बीएफ सेक्सी डिजाइन

छवि स्रोत,मंगला सेक्सी मूवी

तस्वीर का शीर्षक ,

योगा करने का तरीका: बीएफ सेक्सी डिजाइन, फिर उसने हम दोनों से सॉरी बोला और कहा कि यार अब करने का मन तो होता है ना.

सेक्सी चुदाई वाली फिल्म दिखाइए

मुझे मजा आ रहा है।मैंने उसको और ज़ोर से चोदने लगा और फ्रेंच किसिंग भी करता रहा। कुछ धक्कों के बाद मैं भी झड़ गया और सारा माल उसकी चुत में ही छोड़ दिया।हम दोनों पसीने-पसीने हो गए थे, तब भी एक-दूसरे में चिपके रहे।कुछ देर बाद फिर से जवानी मचलने लगी।उसके बाद उसने मुझे जीभ किस किया और डॉगी पोज़िशन में बैठ गई। मैंने उसके हाथों को पीछे से पकड़ा और लंड चुत में डालकर चुदाई चालू की।अबकी बार वो कह रही थी- अह. हिंदी बोल के सेक्सी वीडियोराहुल के लंड पूरा घुस जाने के बाद भी ऋतु चीख रही थी, बिलबिला रही थी दर्द से, लेकिन हम दोनों पर उसके चीखने चिल्लाने का कोई फर्क नहीं पड़ा.

फिर रात को 2 बजे मैं भी सोने लगा तो मुझे चाची दिखीं, उनकी नाईटी ऊपर की ओर उठी हुई थी. सेक्सी हीरो की फोटोतो ऐसा कर कोई दुपट्टा डाल ले या फिर ये चादर डाल कर सो जा, मैं चादर के ऊपर से तेरा सर सहला दूँगा और तुझे नींद आ जाएगी.

मैंने धीरे से सन्नी के कान में कहा- तुम चाहो तो इसकी चूत तुम भी चाट सकते हो.बीएफ सेक्सी डिजाइन: एक-दो दिन तो गुलशन जी ने कंट्रोल किया मगर एक जवान लड़की उसके साथ एक ही बिस्तर पे सोए तो नियत बिगड़ने में देर नहीं लगती.

हमारी फोन पर देर रात तक बातें होने लगीं जो कि धीरे-धीरे सेक्स तक पहुँच गई.उधर सुमन भी घर आ गई थी और रात की उसकी नींद पूरी नहीं हुई थी तो वो सो गई.

चूत में लंड डालने वाला वीडियो सेक्सी - बीएफ सेक्सी डिजाइन

फिर उसने अचानक पूछा- आपकी कोई गर्लफ्रेंड है?मैं बोला- अभी तक तो नहीं है.गुलशन जी ने बहुत ध्यान लगाया कि लंड से कुछ टच हो रहा है मगर सुमन इतने हल्के तरीके से छू रही थी, जिससे गुलशन जी को समझ नहीं आ रहा था कि सुमन छू रही है या कपड़े की रगड़ से लंड खड़ा हुआ है.

थोड़ी देर बाद मेरी बहन को नींद आने लगी तो उसने पूजा से कहा- चलो चलते हैं, मुझे नींद आ रही है. बीएफ सेक्सी डिजाइन यहाँ का हर कमरा काफी सुरक्षित भी था क्योंकि यहाँ पर कोई आता जाता नहीं था.

मैं लंड को बाहर खींच कर फिर जोर से एक ही बार में जड़ तक पेल दिया, उसकी रस से भरी पनियाई हुई चूत ने मेरे लंड को अपने गर्म आगोश में ले लिया.

बीएफ सेक्सी डिजाइन?

मैं फिर से निढाल होने लगी, मगर पण्डित जी ने मेरे चूतड़ों को उठा उठा कर चोदना जारी रखा. इधर आओ।मैंने उसको पूरा नंगी किया और उसे बेड पर लिटा दिया। उसने अपने दोनों पैरों को खोल कर अपनी नंगी चिकनी चूत का नजारा दिखाया. मैंने उस का हाथ पकड़ कर रोका और कहा- मुझे कुछ तो कहो?वह बोली- बाद में बात करते हैं.

चाची झट से बोलीं- मैं भी फिल्म देखूंगी, मैं बच्चों को सुला कर आती हूँ. उन्होंने उसी पल मुझे वो किराया और पिछला जमा किया अडवांस लौटा दिया और बोले- अगर तुम मुझे ये रूपए बाद में दे दो, तो भी कोई बात नहीं, अभी ये तुम रख लो, तुम्हें जरूरत है. पूजा तो बस आँखें बंद करके मेरे मुँह में जुबान डाल कर किस का मजा ले रही थी.

फिर मैंने उसे आगे को झुकाया और धीरे से उसकी नाभि को चाटता हुआ उसकी पैंटी तक आ पहुँचा, जो कि अब उसके चुतरस से गीली हो चुकी थी, उसकी पैंटी उतार दी और मैं उसे लिटा कर उसकी चुत चाटने लगा. संजय की बात सुनकर पूजा खुश हो गई और लंड को चूसने लगी और संजय उसके मम्मों से खेलने लगा. सुमन- नहीं पापा आपका पानी बहुत देर से निकलता है और दूसरी बार तो पता नहीं कितनी देर लगेगी.

