हिंदी फिल्में बीएफ वीडियो

छवि स्रोत,हिन्दी पोर्न कहानी

तस्वीर का शीर्षक ,

अघोरी साधु: हिंदी फिल्में बीएफ वीडियो, थोड़ा गुस्से में तो थोड़ी शर्मीली नजर से शायद वो मुझसे पूछ रही थी कि ये तूने क्या किया.

गंदा वीडियो गंदा

उसके बाद मैंने उसकी ब्रा को साइड में करके उसके एक निप्पल को मुँह में ले लिया और निप्पल को काट लिया, जिससे उसके पैरों का संतुलन बिगड़ गया और पेटीकोट नीचे गिर गया. गाने की सेक्सीमैं दिल्ली में जॉब के लिए शिफ्ट हुआ था और अपने एक दोस्त के साथ किराय के मकान में रह रहा था.

एक बार की बात है कि हमारे साथ रहने के लिए मेरी सहेली का भाई भी आ गया। उसका नाम था अंकित। मैं भी उसको अपना भाई ही मानती थी। वो 23 साल का था. xxx कैटरीना कैफमैं बाहर खड़ा था और वो आधी कार में थीं और अपनी गांड कार के बाहर किये हुए इस पोजीशन में थीं कि अपनी गांड में लंड लेने के लिए मचल रही थीं.

इस झटके से मेरा आधा लंड गांड के अन्दर घुस गया था और श्वेता चीख कर रोने लगी.हिंदी फिल्में बीएफ वीडियो: चूत को साफ करते हुए वो एक हाथ से अपनी चूत की फाड़ों को खोलती थी और दूसरे हाथ को गीला करके चूत को साफ किया करती थी.

मैं पिछले कई सालों से अन्तर्वासना पर प्रकाशितसेक्स कहानियांपढ़ रहा हूँ.मैं कान में फोन लगाए बात करता हुआ बाहर की ओर चला गया। एक दो मिनट के बाद मोबाइल ऑफ करके जेब में रखा और वापस ऑफिस की ओर लौटा।इधर उधर देख कर झट से रोज़ी के घर के अंदर घुस गया और रोज़ी को बोला कि अंदर से ताला लगा दो.

साडी मे चुदाई - हिंदी फिल्में बीएफ वीडियो

एक जवान गोरी लड़की की मस्त, सफेद, दूध सी चूचियां देख कर मैं पागल सा हो गया.जब मैं नहाकर उनके घर गया तो हम सबने साथ में मिल कर समोसे खाए। बाद में आंटी मेरे घर चली गई और उनके घर हम तीनों ही रह गये.

उधर से मैं उनको लेकर सीधा डॉक्टर के पास पहुंचा और उनका इलाज करा कर घर ले आया. हिंदी फिल्में बीएफ वीडियो उसने कुछ नहीं कहा, तो मेरी हिम्मत बढ़ गयी और मैं उसके करीब होकर होंठों से होंठों को लड़ाने लगा और हम दोनों ने अपना आपा खो दिया.

उस वक्त मगर मेरे साथ ऑफिस के दूसरे स्टाफ भी थे तो हमने कोई रिस्पॉन्स नहीं दिया.

हिंदी फिल्में बीएफ वीडियो?

सुरेश- अरे रघु, मैं तुम्हारी बीवी नहीं हूँ, जो तू इसको खड़ा कर रहा है. मैं पूरा लंड पेलने के बाद थोड़ी देर रुका और पूरा लंड बाहर निकाल कर झटके से दुबारा अन्दर डाल दिया. पर कोई फायदा नहीं, इसी बीच उसने मेरा बायां स्तन कुर्ती के ऊपर से ही अपने मुंह में भर लिया और चूसने लगी.

यह सेक्स कहानी कुछ दिनों पहले उस वक्त की है, जब मैं बारहवीं कक्षा में था. उसने भी अपना बड़ा लंड निकाल कर मेरी चूत पर लगा दिया और एक धक्के में ही अन्दर कर दिया. कई बार उसको चोदने के बाद फिर उसने मुझे अपनी एक सहेली किरण से भी मिलवाया.

