जंगली देहाती सेक्सी बीएफ

छवि स्रोत,जंगल में के सेक्सी बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

ट्रिपल एक्स देसी वीडियो: जंगली देहाती सेक्सी बीएफ, फिर वो मेरे ऊपर आया और अपना लन्ड मेरी चूत के छेद में सेट करके एक जोरदार झटका मारा.

एक्स एक्स की फिल्म

उसकी गांड की खुशबू ने मुझे पागल से बना दिया और मैं उसकी गांड को कुत्ते की तरह चाटने लगा. सेक्सी भाभी सुंदरअगले ही पल लंड को गांड में पेल दिया और ये देखकर मेरी सिसकारी छूट गई.

वो जोर लगाकर लंड को अंदर घुसाने में लगा हुआ था और मेरी गांड अब सच में फटने लगी. अंग्रेजी बीएफ चाहिएफिर मैं एक हाथ आपा के लहंगे के ऊपर ले गया और कपड़ों के ऊपर से ही आपा की चूत को सहलाने लगा था.

मखमली कोटी के नीचे लक्स की बनियान और शॉर्ट्स में अनु दीदी के चौंत्तीस के चूचे और छत्तीस इंच नाप के चूतड़ साउथ इंडियन फिल्मों की लड़कियों की तरह गजब क़यामत ढा रहे थे.जंगली देहाती सेक्सी बीएफ: कुल मिलाकर बीस साल की कचक जवान लड़की मेरे लंड की पुरानी आशिक रही थी.

उनकी पकड़ ढीली हुई और कुछ सेकण्ड्स के बाद धीरे से मेरी छाती पर अपना हाथ रखते हुए मुझे धीरे से पीछे करते हुए बोली- हटो.उसी ने मुझसे कहा था कि अक्कू को मेडिकल कॉलेज जगदलपुर मिला है … तुम उधर उसका एडमिशन करा देना, वो जगदलपुर कभी गई ही नहीं है.

श्रद्धा कपूर सेक्सी बीएफ - जंगली देहाती सेक्सी बीएफ

मैं लंड को सहलाने लगा और फिर अंडरवियर में हाथ डालकर मुट्ठ ही मारने लग गया.अब मेरा मुंह उसकी चूत को चाट रहा था और मेरे हाथ ऊपर की ओर उसकी चूचियों को दबा रहे थे.

भाभी- तो क्या बात थी?मैं- भाभी, मुझे तो उसकी हमेशा और रोज ही लेनी होती थी … और वो मुझे मना करती रहती थी. जंगली देहाती सेक्सी बीएफ जैसे ही उसमें से एक बाबा ने गेट बजाया, तो मैं उसी टॉवल में गेट खोलने चली गयी.

सुरेश की काली, चौड़ी, हष्ट-पुष्ट गांड देख कर ही उसकी ताकत का अंदाज लगाया जा सकता था।उसका लण्ड लाइट में ऐसे चमक रहा था जैसे कि भैंस का चमड़ा, जिस पर तेल लगा हो।सोनी लगातार चीखती जा रही थी.

जंगली देहाती सेक्सी बीएफ?

फिर भाभी बुरी तरह थक गयी थी, बोली- दीपू यार, अब पैर दर्द करने लगे हैं. आंटी देखने में गोल मोल सी माल किस्म की आइटम थीं, पर उनकी उम्र 35-40 के आस-पास की थी. जैसे ही मैं घर पहुंचा और मैंने देखा कि नमन और उसके दो अन्य दोस्त, जो उसी की तरह काले और तगड़े थे, मेरे घर में जा रहे थे.

मैंने एक उंगली योनिरस में गीली करके उसके गुदाद्वार में धीरे से घुसा दी. उससे दो चार बार मिलना होगा, धीरे धीरे उससे खुलना होगा और इसके लिए बातों को सिलसिला मुझे ही चालू रखना होगा. मैं अपनी चूत को राज के लंड की ओर धक्का देना चाहती थी लेकिन मैं ऐसा कर पाती इससे पहले ही जय के लंड का धक्का मेरी गांड में लग जाता था.

