आदमी का बीएफ

छवि स्रोत,बीएफ लड़कियों की बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ पिक्चर सेक्सी चालू: आदमी का बीएफ, उसकी गीली चूत में लंड सट्ट सटा सट जाने लगा और वो अपनी चूत से मेरे लौड़े को चोदने लगी.

बीएफ वीडियो सील तोड़ने वाला

मुंतज़िर- गुड मॉर्निंग फरमान कैसे हो!वो मुझे विश करके बातें करने लगीं. मंकी का बीएफदीदी बोलीं- क्या हुआ मेरे विक्की बाबू को?तब विक्की बोला- कुछ नहीं भाभी.

उन्होंने एक बार फिर से अपने होंठों को मेरे होंठों पर रख दिया और चुम्बन शुरू हो गया. एक्स एक्स एक्स बीएफ एचडी हिंदीमैं अनन्या को अपनी आगे की साइड न दिखाकर उससे बोला- अनन्या अन्दर आओ … तुम बैठो और मुझे पांच मिनट दो, मैं बाथरूम से आता हूँ.

थोड़ी ड्रिंक्स लेने के कारण शायद हम दोनों ही कुछ ही पल में सेक्स के नशे में आ गए और बहुत कामुक होकर एक दूसरे को चूमने लगे थे.आदमी का बीएफ: स्लीपिंग सिस्टर सेक्स कहानी मेरी मौसी की जवान बेटी के साथ सेक्स की है.

मैंने फ़ौरन उसका वह हाथ पकड़ा, जिससे वह अपनी चूत को सहला रही थी और उसे गौर से देखने लगा.मैंने पूरी रात चाचा के घर में रह कर मौज मस्ती की, फिर मैं अपने घर चला गया.

बस्तरिया बीएफ - आदमी का बीएफ

मैं इन सबका मज़े लेते हुए उसके नाजुक गर्दन पर हल्के हल्के किस कर रहा था और अपने दोनों हाथों से उसके पीठ से लेकर गांड तक सहला रहा था.अब तो मैं उसको छेड़ भी देता था कि आज रात को क्या क्या देखा … और वह ‘धत्त.

उसका प्रेम देख कर मुझे समझ आ गया था कि औरत अपने प्यार को पाने के लिए मर्द के पेट का रास्ता चुनती है. आदमी का बीएफ जहां जहां उनके होंठ मुझे छू रहे थे, वहां मुझे ऐसा लग रहा था, जैसे वहां के मेरे रोंगटें खड़े हो रहे हों.

निशा ने बड़े ही कामुक तरीके से पूरे लौड़े को अपने थूक से चिकना कर दिया था.

आदमी का बीएफ?

फिर मैंने उससे कहा- चलें?वो बोली- हां चलो, पहले कुछ खाने चलते हैं, मुझे भूख लगी है. जाने से एक दिन पहले मैंने शरद के लिए एक सरप्राइज पार्टी का इंतजाम किया और उसके आफिस के सारे दोस्तों को घर पर खाने पर आमंत्रित किया. नंदिनी- हाई संदीप जी!मैं- हां नंदिनी दी, कहिए आपको मुझसे कुछ काम था.

खिड़की पर जाली लगी है, जो रोशनी वाली साइड से दिखती है … लेकिन अंधरे वाली साइड से नहीं. मैं फ़ोन काट कर उनके पास गया और उन्हें उठाने लगा पर वो उठ नहीं पा रही थीं. क्यों … क्या तुमने पहले कभी लंड नहीं देखा?उसने कहा- देखा है … लेकिन केवल फोटो में … मगर इतना बड़ा नहीं देखा.

जाट पहली बार गांड चोदते हैं, तो मैंने भी उसकी गांड में लंड फेरना शुरू कर दिया. मैंने दीदी से पूछा- जीजा जी कहां हैं?वो मुस्कुरा कर बोलीं- वो अपने विद्यालय गए हैं. अर्शिया को शर्म आ गई, वो बोली- अच्छा ऐसा क्या खास है इनमें?मैंने बोला- तेरी चुत एकदम अमेरिकन लड़की की चुत जैसी है गोरी गोरी … और तेरे बोबे भी किसी मक्खन के गोले से कम नहीं हैं.

