देहाती जंगल की बीएफ

छवि स्रोत,चोदम चोदी सेक्सी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

ಸೆಕ್ಸ್ ಫಿಲಂ ಇಂಗ್ಲಿಷ್: देहाती जंगल की बीएफ, बहुत नाराज़ थी कि उसके बाद वाली रानियों की तो कहानी लिख के छप भी गयीं लेकिन उसकी अभी तक नहीं छपी.

चुदाई सेक्सी एचडी में

मगर नीना ने जब उसे डॉक्टर से केवल एक मिनट के लिए मिलाने का रिकवेस्ट किया तो डॉक्टर ने आवाज देकर कहा- दातादीन, तुम मैडम को भेज दो. आदावासी सेक्सी पिक्चर बताओरोशनी ने इस बार ख़ुशी से पिंकी को देखा और प्यार भरी आँखों से पिंकी की बात को सहमति दे दी.

मॉम ने भी एकदम से पैरों को हवा में ही मोड़ लिया, जिससे मॉम की चुत एकदम बाहर निकल आई. भाई बहन की सेक्सी वीडियो देखने वालीमैं 8-9 इंच में लंड को ऐसे घोट जाता हूँ, जैसे वहाँ कुछ हो ही ना, पर ये 7 इंच का लंड नहीं जा रहा था जबकि मैं पूरी कोशिश कर रहा था.

अब भी जो भी मेरे साथ मजा लेना चाहती हैं, वे मुझे मेल करके मुझसे जुड़ कर मजा लेती हैं.देहाती जंगल की बीएफ: ”उसने अलमारी खोली और देख कर चहका- अरे वाह भाभी…मैंने कहा- अब बताओ, कौन सी ड्रेस पहनूं कि तुमको उतारने में ज्यादा मजा आए.

जैसे ही मेरी चुत का दाना खींचा, वैसे ही मेरे मुँह से आवाज निकल पड़ी- उन्म्म… मोहन जी प्यार से प्लीज!पर मोहन मेरी बात सुनने के मूड में नहीं था, उसने मेरी टांगों को फैला कर चुत में मुँह डाल दिया और कुत्ते के जैसे मेरी चुत पर टूट पड़ा.तो मॉम अपने घुटनों को ज़मीन पर रखकर नवीन के ऊपर झुक गईं और अपने दोनों हाथों से नवीन की लुंगी.

मां बेटा का सेक्सी दिखाइए - देहाती जंगल की बीएफ

ये सारी बात मैंने अपने पार्टनर को बताई और कहा- कल तू दीदी के यहाँ चला जा.एक बार फिर मैं साहिबा आप सबके समक्ष मेरी नई हिंदी सेक्स कहानी लेकर हाजिर हूँ.

तभी मेरी नजर अन्दर चारपाई पर सिर्फ चड्डी पहन कर सोये छोटू भैया पर गयी. देहाती जंगल की बीएफ पर इस टाइम जब उन्होंने बोला तो ऐसा लगा वो मुझ से बोल रहे हैं, मैंने पीछे मुड़ के देखा, मुझे एक आदमी दिखा, कुछ छह फ़ीट के आस पास लंबा, क्लीन शेव्ड, गोरा, ब्लू शर्ट पहने हुए, तंदरुस्त, एकदम हैंडसम.

भाभी अपना हाथ अपनी चूत पर ले जा कर बोली- इसमें जाता है लण्ड!मैं अनजान बनते हुए- भाभी, इतनी सी जगह में कैसे जाएगा?भाभी- जाएगा देवर जी, पूरा जाएगा! आप बस देखते जाओ, आप घुटने पर खड़े हो जाओ!मैं घुटने पर खड़ा हो गया, भाभी मेरा लण्ड हाथ से पकड़ कर उसकी चमड़ी को आगे पीछे करने लगी.

देहाती जंगल की बीएफ?

चूंकि मेरी चूची की साइज़ भी बहुत बड़ी है, इसलिए मेरी चूची का ऊपर का हिस्सा और उसका साइज़ मकान मालिक को भरपूर दिखता रहता था. मैंने उनकी चुचियों को दबाते हुए कहा- चाचा इन्हें दबाते है या नहीं?चाची ने कहा- तुम्हारे चाचा खेत से थक कर आते हैं. मैंने उससे कहा- मैं ये नहीं करूँगी लेकिन इसके बदले में यदि तुम कुछ और करने को कहोगे तो वो मैं कर दूँगी.

हालांकि मुझे उसके लंड दिखाने की बात से समझ आ गया था कि ये पक्का मुझे चोदने की फिराक में है. करीब मिनट की धकापेल चुदाई के बाद उसने मुझे नीचे लिटा कर तेज तज चोदना शुरू कर दिया. वो बोला- चुपचाप को-ऑपरेट करो… वरना तेरे इन मस्त मम्मों पर दांतों के निशान भी बना दूंगा.

