डब्ल्यू एक्स एक्स एक्स बीएफ

छवि स्रोत,इडियन सटा

तस्वीर का शीर्षक ,

तनुश्री के सेक्सी वीडियो: डब्ल्यू एक्स एक्स एक्स बीएफ, फिर भी मैं नहीं रुका, कुछ देर में उसे भी मजा आने लगा और कस-कस के गांड पीछे करते हुए मदमस्त कर देनी वाली आवाजें निकालने लगी.

रवीना टंडन के पति का नाम

हमारे बीच सच कहूँ तो सिर्फ चुदाई वाली प्यास थी और चुदाई की चाहत थी, जिससे हम एक दूसरे से सिर्फ आँखों में देख कर महसूस कर लेते थे. बाजू के डिजाइन दिखाओजैसे कि हां हां और जोर से चोदो… मेरी चुत का पूरा भोसड़ा बना दो ताकि किसी को भी अपना लंड पेलने में कोई दिक्कत ना हो.

फिर उसने व्हाट्सएप पर एक फोटो भेजा जिसमें उसने ब्लेड से अपना हाथ काट रखा था. युनिट कन्वेटांगों के ऊपरी जोड़ पर कैपरी पर स्पष्ट बना एक V का आकार जिस में V की ऊपरी सतह कुछ उभरी-उभरी सी थी.

जैसे आप सब जानते हैं कि लड़की के बदन के सबसे कामुक हिस्से कान और गर्दन होती हैं तो मैं उसकी गर्दन और कान को चूमने लगा और हल्का हल्का काटने लगा.डब्ल्यू एक्स एक्स एक्स बीएफ: मुझे मालूम है और आपको भी बता देना चाहता हूँ कि गुजरात की लड़कियां इतनी जल्दी ऐसे ही चोदने नहीं देती हैं इसलिए वो भी अभी चुत देने के नहीं मान रही थी.

मेरे को पता था कि घर पर कोई है नहीं और 5:00 बजे तक कोई आने वाला भी नहीं है.मैं दीदी के बड़े-बड़े चूचे दबाने लगा और दीदी कपड़ों के ऊपर से मेरा लंड मसलने लगीं.

आदिवासी सेक्सी विडिओ - डब्ल्यू एक्स एक्स एक्स बीएफ

मैं उसको जगह जगह से चूस रहा था, कभी गाल, कभी मम्मे तो कभी उसकी गर्दन.फिर भी वो अपने आप बचाव करते हुए बोली- क्या कर रही थी मैं?तो मैंने सीधा बोल दिया- तुम चुदवा रही थीं और क्या.

मैं हंसते हुए बोली- मोहन जी, मैं तो कबसे आपकी रखैल बनने के लिए तड़प रही हूँ. डब्ल्यू एक्स एक्स एक्स बीएफ मैं बिस्तर पर लेट कर जल्दी से सोने का ड्रामा करने लगा ताकि चाची मुझे और बातें न सुनाएं.

वो अगले ही पल मेरे हिनहिनाते हुए लंड को अपने हाथ से सहलाते हुए उससे खेलने लगी.

डब्ल्यू एक्स एक्स एक्स बीएफ?

वो बोला- हां बोलेगा?मैं फिर कुछ नहीं बोला तो वो बोला- कामिनी फ़ोन दो जरा मेरा!मैंने कहा- हां, मैं छोड़ दूंगा. फिर उसने मेरे गाऊन को फाड़ दिया और मैंने उसकी नाइटी को फाड़ कर हटा दिया. भाबी की मैक्सी काफ़ी झीनी थी, ऊपर से भाबी ने ब्रा भी नहीं पहनी हुई थी, जिस कारण उनके बड़े बड़े चुचे साफ साफ दिख रहे थे.

उसकी गति से लग रहा था कि वो फिर से झड़ने को बेक़रार था!और सचमुच… उसके लंड ने कुछ देर में ही भल भल करके गर्म गाढ़ा वीर्य मेरी भार्या के मुंह, चेहरे पर उगलना शुरू कर दिया जिसे मेरी कर्तव्यनिष्ठ पत्नी ने सधन्यवाद पी लिया. तभी अचानक उनके पापा की आवाज आयी- इतनी सुबह में शावर चला कर क्या कर रही हो… बाहर आ जाओ मुझे पेशाब लगी है. पूरी चुदाई कहानी का मजा लीजिये मेरी सेक्सी आवाज में सुन कर मेरी जुबानी!.

इस बात को दो दिन बीत गए, मुझे आंटी जी नहीं दिखीं, मैं बेचैन हो गया. मैंने बहुत सोचा कि अब मैं क्या करूँ? उसका इरादा क्या है, ये मैं समझ चुकी थी. मैं बस चीखने वाला ही था कि तभी उसने मेरे मुँह को अपने हाथों से दबा दिया और मेरी आवाज वहीं दब कर रह गई.