मैं हर समय इधर नहीं रह सकता हूँ क्योंकि मुझे बाहर के काम भी निपटाने होंगे तो पीहू को इधर ही रह कर काम काज देखने होंगे. मैंने उनकी टांगें थोड़ी सी ऊपर की और फिर से एक जोर का धक्का दे दिया. हॉट देसी भाबी ने मुझे देखकर स्माइल की और कहा- सच में आज हेल्प करनी पड़ेगी भैया की.

मैंने उससे बात की तो पता चला कि वह तलाकशुदा है; उसे साथी की तलाश है जो उसे सही से समझे और जिसके साथ वह वक़्त बिता सके. मेरी आंखों में नाराजगी देख कर कविता वहां से बाहर चली गयी और किसी से फ़ोन पर बातें करने लगी.

दोनों दिन मनोज मेरे घर पर रह कर मेरी चुत की सेवा की और अपने लंड की सेवा मुझसे करवाता रहा.

प्रियंका अपनी तीन उंगलियां अनामिका की चूत में डालने की कोशिश करने लगी थी.

मैं गया तो उन्होंने मुझे पहचान लिया, पर मैंने उनसे कहा- आप मेरे दोस्त को नहीं बताना. भाभी के मुंह से मेरे हर धक्के पर मादक सिसकारी निकल रही थी- आईई … आह्ह … ओह्ह … हम्म … आह्ह … हाह्ह … ओह्ह।जब चोट थोड़ी तेज लगती तो भाभी की हल्की चीख निकल जाती थी. जैसा कि मैंने पहले ही बताया था कि वो काफ़ी एडवांस लड़की थी, वो कई तरीक़े से मुझे किस करने लगी.

सेक्स चैट के दौरान पता नहीं वो संतुष्ट हाती थीं या नहीं, लेकिन अगर उनको मजा आता था तो उसके बाद मैं उनसे पर्सनली मिलने जाया करता था. मैंने उसके दोनों चूचे हाथ में पकड़कर होंठों से होंठ मिलाकर एक करारा धक्का मारा और उसके नाखून मेरी पीठ पर आ गड़े. मैं अभी भी नंगी ही थी जिसको देख कर उसका बाहर को निकला लंड एकदम टाइट हो रखा था.

स्नेहा चहकते हुए- जीजू, दीदू को ऐसा क्या खिला रहे हो कि हमारी दीदू मोटी हो गईं!मनीष हंसते हुए- ज्यादा कुछ नहीं … बस गन्ने का जूस ही ज्यादा पीती है.

चाची जी की नाइटी में हिलते हैवी चुचे देख कर और उनके मम्मे मेरे सीने पर टच होते ही मेरे लंड में आग लग गई. मेरी गांड में अब खुजली होने लगी और मुझे लड़कों के लंड की जरूरत लगने लगी. अब मैं गांड में लगा था और विक्रम संजू की चूत में लंड घुसेड़े हुए था.

लगभग आधे घंटे से ज़्यादा चलने वाली इस चुदाई के बाद उसके चेहरे पर संतुष्टि का भाव था. रास्ते में मैंने कई बार ब्रेक मारे और वो भी हंस हंस कर बात करती जा रही थीं. तभी पीछे से रवि ने मेरी गांड को पकड़ा और मेरी गांड के छेद पर लंड लगाकर ठूंस दिया.

हम दोनों ऐसी सेक्सी बातें कर रहे थे और हम दोनों फिर से गर्म होने लगे थे.

पूरे कमरे में हम दोनों की चुदाई की मदमस्त कर देने वाली आवाजों ने कब्जा कर रखा था. कुछ मिनट के आराम के बाद मैं सर उठाकर अदिति को देखने लगा तो वो आंखें बंद करके लेटी थी.

जंगली देहाती सेक्सी बीएफ हम दोनों साथ में नहाने लगे और फिर से किसिंग और सकिंग का दौर शुरू हो गया. ‌ उसके पास जरूरत का हर एक सामान था और वो भी‌ मंहगा मंहगा वाला सामान था.

जंगली देहाती सेक्सी बीएफ मैं चचा के सामने अपना पजामा खोलने लगा तो चचा मेरी तरफ ही देख रहे थे. हमारी मुलाकात बस कॉलेज में होती‌ थी और कॉलेज में तो हम‌ ऐसा कुछ कर नहीं सकते थे.

मेरा भी सब्र खत्म हो चुका था और मैंने उसके सिर को पकड़ कर अपने होंठों से लगा दिया.