उन्होंने बताया कि वो जब मेरे उम्र के थे तो वो भी नंगी फोटो वाली किताबें देखते थे. मुझे इसी वजह से न जाने क्यों बार बार लगता था कि मेरी सुंदर बीवी मुझसे अलग न हो जाए.

उसने टांगें फैला दीं मैंने उसकी चुत की फांकों के बीच लंड सैट करने लगा.

इन सब हरकतों को भीड़ की नजर से देखें, तो ये स्थिति बहुत आम और विवशतापूर्ण थी.

उन्होंने कहा- मैं बता देती, तो तुम रुक जाते … और रुक रुक करते तो और ज्यादा दर्द होता. ’कामवाली बाई ने हमारे सामने ही अपना ब्लाउज खोल दिया और बच्चा चुप हो गया क्योंकि ये वही चीज थी, जिसके कारण मैं भी चुप हुआ था. जब दीदी की आवाज निकली तो मैंने कहा- क्या हुआ दीदी … आवाज बड़ी मीठी निकाल रही हो … जीजा जी से चुदने में मजा नहीं आता है क्या?दीदी हंसती हुई बोलीं- नहीं रे, अपने भाई का लंड का अहसास लेते ही मेरी मुनिया मचल उठी और मेरी आह निकल गई.

रात भर लंड लेने से उसकी गांड का छेद ढीला हो गया था और अब उसे ज्यादा मजा आने लगा था. उन्होंने दोनों हाथों से मेरी गांड को जोर से दबाया, मेरी भी गांड पानी के गुब्बारों की तरह उछलने लगी … क्योंकि मेरी गांड बहुत ही नर्म मुलायम थी. मैंने अपनी मौसी की गांड मार ली थी और अब तो मौसी के सभी छेद रमा हो गए थे.

मैंने तेज़ तेज़ झटके मारने शुरू कर दिया।अब मैंने उसके होंठों को आजाद कर दिया और खुशबू को तेज़ तेज़ चोदने लगा.

कज़िन सिस्टर चुदाई कहानी में पढ़ें कि कैसे मैं अपनी बुआ के बेटे की ओर आकर्षित हुई. मैम आइसक्रीम की भांति मेरी बांहों में पिघलने लगीं और उनके मुंह से मीठी सिसकारी आने लगी. अंजुमन- फिर भाईसाब!सुमोना- वो सब छोड़ अंजुमन, चल आ जा और अब तू भी इन भाईसाब के लंड के थोड़े मज़े ले ले.

उनके खुले हुए मम्मे, चिकनी जांघें और गोरी चुत बहुत ही मस्त लग रही थी. फिर मैंने मॉम की चूत का रुख किया, मैं मॉम की चूत चाटने लगा, उनकी चूत में जीभ भी घुसेड़ रहा था. अब आगे भाभी के साथ माउथ सेक्स:दूसरे दिन करीब रात के दस बजे में उनके घर पहुंच गया.

सुबह के 10 बजे अपने घर से निकल कर मैं अपनी एक परिचित की दुकान पर गया और उधर से सामान लेकर मैं मुंतज़िर के घर पर आ पहुंचा.

उसने भी अपनी गांड मेरे लंड पर सटा दी और धीरे धीरे लंड पर रगड़ने लगी. नमस्कार दोस्तो, मैं आपका राज शर्मा, हिन्दी देसी चुदाई की कहानी की साइट अन्तर्वासना पर आपका लौड़ा खड़ा करने और चुत गीली करने के नजरिए से स्वागत करता हूँ.

आदमी का बीएफ फिर कुछ पल बाद जब वो शांत हुई तो मैं आगे पीछे होकर लंड को अन्दर बाहर करने लगा. मुझे थोड़ा अटपटा लगा कि एसी केबिन में भी पसीने … पर मैं कुछ बोला नहीं.