मेरी क्लास के लगभग सभी छात्र छात्राओं ने उसी कॉलेज में दाख़िला लिया था. इसे भी करने दे इंजॉय।मैं- अच्छा बंदरिया! तू तो बहुत आगे निकली मुझसे. मैं और दानिश अच्छे दोस्त तो थे ही, साथ ही साथ उसकी अम्मी और मेरी अम्मी भी आपस में अच्छी सहेलियां थीं.

मेरी प्यासी जवानी के भार को अपने लंड पर टांगे हुए मुझे चोदे जा रहा था. मुखिया सुमन की हिलती हुई चूचियों को देख कर लार टपकाता हुआ बोला- अरे ऐसा कोई बड़ा काम नहीं था.

मैं- जिस्मानी रिश्तों में तुझे खुश नहीं कर पाते हैं क्या जीजा जी?रिया- नहीं-नहीं.

वो मुझे मैसेज करती, तो पहले पूछती कि पापा खाना खाया या नहीं … क्या क्या खाया?उसकी बातों से मुझे बड़ा अच्छा लगने लगा था.

भाभी का गोरा बदन और उठी हुई मोटी गांड मेरी उत्तेजना को और ज्यादा उबाल रही थी. ऐसा लग रहा था कि जैसे उसकी गांड मुझे बुला रही हो कि आओ और अपना मूसल मेरे अंदर डाल दो. फिर उसने मुझे एक छोटा सा चुम्बन किया, ये जताने के लिए कि धन्यवाद और वो मुझे कसके पकड़ने लगी.

मैंने उनकी चूत को चाट चाट कर साफ कर दिया और वापिस उनके ऊपर आकर उनके होंठ चूसने लगा. जब उससे रहा न गया तो उसने मुझे बेड पर पटका और मेरी टांगों को अपने कंधों पर रख लिया. मेरे हाथ कांप रहे थे क्योंकि पहली बार था और उत्तेजना बहुत ज्यादा थी.

सर को मेरा इशारा तुरंत समझ आ गया और उन्होंने कसके मेरा हाथ पकड़ कर कहा कि आगे ऐसा ही होगा.

एक दिन उसने बताया कि उसकी शादी घरवालों ने जल्दी करा दी थी और उसका पति बहुत ही सीधा सा है … जबकि मैं काफी चुलबुली रही हूँ. भाई बहिन सेक्स की कहानी में पढ़ें कि मेरी बहन मुझसे अपनी चूत और गांड मरवा चुकी थी. रिया- हां किया है मैंने किस।मैं- किसके साथ?रिया- बस सच बता दिया इतना काफी है.

मैंने उसको बांहों में भर लिया और उसके चूतड़ों पर अपनी टांगें लपेट लीं और मजे से चुदने लगी. अब रोहित फिर से बेड पर सीधा लेट गया और मैं बेड पर डॉगी स्टाइल में होकर अपने एक हाथ से उसके लंड को पकड़ कर धीरे-धीरे उसके लंड को चूसने लगी।मेरी गांड मेरे पति के सामने उठी हुई थी. पता नहीं क्यों … आज मुझे चुत में एक अलग ही तरह की चिनमिनाहट सी हो रही थी.

मैं दरवाजा खोल कर दूसरे कमरे में गया और पानी की बोतल लेकर वापस आ गया.

मैंने टॉर्च को और करीब कर दिया तो देखा कि मॉम की चूत के बालों में एक दो चींटियां घूम रही थीं. साथ ही मैंने मोनिषा के लोवर की नीचे से सिलाई खोल दी, ताकि रात को मुझे कुछ परेशानी ना हो.

हिंदी फिल्में बीएफ वीडियो मेरा तना हुआ लौड़ा मॉम के सामने मेरी जांघों के बीच दायें बायें डोलता रहा. तभी मैंने उसकी गर्दन पर हाथ डालकर अपनी ओर खींचा और होंठों पर होंठ रख दिए।मैं उसके होंठों को जोर से चूसने लगा और अब वो मेरा पूरा साथ दे रही थी.

हिंदी फिल्में बीएफ वीडियो बल्कि वो मुझसे नाराज हो जातीं तो मुझे उनको देखने का मौक़ा और खत्म हो जाता. देर न करते हुए उसने मेरे समीज को निकाल दिया और मुझे ऊपर से नंगी कर दिया.