जोधपुर जिले का सेक्स वीडियो

और हां लंच में मटन बनाना!ज़ारा- आज मैं आपको कहीं नहीं जाने दूंगी!मैं- अरे अजीत को बोल देना. उसके बालों से हाथ घुमाकर मैंने उसके गाल पर किस किया और उसे सोने दिया. यहाँ कुछ लोग सोच रहे होंगे कि मैंने उस समय अंकल से अपनी चूत क्यूं नहीं चुदवाई?तो मैं उन्हें बता दूँ कि मेरा स्टाइल थोड़ा अलग है.

उन्होंने मुझसे फिर से कहा- तुम प्रॉमिस करो कि यह सब बातें जो हमारे बीच हो रही हैं, वह किसी से नहीं कहोगे वरना कभी भी मैं तुम्हारे साथ नहीं बोलूंगा … और ना ही कभी भी तुम्हें चीज दिलाऊंगा. मैं भी करिश्मा भाभी के अकेलेपन को कम करने ही आया था इसलिए उसकी इच्छाओं का पूरा ध्यान रख रहा था. पीहू ने भी हाथ बढ़ा दिया उसने भी बड़े स्टाइल से सिगरेट अपने होंठों में फंसाई और मजे से पीने लगी.

मगर अब किसी और का लंड कैसे दिलवा सकती हूँ, यह मेरी समझ में नहीं आ रहा था.

उसकी बड़ी बहन स्वीटी की भी चूत और गांड चोदी। दोनों बहनों को अपने लन्ड की गुलाम बनाकर अपनी रंडी जैसे खूब चोदा. यह देखकर रागिनी ने अपनी चूत भाभी के मुँह से लगा दी तो भाभी ने उसे चाटना शुरू कर दिया. समीना इस बात से अनजान थी कि मैं उसकी नौकरानी की चूत भी मार रहा हूँ.

कुछ ही पल में मेरे गोरे गालों में जलन होने लगी।मैं समझ गई थी कि ये मुझे बहुत बेदर्दी से चोदने वाले हैं।वो इतने जोश में थे कि उनके अंदर दया नजर ही नहीं आ रही थी।मेरे होंठों को चूमते हुए उन्होंने मेरी नाइटी की डोरी खींच दी. आंटी ने कहा- अब सब कैसे होगा, मेरी तो कुछ समझ में ही नहीं आ रहा है. बीच बीच में हम कभी चोरी चोरी मिल कर किस वगैरह कर लेते थे पर सेक्स का प्रोग्राम नहीं बन पा रहा था.

हम देख नहीं पाए कि जब गांड मराई चल रही थी तो हूं … हूं की आवाज से शेखर जाग गए थे. हम दोनों ने दो दो पैग पीए और खाना खाने के बाद मैंने एक सिगरेट जलाई.

मैं भाभी की गांड में ज़ोर से झटका दे रहा था, जिससे उनकी चीख निकल रही थीं और वो गुलजान की चूत को काट ले रही थीं. मैंने उससे कहा- यार, मैं अभी तुमको फोन लगाने वाला था क्योंकि आज मुझे भी देर होने वाली है. वे सुबह नौ बजे तक घर से निकल जाते थे और रात को ग्यारह बजे तक वापस आते थे.

साथ में मेरी गांड को सहलाते हुए अपनी उंगली मेरी गांड के छेद पर दबाने लगी, साथ में वो मेरे लंड पर अपनी चूत रगड़ रही थी.

थोड़ी देर बाद मैंने उससे कहा- आपके घर में किसी प्रेत आत्मा का साया है, जो आपसे कुछ चाह रहा है. भूरा के मुंह से बार बार यही निकल रहा था- सर जी … थोड़ा धीरे … आह्ह … धीरे करिये न … आह्ह।ऐसी कामुक आवाजें सुनकर मैं बेकाबू सा हो रहा था. फिर वही टुकड़ा अपने होंठों में दबा कर मैं अनामिका के होंठों के पास आ गया.

मैं संजू के सब आंसु पी गया और उसके बालों को सहला कर उसे सांत्वना देने लगा. वो शरीर का काफ़ी तगड़ा है और वो ज्यादांतर ग़ांज़ा फूंकने वालों के साथ रहता था.

