उड़ीसा सेक्सी बीएफ

छवि स्रोत,जानवरों की सेक्सी फिल्म भेजो

तस्वीर का शीर्षक ,

हिंदी नई कहानियां: उड़ीसा सेक्सी बीएफ, मैंने लंड चुत में पेल तो दिया मगर मुझे आंटी की चुत मारने में मजा नहीं आ रहा था … इसलिए मैंने लंड खींच लिया और चुदाई के लिए मना कर दिया.

दूल्हा दुल्हन सुहागरात

आपकी सास एक हफ्ते के लिए नहीं हैं, आपके पति 10 दिन बाद आने वाले हैं. सेक्सी मोटी गांड चुदाईदोस्तो, मैं विशाल आप सभी का अपनी सगी मां की चुदाई की कहानी में स्वागत करता हूँ.

तब 1 लंड मेरी चूत और 1 लंड मेरे मुंह में था … मुझे सच में बहुत मज़ा आ रहा था. बुआ भतीजे की सेक्सी फिल्मइन दोनों से चुदने के बाद मैं नहा कर बाहर गयी और उन दोनों को काम का पैसा दिया.

देसी हॉट गर्ल सेक्स कहानी एक ऐसी लड़की की है जो सेक्स की चाहत में अपने पति के दोस्त से चुदने लगी.उड़ीसा सेक्सी बीएफ: अचानक वो घूम गईं और उन्होंने देखा कि मैं उन्हें पर्दे में से देख रहा हूँ.

जब प्रभा ने एकदम से मुझे ना कह दिया, तो मैंने भी उसको कुछ नहीं बोला और वापस अपनी कुर्सी पर आकर बैठ गया.मैं सोफे से उठा और अलमारी से एक छोटे साइज की सफेद शर्ट और लाल पैंट फ़लक को दी और कहा- चलो यह पहन कर दिखाओ, देखें तुम कंपनी की यूनिफॉर्म में कैसी दिखाई देती हो?फ़लक ने मुझसे दोनों कपड़े लिए और मुस्कुराते हुए बाथरूम की ओर चल दी.

বিউটি সেক্স - उड़ीसा सेक्सी बीएफ

लंड चुत में लेते ही भाभी बहुत जोर से चीख पड़ीं- हाय रब्बा … मैं मर गई आह मम्मी रे मुझे बचा लो!उनकी चुत से खून बहने लगा.मैं विशाल को बोली- तू कुर्सी पर बैठ … मैं तुझे जन्नत की सैर कराती हूं.

मैंने भाबी की मदभरी आंखों में झांक कर कहा- ठीक है भाबी आप कहती हैं, तो मैं यहीं सो जाता हूँ. उड़ीसा सेक्सी बीएफ अब शेखर की उंगलियां धीरे-धीरे सरकते हुए ठीक धारा की चूत के ऊपर पहुँच चुकी थीं.

”जी हां सही सोचा बहनो … मैंने भाभी की चुत पर लंड फिरा कर गांड में डाल दिया था, जिससे भाभी को झटका लगा.

उड़ीसा सेक्सी बीएफ?

मेरे भाई की शादी दो साल पहले एक बहुत खूबसूरत लड़की से हुई थी, जिनका नाम स्नेहा है. ” के बाद उन्होंने बताया कि मनोज तेरे जीजा को शादी से पहले से डाइबिटीज़ है और उनकी किडनी भी खराब हो चुकी है. जल्दी ही भाभी की चूत ने प्रीकम छोड़ दिया और उनकी चूत से लिसलिसा सा पानी निकलने लगा.

नमस्कार दोस्तो, मैं राज़ शर्मा हिन्दी सेक्स कहानी पर आपका स्वागत करता हूं. थोड़ी देर बाद फिर मुझे अहसास हुआ कि फिर कोई मेरे लंड के साथ खेल रहा है. तो दोस्तो, नौकर से जोरदार चुदाई का मजा की कहानी आपको कैसी मुझे इस बारे में जरूर लिखना.

वहां पहुँच कर मैंने डोर बेल बजायी तो मोहन ने दरवाजा खोला और हम बाहर गार्डन में बैठ गए. मैंने अपनी बेटी के हक के लंड मतलब शहजाद के लंड से चुदने का पूरा मन बना लिया था. उस वक़्त लगभग सब मुझपर ही आकर्षित हो रहे थे, लेकिन मेरा पूरा ध्यान अपने शहज़ाद पर था.

तभी उसने हाथ बढ़ा कर बैग में से डिल्डो निकाला और खुद अपनी गांड में डालने लगी. मीरा ने लंड को अपनी चुत में ले लिया और लंड चुत में लेते ही उसने मादक सीत्कार निकाल दी.