मैं सुमन भाभी को उठा कर अन्दर वाले बेडरूम में ले गया और उन्हें बेड पे लेटा दिया. तो मैंने एक कन्सलटेन्सी फर्म से कांटेक्ट करके कुछ गर्ल्स को इंटरव्यू के लिए बुलाया।इंटरव्यू वाले दिन 5 लड़कियां आईं. वो तो तुम मान नहीं रहे थे, इसलिए डॉक्टर को साथ मिला कर एक ड्रामा करना पड़ा था और उसका नतीजा भी निकल आया, मैं फर्स्ट डिवीजन डिस्टिंग्शन से पास हो गई.

फिर मैंने एकउंगली भाभी की चुत मेंअन्दर घुसा दी, पर भाभी ने जोर से मुझे धक्का दिया, जिससे हमारे बीच कुछ फासला हो गया और मेरा हाथ भी बाहर निकल गया. पायल भाभी हँसने लगीं और बोलीं- पंकज अब फिर से चूत में डाल दो मेरे राजा.

मेरा मतलब है तुम अचानक चले जाओगे तो घर में कामकाज की दिक्कत हो जाएगी.

पूजा बोली- पापा, मैंने अन्तर्वासना पर कई सेक्स कहानी पढ़ी हैं और तब मुझे ये लगता था कि ये सब कहानियां काल्पनिक हैं, रिश्तों में चुदाई कैसे संभव है.

काफी देर की चुदाई के बाद अब उसे मेरा भार लग रहा था तो वो बोली- जीजू, प्लीज अब खत्म कीजिए ना. अब मैं आंटी के बारे में आपको बता दूँ, उन्होंने काले रंग की साड़ी पहनी हुई थी जो उसके गोरे रंग पर गजब ढा रही थी. गोलू तुम अपनी चड्डी उतार दो और अपनी भिन्डी को पिंकी के मुँह में डाल दो और लंड को खड़ा करने की प्रैक्टिस करो.

फिर वहां काफी रात हो जाने के कारण मैंने होटल ले लिया और मदिरा मेरे बैग में पहले से ही थी, मेरे दिमाग में तरकीब सूझी, मैंने आज मंजू को भी शराब पीने के लिए बोला. थोड़ी देर मेरे होंठ चूसने के बाद वो उठीं और नाइटी उतार के एक साइड फेंक दी और अपनी टांगें फैला कर मेरे पैरों के ऊपर बैठ गईं, मेरा लंड पैन्ट के अन्दर से उनकी पेन्टी पे टच करने लगा. मेरा स्पेशल टैलेंट है कि मैं लोगों की पैंट की तरफ देख कर बता सकता हूँ कि उसके अंदर कितना बड़ा लंड है, बशर्ते, मुझे थोड़ा क्लोज रहने का मौका मिल जाये.

अब उसकी चूत पर ध्यान देने के इरादे से मैंने उसकी पैंटी से नाक लगा कर गहरी सांस लेते हुए सूंघा.

मैंने कहा- ये बात आप मुझे पहले बता देतीं, मैं कबसे आपको चोदना चाहता था. मेरा हाथ सीधा मेरी चुत पे चला गया और मैंने अपनी चुत में उंगली शुरू कर दी. ”उम्म… चूस लो…”उम्म्मम्म बहुत टेस्टी लंड है आआआ…”अब तुम लेटो मैं तुम्हारी चूत चूसूंगा.

नमस्कार दोस्तो, आज मैं आपको मेरी सच्ची गरम चुत चुदाई कहानी भेज रही हूँ, ये चुदाई खुले आसमान के नीचे खेत में हुई थी. हम चारों ने पहले ड्रिंक्स ली, फिर कुछ हल्का खाना खाकर डांस करने लगे. उस दिन मेरा मूड थोड़ा ऑफ था क्योंकि उस दिन मेरे 18000 रुपये खो गए थे.

लेकिन हमारी कोई संतान नहीं है, क्योंकि मेरे पति अभी कोई इश्यू नहीं चाहते इसलिए उन्होंने बच्चा पैदा नहीं किया है.

अगर आप में से कोई नागपुर आये किसी काम से तो मुझसे मिल सकता है, या हो सकता है मैं आप के शहर आया तो मैं आप से मिल सकता हूँ. मैंने देखा तो विशाल अपना हाथ मेरी जाँघों पे फेर रहा था और उसका दूसरा हाथ मेरे बोबे पे था.

देहाती जंगल की बीएफ उसने भी मेरी फुद्दी बेरहमी से चोदी और करीब 15 मिनट बाद मेरी फुद्दी में अपना मुठ छोड़ दिया. उसने अपने दोनों हाथों से मेरा सर पकड़ लिया और जोर जोर से मेरे मुँह में पेलने लगा.