मैं एक गदराये हुए जिस्म की औरत हूं।आपको आज एक और सच्ची सेक्सी लंड से चुदाई कहानी बताती हूं. अंकल ने लगभग सोलह सत्रह लाख का एस्टीमेट बनाया था कि उतने में जगह हो जाएगी. मैं कहानी तो रेशमा की बता रहा था लेकिन चूत मुझे शगुफ्ता की दिखाई दे रही थी.

किडनैप सेक्सी

मैं भी मजे से अपने बूब्स की चुदवाई करवा रही थी और उसके लंड को भी चूस रही थी.

मैंने उसे बेड पर ले जाने की सोची और उसे अपनी बांहों में उठाया तो वह शर्मा गई. आसिफ डार्लिंग जब तक अम्मी नहीं आतीं, तब तक हम घर में नंगे ही रहेंगे. हॉट देसी भाबी ने मुझे देखकर स्माइल की और कहा- सच में आज हेल्प करनी पड़ेगी भैया की.

बेबी, क्या कर रहे ये तो बताओ?”जानू, तुम बस मजे लेना, तेरी गांड का दर्द मैं भुलाने वाला हूँ. क्या पता किसी और विकी ने फोन किया हो?वो बोली- मैं इस फोन के इनबोक्स मैसेज और व्हाट्सएप मैसेज भी पढ़ चुकी हूं. सेक्सी वीडियो ब्लू फिल्म चोदा चोदीफिर धीरे-धीरे मेरी और मीना की भी बातें कम हो गयीं और हम अपने अपने रास्ते हो लिए।तो दोस्तो, ये थी उस गाँव की भाभी की चुदाई की सच्ची कहानी.

वो कराहती हुई बोलीं- उई मम्मी रे … आह मुझे दर्द हो रहा है … आराम से करो यार … बहुत दिन से अन्दर नहीं लिया है. रंगोली की चिकनी बुर देख कर मैं खड़ा हो गया और उसके होंठों को चूसते हुए उसका हाथ पकड़ कर अपनी चड्डी में डाल दिया.

मेरी पिछली कहानीकोटा में कोचिंग और चुदाई साथ साथआपको पसंद आई, इसके लिए शुक्रगुजार हूँ. मुझे गांड मरवाने का बहुत शौक है, मैं पिछले 3 साल से गांड मरवा रही हूं. सेक्स फॉर मनी Xxx कहानी में पढ़ें कि जब मेरे पति की आय और जॉब पर खतरा मंडराने लगा तो मैंने एक डॉक्टर से पूरी रात चूत मरवा कर अपना घर बचाया.

उसने भी अपने वीर्य और मेरी चूत के पानी को मिक्स करके दोबारा से आधा मेरे मुंह में दे दिया. इसके बाद मैं बराबर सोनी को टाइम देने लगा जिससे जल्दी ही सोनी के सारे गिले शिकवे दूर हो गए. वो मेरी चुदाई में इतनी खो गयी थी कि शाईस्ता हम दोनों की चुदाई देख रहा है, वो इस बात को भूल ही गई थी.

‘मुझे तुझमें अपनी मां दिखती है!’हमारी सोच, विचार और आचार व्यवहार में बड़ा परिवर्तन आ गया था.

मैंने अनन्या को बोला हुआ था कि डिनर तुम यहीं करोगी, इसलिए वो ऑफिस का काम खत्म करने के बाद हमारे यहां चली आई. मेरा भी सब्र खत्म हो चुका था और मैंने उसके सिर को पकड़ कर अपने होंठों से लगा दिया.

सनी ने फिर से मुझे अपने लंड पर झुका लिया और अब मेरी गांड रवि के सामने उठ गयी. कभी मैं उनकी चूचियों को ब्रा के ऊपर से दबा देता, कभी दांत से काट लेता तो आंटी मादक सीत्कार भरके अपनी उत्तेजना जाहिर कर देतीं. वो कुछ झिझकी मगर फिर तुरंत लिंग को मुँह में ले लिया।वो धीरे-धीरे मुझे मदहोश कर रही थी.

