हिंदी बीएफ हिंदी आवाज

छवि स्रोत,भोजपुरी पोर्न वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

देसी बीएफ ब्लू वीडियो: हिंदी बीएफ हिंदी आवाज, फिर सुमित ने अगले दिन होने वाली चुदाई से उत्तेजित होकर मेरी गांड मार दी, रात को भी दो बार चोद दिया.

सेक्सी बीपी वीडियो पिक्चर

मैंने कहा- कीकू, तुम्हारीचूत गुलाबी है क्या?उसने कोई जवाब नहीं दिया. हरियाणा की देसी सेक्सी वीडियोमैंने ये बात सोची ही नहीं, तुझे कैसे ये बात सूझी?पूजा- आप भूल गए उस दिन मेरी चुत फाड़ी थी, कितना दर्द हुआ था.

भैणचोद इसे कमरे ले जा कर चोद, इससे लड़ मत, भोंसड़ी मार इसकी!मैंने कहा- क्या हुआ सुमित, बहुत एकसाईटेड हो रहा है?वो बोला- अरे यार, इतनी सुंदर लड़कियाँ लड़ने के लिए थोड़े ही होती हैं. एक्स एक्स एक्स वीडियो नेपालकुछ तो हुआ होगा प्लीज़ बताओ ना मुझे, ऐसा क्या हुआ था?टीना- अब ज़्यादा सवाल मत कर, कुछ नहीं हुआ.

फाड़ दे आज मेरी चूत को… अहह्ह हाह… जोर से चोद… साले दम नहीं है क्या! अहह्ह मेरे राजा, मैं झड़ने वाली हूँ!फिर थोड़े धक्कों बाद मैं कांपती हुई शांत हो गई.हिंदी बीएफ हिंदी आवाज: अब तक की इस सेक्स स्टोरी में आपने पढ़ा था कि जॉन ने फ्लॉरा को लॉलीपॉप चुसवाने की लालच देकर उसे अपना लंड चूसने का आदी बना दिया था.

अगर तुम्हें मेरी बात पर विश्वास नहीं होता तो क्या तुम एक बार मेरे बालों को देखना चाहोगी? तुम कहो तो मैं दिखा दूँ?मैंने उनके मुख से यह बात सुनकर तुरन्त हाँ कह दी.तू आ तो सही।पूजा ख़ुशी से कुर्सी के पास आई और जब वो बैठने लगी तो संजय ने चालाकी से उसका स्कर्ट ऊपर को कर दिया।अब पूजा संजय के खड़े लंड पर बैठी थी बीच में बस पतला सा बरमूडा और पेंटी आ रही थी।पूजा- ऑउच मामू मुझे नीचे कुछ चुभ रहा है।संजय- अच्छा ऐसी बात है.

सेक्स सेक्स सेक्स ब्लू पिक्चर - हिंदी बीएफ हिंदी आवाज

काम करते करते मुझे नींद आने लगी और मैंने अक्षिमा को गुड नाईट का मेसेज कर दिया और लिखा कि अगर अब भी नींद न आये तो मुझे उठा देना.पर मुझे खुशी भी थी कि मेरी पहली चुदाई में मुझे चोदने के लिए भी सील पैक माल मिला.

सौरभ- किस-किस ने चोदा तुझे?सोनी- मुझे लड़की और लड़कों दोनों ने चोदा है।सौरभ- तू भाभी को भी चोद चुकी है ना?सोनी- हाँ. हिंदी बीएफ हिंदी आवाज आपको तो 3 दिन भी बर्दाश्त नहीं होता है। आपके पता है ना कि मेरे पीरियड चल रहे हैं.

संजय के हाव भाव से ऐसा बिलकुल नहीं लगा कि उसको इसकी जानकारी हो गई है या उसकी जानकारी में ही ये सब हो रहा हो.

हिंदी बीएफ हिंदी आवाज?

मेरे जाने के बाद वह अकेली रह जायेगी और जिस बस्ती में हम रहते हैं वह एक अकेली औरत के लिए बिल्कुल ही सुरक्षित नहीं है. मैं चाहता था कि सुमित जल्दी से फारिग हो ताकि मैं कीकू को चोदने का मज़ा ले सकूँ. मुझे 2000 रूपये भी दिए उसने!और मैं जब हॉस्टल से घर आता था तो उसको चोदता था और जब पैसे की जरूरत पड़ती थी तो वो मुझे दे देती थी.

इसके बाद मैं रूम पर लौट आई और तीन दिन बाद हम दोनों शिमला के ट्रिप पर निकल गए. उसके जाने के बाद मैं उठी और दोस्त से सब के बारे में पूछा; तो हंसने लगी और बोली- कल सुबह बात करुँगी. दोस्तो, इसके बाद कई बार जैसे मौका मिलता हम दोनों चारपाई को किचन में ले जाते और अपनी चुदाई की आग को ठंडी करते, मजे करते!भाभी तो थी और गर्लफ्रेंड भी, तो स्वाद भी मौके मौके पर चेंज होता रहता था.

तुझे दिखाने के लिए ही तो ये सब यहाँ चल रहा है और वो सेक्सी बातें तेरे लिए ही हो रही हैं।ये सुनकर राधा एकदम चौंक गई मगर राजू ने उसे सारी बात बताई तो उसको भी समझ में आ गया कि ये सब इनकी मिली-भगत है।राधा- तुझे जरा भी लाज-शर्म नहीं आई. फिर मैंने आबिदा से पूछा- तुम ये सब कब से करवा रही हो और क्यों करवाती हो?तो उसने बताया कि वो लगभग एक साल करवा रही है. तो मैंने उससे बोला- भाभी, अब मैं झड़ने वाला हूँ।वो बोली- अन्दर मेरी चूत में ही झड़ना.