मेरे घर में मेरा लालन पालन बहुत ही संस्कारित और सनातन धार्मिक माहौल में हुआ.

औरत की चुदाई चुदाई

[emailprotected]देसी चुत स्टोरी का अगला भाग:कमसिन कुंवारी लड़की की गांड- 3. दिशा हमेशा अपनी चूत को क्लीन रखा करती थी क्योंकि मुझे हमेशा चिकनी चूत ही पसंद थी. मैंने बातचीत शुरू करने के मकसद से पूछा- आप एचडीएफसी बैंक में हैं?जी, मैं आठ साल से इस बैंक में हूँ और बंगलौर की हेड हूँ.

उसकी आहें और तेज़ हो गईं और वो मेरी छाती पर अपने नाख़ूनों से नोंचने लगी।इस तरह से चुदते हुए कुछ देर में वो झड़ गई और मैं उसको अपनी गोद में बिठा कर चोदता रहा। थोड़ी देर की चुदाई से वो फिर गर्म हो गई और फिर से मेरा साथ देने लगी। इस बार मैं नीचे लेट गया और वो मेरे ऊपर चढ़ कर लंड पर कूदने लगी. मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया, तो मैंने कहा- अब एक बार लंड चूस लीजिए. फिर हम दोनों जोर से एक दूसरे के होंठों को पीने लगे और लार का आदान प्रदान होने लगा.

मैंने भी सिसकारते हुए कहा- हां मॉम, आज मैं आपकी चूत चोद कर आपको खुश कर दूंगा.

मगर सुहागरात की कहानियां जन समुदाय में बहुत ही कम प्रसारित होती हैं. मैंने भी अपनी आंखें बंद कर लीं।फिर धीरे-धीरे करके वह मेरे कपड़े उतारने लगा। मेरे हस्बैंड एक अलग कुर्सी पर बैठे यह सब देख रहे थे।कुछ देर के बाद रोहित ने मुझे पूरी नंगी कर दिया. उसकी चूची अपने हाथ में लेकर उनको धीरे धीरे ब्रा के ऊपर से ही सहलाने और हल्के से दबाने लगा.

नहीं तो मैं अभी तक झड़ झड़ा कर चूत को पोंछ के सोने की कोशिश कर रही होती. मेरे समझाने के बाद भी वो नहीं मान रही थी।अब अंजू ग़ुस्से से बोली- जो करना है कर लो. दोस्त की ये बात मुझे समझ आ गयी थी। अब मैं पूरा मन बना चुका था कि अब मैं अंजू को चोद कर रहूँगा। मैं भी देखना चाहता था कि वो मेरे साथ सेक्स करने के लिए तैयार भी होती है या नहीं।टाइम भी आया, मुझे और अंजू को ट्रेन से जम्मू जाना पड़ा। ट्रेन में सामान्य कोच को हम देख हैरान हो गये.

मैंने स्माइल करके पारिज़ा को अपनी ओर खींच लिया, जिससे वो मेरे ऊपर आ गई. साले 21 साल की जवान लौंडिया को छोड़ कर तुझे 44 साल की हरामन रंडी चाहिए भड़वे साले, पहले इस जवानी को तार तार कर दे मेरे राजा … फिर मेरी मां को भी चोद लेना.

मौसी की गांड को तैयार करने के बाद मैंने उसकी गांड के छेद में थूका और उसको चिकना किया. हुआ यूं कि मैं पंजाब में रहने आ गया था और मुझे यहां पर एक अच्छी कंपनी में नौकरी मिल गयी थी. मैंने पूछी कि रोहन यह क्या है?वो बोला कि यह नींद की दवाई है, जिससे हम लोग आराम से काम कर सकेंगे.

आधे घंटे बाद मेरी आंख खुली और मैंने फिर से उसकी चूचियों को छेड़ना शुरू कर दिया और उसकी चूत को सहलाने लगा.

भोसड़ी का पढ़ाई करने गया था … मादरचोद वहीं किसी गोरी चोरी को पता कर उससे शादी कर ली. दो मिनट के अंदर ही उसका शरीर अकड़ गया और उसकी चूत ने ढेर सारा पानी मेरे मुंह में फेंक दिया. चाची इतनी ज्यादा मदहोश हो गई थीं कि उनको उस समय सिर्फ बिस्तर चाहिए था.