जब आराम हो गया तो वो बोला कि दीदी कैसा लगा मेरा लौड़ा?मैंने कहा- अच्छा है, पर इतना आराम से क्यों कर रहे हो, थोड़ा तो जंगलीपना दिखाओ न … मेरा पहली बार नहीं है, तो डरो मत, थोड़ा तेज तेज करो. मैंने पूछा- आप आज वॉक नहीं कर रही हैं!वो बोलीं- आज कोई साथ में नहीं है, तो बस मन नहीं हुआ और बैठ गई. हॉट गर्ल Xxx हिंदी कहानी में मैंने अपने दोस्त की छोटी बहन की कुंवारी बुर फाड़ कर उसे कलि से फूल बना दिया.

जंगली देहाती सेक्सी बीएफ अंकल उठ कर गए, उन्होंने शेल्फ से तेल की शीशी निकाली और आकर बिस्तर पर बैठ गए. मेरे पास उसके पापा की तबीयत के बारे में पूछने का बहाना तो था ही, इसलिए उसी शाम मैं उसके घर उसके पापा का हालचाल पूछने पहुंच गया.

कहानी सेकसी

किताब में नंगी लड़कियों की फोटो देखकर मैंने फिर से लंड को सहलाना शुरू कर दिया. एक दिन मैं अपनी कुर्सी पर बैठा झूल रहा था, तभी मेज़ पर रखा फ़ोन एक बार बजा. मगर ममता ने बिस्तर पर लेटकर जैसे ही मुझे पकड़कर अपने ऊपर खींचा, मेरी नजरें पीछे बालकनी वाली खिड़की की ओर चली गईं.

मेरी जांघों पर बैठे बैठे रेशमा कभी मुझे किस करती, तो कभी दारू का घूंट मेरे मुँह में दे देती. बूब्ज़ मस्त Xx कहानी शुरू करने से पहले मैं थोड़ा अपने बारे में बता दूँ कि मेरी उम्र 23 साल है. बीएफ पिक्चर्सउसके पहले वह साईं बाबा के मंदिर गए और भगवान से प्रार्थना की- भगवान मुझे यह दिन अच्छी तरह से मनाने के मौका देना.

मुझे उसकी चूत से निकलने वाले हल्के नमकीन पानी का स्वाद आना शुरू हो गया था.

उसने थोड़ी बेइज्जती महसूस की और फिर मेरे पैरों को मसलना शुरू कर दिया. फिर मैंने छत पर जाना बंद कर दिया और अगर छत पर जाता, तो भाभी से बात नहीं करता.

भाभी ने अपनी छाती और आगे कर दी और मुझे आगे होकर अपने बूब्स पिलाते हुए सिसकारने लगी- आह्ह … अंकित जोर से चूस … आह्ह … मेरे चूचे … पी जा इनको … इनका दूध निकाल ले चूस चूसकर!काफी देर तक मैंने बूब्स को चूसा और वो मेरे लंड की मुट्ठ मारती रही. पांच मिनट तक उसकी तरफ़ से कोई रेस्पॉन्स नहीं मिला तो मैं उठ कर चलने लगा. अब आगे हॉट वाइफ पोर्न कहानी:संजू बड़ी मस्ती से सीत्कार भर रही थी- आहअ … ओह ऱाजा … उईइ … मम्मीअ कितना मोटा लंड है.

फिर मैंने अपने तने हुए लंड को देखा और शर्म का नाटक करते हुए उस पर तकिया रख कर उसे छिपा लिया.

मेरे बैठते ही वो घुटनों के बल बैठ गई और मेरे लंड पर ऐसे टूट पड़ी, जैसे उसने आज लंड पहली बार ही देखा हो. उसके लेटने पर मैंने उसके पेट पर एक दिया रख दिया और कहा- सीधे लेटे रहना … ताकि दिया गिरे नहीं. जीभ से उसकी चूत का दाना चाटते हुए मैंने रेशमा की चूत मेरे उंगलियों से चोदनी चालू कर दी.

हिंदी बीएफ वीडियो जबर्दस्तउन्होंने एक दिन मुझसे पूछा- तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है?मैंने कहा- अरे आंटी, मुझे कोई लड़की समझ में ही नहीं आती. कहानी के पहले भागमौसेरे भाई संग सुहागरात मनाने की योजनामें आपने पढ़ा कि मैंने अपने मौसेरे भाई सन्नी के साथ सुहागरात मनाने का कार्यक्रम बनाया.