मेरी सेक्सी कहानी के पिछले भागकाजल की चुदाई: दूध वाला राजकुमार-6में आपने पढ़ा कि कैसे मैं काजल को सुबह सुबह रत्नेश भैया की दूकान पर ले गया और वहां भैया ने कया किया. दीदी टांगें खोलकर टेबल पर बैठ गईं और मैं कंडोम उतार कर दीदी की चूत में लंड पेलने लगा.

इस प्रक्रिया में नताशा के दोनों पैर बिल्कुल खुल चुके थे और आर्थर का हब्शी लंड उसकी नन्ही सी गांड में घुसा होने के कारण चौड़े होकर बेड से नीचे कारपेट पर लटक रहे थे, जिनके बीच में खड़े होकर एरिक ने चिड़िया की चोंच की तरह खुल चुकी उसकी चूत में अपना लंड ठेल दिया और लहरा-लहरा कर धक्के मारता हुआ चुदाई करने में व्यस्त हो गया.

रात को दस बजे बिंदु माँ मेरे कमरे मे आकर बोलीं- अपने कपड़े उतारो और चूसो मेरी चूत को.

वो पूरे दिन में सिर्फ एक बार मेरे रूम के सामने सप्लाई पानी के आने पर ही आती थीं. लेकिन जिस परिवार का सदस्य भरी जवानी में गुजर जाए तो वो पैसों से लौट कर नहीं आता. उसने मुझसे पूछा- क्या मुझे किसी सेक्स उत्तेजना वाली कोई गोली, स्प्रे या कंडोम की जरूरत तो नहीं?मैंने मना कर दिया, उसने मुझे अपना कार्ड दिया और कहा- फ्री टाईम में बात करना.

फ़ौरन मुस्कुराते हुए बोली- अच्छा जी तो आपकी गर्ल फ्रेंड्स भी हैं… जान सकती हूँ कितनी हैं, एक या दो?मैं- पंद्रह… सोलहवीं पर काम चल रहा है… आशा है कि सोलह हो जाएँगी. क़यामत तो नहीं, पर गोरे बदन पे लाल रंग और ऊपर से तंग फिटिंग का होना, मेरे शरीर का एक एक अंग अलग से दिख रहा था. और सुन जाने से पहले यह सुनती जा कि कल जैसे ही मेरा फोन आए, बिना कुछ सोचे बिना चड्डी ब्रा पहने आ जाना.

उसकी जीभ घुसी तो मेरे मुँह में थी लेकिन मुझे नीचे चुत में बहुत मजा आ रहा था.

अब भैया ने नीचे को होकर पहली बार मेरी क्लीन चूत पर किस किया और अपनी जीभ से मुझे चोदने लगे. उसने भी मेरा लंड मुँह में ले लिया और चूसने लगी, पर थोड़ी देर में ही उसने लंड बाहर निकाल दिया और बोली- मुझे लंड चूसना अच्छा नहीं लग रहा है. एजेंसी पहले आपको कहेगी कि हम मेम्बरशिप के पैसे नहीं लेते, हम बस कमीशन पे काम करते हैं.

मेरी उम्र के हिसाब से जो भी काम हो सकता है, मैं कर लूँगी, कुछ भी काम हो. ’फिर जैसे मैंने उसकी चूत मैं हल्की सी उंगली की तो वो बिल्कुल सिहर उठी और मैं उसकी चूत को चाटने लगा. ये भी ले जाके दे देना साथ में…मॉम हंसने लगीं और दरवाज़ा खोलकर बाहर चली गईं.

कुछ ही देर में उसको मजा आने लगा और उसकी गांड ने मेरे लंड को जज्ब कर लिया था.

चुदाई करते करते मैंने भी पानी छोड़ दिया और उसके बाद उसके ऊपर ही लेट गया. कहते हैं ना किसी भी औरत या लड़की को पटाने के लिए उसकी सुंदरता की तारीफ कर दो तो वह भी पागल हो जाती है.

डब्ल्यू एक्स एक्स एक्स बीएफ मैंने सोचा कि जब भाईजान खुद ही यह सब चाहते हैं, तो मुझे भी खुल कर मज़ा लेना चाहिए. मैं अपना माल कहां निकालूँ?पायल भाभी बोलीं- अपना गर्म माल मेरी प्यारी और प्यासी चूत में ही डाल दो!मैं और ज्यादा तेजी से शॉट मारने लगा और भाभी की चूत में पूरा माल डाल कर पायल के ऊपर ही लेट कर उनके बोबे चूसने लगा.