फिर मेरे एक दूध को मुँह लेकर चूसने लगा तो मैं अपने हाथ से दबाते हुए उसको अपनी चूची चुसवाने लगी.

आंटी ने हां कर दी और रूम में आ गईंउन्होंने टीवी फिर से चलाया और मुझे अकेला बैठा कर आंटी दूसरे रूम में चली गईं.

मम्मी ने बताया था कि आज उसकी दुकान बंद रहती है, तो तुम पीछे के दरवाज़े से अन्दर चली जाना. जया ने प्रिया की टपकती चुत में मुँह लगा दिया, तो प्रिया, जया से अपने मम्मों को भी दबाने का कहने लगी. तू कल भी आना कल भी तेरी चूत मारूँगा, आ कुतिया और धक्के दे नीचे से!इसी धकापेल में उसने अपना सारा माल निकाल दिया शिखा की चूत में!माल ज्यादा नहीं था, वो भी दो-तीन बार पहले निकाल चुका होगा।शिखा ने मुसकुराते हुए उसे लिप किस किया और गुडनाइट बोल के टिशू से अपनी चूत पौंछते अपने सोफ़े पर आई।अब जाने का टाइम हो गया था.

इस तरह से वो मेरेलंड की दीवानीहो गई और जब तब मेरे साथ सेक्स का मजा लेने आने लगी. आपको मेरी भाभी की चुदाई की कहानी जिसमें देवर ने भाभी को चोदा, कैसी लगी, प्लीज़ कमेंट्स करके जरूर बताएं. मुझे इतना टाइम इसलिए लग रहा था कि घर के पास की बात थी और मैं कोई गलती नहीं करना चाहता था.

हम दोनों बहुत गर्म हो चुके थे, दोनों की आंखें लाल और उत्तेजना के कारण चेहरे भी लाल हो चुके थे.

उसने कहा- आपकी गांड का क्या साइज है?मैंने कहा- पता नहीं, मैंने कभी नाप नहीं लिया है. हैलो मेरी जान से प्यारे मेरे दोस्तो, मैं आपकी प्यारी सबीना, एक बार फिर से अपनी सेक्स कहानी में स्वागत करती हूँ. निखिल ने मीरा की कराहती हुई आवाज़ सुनी तो वो रुक कर बोला- मौसी दर्द हो रहा है क्या?वो बोली- नहीं, बस तू धक्के देता जा.

चूंकि मैं मिडल क्लास फैमिली से हूँ इसलिए ऊपर वाले से मुझे पैसों से गरीब बनाया है. उसके ऐसे हमले से सोनम ख़ुद की सिसकारियां रोक ना सकी और मानस का सर उसने और जोर से अपनी चुत पर दबा कर कहा- चूस मेरे राजा, पूरा घुस जा मेरी इस मादरचोद रंडी फुद्दी में, झाड़ दे मुझे … आह बड़े दिनों के बाद आज कोई मेरी इस निगोड़ी चुत को चूस रहा है … अह्हह आआह ह्ह ह्म्म्म चूस्स कुत्ते चूस!वो ना जाने क्या क्या बोले जा रही थी. सेक्सी टीचर हॉट स्टोरी में पढ़ें कि एक प्राइमरी टीचर ने मेरी कहानी पढ़ कर मुझसे दोस्ती की.

मेरी उम्र अभी 21 साल हो गयी है और मेरी चुचियों का साइज बढ़ कर 36 इंच का हो गया है.

मैं उसी के ऊपर निढाल सा गिर गया क्योंकि मैंने काफी टाइम बाद सेक्स किया था. दूसरे हाथ से लन्ड को मैं उसकी चूत के द्वार पर रगड़ने लगा।मदहोश नेहा कमर हिला कर मस्ती में खोने लगी.

उड़ीसा सेक्सी बीएफ उन्होंने मेरा हाथ पकड़ लिया और …नमस्ते दोस्तो, मैं चुदाई की दीवानी शबनम हाजिर हूँ एक नई कहानी लेकर।मेरी पिछली कहानी थी:मामा जी ने चुत चुदाई की होली खेलीफिर से मेरी चूत में खुजली हुई और मैंने अपने जेठ का लंड ले लिया. बात आगे कैसे बढ़ी?दोस्तो, मैं अनुज आपकी सेवा में पड़ोस में रहने वाली हॉट सेक्सी भाभी की कहानी लेकर हाजिर हूँ.

