. वो बोली कि उसने ऐसा कभी नहीं किया और सुना है कि उसमें बहुत दर्द होता है.

नमस्कार दोस्तो, मैं अमित, आपने मेरी कहानीगर्लफ्रेंड की मर्द का लंड देखने की इच्छापढ़ी और उस पर आपके मेल मिले.

इन भैया को जाने दो, मैं स्टेशन भिजवा दूंगा!पर दिनेश मुझे छोड़ना नहीं चाहता था, बोला- भाई साहब, इनका गाना सुन लें, गांव में बहुत गाया और लोग इसरार करने लगे!मैंने गाना गाया, वह एक फ्यूजन सों था जो रैप और हमारी बुंदेली लोक धुन राई को मिला कर बना था. मैं सोचता हूँ कि सिर्फ इस तरीके से ही संसार को बचाया जा सकता है!स्थान बदल जाने के बाद मैं अपनी पत्नी के मुंह को ड्रिल करने लगा था. मैं खुश था कि शादी के इस भीडभाड़ वाले माहौल में भी मुझे अपनी बंजारिन बहू को चोदने का परम सुख मिल गया था.

बस थोड़ी देर सब्र कर। अभी पहले से ज्यादा मज़ा आने लगेगा।”मेरा सारा नशा काफूर हो चुका था, लेकिन अपनी बिचली उंगली अंदर घुसाये-घुसाये उसने उलटे हाथ के अंगूठे से वही रगड़न देनी शुरू की जहाँ पहले उंगली से सहला रही थी।धीरे-धीरे नशा फिर चढ़ने लगा।उसके कहने पे मैंने अपने दूध और घुंडियों को अपने ही हाथों से मसलना शुरू कर दिया. वो आदमी- उस दिन क्या हुआ था तुम फोन पर कुछ कह रही थीं?भाभी- हां यार वो सामने वाले लौंडे धवल ने हम दोनों को उस वक्त देख लिया था जब तू मुझे चोद कर जा रहा था. मैंने दोस्त से पूछा- भाई, तू मुझे कहाँ लेकर आ गया है, मुझे तो डर लग रहा.

चुदाई के बाद हम दोनों थक गए थे और टाईम देखा, तो सुबह के 5 बज चुके थे.

मेरा फ्रेंड बोला- भाभी, पहले किसका लंड अपनी चुत में लोगी?मेरी वाइफ बोली- पहले मैं तुम्हारा ही लूँगी. मुझे सबा की बात सुनकर गुस्सा आया और मैंने उसको बुरा भला बक दिया और घर से बाहर निकाल दिया.

बीएफ सेक्सी एचडी का मैंने कहा- नहीं मैडम, ऐसा नहीं हो सकता, कल आपने वायदा किया था और कहा था कि मेरे बारे में बाद में सोचेंगे, इसलिए मैं अब आपको यहां से सूखा नहीं जाने दूंगा. रास्ते में उन्होंने उस दिन अंकल के मदद के लिए धन्यवाद दिया और वे उस चांटे के लिए सॉरी बोलीं.

बीएफ सेक्सी एचडी का मैंने बेड के नीचे खड़े हो कर उसकी चिकनी गाण्ड और चूतड़ों पर प्यार से हाथ फिराया, उसकी चूचियों को पकड़ कर मसला और अपनी उँगलियों से चूत को खोला, उसमें लण्ड का सुपारा रखा, धीरे से जोर लगा कर अन्दर किया तो आधा लण्ड अन्दर चला गया. मेरे पापा की उस वक्त एक एक्सीडेंट में मृत्यु हो गई थी जिस वक्त मैं छोटा था.

मैं उसको बोल रही थी- नहीं, गांड मरवाने में मजा नहीं आता है, दर्द होता है क्योंकि मेरी सहेलियां मुझे बताती थी कि गांड मरवाने में दर्द होता है.

long कॉमेडी स्टोरी इन हिंदी

भाभी अपने पति देव का इन्तजार कर रहीं थीं, अन्दर लड़कियाँ मतलब की भाभी की ननदें भाभी से गंदे मजाक कर रहीं थीं और भाभी बस घूँघट में धीरे-धीरे मुस्कुरा रही थी. अब मैं भाभी को बहुत जल्दी चोदना चाहता था, तो मैं बहुत सोच समझ कर रहने लगा और प्लान बनाने लगा. डॉली नीचे झुक कर एकता की चुत को चाटने लगी और मेरी गोटियों के साथ भी खेलने लगी.