वैसे वो बात तो सामान्य ही कर रहा था लेकिन नशे में सेक्स का इतना ज्यादा ध्यान नहीं रहता है. पापा ने मेरी हाँ सुन कर मुझे बांहों में भर लिया और बुरी तरह चूमने चाटने लगे.

अब मैं इसी उधेड़बुन में था कि क्या किया जाये और नया लौड़ा कहाँ से ढूंढा जाये.

मेरी पीठ पे दबाव डाल कर उसने यश को कहा- यश, लपेट लेना इस कुतिया को, मुझे अब इसकी गांड मारनी है.

मगर जॉन को इसकी क्या परवाह थी, उसको तो बस कच्ची बुर चोदने से मतलब था. पहले उनकी चूत की दोनों फांकों के बीच में उंगली रख कर उनकी दोनों फांकों को अलग किया, फिर चूत के दाने को अपनी उंगली से छेड़ने लगा. उन्होंने डरते हुए अपना एक हाथ सुमन के एक चूचे पे रख दिया, मगर उन्होंने कोई हरकत नहीं की, बस चूचे पर हाथ रखे हुए सुमन के चेहरे को देखते रहे.

काफी लम्बी चुदाई के बाद स्मृति ने कहा- यार, कुछ हो रहा है मुझे…उसका जिस्म अकड़ने लगा था यानि वो अब झड़ने की कगार पर थी. मेरी शादी हो जाने के बाद भी हम दोनों के बीच पति पत्नी का रिश्ता कायम था. असल में सारा कमाल जो है ना… आपकी टोपी का है… आपकी टोपी जिस तरफ जाकर रगड़ती है उधर ही बस मजा चढ़ता है.

मैं तो यही चाहता था कि चाची सो जाएं और हुआ भी वही, जैसा मैं सोच रहा था.

ऋतु और पूजा ने देखा कि मैं रूम में पहुंचकर नंगा हो गया हूँ और मेरा लंड खड़ा हुआ है. ’तिवारी बस अपनी आँखों को चौड़ी कर अनीता को देखता रहा, अनीता के इस रूप को इससे पहले तिवारी ने न तो कभी देखा था और नहीं कभी उनके मुख से कभी ऐसी बातें सुनी थी. सुमन- हाँ दीदी, सच में मॉंटी और संजय के साथ करने में बहुत फ़र्क है.

थोड़ी देर ऐसे ही दबवाने के बाद मोना ने उसे रुकने को कहा और उसे वापस अपने पास लेटा लिया. मैंने उसकी टांगों को अपने कन्धों पर रख कर लंड पर दबाव दिया, लंड चूत के छेद में घुसता चला गया. मानसी अपनी अधखुली आँखों से मुझे प्यार से देख रही थी और उसका पूरा शरीर काँप रहा था.

अब तो आप कयामत ढा रही हो, जरूर कोई बात है जो आप मुझसे छिपा रही हो। ये सब कैसे हुआ?इस पर मीना कुछ सोच कर बोली- तुम खाना खाओ बस!मैं भी खाना खाकर अपने काम पे चला गया।रात को मैं डबल बैड पर अकेला सोता था, घर में चारपाई की कमी थी तो मीना बोली- सोनू तू चारपाई पे सो जा, मैं बेड पर एक कोने में बच्चे के साथ सो जाती हूँ.

इस बात पर उन्होंने ईमेल पर ही एक स्माइली बनाकर भेजा और कहा- खर्चे की कोई बात नहीं, आप किस तारीख को आना चाहते हैं, यह बताएं।तो मैंने उनको अपने प्रोग्राम को एडजस्ट करके बता दिया कि मैं उस तारीख को तारीख को आऊंगा।उसके बाद आधे घंटे के अंदर मैंने देखा कि मेरे मोबाइल पर टिकट के कंफर्म का मैसेज आ गया।मुझे आश्चर्य भी हुआ कि इतनी जल्दबाजी … इतनी उत्तेजना?फिर मैं निश्चित तारीख को उनके शहर पहुंचा. मैं उसकी चूत के होंठ खोल कर अंदर तक चाट रहा था, मुझे बहुत मजा आ रहा था.

बीएफ सेक्सी डिजाइन उसने ब्रा नहीं पहनी थी, वह बहुत देर से गर्म हुई हुई थी, अतः मेरा साथ देने लगी. वो धीरे-धीरे उंगली से चुत को खोलता, उसकी गुलाबी लकीर में ऊपर से नीचे उंगली घुमाता.

बीएफ सेक्सी डिजाइन उस दिन के बाद हम रोज़ ही फ़ोन पर बातें करने लगे और अगली बार कहाँ मिला जाए, ये प्लान बनाने लगे. अगले दिन सुबह दोनों को नाश्ते पर देखकर ऐसा नहीं लगा कि दोनों इस तरह की हैं.