डब्ल्यू एक्स एक्स एक्स बीएफ हालांकि इससे हमारी आग बहुत बढ़ जाती थी लेकिन इससे अधिक और कुछ हो भी नहीं सकता था. फिर मैं उसकी लेफ्ट चुची पर आया, वहां से मेंगो पीस उठा कर उसका रस मुँह से मम्मों पे डाला.

मैं फिर वहीं रुक गया और उसकी ओर ध्यान देते हुए उससे कहा- क्या भाभी.

रामलाल सेक्सी

वो बोला- सर आगे से आपको किसी भी शिकायत का कभी कोई मौका नहीं मिलेगा. टांगों के ऊपरी जोड़ पर कैपरी पर स्पष्ट बना एक V का आकार जिस में V की ऊपरी सतह कुछ उभरी-उभरी सी थी. उनके जाने के बाद अकेले बोर होने से बचने के लिए फ़ेसबुक पर आई तो आपसे दोस्ती हो गयी.

अब हम दोनों एक दूसरे को कम्बल के अन्दर ही किस करने लगे और फिर एक और दौर शुरु हुआ, हमारी चुदाई का… लंड चूसना वगैरा वगैरा!अभी के लिए इतना ही… अगली कहानी में बताऊंगा कि कैसे मैंने अर्पिता के जी स्पॉट को खोजा और अर्पिता को एक और नया अनुभव करवाया और खुद भी पहली बार जी स्पॉट को महसूस किया. तब मैंने सोच लिया कि इसके 5″ के लंड ने उसे पूरा मजा नहीं दिया होगा, साला जल्दी जल्दी के चक्कर में जल्दी से फुस्स भी हो गया. उन्होंने मुझको बताया कि चूत हम लोगों की वो ख़ान है, जिससे पूरे मज़े मिलते हैं और लड़के इसके दीवाने बनने घूमते हैं.

वो चिल्लाना चाहती थीं, पर उनके मुँह में बॉल घुसा होने की वजह से चिल्ला नहीं पाईं.

”नहीं भाईजान आप इसलिए खुशकिस्मत नहीं हैं कि आपको इतनी खूबसूरत बहन मिली. पहले कामिनी की पीठ पर काफी देर मालिश की, फिर हाथ फेरते हुए उसने कामिनी को पलटा दिया और उसकी बड़ी बड़ी गोरी गोरी चूचियों को गोलाई में मसाज करने लगा और मसलने लगा. जी स्पॉट अपने आप में सेक्स का एक अनदेखा पहलू है, जो कई मर्दों को नहीं पता, यहाँ तक कि बहुत सारी लड़कियों को भी अपना जी स्पॉट नहीं मिलता.

इतना सुनते ही वह भी हवस से भर गया और चलते चलते ही उसने अपना एक हाथ मेरे कंधे पर होते हुए मेरी चुची पर रखा और सेक्सी लुक देते हुए झटके से मेरी एक चुची दबा दी, बोला- आह…! चल चुदक्कड़… तेरा भोसड़ा फाड़ता हूँ!कहते हुए उसने अपने दाँतों को आपस में भींच लिया. पर बदले में मुझे भी उसे ओरल की परमिशन देनी पड़ीजब आप प्यार में होते हो आप कुछ भी गलत या सही का अंदाजा नहीं लगा सकते. भाभी खुद हट कर मेरे लंड को हाथ से हिलाने लगीं, पर पानी जब नहीं निकला तो भाभी ने मेरे लंड को पानी से धोकर चूसने लगीं.

)वह ठेट मलवीय कड़क भाषा में बोलता हुआ बहुत सेक्सी लग रहा था लेकिन आगे की बातचीत मैं आपको हिंदी में ही बताने जा रहा हूँ. डॉक्टर के जाने के बाद वो हमारी तरफ मुँह करके बोला- होटल में क्या जाना है.

गांड शब्द सुन कर के ही मेरे दिमाग में अब नशा चढ़ने लगा- नहीं, मैंने बाहर नहीं लिया था. भाभी- हां रे पहली बार तो काले लंड से चुदने का मौका मिला… पूरे नीग्रो जैसा सामान था साले का… लंबा और काफी बड़ा… जब वो अन्दर डाल रहा था तो पूरा बदन करंट मारने लगा था. खींच साले ताकि उस पर तेरे हाथों के निशान पड़ जाएं, इसको जो पैसे देने है, वो निशान ही हमारी रसीद होगी.

अब उसने मेरे हाथों की उंगलियों में अपनी उंगली फंसा लीं और बिना हाथ लगाए लंड को अपनी चूत में घुसाने लगी.

अन्नू बोली- हमारे सेवक की सेवा से मजा आ रहा है या नहीं?एकता बोली- यार, मेरे पास ऐसा सेवक हो तो मैं दिन रात बेडरूम में ही रहूँ. भाभी भागने लगी और मैं भी उनके पीछे उनकी गांड देखते देखते भागने लगा. वह मुझे अपने हाथों से खाना खिलाए जा रही थीं और फिर मेरे मुँह पर लगा खाना चाटे जा रही थीं.

