बीएफ बीएफ नंगी बीएफ

छवि स्रोत,கவிதா செக்ஸ்

तस्वीर का शीर्षक ,

नंगे फोटो वॉलपेपर: बीएफ बीएफ नंगी बीएफ, उसको मैंने वो सब दिखाया तो वो चौंक गयी लेकिन मैंने उसको मानसिक रूप से पहले ही तैयार कर दिया था इसलिए वो डरी नहीं.

ऐश्वर्या राय की ब्लू फिल्म

दोस्तो, आपको मेरी चुदाई की स्टोरी हिंदी में कैसी लगी मुझे कॉमेंट में जरूर बताइगा. सेक्सी सेक्सी सेक्सी सेक्सी चाहिएमैं उसकी क्लीवेज को चूमने लगा और चूमते-चूमते नाभि पर आ रुका; नाभि में जीभ डाली और होंठों में भर लिया.

काफी देर बाद हम लोग अलग हुए, मैम ने मेरा कॉण्डोम उतारा और चाट चाटकर मेरा लण्ड साफ करने लगीं. सेक्सी वीडियो सऊदी अरब कीमैंने अपने लण्ड को व्हिस्की के गिलास में डुबोया और लिली के मुँह की ओर कर दिया.

वो सिसकारते हुए अपना दूध मुझे पिला रही थी और मेरे सिर को भी सहला रही थी.बीएफ बीएफ नंगी बीएफ: कुछ वीर्य उसके होठों के किनारों से निकलने लगा, बाकी फ़लक सारा अंदर ही पी गई.

तब मैंने देखा कि बाकी सब लोग तो जा चुके थे लेकिन 4 लड़कों का एक ग्रुप वहीं पर रुका हुआ था.शायरा मेरे साथ दोस्त की तरह रहना चाहती थी … मगर मैं ही उससे गलत उम्मीद लगाए बैठा था.

सेक्सी ब्लू फिल्म आ जाए - बीएफ बीएफ नंगी बीएफ

उधर से मयंक ने फोन उठाया और बोला- साले कमीने, संगीता ठंडी हो गई क्या जो फोन कर रहा है?मैंने फोन को लाउडस्पीकर पर किया और बोला- भैनचोद दोबारा बोल … अभी फोन स्पीकर पर है.हां, ये एक आज्ञाकारी कुत्ता है, आह्ह … करते रहो … हांह!” मैंने उन्माद में उससे कहा।फिर मैं लिविंग रूम की ओर जाने लगी.

किंजल झड़ने के टाइम भी जोर जोर से अपनी चुत उठा उठा कर लंड को धक्का मारे जा रही थी. बीएफ बीएफ नंगी बीएफ मैं भी दूसरा पैग बनाने लगा लेकिन वो लोग तो अलग ही मस्ती में लगे हुए थे.

आज की चुदाई में मुझे बिल्कुल भी मजा नहीं आया था, तब भी मेरी सुलगती चुत में लंड नाम का कुछ तो भी चला गया था, जिससे मेरी चुदाई की प्यास कुछ शांत हो गई थी.

बीएफ बीएफ नंगी बीएफ?

उनकी चुत के नमकीन रस से मैंने शराब की कड़वाहट को खत्म किया और उनके निप्पल पर फिर से मुँह लगा दिया. एक दिन मैंने उससे कहा- इतनी बिंदास रहती हो, कोई पीछे पड़ गया … तो लेने के देने पड़ जाएंगे. थोड़ी देर ऐसे ही लेटे रहने के बाद वह उठा और उसने मुझको अपने लौड़े से कंडोम उतारने के लिए बोला.

उसकी आंखें बंद थीं वो अपने कानों में हेडफोन्स लगाए हुए थी और उसने अपने दूध भरे उभारों पर मिल्क सकिंग पंप लगाया हुआ था, जिससे बोतल लगभग भरने ही वाली थी. लॉकडाउन लगने के बाद मैं और प्राची अपने अपने घरों में अकेले रह गए थे. मैंने एसी को तो बस दो पॉइंट ही तेज किया था … मगर शायरा के इतना करीब होने से मेरा लंड का तापमान कई गुना‌‌ बढ़ गया.

मैं अभी अपने रूम में एक कुर्सी पर बैठ कर मोबाइल से ये कहानी नोटबुक में लिख रहा था … तो इसे एक बार में पूरी नहीं लिखा सका था. वह लड़का बोला- आप कहां पर उतरेंगी?मैंने उन्हें अपना स्टॉप बता दिया. उसने भी मेरी ब्रा के हुक खोलकर मेरे स्तनों को बाहर निकाल दिया। मेरे स्तनों को घूरने के बाद वो पागलों की तरह मसलते हुए मेरे चूचकों को मुंह में भरकर बारी-बारी से चूसने लगी.

