देखने वाला हिंदी बीएफ

छवि स्रोत,14 साल का लड़की का सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्स वीडियोस फुल एचडी: देखने वाला हिंदी बीएफ, मैंने शाम को जल्दी खाना खाया और मेरी मम्मी को बोल दिया कि आज मुझे सहेली नज़मा के घर जाना है सोने के लिए.

सेक्सी होली के

ड्राइंगरूम के आतिशदान में आग जल रही थी इसलिए कॉटेज़ अंदर से खूब गर्म एवम् आरामदायक था लेकिन बाहर बारिश का ज़ोर अब कुछ बढ़ गया था और चीड़ के पेड़ तेज़ हवा के साथ तेज़-तेज़ झूम रहे थे. एक्स एक्स एक्स सेक्सी पिक्चर नईगहरी सोच में डूबे हुए मैंने वॉचमैन को बुला कर ऑफिस बंद करने का निर्देश दिया और घर की ओर रवाना हो गया.

[emailprotected]लेखक की पिछली कहानी:कामवाली की कुंवारी बेटी की चुदाई. माधुरी की सेक्सी कहानीये मेरा पहला अवसर था जब कोई लड़की मुझे इस तरह से अपने करीब लेकर बिस्तर पर थी.

तो लाइट बंद करके वो दोनों बिस्तर में लेट गए और थोड़ी देर बाद शायद सो भी गए.देखने वाला हिंदी बीएफ: अम्मी की चिल्लाहट पर तव्वजो न देते हुए मैंने दो धक्के और मारे और पूरा लण्ड अम्मी की गुफा में उतार दिया और अम्मी आगे की ओर खिसक न जायें इसलिये अम्मी की कमर को मैंने जकड़ लिया.

उसने मुझे होंठों पर किस करने से मना कर दिया, पर मैंने रिक्वेस्ट की और उसको होंठों पर अपने होंठों से हल्के हल्के किस करने लगा.और फिर रोहित ने हल्के झटकों के साथ अपना वीर्य स्खलन शुरू कर दिया।‘आहाह हहह … उहह हहह …’ गर्म वीर्य का स्पर्श अपने शरीर पर पाकर मेरा मन में सिसकारियां फूटने लगी.

अफ्रीका सेक्सी सेक्सी सेक्सी - देखने वाला हिंदी बीएफ

वो इतनी बेदर्दी से उसकी गांड को चोदने लगा जैसे कि वो उसकी बेटी ना होकर कोई सचमुच की रंडी हो.जिया- इस बार मैं तो भाई से नहीं कहूंगी, लेकिन जब भाई को पता चलेगा तब?कोमल- अब ऐसी गलती दोबारा कभी नहीं होगी.

उसमें मैंने व्ट्सऐप डाउनलोड किया और अपने बेटे आदी को हाय लिखा भेजा. देखने वाला हिंदी बीएफ अब विशाल ने रिंकी को घोड़ी बनाया और पीछे से उसकी चूत में अपना मूसल घुसेड़ दिया.

अपने होंठों को मेरी चूचियों की वक्षरेखा पर रगड़ते हुए वो उनको नाक घुसा कर सूंघ रहे थे.

देखने वाला हिंदी बीएफ?

मुझे माफ़ कर दो।अरे मैं ना आता तो तू अभी चुदवा ही लेती न। अब रूक, तेरी मां को बताता हूं घर जाकर कि ये लड़की स्कूल में चुदवाने जा रही है, पढ़ने नहीं।”नहीं-नहीं, ऐसा मत करना, वरना कल से मेरा स्कूल आना बंद कर देगी मेरी मां। ये बात मेरे बाप को पता चल गई तो, वो तो मुझे जिंदा ही मार देंगे। मैं कसम खाती हूं, आज से उस लड़के से कभी नहीं मिलूंगी। जैसा तुम कहोगे वैसा ही करुंगी. ये कहानी तब की है, जब मैं 19 साल का था और दिल्ली यूनिवर्सिटी में पढ़ता था. कोई 20 मिनट की चुदाई के बाद उन्होंने अपना लंड निकाल कर मेरी चूत में पेल दिया और हुंकार भरते हुए सारा लंडरस मेरी चूत में छोड़ दिया.

मैं भी लंड चुसवाने का पूरा मजा ले रहा था और मेरी आंखें आनंद में बंद होने लगी थीं. बेबी रानी ने भर्राई हुई आवाज़ में कहा- राजे, बहन के लौड़े … क्यों तंग कर रहा है … बदन चूर चूर हुआ पड़ा है थोड़ा आराम करने दे न कमीने. मैंने भी हिम्मत करके आंटी से चिपक गया और धीरे से आंटी की गर्दन पर किस कर दिया.

पहले तो मुझे गन्दा सा लगा, पर दूसरी तरफ सोचा कि राजन सह ले … बाद में मजे आने हैं. वसुंधरा वाले इस सारे घोटाले में मेरी पत्नी और मेरे बच्चों का रत्तीभर भी कोई कसूर नहीं था और मैं खुद कोई इख़्लाक़ से गिरा हुआ शख़्स नहीं था जो ऐसा चाहता हो. जब हम दोनों एक दूसरे को प्यार करते थे, तब एक दिन सही मौका मिलते ही हम दोनों के बीच सेक्स संबंध बन चुका था.