उड़ीसा सेक्सी बीएफ उसके बाद मैंने उसके सर के नीचे से तकिया हटाया और उसकी गांड के नीचे लगा दिया. मैं नीचे बैठकर उसके पास गई और उसका लंड अपने मुंह में रखकर चूसने लगी.

क्योंकि मुझे भी ये सब पसंद था तो मैंने कहा- क्या भैया आप भी!उसने कहा- देख ले तेरा मन हो तो चुम्मी ले लेने दे.

हिंदी मूवी सेक्सी वीडियो एक्स एक्स एक्स

मैंने पहले कभी कोई सेक्स कहानी नहीं लिखी है, इसलिए मुझसे कोई ग़लती हो जाए तो माफ़ कर देना. फिर मैंने उसकी गर्दन पर किस करना शुरू किया, जिससे वो सिहर गई और उसने एक तेज आह भरी. उसे बिना देखे मेरा मन उदास हो गया था और ऑफिस में मेरा मन नहीं लग रहा था.

आज तक कभी मैं मेरी चुदाई से संतुष्ट नहीं हो सकी थी और ना ही वो मुझे संतुष्ट कर पाते हैं. उसका लंड लेकर मैं अभी संभल ही नहीं पाई थी कि वो बहुत तेज तेज धक्के लगाने लगा. अब उसने धीरे-धीरे धक्के देने शुरू कर दिए मुझे ऐसा लग रहा था कि वह मेरा मुंह नहीं मेरी चूत चोद रहा है.

आपने पिछली सेक्स कहानीजवान लड़के का लंड चूसकर माल पीयामें पढ़ा था कि किस तरह मेरे पड़ोसी के बेटे गौतम ने अपनी बर्थडे पर मेरी जवानी गिफ्ट के रूप में मांग ली थी.

धारा- अच्छा जी … तो आपको यक़ीन नहीं हो रहा है कि ये मैं ही हूँ! दो मिनट रुक जाइए फिर आपको यक़ीन हो जाएगा. सोनम की तरफ देख के उसने झट से उसके खुले हुए मुँह में अपना लंड पेल दिया और जोर जोर उसका मुँह चोदने लगा. समय निकलता जा रहा था लेकिन समझ में नहीं आ रहा था कि शुरू कैसे करूं क्योंकि वो भाभी मेरे तरफ देखती भी नहीं थी.

थोड़ी देर तक गांड चाटने के बाद मैंने लंड उसके मुँह में डाल दिया और एक बार चुसा कर गीला कर दिया. वह बड़बड़ाने लगी- आह अब मुझसे रहा नहीं जा रहा है … प्लीज डाल दो मत तड़पाओ प्लीज डाल … दो डाल दो ना जान … मत तड़पाओ … इतने समय से तड़पा रहे हो … प्लीज डाल दो. चाची भाग कर मोंटू के पास गई और उसपर हाथ रखकर थोड़ी देर उसके पास बैठ गई.

अनिकेत भैया बाथरूम के गेट पर आकर खड़े हो गए और दरवाजे को खटखटाने लगे. मैंने सोचा कि शायद बेटे की वजह से इन्होने अंधेरा किया है, तो मैं बिस्तर की तरफ आने लगा.

मेरी मम्मी उत्तेजना से भर गईं और उन्होंने निखिल के बालों को पकड़ लिया. इस तरह अब रात के 9 बजे से कुछ ऊपर समय हो गया था; मुझे बहुत तेज़ ठंड भी लगने लगी थी. इस क्रिया से मेरा लंड एकदम कड़क हो गया और उसकी टांगों में कुछ ज्यादा ही चुभने लगा.

रास्ते में मेरी और चाची की कोई ज्यादा बात नहीं हुई, हम दोनों बस एक दूसरे को देखकर मन ही मन खुश हो रहे थे.

भाभी ने मेरे लंड को देखा और बोलीं- देवर जी आपका तो लंड बड़ा हो गया है … अब इसका क्या करोगे!मैं- भाभी सब आपके दूध चूसने का नतीजा है. मैं आ गया तो वो मेरा लंड चूसने लगी और मैं उसकी चूत में मस्त हो गया. मैंने जैसे ही अपनी पैंटी पहनी … उन्होंने आकर मेरी पैंटी उतार दी और मेरी चूत में अपनी दो उंगली डाल दी जिससे कि मेरी आह निकल गई.

मैं इससे और भी ज़्यादा तड़प उठी और मैंने उसका कड़क लंड उसकी पैंट के ऊपर से ही पकड़ लिया. मैंने अपने चूतड़ों को जोर जोर से ऊपर नीचे करके लण्ड को चूत की जड़ तक चलाना शुरू किया.