मतलब दोस्ती टूट गई, वो अपने रास्ते गोपाल अपने रास्ते।मोना- ये सब आपको कैसे पता लगा?काका- सुधीर के बारे में यहाँ सब जानते हैं। वो कई बार यहाँ आ चुका है मगर शादी के वक़्त वो नहीं आया तो मैंने ही पूछ लिया था। तब गोपाल ने झगड़े के बारे में बताया था।मोना- झगड़े की वजह क्या थी काका?काका- वो तो मुझे ना पता. उसकी बात सुन कर मैंने कहा- अम्मा, तुम जैसा ठीक समझो वैसा ही प्रबंध कर दो.

वो इतनी कमसिन और सुन्दर थीं कि कोई उन्हें एक बार नजर भर कर देख ले तो वो अपने आपको रोक नहीं सकता.

एकदम मस्त और करारा माल।मैंने मेरे चहरे से रूमाल नीचे किया और उसे रिप्लाई दिया- हाय मैं सुहास.

मैं आंटी की चुत चुत को चाट रहा था और बीच-बीच में चुत में उंगली भी कर रहा था. दोनो विकराल लंड अब और अधिक गहरे घुस कर चुदाई करने लगे!डायरेक्टर ने प्रशंसमयी चेहरे से मुझे देखा, तो मैंने अपना अंगूठा उठा कर उसका अभिवादन स्वीकार कर लिया. इधर घर पर गोपाल मज़े की नींद सो रहा था मगर ये दोनों अब फ्री हो गई थीं, तो मोना ने सोचा क्यों ना नीतू को कुछ तैयार किया जाए ताकि आज ही कुछ मजेदार हो जाए.

मित्रो, आगे की कहानी भी बहुत मस्त लगेगी आपको कि कैसे स्नेहा ने मुझे कसम दे दे के भोपाल बुलाया और खुद भी चुदी और किसी और को भी मुझसे चुदवाया. जब मैं बाथरूम से वापिस आया तब देखा कि चाची मेरे बिस्तर पर बैठी कुछ सोच रही थी, मैंने पूछा- मेरी प्यारी चाची जान, बड़ी गुमसुम सी हो कर बैठी क्या सोच रही हो?मेरी और देखते हुए वह बोलीं- मैं सोच रही थी कि क्यों न हम नीचे मेरे वाले कमरे में चलें. अब लण्ड निकाल के मैंने तीनों को फर्श पर बिठाया और सबीना से मुठ मारवाई तो सबीना ने मेरे टट्टे चूसे और लण्ड हिलाया जिसने एक ही मिनट में पिचकारी मारना शुरू कर दिया जिसको तीनों ने मिलकर चाट लिया.

मैंने जब उसकी पैंटी भी निकालनी चाही तो उसने कहा- जल्दी क्या है, हमारे पास बहुत टाइम है.

बोल बताऊं?पूजा- सच मामू ऐसी बात है तो बताओ?संजय ने कुछ टिप्स पूजा को बताए, जिसे सुनकर वो बहुत खुश हो गई और उसके चेहरे पे मुस्कान आ गई. मैंने हाथ मुंह धो लिया, शादी में अक्सर लोग बोर ही हो जाते हैं, टाइम पास करना मुश्किल हो जाता है, मैंने सोचा घर पर रहकर क्या करूंगा, कुछ देर बाहर घूम आता हूँ. मेरा काफी लम्बा और मोटा है, जैसा कि आप लोग जानते हैं कि सभी औरतें लम्बा और मोटा लंड पसंद करती हैं.

रहे होओ?मैंने टाँगे चाटते हुए उसका पैर उठाकर अपने चेहरे के सामने किया और उसकी पैर की छोटी-छोटी उँगलियों को अपने मुंह में लेकर चूसने लगा. जब पांच फुट तीन इंच हाईट की गोरी सुंदर लड़की जिसके ऊपर की ओर उठे हुए उरोज हों, चिकनी खूबसूरत टांगें हों, हर अंग तराशा हुआ, आँखों में नशा हो, वो लड़की सिर्फ ब्रा और पैंटी में सामने खड़ी हो तो किसी का भी मन बेइमान हो उठेगा. पानी की आवाज़ को सुन और बाथरूम का खुला दरवाज़ा देख कर मैं समझा कि माला कपड़े धो रही होगी इसलिए मेरे कदम अनायास उस ओर मुड़ गए और मैं यकायक उसमें घुस गया.

मैं पहले उसकी दोनों टांगों को फैला कर अपना मुँह चूत पर ले गया और मैंने उसकी चूत को चूमा, फिर चूत के बालों को होंठों में दबा कर ऊपर खींचने लगा, फिर उसके योनि-लबों को अपने होंठों में दबा लिया.

रोहन!मैंने उसकी रसीली चूत से अपना मुंह ऊपर उठाया और बोला- गुड मोर्निंग!हमेशा की तरह उसकी चूत में से ढेर सारा रस बहने लगा और मैं चटखारे लेकर उसे पीने लगा. जब रात में बिस्तर पर हम दोनों लेटे लेटे ब्लू फिल्म देख रहे थे तो बिमलेश बोली- देखो इस गोरे का लण्ड बिलकुल योगीराज जैसा है, कितना मजा आ रहा होगा इसको!तो मैं बोला- यदि तुम अपने दोस्त के योगीराज से चुदोगी तो तुमको भी ऐसे ही मजा आएगा.

हिंदी बीएफ हिंदी आवाज मैंने पूछा- ये क्या था?वो बोला- इसको सेट करने के लिए!मैंने गाड़ी आगे बढ़ा दी. आकाश मुझे सीधा बेडरूम में ले गया और जाते ही मुझे पीछे से पकड़ कर मेरे गले पर किस करने लगा.

हिंदी बीएफ हिंदी आवाज मैं आता हूँ ओके।पूजा ख़ुशी से भागती हुई ऊपर चली गई। आज उसने वाइट टॉप और ब्लैक स्कर्ट पहना हुआ था। वो भाग कर गई तो उसकी उछलती हुई गांड देख के संजय की ‘आह. मैं सोच रही थी कि यह कब नंगा करके मुझे चोदेगा। मैंने सोचा यह तो ऐसे कुछ कर नहीं पाएगा.