गुलशन जी ने बहुत ध्यान लगाया कि लंड से कुछ टच हो रहा है मगर सुमन इतने हल्के तरीके से छू रही थी, जिससे गुलशन जी को समझ नहीं आ रहा था कि सुमन छू रही है या कपड़े की रगड़ से लंड खड़ा हुआ है.

अमेरिकन सेक्सी फिल्म

मैं पापा का लंड पकड़ कर चूसने लगी और इस तरह पापा के लंड ने मुझको एक बार फिर अपना दीवाना बना दिया. वो दोनों अब 69 की अवस्था में आ चुकी थी और एक दूसरे की चूत की रसमलाई चाटने में लगी हुई थी. उसके होंठ चूसते चूसते मैं उसको लेकर पीछे को लेट गया और हम एक दूसरे से कुछ ऐसे लिपटे हुए थे जैसे साँपों का कोई जोड़ा.

पहली मीटिंग में फोर्मल बातें हुई जैसे क्या करते हो और ऐसा कुछ!वो एक अच्छी हाइट और एवरेज बॉडी की थी, मैंने उसको मूवी के लिए पूछा पर उसने मना कर दिया. मैंने वैसलीन बैंगन पर और अपनी चुत पर लगा ली और फिर से बैंगन डालने की कोशिश करने लगी. अब ऋतु ने मस्ती में बड़बड़ाना चालू कर दिया- ऊफ्फ आह्ह्हा उम्म्ह… अहह… हय… याह… और चोदो सालो… फाड़ दो मेरी चूत गांड… मेरे बूब्स दबाओ… फ़क मी हार्ड… यस ऊह्ह्ह!राहुल उसकी गांड में और मैं उसके स्तनों को जोर जोर से थप्पड़ मार रहे थे और उसके साथ ही धक्के भी मार रहे थे.

फिर चाची ने मेरी कैप्री की चैन खोली और लंड को बाहर निकाल लिया और सहलाने लगीं.

एक दिन घर में कोई नहीं था, मॉंटी पड़ोसी के यहाँ खेलने गया हुआ था और माँ काम के सिलसिले में बाहर गई हुई थीं. रोहन ने मुझे बताया कि वे लोग जल्द ही वह और उसकी माँ उत्तर प्रदेश में लखनऊ के एक गांव जाने वाले हैं किसी शादी में. उनके बड़े चूचे साफ दिख रहे थे और उन पर काले निपल्स एकदम उठे हुए थे.

मेरी गांड की चुदाई की गे सेक्स स्टोरीज-1अब तक आपनेगांड चुदाई की कहानीमें पढ़ा कि सुकांत के बड़े भाईसाहब ने रात को मेरी जम कर गांड मारी।अब आगे. मैं वास्तव में भी नीलम को चोदने का अधिकारी बन गया और मैंने नीलम पर मानो जादू ही कर दिया था. कुछ देर एक दूसरे की बाहों में रहने के बाद हमने उसे फिर से कुर्सी पे बिठाया।रिया ने तीन सिगरेट जलाई और एक मेरी को देते हुए कहा- मेरी, अब कुछ देर तुम हमारी मेहमान बन जाना। आज शाम हम तो अपने घर के लिए निकल लेंगे। मगर हम कभी तुमको भूल नहीं पाएंगे।फिर मैंने टी-केटल से चाय बनाई और हम तीनों ने टिपिकल लड़कियों वाली” बकवास करते करते कुछ देर तक बातें की.

फिर हम दोनों एक साथ अपना पानी छोड़ने वाले थे तो मैंने उससे पूछा- अन्दर ही छोड़ दूँ?उसके कुछ कहने से पहले ही सारा का सारा माल उसकी चूत में ही निकल गया और मैं उसके ऊपर ही लेट गया. रास्ते भर मैं ब्रेक मार मार मार कर उसकी चूची का मजा लेता रहा और उसको पता भी नहीं चला.

उनकी पैंटी भी ऊपर से पूरी तरह भीगी हुई थी उनकी चूत के स्वादिष्ट रस से. तभी मैंने सोनू को पीछे से पकड़ा और अपना 8 इंच का फौलादी लौड़ा उसके चूतड़ों में पीछे से फिट कर दिया. अचानक मम्मी ने मुँह खोल कर जीजाजी का हथौड़ा अपने होंठों से दबा लिया और जंगली बिल्ली की तरह चूसने लगी.

उसके बाद तो हम दोनों हमेशा इस इंतज़ार में रहते के कब हमे मौका मिले, और कब हम आपस में सेक्स करें.

उसके बाद एक महीने में ही वो कब मेरी गर्लफ़्रेंड हो गई, पता भी नहीं चला. मैंने भी करवट ली और अपनी जांघ उसकी दोनों जांघों के बीच में फंसा दी, और उसकी चूत पर अपनी जांघ रगड़ी. अमेरिकन लड़का नताशा की सुन्दरता देख कर बहुत प्रभावित हुआ था और वो हर समय उसे ही देखे जा रहा था.