मैंने दांतों से उसकी पैंटी की कोर पकड़ी और धीरे से उसे नीचे खींचने लगा. उनकी पैंटी के नीचे से मैंने अपना लौड़ा डाल दिया लेकिन लण्ड चूत के अंदर नहीं गया और नीचे की ओर चला गया. तभी विजय का बाप नामदेव उन दोनों के नजदीक आ गया और दोनों को एक साथ किस करने लगा.

सेक्सी फुल चुदाई वाली

नंगी चूत दिखाने की कहानी का अगला भाग:आखिर मेरे बेटे का बाप कौन है- 8.

वो बोली- तुम बताओ कि तुम्हारे हाथ मेरी पैंटी में क्या कर रहे हैं!मैंने कहा- मेरा हाथ तुम्हारी मुनिया को प्यार कर रहा है. इस स्टोरी ऑफ़ सेक्स इन रिलेशनशिप में पढ़ें कि कैसे मैं अपनी चाची को चोदना चाहता था और चाची भी मेरे लंड का मजा लेना चाहती थी. उसने ऋतु को डॉगी स्टाइल में खड़ा किया और पीछे से लंड पेल कर उसे चोदने लगा और उसकी गांड में थप्पड़ मारने लगा.

अब उसने मुझे सोफे पर बिठाया और मेरी चूत में ग्लिसरीन लगाकर एक जोर का झटका दे मारा. उसकी उठती गांड देख कर मैंने अपनी रफ्तार बढ़ा दी और उसको जोर जोर से चोदने लगा. पोर्न वीडियो हॉट सेक्सीदोस्तो नमस्कार!मैं आपकी अपनी चुदक्कड़ बीवी अपने आत्मकथा में स्वागत करती हूं और आप लोगों का दिल से शुक्रिया अदा करती हूँ कि आपलोग मुझे इतना ज्यादा प्यार दे रहे हैं मेल करके और इंस्टाग्राम पर बातें करके.

मैंने जानबूझ कर सामने से जाने के बाद मेन गेट बंद कर दिया और अब मैं चुपके से सीढ़ी से चढ़ कर ऊपर आ गई. ससुराल से वापस आते हुए मैंने रास्ते से एक बोतल ले ली ताकि रात को आराम से पी कर मस्ती कर सकें.

धारा- हम्म … चलो ये जान कर अच्छा लगा कि एक मर्द होकर भी आप औरत की इच्छा और ख़्वाहिशों के बारे में सोचते हैं. मयंक के तेज धक्कों के कारण संगीता के चूतड़ मयंक की जांघ पर फट फट पटपट की आवाजें निकाल रहे थे और नीचे चूत में से फच फच पूच पूच की आवाज आ रही थी. अब जब भी मैं लंड को चुत में दबाने की कोशिश करता था, तो उसे दर्द होने लगता था, जिससे वो कराह उठती थी.

वो बोली- सर, ये सब आप मम्मी को तो नहीं बताओगे न?मैं- नहीं, ये हम दोनों के बीच रहेगा. राज बोला- साली बहन की लोड़ी … तेरी मां की चूत … मादरचोद … हमारे हाथ पैर खोल कर देख, तेरी कैसी मां चोदते हैं. वो दोनों सुबह सुबह कभी छत पर चुदाई में लग जाते थे तो कभी ऑफिस से छुट्टी लेकर चुदाई का मजा लेने लगते थे.

अब मेरी शन्नो रंडी भी अपनी गांड आगे पीछे करने लगी और बोलने लगी- राज चोदो मुझे … और चोदो अपनी शन्नो रंडी को.

इतने दिनों से प्रिया की चुत गांड चुदी नहीं थी, इसीलिए उसे बहुत ज्यादा खुजली हो रही थी. पर आप और मम्मी की दोनों वीडियो में मम्मी की चूत बिल्कुल नीट एंड वलीन और आप के भी लन्ड पर भी अभी की तरह वीडियो में भी एक भी बाल नहीं.

अंकल ने मेरे बाल सहलाए और कहा- प्यार से कर न मेरी जान … तुझे बहुत मजा आएगा. मैंने कहा- आज चाय नहीं पिलाओगी?वो गर्म थी … इसलिए लड़खड़ाती आवाज से बोली- हां … पिलाऊंगी. मौसी Xxx कहानी में पढ़ें कि मैं अपनी गर्लफ्रेंड की मौसी के साथ रियल ओरल सेक्स कर चुका था.