क्योंकि वो मेरी रियल बुआ का लड़का है, इसलिए किसी को भी मेरे उसके साथ चुदाई के रिश्ते का पता नहीं है. मेरी कहानियाँ जब पब्लिश होती हैं तब देश के विभिन्न हिस्सों से अच्छे बुरे मेल आते रहते हैं।कुछ पाठकों के साथ दो चार दिन ही बात होती हैं तो कुछ के साथ लंबे समय तक बातचीत का दौर चलता रहता है।ऐसी ही एक पाठिका थी सरिता।सरिता एक 40 साल की कुँवारी महिला थी। उसका होने वाला पति नामर्द था इसलिए शादी के मंडप से भाग गया था.

शेखर के मन में मिले-जुले ख़्याल उमड़ रहे थे, उसकी सेक्सी बातें उसे उत्तेजित कर चुकी थीं लेकिन उसकी वास्तविकता पर संदेह का ख़्याल उसे असमंजस में डाल रहा था.

तीन कमरे के फ़्लैट में शेखर और रेणु का प्यार शादी से लेकर उस वक़्त तक बिलकुल वैसा ही था जैसा कि अभी-अभी शादी हुई हो.

उसको मैंने वो सब दिखाया तो वो चौंक गयी लेकिन मैंने उसको मानसिक रूप से पहले ही तैयार कर दिया था इसलिए वो डरी नहीं. एक बार इसी तरह हम दोनों मैसेज पर बातें कर रहे थे और मैंने उससे पूछा- ये फ़ोन सेक्स क्या होता है?उसने बोला- फ़ोन या मैसेज पर बात करते हुए खुद हस्तमैथुन करने को फ़ोन सेक्स कहते हैं।मैंने हिम्मत करके उसको पूछ लिया- हम करें क्या?उसने हाँ बोला और कहा- यह बात सिर्फ हम दोनों के बीच ही रहनी चाहिए और सिर्फ फ़ोन तक ही रखना. मैं इस जुगाड़ में था कि इसकी चूत कैसे मारी जाए!दरवाजा खोलने से पहले लिली ने रुककर फिर मेरी ओर देखा और रुआंसी सी हो कर बोली- सर, मेरे घर के हालात नॉर्मल नहीं हैं इसलिए मैं परेशान थी और आपसे वह सबकुछ बोल गई, अगेन सॉरी!मैं कुछ नर्म हुआ और उसे इशारे से अपने पास बुलाया.

चूचियां दबाते हुए उसके पति ने अपनी बीवी की चूत को सहलाना शुरू कर दिया. उस दिन बहुत थक गया था आते ही मैंने नहा लिया और ऐसे ही बिना कपड़ों के बेड पर लेट गया. मेरे हाथ में कंडोम का पैकेट आ गया।मैंने उसे रख दिया और दवा लेकर बेड पर आ गया.

इतनी मस्ती तो तब भी नहीं आती थी जब पूरी तरह गर्म होकर लिंग चूत से घर्षण करता था।कुछ ज्यादा समय भी नहीं हुआ था अभी और मैं चरम सीमा के मार्ग पर थी।मुझसे अब अब इस तरह अपने चूतड़ हाथों से फैलाये और उठाये नहीं रहा जा रहा था.

मेरा दिल जोर-जोर से धड़क रहा था क्योंकि ये पहली बार होने जा रहा था कि एक पति अपनी पत्नी को मुझसे चुदवा रहा है. इन्हीं विचारों से प्रेरित होकर मैं उसकी भी चुदाई के सपने देखने लगा. उनकी गांड मारने की चाहत का क्या हुआ, वो मैं अगली सेक्स कहानी में लिखूंगा.

वो दोनों श्वेता और उसके पति के बीच हुई बहस के बारे में बात करी थीं. वो दोनो इंदौर के रहने वाले हैं और पिछले 7 सालों से नोएडा में रह रहे हैं. फ़लक के घुटनों को मोड़कर उसकी पकौड़ा सी सूजी हुई चूत पर फिर लण्ड का मोटा सुपारा रखा और ढ़ेर सारा थूक लगा कर लण्ड चूत के छेद में घुसेड़ दिया.

मैं- आपके हस्बैंड?लिली- वो आजकल इसी शहर में अपने पेरेंट्स के घर पर हैं.