ऋतु ने मेरे लंड के सिरे पर अपनी जीभ फिराते हुए पूजा से कहा- अरे देख क्या रही हो… इधर आओ और मेरी मदद करो.

जबरदस्ती बीएफ वीडियो हिंदी

पता ही नहीं चला। बस मेरी आँखों में से आंसू निकल आए। आवाज़ ज़्यादा नहीं निकली, क्योंकि मुँह में लंड घुसा था।उसने बिना रुके मेरी बुर में 3 झटके मारे. नताशा अण्डों समेत उसके भयानक मोटे लंड को अपने दोनों हाथों से सहलाने लगी और स्वान झाड़ता गया. मुझे दर्द तो हो रहा था मगर मजा भी आ रहा था।भैया ने अब अपनी स्पीड बढ़ा दी और अपने लंड को जोर-जोर से और जल्दी-जल्दी अन्दर-बाहर करने लगे। अब मुझे भी मजा आने लगा।थोड़ी देर बाद भैया बोले- प्रमिला मेरे लंड का रस निकलने वाला है.

जब मैंने उसके मम्मों को हाथ में लिया तो ऐसा लगा जैसे कि मैं स्वर्ग में बैठ कर किसी परी के मम्मों को हाथ में लेकर चूसने जा रहा हूँ. तो वो बस देखता रह गया।जैसा मैंने पहले बताया था, पूजा बहुत खूबसूरत लड़की है. फिर मैंने आबिदा से पूछा- तुम ये सब कब से करवा रही हो और क्यों करवाती हो?तो उसने बताया कि वो लगभग एक साल करवा रही है.

डिल्डो अभी भी पूजा की बुर में धंसा हुआ था और पूजा का रस बुर में से रिस रहा था.

मेरी जो काम वाली है, उसके भाई की कुछ दिन पहले शराब ज़्यादा पीने से मौत हो गई है. पटना से मेरे गाँव के बीच बस ही चलती है और कोई दस घंटे का रास्ता हैं. तेरा जिसमें इंटरेस्ट है, मुझे बता?तो उसने अपने मुँह को ऊपर उठा कर कहा- दीदी, मुझे लड़की बन के रहना अच्छा लगता है।फिर धीरे-धीरे वो पूरा खुल गया।तब मैंने उससे कहा- देख मैं तेरा पूरा साथ दूँगी लेकिन आज से जो भी करेंगे.

मगर मुझे पता नहीं था कि मेरा अपना सगा भाई रात को सोते हुए मज़ा ले रहा था और मुझे पता भी नहीं लगा. शुरू में तो उसके दिल में घबराहट थी मगर धीरे-धीरे वो अच्छी तरह उसकी मुठ मारने लग गई और गोपाल भी मज़े में आहें भरने लग गया, मगर ये दोनों नहीं जानते थे कि मोना छुपकर ये सब देख रही थी. कोमल दीदी और मोहन ने ज्यादा परेशान तो नहीं किया?मैं- जमीला जी, सफर मस्त था, बड़ा मजा आया कोमल और मोहन के साथ, काफी मस्त और खुले विचारों के है, और कोमल तो बेड में बहुत एक्टिव और एक्सपर्ट है.

उन्होंने पहले उसके साथ बदसलूकी की, फिर दूसरे दिन एकदम से उन्होंने अपना रवैया बदल दिया. हम दोनों एक दूसरे को प्रगाढ़ चुंबन और गुप्तांगों को सहलाने, हिलाने तथा मसलने की उत्तेजना वर्धक क्रिया को दस मिनट तक करते रहे.

पर मैं आपको बता दूँ कि यह कहानी पूरी तरह से काल्पनिक है।अब कहानी पर आते हैं:पिछले भाग में आपने पढ़ा कि कैसे मैंने अपनी बहन को चोदा पहली बार और मेरी बहन अगली सुबह जल्दी उठ कर चुदाई करने को कह गई. वो लड़का धीरे से अपनी गांड को हरकत देता हुआ आगे पीछे हो रहा था जैसे उसके हाथ को चूत समझकर चोद रहा हो. दे धक्के पे धक्का, दे धक्के पे धक्का… बेटीचोद राजे… फच्च फच्च फच्च… फच्च फच्च फच्चयह चुदाई की फच्च फच्च फच्च वाली ध्वनि से मस्ती का खुमार और भी तेज़ी से बढ़ने लगा था.

मैं इतना बोला ही था कि भाभी मुझसे चिपक गईं और मेरा मेरा अंडरवियर नीचे करके मेरा लंड हाथ में ले लिया.

और थोड़ी देर बाद ही फिर से फूफा जी के कमरे में आ गई और दरवाजा लॉक कर दिया. फिर मैंने चुत को सहलाना स्टार्ट किया और चुत पर आइसक्रीम लगा चूसने लगा. मैंने भी मुस्कुराते हुए अपना पायजामा नीचे गिरा दिया और अपना खड़ा हुआ लंड उसे दिखाया.

मैंने जब देखा कि वो जाने के लिए तैयार हो गया, तो मैं वहाँ से हट गया और उतर कर दूसरी तरफ़ चला गया. बस स्टैंड के बाहर निकलकर बस की स्पीड तेज हो गई और दरवाजे बंद कर दिए गए.

उसकी गांड और चुत को पूरी रात ठोका क्योंकि सुबह वो चली जाने वाली थी. और 2 गवाह खड़े करके उसको जेल की हवा अलग खिलवा देंगे, सोच के बता दे कि क्या करना है?यह सुनकर मेरे होश उड़ गए। अब मुझे सब बात समझ में आ गई थी कि थानेदार ने मुझे चोदने के लिए ये सब किया है। मेरे पास अब कोई रास्ता नहीं बचा था। थोड़ी देर सोच कर मैंने सरेंडर कर दिया।उसने कहा- रात को 7 बजे जीप आएगी. थोड़ी देर में ही दरवाजे की बेल बजी और मैं भाग कर गया, दरवाजा खोला तो ऋतु अपनी सहेली पूजा के साथ खड़ी थी.

