हिंदी बीएफ मां और बेटे का

छवि स्रोत,सेक्सी फोटो सेक्सी फोटो सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

मौसी के सेक्सी बीएफ: हिंदी बीएफ मां और बेटे का, वो दर्द से कराहते हुए बोली कि बाहर निकाल लो इसे … ये नहीं जा पाएगा.

आरती की नंगी फोटो

वो ज्यादातर बाहर ही रहता था, इस वजह से भी भाभी असंतुष्ट थी और अपने पति से परेशान रहती थी. मुंह में लंडभाभी ने भी मेरा सर अपनी चूत में दबा दिया और कहने लगी- ह्म्म्म चाट … इसे चाट … ह्म्म्म्म मम्म … और जोर से … फाड़ दे आज … अपनी भाभी की चूत.

मगर मेरे मन में डर भी था कि कहीं कुछ उल्टा हो जाये और फिर सब गड़बड़ हो जाये. कैटरीना एक्स एक्स एक्सवो आज़ादी के लिए फड़फड़ा रहा था और कह रहा था कि इस कामुक मिलन का साक्षी मुझे भी बना लो.

उसके जाने के बाद रूम सर्विस वाली आई और बोली- मैडम, यह 10000 मिले हैं.हिंदी बीएफ मां और बेटे का: मगर मेरे पास तो बस पॉकेट मनी‌ से जोड़ तोड़ कर सारे ही छह सौ साढ़े छह रुपए के करीब पड़े थे.

अब मैं एक हार्डवेयर के स्टोर पर गयी और मैंने वहां से एक डक्ट टेप, नायलॉन की रस्सियां, मोमबत्ती और कुछ क्लिप ले लीं.फिर मैं मेडिकल शॉप पर गई और गर्भनिरोध की गोलियां ली क्योंकि मैं उससे बिना कंडोम के चुदना और उसका गर्म वीर्य अपनी चूत में लेना चाहती थी।मैंने शराब भी खरीदी और कुछ खाने पीने की चीजें भी खरीदी.

घोड़ा और लड़की की - हिंदी बीएफ मां और बेटे का

वो सामने से मुझे प्रपोज कर रहा था और मेरी समझ में नहीं आ रहा था कि मैं उसकी बातों के जवाब में क्या कहूं.जब मैं लेट कर सुट्टे मार रही होती हूँ तो मुश्ताक चूत में या तो जीभ घुसा देता है या लंड.

उस दिन के बाद से मेरी हिम्मत ही नहीं हुई कि मैं उसके दुकान पर जाऊं. हिंदी बीएफ मां और बेटे का तुम अपने मां बाप को मनाने की कोशिश क्यों नहीं करते?सागर- तुम कहती हो, तो मैं एक बार और कोशिश करके देखता हूँ.

अब लंड का पानी एक बार निकल चुका था, तो वो जल्दी से चुत को छोड़ने वाला नहीं था.

हिंदी बीएफ मां और बेटे का?

मुकेश की इस दोहरे मजे से सिसकारी रुकने का नाम नहीं ले रही थी- आआह डार्लिंग … मेरी जानेमन, तू सच में चुदैल नंबर वन है … आआह साली रंडी मेरी रखैल … मेरी कुतिया … आह अब बस भी कर मेरी चुदक्कड़ छिनाल. देविका कराहने लगी- आह नहीं … मुझे नहीं चुदना … आह दर्द हो रहा है … निकालो इसे बाहर!वो इधर उधर सर हिलाने लगी. वो बोली- मुझे बाहर के लड़कों से डर लगता है … कहीं मम्मा को पता लग गया, तो वो मुझे मार ही देंगी.

फिर उस कुतिया ने एक गैर मर्द के लंड को मुँह में ले लिया और उसे चूसने लगी, जिससे राहुल मदहोश होने लगा. वह मुझे लेने चौराहे पर आ गयी जहाँ आटो वाले ने मुझे उतारा था।फिर हम दोनों रोहित के कमरे पर आ गयी. मैंने उन्हें अपनी बांहों में दबाते हुए ऊपर उठा लिया और उनके होंठों पर किस कर दिया.

मेरा पर्स और उस कंडक्टर ने मुझे जो टिकट व बाकी के खुले‌ पैसे दिए थे, वो अभी भी नीचे ही पड़े थे. पूजा जवान थी, कमसिन थी और अभी अभी अपने पति से चुदते हुए स्खलित नहीं हुई थी लिहाजा इस समय उसके जिस्म की गर्मी भी बाहर निकलने को आतुर थी. जैसे कैसे मैं घर पहुंची तो बिना ब्रा की वजह से मेरा सीना उछल रहा था। अम्मी के पूछने पर मैंने बताया- अम्मी ब्रा की हुक टूट गई है.