क्या गोरा चिकना बदन था रागिनी का! मैं धीरे धीरे उसके पूरे बदन पर किस करते हुए उसकी टांगों के बीच आ गया. [emailprotected]सेक्सी भाभी की कहानी का अगला भाग:भाभी से लगाव, प्यार और सेक्स- 3.

मैंने भी उसके लंड को पकड़ लिया और हम दोनों बेतहाशा एक दूसरे को चूमने लगे. मेरे मन में लड्डू से फूट गये और मैं उतावला होकर जल्दी से तैयार हुआ और उसके घर पहुंच गया. उन्होंने अपनी टांगों को पूरी तरह से चौड़ा दिया और मुझे उनकी एकदम चिकनी चूत दिखने लगी.

इंग्लिश सेक्स वीडियो एक्स एक्स एक्स

फिर मैंने धीरे से विवेक को बोला कि मान जा यार … अल्पना है, अगर वो जग गई, तो हम दोनों को प्रॉब्लम हो जाएगी.

उसकी मां ने उसे देख कर पूछा- ऐसे लंगड़ा कर क्यों चल रही हो?मां के पूछने पर उसने बता दिया कि आते वक़्त वो गिर गई थी, इसलिए पांव में हल्की मोच आ गई है. उसके बाद मैंने लंड से उसकी गांड को सहलाई और अपने लंड को पारिज़ा की गांड पर सैट कर दिया. गीता को मुखिया की बात याद आई कि किसी को बताना मत और वैसे भी गीता अच्छी तरह जानती थी कि मुखिया का नाम लेकर कोई फायदा नहीं.

वो भी अब मदहोश होकर मेरी पैंट के ऊपर से सहलाती हुई मेरे लंड पर ऊपर से ही हाथ फिराने लगी थी. मम्मी बोली- अब थक गई हूं यार … ये लास्ट कर लो फिर सो जायेंगे।फिर पापा ने धीरे धीरे हिलाना शुरू कर दिया. लड़की वाले वॉलपेपरउसने मजे से अपने हाथ से मेरे लंड को पकड़ लिया और लंड के टोपे पर अपने होंठ रख दिए.

जैसे ही अंकल अन्दर आए, उन्होंने हमें मस्ती करते हुए देख लिया और वो हल्के से खांस कर अपनी उपस्थिति दर्ज कराने लगे. वैसे भी, इतनी रात को इतनी तेज बारिश में यहां बिल्डिंग के पास कौन आने वाला है? देख, नीचे कितना पानी भर गया है.

जैसे ही उसका लंड मेरे गुलाबी होंठों से बाहर हुआ, मेरी लार और उसके लंड के माल का मिश्रण मेरे बोबों से बहता हुआ मेरी चूत तक पहुंच गया था. कुछ देर में मौसी जब सामान्य हुई तो मैंने फिर से लंड का दबाव चूत में बनाया और आहिस्ता से पूरा लंड मौसी की चूत में उतार दिया. मां बोली- अब क्या करोगे?वो बोले- एक बार फिर से तुम्हारी गांड मार लेता हूं.

मैंने उसे उसके घर के पास छोड़ा और फिर वापस अपने घर आ गया।मेरे लंड मे अभी भी हल्का दर्द हो रहा था। मैंने घर आकर खाना खाया और सो गया. अभी भी मेरे हाथ में टमाटर की थाली थी, लेकिन उसके हाथ जो आटे से भरे हुए थे, वो मेरी गरदन पर आ गए. फिर हम दोनों में काफ़ी बातचीत होने लगी और हमारी दोस्ती भी पक्की हो गयी.

उसके बाद उन्होंने उठ कर मेरे लंड को मुँह में लेकर चूसा और झाड़ दिया.

फिर मैंने सुनयना भाभी को अपनी ओर घुमाया और उन्हें अपनी बांहों में भरकर गर्दन पर किस करने लगा. हम दोनों के बीच ऐसा टाइम फिर कभी लौट के नहीं आएगा ज़िन्दगी में!” वो बोली और मेरी सलवार के ऊपर से ही मेरी योनि सहलाने लगी.