फिर कुछ दिनों बाद शनिवार को सुबह सुबह मैंने देखा कि अमितेश बैग लेकर कहीं जाने की तैयारी में था. प्रिया के पति के बारे में सोचने लगी कि कैसे वो मेरी नर्म कोमल गांड पर चपेट मारकर मुझे चोदने की तैयारी कर रहा है.

बीएफ बीएफ नंगी बीएफ फिर पता नहीं कब मुझे नींद आ गयी।सुबह मेरी आँख मेरे रोज की अपेक्षा जल्दी खुल गई लेकिन फिर भी घर की दोनों महिलायें मतलब मौसी और उनकी जेठानी मुझसे पहले ही उठ गई थी।बेड पर लेटे-लेटे ही रात की सारी घटना मेरी आँखों में तैर गई और मैं रात में दिखी उस परछाई के बारे में सोचने को मजबूर हो गया. एक मिनट बाद मैंने जोर जोर से उसकी चुत चाटने लगा था और वो मेरे लंड को.

बीएफ बीएफ नंगी बीएफ उसकी गांड इतनी टाइट थी कि वो जैसे मेरे लंड को अन्दर वैक्यूम की तरह खींच रही थी. ख़ैर दूसरे दिन यानि रविवार की रात क़रीब 10 बजे दोनों फिर से चैट रूम में मिले और इस बार शेखर ने अपनी असमंजसता को दूर करने के लिए उससे फ़ोन पर या फिर वीडियो चैट पर आने को कहा.

मेरी बीवी का बॉस विदेशी से कहने लगा- डील पसंद आई?विदेशी बोले- आई लव देसी इंडियन … (मुझे देसी इंडियन की चुदाई बहुत पसंद है).

कल्याण का सेक्सी वीडियो

मेरा तजुर्बा है कि औरत चुदते हुए जब अपनी चरम सीमा पर होती है तो उसे किसी भी बात के लिए मनाया जा सकता है. मैं उसके बराबर में लेटा और उसकी एक टांग उठाकर पीछे से उसकी चूत में लंड घुसा दिया. मैंने बहुत की नर्म लहज़े में पूछा- बोलो, क्या कहना चाहती हो?लिली की आंखों में पानी आ गया, वह चुपचाप खड़ी रही.

चारों लोग आपस में एक दूसरे की बीवियों को ऐसे चूस रहे थे कि ये दुनिया की आखिरी औरत है. जांघों को चूमते हुए हल्का सा ऊपर हुआ और चुत के बगल से जीभ का स्पर्श देते हुए मैं भाभी की नाभि पर अपनी जीभ को गोल गोल घुमाने लगा. उसको पकड़ कर मैंने ज़ोर से धक्के मारने शुरू किये।हमारी चुदाई की आवाज़ें कमरे में गूँज रही थी।मैंने उसकी गांड पर थप्पड़ मारते हुए उसको चोदा.

कभी वह इसससस … की आवाज निकालते हुए मज़े से अपना सांस अंदर लेती तो कभी आआआआ … की आवाज निकालती.

अमन ने कुछ मिनट तक रीना दीदी की बुर चाट कर उसको एकदम रसीला कर दिया था. मुझे बड़ा अजीब सा लगा कि ऐसी मस्त भाभी को मैंने जिम में पहले कभी देखा क्यों नहीं. अपने चूतड़ उचकाकर मैम ने एक तकिया गांड के नीचे रखा और अपनी जांघें फैला कर अपनी बुर खोल दी.

मैं- प्रभात को लड़की दिखाई? मैं लेन-देन की बात तो नहीं करूंगा, पर लड़की प्रभात की टक्कर की होना चाहिए. मैं दीदी की बड़ी-बड़ी भरी हुई चूचियां देख कर पागल हो गया और मैंने एक चूची के निप्पल को अपने मुँह में दबा कर निप्पल को खींच लिया. मैं तो चढ़ती जवानी से निकल गयी थी … मगर 39 साल की उम्र में मैं जवानी की अंतिम अवस्था में पहुंच चुकी थी.

मैंने दरवाजा खोला तो बाहर हाथों में एक गद्दा और दोनों बच्चों को लिए सरिता आँटी दरवाजे पर खड़ी थी. फिर दोनों हाथों से उसके चूतड़ पकड़ कर फैला दिए और लंड अन्दर बाहर करने लगा.

इंडियन आंटी सेक्स स्टोरी के पिछले भागचाची की बहन की गर्म नंगी चूतअब आगे इंडियन आंटी सेक्स स्टोरी:आँटी के हाथ पांव बहुत ही सुंदर और कोमल थे. पल्लवी- नहीं … मैं और भाई अभी कहीं भी नहीं जा सकते, तुम लोग घूम आओ. मैं रोशना के पास आ गया और उसकी ब्रा के ऊपर से ही उसके रसीले मम्मों को दबाते हुए मसलने लगा.