दीदी- नताशा तुम दोनों नए हो, इसलिए चलो बताओ … तू आज की रात किसके साथ बिताएगी?नताशा स्माइल करते हुए- राज के साथ. गुड्डी रानी का मुंह अब बिजली की तेज़ी से आगे पीछे करते हुए लौड़े को चूस रहा था.

चाची कह रही थीं- अआह आ आउच आअज तूने जिंदगी का मजा दे दिया … अआह आउच.

चित्रा आलिया के पास बैठ गई- हमारे लिए इतना नहीं कर सकती हो?आलिया- अगर आप दोनों को अपनी फैंटेसी पूरी करने का इतना ही शौक है, तो एक काम करो भाई के कई सारे दोस्त हैं, उनके साथ स्वैपिंग कर लो.

प्रिया के गोरे गोरे मांसल मम्मे अब विशाल के हाथों की गिरफ्त में थे. चित्रा- कल रात के बारे में, वैसे कैसी रही कल की रात!आलिया- आप तो भाई को जानती ही हो. अब तो वो मेरे माल को अपने मुंह में ही गिरवाने लगी है लेकिन शुरूआत में ऐसा नहीं था.

मैं उस शादी में बिना बुलाये सिर्फ खाना खाने गया था।कुछ दिन यों ही गुज़र जाने के बाद मेरे छोटे प्यारे लण्ड को शरारत सूझी और सोचा क्यों ना इसको ही चोदा जाए. ससुर ने मेरी बहन की चुत से अपना लंड बाहर निकाला और मेरी बहन की चिकनी चुत पर किस करके बोले- ले अब इसकी छतरी को बाहर निकाल कर साफ़ दे. बहू ने मेरा सर कस कर पकड़ लिया था और अपने होंठों से मेरे होंठों को मिला कर चुम्बन लेने में लगी थी.

”वसुंधरा जी! ये क्या बात हुई? क्या वचन दिया था आपने?”वो ठीक है लेकिन एक बार … आखिरी बार आप से मिलना चाहती हूँ.

वहां पहले से ही कुछ लड़कियां मौजूद थीं, जिनके हाथ में डायरी और पेन थी. पर उससे पहले मैं आप सबका धन्यवाद करना चाहता हूं कि आप सबने मेरी लिखी सच्ची सेक्स कहानियों को इतना अधिक पसंद किया. उसने मेरी गांड मारते समय मेरे लंड की मुठ भी मारी थी, इसलिए मेरे लंड का पानी भी निकल गया था.

मैंने उसके लंड को अपनी हथेली में ले लिया और धीरे से उसके लंड की चमड़ी को नीचे की ओर खींचा. पर भीड़-भाड़ वाली जगह पर आप किसी एक पर ध्यान केन्द्रित कर सको, ऐसा कहां संभव है. मैंने लंड को जरा सा पीछे खींचा और इस बार पूरी ताकत से उसकी कुंवारी बुर में पेल दिया.

एक कपड़ा एक लड़का उतारेगा, जिसके पास जाकर जो भी लड़की पूरी नंगी हो जायेगी वो उसी को चोदेगा.

ऐसी जवान, सेक्सी, सुंदर और वासनामयी औरत को पाकर एक चुदास भरा लड़का गर्म नहीं होगा, तो क्या होगा. कभी मैं जोश के साथ दीदी को धक्का लगाता, तो कभी वो उछलकर लंड से चुदने लगती थीं.

देखने वाला हिंदी बीएफ यदि आप मेरी गर्लफ्रेंड होतीं तो …मैंने पूछा- तो … पूरी बात बोल ना?वो बोला- कच्चा खा जाता. लगातार दस मिनट तक धक्के लगाने के बाद वो अपना वीर्य मेरी चुत में छोड़ कर, अपनी पैन्ट सम्भालते हुए बाहर चला गया.

देखने वाला हिंदी बीएफ रीना की यह आपबीती सुनने के दौरान मेरा लण्ड रीना की चूत की अच्छे से मंजाई कर रहा था. यार रुस्तम, मुझे ना चुदाई में रोल प्ले करके बहुत मज़ा आता है … मैं तो तुझे बिना बताये रोल प्ले कर रही थी मालकिन और ग़ुलाम का … मैं तुझको परखना चाहती थी.

अमनप्रीत अब चुदाई के मोड में आ गया और मेरी बीवी की चूत को पेलने लगा.