देहाती जंगल की बीएफ वह लंड रगड़ते हुए बोला- एक महीने पहले नाईट फाल हुआ था… तभी से टंकी भरी हुई है जानेमन… बीवी की चूत ना सही…आज तू भी पी ले मेरा रस… आ चुदक्कड़ तुझे भी माँ बना दूँ. मैं बाहर ही रह गया… कपड़े आदि पहन कर तैयार हो गया और दीदी कमरे में चली गई.

क्या फ़िगर थी मौसी की… वैसे तो मौसी गांड की रहने वाली थी तो काफी काम करती थी, उनकी फिगर स्लिम थी लेकिन फिर भी उम्र के हिसाब से उनका बदन गदराया हुआ था.

साऊथ इंडियन सेक्सी बीपी

मैंने वासना भरी आवाज में उससे लिपट कर कहा- अभी तो मैं ही काफ़ी हूँ तुम्हारा ईमान बिगाड़ने को, उसके बाद में कुछ और सोचना. फिर मैंने आंटी जी को चोदने की पोजीशन में किया और एक ही झटके में लंड को चुत में डाल दिया. मैंने घड़ी की ओर देखा तो उस समय 3:50 हो रहे थे और मुझे सुबह कॉलेज भी जाना था तो मैं वहीं चाची जी के साथ ही सो गया।सुबह जागा तो देखा तो मैं बिस्तर पर अकेला था और सब सामान्य लग रहा था।मैं उठा और नीचे आकर तैयार हो कर कॉलेज चला गया।कुछ महीने एसे ही बीत गए। दिसम्बर का महीना था और मेरे गांव में मेरे दादा जी की तबीयत ख़राब थी तो पापा जी ने कहा- सब लोग गांव चलते हैं.

कुछ देर के बाद मेरे जोश ने जवाब दे दिया और मैं दीदी के मुँह में ही झड़ गया. मैंने होंठ चौड़े किये तो पूरी तरह मलाई से भरी गुलाबी चूत के जो दर्शन हुए तो यारों मेरा क्या हाल हुआ मैं बता नहीं सकता. ”क्या स्पेशल सरप्राइज है…?”अजय राहुल तुम दोनों थोड़ा धीरे करो, दोनों गोद में लेट कर मजे कर लो.

मैंने वापस आकर उनके मम्मों को ब्रा के ऊपर से अपने मुँह में भर लिया और एक एक करके दोनों मम्मों को चूसने लगा.

मैं जैसे ही चाय लेकर पहुँचा, मैंने देखा उसकी माँ भी साथ में खड़ी थी. फिर अंकल ने पोजीशन चेंज की और मेरी दोनों टांगें अपने कंधे पर रख कर फिर से स्टार्ट हो गए. बिंदु माँ अपने रूम में जाकर नंगी होकर मेरे रूम में आ गईं और आशीष और मेरे कमरे के बीच का दरवाजा खोल दिया.

उन्होंने साइड से क्रीम की बोतल उठाई और मेरी गांड पर और अपने लंड पर लगा लिया. उसमें काफ़ी सारी लड़कियों के मेल भी थे, मैंने उनमें से कई के साथ भी बात की और कुछ के साथ ज्यादा ही बात की. थोड़ा थोड़ा अंधेरा हो चुका था जिनका मैंने फायदा उठाया, पहले तो मैंने उन्हें छूना शुरू किया, फिर एक हाथ उनके कमर के पास से साड़ी के अन्दर घुसा दिया.

मैं बोला- मैं नहीं मानता, मैंने सब कुछ अपनी आँखों से देखा है, मैं तुम पर यकीन कैसे कर लूँ?वो बोली- मैं कसम से कहती हूँ. कुछ ही देर में वो भी धीरे धीरे गरम होने लगी और उसने भी मेरे होंठों पे अपने होंठ लगा दिए.

उधर नीना स्ट्रेचर के दूसरे छोर से सट गयी ताकि डॉक्टर चूची को मसलते वक्त उसके करीब आये और लंड नीना की पकड़ में आ जाय. मकान मालिक ने मेरी ये बात पता नहीं कैसे ताड़ ली कि मैं अपने ब्वॉयफ्रेंड से ज्यादा खुश नहीं हूँ. शाम को मेरी माँ काम्या के साथ घर आईं तो उसे देख मेरे अन्दर लगी आग को जैसे बुझाए जाने का जरिया मिल गया.

पूजा ने खुलते हुए कहा- साले हरामी मेरी चुत को तेरा लंड किसके लिए लेना है तुझे पता नहीं है?मैंने ढीठता दिखाते हुए कहा- नहीं पता.