भानजी की चुदाई कहानी में पढ़ें कि मैंने अपनी पत्नी से उसकी भांजी की चूत दिलवाने को कहा.

मेरी मोटी गांड उसके लंड से सटी थी लेकिन समीर एक इंच भी पीछे नहीं हटा।जब सब सामान लेकर हम दोनों मंडी से बाहर निकलने लगे तो वो गली एकदम पतली सी थी और उसमें खूब भीड़ थी. अचानक से एक दिन शेखर की कम्पनी ने एक स्पेशल प्रोग्राम के लिए उसे नॉएडा भेजने का निश्चय किया. ‘आह और जोर से चूस भैनचोद … आह … आह्ह अन्दर तक मुँह लगा लवड़े … मैं मर गई रे … हरामी … फिर से ये कैसी आग लगा दी है तूने … आह … ठीक से लगातार चुसाई कर कमीने … मैं फिर से आने वाली हूँ मुँह गड़ा दे कुत्ते.

मगर मैं नीचे स्क्रॉल करता जा रहा था, तभी मेरी नजर 21 साल की तान्या पर गयी जो एक बहुत ही सेक्सी और प्यारी वेबकैम मॉ़डल थी. उसका हाथ मेरे सिर पर आ गया और वो मेरे सिर को अपनी चूत पर दबाने लगी.

मैंने आँटी से पूछा- अंकल ऊपर आ गए तो?आँटी बोली- अरे वो क्या आएगा? साला खुद बोला कि बाहर से ताला लगा कर जाना ताकि आओ तो मेरी नींद ख़राब न हो. मैं रूक नहीं पाया और मैंने उससे कह ही दिया- यार अब तुम पटाखा हो गए हो … चालू भी. ये बात मेरे दिमाग में आते ही मैंने तुरन्त ममता‌ जी‌ को फिर से पकड़ लिया.

भी सेक्सी फिल्म

वो हैरत से मुझे देखने लगी और बोली- आप क्या कह रहे हैं सब मेरे ऊपर से निकल रहा है.

वो मेरी चड्डी को निकालने की बजाय अपनी नाक को मेरी गांड की दरार में रगड़ रहा था. उस बेरहम चपरासी ने अपनी हवस मिटाने के चक्कर में अपना पूरा लौड़ा एक ही झटके में सोनम की चुदी हुई गांड में जड़ तक पेल दिया था. मैं- अगर मैंने इसको कुछ पल के लिए और हिला दिया होता तो यह कंप्यूटर स्क्रीन पर अपना वीर्य फेंक चुका होता.

मैंने अपना सर पापा के कंधे पर रख दिया और एक टांग पापा के ऊपर चढ़ा ली. नसीम भाई- अब आए हो, भाईजान से मिले हो, तो जल्दी क्या है … चले जाना. साडीवाली बाई सेक्सी व्हिडिओमैं क्रीम ले आया और मोना भाभी की चूत में दो उंगलियों से क्रीम लगाने लगा.

अब फच्च फच्च … की आवाज के साथ लंड उसकी चूत में अंदर बाहर हो रहा था. मैं उसे फोन पर ही ज्ञान बांटता रहता था और उसको अपनी ओर खींचने की कोशिश करता.

थोड़ी देर बाद मैं वहां से अपने कमरे में आ गया और रज़ाई में नंगा होकर उसके नाम से लंड हिलाने लगा, साथ में पॉर्न भी देख रहा था. ज्योति- तुझे यकीन नहीं है ना … तो ये देख!ज्योति ने इतना बोल कर उसका हाथ पकड़ कर अपनी जींस की चैन खोल कर पैंटी के अन्दर डाल कर बोली- ले देख ले. मैंने जो भी किया अपनी कम्पनी की छवि बचाने और एक दोस्त का फर्ज निभाने के लिए ही किया है.

कविता से बात खत्म होते ही मेरे मन मे स्वयं प्रीति की छवि दिखने लगी और संयोग से आधे घंटे के बाद प्रीति भी आ गयी. मैं अपनी गांड को उसके मुंह पर रगड़ती रही और कुछ समय तक अपना पसीना उसके चेहरे पर लगाती रही. तो हम लोग भी मना नहीं कर पाये और सोचा कि इसी बहाने साक्षी का ससुराल भी देख आयेंगे.

वो हंसते हुए मेरे बूब्स का मुआयना करने लगे और बोले- ये पैंटी जब तक मैं ना कहूं बाहर ना आ जाये.