पारिज़ा की बातें सुनकर मैंने अपनी स्पीड को बढ़ा दिया और जोरों से पारिज़ा की गांड पेलने लगा. हम दोनों लगातार एक दूसरे को किस करते हुए दोनों के जिस्म से खेल रहे थे. उसकी चूचियों को मैं अपने मुँह में बारी बारी से डाल कर चूसने लगा था, काटने लगा था.

वो मेरे होंठों को चूसता रहा और मेरी आँखों में दर्द के मारे पानी आ गया. मैंने जल्दी से अपने सारे कपड़े ठीक से एडजस्ट कर लिए थे और मैं घुटनों में मुंह छिपा कर रोने लगी थी. मुकेश सर का लंड बहुत मोटा था, जिसे मुँह में लेना मुझे अच्छा लग रहा था.

हिंदी फिल्में बीएफ वीडियो ये दोनों ही सभ्य लेकिन रूढ़िवादी परिवार से थे इसलिए मनोज और पूजा ने कभी एक दूसरे से बात तक नहीं की थी. जब मैंने मैडम को पैसे दिए, तब मैडम ने मुझे जोर से अपने गले लगा लिया था और मेरे गाल पर 3-4 किस भी जोर जोर से कर दिए थे.

भाई बहन की सेक्सी चुदाई वीडियो

इस कॉलेज गर्ल सेक्स स्टोरी पर आपकी प्रतिक्रियाओं के लिए मुझे आपके मेल की प्रतीक्षा है. एक दो बार लंड को चुत में आगे पीछे करने से वो शांत हो गई और गांड उठा उठा कर लंड का मुकाबला करने लगी. मैं हंसते हुए बोली- तो सर इसमें हिचक कैसी … जब आप बोलोगे, मैं आ जाऊंगी.

पांच मिनट तक एक दूसरे को हम ऐसे ही चूसते-चूसते एक दूसरे के मुंह में झड़ गये. उसकी गाली से मेरा जोश दुगना हो गया और एक ही बार में ही मैंने जब लंड घुसेड़ा, तो लंड सरसराता हुआ सीधा चुत की आखिरी छोर पर जाकर लगा और उसकी चीख निकल गई. रंडी का फोटोफिर मैंने उसके दोनों चुचे पकड़े और उसकी पीठ पर अपना सीना रख कर कुत्ते की तरह उसे चोदने लगा.

उन्होंने मुझसे बोला- तुम बेडरूम में जाकर आराम करो … मैं अभी बर्तन साफ करके आती हूं.

मैं सीधा रागिनी के कमरे में गया और दरवाजा धीरे से धकेला तो दरवाजा खुल गया. रानी- आह … खा जाओ इसे … आंह पूरी खा जाओ … साली बहुत परेशान करती है … अअहह … ओह्ह … क्या मस्त चुत चाटते हो … और जोर से चाटो ओह्ह … अहह … उफ़्फ़ … ओह्ह.

अमित हर शनिवार को बंगाली भाईसाहब के साथ दारू पीता था और अक्सर वो सुबह आता था लौटकर।मैं भी समझ गया कि मामला कुछ गड़बड़ है तो मैंने उससे पूछ ही लिया क्या बात है, लगता है भाभी के साथ मजे करके आया है?पहले तो उसने बताने में आना कानी की. फिर पारिज़ा ने मेरे निक्कर की इलास्टिक में अपनी उंगलियां फंसाईं और उसे भी निकाल दिया. चुदते हुए वो फिर से गर्म हो गयी थी और अपनी गाडं उठा उठाकर पिलवा रही थी.

वो सिसकारने लगी- आह्ह सेक्सी … तुम तो बहुत मजा देते हो, मिकी तो खुश हो गयी होगी … आह्ह चाटो … और जोर से … उफ्फ … इसका पानी निकाल दो।फिर वो उठी और जोर से मेरे होंठों को किस करते हुए मेरी लोअर को नीचे निकालने की कोशिश करने लगी.

मगर मुझे तो मेरी बहन की चूत ने दीवाना बना दिया था, तो भला मुझे भूख कैसे लगती. मैंने मोनिषा को थैंक्स कहा, तो मोनिषा ने मुझसे कहा कि भैया और कुछ जरूरत हो, तो मुझे आवाज लगा देना. फिलहाल इस टीनएज रोमांस लव स्टोरी को रोक रही हूँ, आपको आगे की सेक्स कहानी का पूरा मजा देने का वादा है.