दूध खुलते ही वो शर्मा गईं और हाथ से अपने मम्मों के निपल्स छुपाने लगीं. एक दिन अपने पुराने फ्रेंड को कॉल किया, जो अहमदाबाद में पिछले 4 साल से था और उसको अपनी चूत चोदने वाली इच्छा को बताया. कुछ देर लेटने के बाद मैंने अपनी बहन की गांड पे हाथ रख दिया, ये देखने के लिए कि वो जाग रही हैं या सो गईं.

मैंने उसके निप्पल को अपने होंठों से पकड़ कर चूसा तो वो फिर से आह भरते हुए बोलीं- आह.

उसने गले में एक पतली सी चेन पहनी हुई थी‌ और उसमें दिल के आकार का एक लॉकेट भी लगा हुआ था। जब तक मैंने उसकी गले की चेन का मुआयना किया तब तक मैं उसकी गर्दन पर ही चूमता रहा. एक दूसरे को बहुत देर तक किस करने के बाद हम दोनों लोग बिस्तर पर लेट गए. मैंने ऐसा ही किया, उसी दिन रात को मैंने एफबी पर एक एकाउंट बनाया, जिसमें सारी जानकारी डाल दी.

राज, मैं भी तुम्हें प्रॉमिस करती हूँ कि मैं जितना भी टाइम आपके साथ रहूँ, आपको बहुत खुश रखूंगी. जब वो वापस कमरे में आयी तो काफी खूबसूरत लग रही थी, उसने गुलाबी कलर की टॉप और गुलाबी कलर की ही कैपरी पहनी हुई थी. यह कहकर मैंने उसे अपनी बांहों में भर लिया और अपने होंठ उसके होठों से लगा दिए.

उस की मांसल देह किसी भी आदमी को सेक्स के लिए पागल बना देने के लिए काफी थी. तो कभी दूसरा मसलता तो पहला चूसता और मॉम आँखें मूंदें चूची चुसाई का मज़ा ले रही थीं.

फ़िर बड़ी चाची ने मुझे गाली देकर कहा- मादरचोद साले मुझे ही नंगी करेगा. मेरे फ्रेंड ने मेरी वाइफ की दोनों टांगों को खोल क्रर अपने हाथों से मेरी वाइफ को अपने ऊपर उठा लिया और रंजीत से बोला कि अपना भी लंड इसकी चुत में डालो. मैंने सामने की ओर से अपने होंठ उनके गालों से छुआते हुए उनके कान तक ले गया और फिर नीचे की ओर गले की तरफ चूमते हुए बढ़ने लगा.

मैं बोला- पहले वादा करो भाभी आप मेरी बात का बुरा नहीं मानोगी ना ही गुस्सा करोगी.

मैंने थोड़ा सा शेक दोनों माँ बेटी की चुत पर डाला और मैं दोनों की चुत को चूसने लगा. उन्हें देखते ही मेरा लण्ड लोअर में टाइट होने लगा, मैं लोअर के नीचे अंडरवियर पहनता ही नहीं. वो शीशा के सामने जा कर उसको ठीक करने के बाद मुझ से बोली- हां अब बताओ… साथ ही बोली- यार प्राइवेट ऑफिस है ना… यहाँ बॉस को खुश रखना पड़ता है.

मैंने उसके पैरों को फिर से ऊपर किया और पैरों को फैला कर उसके अन्दर जोर से धक्का लगाया, उसकी चीख निकल गई और वो रोने लगी. अगले दिन मैंने ऑफिस बॉय को कहा कि आज सिर्फ बारह बजे तक ही पेशेंट देखूँगा.

तो मैंने कहा- हां, वहां देख नीचे एक रजाई रखी है, उसे बिछा ले, फिर झाड़ देना. उनकी नजर मेरे खड़े लंड पर पड़ी वो अपने हाथों को आश्चर्य से अपने मुँह पर ले गईं और बोली- ओ गॉड इतना बड़ा. मैं खुद इतना गर्म हो गया कि बनाना-शेक दोनों की चुची पर डाल कर चूचे चाटने लगा.