भाभी भी मेरे लंड को आईसक्रीम की तरह ऐसे चूस रही थीं जैसे इसे वो आज खा जाएंगी या उनको बाद में लंड मिलेगा ही नहीं. तभी आवाज आई- रूम सर्विस!मैंने तुरंत टॉवल लपेटा और गेट पर चली गई। मैंने ट्रे ली और कमरा अंदर से बंद कर दिया.

मदमस्त औरत की चुत जब वासना की आग में जल रही हो और उसकी चुत पर उन्मुक्त मर्द का हाथ खेलना शुरू कर दे, तब कामांध औरत का क्या हाल होता है ठीक वैसा ही इस समय मोना भाभी का हो रहा था. फिर उसने कहा कि चलो शुरू करते हैं।उसने मेरी टीशर्ट उतार दी और खुद अपनी टी-शर्ट उतार दी. हम दोनों ने अपने फोन नंबरों का भी आदान-प्रदान किया और अब फोन पर बातचीत करना शुरू कर दी.

फिर मैंने उसको लेटाया और उसकी टांगों को अपने कंधे पर रखवा कर उसकी चूत में मुंह दे दिया. मैं दीदी को इस रूप में देख कर चौंक गया और मेरी आंखें फटी की फटी रह गईं. शायद उसने सोचा कि मकान मालकिन उसे देने आई होंगी … मगर जब वो देर तक बाहर नहीं आई, तो वो यहां रखकर चली गयी.

बीएफ बीएफ नंगी बीएफ उसके बदन के उभार देख कर तो मेरा लंड कण्ट्रोल में ही नहीं हो रहा था. वो एक ऐसे दोस्त को ढूंढ रही है, जिसके साथ वो अपनी बातें शेयर कर सके.

7 साल पुरानी सेक्सी

राबर्ट की कहानी सुनकर मैं समझ गया कि इसे चूत तो चाहिए लेकिन पायल राजी कैसे हो?रात का खाना हम चारों ने एक साथ खाया और योजनानुसार जीनिया पायल के साथ सोने चली गई और राबर्ट मेरे घर में सोया. मैंने अपने हाथ पीछे ले जाकर उसके टट्टे पकड़कर दबा दिए जिससे उसकी हल्की चीख निकल गयी. सच में मजा आ गया आज तो, पहली बार लॉलीपॉप और और चॉकलेट का एक साथ टेस्ट लिया, थैंक यू.

चूंकि सारी बात हम दोनों समझ गए थे कि ये एक दूसरे के प्रति आकर्षण वाला मामला है, तो वो भी मुझसे इठला कर बात करने लगी थी. उसकी यह हरकत देखकर मैं भी मस्ती से उसकी चूत को जगह जगह से चूसने लगा. हिंदी सेक्सी वीडियो डॉक्टरइन बातों से मेरा ध्यान चुदाई से हट गया था इसलिए लण्ड थोड़ा सुस्त हो गया, और मूड भी चेंज हो गया.

वो समझ गई और उसने मेरे लंड को अपने मुँह में लेकर चूसकर पूरा गीला कर दिया.

मैं रोशना के पास आ गया और उसकी ब्रा के ऊपर से ही उसके रसीले मम्मों को दबाते हुए मसलने लगा. सच में बड़ी ही मस्त किस थी वो!उसकी ज़ुबान पूरी तरह से मेरे मुँह में आ गई थी और मेरी ज़ुबान से लड़ रही थी.

अब आगे बीवी की सहेली की चुदाई:उससे किंजल मेरे लौड़े से चुदकर इतनी संतुष्ट हो गई थी कि वो प्यार से रोने लगी. वे पीछे से मुझे धक्के देने लगे जैसे शॉर्ट्स में ही अपना लंड मेरी गांड के अंदर डाल देंगे. मैं जीभ घुसा घुसाकर चूत चाटने लगा।मैंने उसे बिस्तर पर पटक दिया और ऊपर आ गया। मैं अपने लौड़े को चूत के होंठों पर रगड़ने लगा और चूत के रस से लंड को चिकना कर दिया।अब मैं और नहीं रुक सकता था.

चोद दे जब तक है … पूरी ताकत से चोद दे मुझे … मैं तुझसे रोज़ चुदूंगी.

मैंने अब ज्यादा देर करना उचित नहीं समझा क्योंकि पहली दफा में उत्तेजना बहुत ज्यादा होती है और इस स्थिति में हद से ज्यादा इंतजार करवाना भी सामने वाले का मजा किरकिरा कर देता है. उसने मेरी तरफ देखा, तो मैं होंठ से होंठ भिड़ाकर उसके साथ किसिंग करने लगा. वह मेरे गुस्से से देखने से थोड़ा सा सहम गया और उसने अपना हाथ हटा लिया.