फिर विवेक ने कामिनी को सीधा कर दिया और दोनों टांगें कंधों पर रख कर दोनों हाथों से कामिनी की बड़ी बड़ी गोरी गोरी चूचियों को मसलने लगा और फुल स्पीड में धक्का देने लगा. मेरे पूछने पर भाबी ने बताया कि चाची आजकल पास में अपने भांजे की बहू से मिलने जाती हैं.

फिर अपनी पैंट का हुक खोल कर लंड बाहर निकाल लिया और लंड को सहलाने लगे. मैंने प्रिया को कमर में हाथ डाल कर थोड़ा ऊपर उठाया और प्रिया के हाथ ऊपर कर के आराम से उस की टी-शर्ट निकाल दी. मैंने उसकी दोनों टांगों को अपने हाथों में पकड़ कर अपने कंधे पर रख लिया.

बल्यू सेक्सी फिल्म

हम दोनों ही सीधे शावर के नीचे चल दिए और गर्म भाम्प वाला शावर बाथ लेकर ही बाहर आए.

मैंने सोच लिया था कि अब मैं मौसी की मदद करूंगा और जब मौसी खुद ही कह रही तो इसमें कोई पापा भी नहीं!इस तरह से मैंने अपने दिल को झूठी सच्ची दिलासा दिलाई और मौसी की चुदाई करने की सोच ली. फिर उन्होंने अपने धक्कों की रफ़्तार तेज कर दी और अपना पानी मेरी चूत में छोड़ दिया. अब सब सोने के मूड में थे तो बस में बहुत हल्की ब्लू लाईट ही जल रही थी.

भाभी ने मुझे चित्त लिटा दिया और खुद अपनी गांड को मेरे लंड की नोक पर टिकाते हुए बैठने लगीं. उससे सहा नहीं जा रहा था और वो बस यही बोले जा रही थी कि प्लीज़ भैया अब देर मत करो, मेरी प्यास जल्दी से शांत कर दो. এডাল ফিল্মउधर पूनम ने अपनी चुत को साफ किया और मेरे ऊपर झुक कर अपनी चुचियां चुसवाने लगी.

मैंने दीदी से पूछा- कौन सा फ्लेवर पसंद है तुम्हें?दीदी ने कहा- जो तुम्हें पसंद हो ले लेना. मैं कभी उसकी चूची को चूसता तो कभी उसके गोल चूतड़ों को अपने हाथों से भींचता.

उसने मेरे मुँह में थूक गिरा दिया और अपनी जुबान घुसेड़ कर अंदर खलबली मचाने लगा. 30 बज चुके थे। मां को सामान देकर मैं ऊपर कपड़े बदलने के लिए चला गया। नीचे रसोई में नाश्ते की तैयारी होने लगी और लगभग 10. इस पर वो बोला- पास आओ जरा मैं इस स्प्रिंग को नीच कर दूं ताकि मुझे अपने किंग की क्वीन नजर आती रहे.

क्या एजेंसी इस बात की पुष्टिकरण करती हैं कि ये बंदा किसी औरत को संतुष्ट करने में कुशल है या नहीं?नहीं, एजेंसी वाले किसी भी पुरूष को स्वीकार कर लेंगे, भले उसने अपने जीवन में महिला को छुआ तक नहीं होगा. मैंने उसकी पेंट की चैन खोली और चड्डी नीचे सरका कर उसके लंड को अपने गाल से रगड़ने लगा. मैंने उसकी नंगी छाती पर एक बार हाथ घुमाया और उसने अपना शर्ट पहन लिया.

मैंने थोड़ी आँख खोल कर देखा कि भाबी नाश्ते की प्लेट रख कर मेरे फूले हुए लंड को निहार रही थीं, जो कि पहले से ही काफ़ी देर से खड़ा था.

भाबी को मैंने हल्का सा धक्का दिया तो वे समझ गईं और खुद ही बिस्तर पर चित लेट गईं. उन्होंने कुछ बोलने के लिए अपने लब खोले तो मैंने अपनी उंगली उनके होठों पर रख दी.

हालांकि इससे हमारी आग बहुत बढ़ जाती थी लेकिन इससे अधिक और कुछ हो भी नहीं सकता था. यह मौका पाकर मैंने जो अलका से संवाद का सिलसिला शुरू किया था उसको सिरा फिर से पकड़ लिया. भाईजान ने मेरी चूची को मेरी करवट के नीचे से निकालने की कोशिश की, पर निकाल ना सके.