भाभी सेक्सी मराठी

जब पहली बार मैंने अविनाश को नग्न अवस्था में देखा था, तब मुझे अन्दर से अजीब लग रहा था. जब सोने के वक्त मैं उस नाइटी को पहन कर देवर के सामने गई तो उन्होंने ऐसी रिएक्ट किया जैसे उन्होंने मुझे ध्यान से देखा ही नहीं. मैं रात को मेनगेट खुला छोड़ दूंगी, तुम बस खोल के ऊपर वाले रूम में आ जाना।ये सब हम दोनों की ठरक थी जो ये काम करवा रही थी।मैंने शाम को नीचे शेव की और रात का इंतज़ार करने लगा। मैंने 1 बजे रात को कॉल की कि क्या मैं आ जाऊँ?उसने बोला कि उसे घर पे बुलाना सही नहीं लग रहा।हम सब का सेक्स लाइफ में यही होता है.

मेरी दोस्त ने मुझे छेड़ते हुए कहा- तो क्या सोचा मेरे बच्चे का बाप बनने के बारे में?मैंने भी आत्मविश्वास के साथ कहा- मैं तो कब से तैयार हूं, तुम बताओ तुम्हारा क्या इरादा है?मायरा ने थोड़ा सीरियस होकर कहा- सच कह रहे हो?मैंने हां में मुंडी हिला दी. चित्रा- अब तुम लोग बोल रहे हो, तो मैं क्या बोलूं?तभी हमारा खाना आ गया और हम खाना खाते हुए बात करने लगे. वे हांफने लगे थे और थोड़ी देर बाद अब्बू झड़ कर अम्मी के ऊपर ही सो गए.

अब मेरी गर्लफ्रेंड उसके मुंह से उम्म्ह… अहह… हय… याह… की आवाज आने लगी। उसे चूत चुदाई का मजा आने लगा था.

उसने मुझे सिर से पैरों तक यूं लिपटा रखा था जैसे कि हम बड़े बरसों के बाद मिले हों और जल्दी ही दुबारा अलग होने वाले हों. समय देखा तो पांच बजने को थे और ये समय अन्नू के स्कूल से लौटने का था। मैंने उठकर वापस से वही गाउन पहन लिया और दरवाज़ा खोलकर अपनी बेटी को अपनी बांहों में लेकर अंदर आयी।अन्नू के रूम में जाने के बाद मैंने सबके लिए चाय बनाई और फिर हम सबने खूब बातें की. कविता ने मुझे काफी कुछ तरीके बताए थे, मगर ये सब इतना आसान होता, तो शायद मैं इतना न सोचती.

कोमल इतनी खूबसूरत और हॉट थी कि उसके मुँह से गाली सुनने से मुझे जोश आ गया. तो … हालात का यही तकाज़ा था कि मैं और वसुंधरा दिल की बातें अपने-अपने दिलों में ही रख कर एक-दूसरे से दूर-दूर ही रहें. ससुर जी- बेहया औरत ये सब क्या है?मैं भी गुस्से से बोली- पता नहीं किस खानदान में मेरी शादी हो गयी, पति निकम्मा निकला.

आज मैंने नाइटी पहनी थी तो वो इतनी हल्की थी कि कोई हल्की सी भी कोशिश करे तो वह मेरे बदन से अलग हो सकती थी. मेरी बात सुनकर वो हैरान हो गईं और पूछने लगीं- क्या देखा था?मैंने कहा- बनिए मत … अब आप मुझको ये बताओ कि वो सब तुम अपनी मर्ज़ी से उनके साथ करती हो या वो फोर्स करते हैं?वो गहरी सांस लेकर बोलीं कि बस एक त्योहार के दिन उन्होंने मुझे हग कर दिया था, लेकिन काफ़ी सालों बाद एक मर्द की बॉडी टच हुई थी, तो मैंने भी उनको हग किया.

तू इतनी हिम्मत कर सकती है?यह सुनकर आशा की आँखें फटी रह गईं और कुछ देर तक सोचने के बाद बोली- अगर मैं हिम्मत कर भी लूँ तो क्या भइया ऐसा कर पायेंगे? हम दोनों एक दूसरे का सामना कैसे कर पायेंगे?नीरा ने उससे कहा- अब अगर तू हिम्मत कर रही है तो मैं कुछ न कुछ करती हूँ ताकि तेरा काम हो जाये. अम्मी ने जल्दी से अपने चूतड़ उठाकर एक तकिया अपने चूतड़ों के नीचे रखकर अपनी टांगें चौड़ी कर दीं. आज मैं आपको अपनी ज़िंदगी की एक बिल्कुल सच्ची घटना सुनाने जा रहा हूँ.

मैं- ओह कोमल आज तुम बहुत सेक्सी लग रही हो … आज तो मैं तेरी चूत की धज्जियां उड़ा डालूंगा.

मैं दीदी को देख रहा था और वो मेरे खड़े लंड को हाथ में लेकर मुझे सेक्सी स्माइल देकर लंड को मुँह में लेकर चूसने लगीं. मैंने भी दीपिका का साथ देते हुए उसे जगह जगह से चूमना और उसकी बड़ी बड़ी सुडौल चूचियों को मसलना और पीना चालू रखा. जिसे सुनकर मेरे भाई बहन जो पढ़ रहे थे वो मेरे पास आ गए और बोले- आपी क्या हुआ आपको?मैंने चादर से बाहर मुंह निकाला और उन्हें कुछ बहाना बना दिया तो वो बेचारे चले गए.