झोपड़पट्टी सेक्स वीडियो‘महक पता नहीं मैं कैसे कहूँ … लेकिन मैं आज अपने दिल की बात कहना चाहता हूँ, पता है तुम्हें, उस दिन जब हम दोनों का एक्सीडेंट हुआ था … तो तुम गुस्से में चली गयी थीं. अरुण ने बहुत ही प्यार से मेरी बहन की चूत पर लंड को फिराया और फिर मस्त तरीके से उसकी चूत में लंड सरका दिया.

भाई बहन की चुदाई व्हिडिओ

मैं- अभी नहीं जानू वरना फिर कौन संभालेगा मुझे … तुम तो मुझे गर्म करके छोड़ दोगे. मैं अपने आपको रोक ही ना सका और अपनी जुबान दीदी की चूत पर लगा कर चूत को चाटने लगा. चाची ने पलट कर मुझे देखा और मुस्कुराते हुए बोलीं- अच्छा … सुबह सुबह ही … तुमने मुझे रात भर पेला है न!तो मैं बोला- सरिता डार्लिंग, मैं सुबह बिस्तर छोड़ने से पहले एक बार चूत को पेल कर ही छोड़ता हूँ.

जैसे ही मैं उनके बच्चे को उनकी गोद से उठाने को हुआ, तो भाभी के एक बोबे को मेरा हाथ लग गया. जल्दी से डाल दे लंड को मेरी चूत के अन्दर … और मिटा दे इस चूत की गर्मी. बस केवल मूर्ति की तरह दीवार से टिकी हुई लंड का मजा लेते हुए कामुक आवाजें निकाल रही थीं.

मेरे हाथ में जो टमाटर की थाली थी, उसका थोड़ा सा पानी उसके सूट के ऊपर लग गया, लेकिन उसने मुझे संभाल लिया. ऊपर से उसकी चूत का गर्म गर्म रस मेरे लंड के आनंद को और ज्यादा बढ़ा रहा था. इसके बाद हम दोनों ने सबसे पहले उसी शहर के दूसरे छोर पर एक दो कमरे का घर ले लिया.

सुबह 9:00 बजे मैंने अपना ईमेल चेक किया, तो मुझे वहां पर एक मेल मिला. पिछले हफ्ते मेरी सास बाथरूम में स्लिप कर गई जिस कारण उसकी हड्डी टूट गई.

आजकल वो केस में ज्यादा रूचि नहीं ले रहे थे तो मैंने सोचा कि आज इसको भी खुश कर देती हूं.

फिर मुझे गले लगा कर बोली- देखा नींद की गोली का कमाल?मैंने पकड़ कर उसके चूचों को भींच दिया और बोला- हां देखा, गोली का भी और तुम्हारा भी।इस तरह से निशु को मैंने बहुत बार चोदा. सनी लियोन ब्लू पिक्चरमैंने अपना हाथ आगे बढ़ाकर उसको उठाने के लिए दिया, तो वो ग़ुस्से में मेरे हाथ की बजाए अपनी सहेली रीमा का सहारा लेते हुए उठ गयी. अमेरिकन लड़की का नंगा फोटोवे उत्तेजना में अपनी कमर उठाने लगीं और धीमी आवाज में कहने लगीं- बाबू मैं मर जाऊंगी … रुक जाओ. [emailprotected]देसी इरोटिक स्टोरी का अगला भाग:कमसिन कुंवारी लड़की की गांड- 2.

सुपारे की गर्मी से चाची की मस्त आह निकल गई और उसी समय मैंने लंड को हल्का सा धक्का दे दिया.

मुकेश सर- कुछ नहीं टीना … आज आप बहुत सुंदर लग रही हो और ध्यान आकर्षित कराने वाली हो. एक ही धक्के में उन्होंने पूरा लंड मां की चूत में पेल दिया और उनको चोदना शुरू कर दिया. उन्होंने मुझे उनके मम्मे घूरते हुए देख लिया और हंस कर मुझसे बोलीं- क्या हुआ सोनू … ऐसे क्या देख रहा है?उनकी आवाज से मैं एकदम सकपका गया- कुछ नहीं दीदी ऐसे ही.