हिंदी सेक्स hd वीडियो

हालांकि अभी मेरा आधा लंड भी नहीं गया था और मैं वैसे ही उसे धीरे धीरे चोद रहा था.

और कल मैं कुछ अलग इंतजाम करती हूँअब तक सुबह के 4 बज चुके थे तो वो जाने लगी. मैंने डॉक्टर को समझाना चाहा।आप निश्चिन्त रहिये…” उन्होंने मेरी ओर देखते हुए कहा- मुझे कुछ नहीं होगा, मेरे लिए यह कोई नयी बात नहीं है, आप दरवाज़ा खोलिये. उस रात भाभी ने भैया कुछ काम से बाहर गए हुए थे तो भाभी ने कहा- आज रात तुम अपनी मम्मी से कहकर यहीं रुक जाना और पूरी रात मेरी चुदाई करना.

फिर एक दौर वह भी आया कि दर्द काफूर हो गया और रह गया तो बस मज़ा।अब अहाना धीरे-धीरे उंगली अंदर बाहर करने लगी. अब वो इधर उधर की बातें कर रही थी, लेकिन आज वो चुत चटाई की बात नहीं कर रही थी. चंपा की चुदाईफिर जब मुझे अपनी और पलटकर उन्होंने मेरे लिंग को हाथ लगाया तो वो पूरी तरह खड़ा को गया.

मैं हट नहीं सका क्योंकि उन्होंने अपनी चुत पर मेरा सर अपने हाथों से दबाया हुआ था. मैंने नीचे से एक जोर का धक्का दिया और पूरा लण्ड पूजा की चूत में…मैंने उसकी दोनों चूचियां अपने हाथ में पकड़ी और पूजा धक्के देने लगी.

अब तो मैं बिल्कुल उछल पड़ी और कसकर लाल जी के होंठ काट दिए, साथ ही लाल जी की बांहों में मैं प्यासी मछली की तरह मचलने लगी. तभी फिर से मैंने अपना लंड बिना निकाले पूरा बाहर खींच लिया और दुगुनी ताकत से एक जोरदार धक्का लगा दिया. जैसे ही उसके बड़े-बड़े बोबे और एकदम क्लीन शेव चुत मेरे सामने आई, मैं तो जैसे पागल सा हो गया.

थोड़ी देर की चुदाई के बाद वो झड़ गई पर मेरा नहीं हुआ था क्योकि मैं उससे मिलने को आते समय मुठ मार कर आया था. वो पेंटी के ऊपर से ही चूत को रगड़ रही थीं और उनके मुँह से सिसकारी की आवाज भी निकलने लगी थी, जो बाहर सुनाई दे रही थी. मैंने उसके मम्मों के निप्पलों को अपने होंठों में भर कर मींजना शुरू कर दिया.

किसी ने लिखा कि कहानी बिल्कुल बेकार और बकवास है… कुछ ने मुझे धंधा करने वाली तक कह डाला.

बापू चाय लेकर आया तो पद्मिनी आइने के सामने खड़ी आँखों में काजल लगा रही थी. उसने कहा कि कैसे एक नंगी लड़की को देख कर कोई उसे नहीं चोदे बिना रह पाएगा.

अब मैंने उन्हें ज्यादा परेशान करना ठीक न समझा और मैंने करवट बदल ली अब मेरी पीठ व गांड उनकी तरफ थी. मुझे ख़ास कर विवाहित, आंटियां, अधेड़ उम्र की महिलायें बहुत पसंद हैं. टॉप के अंदर वैशाली ने गुलाबी रंग की और कामिनी ने सफेद रंग की ब्रा पहन रखी थी.

अलका के भीतर से सांसों के साथ मेरे नथुनों में आकर समाती हुई उसकी सुगंध ने नशा चढ़ा दिया था. मैंने कहा- ये नई बात है मुझे मालूम ही नहीं था कि मर्द के वीर्य से औरत के मम्मे दोगुने खूबसूरत हो जाते हैं. मैं तो तुम्हें इसलिए इतने पैसे दे रहा हूँ क्योंकि तुम्हारी चुत अभी तक सिर्फ़ मेरे से ही चुदी है.

बीएफ सेक्सी एचडी का यह देख कर मेरा मन उसके प्रति अपार श्रद्धा से भर गया और उत्तेजना से भी! मैं भी उसकी चूत में धक्के मारने लगा. वो बोली- छोड़िए ना… क्या कर रहे सुबह सुबह…मैंने कहा- प्यार कर रहा हूँ.