तभी मैंने कहा- आपने ऊपर का नया फ्लोर देखा है जो बन रहा है?उसने जवाब दिया- नहीं देखा! कहाँ पर?मैं बोला- ऊपर बन रहा है. कुछ तो हुआ होगा? तू खुलकर मुझे बता ना!सुमन ने बताया वो एक बार नहा रही थी तब नीचे साबुन लगाते टाइम ग़लती से उसकी उंगली अन्दर चली गई तो बहुत दर्द हुआ था.

अब गुलशन जी सुमन के कंधे दबाने लगे और सुमन के चिकने जिस्म पर उनका हाथ लगते ही लंड ने जोरदार अंगड़ाई ली. मैं उसको सांत्वना देते हुए बोला- किसी भी हाल में अपनी दोस्ती यूँ ही बनी रहेगी जैसी है, पर शायद मैं ही कुछ ज्यादा उम्मीद लगा बैठा. उसने डीवीडी प्लेयर जल्दी से बंद कर दिया और नॉर्मल टीवी चालू करके निकलने लगी।मैंने उसे रोका और बोला- अरे बैठो ना.

सेक्सी व्हिडीओ चाहिए

उसके बाद उसके दोनों हाथ पकड़ कर मैंने एक जोर का धक्का दे मारा, लेकिन चिकनाई के वजह से लंड फिसल गया.

आप ईमेल पर लिखकर भेजें और मुझे लगेगा कि आप से बात करनी चाहिए तो मैं जरूर करूंगा. उन्होंने उसे इतना डांटा और उसी वक़्त बस रुकवा कर नीचे उतार दिया और उसके पेरेंट्स को उसके साथ लाने को कहा. कुछ देर बाद उसका हाथ मेरी पैंट की ज़िप पर पहुंचा और ज़िप खोल कर बड़ी मुश्किल से उसने मेरे लोहे की छड़ की तरह तने लंड को दोनों हाथों से खींच कर बाहर निकाला और बोली- हाय राम, इतना बड़ा लौड़ा!मेरे लौड़े को वह दोनों हाथों से सहलाने मसलने लगी.

मामा जी पूछने लगे- क्यों रो रही हो रिशू, कोई प्राब्लम हो गयी क्या?मैं बोली- कल से मैं आप से केवल 1 घंटा ही मिल सकूँगी, कल से मेरी लाइफ फिर से पहले जैसी ही हो जाएगी. जैसे ही मैंने उसकी टांगों के बीच पोजीशन लेकर लंड को चूत पर टिकाया तो वैशाली एकदम बोली- धीरे से डालना. नेपाली सेक्सी चुदाई नेपालीपर मेरा लंड झड़ने का नाम नहीं ले रहा था क्योंकि थोड़ी देर पहले ही मैंने मुठ मारी थी, पर ये बात चाची को नहीं पता थी.

पण्डित जी ने कमर उठा कर नीचे से एक थाप मारा, तो थोड़ा सा लिंग मेरी योनि में और घुस गया. कितना दर्द होता है तुम्हें इसका अंदाज़ा भी है?टीना ने फ्लॉरा की बात को फ़ौरन पकड़ लिया- अच्छा मैडम जी तो ये बात है.

और मैंने उसकी पजामी का नाड़ा खोल दिया, उसने रेड कलर की कच्छी पहनी हुई थी, क्या मस्त लग रही थी. उनके पति यानि कि मेरे भैया को लगा कि जो बच्चा भाभी के पेट में है वह उन दोनों का ही है लेकिन वो बच्चा मेरा और भाभी का था. मैं उसकी चूत में अपनी उंगली डालने लगा तो वह एकदम बिगड़ कर बोली- ये क्या कर रहे हो? यही तो मेरा हस्बैंड करता है,चूत में लौड़ाडालो.

धीरे धीरे मैं उसके और नज़दीक आ गया, अब मैंने अपना हाथ उसकी छाती पर रख दिया और उसकी बालों भारी मर्दाना छाती को सहलाने लगा. मैंने उसे कैसे चोदा, ये मैं इस बुर की चुदाई की कहानी के अगले भाग में बताऊंगा. मेरी गर्दन नीचे झुकने से जैसे ही मेरा चेहरा उसके पास आया उसने अपना सिर ऊँचा करते हुए मेरे होंठों को चूम मुझे कस कर जकड़ लिया.

मैं कई बार तक छूटने के बाद भी हिलाता रहा और छत पर ही बहुत देर तक बैठा रहा.

पिछली कहानी पर आपमें से कुछ दोस्तों ने कहा था कि कहानी को काफी छोटा लिखा था मैंने तो इस बार पूरा विस्तार देने की कोशिश की है. सुमन भाभी बहुत गरम हो गईं और उनके मुँह से चुदास भरी आवाज निकलने लगी.

उसकी चीख निकल गई ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’ मैंने उसके दोनों चूतड़ों को पकड़ा और स्पीड से चोदने लगा. मेरे पापा गरीब हैं न, दहेज़ तो दे नहीं सकते थे… खैर जाने दो इन बातों को!’रानी के मुंह से चूत शब्द सुनकर मुझे आनन्द आ गया. मुझे भी इसमें कुछ खास बुराई नहीं लगी और वैसे भी मैं उनसे अपने आप को आकर्षित महसूस कर रही थी तो मैंने हाँ बोल दिया.