बंगाली सेक्स व्हिडिओ

गोलगप्पे की तरह फूली हुई मेरी बुर में अपना थूक लगाते हुए वो मुझसे बोले- बोल? तैयार है न तू?मैं भी उस वक्त बहुत गर्म हो गई थी. वो बोली- क्यों, ऐसे में क्या दिक्कत है … मैं क्या तेरे से जबर करूंगी? इधर देख क्या मैंने कपड़े पहने हैं? प्रकाश तू इतना डरता क्यों है?मैंने जवाब दिया- देख शामली, मैं एक हद तक चुप रह सकता हूँ. जब तुमने मेरा पूरा लंड निगल लिया था, तभी मैं समझ गया था कि तुझे केला चूसने का बड़ा मन है.

उसकी चड्डी में उसका लौड़ा पूरा गर्म होकर रॉड के जैसा सख्त हो चला था. इसी बीच मनोज ने अपने लंड का माल मेरे मुँह में छोड़ दिया और मैं उस माल को सारा पी गई. अब तो वो इसकी आदी हो गई थी और मेरा पूरा साथ देते हुए चुदाई का पूरा मजा लेने लगी थी.

सनी मेरी गर्दन को चूसने लगा और रवि भी पीछे से मेरी पीठ को चूमने लगा. जब मैंने जोर देकर पूछा, तब सोनी ने बताया कि रोहित के घर वालों ने शादी के लिए हां बोल दिया है. ये कहते ही हॉट चाची ने गॅप से लंड मुँह में ले लिया और चूसना शुरू दिया.

मेरी ये दोनों बुआ लेस्बियन थीं और एक दिन उन दोनों को मैंने लेस्बियन सेक्स करते देख लिया था. तुम हो गयी हो पहलवान!ज़ारा- क्या बात कर रहे हो? मेरा फिगर देखो कितना सेक्सी है!मैं- तुम सिर्फ बदन से लड़की हो वैसे तो पूरी गुंडी हो गयी हो!वो खिलखिलाकर मुझसे लिपट गयी काफी देर तक हम लेटे हुये बातें करते रहे.

मुझे तेरी चुदाई करनी है अभी,तो मैंने उन्हें और ज्यादा तड़पाने के लिए बोला- मुझे अब आप के साथ कोई चुदाई नहीं करवानी.

कुछ दिन बाद शामली मुझसे बोली- प्रकाश तुम ये बैग या तो आगे लगाया करो, नहीं तो मुझे दे दो. व्हिडीओ सेक्सी बीएफअब उसने भी अपनी चड्डी नीचे की और उसने अपना लंड बाहर निकाल लिया। अपना गर्म लौड़ा उसने मेरी चूत से सटा दिया।लंड का सीधा स्पर्श पाते ही मेरी चूत फड़क उठी; मेरा मन कर रहा था कि वह अपना लंड मेरी चूत में घुसा दे।फिर उसने मुझे नीचे लिटाया और मेरी चूचियों को जोर जोर से दबाते हुए पीने लगा. बीएफ सेक्सी जबरदस्तसोनी की चूत से कुछ खून जैसा बह रहा था हालाँकि वो काफी कम मात्रा में था. मैंने तुरंत ही उसे मुँह से निकाला, पर विपिन ने ‘आहह … दीदी आ … आहह … कहा और मेरा सिर पकड़ कर अपने लंड पर पूरा दबा दिया.

कभी वो दोनों अपनी बहन अर्चना की हर बात में मीन मेख निकालते थे, अभी गुलाम की तरह अनु दीदी के आदेश का अक्षरशः पालन करने लगे थे.

दो मिनट के बाद मेरे लंड ने भी पिचकारी छोड़ दी और वो मेरे सारे वीर्य को अंदर ही गट गट करके पी गयी. अंततः मेरे जीवन की वो रात आ ही गयी, जब मुझे ताई के साथ संभोग की प्राप्ति होने वाली थी. तो क्या करूं? तुम … तुम ये पहले कपड़े तो निकालो?” ममता ने खीजते हुए कहा.