वव सत्ता कॉम

अगर दिल करे तो एक दो बार और मेरी चुदाई देख लेना इससे तुम्हारा हौसला बढ़ जाएगा. मैंने हिमानी को बेड पर लिटाया और स्कर्ट को ऊपर करके उसकी टाँगे फैलाई. मैंने भी स्पीड बढ़ा दी और इसका नतीजा ये हुआ कि डॉली ने भी मेरे मुँह पर अपना गाढ़ा पानी निकाल दिया, जिसे मैं बड़े मजे से चाट गया.

हमारे लिये जैसे राशिद है वैसे ही यह है। राशिद को समझ हमने चुना था, इसने हमें चुन लिया। फिर राशिद इक्कीस-बाईस साल का है, यह अट्ठरह साल का. हम लोगों को कुछ किराए और ब्याज आदि कि आमदनी थी जिससे हमारा गुजर बसर चल रहा था. ओल्ड मुंबई चार्टउनको प्यार करने का मन था, पर बात शुरू कैसे की जाए, ये नहीं समझ पा रहा था.

अब भैया डबल बैड पर भाभी की चूत पीछे से घोड़ी स्टाइल में चोद रहे थे और भाभी रो रही थी.

मैं तो उसको देख कर पागल हो गया था क्योंकि उसको देख कर लग ही नहीं रहा था कि वो एक शादी शुदा औरत है. मैंने उन्हें सलाम-वालेकुम कहा जोकि मैं अंकल-आंटी से तो कभी कभार तो करता था लेकिन शबनम भाभी से कभी नहीं.

मैं पहले तो सोचता रहा कि अब क्या करूँ मैं!फिर मैंने भी अपना हाथ हिम्मत करके बढ़ाया और उसके बूब्स पर दबाने लगा। फिर उसकी गर्दन को रगड़ने लगा. थोड़ी दिक्कत हुई पर कैसे भी मैंने मोटी की योनि में पतली की दो उँगलियाँ डलवा दीं, फिर मैंने अपना लिंग पकड़ा और पतली की छोटी सी चोकोलेटी गुलाबी योनि के मुंह पर रखा और एक तेज धक्के में आधा अंदर घुसा दिया. अब तो नताशा इतनी उत्तेजित हो चुकी थी कि स्वयं ही अपने चूतड़ों को आगे-पीछे चलाती हुई आर्थर के लंड को अपनी चूत में अन्दर बाहर करवाने लगी थी.

हम दोनों ने बहुत ही लूज टॉप खरीदे थे, जिससे ज़रा सा भी झुकने में पूरे मम्मे घुंडियों सहित नज़र आ जाते थे.

तभी उसकी चूत ने पानी छोड़ दिया, उसका शरीर भी ढीला पड़ गया, उसका पानी चूत से होते हुए मेरे लंड के आस पास से निकल रहा था. मैंने कहा- आपका कमरा मैंने नहीं देखा, कैसे आऊं?उसने मुझे एड्रेस दिया और कहा कि इस एड्रेस पे आओ, मैं तुम्हें घर के बाहर दिख जाउंगी. मेरे को अशोक ने कहा कि यह चोदू राम आज मेरे सामने तुम्हारी चुत में अपना लंड डालेगा.

चुदवाने वालीपीयूष ब्लाउज के बटन खोलने लगा और जैसे ही ब्लाउज की बटन खुले, अन्दर मैंने कुछ नहीं पहना था, तो दूध बिल्कुल नंगे हो सामने आ गए. ”और चटवा ना, मुझे चुत चाटने में बहुत मज़ा आता है और फिर तेरी चुत का टेस्ट बहुत ही लाजवाब है.

जापानी गोली क्या है

इतनी रात में उनका वहाँ से आना ठीक नहीं, तो प्लीज़ तुम उसके घर चले जाओ. मैंने उसके होंठों और मम्मों को चूसना शुरू कर दिया और साथ ही उसकी जांघों और पटों पर हाथ फिराने लगा. तभी मेरी छोटी मामी और बुआ मेरे पास आईं और बोलीं- अबे यहाँ क्यों बैठा है? भाई की शादी है, थोड़ा डांस-वान्स कर!तो मैं बोला- मुझे डांस नहीं आता!वो बोलीं- तो फिर सबको चाय पानी पिला… कुछ मदद कर!तो मैंने एक बड़ी ट्रे में पानी के गिलास रखे और सबको पिलाने लगा.