आदमी का बीएफ वो बोली- मैं मेकअप करना जानती तो हूँ … पर मैंने आज़ तक किसी लड़के का मेकअप नहीं किया है. चूंकि आज हम दोनों दिन भर बहुत घूमे थे और नहाने के समय काफी मस्ती की थी, तो काफी थक गए थे.

मैं अब फिर से इस प्रकरण को दोहराना चाहता था, पर उन्होंने मना कर दी.

एक्स एक्स सेक्सी वीडियो बिहार

कुछ मिनट बाद जब मैं झड़ने को आया तो उन्होंने मेरे लंड को अपने मुंह में भर लिया. मैंने लंड फंसाए हुए कहा- मौसी अभी थोड़ा सहन कर लो … फिर आपको बहुत मजा आएगा. मैंने गेट के ऊपर वाली खिड़की से झांक कर देखा तो मुझे कोई आश्चर्य तो नहीं हुआ.

कोई कब किससे क्या बोल दे … मुझे एक्सपीरियेन्स लेना है, शादी नहीं करनी उससे. मैं नींद में होने का नाटक करते हुए अपने होंठ अर्शिया के होंठों के और करीब ले गया. मैंने आंटी की एक न सुनते हुए लंड अन्दर बाहर करना चालू कर दिया और रूबी आंटी को चोदने लगा.

हम दोनों पहले भी चुदाई कर चुके थे तो लंड पेलने में कोई परेशानी नहीं हुई.

मैंने उन्हें लिटाया और उनकी दोनों टांगों को अपने कंधे पर रखकर अपने लंड को उनकी चूत पर सैट कर दिया. वे जोर जोर से सिसकारियां ले रही थी- आ … आ … आ … हम्म … उम्म!मैंने उनकी एक चूची को अपने मुंह में ले लिया और उसको पीने लगा. हम दोनों ने एक दूसरे से अपने अपने गिले-शिकवे दूर किए और इस सबमें एक घंटा गुजर गया.

दस मिनट बाद मैं ज़ीनिया के मुँह में ही झड़ गया और वो मेरे लंड का सारा रस पी गयी. कल्पना भाभी ने बताया:शादी के कुछ ही महीनों के बाद मैं अमित के घर में किराए मैं रहने लगी थी. आप लोगों ने मेरी पिछली सेक्स कहानीचुदाई से ज्यादा मजा चूत लंड चूसने में आयापढ़ी और बहुत सारे ईमेल के माध्यम से प्यार दिया, उसके लिए मैं आप सबका आभारी हूं.

कुछ देर तक तो मुझे यकीन नहीं हुआ कि साली साहिबा सच में मेरा लंड चूस रही है. बीस मिनट तक मेरी चूत चाटने के बाद सक्सेना ने अपना लंड मेरी गीली चुत पर रख दिया और जब तक मैं संभल पाती, उसने एकदम से जोर का धक्का मार दिया.

पहले तो एकदम से कड़क लंड हाथ में आ जाने से वो थोड़ा घबरा गई और उसने हाथ हटा लिया. मुझे उसके बारे में पता था … क्योंकि कभी कभी उसके भाई से मेरी बात हो जाती थी. फिर लिक्विड चॉकलेट की शीशी से लिक्विड चॉकलेट लंड पर टपका कर लंड चूसने लगी.

उसके पानी का फव्वारा इतना तेज था कि उसकी चुत से टपकने वाला रस उसकी जांघों से होते हुए नीचे बहने लगा.

भाभी की चुत दो महीनों से चुदी नहीं है तो इनकी चुत भी एकदम टाइट छेद वाली होगी. मेरे पास फ्लैट की दूसरी चाबी थी, तो मैंने दरवाजा खोला और अन्दर आ गया. मुझे यह अहसास हो गया था कि इस वक़्त ये सोचना सही नहीं है कि क्या सही है और क्या गलत.

वो कुछ समझ पातीं कि मैंने बिजली की गति से अपना लंड उनकी चूत के मुँह पर रख कर एक जोरदार धक्का दे दिया. बहुत देर तक मैं भाभी को चोदता रहा और भाभी ‘आह … आई … ईईईई ईईई … ईईई … बहुत अच्छा लग रहा है!’ बोलती रही.