मैंने कुछ दिन तक दीदी को नहीं घूरा और कुछ दिनों के बाद वो मुझे गुस्से से देखने लगी थीं. मैंने मौसी से मौसा जी के बारे में पूछा तो मौसी बोली- तुम्हारे मौसा भी एक अन्य निमंत्रण में गए हुए हैं. मोहन ने मुँह से लंड निकाल कर मेरे गाल से रगड़ कर साफ किया और पेंट में डाल कर चैन बंद कर ली.

डब्ल्यू एक्स एक्स एक्स बीएफ अब तो रात में छिप छिपा कर हम दोनों चुदाई का खुल कर मजा लेने लगे थे. एक दिन माँ और उनकी ऑफिस के काम से फ्रेंड्स बाहर जा रही थीं तो राधिका आंटी ने अपनी बेटी काम्या को मेरे घर छोड़ने का सोचा.

हिंदी सेक्सी विडिओ कॉम

रोशनी तुम अब पिंकी के बाएं चुचे पर बैठो, नहीं तो पिंकी की सिर्फ एक तरफ की ही चूची बड़ी हो जाएगी. जब पापा उसके जाल में ना फँसे तो एक दिन उसने पापा को अपने घर पर यह कह कर बुलाया कि उसके बेटे का जन्मदिन है, आपको ज़रूर आना होगा. मैंने कहा- ऐसे कैसे हो सकता है?वो बोली- झिल्ली तो साइकिल चलाते हुए भी टूट सकती है.

समय के साथ साथ हमारे बीच आकर्षण बढ़ता गया और एक दिन हम दोनों ने मिल कर आपस में एक दूसरे को आई लव यू बोल दिया. दो घंटे बाद वो जाने लगीं, तो उन्होंने मुझसे कहा- मुझे आपका या आपके ऑफिस का नंबर चाहिए. भांजी के लिए शायरी इन हिंदीदोस्तो और सहेलियो भाभियो… बताओ न… कैसी लगी मेरी देसी सेक्स स्टोरी… जल्दी से मुझे मेल करके बताओ[emailprotected].

पूरी रात भर उसने मुझे 4 बार चोदा और सुबह 7 बजे बोला- जाओ घर पर जाओ, चलने की तैयारी करो… रात को चलेंगे.

बर्दाश्त तो मेरे से भी नहीं हो रहा था, तो मैंने उसकी दोनों टांगें फैलाईं और खुद उसके बीच में आकर लंड को चुत पर रगड़ने लगा. मैंने बहुत दिन तुम्हारा इन्तजार किया है अब तो तेरे मुँह से सब कुछ सुन कर तसल्ली होगी.

मैंने अपना लंड पेंट से बाहर निकाला और अपनी मुठ मारने लगा, मेरी बीवी ऋतु अपने घुटने के बल खड़ी हो गई. मैं चुपचाप बैठ गयासेजल भाभी ने एक लैपटॉप में एक वीडियो चालू करके मेरे सामने रख दिया. यह नौकरी तो मैं आपको ही दे दूँगी और अगर हो सका तो आपकी खुशियां भी, जो पति के साथ ही चली गई हैं.

कुछ पांच मिनट की चुदाई में के बीच में ही भाबी ने अपना सारा पानी मेरे लंड पर छोड़ दिया.

मैंने भाभी की जाँघों पर तेल लगाने के बाद उनकी चूत में उंगली डाल दी, तो पायल भाभी और जोर जोर से सिसकारियां लेने लगीं. मैंने कहा- वो कैसे?वो बोली- क्या आप भी जीजू उंगली तो इतनी छोटी होती है तो वो तो आसानी से ही जाएगी न. कुछ ही झटकों के बाद उसने अपनी स्पीड तेज कर दी और मेरे मुँह से ‘आहाहा ओाहहह.

एचडी सेक्सी एचडी सेक्सीउसके कूल्हे मेरे नुनू महाराज से बात करने की कोशिश कर रहे थे।मेरा मन तो था कि आज सब कुछ हो जाए लेकिन मैंने थोड़ा कंट्रोल किया और इसे यादगार बनाने के लिए तैयारी के साथ करने का सोचा।मैंने सोनू से कहा- अगर मेरा कभी मन करेगा तो क्या तुम आओगी?उसने कहा- जब भी आप कहोगे, मैं आ जाऊंगी।मैंने कहा- ओके!और ज़ोर से उसके होंठों को किस करने लगा, साथ में मैंने उसके बूब्स भी ज़ोर से दबा दिए।वो सिसक कर रह गई. मैं अपने लंड को हाथ में लेकर हिलाने लगा और दो पल बाद ही मेरा माल निकलने लगा.