मैं भी अन्तर्वासना पर माँ बेटे की चुदाई कहानियां पढ़ना पसंद करता हूँ. आआअहह … आआअहह …जैसे ही लंड मेरे मुँह में गया, मुझे बहुत मज़ा आने लगा.

अब मेरी गर्लफ्रेंड उसके मुंह से उम्म्ह… अहह… हय… याह… की आवाज आने लगी। उसे चूत चुदाई का मजा आने लगा था. मैंने पलट कर कहा- क्यूट स्माइल!उसने भी आंखें नचाते हुए कहा- थैंक्यू. आप यह आखिरी इल्तज़ा जैसे अल्फ़ाज़ क्यों बोल रही हैं … वसुंधरा! किसी और ने देखा हो … न देखा हो पर आप ने तो मेरा अंतर देखा है.

जाने की सेक्सी

तो मैंने कहा- सभी अपने अपने सुझाव दो कि कैसे शुरू करें?मोनू बोला- पहले सभी अपने अपने पार्टनर के साथ सेक्स स्टार्ट करते हैं.

बहुत दिनों बाद मैं आप का अपना राजवीर एक बार फिर से हाज़िर हुआ हूँ, अपनी क़लम से निकली एक और दास्तान लेकर!लेकिन पहले अपनी बात!मेरी पिछली कहानीएक और अहिल्याकी ऐसी चौतरफ़ा वाहवाही की तो मैंने कल्पना भी नहीं की थी. विशाल की इस हरकत से वो सिहर गयी और उसने भी एक हाथ पीछे करके विशाल की जींस खोलने की नाकाम कोशिश की. वो मुझे खींचते हुए स्टेज के दूसरी ओर दादी के पास ले गई, जहां प्रतिभा, खुशी, सुमन, आंचल सभी बैठे थे.

इस आशा में कि एक और चूत को भोगने का मौका मिलेगा मेरी भड़की हुई कामोत्तेजना और परवान चढ़ गयी और मैंने मचल कर धमाधम धक्के पेलने शुरू कर दिए. उसका घेराव बड़ा सा था, उत्तेजना में चुचूक उठ खड़े हुए थे।हीना ने अपने दोनों हाथों को स्तन पर भरपूर गोलाई में घुमाया फिर अंत में हाथों से चुचूको को हलके से मसला और फिर अपने ही दांतों से अपने ही होठों को काट कर इस्स्स की आवाज निकाली, और फिर झुक कर उसने अपने गजब ढाते स्तन मेरे मुंह में चूसने के लिए दे दिया।मैं तो पहले से बेसब्र था, मैं स्तन चूसने लगा. गांव का सेक्सी गानामैंने बड़ी मुश्किल से बिस्तर की दराज से सिगरेट की डिब्बी निकाली और आदी से एक सिगरेट जलाने के लिए कहा.

मुझे लगता है कि तुम्हारे दोनों चूचों के साथ साथ तुम्हारी गांड भी चौड़ी और बड़ी करने उपाय तलाशना पड़ेगा. मेरे मन में बस अब ये ही लगा था कि कैसे स्नेहा भाभी अकेले में मिलें और मैं उनकी खूब चुदाई करूं.

बस ये बात फैलनी नहीं चाहिये।ठीक है, चल … नहीं बताउंगा, चल निकल ले यहाँ से! मैंने अब कभी इसके साथ तुझे देख लिया तो सोच लेना क्या होगा तेरा …”वो फ़टाफ़ट वहाँ से निकल लिया।अब मैं सपना से बोला- ये सब क्या है? कब से चुदवा रही है इससे? सच-सच बता।वो रोने लगी।उसने कहा- वो रोज-रोज मुझे चिट्ठी देकर प्रपोज कर रहा था। मुझे भी वो अच्छा लगने लगा तो आज उसने यहाँ मिलने का प्लान बनाया. मुझे अपने कंधे पर उनके बड़े दूध की मुलायमियत का अहसास हुआ, तो मेरा लंड तन्ना गया. वो मेरे बराबर में बैठकर गाउन के ऊपर मेरी जांघें सहला रहा था और बीच बीच में मेरे बूब्स भी दबा रहा था।दारू खत्म करने के बाद वो मुझे किस करने लगा, मैं भी उसका पूरा साथ दे रही थी और वो मेरे बूब्स जोर जोर से दबाने लगा.

मैंने बोला- मैं सिर्फ देख रहा था तुम्हारे अन्दर कितनी आग है मेरी जान. वो लड़की- ये सब क्या है?वह हम दोनों को नग्न अवस्था में देखकर अपनी आंखें बंद करके चली गई. तुझे ऐसे चोदूंगा कि ना तुझे कोई दूसरा दिखाई देगा और ना ही और कुछ भी दिखाई देगा.

संजना के मुँह से बस- आह आह … आह मुझे और चोदो … आह अपना लौड़ा मेरे अन्दर और घुसा दो … हां चार्ली और अन्दर घुसाओ और चोदो.