ऐसा लग रहा था कि जैसे मैंने उसकी चूचियों को मसला था, तो अब वह उसका बदला मेरे लौड़े से ले रही थी. कैब के अन्दर पहले उसकी पागल कर देने वाली मनमोहक खुशबू आयी … फिर वो मेरे बगल में आकर बैठ गयी. उनकी गुलाबी चुत को जब मैंने देखा, तो मेरा लंड खड़ा होकर उनकी चुत को सलामी देने लगा.

बिहारी सेक्सी वीडियो एचडी फुल

और मैंने उनको और अपने आप को कंट्रोल करते हुए अपना लिंग उनकी चूत के द्वार पर रखा और वहीं पर अपने लिंग को ऊपर नीचे करने लग गया.

लंड की कामना के चलते मेरा भी आंटी के घर आना जाना शुरू हो गया था, हालांकि ये अभी कम था. मगर जब से उसकी शादी हुई है उसके एक डेढ़ साल तक मैं उसके घर नहीं जा सका था. जब तक मेरे लंड की आखिरी बूंद नहीं निकल गयी, तब तक मौसी मेरे लंड को हिलाती रहीं और मैं उनके मम्मों को दबाता रहा.

अब उसकी बातें मुझे अन्दर से गर्म करने लगी थीं … वो बहुत ही खुली खुली बात करने लगा था. मेरी पहली स्टोरी है इसलिए आप मुझे कोई गलती होने पर माफ कर दीजिएगा और अपना प्यार मेरे पर बनाए रखें. हिंदी में पुरानी बीएफमैंने कहा- ओके अब आप लंड मत चूसो, मैं आपके मुँह की थोड़ी सी चुदाई कर देता हूँ.

उसने कैसे मुझे अपनी अन्तर्वासना के जाल में फंसा कर अपनी चूत चुदवायी? पढ़ें. मैं अनन्या को अपनी आगे की साइड न दिखाकर उससे बोला- अनन्या अन्दर आओ … तुम बैठो और मुझे पांच मिनट दो, मैं बाथरूम से आता हूँ.

मैंने उन्हें रोकने की कोशिश की, लेकिन उनके उस दोस्त ने मुझे बेड की तरफ धक्का दे दिया और मेरी गर्दन पर किस करने लगा. अभी भी वे मेरी पीठ पर किस करना चालू किए हुए थे और अपने दोनों हाथों से मेरे हाथों को भी पकड़े हुए थे. दोस्तो, मैं उम्मीद करता हूँ कि आप सब लोग अच्छे होंगे और कोरोना के चलते सब लोग सुरक्षित होंगे.

मैंने बोला- क्यों कभी देखा नहीं क्या इतना मोटा और कड़क!तो वह बोलीं- नहीं तुम्हारे दोस्त का तो ऐसा नहीं है. मैंने सरोज को लंड पर झुका लिया और वो लॉलीपॉप के जैसे लंड चूसने लगी. मैंने उससे पूछा- तुम इतनी रात को क्यों आई हो?वो बोली- राज मेरी गांड और चूत में खुजली हो रही थी.

लेकिन मैंने अपनी पसन्दीदा क्रिया अर्थात उसकी चूत की चुसाई की और उसकी चूत से मलाई निकाल कर चाट ली.

उसने मेरे लंड को चुत में लेकर खूब उछल उछल कर चूचियां हिलाईं और मैंने दबा दबा कर चूचियां चूसीं. मैंने उन्हें अपने जिस्म की झलक दिखाते हुए एकदम शॉर्ट वाली फ्रॉक जैसी बेबी डॉल वाली नाइटी निकाली और शीशे के सामने जाकर उसको पहना.

वो बला की खूबसूरत हसीना मेरे सामने सिर्फ एक थोंग वाली नीली पैंटी में खड़ी थी जिसका आगे का हिस्सा बड़ी मुश्किल से उनकी चूत को छुपा रहा था और पीछे का हिस्सा उनकी गांड की दरार में फंसा हुआ था. फिर मौसी ने पहले इधर-उधर देखा कोई नहीं था, तो मौसी ने मुझे मेरे सर से पकड़ा और किस करने लगीं. मैं जैसे जैसे लंड चूत में अन्दर डालता, तो ‘फच …’ और बाहर निकालता तो ‘पूच्छ.