సెక్స్ వీడియో లైవ్

मैं शॉर्ट्स और टीशर्ट लेकर टॉयलेट गया, कपड़े बदले, पेशाब किया और वापस आ कर नमकीन और बिस्कुट निकाला और खाने लगा. मेरा सारा पानी उसकी चूत को लबालब भर बैठा और मैं कम से कम दस मिनट तक उसके ऊपर ऐसे ही लेटा रहा ताकि उसके गर्भ धारण की सम्भावानाएं बढ़ जाएँ!दोस्तो, उस दिन मैंने उसे एक बार और चोदा और फिर उसकी चूत को भर दिया. और यही मेरी क्वालिटी है कि मैं नाम भले ही भूल जाऊं पर चेहरा कभी नहीं भूलता.

दूसरे दो पीस दोनों मम्मों पर रखे और एक पीस उसकी चुत के दाने पर रखा. फिर मैंने अपनी बहन की तरफ देखा तो वो नीचे मुँह करके खड़ी थी और रो रही थी. अलका रानी को लिपटा लिया, उसने भी टाँगें कस के मेरी टांगों में लपेट लीं.

तो मेरी चुदाई कहानी में सुने कि कैसे मेरे बॉस ने मुझे प्रोमोशन देने के बदले और पैसे देने के बदले मेरे साथ अन्तरंग सेक्स किया था. तुम चाहो तो ऐसे ही और 100-200 धक्के लगा सकते हो… और मुझे वो भी कम पड़ेंगे! खैर जैसी तुम्हारी इच्छा… अब मुझे एरिक का लंड चूसने में डिस्टर्ब मत करो. वो अलमारी से एक जोड़ी सैंडल लेकर आया जो बहुत ऊंची हील वाले थे और नीचे उनका डायामीटर एक इंच का ही था.

उसने रगड़ रगड़ करअन्दर तक मेरी चुत में उंगलीडाल कर धोया और फिर पता नहीं कौन सा सेंट लगा दिया, जिसकी खुश्बू से सारा रूम महक गया. मैं थोड़ा और आगे को हुआ और उसको उसकी रज़ाई में जाकर पीछे से हग करते हुए धीरे से पूछा- अब तक सोई नहीं?उसने भी मेरी तरफ़ मुँह कर लिया.

तभी मेरा हाथ मेरे लंड पे पहुंचा, मैं उसे सहलाने लगा, मुझे और मजा आने लगा, तब मैंने पैंट अन्दर हाथ डाला, फिर मुझे और मजा आने लगा.

उसे पलंग पर लिटा कर मैं उसके नंगे शरीर के ऊपर चढ़ गया और उसके होंठ, गाल, गर्दन पर लगातार किस करने लगा और पूजा की अविरत सिसकारी निकल रही थी, वो भी मुझे हरेक जगह प्यार कर रही थी, मेरे लंड को उसने अपने हाथ में पकड़ रखा था जैसे कोई बच्चा डर रहा हो कि उसका खिलौना कोई चुरा ना ले. गर्ल का सेक्स वीडियोवो कड़क आवाज में बोला- मादरचोद, लंड हिला रहा है और सॉरी सॉरी कह रहा है. छोटी लड़की की सेक्सी वीडियो दिखाएंऔर यही मेरी क्वालिटी है कि मैं नाम भले ही भूल जाऊं पर चेहरा कभी नहीं भूलता. मैंने वापस आकर उनके मम्मों को ब्रा के ऊपर से अपने मुँह में भर लिया और एक एक करके दोनों मम्मों को चूसने लगा.

फिर भाभी ने मेरे सिर को अपने हाथ से पकड़ कर वापिस अपनी जांघों के बीच में खींच लिया और नीचे से अपनी गांड उठा उठा कर अपनी चुत को मेरे होंठों से लगाते हुए कहने लगीं- प्लीज़ चूसो ना… आज तक तुम्हारे भैया ने नहीं चूसा… मैं चुत चुसवाने के लिए तड़प रही हूँ… ये सब करवाने के लिए मरी जा रही हूँ.

मैंने उनसे कह दिया कि हो सकता है कि मैं सुबह यहीं से कॉलेज चली जाऊं, मेरे साथ मेरी दो सहेलियां भी हैं. मुझे बीच में बोलना ही पड़ा- मैम, उसको कुछ मत कहिये, जो कुछ कहना है, मुझे कहिये।ओह शरीफ की नाजायज औलाद, बुर चोदने की बड़ी इच्छा होती होगी तेरे को?मैं चुपचाप उसकी सभी अनर्गल बाते सुनता रहा।तभी उसकी नजर मेरे लंड पर पड़ी- ओह. थोड़ी देर खड़े होकर किस करने के बाद मैं काउच पर बैठ गया और वो मेरे ऊपर ही बैठकर मुझे किस कर रही थीं.