खुदाई की सेक्सीअब उसे मजा आने लगा था और वो अपनी गांड उठा कर मेरे लंड के झटकों का जवाब देने लगी थी. हालांकि दर्द अब मेरे लंड में भी पहले से ज्यादा हो रहा था और वो उस संकरी चुत में इस तरह फंसा हुआ था कि हिल भी नहीं पा रहा था.

जीम सेक्सी

सीमा- हां पूछ ना यार क्या बात है!मैं- यार सीमा, अभी मैंने तेरे घर की हालत देख ली है … और मेरे भी घर की हालत तेरे जैसे ही है, पर तू ये महंगे कपड़े, मोबाईल लेने के लिए पैसे कहां से लाती है!सीमा थोड़ी देर सोचकर मुझे देखने लगी. मैंने देखा कि आगे सीट पर दो बुजुर्ग लोग बैठे हुए थे जो नींद में थे. आ… आप कब आयीं?इस हड़बड़ाहट में मैं यह भूल ही गया था कि मेरे साथ लंड महाराज भी सीना ताने खड़े हैं।उनकी नज़र मेरे खड़े लंड पर ही टिकी थी जो लोअर के अंदर तंबू बनाये खड़ा था।तो उन्होंने जवाब दिया- जब तुम अपने जरूरी काम में बिजी थे, तभी आयी थी.

दोनों मकानों के बीच लकड़ी का बड़ा दरवाजा था, अन्दर जाते समय उसे बंद कर दिया, जो नए मकान से पुराने मकान को अलग करता था. स्नेहा मुस्कुराते हुए बोली- तेरी चूत में तो बस चींटियां ही रेंग रही हैं. आपका फ्रंट लुक तैयार हो गया।मैं भी उसके ही भाषा में जवाब देते हुए बोली- फ्रंट तो हो गयी अब जल्दी से बैक लुक भी तैयार कर दो।तो सन्नी बोला- क्यों नहीं मेरी जान! आज तो तेरे पूरे हुस्न को कातिल बना दूंगा।मैं बोली- जिओ मेरे राजा! आज तो तूने मुझे खुश कर दिया।सन्नी मेरी गान्ड को दबाते हुए बोला- लेकिन तुमने मुझे खुश नहीं किया।मैं बोली- यार पहली बार में ही मेरी चूत मार ली.

जहां तक मुझे लग रहा था कि वो पहले भी किसी के साथ यहां पर आई होगी वरना ऐसे ही किसी को इस तरह की जगह के बारे में पता नहीं होता है. जैसे ही मेरी पकड़ कुछ ढीली हुई यामिना बेड पर पसर गई और मैं भी पीछे से चूत में लण्ड फंसाये फंसाये उसकी कमर पर लेट गया. पूरे 9 इंच लंबा और 4 इंच मोटा लगभग मेरे हाथ की कलाई जैसा मोटा लंड था.

इसलिए मैं कैसे दिखता हूँ यह उसे नहीं पता था और वह कैसी दिखती थी मुझे नहीं पता था।जितना उसने अपने बारे में बताया था उससे तो लगता था के वह बहुत ही सुंदर महिला है।मेरे साथ सेक्स चैट करते रहने से और सेक्स स्टोरीज पढ़ते रहने से उसके मन में भी सेक्स करने की इच्छा जागृत हो रही थी. हालांकि उसके मुंह पर लगातार ‘ना’ ही थी लेकिन उसका बदन मुझसे दूर होने की कोशिश नहीं कर रहा था। शशि के आने में अभी आधा घंटा बाकी था.

मैंने बोला- रंडी चुपचाप चोद लेने दे … वरना अभी ये नाइटी भी फाड़ दूंगा.

कभी लण्ड को गाँड पर रगड़ती।रेनू ने मेरी जांघों पर बैठ कर लण्ड को चूत के छेद पर सेट किया और बैठ गयी. सेक्सी पिक्चर घोड़े वालीनौकर ने कहा- जी मैडम … आप आराम से जाइए, मयंक साहब को कोई भी परेशानी नहीं होगी. सेक्सी पिक्चरें वीडियो मेंमेरे अंडरवियर में मेरी बड़ी सी गांड को देखकर निश्चित उसको उत्तेजना हो रही होगी. उसने पहले मेरे कपड़े पूरे निकाल कर मुझे नंगा किया और मेरे पूरे शरीर को चूमने लगी.