उसके बाद हम दोनों आराम करने लगे और तभी कोमल भी हमारे पास आकर बेड पर लेट गई. मैंने सीमा को किस की और उसके कान में कहा- क्यों साली? तूने मुझसे चुदना था क्या?वो हंसती हुई बोली- जैसे मर्जी समझ लो अब तो!फिर मैंने सभी को कहा- यार, हमारी पार्टनरशिप तो बन गयी.

आपको मेरे लंड से बहू की चुदाई की कहानी कैसी लगी … प्लीज़ मेल करके जरूर बताएं. वसुंधरा और मेरे उस अभिसार को चौदह महीने हो चुके थे लेकिन आज फिर से वसुंधरा के कॉटेज़ में मुझे वसुंधरा के प्रति वही अति-तीव्र प्रेम के संवेगों से ओत-प्रोत कामानुभूति महसूस हो रही थी. चूचियों को अपने हाथों से गोलाकार दिशा में मालिश देते हुए उसके हाथ मेरी वासना की आग में घी डालने लगे.

मौसी फिर से वही राग अलापने लगीं- आह विशाल ये ठीक नहीं है … मुझे छोड़ दो. फिर खुशी की ही याद में कब कुछ मिनट गाड़ी में गुजरे और मैं पहले वाले होटल में पहुंच गया, इसका पता ही नहीं चला. मैं हंस पड़ा … क्योंकि उसके चचा एक लड़की को सैट किए हुए थे और वो अक्सर उसी से मिलने के लिए मेरे भाई के साले की मदद लेते थे.

देखने वाला हिंदी बीएफ और ना ही मेरी इतनी हैसियत है, पर इस मुलाकात को मैं अपनी जिंदगी में नहीं भूल पाऊंगी। मैं आपसे उपहार में सिर्फ इतना मांगती हूँ कि आगे जिंदगी में कभी भी आप अपने जीवन का एक दिन एक रात मेरे नाम करोगे।मैं हीना की इस मांग से हतप्रभ था. अपने नये पाठकों से मेरा विनम्र निवेदन है कि मेरी नई कहानी से ठीक से तारतम्य बिठाने के लिए पहले मेरी पुरानी कहानियों को एक बार पढ़ लें.

ಸೆಕ್ಸ್ ವೀಡಿಯೋಸ್ ಗಳು

पर शायद फिर भी वो अन्दर से तैयार थी … चाहे जो भी हो उसको भी वो पानी चाहिए ही था. अब मुस्कान, मैं और मेरे दोस्त ही रूम पर अकेले थे।मैंने अपने दोस्त को उसे चोदने के लिए पहले ही बताया था तो मेरे दोस्त ने कहा- मुझे मार्केट जाना है, तब तक आप दोनों बात करो. दोस्तो, अगर लड़की को एकदम से गर्म करना है, तो उसको पहले खूब रगड़ो और उसकी चुसाई करो.

मैंने मौसी की एक चूची को मुँह में भर लिया और दूसरी को दबा के पहली को चूसते हुए धक्के लगाना जारी रखा. शान्ति भाभी ने पूछा- और आगे नहीं बढ़ेगा क्या?दोस्तो, अभी मैं शान्ति के साथ हुई अपनी चुदाई की शुरुआत के बारे में ही सोच रहा था और ये सब घटना क्रम अभी मेरी खुपड़िया में चल ही रहा था कि तभी एक आवाज ने मेरी तन्द्रा को तोड़ दिया. इंडियन सेक्सी 18 साल की लड़कीकुर्ते के नीचे उसने वो छोटी कुर्ती या समीज पहिन रखी थी, मैंने उसे भी उतरवा दिया.

मैंने हंसते हुए कहा- क्या नहीं बताऊं किसी को?वो कहने लगीं कि रात वाली बात!मैंने उन्हें छेड़ते हुए कहा- कौन सी बात … ज़रा खुल कर बताओ न?उन्होंने दबे हुए स्वर में बोला- ससुर जी के साथ सेक्स वाली बात!मैंने कहा- देसी हिन्दी में बोलो ना?अब उन्होंने रंडियों की तरह सीना फुलाया और बोला- मेरे ससुर से चुत चुदाने वाली बात.

मेरी पिछली गांडू की चुदाई कहानीएक शाम जवानी के नामका अगला हिस्सा आपकी सेवा में हाजिर है. सेक्स में जितना मज़ा करने का आता है उससे ज्यादा उत्तेजित करती है महिला साथी की मादक आवाजें … जिन्हें सुन कर ही मर्द बेकाबू हो जाते हैं.

वह महिला भले ही देखने में किसी हिरोइन के जैसी नहीं थी लेकिन मगर फिर भी आकर्षक लग रही थी. तभी मैंने देखा कि मुस्कान थोड़ा हिचकचा रही थी क्योंकि मुस्कान ने प्रियंका से मिल कर मेरे साथ तो पहले भी काफी बार सेक्स किया था. अपने पास बुला कर अमनप्रीत मुझसे बोला- मेरा लंड तू ही अपने हाथ से इसकी चूत में डालेगा.