वो भी मस्ती भरे अन्दाज में उत्तेजित कर रही थी, वह कभी मुझे बाबू कहती तो कभी राजा… कभी जानम कहती… तो कभी प्रियतम… उसके बोल मुझमें जोश भर रहे थे और मैं अपनी हरकतों से उसके बदन की गर्मी बढ़ा रहा था. मैं अभी पाँच लंड का इस्तेमाल कर रही थी…या यूं कहना चाहिए कि मैं पाँच लंडों की रानी थी. हल्दी की रस्म तो हो गई और शाम को डीजे का प्रोग्राम भी खत्म हो गया और हम लोग अपनी गाड़ी की ओर बढ़ने लगे.

बीएफ सेक्सी डिजाइन फिर मैंने झट से अपने लंड को मामी की चूत की फांकों में फंसा कर एक तगड़े झटके से घुसेड़ डाला. चाची ने अपनी टांगें उठा ली और अपने हाथ लंड पर ला कर चुत के मुंह पर सेट किया फिर टांगें चौड़ी कर दी और बोली- चोद अब!मैंने लंड पर जोर डाला पर लंड चुत पर फिसल गया और नीचे चला गया.

सेक्स वीडियो इंग्लिश सेक्स

मेरा तो लंड मानो फट रहा था भाई भाभी की हॉट बातें सुन कर!फिर भैया भाभी से बोले- शरमा मत, मुझे पता है कि नया लंड सबको अच्छा लगता है, रुक, मैं कुछ करता हूँ तेरे लिए. क्योंकि उस कमरे में हम पहली बार मिले थे … तो भाभी के पहुंचते ही मैंने अपना पैंट खोल दिया और लंड बाहर निकाल दिया. और ये योनि व्योनि जैसे वजनदार शब्द मुझे इस टाइम अच्छे नहीं लगते अंकल जी, आज पहली बार मैंने अपनी चूत क्लीन शेव की हैं.

पापा ने मुझको उठा कर बिस्तर पर पटक दिया और खुद भी उछल कर बिस्तर पर आ गए. दोस्तो, इस कहानी में मैंने नायिका के रूप और बदन के बारे में कुछ नहीं लिखा है क्योंकि हर वो लड़की खूबसूरत होती है जिसे आप प्यार करते हो तो इस कहानी में मेरी जगह आप खुद को रखें और नायिका की जगह जिसे आप प्यार करना चाहते हो उसे और कहानी का मज़ा लीजिए. इंग्लिश हिंदी सेक्सी हिंदी सेक्सीअब गीता और उसकी बेटी का कोई सहारा नहीं था तो गुलशन जी ने गीता को अपनी दुकान पर रख लिया.

मैंने उसे एक और उंगली डालने को बोला, अब वो 3 उँगलियाँ मेरी चूत में डाल कर मुझे पूरा आनन्द दे रहा था और मैं उसके लंड को जितना कठोर बना सकती थी, बना रही थी.

वो मेरा लंड मुंह में लिए मचल उठी।दूसरी तरफ ऋतु की चूत पर नया मुंह लगने की वजह से वो कुछ ज्यादा ही गर्म हो चुकी थी और उसने अपने पैरों से सन्नी की गर्दन के चारों तरफ फंदा बना डाला था और अपनी चूत उससे चुसवाने में लगी हुई थी. काफी लंबा लंड था उसका, मोटा तो सामान्य ही था, 2 इंच के लगभग मोटा लंड होगा वो!मुझमें तो लंड की आग लगी हुई थी, मैंने बिना देर किये उस मस्त लौड़े को अपनी जुबान से चाट लिया और लंड को चूमने लगा.

अब तक की इस देसी सेक्स स्टोरी में आपने पढ़ा था कि मोना ने नई लौंडिया नीतू को काम पर रखा था. दाने पर उंगली का स्पर्श पाते ही उसने मेरा हाथ जोर से पकड़ लिया- आआअह्ह ह्हह. इससे पहले मैं बेसमेंट में गया, मैंने सोचा कि बेसमेंट में काफी सारे लोग होते हैं जो अस्पताल का मेंटेनेंस जैसे बिजली, पानी और साफ सफाई आदि काम देखते हैं, तो हो सकता है यहाँ कोई मिल जाये… यही सोचकर मैं पूरे बेसमेंट में घूम लिया कुछ लोग दिखे भी लेकिन वो मेरी मर्जी के नहीं थे.

बाहर जा के मैंने मेरे और बहूरानी के रिश्ते के बारे फिर से गहराई से ऐ टू जेड सोचा; मेरे दिल ने भी गवाही दी की ‘जाने दो जो हुआ सो हुआ’.

ये आवाजें मुझे और हैवान बना रही थी… मैंने उसके जिस्म पर दांतों से निशान बनाने शुरू कर दिये. धीरे धीरे मैं उसके और नज़दीक आ गया, अब मैंने अपना हाथ उसकी छाती पर रख दिया और उसकी बालों भारी मर्दाना छाती को सहलाने लगा. ऐसे धीरे धीरे एक दूसरे के बारे में जानते हुए हमारे बीच बहुत अच्छी दोस्ती कायम हो गई और बातें सेक्स तक भी पहुँच गई.