उसने पहले तो जोर से मुझे पकड़ा और फिर मुझे धक्का दे दिया ताकि मेरा लंड उसकी चूत से निकल जाए, पर मैंने उसे जोर से दबा रखा था. सुकन्या रानी स्वाद ले लेकर वीर्य को चाटने लगी और मेरे लण्ड को पूरा निचोड़ लिया. खाना बनाने के बाद हमने खाना खाया और बैठ कर बारिश बंद होने का इन्तजार करने लगे.

अब कैसा लग रहा है बहू?” मैंने कुछ देर बाद बहूरानी के बालों में प्यार से हाथ फेरते हुए पूछा. उन तीनों के माहवारी आती रहती थी, जिस कारण मुझे भी रेस्ट मिलता रहता था. मैंने अपने लंड की जोर जोर से मुठ मारते हुए कहा- मैं आपकी चूत में अपना लंड डालना चाहता हूँ.

आज तुम उसे मेरे कमरे में ले कर आओगी और मुझे उसी तरह से उससे चुदवाओगी, जिस तरह से तुमने मुझको आशीष से चुदवाया था. कुत्ते से चुदवा कर तुम्हारी डीवीडी बना लूँगा, जब कुत्ते का लंड चुत में जा कर फंसेगा तो उसकी गांड से तेरी गांड आगे पीछे हो जाएगी.

वो बिस्तर देख कर घबरा गई और बोली- इतना खून?मैं बोला- साफ कर देंगे, चलो नहाने.

तुम बोलो ये सब छोटी मेमसाब से करना चाहते हो?वो बोला- राम राम मेमसाब, हम तो यह सोच भी नहीं सकते… वरना साहिब हमको जान से मार देंगे. होली के नए गानेलंड को प्यार से देखते हुए वो हाथ में लेकर मसलने लगी और बोली- राजा तुमहरा लंड तो बहुत मस्त है, खा जाने को मन कर रहा है. योगा सेक्सी योगावो बोली- छोड़िए ना… क्या कर रहे सुबह सुबह…मैंने कहा- प्यार कर रहा हूँ. तो मैं खाला को गले लगा कर बोला- खाला, मुझसे एक बार चुदने के बाद मुझसे चुदे बिना रह नहीं पाओगी.

मैं किसी से कुछ नहीं कहूँगी और पूजा तुम बाहर जाओ, मुझे अमित से कुछ बात करनी है.

अंकल ने बोला- अरे नहीं, सेक्स में क्या करते हो?मैं बोला- अंकल, मैंने पहले कभी किया नहीं… और मुझे मुम्बई आये हुए भी एक ही महीना हुआ है, मुझे इस बारे में कुछ भी पता नहीं है।वो बोले- ठीक है, कोई बात नहीं! मुझे चोदोगे क्या?पहले तो मैं एकदम से घबरा गया कि ये अंकल क्या बोल रहे हैं, फिर मैंने भी सोचा कि इसी के लिए तो हम दोस्त बने हैं तो मैंने हाँ बोल दिया. ये कुर्ता ठीक उसके घुटनों पर तक ही आता था, मगर ये कुर्ता स्लीवलैस था और पद्मिनी पर काफी बड़ा लग रहा था. जब तक सोनू के पापा थे, चिकन के साथ एक दो पेग दारू जरूर पीते थे और मुझे भी पिलाते थे.

फिर कुछ देर बाद मेरी भी तबियत ठीक हो गई और मैं भी अपने ऑफिस जाने लगा. रेखा रानी थोड़ी हिली डुली तो, लेकिन ‘क्यों तंग कर रहे हो?’ मुनमुना कर फिर सो गई. हालाँकि बातचीत भी रिकार्ड की जा सकती है, लेकिन वह अक्सर लोग तब करते हैं जब इरादे ही नेक न हों।जबकि उसने पूछा कि इससे क्या होगा? क्या उसकी समस्या का समाधान हो पायेगा.