वो मुस्कुरा कर पलट गई और मैं कुछ कदम आगे बढ़ चुकी प्रतिभा सुमन के पीछे चुपचाप चल पड़ा.

मैं सबसे छोटा हूँ, मेरी बड़ी बहन अल्पा 35 साल की हैं और उनकी शादी गुजरात मैं ही हो गयी है. मैंने कहा- अगर आप पेट से हो गयी तो?वो बोली- मैं तुम्हारे बच्चे को अपने पेट में और इस दुनिया में लाना चाहती हूं. थोड़ी देर बाद अम्मी ने अपनी टांगें फैलाईं और बोलीं- मेरी मुनिया का स्वाद चखेगा ज़रा!मैंने भी अम्मी के चुत में मुँह घुसेड़ दिया और उनकी चुत चाटने लगा.

सेक्सी हिंदी शायरियांमैंने भी उसे एक हवा में चुम्मी दे कर थैंक्स बोला और हम कार स्टार्ट करके स्टूडियो की तरफ बढ़ गए. अपने लंड को सहलाते हुए मैंने भाभी को दिखाया और कहा- मान जाओ न भाभी, बहुत मन कर रहा है.

मराठी में फुल सेक्सी

कुछ रोज बाद एक दिन घर में बात हुई कि अगले हफ्ते मौसी जी की बेटी की शादी है. रिंकी और विशाल ने गले लगकर सुनील को बधाई दी तो सुनील बोला- रिंकी आज तो मेरा किस बनता है. मैंने सुधा की चूत को रगड़ रगड़ कर और उंगली घुमा घुमा कर उसकी पूरी चूत लाल कर दी.

अब सुधा भी ज़ोर ज़ोर से चिल्लाने लगी- आह … और जोर से चोदो प्लीज़ … मुझे और मज़ा दो … आह आज तो जन्नत में ही जाना है. उधर जाकर मैंने एक गिलास पेप्सी ले ली और जहां स्नेहा भाभी खड़ी थीं, वहीं खड़ा हो गया. वायग्ररा के असर और दीदी के ब्लो जॉब से मेरा लंड बहुत टाइट हो गया था.

नीरा की पैन्टी उतारने के लिए मैंने हाथ बढ़ाया तो उसने रोक दिया और मेरा लोअर नीचे खिसकाकर मेरा लण्ड चूसने लगी. इस तरह से हम दोनों की इस रासलीला की, चूत चोदने की कहानी की शुरूआत हुई. तभी आकाश ने दीदी को सोफे से उठा कर बेड पर पटक दिया और लंड में कंडोम लगाकर दीदी के ऊपर चढ़ गया.

मैं मादक आहें भर रही थी ‘आह साले सुहास … भोसड़ी के क्या मस्त चाटते हो … आह मेरी जान सुहास … बेबी आह. मैं- हम बड़ी आफत से बच गए हैं … वरना पता नहीं हम तीनों की क्या हालत होती.

जब दो गर्म औरतें मेरे लौड़े के साथ खेल रही हों, तो मैं भी कितनी देर तक अपने आपको बर्दाश्त कर सकता हूं.

वो- अच्छा फिर क्या?मैं- फिर क्या … सलवार को उतार कर तुम्हारी दोनों टांगों के बीच में बैठ जाऊंगा और …इतना बोल कर मैं चुप हो गया. सेक्सी कंगनाबारिश, बादल, हवा, अँधेरा, एकांत और प्रियतम का साथ … यह सब कामदेव और रति की सत्ता स्थापित होने के इशारे हैं. महाराष्ट्र सेक्सी व्हिडिओ हिंदीसमीर आज काटना मत … कल शायद सर चूसें इनको!ध्यान से,कहीं काट न लो!”और समीर मेरी चूत चूसने लगा तो मैं बोली-जानू,अब दुबारा भी चूस के हीपानी निकल दोगे क्या? अब सहन नहीं हो रहा … लंड डालो ना मेरी चूत में!हाँमेरी जान … ये लो!”और समीर ने अपना लंड मेरी चूत के छेद पर रखा. दरअसल मैं सोच रहा था … अगर मेरी शादी तुम्हारे साथ होती तो मेरी तो किस्मत ही संवर जाती। मैं तो निहाल ही हो जाता।”हम्म … कैसे?”वो … मैं सच कहता हूँ मैं तो बस सारी रात तुम्हें अपनी बांहों में लिए रहता और मैं तो और सोते समय भी तुमसे दूर नहीं होता अलबत्ता तुम्हारे अनमोल खजाने में अपने … उसको डाल कर निद्रा के आगोश में चला जाता। और 2-3 साल में ही 4-5 बच्चे पैदा कर देता … हां.

नताशा- अपनी दीदी को भी ऐसे चोदते हो?मैं- हॉट फिगर देखकर लंड काबू में नहीं रहता है.