साले कई कई रानियां रखते थे … एक अगर पीरियड में हो, तो दूसरी ठोकने को मिल जाती थी, क्यों दी?तन्वी अन्दर घूमते हुए बोली- अदिति, मेरी एक बात मानेगी?अदिति- यस माय डियर सेक्सी दी … कहो क्या बात है?तन्वी अपना हाथ आगे बढ़ाते हुए बोली- तू मुझे दीदी बोलना छोड़ दे, मैं तुझसे ज्यादा बड़ी नहीं हूँ. एक ऑटो में किसी तरह समीर घुसा तो उसमें पहले से चार लोग उधर और इधर भी तीन लोग बैठे थे. मैं अपने आपको रोक नहीं पा रहा था और मैंने जोर जोर से भाभी के निप्पल को अपने होंठों में दबा कर चूसना चालू कर दिया.

उड़ीसा सेक्सी बीएफ ये सब देख कर मैं पीछे हट गया और अब आगे जो होने वाला था, उसे देखने के लिए बेताब हो रहा था. मैंने पूछा क्या हुआ आप चौंक क्यों गईं!भाभी हंसती हुई बोलीं- अनुज मुझे केएलपीडी का अर्थ सही में नहीं मालूम था.

राजस्थानी देसी लड़की की सेक्सी वीडियो

वो बोले- लीसा, मुझे भूख लगी है कुछ खाने का है?आंटी ने उनसे कहा- आप अन्दर चलो मैं आती हूँ. हमारी लम्बी चली चुदाई में आशारा पस्त होकर ऐसे लुढ़क गई कि उसकी नींद ही लग गई. सब मुझसे अक्सर कहती थीं कि तू बहुत किस्मत वाली है जो तेरा बॉयफ्रेंड का लण्ड बहुत बड़ा है.

कुछ देर बाद बाजू में संगीत बजने लगा और डीजे पर नाच गाना शुरू हो गया. इस बार की जो सच्ची लॉकडाउन सेक्स कहानी है, मुझे आशा है कि वो आपको पसंद आएगी. सेक्सी व्हिडीओ नेपालशेखर- आपको कैसे पता चला? मैंने तो अभी तक अपना नाम बताया भी नहीं है।धारा- ललित हमेशा इस चैट रूम की बातों को सेव करके रखते हैं.

चाची कहने लगी- आगे से अपने दोनों हाथ बढ़ाकर मेरी चूचियों को मसलता रह और पीछे से लोड़े को चूत में चलाता रह!मैं चाची के बताए अनुसार करता रहा और धीरे-धीरे अपना लंड चलाता रहा.

फिर जब मुझे लगा कि मेरा रस निकलने वाला है तो मैंने उन तीनों को खड़ा कर दिया और तीनों के चेहरे पर लंड से वीर्य की पिचकारियां मारनी शुरू कर दीं. इससे पहले नीतू रूपाली को नंगी देखकर किसी भी तरह की कोई प्रतिक्रिया देती, रूपाली ने नीतू को अपने गले से लगा लिया।दोनों कुछ देर तो गले लगी रही लेकिन नीतू न विरोध कर रही थी और न ही सहयोग कर रही थी.

बाथरूम से वापस आते समय मैंने उसको वहीं पर अपनी गोद में उठा लिया और उसको लेकर सीधा पलंग पर आ गया. मुझसे थोड़ा बहुत बोलती और मजाक करती है क्योंकि मैं काफी सालों से सार्थक के घर जा रहा हूं. ”जैसे ही भाभी को मस्ती आनी शुरू हुई, मैंने उंगलियां भाभी की चूत में डाल दीं और जोर जोर से हिलाने लगा.

फिर मैं भी मर्द का स्पर्श पाकर गर्म होने लगी और मैंने होंठ खोलकर उनका साथ देना शुरू कर दिया.

फिर मैंने उसको गले से लगा लिया और बोली- मैं कल दे दूँगी, जो भी तुम्हें पसन्द हो. चाय पीने के थोड़ी देर बाद मैं ऊपर आ गया और आंटी की चूचियों को सोचते सोचते मुठ मारने लगा और अपना वीर्य निकाल दिया. धारा- अच्छा जी … तो आपको यक़ीन नहीं हो रहा है कि ये मैं ही हूँ! दो मिनट रुक जाइए फिर आपको यक़ीन हो जाएगा.

ಸೆಕ್ಸ್ ವಿಡಿಯೋ ಕಾಲ್शेखर ने भी उसकी कमर को अपनी तरफ़ खींच-खींच कर लंड के झटके देने शुरू किए. फिर कुछ देर बाद जब मैं जाने लगी तो उसने कहा- अरे मालकिन ज़रा देर बैठिये न … कहां जाएंगी.