बाकी बहुत सारा स्टाफ आउटलेट स्टोर्स में था जिनमें अधिकतर लेडीज़ स्टाफ़ था. मेरी बीवी ने अपने हाथ से लंड अपनी चूत में ले लिया और सरदार जी चालू हो गए. उसने सारी तैयारी पहले से ही कर रखी थी। वो किचन का काम बिना कपड़ों के ही कर रही थी.

पंजाबी शादी

कुछ दिन बाद शामली मुझसे बोली- प्रकाश तुम ये बैग या तो आगे लगाया करो, नहीं तो मुझे दे दो. यही हुआ … दूसरा लड़का मॉम के मुँह में लंड पेले रहा और मेरी मॉम छटपटाती रहीं. नेहा पीछे से स्नेहा को मारते हुए बोली- क्या आप भी … इसकी बातों में आ जाते हो.

पुरुष शुरू से ही काम-वासना से पीड़ित रहा है, ना जाने कितने रजवाड़े इस वासना की आग में जल गए। स्त्री अगर रतिरूप है तो वो ज्ञानपुंज भी है।स्त्रियों ने सदैव पुरुषों को मार्गदर्शित किया है.

जब मैं उनको लेने गया तो मैंने उनको नमस्ते किया और फिर उनका सामान उठाया.

कुछ टाइम बाद मुझे पता चला कि एक सूरज नाम के लड़के के साथ भी उसके संबंध थे, यौन संबंध थे या नहीं, ये नहीं पता लग सका, पर उन दोनों के बीच रोज घंटों बातें होती थीं. आंखें मानो कह रही थीं कि राजा जी आज मत रूको, बरस जाओ मुझ पर … और मेरी प्यास शांत कर दो. बाप बेटी की बीपीसंजीव ही नहीं बल्कि दूसरे सारे लड़के और लड़कियां भी मेरी ओर ऐसे देख रहे थे जैसे कि मैं स्वर्ग से आई हुई कोई अप्सरा हूं.

मैंने जल्दी से गूगल पर करनाल में होटल सर्च किये और हम एक होटल पर पहुँच गए।होटल जाकर मैंने एक रूम बुक किया जिसके लिए होटल वाले ने मुझसे 1500 रुपए लिए. बीवी बोली- अरे आप औरतों को नहीं जानते, गांव की कई औरतें जो अपने मर्दों की लुल्ली नहीं ले पाती थीं वो भी सुरेश से चुदवा चुकी हैं. इनमें पुराने जैसा सिस्टम नहीं है … बल्कि एक मोटर लगी है, जिससे कंपन पैदा होती है.

अबकी‌ बार लगभग मेरा पूरा लंड उनकी चुत में समा गया और ममता की मां चुद गई थी. फिर धीरे धीरे सबीना आपा की शर्ट के बटन खोल कर उसकी शर्ट को निकाल दिया.

स्नेहा- ओके दीदू, छोड़ो उस रंडी की बात … आप एक काम करोगी मेरा?नेहा स्नेहा की चूत पजामे के ऊपर से मसलते हुए- कौन सा काम?स्नेहा- पहले कसम खाओ गुस्सा नहीं करोगी?नेहा कुछ सोचते हुए- चल ठीक है.

रेनू फिर से गर्म होकर नितंबों को उछालने लगी। इस बार मैंने उसके योनिछिद्र पर लिंगमुंड रख कर एक जोरदार झटका मारा. अब उसकी शादी होने वाली है लेकिन कहती है कि उसको बच्चा मेरे से ही चाहिए. कहानी के पिछले भागसहकर्मी दोस्त लड़की का नंगा बदनमें अब तक आपने पढ़ा था कि मेरे सामने अंकिता सिर्फ एक पैंटी पहनी हुई लेटी थी.

புண்டை வகைகள் படங்கள் मैं भूरा की गांड में उसका लम्बा मोटा मस्त हथियार अंदर बाहर होते देख रहा था. जैसे ही लंड पिचकारी मारने लगा तो मैंने मौनी के होंठों पर होंठ लगा दिये और उसके होंठों का रस पीने लगा.

विक्रम संजू के पीछे आ गया और संजू जो कि घुटने के बल बैठकर मेरा लंड चूसे जा रही थी, उसके पीछे से उसने चूत में अपना विशालकाय लंड घुसेड़ दिया. वो इतनी अधिक खूबसूरत और हॉट थी कि मैं उसके तने हुए चूचों और उठी हुई गांड को देख कर गर्म हो गया था. कुछ ही देर में भाभी की चूत में पच पच की आवाज होने लगी क्योंकि मेरे लंड से भी काफी कामरस निकल रहा था और भाभी की चूत भी लगातार पानी छोड़ रही थी.