खुल्लम खुल्ला वीडियो सेक्सीगोपाल वहां से चला गया नीतू ने उसको चाय दे दी और तब तक मोना भी उठ गई थी. करीब 20 मिनट बाद मैं झड़ने वाला था तो मैंने पूरा मुठ उसकी चुत में ही छोड़ दिया.

साउथ की हीरोइन की सेक्सी मूवी

मैंने चड्डी को एक ही झटके में उतार दिया और पूरे जोश में आकर चूत चूसने लगा. लेकिन मैं ऐसी कामुक कुत्सित इच्छाओं को बलपूर्वक मन में ही दबा देता था. तू मेरे बिल्कुल पास बैठ कर चुदाई देखना और संजय को पता भी नहीं चलेगा.

उसकी माँ सरिता परेशान होने लगी तारीख से 2 दिन पहले रोहन ने बोला कि मेरा एक दोस्त है रोहित वह भी मुंबई से लखनऊ जा रहा है, हम चाहें तो उसके साथ चल सकते हैं, उसके एक दोस्त का प्लान कैंसिल हो गया है तो अब उसके पास एक सीट बची है. बस दोस्तो यही मेरा मकसद था आपको बताना कि कभी रिश्तों को गंदा मत करना. भाभी ने अपनी चुत एकदम क्लीन शेव कर रखी थी, शायद चुदाई के लिए ही उन्होंने अपनी चुत तैयार की थी.

मानसी और मेरी बातों में समय कैसे बिता पता ही नहीं चला पर बात आगे नहीं बढ़ी. !सुधीर टेंशन में आ गया, ऐसी मस्त चुत अब उसको कहाँ मिलती, उसने मोना को कहीं बाहर मिलने को कहा. रिसोर्ट पे आपके ऊपर कोई भी पाबन्दी नहीं होगी। आप जैसे चाहो वैसे ये तीन दिन जी सकती हो। हमारा मसाज और स्पा 24 घंटे खुला रहेगा और आप जब चाहे ये सेवायें ले सकती हैं.

गुलाबी टोपे पर छेद बिल्कुल लाल दिख रहा था, मैं खुले छेद के अंदर जीभ घुसाने की कोशिश करने लगी, मामा जी सिसकारियाँ भरने लगे और बोलने लगे- छोड़ दे रिशू, नहीं तो तुम्हारे मुँह पर ही लंड का रस गिर जाएगा. इसका एक और मतलब ये भी था कि प्राची भाभी ने अभी तक किसी संतान को जन्म नहीं दिया था.

फिर मम्मी अपने काम में बिज़ी हो गईं और उन्होंने मुझसे बोला- तू अंकिता के घर चला जा, वो उधर अकेली है.

भगवान खुद यही चाहता है कि आज तुम खुलकर जी लो ताकि फिर कभी पछतावा ना हो कि ग्रुप सेक्स का मौका मिला था मगर मैंने गंवा दिया. एक्स एक्स सेक्स सेक्स सेक्सीउसने इशारा किया तो मैंने दूसरे धक्के में पूरा लंड उसकी चुत में पेल दिया और उसे फिर से दर्द होने लगा. सनी लियोन की फिल्म सेक्सी वीडियोइसके बाद मैंने हील पहनी और वॉशरूम का गेट खोल कर कैटवॉक करती हुई रॉबर्ट के पास आ गयी. मैं बाथरूम में जाकर अपनी योनि को धोकर वापस पण्डित जी के बगल में लेट गयी.

अब उस कमसिन कली के 30″ के दिल को छू लेने वाले चूचे पूरे नंगे होकर गुलशन जी के सामने थे.

मेरा लंड उसके होठों के काबू में आ गया था, वह कड़क हो जा रहा था और एक पल को मुझे ऐसा लगा यह ज्यादा देर चूसेगी तो कहीं मैं इसके मुंह में ही झाड़ दूँ अपना माल. कुछ देर लंड चुसवाने के बाद मैंने भी जल्दी से उनके पेटीकोट को उतार दिया और उनकी चुत को पैंटी के ऊपर से ही सहलाने लगा. मैं तो जा रही हूँ!तभी राजीव वापिस आया और उसने कहा- चलो, हम एक लाख देंगे तुम दोनों को पूरी रात के… मंजूर है तो बोलो?रिया ने झट से कहा- मुझे तो मंजूर है.

इतना कह कर उसने हम दोनों को एक एक छोटा बक्सा पकड़ाया।हमने उसे खोल कर देखा तो हमारी आँखें चकाचौंध हो गयी, उसके अंदर बहुत ही सुन्दर असली हीरे के हार्ट के आकार का पेंडंट था. वो बोला- तू तो पूरी रंडी है यार! फिर क्या हुआ?मैंने कहा- फिर रवि मेरे ऊपर आ गया और उसने अपना 8 इंच का लंड मेरी गांड में अंदर धकेलना शुरू कर दिया और मेरे मुंह पर हाथ रखकर मेरी गांड मारने लगा. तू ना क्यों कह रही है?सुमन- मैं नंगी हो जाऊंगी तो संजय जी मुझे देख लेंगे.