थोड़ी मोटी होने के कारण उसकी भरी हुई गांड और समय से पहले निकले चूचों को देख के किसी का भी मन उस कच्ची कली को चोद के औरत बनाने का हो जाए. सर ने मुझे आलिंगन में लेते हुये किस किया, फिर छुड़ाते हुये बोले- कल मेरा ऑफ है, आइये घर पर कभी भी… अपने हाथ की बनी चाय आपको पिलाता हूँ।इसी क्रम में सर ने मेरी चूचियों को भी मसल दिया।मैंने मुस्कुरा कर कहा- अवश्य आऊँगी… आप पूरी तरह से तैयार रहना।मेरा हृदय हर्ष और गर्व से फूल गया, मेरी खुशी की कोई सीमा नहीं थी।टीचर के साथ चुदाई की कहानी जारी रहेगी. जगह कम होने की वजह से विशाल बार बार अपना पैर मेरे पैरों पे रख देता था.

लोकल लड़की का सेक्सी वीडियो

उसने मेरी छाती को जब पहली बार छुआ, तो मेरे शरीर में एक बिजली सी दौड़ गई थी. और इधर खाली खेत में डरने का नाटक कर रही है रंडी… यहां मेरे अलावा तुझे चोदने कोई भी नहीं आएगा साली. मेरा स्पेशल टैलेंट है कि मैं लोगों की पैंट की तरफ देख कर बता सकता हूँ कि उसके अंदर कितना बड़ा लंड है, बशर्ते, मुझे थोड़ा क्लोज रहने का मौका मिल जाये.

लेकिन उस बेदर्दी ज़ालिम ने माल निकलने के बाद तो मुझसे मुँह ही फेर लिया था.

मैंने कहा- और मेरा दोस्त?उसने कहा कि उससे मुझे थोड़ा भी मज़ा नहीं आया.

एक पल के लिए हम दोनों की आँखें मिली और उसके चेहरे पर शरारत भरी स्माइल आ गई। खैर मैंने अपनी आँखों पर काबू किया और पढ़ाने लगा. उसने मुझसे पूछा- क्या मुझे किसी सेक्स उत्तेजना वाली कोई गोली, स्प्रे या कंडोम की जरूरत तो नहीं?मैंने मना कर दिया, उसने मुझे अपना कार्ड दिया और कहा- फ्री टाईम में बात करना. 2020 की सेक्सी वीडियोविशाल भैया और वैशाली भाभी, दोनों काफी पढ़े लिखे और खुश मिजाज कपल थे, उनका प्रेम विवाह हुआ था.

मैंने पूछा- पायल जी, आपको कैसी मसाज़ करानी है?पायल भाभी बोलीं- फुल बॉडी मसाज़. मैं अन्तर्वासना का बहुत आभारी हूँ जिसने सभी चोदू और चुदक्कड़ों को अपने अनुभव शेयर करने का प्लेटफॉर्म दिया. हम दोनों एक दूसरे में खो गए और आंखें बंद करके उस पल का मज़ा लेने लगे.

तो मैडम की आँखों में से पानी निकल आया और वो कराहते हुए बोलीं- बस और अन्दर नहीं. मेरा पूरा 7 इंच का लंड भाभी की चूत में घुसता चला गया और वो फिर ज़ोर ज़ोर से चीखने लगीं.

मैंने उन्हें अपनी गोद में उठाया और बेडरूम में ले जाकर बेड पर लिटा दिया.

उतने में प्रीति रूम से निकली, मैंने उसको स्माइल दी, वो वहां से शर्मा के भाग गई. मेरी बात सुन कर मोहन का हौसला बढ़ रहा था और जोर से झटके देकर पूरा मजा देने लगा. मैंने जब उनसे पूछा कि यहां कौन रहने आ रहा है?मकान मलिक ने कहा- एक मैडम जी हैं, वे बहुत पढ़ी लिखी हैं.

बोलने वाला सेक्स फिर क्या था धीरे धीरे हमारी दोस्ती वाली बातचीत प्यार और सेक्स की चैट में बदलने लग गयी, क्यूंकि जिसको एक बार लंड का चस्का लग जाए वो फिर ज़्यादा दिन तक लंड लिए बिना नहीं रह सकती. कुछ दिन बीते तो मैंने सोचा कि अब मुझे इससे अपने प्यार का इजहार कर देना चाहिए.

मैंने अपनी एक उंगली मौसी की चूत की दरार में फिरानी शुरू की, मेरी उंगली पर चिपचिपा लिसलिसा पानी लग गया और मौसी के मुख से कामुक सिसकारियां निकलनी शुरू हो गई- हाह… उम्म आह… हाँ…जब मेरी उंगली मौसी की भगनासा को छू जाती तो मौसी उछल सी पड़ती. मेरे लिए क्या शायद अंजलि के लिए भी यह किसी जवान लड़के का यह पहला चुम्बन ही था. मेरा लण्ड चूत पर टकरा रहा था, भाभी ने मुँह हटाया और बोली- देवर जी, अब आपका लण्ड डाल कर देख लो!मैं- हां भाभी, मगर कैसे?तुम उठो.