सेक्सी एचडी फुल वीडियो

अब भाभी ने मेरे लंड को पकड़ कर अपनी चुत में सैट किया और मेरे लंड पर बैठ गईं. इस तरह से मेरी बीवी ने शिमला में गैर मर्दों से चूत चुदवा कर फोरसम सेक्स के खूब मज़े लिए. मैं उनको कहीं भी मिल जाऊँ तो बड़ी कातिलाना स्माइल करती हैं।उनका मेरे घर भी आना जाना ज्यादा हो गया था.

मैं सीधा खड़ा हो गया और उनके सर पर हाथ रख कर अपने लौड़े पर दबाने लगा. आज मेरे लंड में इस तरह आग लग गई थी कि मुठ मारे बिना शांत ही नहीं हो पाई.

लंच करते करते आपा ने मुझसे पूछा- तेरी कोई गर्लफ़्रेंड है?मैं उसके इस सवाल से एकदम से चौंक गया कि आपा ये क्या पूछ रही हैं.

मनोज ने कहा- मेरी बहुत बड़ी खुशनसीबी होगी अगर आपकी बात सच हो तो!मैंने कहा- देखो मैं कोई लपेट कर बात तो करने वाली नहीं हूँ. भाभी बोलीं- मैंने आज तक किसी का लंड मुँह में नहीं लिया, लेकिन तूने मुझे अपना इतना दीवाना बना दिया है कि आज से मैं तेरी गुलाम हूँ. अंकल उठ कर गए, उन्होंने शेल्फ से तेल की शीशी निकाली और आकर बिस्तर पर बैठ गए.

वो लड़का अपने चूतड़ सिकोड़ता हुआ दिख रहा था और शेखर जी उसके चूतड़ों को थपथपाते हुए कह रहे थे- ढीले कर यार, गांड मत सिकोड़. उसकी चूत से पच पच हो रही थी मगर लंड डालने में अभी भी उतना ही मजा रहा था. रात होने से पहले ही वो आ गया और डिनर करने के बाद बेडरूम में चला गया.

सांसें सामान्य होने पर हम दोनों ने एक दूसरे के होंठों को चूम कर कपड़े पहने और फ्रेश होने बाथरूम में घुस गए.

जंगली देहाती सेक्सी बीएफ: इतने में अनामिका भी साइड से मेरे और प्रियंका के गले लग गई- जीजू, सच में आज आपने मुझे भी पूरी तरह संतुष्ट कर दिया. मेरा आज तक एक बार भी ठीक से नहीं हुआ और तुमने एक बार में ही मेरा 2 बार करा दिया है।मैंने कहा- भाभी सिर्फ मुझे आपकी गांड मारनी है।दो मिनट सोचने के बाद वे बोली- यार, तेरे लंड ने चूत का यह हाल कर दिया.

मैं दो मिनट के लिए उसी के जिस्म पर ही लेट गया और उसके एक गोलमटोल मम्मे को चूसने लगा. अब मैंने पापा की वो फ़ाइल काफी कागज़ों के नीचे दबा दी और अंकल का इंतज़ार करने लगी. उसकी ख़ूबसूरती और आकर्षण से दूसरी लड़कियां उससे जलती थीं और टीम लीडर के कान भर देती थीं.

वो बोली- क्यूं, मेरे में ऐसा क्या है, तूने क्या देख लिया ऐसा?मैं बोला- अभी अभी बाथरूम में देखा है.

नेहा- और तुम लोगों की पढ़ाई कैसी चल रही है?स्नेहा- दीदू पढ़ाई को हम दोनों ने नम्बर वन पर रखी है, बाकी मौज उड़ा रहे हैं. चालीस इंच की गदरायी गांड को सहलाते हुए मैंने उसकी चड्डी नीचे सरका दी. मेरे मुंह से सिसकारियां निकल पड़ीं- आह्ह … आह् … आराम से … ओह्ह … आह्ह … इस्स … ओह्ह … धीरे … उम्म … ओह्ह … पूरी पी जाओ.