मुझे अपने लौड़े पर भी थोड़ा सा गर्म अहसास हुआ मतलब उसकी चूत के खून से लौड़ा लाल हो गया था. उसने मेरी आंखों में आंखें डालकर इशारे से पूछा कि अब चोदूं?मैंने हां में सर हिला दिया. वो मेरे गले से लग कर मुझसे मिला और उसने मेरे माथे पर एक चुम्बन कर दिया.

आदमी का बीएफ उसके बाद उसने मेरी शर्ट और पैंट निकाल दी और मैंने भी उसकी साड़ी निकाल दी. वो चिल्ला उठी- ऊईईईई अम्मा बचा लो … आह मर गई निकाल बिहारी मादरचोद लंड निकाल … साले बिना थूक की गांड मार रहा है … आह निकाल ले भैन के लौड़े … मुझे दर्द हो रहा है.

कोविड-19 सेक्सी वीडियो

विजय ने भाभी के हाथ से नाश्ता लिया और कहा- भाभी आप जाओ, मैं ये नाश्ता कुछ देर बाद कर लूंगा. तभी मैंने देखा तो पाया कि मेरे कमरे का दरवाजा हवा से कुछ इस तरह खुल गया जिससे मुझे बाहर हॉल का नजारा साफ दिखने लगा. पांच मिनट तक तो मुझे कुछ समझ में नहीं आया कि क्या करूं और क्या न करूं.

उस शाम के लिए मैंने एक बेहद आकर्षक काले रंग की साड़ी पहने का सोचा था और उस पर उसी रंग का एक बेहद ही सुंदर बैकलेस और स्लीवलेस ब्लाउज पहना था. ये मैंने पहले ही भाभी को बता दिया था, तो वो मेरा पूरा पानी लप लप करके पी गईं. बीएफ फिल्म इंग्लिश हिंदीलंड ने ऑटोमैटिक अपना रास्ता ढूंढ लिया और फिसलता हुआ अर्शिया की चुत में घुस गया.

मौसी लंड को और जोर-जोर से हिलाने लगीं और मेरा लावा रुमाल में गिरने लगा.

उस दशा को फील करने वाले ही समझ सकते हैं कि उस समय कितना सुकून मिलता है. एक दिन मुझे किसी काम से सुबह सुबह उनकी दुकान में जाना पड़ा जहां उनके साथ मेरी मुलाकात हुई.

तभी अंकल ने मेरी नाइटी की डोरी सामने से खोल कर उसको नीचे गिरा दिया और मैं एक बार में ही पूरी नंगी उनके सामने खड़ी हो गई थी. अब बाइक की स्पीड में आ रही हवा के झौंकों से भीगे हुए बदन पर सनसनी आने लगी. वो बातों में मगन होती थीं और मैं उनके सेक्सी से बदन को अपनी आंखों से चोदता रहता था.

मेरा लम्बे मोटे लंड को देखते ही वो उछल पड़ी और बोली- मैंने जिंदगी में कभी इतना बड़ा लंड नहीं देखा.

तभी कुछ लोग पीछे के दरवाजे से चढ़े, तो वो मेरी सीट से थोड़ा आगे हो गई. मैंने कई बार नोटिस किया था कि अंकल मेरी मां को मन ही मन प्यार करते हैं. सपने में आंटी से बात करते करते मैं आंटी के चूचों को बार बार देख रहा था.

हिंदी बीएफ हिंदी सेक्सी हिंदी बीएफलॉकडाउन में मैं अपनी सेक्सी हॉट वाइफ की खूब चुदाई करता था। एक दिन मेरे दोस्त ने हमें सेक्स करते नंगे देख लिया। मैंने अपनी बीवी से पूछा कि वो मेरे दोस्त से चुदेगी?नमस्कार दोस्तो, मेरा नाम अनिल है। मैं चंडीगढ़ का रहने वाला हूँ।मैं आज अपनी सेक्सी हॉट वाइफ की चुदाई की कहानी लिख रहा हूँ. नन्दिनी आगे बढ़ी और बोली- अरे क्या हुआ पहचाना नहीं क्या … हाय … मैं नन्दिनी!मैंने झट से उसे हाय कहा और हम गले लगे.