गाना वाली बीएफ वीडियो

जिनको पानी में भीगी-भीगी देखने के बाद हर कोई उनको चोदने का सोचने लगता है.

रफीक जमीला की चूत और गांड दोनों चाट रहा था और जमीला भी रफीक का लण्ड और गांड चाट रही थी, वो अपनी दो उंगली रफीक की गांड में घुसा कर हिला रही थी. लेकिन उसी वक्त उहहह आहहह करते हुए अमित ने कहा- ऐसी बुर तो पोर्न फिल्मों में भी देखने को नहीं मिलती, अभी तक मैं भले ही चूस रहा था, पर मेरा मुंह इतनी खूबसूरत बुर को चाट रहा है इसका मुझे जरा भी अनुमान नहीं था. साथ ही आप सभी मुझे instagram पर fehmi_loves_u का प्रयोग करके जुड़ सकते हैं.

नीतू- अच्छा जीजू मैं करती हूँ… मगर आप मुझे गुस्सा नहीं करोगे ना…!गोपाल- अरे मैं क्यों गुस्सा करूँगा… चल अब जल्दी से कर. उसकी बात सुन कर मुझे एक बार तो झटका लगा लेकिन अपने को सम्हालते हुए मैंने कहा- अम्मा, आप यह क्या कह रही हो. सनी लियोन की सेक्सी bf‘तो क्या उपाय बताया अम्माजी ने भाबी माँ?’ सक्सेना ने आँखें चौड़ी करते हुए पूछा.

अगर आप नहीं आओगी तो मेरा काम कैसे होगा? मैं किसी दूसरी कामवाली को कहाँ से ढूँढ कर लाऊं? आप अपनी जगह अपनी मंझली बहू को ही छोटी बहू के पास को क्यों नहीं भेज देती?मेरी बात सुन कर वह बोली- साहिब, यह जच्चा और बच्चा संभालने की बात है कोई सैर-सपाटा करने की बात नहीं है. उस दिन के बाद मैं रोज स्नेहा के घर चोरी छिपे जाता रहा जब तक उसके मम्मी पापा नहीं आ गये.

आगे जिंदगी ने बहुत से मौके दिए हम दोनों को… पर उस रात के बाद हमारे बीच कोईशारीरिक सम्बन्धनहीं बना. पर प्रेरणा पुस्तक को स्कूल में नहीं ला सकती थी, तो उसने लगभग दस दिनों बाद संडे के दिन मेरे घर पर आकर मेरी नोट्स देने के बहाने चुपके से लाकर दिया। उसने उसे पालीथिन के अंदर तीन बार पेपर से लपेट कर उसमे रबर बैंड लगा कर रखा था। अभी मैंने उसे देखा भी नहीं था और पुस्तक को सिर्फ छू कर उसे सम्हाल के रखने का डर और उसको देखने की उत्तेजना में दिल धक-धक करने लगा।प्रेरणा ने उसे जल्दी वापस करने को कहा. कुछ देर बाद मुझे दर्द कम होने लगा और मैंने भी मस्ती में अपनी गांड हिलानी शुरू कर दी.

फिर हम दोनों ने साथ में शावर लिया और एक दूसरे को अच्छी तरह साफ़ किया और कपड़े पहन लिए और मैंने घड़ी में देखा तो करीब 4 बज रहे थे. अगला दिन शनिवार था तथा छुट्टी होने के कारण मैं देर से उठा और जब रसोई में माला से चाय बना कर देने के लिए कहने गया तो उसे वहाँ नहीं पाया तब मैंने स्टोर में देखा तो वह वहाँ भी नहीं थी. जल्दी ही संजय तुझे आज़ाद कर देगा, फिर तू हमारे ग्रुप में नहीं रहेगी.

मैक्सी उसकी जांघों में घुस गई थी जिससे उसकी पुष्ट सुडौल जंघाओं का उभार बड़ा ही मादक लग रहा था और उनके बीच बसी उसकी चूत की कल्पना करते ही मेरे लंड में तनाव भरने लगा.

तू पति सुख से वंचित थी। यहाँ आकर तुझे थोड़ी संतुष्टि हुई है मगर जल्दी तू यहाँ से चली जाएगी और तेरी कुंडली का दोष तेरे पति को खा जाएगा. सन 2012 में पहली बार मैंने गर्लफ्रेंड बनाई, उससे मेरी दोस्ती आठ महीने चली.

मैं कपड़े पहनने लगी, दूध वाले के दोस्त ने मेरा हाथ पकड़ा और अपने ऊपर खींच कर बोला- कहाँ जा रही हो रानी, एक बार तो और चुदवा लो. बस्सस…’पिंकी सिसक रही थीं उसकी देह इधर उधर हो रही थी, उसकी कच्ची गोलाइयों का रस पीकर मेरी भी आँखें आनन्द से अपने आप मुंदने लगी थीं। मैंने जीभ से एक बार इसके उत्तेजित निप्पल को ऊपर से नीचे तक जोर से चूस लिया ओर फिर उसके कानों के पास होंठ लगा कर हल्के से बोला- ऐ सुन. मैं चाची के कान में ही बोला- बस यार, थोड़ा सा! बड़ी टाइट है तेरी गाण्ड! आ… एयेए… आह… आह्ह्ह! बस थोड़ी देर बर्दाश्त कर लो.

मैंने फोन का स्पीकर चालू करके कहा- ले लिया फोन स्पीकर पे, सुमित जी हैं मेरे साथ ही, राज जी आप अपनी शर्तें कहिये. उसने मेरा माथा चूमा और कहा- यह बहुत लंबा विषय है, इसके बारे में जितना बताऊंगी उतना कम है, अभी तो मैंने तुम्हें तुम्हारी उम्र के हिसाब से मोटी-मोटी बात ही बताई हैं। और तुझे भी तो प्रेरणा के यहाँ जाना है ना, देख ग्यारह बज रहे हैं।अब मुझे समय का ध्यान आया मैं ‘ओह. उन्होंने बेसिन में झुक कर मुँह साफ करने का प्रयास किया। मैंने उनको अपनी तरफ मोड़ा तो वो विरोध करने लगीं।आंटी- ये ग़लत है.