उसके बाद दस मिनट तक हम एक दूसरे के मुंह में जीभ डालकर किस करते रहे. अभी गर्मी की छुट्टियां लगी ही थी कि मुझे भी सर और कमर में दर्द महसूस होने लगा, शायद आप यकीन नहीं करेंगे कि मैं इस दर्द से परेशान होने के बजाय खुशी का अनुभव करने लगी. हां, जानता जरूर था और अधिक उत्तेजना होने पर खुद को मुठ मार कर शांत कर लेता था.

तो उन्होंने मेरे दोनों हाथों को अपने हाथों से पकड़ा और दीवार से सटा दिया. अगर लंड में इतनी ही खुजली हो रही हो, तो लंड के लिए चुत का इंतजाम खुद कर लें. मैं इतना ही बोल पायी- नहीं मैम, आपके साथ करना अलग बात है, पर गैर मर्द के साथ हमसे न हो पाएगा.

सेक्सी दे हिंदी वीडियो

अगले दिन सुबह सुबह मेमसाब उसके कमरे पर आई और रोकर हाथ जोड़कर अपना राज छिपाने की अर्जी करने लगी. तुम एक बार साथ देकर देखो यार, आराम से होगा सब!मुस्कान को मैंने एक किस की और उसके मम्मों को दबा कर बोला- अरे ले ले साली ये जवानी के मज़े, चल चलें रूम में!तो मुस्कान साथ चलने को तैयार हो गयी।उधर जैसे ही हम मोनू और सीमा के रूम में पहुंचे तो वहां देखा कि सतीश वहां नहीं था और मोनू सीमा को किस कर रहा था. मैं करीब करीब 15 मिनट तक इंतजार करती रही फिर मैं टोर्च लेकर भाभी के कमरे की तरफ गयी तो उनके कमरे खुला हुआ था.

स्नेहा भाभी- अच्छा जी … चलो कभी आपसे भी ठीक से बात होगी … बाय … अभी मुझे कुछ काम है, तो जब मैं मैसेज करूं … तभी आप करना ओके!इतना बोल कर भाभी ऑफलाइन हो गईं.

शाम को पांच बजे उठकर जब मैं कोमल के कमरे में गया, तब वो दोनों एकदम नग्न अवस्था में सो रही थीं, ये देखकर मेरा लंड खड़ा हो गया.

मैंने उसको डांट कर चुप करवा दिया और अपने लंड पर और तेल लगा कर उसकी गांड चोदने के लिए तैयार हो गया. दुबारा उसके मुलायम हाथों ने गोलियां थाम लीं और हौले हौले से सहलाने लगी. सेक्सी बढ़िया भोजपुरीदीपिका मुझसे बुरी तरह से लिपट गई और अपनी जांघों को मेरे ऊपर दबाने लगी.

एक खलासी उठ कर ड्राईवर की सीट पर चला गया और ड्राईवर पिछली सीट पर आ गया. फिर जब स्कूल में सहेलियों से मुलाकात हुई, तब हमारे मिलने का अंदाज अलग था. मैं- जीजा जी अपना टाइम कब आएगा?जीजा जी- कल सुबह … इस तीनों की मां चोद देंगे.

उसने टी-शर्ट और जीन्स की पैंट पहनी थी, जिसमें उसके दूध कमाल के लग रहे थे. उसका सीना मेरे मम्मों को दबा रहा था … आआअहह … मैं पहली बार अपनी सहेली के ब्वॉयफ्रेंड रुमित के साथ नंगी चिपकी हुई थी.

मैंने भी ज्यादा जोर नहीं डाला उसपर।मैंने उसे पूछा कि क्या वो तैयार है अब?उसने कहा- हां मैं भी तैयार हूँ।मैंने उसे कहा- तुम अपने हाथ से लंड पकड़ कर चूत के छेद पर रखो.

इस पर मैं झल्ला कर बोली- कभी दीदी को मेरे पति के साथ सुला कर देखो … आपसे चुदना न भूल गयी, तो कहना. मैंने दीपिका से कहा- मैं आपके लिए कोल्डड्रिंक और लाता हूँ, और जैसे ही मैं उठने लगा तो दीपिका कहने लगी- कोल्डड्रिंक बहुत मीठी है, आप वाली कैसी है, जरा देखूँ तो?यह कह कर उसने मेरा गिलास उठाया और उसमें से एक सिप कर लिया और बोली- इसका स्वाद भी बढ़िया है. उसे अपनी बेटी की चूत में लण्ड घुसाने में स्वर्ग सा आनंद लग रहा था। चूत अंदर से गर्म थी जैसे लण्ड के स्वागत के लिए चूत ने तैयारी कर रखी हो।चूत को लण्ड का पूरा पूरा अहसास हो रहा था.

या ना सेक्सी वीडियो नताशा- तुम दोनों कहां पर ठहरे हो?नीरज- होटल प्लाजा में … और आप!आकाश- हम सभी एक पेन्ट हाउस में रुके हैं. तो नेहा दुविधा में पड़ गई और कहा- ठीक है सर मैं नाइट शिफ्ट भी कर लेती हूँ,मैंने कहा- नहीं इसकी जरूरत नहीं है, मैं तो मजाक कर रहा था.