लड़का के सेक्सी

जब मैंने स्तनों की चुदाई कर ली तो मैंने खुद ही आशारा के मुँह में लंड दे दिया. पहले मैंने उसके लोअर को निकाल दिया और साथ ही उसकी ब्लैक पैंटी को हाथ लगा दिया. दुकान में मौजूद सारे मर्द उसे घूर कर देख रहे थे जैसे उसे अभी मिल के चोद देंगे।तब मैंने बिल का पेमेंट किया उन लोगों ने थोड़ी देर और अलग अलग दुकानों से सामान खरीदे.

मैंने सोचा- अगर इसकी माँ अपनी चूत चुदवा रही है, तो क्यों न बेटे को तो कोई गिफ्ट दे ही दिया जाए. एकदम चाची बोली- राज, मेरा बस अब छूटने वाला है, दोनों साथ ही डिस्चार्ज होंगे. मैं शर्माने लगा, तो उसने कहा- दो उंगलियों से करवाने में और ज्यादा मजा आएगा.

पहली ही नजर में उस पर दिल आ गया और मैं उसे पाने की योजना बनाने लगा. फिर मैंने सोचा कि चुदना ही है, तो अपने जेठ से चुद कर थोड़े पैसे क्यों लूं? किसी अमीर आदमी के नीचे आकर ज़्यादा पैसे लूंगी. आंटी मेरी तरफ वासना से देखते हुए बोलीं- तुम किसी को मत बताना, मैं तेरी भूख मिटाने को रेडी हूँ, पर अभी नहीं.

भाभी की चूचियों का दूध पीते पीते अब अब मेरा लंड इतना तन गया था कि मानो कोई बड़ा लोहे का औजार हो. आंटी ने हां कर दी और रूम में आ गईंउन्होंने टीवी फिर से चलाया और मुझे अकेला बैठा कर आंटी दूसरे रूम में चली गईं.

हुआ ये कि शेखर ने चूत पर रखे अपने हाथ के अंगूठे को दाने पर केंद्रित कर दिया और अपनी बीच वाली उंगली को धीरे से नीचे ले जा कर धारा की चूत के दरवाज़े के अंदर डाल दिया.

तीसरे भागबहन चोदने वाले दोस्त से बदलामें आपने देखा कि रेशम ने कृति के साथ मिलकर काव्य को प्रेसिडेंट पद से हटा दिया। अब अगले 6 महीने के लिए उसे प्रेसिडेंट चुन लिया गया था।अब आगे सेक्सी बहन की कहानी :कृति रेशम के घर पहुंची. सेक्सी कहानी देवर भाभीहैलो फ्रेंड्स, मैं आपकी अरुणिमा एक बार फिर से अपनी चुदाई की कहानी में स्वागत करती हूँ. आंटी जी सेक्सी वीडियोमैं माफी मांगता हूँ अगर मैंने आपका दिल दुखाया हो तो, पर मैं उस वजह को जानना चाहता हूँ … जिसने आपको गलत रास्ते पर चलने पर मज़बूर कर दिया है. चाय रखते समय मैं खास करके उसके सामने झुकी, जिससे उसको मेरे मखमली सफेद गुम्बदों के दीदार हो सकें.

कमरे में बस धारा की सिसकारियां ही सिसकारियां सुनायी दे रही थीं।साथ में शेखर के मुँह से निकल रही गर्म साँसों की आवाज़ भी उन सिसकारियों के साथ मिलकर वासना का गीत गा रही थीं.

वैसे भी इसकी चूत की सेवा नहीं हुई; इसके हिस्से की सारी मेहनत तो तू मुझ पर कर रहा है. उसने कहा कि ये सच है … हां शुरू में थोड़ा दर्द होगा, पर बाद में बहुत मजा आएगा. मेरी सेक्स कहानी उन दिनों की है, जब मैं 19 साल का था और 12वीं कक्षा में था.

उसने कांपते होंठ मेरी ओर बढ़ाए … और मैंने उन्हें अपने होंठों से थाम लिया. लेकिन ये भी तो हो सकता है कि आप रात में कहीं व्यस्त हों … फिर कैसे बात होगी?धारा- हां शायद … वैसे आपको बता दूँ कि मैं यूँ ही हर किसी के लिए अपनी रातें ख़राब नहीं करती. मैंने कहा- अरे यार तसल्ली रखो … जैसे ही पाटन आ जाऊंगा, तुम्हें कॉल कर दूंगा.