मैं एक-एक डोरी चूमता और वो आहें हैं भरती!डोरियां खुलीं तो सामने आ गयीं ब्रा में कसी उसकी गोरी चूचियां!मैं ब्रा निकाल कर चुभलाने लगा उसकी चूचियों को और ज़ारा लंबी-लंबी आहें भरती हुयी एकदम से झड़ गयी.

वह एकदम से हड़बड़ा कर बोला- अरे यह क्या!पर मैंने उसकी कमर कस के जकड़ ली और अपने मुँह से लंड नहीं निकलने दिया. वो औरत अभी भी अंकिता की चूचियों के निप्पलों को चूसने में लगी हुई थी. तो मैंने हैरानी से पूछा- आपने कब देख लिया हमें किस करते हुए?वो बोले- एक बार जब रात को तुम दोनों बालकनी में किस कर रही थी; तब मैं भी अपनी बालकनी में था; तभी देखा था।तो मैंने स्माइल करके कहा- तो आपने उस दिन जम कर मुट्ठी मारी होगी?वो बोले- हाँ, उस दिन मैंने 2 बार मुट्ठी मारी थी.

अब तू देर ना जल्दी से डाल दे इसे मेरी चुत में … और बुझा दे मेरी प्यास. दो पल बाद मैंने उसके कान के पास फुसफुसाते हुए कहा- अब तो दर्द कम हो गया होगा? यार मुस्कुरा तो दो. ममता जी- हां … हां … सारी‌ ठरक आज ही निकाल लेना … चाहे किसी की हालत खराब हो तो हो.

काजोल की सेक्सी फोटो दिखाएं

कुछ देर तो वो ऐसे ही सोनम को देखता रहा, पर जब सोनम ने आंखें खोलकर उसे देखा और पूछा- अब क्या आरती उतारूं तेरी भड़वे? चल फाड़ दे मेरी चुत, आज मैं भी तो देखूँ … कितना बड़ा मर्द है तू … या मर्द के नाम पर कलंक है?सोनम की उस चेतावनी से मानस का ध्यान टूटा और उसने फिर से अपना लौड़ा सोनम की फैली हुई चुत में रगड़ना चालू कर दिया. प्राची ऐसे ही खुले उभार लेकर, जिसमें से दूध रिस रहा था … बेडरूम की ओर दौड़ते हुए चली गयी. मैंने उसके अंडकोषों से उसे पकड़ कर रोक लिया और उसके सामने खड़ी हो गयी.

मैंने कहा- अब डरो नहीं … मर्द हो मर्द बन कर जो चाहो, उसे हासिल करो.

जिस औरत को माँ बनने में दिक्कत होती है उसे डॉक्टर 14 इंजेक्शन लगाने के लिए बोलते हैं.

मैं उसके निप्पलों पर बाइट करने लगा जिससे उसकी हालत खराब होने लगी और उसकी चुत ने पानी छोड़ दिया. उसका चेहरा वासना से एकदम भर गया था और उसकी आंखें बोल रही थीं कि उससे अब रहा नहीं जा रहा है. ಸೆಕ್ಸ್ ಪಿಚ್ಚರ್ ಕಮ್तुमने क्या कहा?”मैं क्या कहूँ यार, मैं कुछ समझ ही नहीं पा रही कि क्या कहूँ.

मैं बोला- और कुछ मदद चाहिए सफ़ाई में?श्वेता- नहीं बस हो गयी … अब तो नहाना बाक़ी है बस!मैं बोला- ओके मुझे भी नहाना है … तो मैं जाता हूँ. पिछले भागगर्म भाबी ने लिया चूत चटवा कर पूरा मजामें अब तक आपे पढ़ा था कि भाभी मुझसे सिर्फ ओरल सेक्स का मजा लेना चाह रही थीं. ये निकला तो हम दोनों के लंड और चूत से ही है ना … इसे भी अपने खेत देख लेने दो.

दोस्तो, एक बार फिर से मैं आप अभी के सामने एक नई बिग बूब्स स्टोरी के साथ हाज़िर हूँ. उसके बाद साल भर तक मैं महीने में 2-3 बार उसको होटल ले जाकर चोदता रहा.

मैंने सोचा कि वो शायद गीली नहीं हुयी है, तो मैं उसको गीला करने के लिए फिर से उसे किस करने लगा.

इस दौरान एक फ़्री सेक्सी इंडीयन सेक्स साइट का पता चला जहाँ याहू की तरह ही एक चैट रूम होता था।यहां हर तरह के लोग सेक्सी-सेक्सी चैट किया करते थे. तुझमें किसी सेक्सी औरत को पटाने की हिम्मत तो है नहीं इसलिए मेरे जैसी सेक्सी औरत की गांड तेरे लिए बहुत ही बढिया ऑप्शन है. मैंने उसे जल्दी से नीचे फर्श पर बिठाया और उसके मुँह और बोबों पर झड़ गया.