सेक्सी वीडी

जैसे ही मेरे जिस्म में हरकत होती, वैसे ही वो हल्का सा खुद को मुझसे अलग कर लेता।ऐसा कुछ देर चलता रहा और मैंने अपने आन्न्द के लिये अपने जिस्म को स्थिर कर लिया।अब उसका हाथ मेरे चूतड़ पर चल रहा था और उंगलियाँ मेरी गांड की दरार को भेदने के लिये मचल रही थी।फिर वह अपने लंड को मेरे चूतड़ पर रगड़ने लगा।कुछ देर तक वो लंड को मेरे चूतड़ से रगड़ता ही रहा. अर्शिया कुण्डी लगा रही थी तभी मैंने अर्शिया को पीछे से दबोच लिया और उसके टॉप के बटन खोल कर बोबे दबाने लगा. इस सबके बाद हम दोनों ने ही अभी अभी जो हुआ, उसका कोई जिक्र नहीं किया.

उस पार्टी में कम से कम ढाई सौ लोग आए हुए थे जिनमें आसपास के बिजनेसमैन और उनकी फैमिली के लोग ज्यादा थे. मैं- निशा, निशा सुनो न!मैंने अपनी तेज होती सांसों के साथ उसकी पुकारा लेकिन निशा ने कोई जवाब नहीं दिया. अब मेरे हाथ में पीछे से ही उसके स्तनों पर जम गए थे, जिन्हें मैं दबाए जा रहा था.

उनकी चूत बहुत गीली थी, इसीलिए आधे से ज्यादा लंड चुत के अन्दर घुसता चला गया था. मां- हां आज मेरी चुत फाड़ ही दे … तेरा दोस्त तो बस डाला निकाला वाली चुदाई करता है, मेरी चुत बहुत प्यासी है राजेश. मैं उनसे बहाने से बात करने की बहुत कोशिश करता था पर वो बात ही नहीं करती थीं.

मैंने थोड़ा सोचा और घर पर बोल दिया कि मेरे प्रोजेक्ट का काम है और मैं चार दिन कॉलेज के हॉस्टल में रहूंगा. फिर मैंने देखा कि ज़ीनिया की चुत से खून बह रहा है तो मैं समझ गया कि ये अभी राज से चुदी नहीं थी.

उसके मुँह से एक लम्बी आह निकली मगर उसने दांत भींच कर पूरा लंड चूत की जड़ तक ले लिया.

मैंने बोला- स्वाति में नींद में था और मुझे नहीं पता कि ये सब कैसे हो गया. देहाती लुगाई की बीएफमैंने सोचा कि ये अच्छा मौक़ा है, इस बार तो आंटी की चुत में लंड पक्के में गया समझो. सेक्स बीएफ एक्स एक्स एक्स वीडियोशायद इतने दिनों बाद किसी के छूने का अहसास था या उनके लिए मेरे मन में जो इज्जत थी. जब हम दोनों जगह अदल बदल करने लगे तो जगह की अल्पता कहो या उसकी कामुकता … वो मेरे शरीर से पूरा रगड़ता हुआ मेरी जगह आ गया.

मैंने पूछा- क्या हुआ!वो बोली- मुझे यह नहीं पता था कि लड़के भी अपना घर इतना साफ रखते हैं.

मैंने अपने दोस्त वासु से पेनड्राइव में उसका पोर्न कलेक्शन लिया और रात को जब मॉम डैड औऱ मेरी बहन रंगोली सो गए, तो मैं अपना कमरा बंद करके लैपटॉप में वासु का कलेक्शन देखने लगा. मैंने धीरे से उसके एक निप्पल को मुँह में ले लिया और उसको जीभ से चुभलाने लगा जिससे कोमल अपने शरीर को ऐंठाने लगी. अब मेरा लंड सीधे चुत की जड़ तक जा रहा था और मैं लम्बे लम्बे शॉट मारते हुए अपने लंड को चुत की गहराई में डाल रहा था.