उसके बाद मैं ज्योति के घर गया तो वहाँ उसके मम्मी पापा आदि सभी लोग थे तो मैंने उनसे नमस्ते की और मुझे बुलाने का कारण पूछा. वो चुदाई करने से पहले अपना लंड चूसने को कहता और चुसवाते ही वो झड़ जाता. पूजा ने मेरा लन्ड मुँह में लेकर काफी गीला कर दिया और थोड़ा थूक भी लगा दिया.

उसकी आंखें मानो पूछ रही थीं कि हट क्यों गए?फिर उसके टॉप को मैंने अपने हाथों से उतारा और काले रंग की ब्रा भी उतार दी. अब उसको पूर जितना भी खो ज सकता था, खोल कर अपनी ज़ुबान उसमें घुसा दी.

इसे आप यहाँ से download करें!भारतीय लड़कियों से हिंदी अंग्रेजी और स्थानीय भाषाओं में सेक्स चैट, विडियो सेक्स करने के लियेसेक्स चैट, विडियो चैटपर आयें और सेक्स की मजेदार बातें करके, नंगी लड़कियों को देख कर मजा लें!. सामने मैंने जब उन मैडम को देखा तो कसम से ऐसा लगा कि कोई जन्नत की परी मेरे सामने खड़ी है. मुझे लगा शायद पेमेंट देने आ रही होंगी, इसलिए मैं वही सोफे पर बैठ गया.

नंगी नंगी सेक्स वीडियो

वो थोड़ा क़रीब आया और उसने मेरे माथे पर चुम्बन किया, फिर अपना हाथ मेरे गाल पर रखकर मुझे देखने लगा.

बाद में आप अपनी गांड को ऐसे बाहर कर के खड़े हो गए कि मुझसे रहा ही नहीं गया, कण्ट्रोल ही नहीं हुआ. लेकिन उसके हाथ खेतों में काम करने वाले काफी मजबूत और कड़क थे जिनसे मेरी गान्ड का हाल ठीक वैसा हो रहा था जैसा कि चूसने वाले आम का चूसने से पहले हो जाता है. भाई बस भाबी को चुप कराने में लगे हुए थे, लेकिन भाबी चुप होने का नाम ही नहीं ले रही थीं.

मैंने पूछा- क्यों?माँ ने कहा- कल रात गली में जो चोरी हुई थी… उससे गोरी आंटी डर गई है. जो काम आज मुझसे अपनी माँ के साथ हुआ है, उसकी वजह से अब मुझे जीने का कोई हक़ नहीं बचा. बैंगन के साथ सेक्सी वीडियोभाभी ने मुझे किस किया और आई लव यू बोल कर कहा- राज आज तुमने मुझे खुश कर दिया.

आपकी भेजी हुई मेल्स मुझे बताएंगी कि आपको मेरी लिखी हुईहिन्दी कहानियाकैसी लगी. मैं भाभी को औंधा करके रंडी की तरह चोदता रहा और उसकी चूचियां को भी दबाता रहा.

तभी जब मैं झड़ने वाला था, मैंने उसका सर पकड़ कर अपने लंड की जड़ तक उसका हलक छुआया. फिर मैंने उसकी चूत में एक-एक करके पूरी चार उंगलियां अन्दर कर दीं और मजे से अन्दर बाहर करने लगा. भाभी ने मुझे खाना खाने के लिये फोन पर कहा तो मैं पजामा और टी-शर्ट पहन कर मैं भाभी के यहाँ खाना खाने के लिये चला गया.

मेरा पूरा 7 इंच का लंड भाभी की चूत में घुसता चला गया और वो फिर ज़ोर ज़ोर से चीखने लगीं. हमारे यहाँ नई दोस्ती की शुरुआत जाम उठा कर की जाती है!” आर्थर मुस्कुराया. इसके बाद मैं अपनी सगी बहन के ब्लाउज के ऊपर से ही उसकी चूचियों को पीने लगा.

क्योंकि अगर मैं इनकार करूँगी तो भाईजान तो घर से बाहर किसी के साथ भी मज़े कर सकते हैं, पर मैं तो लड़की होने की वजह से शादी होने तक इस मज़े के लिए तरसती रहूंगी.

मैंने देखा कि मेरे पापा बिंदु माँ की चूत को खोल खोल कर चाट रहे हैं और माँ उनके लंड के सुपारे का मजा नीचे करके मुँह में लंड लेकर चूस रही थी. मैंने जैसे ही थोड़ा सा लंड उसकी गांड में डाला, वह दर्द के मारे चीख उठी.