सेक्सी वीडियो चलाओ ना मैं चुपचाप वहीं पर भाभी जी को याद करने लगा कि भाभी बाथरूम में कैसे बैठी होंगी. तभी मैम ने फिर से मेरे होंठों पर अपने होंठ रख दिये और रसपान करने लगीं.

तभी दीदी की कराह निकल गई- उउउउ उउउफ्फ ईई इ!मैं- क्या हुआ दीदी!दीदी- कुछ नहीं … ज्यादा अन्दर मत कर. फिर भाभी जी ने मेरा हाथ पकड़ा और मुझ अंधे बने आरूष को कहीं लेकर गईं. मैंने पायल का हाथ अपने हाथ में लेकर कहा- तुम मेरी अच्छी दोस्त ही नहीं, मेरा साइलेंट प्यार भी हो.

हिंदी वीडियो सेक्सी एचडी वीडियो

मैं भी कामांध हाथी की तरह जोर जोर से भाभी की चूत के दाने को चाटने लगा. बेड पर रगड़ा खाने से मेरे घुटने दर्द करने लगे थे लेकिन लण्ड से पानी निकलने का नाम नहीं ले रहा था. मैं कुछ नहीं बोला, बस लंड पर कंडोम लगाकर भाभी की चुत के ऊपर लौड़ा टिकाया और हल्का सा रगड़कर एक जोरदार धक्का दे मारा.

लेकिन अब बच्चा होने और उम्र थोड़ा बढ़ने से चाची का शरीर भर गया और चाची सेक्स बम्ब तो क्या, सेक्स की तोप बन चुकी थी. मतलब अब मैं उनसे बात कर सकता था, पर मुझे देखना था कि होली वाले दिन जो भी हुआ था, उसका भाभी पर क्या असर हुआ था.

नर्म गर्म बदन दबाने में मुझे मज़ा आ गया और ऊपर से उसके बोबों के थोड़े थोड़े दर्शन भी मेरे लंड को गर्म कर रहे थे.

मैंने धीरे अंकल को अपने ऊपर लेटा लिया और उनका लंड पकड़ कर अपनी चूत में सहलाने लगी. वो दीवार की तरफ बिना पलकें झपकाये पता नहीं क्या देख रही थी या फिर पता नहीं कुछ सोच रही थी. मैं तेजी से चाची की गांड सटासट चोदने लगा और चाची की गांड में ही झड़ गया.

भाभी मेरे कान में बोलीं- आह यश, ये सब कैसे कर रहे हो … आह मुझे बहुत अच्छा महसूस हो रहा है. शादी के दूसरे दिन वो जब आपने घर वापस आई तो इतनी खुश थी कि जैसे उसको उसकी सबसे प्यारी चीज मिल गयी हो. पापा ने मम्मी की चड्डी के अन्दर उंगली डालकर चूत में उंगली करना शुरू कर दिया था.

पता नहीं क्यूँ लेकिन उसे ये विश्वास था कि आज उसे धारा से बात करने का मौक़ा मिल सकता है.

बीएफ बीएफ नंगी बीएफ: लेकिन मैंने लंड चुत से बाहर नहीं निकाला; मैं बस आधा लंड पेले हुए ऐसे ही पड़ा रहा. भाभी जी की आंखों से दर्द के आंसू टपकने लगे और उनकी आंखों में एकदम से अंधेरा छा गया.

शायरा मेरे साथ दोस्त की तरह रहना चाहती थी … मगर मैं ही उससे गलत उम्मीद लगाए बैठा था. यामिना फिर से गर्म होने लगी लेकिन उसने कहा- सर, अब बस करें … मुझे देर हो रही है. चौथे दिन मैं उनके घर पहुंचा तो मैंने बेल बजाई मगर किसी ने दरवाजा नहीं खोला.

भाभी- आज आपका कोई बहाना नहीं चलेगा, आज आपको मेरे हाथ की चाय पीकर ही जाना पड़ेगा.

मैं मामी के मम्मों को जोर जोर से दबाता हुआ उनकी चुत के ऊपर उंगली फिरा रहा था. जैसे ही डिल्डो गांड में से निकला, धीरू अंकल एकदम बिस्तर पर लेट गए और अपनी गांड को सहलाने लगे. उन्हें बेड पर चित लिटाकर धीरे धीरे मैंने भाभी के सारे कपड़े उतार दिए.