साउथ सेक्स व्हिडिओ

मैंने भी तुरंत ही मौका देखते ही उनको चूमने लगा और उनके चुचों को दबाने लगा. बुआ के घर टीवी नहीं था, मेरे घर पर था तो वो डेली रात को डिनर के बाद मेरे घर टीवी देखने आ जाती थीं. देख वन्द्या की चूत से खून बह चला, कहीं ये सील पैक तो नहीं थी वन्द्या? देख जरा मनोहर और बता.

मैंने उठाया तो पापा ने कहा कि हमें गांव जाना होगा, उधर किसी की डेथ हो गई है.

मुझे उनकी इस बात से चिढ़ सी हुई और मैं नाराजगी के स्वर में बोला- ठीक है.

जैसे ही उसके बड़े-बड़े बोबे और एकदम क्लीन शेव चुत मेरे सामने आई, मैं तो जैसे पागल सा हो गया. फिर बहुत सी यादें लिए और एक दूसरे के लिए कभी फिर मिलने का प्रॉमिस लिए हुए हम दोनों अलग हुए. bf इंग्लिश फिल्मसुकन्या रानी स्वाद ले लेकर वीर्य को चाटने लगी और मेरे लण्ड को पूरा निचोड़ लिया.

इतना कह कर उसने अपने चूतड़ उठाए और मैंने अपने हाथ को नीचे डाल कर उसका नाड़ा खोल दिया और उसका पजामा नीचे कर दिया. अब मेरा फ्रेंड नीचे लेट गया और मेरी वाइफ उसके खड़े लंड पर धच से बैठ गई और नीचे ऊपर होने लगी. अब अपने मन में पद्मिनी बोली- हाय राम… बापू तो शुरू हो गया… मैं क्या करूँ अब… चलो देखती हूँ कि कहाँ तक उसकी पहुँच होती है.

फिर उसने लिंग को लार से भी चिकना किया ही होगा।वह योनि की कसी दीवारों पर दबाव डालता अंदर तक धंस गया और दीवारें चरमरा कर रह गयीं। दर्द हो रहा था, यह अपनी जगह सच था लेकिन दिमाग पर चढ़ा नशा इतना गहरा था कि दर्द पर हावी हुआ जा रहा था।फिर वह खुद भी लद गया मुझपे और उसने अहाना को हटा दिया. अब मैंने आगे हाथ बढ़ा कर उसके दूध थाम लिए और लंड की चोटें दनादन देने लगा.

मैंने कहा- उस अधिकारी के बारे में पूरी जानकारी जब आपको मिल जाए तो मुझे फोन कर देना.

वो अभी भी दर्द से चिल्ला रही थीं- साले कुत्ते फाड़ दी मेरी चूत…आठ दस धक्कों के बाद भाभी को भी मज़ा आने लगा. मैंने उससे पूछा- पूरा मजा लेना है या बाकी कल करें?उसने मुझे बाँहों में जकड़ लिया, वह दुबारा सेक्स से भर गई थी, उसने कहा- अबकी बार थोड़ा क्रीम लगा कर करो. उसने हल्के से अपनी जीभ को उस नाज़ुक जगह पर फेरा और उस नमकीन लज्ज़त वाले हिस्से को चाटा.

बॉर्डर फिल्म भोजपुरी घर आया तो पता चला कि गांव में पापा के किसी ख़ास रिलेटिव की डेथ हो गई है. अब मुझे लगा कि उसका दर्द कम हो गया तो देर ना करते हुए एक दो झटके में अपना पूरा लंड उसकी चूत में उतार दिया.

लेकिन इन सब बातों के बावजूद हम दोनों बात करते रहे, अब तक हमारी बातें पूरी तरह खुल गयी थीं।हम लोगों ने न्यू ईयर वाले दिन जीजा जी के घर पर ही मिलने का प्रोग्राम बनाया. आंटी ने मेरा लंड पकड़ कर अपनी चूत के छेद पर सेट किया और इशारे से कहा- घुसा…मैंने चूत के छेद पर धक्का मारा तो किसी अधिक कठिनाई के बिना मेरा लंड उनकी चूत में घुस गया. मेरी जीवनसाथी अभी तक आर्थर का लंड चूस रही थी और अब एरिक ने भी अपना लंड उसकी ओर बढ़ा दिया.