इंडियन औरत सेक्सी वीडियो

मेरे प्यारे दोस्तो, कैसे हैं आप सभी?उम्मीद करता हूं आप सभी स्वस्थ और खुशहाल होंगे. भाभी की चीख निकल गई, वो तड़फ कर बोलीं- आह नहीं … मारोगे क्या … आह बहुत बड़ा है … मुझे नहीं सहा जाएगा निकाल लो. कभी किस नहीं कर पाता था, तो मेरे दूध मसल देता था या मेरी गांड दबा देता था.

मुझे पता नहीं क्या सूझा, जो उनकी चूत से रस की बूंदें टपक रही थीं, मैं उन्हें पीने के लिए अपना मुँह उनकी चूत की तरफ ले जाने लगा.

हमें देख कर उन्होंने एक मजदूर को बोल कर एक खटिया मंगाई और हमको बैठने का कह कर अपने काम में लग गए.

चिराग- आज कुछ तूफानी हो जाए?ज्योति- क्या?चिराग- वही जो शादी के बाद होता है?ये कह कर चिराग ने धीरे से ज्योति के निप्पल मसल दिए. वो नंगे ही मेरे ऊपर चढ़ गए और अपने घुटनों से उन्होंने मेरी जांघें चौड़ी कर दीं।फिर उन्होंने अपना लंड मेरी चूत पर रखा और कहा- शबनम, बहनचोद! लंड घुसवाने के लिए तैयार हो जा रंडी।मैं बोली- जेठ जी प्लीज धीरे धीरे घुसाना. सेक्सी में ब्लू पिक्चर भेजोऔर वो रह रह कर मेरी तारीफ भी कर रहा था, इसलिए मैं और खुश हो रही थी।मेरे घर से फोन आया तो मैंने बताया- हाँ हम शादी में हैं और खूब मजे कर रही हैं।फिर मैं फोन काट के अजय के पास आयी तो वो भी किसी से फोन पे बात कर रहा था।वो कह रहा था- तुम टेंशन मत लो, मैं ध्यान रखूँगा.

सवा ग्यारह हो चुके थे, मैं बाहर गार्डन में बैठ कर सिगरेट पीते हुए शीना की प्रतीक्षा करने लगा. मैंने तभी उनका हाथ अपने लंड पर रख दिया तो वो भी पैंट के ऊपर से लंड दबाने लगीं. जितना मजा उन्होंने मुझे दिया था, उससे कहीं ज्यादा मैं उनको देना चाहता था.

लेकिन उस दिन जब पीटीएम में स्कूल गया और सितारा से मुलाकात हुई तो दिल दिमाग में कुछ चलने लगा. फिर मैं धीरे से नेहा की पीठ पर चाटते हुए उसकी कमर पर जा पहुँचा और फिर धीरे धीरे उसकी गाँड पर चूमने लगा.

जैसे ही मेरा लंड खड़ा हुआ, उसने लंड को अपने मुँह में डाल लिया और अपने होंठों से मेरे लंड की मसाज करने लगी.

जब वो अपने मामा के घर गयी थी तो क्या हुआ?हाय दोस्तो,पूरा परिवार लंड चुत गांड चुदाई का रसियासे ही जुड़ी हुई दूसरे शीर्षक से प्रस्तुत इस रसीली सेक्स कहानी में आपका एक बार फिर से स्वागत है. उसे समझ आ गया था कि उसका होने वाला दामाद चुदाई के मामले में एक सांड जैसी ताकत रखता है. मैं भाभी के ब्लाउज के हुक खोलने लगा और उनकी ब्रा के ऊपर से ही उनके मम्मों को चूमने लगा.

𝘀𝗲𝘅 𝘃𝗶𝗱𝗲𝗼 उस समय अकेले में मैं अपने मोबाइल में एडल्ट्स पिक्चर्स देखती रहती हूँ और अन्तर्वासना की गर्म सेक्स कहानियां पढ़ कर अपनी चूत में उंगली करके अपने आपको ठंडा कर लेती हूँ. फिर मैं धीरे से राज के पास गई और पैंट के ऊपर से ही उसका लंड सहलाने लगी.

स्नेहा- और बता साली … बस में क्या क्या किया?ज्योति- तुझे क्यों जानना है. आज फ़ाड़ दे मेरी, और तेज़ तेज़!मैं भी जोश में आ गया और क़मर पकड़कर तेजी से झटके पे झटके लगाने लगा. उसने अपनी चुदाई के लिए क्या क्या पापड़ बेले?दोस्तो, मैं आपकी प्यारी सी अरुणिमा अपनी एक पूर्व सेक्स कहानी की श्रृंखला को आज आगे लिख रही हूँ.