वो सूखा पेटीकोट उसी तरह से अपने मम्मों पर बांध कर बाहर आ गईं, मैं उनको इस तरह से आया देख कर पगला गया. उसने मुझसे पूछा- यार, तुमने मुझे चुत चोदने से क्यों रोक दिया … मुझे तुम्हारी चुत चोदनी है. जैसे जैसे आंटी अपनी चुत में उंगली करतीं, वैसे वैसे मैं अपने लंड को और जोर से हिला रहा था.

హిందీ సెక్స్ స్టోరీ

तबादले की खबर हम दोनों के लिए किसी सदमे से कम नहीं थी, एक तरफ तो तबादले के साथ साथ शरद की तरक़्क़ी भी हुई थी, जिससे उसकी आमदनी के साथ उसका प्रोमोशन भी हो गया था. उनकी पैंटी उनके पानी से पूरी गीली हो गई थी जो कि उनकी चूत के ऊपर साफ दिखाई दे रहा था. मैंने कहा- सुन न … मेरा लैपटॉप खराब हो गया है, इसमें बैटरी का इश्यू है.

करीब डेढ़ से दो मिनट तक ही मैंने मैडम की चुत चाटी होगी कि मैडम मेरे सर को अपनी चुत पर दबाते हुए … और अपनी गांड उठाते हुए मेरे मुँह में झड़ गईं.

अब मैंने इशारे से उन्हें लंड चूसने को बोला तो उन्होंने मेरा लंड चूसना चालू कर दिया.

मैडम को चुदाई में मजा आने लगा और दस मिनट बाद मैंने मैडम के कहने पर अपना पानी उनके पेट पर निकाल दिया. मैंने भी जल्दी से दरवाजा बंद किया और एक हादसा समझ कर गौर नहीं दिया. इंडियन सेक्सी बीएफ वीडियो एचडीमैंने देखा कि वो मेरे लिंग के पास आ गई है और उसका मुँह लिंग के पास लग गया था.

पार्टी अब खत्म होने ही वाली थी कि तभी संजना मेरे पास आयी और मुस्कुरा कर बोली- मैं भी जानती हूँ कि तुम वो राउंड क्यों हारे थे. उस दिन हमारे बीच में क्या हुआ, मैं वह सब अपनी अगली सेक्स कहानी में बताऊंगी. ”मैंने मुमताज को बेड पर लिटा दिया और उसके बगल में लेटकर उसकी चूची चूसने लगा, दूसरी चूची के निप्पल्स से खेलते हुए मैंने उसकी चूचियां और निप्पल्स कड़क कर दिये.

निशा ने चड्डी भी सफेद रंग की ही पहन रखी थी, जो आगे से पूरी तरह गीली थी. उसका दिल्ली में ही अपना मकान है और शादी के बाद से हम दोनों उसी घर में रहते हैं.

मैंने दीदी की चुत चुदाई की और उनकी चुत झड़ते ही मैंने फिर से दीदी की गांड में लंड पेल दिया.

मैं अपनी इस उम्र में कुछ समझ नहीं पाता था कि ये सब क्या है क्योंकि मैं तब गांडू लड़का नहीं था. मेरे दिल की धड़कन इतनी तेज हो गई थीं कि खुद मुझको सुनाई देने लगी थीं. मैं- रेखा आंटी कहां है?वो बोलीं- मेरे रूम में हैं … जाओ बेटा उनसे बात करो … तब तक मैं लंच रेडी करती हूँ.

बीएफ हिंदी में निबंध मैंने उसकी एक सहेली से पूछा तो वो बोली कि शायद वो अपने घर गयी होगी. कुछ देर मेरी गांड चाटने के बाद मैं मस्त हो गई, तो मैंने उसको रोका और किचन में जाकर एक तेल की शीशी और एक रस्सी लाकर उसको दे दी.