चूंकि मेरी सहेली का भी एक बॉयफ्रेंड था और वो भी अपने बॉयफ्रेंड से चुदवाती थी. और यही मेरी क्वालिटी है कि मैं नाम भले ही भूल जाऊं पर चेहरा कभी नहीं भूलता. मैंने देखा कि बहुत अच्छा बेडरूम था, मकान मालिक बोला- सुरेंद्र ड्रिंक करेगा?तो सुरेंद्र जीजा बोले- नहीं आप कर लो!उसने एक दारू का बोतल निकाली और मेरे सामने आधी ग्लास से ज्यादा भर के पी ली.

अब तक की चुदाई की स्टोरी में आपने पढ़ा था कि मेरे बेटे आशीष के दोस्त चंदर ने मुझे चोदने के लिए अपने कमरे में बुलाया था, जहां आशीष भी था. मेरी बीवी मंजू मचलने लगी- आह हहहहह ससससस संजू… अब तड़पा क्यों रहे हो? चोदो मुझे!लेकिन मैंने उसकी बातों को अनसुना करते हुए उसकी चूत में मुँह डाल दिया और चूसने लगा. अब कुछ दिन ऐसे ही चलता रहा, जैसे ही हमें थोड़ा सा मौका मिलता, वो होंठों में होंठ डाल देती थी.

देहाती जंगल की बीएफ यदि यह अच्छी लगी और मुझे आपका प्यार मिला तो आगे भी विभिन्न लंड मेरी गांड चुदाई की कहानी आपको लिख कर बताता रहूँगा. कुछ देर चुदाई का मजा लिया और हम दोनों ने खुद को साफ करके कपड़े पहन कर कमरे से निकल आए.

सनी लियोन का हॉट सेक्स

कभी कभी वैशाली भाभी हमारे घर पे मेरी माँ से बातें करने आ जाती थीं, जब वो अकेली महसूस करतीं. मेरे कमरे से निकलने के बाद कामिनी बोली- इसको थोड़ा और विटामिन चाहिये जानू. हम दोनों को जी भर के चोदने के बाद वो मस्ती करके अपने घर चला गया और हम अगली चुदाई का इंतज़ार करने में लग गए.

मैं समझ गया कि ये भाभी कामुकता से भरी हुई है और इस वक्त मेरे साथ कुछ भी करने को रेडी है. उसने पूरा लंड अपनी चूत के अन्दर ले लिया और मेरे लंड पर जोर जोर से उछल कर मजे लेने लगी. ससुर बहू का सेक्सी कहानीकुछ मिनट बाद भाभी को डॉगी स्टाइल में लिटा करके पीछे से चुत में लंड डाल दिया और उसे छोड़ना चालू कर दिया.

दस मिनट बाद पायल भाभी बोलीं- पंकज तुम्हारा रस अभी तक नहीं निकला?मैंने कहा- इतनी हसीन परी को इतनी जल्दी कैसे छोड़ दूँ.

करीब 10 बजे रहे होंगे, चाचा जी चले गए, अब घर पर मैं और चाची जी ही थे। चाची जी को बाहर छोड़ने के बाद मेरे कमरे में आई, मैं सोने ही जा रहा था कि चाची जी ने कहा- रवि, आज तुम मेरे कमरे में मेरे साथ सो जाओ।पहले तो मैंने थोड़े नखरे किये पर मैं मान गया।चाची जी की यह बात सुन कर मेरे मन में तो लड्डू फूट रहे थे।कहानी जारी रहेगी. आआहह… दर्द हो रहा है… स्सस्सस्स आआह… इस्सस्स… रुको जानू… अब तुम लेटो, मैं ऊपर आती हूँ… आआह… इस्स्स…”मैं उसके लंड पर कूदने लगी और किस करने लगी.

साथ ही वो मादक आवाजें भी निकालने लगी ‘आह उहह हह आोहह हह…’उसकी कामुक आवाजें सुन कर मुझे भी जोश आ गया और मैं ओर तेज तेज धक्के लगाने लगा. उम्म्मम्म…”तभी पीछे से राहुल ने मेरे गाउन की ज़िप खोलना शुरू किया और पूरी ज़िप खोल कर मुझे पूरी पीठ पर चाटने लगा. भाबी बोली- जब तेरी शादी होगी तो जब नहीं पहनेगी क्या?मैं बोली- तब की बात और है.

मैंने कहा- हां आपको देखने में मजा आ रहा है?चाची ने कहा- हाँ मस्त है, लेकिन तुम्हारे पास एक ही है?मैंने कहा- हां अभी एक ही है, लेकिन मैं और भी ला सकता हूँ, पर उसके लिए मोबाइल रिचार्ज करना होगा.