नवरात्रि के गाने

मैंने उससे कहा- आज तुम लोगों से मेरा बदला पूरा हो गया… तुमने तो मुझे अपने सामने अपने दोस्तों से चुदवाया था मगर मैंने तुम्हें तुम्हारी माँ से ही अपने सामने चुदवा दिया और इसकी फिल्म भी बना ली है. सुबह के समय मैं दाढ़ी बनाकर नहाने के लिए जैसे ही बाथरूम में घुसा ही था, तभी दीदी आ गईं. उनके मुँह से सीत्कार निकली- सीईईईई…अब मैं उनके दोनों मम्मों को बारी बारी से सहला रहा था.

लेकिन तब भी मैं लंड की चमड़ी को आगे पीछे करने लगा, तो कुछ ही देर में कुछ सफ़ेद सा झाग जैसा मेरे लंड से निकल कर बाथरूम के दरवाजे पर गिरने लगा. मैंने अपनी एक उंगली पहले भाभी की चूत की लकीर में फिराई, मेरी उंगली गीली हो गयी.

बस बादलों की गर्जना और ठंडी हवा ने पूरे माहौल को रोमांटिक बना दिया था.

एक मादक पसीने की गंध ने मेरे अन्दर एक नई मदहोश कर देने वाली ऊर्जा को रोम रोम में भर दिया. तुम शाम को ला रही हो ना मुर्गी हलाल करने के लिए?कुसुम बोली- बिल्कुल. मैंने कहा- भाभी, मैं आपको उस हालत में देख कर वो चीज़ नहीं भूला पाऊंगा और ना मैं वो भूलना चाहता हूँ.

उसने मुझसे पूछा- आप अब तो घर में कुछ नहीं कहेंगे ना?मैंने कहा- मैं पागल हूँ क्या, मेरी इतनी प्यारी साली को मैं कोई तकलीफ कैसे दे सकता हूँ. मतलब कि चुदूँगी मैं और मेरी चुदाई की आधी रकम उसकी जेब में, यह बढ़िया धंधा है. जूसी रानी के आ जाने के बाद मैंने अलका रानी को होटल में बुला कर चोदना शुरू किया.

मैं सीधे डॉक्टर के कैबिन में पंहुचा, उस समय कोई पेशेंट नहीं था और न ही डॉक्टर साहब का असिस्टेंट या कंपाउंडर।डॉक्टर साहब और नीना हंस हंस गप्पें लड़ा रहे थे.

डब्ल्यू एक्स एक्स एक्स बीएफ: फिर कुछ देर बाद हम अलग हुए। इतना सब करते हुए मेरा पानी पैन्ट में ही निकल चुका था और उसका भी… ऐसा उसने मुझे घर जाने के बाद बताया था।हम कुछ देर और बैठे रहे और करीब दो बजे वो जाने लगी तो मैंने कहा- घर जा के मेसेज करना।उसने घर जाकर मेसेज किया और कहा- मैं बहुत अच्छा फील कर रही हूँ. मामी को भी मज़ा आने लग गया और वो उम्म्म्म… अहह… अहह… उम्म्म्ममम… की आवाज़ करने लगी.

जिन्हें पढ़कर वाकयी बहुत निराशा हुई, परन्तु कुछ इमेल्स के चलते अपने प्रिय पाठकों को छोड़ना मुमकिन नहीं है. हम रेड लाइन की तरफ जा रहे थे एकदम चुपचाप… हम दोनों में से कोई भी नहीं बोल रहा था. मैं भी भांग के नशे के कारण सुध बुध खो बैठा और आपकी चूत चाटते चाटते इतना मदहोश हो गया कि अपने आप पर कंट्रोल नहीं रख पाया और आपकी चूत की भी चुदाई कर डाली.

फिर उसने अपने बैग से दारू की बोतल निकाली और मुझे पैग बनाने को बोला.

उस दिन बस इतनी ही बात हुई और फिर मैं नीचे चला गया और उस औरत को याद करके 2 बार मुठ मारी. मैंने देर न करते हुए उसे सीधा लिटा कर उसकी गांड के नीचे तकिया लगा कर जो अपना लंड उसकी चूत में डाला, तो फक की आवाज़ के साथ लंड सीधे चूत की दीवार को चौड़ा करता हुआ पूरा अन्दर तक चला गया. फिर थोड़ी देर बाद बस चलने ही वाली थी कि मेरी बगल वाली सीट में एक सेक्सी भाभी आ गईं और मेरे पास आकर बैठ गईं.