अनवरी चाची के मुँह से हल्की सी सिसकारी निकल गई- उईल्ला … मर गई!और उसी दरमियान मेरा आधा लंड चुत में अन्दर घुसता चला गया था. वो मेरे लंड को पूरा अपने गले के अन्दर तक ले जा रही थी और फिर बाहर निकाल रही थी. फिलहाल इस गर्लफ्रेंड की चुदाई हिन्दी में कहानी में अभी के लिए इतना ही। अपनी प्रतिक्रिया देना न भूलें.

सेक्सी ब्लू फिल्म दिखाइए

फिर बाथरूम के दरवाज़े पर जाकर कहने लगा- चाची जल्दी बाहर आइए, मुझे टायलेट (पेशाब) करने जाना है. चूत को सहलाने से मेरा पूरा हाथ उनकी चूत के पानी से गीला हो चुका था. लेकिन तुमने जो मजा दिया है ऐसा मजा पहले कभी नहीं आया।उसकी असलियत उसने खुद ही मुझे बता दी थी और मुझे अब और ज्यादा जोश आ गया.

सुषमा मैडम कहने लगीं कि तुम्हारी गाड़ी काफी अच्छी है … मुझे भी ये गाड़ी काफी पसंद है.

मैंने पूछा- मुझसे क्या खता हो गई?वो बोली- तुमने मेरे वो क्यों छुए?मैंने पूछा- क्या?वो बोली- ज्यादा बनो मत … तुम सब समझते हो.

मुझसे बोले- एक बार तो हमारे साथ कर ही चुकी हो, इनके साथ भी कर लो तो कुछ हर्ज नहीं होगा. ये सब करने के बाद मुझे लगा कि मैं ये क्या कर रही हूं? अपना बदन किन्हीं अन्जानों से नुचवाने जा रही हूं और तैयार ऐसे हो रही हूं जैसे अपने पति या प्रेमी से मिलने जा रही हूं!मैंने नाश्ता किया और अच्छी सी महंगी साड़ी पहन ली. इंडिया पाकिस्तान इमेजमैं अपना एक हाथ धीरे धीरे सुनयना भाभी के ब्लाउज के ऊपर ले गया और उनके मोटे और नरम बूब्स को दबाने लगा.

उस समय सुरेखा के एग्जाम चल रहे थे, इस कारण सुरेखा शादी में नहीं जा सकी थी. फिर एक दिन रात को खाना खाने के बाद में सोफे पर बेठा था और पारिज़ा किचन में थी. उसने मुझसे कहा कि मैं उसके कपड़े वगैरह पैक करवाकर सीधा ऑफिस में पहुंचा दूं.

वो अपने हाथों से मेरे चेहरे को अपनी चूत में घुसा रही थी और मस्त मस्त आवाज़ निकाल रही थी. सेक्सी चाची ने कहा- इससे क्या करोगे?मैंने कहा- बस आप अब सीधी लेटी रहिए.

मैंने उसे आंख मारी, तो उसने मेरा कच्छा भी उतार दिया और मेरे लंड को हाथ में लेकर हिलाने लगी.

अब मेरे बदन पर मेरी चूचियों के ऊपर फंसी हुई ब्रा के अलावा कुछ नहीं था. दोस्तो, आप सभी को मेरा सादर अभिवादन। कहानी शुरू करने से पहले मैं आप सबको अपना परिचय देना चाहता हूँ क्योंकि यहाँ बहुत से पाठक पाठिका नए भी होंगे. मैंने कहा- जी बिल्कुल … थोड़ा इंतजार करें, जल्दी ही आपकी सेवा करूंगा.

மலையாள செக்ஸ் மூவி मैं लगातार लंड को अन्दर बाहर करते हुए उनके मम्मों को भी मसल रहा था. उसे इस तरह से देख कर मेरा लंड तो एकदम से तन गया और मेरी जींस में उभार बन गया.