सेक्स सुपर वीडियो

बातों बातों में मेरी ने कहा- आप को मालूम है, रिसोर्ट ने रूल के मुताबिक आपका आधा बिल आपके बैंक खाते में लौटा दिया है और आपके लिए मेरे पास कुछ गिफ्ट भी भेजा है. मैंने दो उंगलियां उसकी चूत में डालकर चूत को उंगली से भी चोदना चालू रखा. जैसे ही उसने मेरी चड्डी उतारी, उसे मेरा खड़ा 6″ का लंड देखा, वह घबरा गई और मुझे आगे कुछ करने से मना करने लगी.

मोना भी रंडी की तरह लंड पे टूट पड़ी वो सुपारे को चाटती, कभी पूरा मुँह में लेकर चूसती और सुधीर बस ठंडी आहें लेता रहा।थोड़ी देर लंड चूसने के बाद मोना अलग हुई और अब उसने अपनी ब्रा-पैंटी निकाल फेंकी। उसके खरबूजे एकदम से आज़ाद हो गए थे। वो सुधीर के पेट पर बैठ गई और अपने निप्पलों को उसके मुँह के आगे कर दिए।सुधीर- वाउ क्या मस्त चूचे हैं तेरे.

वो इतनी सुन्दर थी कि जब मैंने कैम में उसको फर्स्ट टाइम देखा तो देखता ही रह गया और कब मुझे वो पसंद आने लगी, मुझे पता तक नहीं चला.

पैंट उतरने के बाद जैसे ही उसने मेरे अंडरवियर के इलास्टिक को नीचे किया, मेरा फड़फड़ाता हुआ 8 इंची लंबा और 3 इंची मोटा लौड़ा बाहर झटका देकर निकला. अब वो थक चुकी थीं, उनकी चूत से उनका पानी बहता हुआ मेरी जाँघों पर आ गया. सेक्सी गदर पिक्चरफिर मूवी तक सिर्फ नार्मल बात होती रही और जैसे ही मूवी ख़त्म हुई, हमने डिनर किया और उसके घर जाने लगे.

उन्होंने मेरे गले पर हाथ रखकर मुझे अपनी ओर खींचा और मेरे होंठ चूसने लगीं. मेरा तो मुंह खुला रह गया, ये तो मेरे मन की बात थी… पर मैंने मुंह बनाया और चाची को बोला- ठीक है चाची, आपको चोद देता हूँ. साली मेरे रस की भूखी!और मेरे लंड ने अपना रस उबाल कर बाहर उड़ेलना शुरू कर दिया.

एक दिन एक लड़का हमारे घर आया, उसे पास वाले दुकान वाले ने बताया था कि हमारे घर का एक कमरा खाली है. सुमन भाभी जब अपने पानी छूटने के करीब आने लगीं तब उन्होंने कहा- सैम उम्म्ह… अहह… हय… याह… प्लीज जल्दी करो.

’मुझे नंगा करके सविता बोली- तुम्हारा तो लंड पेंट में परेशान हो रहा था.

लेकिन उधर एंड्रयू से सब्र नहीं हुआ, जब मैं वाइफ की गांड के छेद को देख रहा था, तो उसने अपना हैवी लंड रूसी लड़की की गुलाबी, बालरहित चूत में घुसेड़ दिया. अहह ले चुद साली बहन की लौड़ी कमीनी आज तुझे दो दो लंडों से चोदूँ कुतिया. उन्होंने मुझसे पूछा- मेरी चुत का स्वाद कैसा लग रहा है?मैं बोला- नमकीन.

भोजपुरी औरतों का सेक्सी वीडियो अब मैं सबीना की चूत को चाट रहा था और बहती बीयर का मजा ले रहा था कि अचानक जमीला नीचे उतर कर मेरे साथ में बैठी और मुझे उसने खुद सबीना की चूत चाटने का इशारा किया. वो पहले ही जानती थी एक ना एक दिन ये ज़रूर होगा क्योंकि गुलशन कई बार उसे छू कर मज़ा ले चुके थे.

ऋतु की एक टांग मेरे ऊपर थी और वो उसको रगड़ रही थी जिससे ऋतु की गीली चूत मेरी जांघ से रगड़ खा रही थी. पूजा ने शायद सोचा की इसका स्वाद ऋतु के रस से थोड़ा अलग है पर टेस्टी है तो फिर उसने अपने चेहरे से बहते हुए रस को अपनी उँगलियों से समेटा और निगल गई. उसके बाद जब माला नीचे बैठी अपनी योनि को पानी से धो रही थी तब मैंने शावर खोल दिया और माला को खींचते हुए उसके नीचे अपने साथ नहलाने लगा.