हिंदी बीएफ हिंदी आवाज कुछ ही दिनों में माला ने मेरे घर का काम ऐसे संभाल लिया था जैसे वह वर्षों से काम कर रही हो और अम्मा की तरह मेरे लिए हर काम बड़ी सफलता से समय पर कर देती. तू बात को समझती क्यों नहीं?गुलशन- अरे क्या बातें हो रही हैं माँ-बेटी में.

बीएफ हिंदी में दिखाओ वीडियो में

ऋतु ने सभी लड़कियों से कहा- अगर तुम में से कोई भी मेरे भाई का लंड चूसना चाहती है तो मुझे बता देना… पर अभी तुम सब कपड़े पहनो और जाओ यहाँ से, मेरे मम्मी पापा आने ही वाले हैं. चूतड़ों को नचा-नचा कर आगे-पीछे की तरफ धकेलते हुए मेरे लंड को अपनी बुर में लेते हुए सिसिया रही थी- ओह चोद मेरे राजा… मेरे बहन के लंड… और ज़ोर से चोद… ओह… मेरे चुदक्कड़ बालम, सीईईई… हरामजादे भाई… और ज़ोर से पेल मेरी बुर को… ओह-ओह… सीईई… बहनचोद… मेरा अब निकल रहा… हाईई… ईईई ओह सीईई. ’‘मैडम आप सोई नहीं हैं, आप सो जाईये मैं सब देख लूँगा!’‘सुबह से तबीयत सही नहीं है इसलिए नींद नहीं आ रही है!’‘जा जाकर एक ठंडी बीयर ले आ!’‘क्या कह रही हो मैडम?’‘क्यों कुछ गलत कह दिया क्या… जा कर लेकर आ!’मैं नीचे जा कर थोड़ी दूर पर दूकान से एक बीयर की बोतल ले आया.

मुझे पता है कि आप यह भी जानना चाहोगे कि अगली सुबह क्या हुआ… मगर वो बात मैं आपको तब बताऊँगी जब आप मुझे मेल करोगे और पूछोगे कि मेरी प्यारी सेक्सी कोमल भाभी अगली सुबह क्या हुआ था…तो अब मेरी तरफ से आपके प्यारे प्यारे लौड़ों को बाइ बाइ…[emailprotected]. माधवी ने खाना बनाया और हम दोनों ने साथ बैठ कर खाना खाया और फिर बैठ कर बातें करने लगे।बहुत सारी बातें हुई और उसने भी मुझे अपने बारे में और भी बातें बताई।बातें करते करते समय का पता ही नहीं चला। मैंने घड़ी देखी तो उसमें 6:30 बज रहे थे. एक्सएक्सएक्स ब्लू फिल्ममैं रुचिका को लेकर गद्दों की एक साइड पे आ गया और हमारे बिल्कुल सामने मनोज और सुलेखा बैठ गए, दूसरी साइड पे अरमान और नेहा भी गद्दे पे बैठ गये.

नमस्कार दोस्तो, आपने मेरी पिछली कहानीकोचिंग क्लास के सर की बीवी की कामुकताको इतना पसंद किया और मुझे बहुत पॉज़िटिव मेल्स भी मिले जिनका मैंने रिप्लाई भी किया इन सब के लिए आपका शुक्रिया। आप में से कुछ ने मुझसे पूछा कि इसका अगला पार्ट कब आएगा तो ये रहा अगला पार्ट… पढ़िए और मजे कीजिए!जैसा मैंने बताया कि मेडम की चुदाई मेरे द्वारा होने लगी थी और सर को कोई ऐतराज नहीं था.

इसलिए ये बात आप ना ही पूछो तो अच्छा होगा।काका- अरे ऐसे कैसे ना पूछू. काफी समय लगा कर मेरे लंड की सफाई पूरी करने के बाद थक कर मेरी गुड़िया बेड पर लेट गई और फिर हँसते हुए हम तीनों ने उसके साने हुए चेहरे पर अपने झड़ चुके लंड रख दिए और देर तक मजाक करते रहे.

वहाँ उसकी चीख सुनने वाला भी कोई नहीं था, मैं गांड को जोर-जोर से चोदता रहा. जब उसको लगने लगा कि मैं वाकयी उससे दोबारा नहीं मिलूंगा तो वो मुझसे मिलने के लिए गिड़गिड़ाने लगी, बोली- यार तू एक बार मिल तो सही मेरे से. इनके पिता की वजह से टाइम ही नहीं मिलता और न ही अब इतना ये मुझ पर ध्यान देते हैं पर एक लम्बे वक़्त के बाद ऐसा मजा मिल पाया.

उसके दर्द को देखकर मैं कुछ देर के लिए रुका और कहा- बाबू प्लीज थोड़ा सा बर्दाश्त कर लो, बाद में बहुत अच्छा लगेगा.

क्योंकि मैं विरोध नहीं करता था।वैसे हॉस्टल में सभी मस्ती के मूड में रहते थे. उसे क्या कहूँ कि तू 2-3 दिन बाद खड़ा होना। उसे तो अभी एक रसीला मुँह चाहिए जो उसे अपनी लार से भिगा-भिगा कर चूसे और एक मस्त चिकनी टाइट गांड चाहिए. मुझे पता भी नहीं चला। मुझे याद आया कि मैंने अपना गेम छुपा दिया था तो मैंने भाबी से आवाज़ लगा कर पूछा- भाबी, मम्मी बाहर चली गईं क्या?तो भाबी ने बोला- हाँ हाँ.

एक्स एक्स एक्स सेक्सी वीडियो डाउनलोडमैंने देखा कि एक कमसिन लड़की एक बड़ी उम्र के आदमी से सेक्स कर रही थी। पहले तो वो लड़की आदमी की लंड चूस रही थी। फिर मामा ने वीडियो को आगे बढ़ा दिया. और फिर मेरी नाईटी उतार फेंक कर वो मेरी टाँगें हवा में उठा कर जैसे पूरा ही चूत में घुस गया.