लौड़े का पानी निकलने के बाद सीमा जी ऐसे ही बिस्तर पर उल्टी पड़ गईं और मैं भी उनके ऊपर लेट गया. तभी उसने मेरा हाथ पकड़ लिया और मेरा लंड पकड़ कर अपनी चूत में डालने लगी. मुझे बहुत गन्दा लगा और मैंने भी गाली देते हुए कहा- साले, मुझे मालूम होता कि तू इतना सब करेगा, तो मैं आती ही नहीं.

ન્યુ સેક્સ

अंजू मुझे आगे नहीं बढ़ने दे रही थी और मुझसे रहा नहीं जा रहा था। मैं चोदा चुदाई करना चाहता था. पहले मैंने उनके माथे को चूमा, फिर आंखों को, फिर गालों को, होंठ को … और एक हाथ चूची पर रख कर मसलने लगा. सुषमा ने कहा- चलो, मैं तुमको अपना घर दिखाती हूँ … और तुम मेरे साथ चाय भी पीकर जाना.

उसकी ये अदा मुझे इतनी भा गयी कि मैंने भी उसको उतनी ही शिद्दत से एक प्यार भरा चुम्बन उसकी गर्दन पर किया और उसको फोन उठाने के लिए कहा. दरअसल रागिनी की बातों से पता चल रहा था कि वो पति के साथ चुदाई में जरा भी मजा नहीं ले रही है.

अब आगे की माँ बेटे की चोदाई कहानी:कुछ पल तक मैं उसकी चूचियों को अपने सीने से सटाये रहा और मज़ा लेता रहा.

ये सुनते ही मैं खड़ा हो गया और महक को कसकर अपनी बांहों में जकड़ लिया. अब हम एक दूसरे के काफ़ी करीब आ गए थे और चुदाई के मौके ढूंढते रहते थे. वो मेरे करीब आई तो पायल को अपने पास बैठाकर उससे पूछा- तुम बहुत उदास रहती हो, क्या बात है … मुझे बताओ?पायल मेरी बात को टालने लगी और कहने लगी- कुछ नहीं है ससुर जी.

मनीषा के बगल में लेटकर मैंने उसकी टीशर्ट उतार दी, उसने ब्रा नहीं पहनी थीं. मैंने कहा- ऐसा क्या हुआ कि मुझे इतनी रात को इस बात के लिए फोन किया?अब तुली के सब्र का बांध टूट गया और वो एकदम रोने लगी. दोस्तो, क्या बताऊं आपको! जैसे ही मेरा लंड उसकी चूत में अंदर गया तो मुझे ऐसा लगा कि ये कोई जन्नत है.

तब मैंने पूछा- मजा आया?वो बोली- हां बहुत मजा आया भैया … आई लव यू … तुम मस्त हो.

हिंदी फिल्में बीएफ वीडियो: मैंने एक मुस्कुराने वाली स्माइली के साथ चुम्बन वाली इमोजी भी भेज दी. जैसे ही मैं स्टेशन पहुंचा, तो मैंने फोन किया और बोला कि मैं स्टेशन पर आ गया हूं.

फिर उसने मेरी कमर में हाथ डाल दिया और सहलाते हुए बोला- आप परेशान मत होइये. मेरे दोस्तों ने मुझसे कहा- आज तेरे पास मौका है … इसे हाथ से जाने मत देना. अपने लण्ड पर कोल्ड क्रीम चुपड़ कर मैंने अपने लण्ड का सुपारा मनीषा की चूत के मुखद्वार पर रख दिया.

फिर वो मेरे पास आ के लेट गए और मुझे चूमते हुए मेरे स्तन फिर से दबाने लगे और बोले- संध्या, मेरी जान आज तू इतनी चुप चुप क्यों है? अपनी रूचि की शादी हो गयी अब तुझे बेटी की विदाई का गम सता रहा है न? अरे तू ही तो कहती रहती थी कि अब रूचि सयानी हो गयी है इसके विवाह की सोचो … कहती थी कि नहीं? अरे बिटिया तो होती ही पराया धन है.

मैंने बिस्तर उठा कर छत पर बिछा लिया और मोनिषा को भी छत पर ही सोने को कहा. इंडियन वाइफ सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि मेरी बीवी निहायती खूबसूरत और सेक्सी है. जहां से फस-फस की आवाज निकल रही थी।करीब 15-20 मिनट के बाद मेरे लंड ने अंदर पिचकारी छोड़नी शुरू कर दी.