ಇಂಡಿಯನ್ ತ್ರಿಬಲ್ ಎಕ್ಸ್

भाभी कुलवंत के रूप के बारे में बताऊँ तो वो एक 25 साल के करीब की हॉट औरत है. वो नीचे से बोली- अरे लल्ला, तुमसे ज़्यादा तो मैं मज़ा ले रही हूँ, कितने बरसों बाद आज मुझे ऐसा मज़ा आया है. यह मेरी अन्तर्वसना पर पहली हॉट सेक्स स्टोरी है।मैं आपको मेरी पहली चुदाई के बारे में आपको बताना चाहता हूँ। यह सेक्स स्टोरी बिल्कुल सच्ची है.

मैंने पूछा- ये क्या?तो बोली- निशा भाभी, आज मत रोको मैं बहुत तनाव में हूँ।मैं भी चुप हो गई, गर्म तो मैं भी हो गई थी, मैं भी उसकी चूचियाँ दबाने लगी. जैसे हम दोनों सालों से ये करते रहे हों।हमारा रोमान्स चलते-चलते कब वासना की तरफ बढ़ चला.

मेरी प्राणप्यारी नताशा ने कुछ वीर्य पी लिया और कुछ वीर्य उसके स्तनों पर टपक गया, जिसे उसने अपनी हथेलियों से अपने शरीर पर मल लिया.

मोना भी रंडी की तरह लंड पे टूट पड़ी वो सुपारे को चाटती, कभी पूरा मुँह में लेकर चूसती और सुधीर बस ठंडी आहें लेता रहा।थोड़ी देर लंड चूसने के बाद मोना अलग हुई और अब उसने अपनी ब्रा-पैंटी निकाल फेंकी। उसके खरबूजे एकदम से आज़ाद हो गए थे। वो सुधीर के पेट पर बैठ गई और अपने निप्पलों को उसके मुँह के आगे कर दिए।सुधीर- वाउ क्या मस्त चूचे हैं तेरे. माँ की चूचियाँ सीमा और चाची की चूचियों की अपेक्षा ज्यादा बड़ी और मुलायम थीं. वो बड़बड़ा रही थी- मेरे सनम, मुझे अपनी बना लो… मुझे और मज़ा दो… मेरे जानम, मुझे खूब मज़ा दो… मेरे प्रियतम, मुझ में समा जाओ… मेरी जान, मेरी जान ले लो… मेरे महबूब मेरी चूत को फाड़ दो.

अभी एक महीने पहले जब मैं घर गया था तो भाईसाहब ने मेरी मारी थी। पहले तो कुछ कह नहीं पाता था अब मैं भी सिकोड़ लेता हूँ. आज मानसी की चूत की धज्जियाँ उड़ने वाली थी और मेरे लंड की वो दावत होने वाली थी जो इसकी कभी ना हुई थी और ना कभी ज़िन्दगी में दोबारा होनी थी. पापा उठने लगे तो मैंने मना कर दिया कि अभी थोड़ी देर लंड चुत में पड़े रहने दो.

मैं अभी पाँच लंड का इस्तेमाल कर रही थी…या यूं कहना चाहिए कि मैं पाँच लंडों की रानी थी.

बीएफ सेक्सी डिजाइन: आते ही उसने सिर पर पल्लू लेकर मेरे पैर छुए जैसे कि वो हमेशा करती थी. !भाभी- अच्छा जी, आपको फ्रेंडशिप का बड़ा शौक है!मैं- हाँ मुझे न्यू फ्रेंड्स बनाना बहुत पसंद है.

एक काम कर… जब तक तुम्हारा दोस्त आता है… तुम मेरे साथ ये पाप कर ले! बाद में तुम्हारे दोस्त से भी चुदवा लूँगी. आप दुनिया के सबसे अच्छे पापा हो।सुमन ने गुलशन जी को इतना कस कर पकड़ा हुआ था कि उसके चूचे वो अपने सीने में धंसते हुए साफ महसूस कर रहे थे। फिर इस वक्त उन्होंने सिर्फ़ बनियान और लुंगी ही पहनी हुई थी, जिससे जवान जिस्म की गर्मी उनको पागल बना रही थी। उनका लंड तन गया था और सुमन की नाभि को चुत समझ कर उसमें घुसने की कोशिश कर रहा था।सुमन को इस बात का अहसास हुआ या नहीं. फिर एक हफ्ते बाद चाचा चाची को लेने गए और चाची की तबियत ख़राब होने की वजह से 5 दिनों के बाद चाची के साथ वापस आए.

फिर मम्मी अपने काम में बिज़ी हो गईं और उन्होंने मुझसे बोला- तू अंकिता के घर चला जा, वो उधर अकेली है.

फिर मैंने उसे उठाया, हम फ्रेश हुए और बाहर गये तो सविता और मनोज भी थे, हम लोगों ने साथ बैठ कर नाश्ता किया और मनोज मेघा को अपना घर दिखने के बहाने अपने साथ ले गया. निकली और बस भाभी ने लंड को गप से अपने मुँह में भर लिया और सन्नी लियोनि जैसे लंड को चूसने लगीं. जांघों तक उसका कुर्ता था, मगर नीचे नंगी गोरी, चिकनी टाँगें चमक रही थी.