उनकी चूत से लगातार रस बह रहा था, जो उनकी जांघों को नहलाए जा रहा था. उसके दोनों पैर मेरे पैरों के ऊपर थे और उसने अपनी एड़ियां उठा रखी थीं. उसने कहा कि उसके माता पिता उसे कहीं और जॉब करने को कह रहे है! यहाँ की तनख्वाह उन्हें ठीक नहीं लगती और उसे यही काम करने का मन है लेकिन माता पिता की बात ही माननी पड़ेगी!वो तीन महीने और रूक कर जाने वाली थी.

एक्स एक्स एक्स सेक्सी हिंदी भोजपुरीअब नताशा दो सांडों के बीच फंसी किसी बछिया की तरह कराहने लगी- ऊऊऊऊऊ… आआआआ… उम्म्ह… अहह… हय… याह… आख… ओए! आआआ… आउच!अब तक आर्थर का बेलेस्टिक राकेट डराने वाले साइज़ में परिवर्तित होकर टनटनाने लगा था. अगर जल्दी ही मेरी चूत की आग नहीं बुझाई तो शायद पानी ही गरम हो जायेगा.

બબીતા સેક્સ

अब मैं उनके पास गया और उनके बाल पकड़ कर खींचे, जैसे ही उनका मुँह खुला मैंने उसमें बॉल को डाल दिया और पट्टी बाँध दी. हालांकि मुझे पता था कि इस लन्ड के सिर्फ 10 झटकों से ही मेरी हालत खराब हो जाने वाली है. हैलो फ्रेंड्स, मैं अपनी स्टोरी लिखने से पहले अपना परिचय देना चाहता हूँ.

मेरा मन बार-बार भाभी की चुत मारने के लिए उत्तेजित और बेताब हो रहा था. हालांकि मुझे उसके लंड दिखाने की बात से समझ आ गया था कि ये पक्का मुझे चोदने की फिराक में है. नाभि से ढाई-तीन इंच नीचे से क्रीम रंग की पिंडलियों तक लम्बी एक कैपरी, नाज़ुक साफ़-सुथरी दायीं टांग के ऊपर बायीं टांग, दोनों पैरों के नाख़ून थोड़े बड़े पर अच्छे से तराश कर उन पर लाल रंग की नेलपॉलिश लगी हुई.

ऋतु- सर प्लीज़ मैं आकाश के सामने कैसे किसी और के साथ सेक्स कर सकती हूँ?ऑफिसर- मैं कोई रिस्क नहीं लूँगा, मैं तुम्हारे हज़्बेंड के सामने ही तुम्हें चोदूँगा बस. बाहर निकला तो मैंने भाभी से कहा कि तुम खदान में चलो, मैं पीछे से आ रहा हूँ. तब तक बिंदु माँ ने उसके सुपारे को अपने मुँह में ले कर चाटा और बहुत सारा थूक उसके लंड पर लगा कर बोलीं- अब मार साले जोर का झटका.

तभी उसका फ़ोन बजा, उसके घर से फ़ोन था, रात होने की वजह से उसे घर बुलाया जा रहा था. मैं वापस उनके ऊपर आया और किस करते हुए भाभी को सब जगह किस करते हुए उनकी चुत को फिर से गीला किया.

मौसी की चूत काफी गीली थी तो मेरे लंड पर कोई खास रगड़ नहीं लग रही थी.

अब मेरा मंजू की गांड के बीच में सटा हुआ था, मैंने मंजू की गर्दन में किस करना शुरू कर दिया, मंजू उतावली हो गयी, अपनी गांड को हिलाने लगी. गुजराती भाभी सेक्सी डॉट कॉममुझे अति आनन्द की अनुभूति हो रही थी और रूपाली भाभी भी पूरा मजा ले रही इस मुख रति क्रिया का…करीब 15 मिनट बाद हम दोनों झड़ गए और वो मेरा सारा पानी पी गईं. एक्स एक्स वीडियो देहाती सेक्सी वीडियोपहले कामिनी की पीठ पर काफी देर मालिश की, फिर हाथ फेरते हुए उसने कामिनी को पलटा दिया और उसकी बड़ी बड़ी गोरी गोरी चूचियों को गोलाई में मसाज करने लगा और मसलने लगा. भैया ने मेरा हाथ अपने लंड पर सरका दिया तो मैंने भी भैया का लंड भी टच किया.

मैंने उसके बेटे को रैकेट दिया तो वो जल्दी से खड़ा हो गया और मेरी गर्लफ्रेंड के साथ खेलने लगा.

हम लोग चुदाई में इतना मस्त थे, हम लोग दरवाजा बंद करना भी भूल गये थे और हम लोगों को पता भी नहीं चला कि कोई हम लोगों की चुदाई को देख भी रहा है. तब मैंने सोच लिया कि इसके 5″ के लंड ने उसे पूरा मजा नहीं दिया होगा, साला जल्दी जल्दी के चक्कर में जल्दी से फुस्स भी हो गया. उसने पूछा कि तुम कुसुम को कैसे जानती हो?मैंने कहा- वो हमारे ऑफिस में काम करती है.