सेक्सी वीडियो दिखाओ फोटो

यह गर्म लड़की सेक्स कहानी तब की है, जब मैं हायर सेकेंडरी स्कूल की पढ़ाई कर रहा था. मैं अन्दर गया और उससे कुछ बोलता, वो मेरे चेहरे को पकड़ कर किस करने लगी. मैं जोर जोर से उनकी फूली हुई चुत को जीभ से चाटने लगा; साथ में उनके मम्मों को जोर जोर से दबाने लगा.

साले अमित ने ना जाने कौन सी पॉवर मिला दी थी कि मैं कोमल को चोद चोद कर थक गया था पर कोमल तो और गर्म हुई जा रही थी. उसकी अम्मी ने मुझे वासना भरी नजरों से देखा तो समझ गया कि ये साली पूरी नेशनल हाइवे है और बड़े बड़े ट्रक इस पर से गुजर चुके हैं.

उसने लगातार दो तीन बार में अपना पूरा 8 इंच का लंड गांड के अन्दर डाल दिया.

रूपाली और देवर जी ने अभी अभी चुदाई शुरू की है इसलिये मुझे भी चुदने का मन करने लगा तो मैंने तुमको जगा दिया. दारू पीते पीते अंकल बात करने लगे- तुम्हारी कोई गर्लफ्रैंड है क्या?मैं- नहीं, अभी तो नहीं है!अंकल- तुम तो बड़े स्मार्ट हो, अभी तक कैसे नहीं बनाई?दोस्तो, मेरा कद 5 फुट 7 इंच है, वजन 77 किलो, रंग गोरा और दिखने में औसत या औसत से थोड़ा अच्छा हूँ. मैं सुध-बुध खो चुका था, मुझे पता ही नहीं चल रहा था कि क्या हो रहा है.

उनके पति यानी भैया एक सरकारी बैंक में नौकरी करते थे, तो वो अपने घर से बाहर ही रहते थे. मैंने शीना को सोफे पर बिठाया और बोला- कोई बात नहीं शीना, सॉरी बोलने की कोई जरूरत नहीं है. चिराग- अच्छा मैं गंदा … पानी खुद ने गंदा करवाया और इल्जाम मुझ पर? अब इसका मैं क्या करूं?ज्योति खड़े लंड को देखने लगी.

तो दोस्तों कैसी लगी मेरी हॉट वुमन सेक्स कहानी … अगर कोई गड़बड़ हुई हो, तो माफी चाहता हूं.

उड़ीसा सेक्सी बीएफ: भाभी के होंठ … जैसे मानो शहद में डुबो डुबो कर लौड़ा चूसने के लिए ही बने हों. मैंने मोबाईल का फ़्लैश चालू रख कर उसे दीवार से टिका दिया ताकि रूम में थोड़ा उजाला हो जाए.

काफी लम्बी चुदाई के बाद मेरा निकलने वाला था तो मैंने बोला- मेरा माल आ रहा है … रस कहां लेगी मेरी रंडी!आंटी बोलीं- मुझको बच्चा चाहिए तेरे से क्योंकि तू दिखने में हैंडसम है. मैंने तेज तेज दस बारह शॉट मारे और उसकी चुत के अन्दर ही अपना माल छोड़ दिया. वैसे मैंने इसलिए किया कि तेरी बहन मेरी सहेली है और उसकी चुत में आग लगी है.

पर जवाब देने में देरी हो सकती है लेकिन आप इस मस्त देसी सेक्स कहानी के लिए अपने मेल लिखने में कंजूसी हरगिज न करना दोस्तो.

शेखर- अरे नहीं नहीं … उसकी ज़रूरत नहीं है।धारा- अगर आप कहें तो मैं आपकी मालिश का इंतज़ाम करवा सकता हूँ।शेखर- अच्छा … वो कैसे?धारा- अरे धारा है ना … बहुत अछे से मालिश करती है वो!अब धारा का ज़िक्र छिड़ते ही शेखर मुस्कराने लगा और धारा के हाथों मालिश करवाने के ख़्याल से ही सके बदन में झुरझुरी होने लगी. मैंने देखा कि भाभी उदास सी हो गई थीं और उनकी आंखों में आंसू आ गए थे. सामने आयी उसकी गहरी गोल नाभि!सपाट पेट पर जैसे मय का प्याला रखा हो!मैंने उस नाभिनुमा प्याले में जीभ डालकर होंठों में दबा लिया और उंगलियों से धीरे-धीरे उसके पेट और चूचियों को सहलाने लगा तो वो आहें भरने लगी.