मैंने पलट कर कहा- क्यूट स्माइल!उसने भी आंखें नचाते हुए कहा- थैंक्यू. काफी देर तक बस नहीं आई तो मेरे बॉयफ्रेंड ने मुझे मजाक में कहा- ट्रक में लिफ्ट ले लें?मैंने उसे गुस्से से देखा, तो उसने ताना मारने के अंदाज में कहा- आज इतनी हिम्मत दिखाई है, तो ये भी करके देख लो. पर उसने मेरे लिंग को हाथों में थामते हुए कहा- सर आप मेरी उम्र की बात कर रहे थे ना? तो सचमुच मेरी उम्र अभी 23 की ही है, और मैंने अपने बॉयफ्रेंड के साथ सिर्फ चार बार किया है।इतना कहते हुए उसने लिंग को थोड़ा आगे-पीछे किया और चुम्मी दे डाली.

राजस्थानी सेक्सी वीडियो देखना है

मैंने पीछे दरवाजे की तरफ देखा तो दरवाजे पर एक खूबसूरत हॉट लड़की खड़ी थी. पर वो बोलीं- पहले ये बताओ कि क्या दे दूं? जब तक तुम बताओगे नहीं … मैं कुछ नहीं करने दूंगी. ”गुड्डी रानी धीमी सी आवाज़ में बोली- हाँ हाँ … दे दे सब माल मसाला … मैं वेट कर रही हूँ.

तो … हालात का यही तकाज़ा था कि मैं और वसुंधरा दिल की बातें अपने-अपने दिलों में ही रख कर एक-दूसरे से दूर-दूर ही रहें. वो देखने में काफी गोरी है और उसके होंठ एकदम से गुलाबी हैं, जैसे गुलाब की पंखुड़ियां हों.

इसके लिए मैं कोई पैसा नहीं लेता हूं क्योंकि यह मेरा शौक है और मुझे ये सब करना पसंद है.

लेकिन जैसे जैसे दिन ढल रहा था, वैसे वैसे आसमान में बादलों की संख्या में लगातार इज़ाफ़ा होता जा रहा था. भाभी समझ गई कि मेरा पानी निकलने वाला है।तो उन्होंने अपने मुंह से लिंग निकाल दिया और बोली- तेरा पानी निकलने वाला है। अब मैं उसको पियूंगी. आप चिंता मत कीजिये।मैंने वापस अपना हाथ उसके हाथों से हटा लिया और फिर से रोटियां बेलने लगी।रोहित ने मेरा हाथ हटते ही जल्दी से मेरे गाउन को मेरी कमर तक उठा दिया.

मैं बारिश का मजा लेता हुआ घूम ही रहा था कि तभी मैंने देखा कि भाभी भइया और उनका बच्चा सड़क पर खड़े भीग रहे थे. नज़रों-नज़रों में एक-दूसरे के अंतर तक उतर जाने वाली निग़ाह से हम दोनों कितनी ही देर दो-चार होते रहे. साल भर पहले रिटायर होने के बाद मैंने भी फरीदाबाद में एक फ्लैट खरीद लिया और रहने लगा.

मेरे थोड़ा छटपटाने के बाद उन्होंने मुझे अपने होंठों की गिरफ्त से आज़ाद कर दिया.

देखने वाला हिंदी बीएफ: मेरा हाथ उनके हाथों के ऊपर से होता हुआ उनकी छाती को छू रहा था।मेरी नाक से निकलती हुई गर्म सांसें रवि की गर्दन पर पड़ रही थी और मेरे मम्में उनकी पीठ पर दब रहे थे. उन्होंने कहा- इसके लिए घर जाने की जरूरत नहीं है, मेरे पास एक जगह है, वहां चले चलते हैं.

मायरा की चूचियों को मैं चूसने लगा और उसने मेरे सिर को अपने चूचों पर दबाना शुरू कर दिया. तान्या की अन्तर्वासना पूरे उफान पर थी, वो अपने चूतड़ हिला हिला कर मजा ले रही थी, उसके मुख से वासना से लबालब सिसकारियां उम्म्ह… अहह… हय… याह… निकल रही थी. तो अब कभी कभी विशाल और सुनील शीला की चुदाई साईट के ऑफिस में करने लगे.

उनकी बाहर आती चुत को देख कर मुझसे रहा नहीं गया और मैंने फिर से उनकी चुत में जीभ दे दी.

तू बहुत बोल्ड लड़की है, मुझे ऐसी लड़कियां चोदने में बहुत मज़ा आता है।फिर उसने मुझे एक कार्ड दिया और बोला- इससे होटल में आज रात को आ जाना. मैं उन्हें कंधों पर चूमते हुए उनकी लैंगिंग्स के ऊपर से ही उनके बड़े चूतड़ों को दबा रहा था. अपना लण्ड बाहर निकालते हुए मैंने गिन्नी से कहा- चलो बेबी, घोड़ी बन जाओ.