जेबा 15 मिनट बाद की चुदाई के बाद अकड़ गईं उनकी चुत ने उनकी गर्मी को रस के रूप में बहा दिया था. उन्होंने अपना ब्लाउज खोल दिया … अन्दर आंटी ने ब्लैक कलर की ब्रा पहन रखी थी. उसी बीच दीदी ने मेरे लंड को हाथ में ले लिया और बोलीं- मौनू, कितना बड़ा हो गया है रे तू … पूरा जवान मर्द हो गया है.

सेक्सी का वीडियो फोटो

जब मैं उसका लंड चूस रही थी तो वो खड़ा होकर मेरे चूचियों को दबाने में लगा था, जिससे मैं वापस गर्म होने लगी थी. एक दिन हुआ यह कि उसने मुझसे कहा- आपकी वाइफ कैसी दिखती है? जरा मुझे भी बताइये. मैंने को किस करते करते ही अपनी तरफ घुमा लिया और ऐसे ही दरवाज़ा एक हाथ से बंद करके उनको दरवाज़े पर लगा कर चूमने लगा.

मैं अपने लंड को धीरे धीरे उसकी गांड पर रगड़ने लगा लेकिन वो ज़रा भी नहीं हिली. मैं वही तुम्हारी चिकनी चुत के मस्त मजे लूंगा जान!मैं- अच्छा अच्छा तुरंत दिमाग लगा लिए मेरे राजा डॉक्टर साहब.

मैंने बोला- ठीक है, ये सब मैं श्रेया के घर वालों को बता दूंगा कि वो काम करने के साथ साथ तुम्हारे साथ चुदवाती है.

मैं सोफे पर बैठ गया और आंटी को अपनी गोद में बिठाकर उनके कबूतरों से खेलने लगा. ‘नहीं मम्मी, आप मेरे सामने ही पहन लीजिये न!’ गोगी अब भी वहां खड़ा खड़ा अपने पेट पर हाथ फिराते हुए बोला. यही सोचते हुए मैंने शरद को सोफा पर बिठा दिया और उसके सामने अपने घुटनों पर बैठ गई.

नाभि से होते हुई जब मैं वापस चुत पर गया तो पूरी चुत पानी से गीली हो चुकी थी. इसी पोज में मैंने अपने हाथ की एक उंगली उस डाइवोर्सी की गांड में डाल दी. मैंने कहा- बहुत बार, क्या आपने भी कभी वन नाइट स्टैंड या नया कुछ एक्सिडेंटल सेक्स किया है?उन्होंने कहा- नहीं, मैंने कभी किया नहीं … पर मुझे ऐसे रोमांस सेक्स करने का बहुत शौक है.

ये बात आज से कुछ महीने पहले उस समय की है, जब मैंने इंटर पास करके बी.

आदमी का बीएफ: मुझे उनकी चूचियों को नंगी देखने का मौका एक बार मिला था, जब वो आंगन में नहा रही थीं और मैं गलती से आंगन में पहुंच गया था. तो वो मेरा हाथ पकड़कर बोलीं- बैठो तो अभी तो रिटर्न गिफ्ट भी देना बाकी है.

उनकी गुलाबी चुत को जब मैंने देखा, तो मेरा लंड खड़ा होकर उनकी चुत को सलामी देने लगा. मैंने सुमन की बहन सरोज को उठाकर बिस्तर पर लिटा दिया और उसकी सलवार उतार दी. मैंने उनसे जीभ लड़ा कर ऐसे खेल रहा था, जैसे लड़की के होंठों को लिपलॉक कर रहा होऊं.

मैंने उसे समझाया कि ये तुम्हारी चुत से निकलने वाला पानी है … जो उत्तेजना बढ़ने पर निकलता है.

अपने लण्ड के सुपारे पर ढेर सी क्रीम लगाकर मैंने सुपारे को सलमा की बुर पर रगड़ना शुरू किया. यह इंडियन ओरल Xxx कहानी उन दिनों की है जब मैं सुशी जी से चुपके चुपके उनके घर में मिला करता था. तभी उन्होंने झटका मारा और धकेलते धकेलते पूरा लण्ड मेरी गांड में ठोक दिया.