बीएफ फुल एचडी अंग्रेजी

इतनी सुन्दर तस्वीर देख कर मेरे अन्दर जंगली वासना जग उठी और मैं अपना लंड हाथ में पकड़े नताशा के ऊपर चढ़ गया, अपने तपते हुए लंड को एंड्रयू के ठस्सेदार लंड से भरी हुई अपनी पतिव्रता बीवी की गांड में घुसेड़ दिया. आखिरकार राजे का खज़ाना खाली हो गया, लौड़ा मुरझा गया और फिसल के चूत के बाहर आ गया, जिसका पता मुझे चूत में खालीपन सा प्रतीत होने पर चला. पर कुछ साल बाद हम अपने नए घर में शिफ्ट हो गए और वो लोग पुराने घर में ही रुक गए.

मुझे लगा कि मामा मेरी चूत तो अभी ज़रूर चाटेंगे और रात की चुदाई का मामा के लंड और मेरी चूत का रस तो मेरी चूत में ही लगा होगा, मैंने सोचा कि मैं अपनी चूत धोकर आती हूँ, मैं मामा से बोली- मैं आती हूँ थोड़ी देर में!तो मामा बोले- मुझे चुदाई करनी है, अभी मत जाओ. सक हार्डमैंने अपनी जीभ उसकी चुत पर धीरे-धीरे अन्दर-बाहर करने लगा। साथ ही मैंने अपनी 2 उंगलियों को भी उसकी चुत में घुसेड़ दिया था. दीदी जोर से चीख रही थी- आह आआअ ईयईई ईईईईई… निकालो इसे … आआआआ आईयईईई ईईईई…दीदी ने दर्द से आँखें बंद कर ली.

इससे मुझे थोड़ी प्रॉब्लम होने लगी थी क्योंकि मैं वहां पढ़ने के लिए रहता था और मेरी पढ़ाई बिल्कुल भी नहीं हो पा रही थी।मकान मालकिन के परिवार में वो और उसके दो बच्चे थे. जिससे मुझे सब दिखाई दे।मेरी बहन नाईटी में थी और उसने अन्दर कुछ नहीं पहना था. दोनो विकराल लंड अब और अधिक गहरे घुस कर चुदाई करने लगे!डायरेक्टर ने प्रशंसमयी चेहरे से मुझे देखा, तो मैंने अपना अंगूठा उठा कर उसका अभिवादन स्वीकार कर लिया.

मीन्स सेक्स का ना?टीना- हाँ फ्लॉरा कुछ ऐसा ही समझो।फ्लॉरा- ओ माय गॉड 5 लड़कों के साथ तुम अकेली. पर फिर उसने अपना मुँह मेरी जीभ के लिए खोल दिया। अब हम दोनों की जीभ एक-दूसरे के मुँह में थी और कोई ऐसी जगह नहीं थी.

की एक सिसकारी ली और अपने कूल्हों को ऊँचा करके मुझे धक्का लगाने के लिए संकेत किया.

तभी पीटर ने मेरे बाल पकड़े और उखड़ी सांस में कहा- निकी, मेरा होने वाला है. भोजपुरी सुहागरात सेक्स वीडियोमोना- तुझे पता है नीतू अगर तू जीजू की लुल्ली दबाएगी ना… तो वो बहुत खुश होंगे और तुझे आईसक्रीम लाकर देंगे. सनी लियोन के सेक्सी वीडियोसथोड़ी देर में मैंने सारा माल पेंटी में छोड़ दिया और पेंटी को साफ़ करके टाँग दी, थोड़ी देर बाद में नहाकर बाहर आ गया. जब चाहिए होगा मैं आपको बता दूँगा।मोना ठीक सुधीर के सामने बैठ गई और हल्की मुस्कान देने लगी। सुधीर तो उसके रूप को ऊपर से नीचे तक आराम से निहार रहा था और अपनी आँखें सेंक रहा था।मोना- आप मुझे ऐसे क्या देख रहे हो?सुधीर- आप बहुत सुंदर हो भाभी.

साथ में मुझे भी मार दिया। आप ही बताओ देवर जी, ये जवानी अब मैं कैसे संभालूँ?ये कह कर राधा मेरे गले से लग कर रोने लगी, उसके जिस्म का स्पर्श पाकर मेरा लंड खड़ा हो गया। मुझसे रहा ना गया तो मैंने भी उसे अपनी बांहों में भर लिया। वो भी यही चाहती थी।बस फिर क्या.

6-7 मिनट में ही मेरा भी पानी गिर गया, मैंने भी उसकी चूत के अंदर ही अपना माल गिराया. बस ऐसे ही चोदते रहना और मुझ जैसी दुखियारियों की चुत के दु:ख को सुख में बदलते रहना, ये बड़ा पुण्य का काम है।काका ने रसोई से एक कटोरी में देसी घी ले लिया था और वो दोनों वापस ऊपर चले गए। तब तक मोना और राजू ने सब ठीक कर दिया था. बाकी कोई नहीं दिखाई दे रहा और पार्टी जैसा माहौल भी नहीं है एवेरीथिंग इस फाइन ना.

उसको देख कर तो मेरे मुँह में पानी आ जाता था, पर क्या करता मैंने अपने आपको रोक रखा था. नमस्ते दोस्तो, आप सबका बहुत-बहुत धन्यवाद, आपको मेरी सेक्स स्टोरीशादी के तीन साल बाद सुहागरात की चुदाईपसंद आई और मुझे आप सभी के बहुत सारे ईमेल भी मिले, पर मुझे खेद है कि मैं सभी को जबाव नहीं दे पाई, इसके लिए माफ़ी चाहती हूँ. मनोज बोला- अरे तुम दोनों खुद में ही मग्न हो, जरा हमारी तरफ भी देख लो!अरमान नेहा की चूचियाँ चूसता हुआ बोला- हमें मज़े करने दो यार!मैंने देखा माहौल पूरा गरमा गया था, क्योंकि इधर मनोज और सुलेखा भी दुबारा एक दूसरे में लीन हो गये थे, सुलेखा अपने हाथ से अपनी चूची मनोज के मुंह में घुसाने लगी थी, तो रुचिका ने मुझे आँख मारी और मेरी गोद में आ गई.