उन्होंने मुझे सीधा बिठाया और अपने लंड मेरे मुँह में दे दिया और उनके लंड ने मेरे मुँह में जोरदार लावे की पिचकारी मारी और मैं लंड चाटने लगा. मैं- नहीं नहीं अलका जी… मैं तो ग्यारह से पहले नहीं सोता… बोलिये क्या बात है? कैसे इस वक़्त फोन किया? सब ठीक ठाक है ना?अलका- नहीं राज जी सब ठीक है… मैंने तो सिर्फ यह बताने को फोन किया था कि आपकी दो कहानियां पढ़ ली हैं… बहुत रोचक तरीके से लिखते हैं आप… दोनों कहानियां बहुत अच्छी लगीं. तभी अंकिता मेरी तरफ देखकर बनावटी गुस्से में बोली- अच्छा… सच में? आपने मेरी बहुत मदद की है इसीलिए थैंक यू.

बहन की चुदाई वीडियो

मगर वाइफ का बहाना बनाया तो नीना ने बीच में दखल देते हुए कहा कि उसे दो-तीन घंटे तो लगेंगे ही, इतने में आप भाई साहब का काम भी कर लेंगे।नीना की बात में वजन भी दिखा।वैसे भी हम दोनों पति-पत्नी लंड-चूत के मामले में बहुत ईमानदार हैं. उसकी माँ समझ गई कि मैं भी एक नंबर का हरामी हूँ, सो वो मेरे लंड को पकड़ कर तेज़ी से ऊपर नीचे करने लगी. उस रात के बाद हम आल्टरनेट दिन कभी उसके घर में, तो कभी मेरे घर में मिलने लगे.

मैंने अपने गेट से देखा कि गली से कोई आ तो नहीं रहा है, जैसे ही मैंने देखा कोई नहीं है.

मेरी मॉम मान गईं, आंटी और मैं मार्केट गए आंटी कुछ शॉपिंग की और घर आ गए.

इतनी देर की बूब फकिंग और चुसाई से हम दोनों बहुत थक गए थे, इसलिए नंगे ही दोनों सो गए. उसके मुँह से हां सुन कर मेरा दिल तो जैसे उछल पड़ा… मेरी खुशी का ठिकाना ही नहीं था. लड़की की सेक्सी फिल्मऔर हां पूरी रात तुम्हारी चुदाई करनी है, जब जब इस का पानी निकलेगा तो तुम्हें पीना पड़ेगा, नहीं तो मैं चुत को ही भर दूँगा.

मैंने फ़ोन उठाया और पूछा- कौन?वहां से कुछ देर तक कोई आवाज नहीं आई, फिर थोड़ी देर बाद एक लड़की की आवाज आई- हैलो सनी, कैसे हो?मैंने उसकी आवाज पहचान ली. मैं भी जानता था कि दीदी गर्भ ठहर जाने के डर से कह रही है कि वो चुदाई से प्रेग्नेंट ना हो जाए. ”अब असली सरप्राइज आता है, उन दोनों ने मेरी चूत ही चोदी थी मगर पर मेरी गांड नहीं मारी थी.

मैं उसकी चूत मारना चाहता था पर वो यहां हो नहीं सकता था क्योंकि जंगल के अन्दर इस खुली जगह पर कोई भी आ सकता था. उन्होंने अपनी उंगली मेरे मुँह में दे दी, मैंने अंकल की उंगली चाटकर गीली कर दी.

मैं तो उस पटाखा को देखता ही रह गया और सोचने लगा कि काश ये लड़की मिल जाती तो दबा कर चोद दूँ.

अगर आप में से कोई नागपुर आये किसी काम से तो मुझसे मिल सकता है, या हो सकता है मैं आप के शहर आया तो मैं आप से मिल सकता हूँ. मेरी सेक्सी कहानी के पिछले भागकाजल की चुदाई: दूध वाला राजकुमार-6में आपने पढ़ा कि कैसे मैं काजल को सुबह सुबह रत्नेश भैया की दूकान पर ले गया और वहां भैया ने कया किया. मैंने ऊपर आसमान में देखा और ऊपर वाले का शुक्रिया अदा किया कि आज ऐसी मस्त चुत मारने को मिलेगी.

सेक्सी वीडियो मुकेश मैं- कौन सी शर्त भाबी?भाबी ने मेरा लंड तौलिया के ऊपर से ही पकड़ते हुए कहा- इसे मेरी चुत में डालना होगा. मैंने कहा- चुदास पूरी हो गई होगी तुम्हारी?वो बोली- हां क्यों खुजली हो रही है तुमको.