दिसावर की आज की खबर

फिर मनोरमा ने गीता को एक डिल्डो अपनी चुत पर बाँधते हुए कहा- इसको चूसना शुरू करो. इसके कुछ देर बाद मैं जब खाना खाने बैठा, तभी दीदी नहाने के लिए आ गई और पहले के जैसे कपड़े पहन कर नहाने लगी. मेरा नाम नेहा उपाध्याय (बदला हुआ) है, मैं मध्य प्रदेश की रहने वाली हूँ। मेरी उम्र 26 साल है मेरे स्तन बड़े बड़े हैं जो हर किसी को अपने वश में कर लेते हैं, हर किसी को मेरे बारे में सोचने को मजबूर कर देते हैं.

ये इतना बड़ा कैसे हो गया है?मैंने उससे कहा कि तुम आराम से लंड को देखो. मेरी बुटीक पर एक भाबी आती थीं, वे दिखने में थोड़ी मोटी थीं, गदराया हुआ बदन था भाबी का… पर थीं लाजवाब.

पूरी मस्ती से मेरे लण्ड को सुकन्या रानी खाये जा रही थी … मैं एकाध बार उसके मुंह पर ही कुछ देर के लिए बैठ जाता था जिसकी वजह से उससे सांस लेना भी दूभर हो जाता था … लेकिन इसीमें तो मज़ा है … उसकी मुंह की गर्मी और इस उत्तेजना भरे माहौल में मेरा लण्ड भी चरम पर पहुँचने लगा … मैंने उसके मुंह में झटके मारने की क्रिया को लगभग दोगुनी कर दी और आँखें बंद करके वीर्य को उसके मुंह में ही छोड़ दिया.

मैं तुमको 15 दिनों बाद लेडी डॉक्टर के पास ले जाकर तुम्हारा चैकअप कराऊंगी कि तुम्हारी चुत में से उन बदमाशों का कोई बच्चा तो नहीं निकलने वाला है. उसने माँ को अपनी गोदी में उठा कर अपना लंड उसकी चूत में डालकर माँ को बोला कि अब धक्के मारो इस पर. तब मैं अपने बैग में से क्रीम की शीशी लाया, दिनेश के लंड पर मली और लौंडे की गांड में अपनी ही क्रीम वाली उंगली डाल दी.

जब मैंने चूचों को मुँह में लेना चालू किया तो दोनों की मादक सिसकारियां फूट पड़ीं. मैं- आपने कभी फ़ोन सेक्स किया है?सुकन्या- नहीं, लेकिन थोड़ा बहुत सुना है. बहू की चूत से फचाफच फच्च फच्च फचाक जैसी आवाजें आने लगीं और ऐसी चुदाई से बहू पूरी तरह से मस्ता गयी.

उनकी चूत से वीर्य बाहर बहने लगा जिसे उन्होंने अपने हाथ से रोक कर पूरी चूत और जांघों पर मल लिया.

बीएफ सेक्सी एचडी का: पहला सवाल उसने पूछा कि इतना बड़ा आइटम पैंट में अन्दर कैसे रहता है? इतना बड़ा मैं कैसे लूँगी? क्या सभी का इतना बड़ा होता है. मैंने होंठों पर रेड कलर की लिपस्टिक लगाई थी, पूरी लिपस्टिक पीयूष के होंठों में लग गई.

करीब दस मिनट चुत चटाई के बाद मॉम ने नवीन का सर कस कर पकड़ लिया और तेज़ तेज़. महिला का नाम शबनम है और उसके शौहर दुबई के किसी अच्छी कंपनी में जॉब करते हैं, सो उसका यहां आना साल दो साल में एकाध ही बार हो पाता है. मुझसे भी रहा नहीं गया, तो मैंने एक एक कर उसके सारे कपड़े निकाल दिए और उसकी कमर को मेरे मुँह की तरफ ले लिया.

इस बार मुझे बहुत मज़ा आया था क्योंकि चुदाई 15 मिनट तक फुल स्पीड में हुई थी और वो भी झड़ गई थी.

अब मैंने उसके एक हाथ की तरफ इशारा करते हुए अपना हाथ बढ़ाया और अपनी जांघ पर रख लिया. आइसक्रीम की ठंडक से मॉम की चुत को बड़ी राहत मिली और उन्होंने पूरी मस्ती से चुत को मेरे मुँह पर रगड़ा. मैंने कहा- मुँह से मत चूसो, मुझे पेशाब करनी है, वीर्य नहीं निकालना है.