बीएफ इंग्लिश वीडियो सेक्सी बीएफ

अब उनका लंड चुत में बराबर अड्जस्ट हो गया था और अनिता को भी होश आने लगा था. उसने रुस्लान के पेट के ऊपर लेटी हुई रूसी लड़की के चूतड़ों को थोड़ा ऊपर की ओर उठा दिया और अपने लंड को बाहर निकाल कर दूसरे कोण से अन्दर घुसेड़ना शुरू कर दिया. मैंने नजर घुमाई तो पाया की बाकी सभी लड़कियाँ, पूजा और ऋतु भी… अपना मुंह फाड़े मुझे चूत चाटते हुए देख रही थी और उनका एक हाथ अपनी अपनी चूत पर था.

ऐसी बात मत कर यार, मेरी तो पैन्ट में हलचल शुरू हो जाती है।टीना- अबे चल साले चूतिये.

इसलिए ये बात आप ना ही पूछो तो अच्छा होगा।काका- अरे ऐसे कैसे ना पूछू.

खैर, मैंने उनकी टाँगें नीचे उतारी और टांगों को चौड़ा करके चोदने लगा और एक बार फिर जबरदस्त चुदाई करने लगा. इसके बाद मैं दो उंगली कोमल की चूत में और अंगूठा कोमल की गान्ड के छेद में घुसा के तेल मालिश करने लगा और एक हाथ से उसकी जांघों और पिडली की भी मालिश करने लगा. देसी पोर्न मूवीचाची की चूत बिल्कुल गीली हो चुकी थी, मैंने लंड को चुत के मुहाने पर रखा और डालने की कोशिश की, लेकिन लंड बार-बार फिसल रहा था.

इतनी देर से चल रहे फोरप्ले से मेरा हाल पहले से टाइट था और अब तो जैसे मैं जन्नत में था. रफीक- आहह… यदि सबीना अब मेरे सामने आ गई तो उसे अपने नीचे लिटा कर उसके साथ 69 होकर उसकी चूत चाटूँगा और उससे अपना लण्ड चुसवाते हुए गांड मारवाऊंगा और तुमसे गांड चटवाऊंगा मेरी जमीला रानी. चूंकि मुझे पता था कि ये ऐसा करेगी इसलिए मैंने उसकी कमर पहले से ही पकड़ रखी थी और फिर धीरे धीरे धक्के लगाने लगा.

हम तुमसे मिलने ही आए हैं, भोलेनाथ की तुझपे बहुत दया है मगर तेरे सर पे बहुत बड़ा संकट आने वाला है।मोना- आपको मेरा नाम कैसे पता लगा बाबा. मामा ने लंड को चूत में घुसा छोड़ दिया और मेरी दोनों चूचियों के निप्पल को पीछे से सहलाने लगे, मेरी चुची में एक तरंग सी दौड़ने लगी जिससे मेरी चूत का दर्द धीरे धीरे कम होने लगा.

गोपाल- आह… नीतू बहुत अच्छे… आह… ऐसे ही कर… तू बहुत अच्छी है, हाथ को जोर-जोर से ऊपर-नीचे कर.

बहुत मज़ा आ रहा था।टीना मुस्कुराने लगी और अपने मन में बोली कि मेरा भाई अपनी पहली मुठ मुझसे मरवाना चाहता है।मॉंटी- आप हंस क्यों रही हो. रफीक बोला- राजेश भाई, जमीला को अनकटे लंड बहुत पसन्द हैं, तुम कल आओगे या परसों?मैं बोला- भाई, अब तो मसीन मोहन और कोमल का मेहमान हूँ ये जब जाने देंगे तब ही आ पाऊँगा।फिर उधर स्काइप पर रफीक जमीला के साथ 69 में आ गया और हम ऐसे ही चुदाई की बातें करते हुए एक दूसरे को दिखाते हुए लंड और चूतों की चुसाई करते रहे. मैंने सिलसिला आगे बढ़ाते हुए पूछा- क्या पहना है तूने?मानसी- नाईट सूट.

चुदाई का वीडियो मैं शुरू में अपने ननिहाल में रहता था और 7 वीं क्लास तक वहीं पढ़ा था। जब मैं छोटा था तो मेरे सबसे छोटे मामा की शादी थी। मेरी मामी बहुत खूबसूरत हैं, मैं बचपन से ही उन्हें पसंद करने लगा था।ननिहाल में मैं ही एक छोटा बच्चा था क्योंकि मेरे बड़े वाले दोनों मामा बाहर ही रहते थे. मैं- सुन कमीनी, ये बाबू राजा बाबू बोलना बन्द कर सीधे सीधे राजे बोल… और सुन कुतिया मुझे ये चूतिया से शब्द जैसे औज़ार, हथियार वगैरह ज़रा भी पसंद नहीं… बोल कि राजे मैं तेरे लौड़े से खेलना चाहती हूँ… और हाँ अपनी चूत को योनि न बोलियो… जो नशा चूत या बुर कहने में है वो योनि में कहाँ… आ गई न बात समझ में, मादरचोद… हराम की ज़नी वेश्या.

मैं उसके मम्मों को मसलने लगा और वो मेरा लंड अपनी चुत के अन्दर करने लगी. जिसको अपना साइज़ तक पता ना हो, अगर वो अपने मन से खुलकर सेक्स करें तो बड़ी-बड़ी रंडियों को पीछे छोड़ देगी. कुछ देर के बाद भाभी बोल रही थीं- अब और मत तड़पाओ मेरे राजा, जल्दी से अपना लंड मेरे चूत में डाल दो.