वो मुझे सेक्स के लिए तैयार करना चाहती थी लेकिन मैं तो पहले से ही उसको चोदने के सपने देख रहा था. मेरा किस करना शुरू हुआ तो भाभी भी मुझे चिपक गईं और किस में मेरा साथ देने लगीं. उसने किसी तो फोन मिलाया और स्पीकर पर रख कर पूछा- अशोक जी कैसे हैं आप?वो बोला- अच्छा हूँ.

गांड मारने की वीडियो

मेरी हाइट 6 फ़ीट 2 इंच है, मेरा रंग गोरा है मेरे लंड का साइज 8 इंच है. मुझे तो सीधा छेद ही नजर आ रहा था कोई सील तो नहीं दिख रही थी, तो मैंने कहा- साली साहिबा आपकी चूत तो बहुत गहरी है, इसमें कोई सील तो है ही नहीं. मैं उनके लंड को हिलाने लगा, मेरे हाथ में उनका लंड आ गया था, जो काफी मोटा और तगड़ा था.

मैंने उसे यह भी समझाया है कि तुम्हारे साथ सेक्स कर के उसकी हवस तो शांत हो ही जाएगी और यह बात कभी किसी को बाहर पता नहीं चल पायेगी क्योंकि मैं तुम्हारे साथ इतने समय से सेक्स कर रही हूँ. कृपा करके मेल के माध्यम से मुझे अपने विचार बतायें।शरद सक्सेना[emailprotected][emailprotected].

फिर मैंने जोर का धक्का लगाया, मेरे लंड के अन्दर घुसते ही उसकी चीख निकल पड़ी- उम्म्ह… अहह… हय… याह… अह्ह उई माँ मर गई… बाप रे कितना गरम लंड है ये अह्ह्ह प्लीज़ निकाल लो…मैंने कहा- अभी कुछ देर दर्द होगा फिर तुम्हें बहुत मजा आएगा.

उसे मेरी बीवी पसंद आ गयी थी, वो मेरी सेक्सी पत्नी ऋतु के साथ सेक्स करना चाहता था. उस समय तक मेरी ठरक इतनी बढ़ चुकी थी कि कोई दूसरा मर्द भी होता जो मेरी गांड की प्यास बुझा देता. उसकी बुर काफी लपलपा रही थी, उसमें से प्रीकम निकल रहा था, जो चुदाई के लिए चिकनाहट बना रहा था.

अलका रानी के पैर कितने सुन्दर हैं ये फिर से बताने की आवश्यकता नहीं है. फिर मैंने अपना हाथ उसकी पेंटी के अन्दर डाल दिया और चुत पर फेरने लगा. जबकि उसकी उम्मीद थी कि मैं शादीशुदा होने की वजह से उसकी नहीं हो सकती थी.

फिर वो अपनी माँ बिंदु को देख कर बोला- माँ इसमें यहाँ तो कुछ है ही नहीं!बिंदु माँ ने जवाब दिया कि अब तू आ गया है तो मुँह में भर कर खींच खींच कर इसके नींबुओं को संतरा बना दे ना.

देहाती जंगल की बीएफ: तब मैंने भाभी को ध्यान से देखा, लगभग 26 से 28 साल की उम्र की, गोरी जिसने क्रीम कलर के फ्लावर वाला सूट पहन रखा था. बहुत अच्छा काम है आपका, और शब्द भी बहुत छांट कर लाए हैं आप!” नताशा मुस्कुरा कर बोली.

एकता ने अपनी चुत सहलाते हुए कहा- अकेले अकेले चालू हो गए?डॉली ने कहा- कम ऑन जॉइन अस. दिल्ली में मिल ले प्लीज, फिर देखो मैं तुझे क्या क्या पिलाता हूँ! उसने हँसते हुए कहा. हम फिर से गर्म हो गए थे और फिर मैंने एक झटके से उसका टॉप निकाल दिया.

उसे मेरा सूट पहनना ज्यादा पसन्द था, इसलिए मैंने एक लाल रंग का सूट पहन लिया.

इसके बाद भाबी भी पानी में भैया के साथ मस्ती करने लगीं और बोलीं कि चलो एक गेम खेलते हैं, हम में से किसी एक इंसान की आँखों में ब्लैक पट्टी बाँधते हैं और उस इंसान को दूसरे इंसान को छू कर बताना है कि वो कौन है. पर खुद सोचा कि कहाँ यार एक बार भी सेक्स करने को नहीं मिलता, यहाँ खुद ही मौके और जगह बनती जा रही है. मगर नीना ने जब उसे डॉक्टर से केवल एक मिनट के लिए मिलाने का रिकवेस्ट किया तो डॉक्टर ने आवाज देकर कहा- दातादीन, तुम मैडम को भेज दो.