छतरपुर बीएफ

पूजा- हाँ मामू पहले तो मुझे ये सब समझ नहीं आता था मगर अब तो आपने मुझे सब सिखा दिया है. उफ़ क्या मस्त कर देने वाला अहसास था।हम तीनों अभी सीट पर ही बैठे-बैठे कर रहे थे। मैं उनके बीच से निकला और पीछे की सीट पर आकर मेरी जीन्स निकाल दी और सीट पर लेट कर उनकी तरफ देखने लगा।वो दोनों भी मेरा मुँह देख रहे थे कि ये क्या कर रहा है। तभी राहुल तुरंत अपनी पेंट. कोई आ जाएगा।टीना- अच्छा रुक ना, तेरी रिंग तो दिखा मुझे कैसी है?सुमन बहुत डरी हुई थी, वो कुछ समझ ना पाई.

वो भी सिर्फ़ खानापूर्ति की।मैं- ओह हो तभी तुम इतनी टाइट हो मेरी जान. अब मना क्यों कर रही है… फिर तेरी दीदी आ जाएगी, तो तू फिर उसके पास भाग जाएगी.

तब तक संदीप जाकर दारू पीने लगा… गांड पर हाथ फिरा रहा रहे दोस्त से संदीप ने पूछा- क्यों जग्गी, कैसी है इसकी गांड?जग्गी बोला- बहुत नर्म है साले की, चोदते हुए मज़ा आएगा.

उसके मुँह से आवाजें आ रही थी- आआईईई मेरी माँ आआह्ह ह्ह् बचा लो आआह्ह्ह आराम से… अह्ह्ह्ह्ह…! आःह्ह्ह आउच… जान आराम से… दर्द होता है… आःह्ह्ह आअह्ह हह्हह उफ्फ ओह्ह ह्हह्ह… मार डाला रे हरामी बहनचोद!हमारी ये चुदाई देख अब पीटर का सयंम ख़त्म हो गया, उसने फट से दारू का गिलास मुँह से लगाया और एक सांस में ख़त्म करके हमारी तरफ आ गया. ‘जोर-जोर से चोद मेरे राजा… जोर-जोर से…’मैं उन्हें जोर-जोर से चोद रहा था. जॉय- ओह गॉड ये लड़की भी ना मुझे पागल बना देगी, कहीं कोई अनहोनी ना हो जाए.

अब तेरी बुर में लौड़ा डालने का टाइम आ गया है समझी मेरी जान!संजय वापस बिस्तर पे आया तो टी-शर्ट के साथ पानी की बोतल भी उठा लाया और बोतल को साइड में रख कर टी-शर्ट को पूजा की गांड के नीचे लगा कर पूजा के पैरों को मोड़ दिया, अब संजय के सामने पूजा की बुर थी और बस एक तगड़े झटके लगने भर की देर थी. अगले दिन सुबह ही हमारे घर की घंटी बजी तो मैं उठ कर गेट खोलने चली गई क्योंकि उस वक़्त हम दोनों ही सो रही थी. इसको तू चाहे तो फ्लॉरा की तरह कब का तैयार करके चोद सकता है, मगर तूने ये टास्क-वास्क का क्या नया चक्कर चलाया.

मैं शर्म से लाल हो रहा था और माँ की बातों को ध्यान से सुन रहा था फिर वो आगे बोली- बेटा, जैसा कि मैं समझती हूँ, तुम गलत ही किया है क्योंकि सामाजिक परम्पराओं के अनुसार यह पाप है.

हिंदी बीएफ हिंदी आवाज: अब उसने चोदने का स्पीड और बढ़ाई, जैसे जैसे उसने स्पीड बढ़ाई, वैसे वैसे मेरा दर्द बढ़ता गया. com/koi-mil-gaya/koi-mil-gaya-bhai-ka-karnama/भाई का लंड तो काफी बड़ा है और सुन्दर भी!ऋतु- हाँ शायद… क्योंकि मैंने कभी और किसी का लंड तो देखा नहीं है… ले दे के सिर्फ अपना डिल्डो ही है जिससे हम भाई के लंड को तौल सकते हैं.

ताकि मेरा भाई मेरी और आकर्षित हो जाए और मेरे साथ सेक्स करने के लिए तड़पने लगे।मेरी नाईट ड्रेस मैंने और भी छोटी कर दी मेरी जाँघें भी अब तो दिखने लगी थीं। मैंने देखा कि मेरे भाई का ध्यान भी मेरी ओर हो गया था।एक रात को मैं सोने का नाटक कर रही थी क्योंकि मुझे अब रात को नींद नहीं आती थी। मुझे अपने बदन पर किसी का हाथ महसूस हुआ. ’ बोला, पर मैंने मना कर दिया।‘यार सॉरी मैं किसी और को प्यार करता हूँ!’उसने कहा- कोई बात नहीं. मैं जब भी उसके घर जाता तो वो मुझे पानी व चाय ऑफर करती, पानी देने के लिए जब वो कुर्सी के पास झुकती तो मुझे हल्की सी झलक मिल जाती उसके पपीतों की…एक दिन उसने मुझे अपने पपीतों को घूरते हुए देख लिया और बोली- क्या हुआ? कहाँ खोए हो?तो मैं बोला- कुछ नहीं!और वहां से अपना काम खत्म करके वापिस आ गया.

अच्छा सुमन सब हो गया या कुछ और भी लेना है?सुमन- मुझे क्या पता पापा.

अगले दिन ऋतु को स्कूल छोड़कर जब मैं कॉलेज गया तो मेरा मन पढ़ाई में नहीं लगा. मैं वैसी औरत नहीं हूँ। ये सब मुझे बिल्कुल भी अच्छा नहीं लगता है।मैंने बोला- ठीक है अच्छा ये सोचो कि वो बूढ़ा हमें ये सब करते हुए देख रहा है।संजना ने मेरे ऑखों में देखा और बोली- क्या आप भी ना. उई आह आह… और चोदो लंड के राजा… चोद चोद… निकाल मेरी चूत का जूस… आह चटनी बना दे इसकी… आह्ह्ह आह्ह अह्ह… टट्टे तक डाल अंदर आह आह आह उई.