मेरा गुलाबी सुपारा उसके होंठ के अन्दर गया ही था कि मैंने फिर से लंड ऊपर कर लिया. तब से ही मैंने उसके लिए एक वासना अपने मन में दबा रखी थी मगर इतने सालों में कभी मौका नहीं मिला कि उसके बदन को भोग सकूं.

इस कहानी के पात्रों में मेरा भाई शिवम और बड़े पापा (ताऊ जी) की बेटी का बेटा विवेक है.

अब मैं भाभी को बोली- भाभी, आप सच में बड़ी चालू हैं। आपने बहुत अच्छा प्लान बनाया है, थैंक्स भाभी।भाभी बोली- अच्छा ननद बाईसा, अब थैंक्स बोल रही हो जबकि मैं इतने समय से बोल रही हूँ.

दोस्तो, नंगी लड़की के जिस्म की कहानी में लंड चुत के मिलन का रस टपकने लगा है. मेरे से बड़ी क्लास के दादा टाईप के दबंग लौंडे मेरी गांड कसके मारते थे. फिर मैं चूत में लन्ड अन्दर बाहर करते करते उसके बूब्स को भी दबाने लगा.

मैं अपनी कहानी में सभी पात्रों के नाम चेंज कर रही हूं लेकिन रिलेशन सही-सही लिख रही हूं. आपको दो बेडरूम का मकान चाहिए था ना … मगर आपकी किस्मत में ड्यूप्लेक्स मकान है. मेरा काम‌ बस अब एक ही रह गया था और वो था उसे प्यार करके खुशी देने का.

उसने मुझे देखकर आज अपना मुँह नहीं बनाया बल्कि मेरी तरफ देखते हुए कहा- वो कल रात को लिए थैंक्स.

इधर अनिल ने अपनी जीभ पिंकी की चूत में करना शुरू की तो रवि ने अपना लंड पिंकी के मुँह में कर दिया; जिसे पिंकी लॉलीपॉप की तरह चूसने लगी. वैसे तो इस तरह की हालात पर मैं शायरा से काफी हंसी मजाक करता था, मगर मुझे वो‌ मूवी देखनी थी और मेरे कुछ कहने से शायरा टीवी को बन्द कर देती. कुछ ही देर में हम दोनों की नजरें एकदम से ऐसे जम सी गई थीं जैसे भाभी को मुझमें कोई शिकार दिख गया हो.

बेटी जितना तुम खुल कर गन्दी बातें करोगी तुम्हें चुदवाने में उतना ही मजा आयेगा. तो उसको क्यों ना विजय के साथ भेज दें! विजय का घर बड़ा है और शालू को वहाँ कोई तकलीफ नहीं होगी रहने में, इससे हमारे बच्चे भी सेफ रहेंगे और अगर शालू यहां रहेगी तो रात में बच्चे भी हमारे साथ सोएंगे. मैं उसकी इस बात जो सुनकर एकदम से चौंक गया कि ये क्या कह रहा है? फिर मैंने सोचा कि इसके सामने पायल को डांटना सही नहीं रहेगा.

तभी उसने तेजी से तीन चार शॉट मार दिए और एक बार फिर से जोर से चिल्ला कर शांत होकर ठंडी हो गयी.

लेकिन इस बार उसका मुंह मेरे पैरों की तरफ किया ताकि मैं उसकी गांड का दीदार कर सकूँ।वो बैठ गयी और मेरे पैरों पर हाथ रखकर अपनी फुदी को मेरे लंड की करीब लायी. सुनील ने सिगरेट सुलगाई और एक मनोज को दी तो मनोज ने अपनी सिगरेट पीते पीते एक बार पीछे दीपा को दे दी.

हिंदी बीएफ मां और बेटे का फिर चुदते हुए मीना मजा लेने लगी और वो भी अपनी गांड हवा में उठा कर मेरा साथ देने लगी।चुदाई के दर्द के कारण मीना पर बीयर का असर कम होने लगा था और मेरा नशा भी ढीला पड़ चुका था. उन्होंने मेरी बात को समझते हुए कहा- आप पैसे की फ़िक्र मत कीजिए, आप बस ये बताइए कि आप कब आ रहे हैं.

हिंदी बीएफ मां और बेटे का कुछ देर बाद मेरे लंड ने अचानक पानी छोड़ दिया, जो न्यासा के मुँह में चला गया. दोस्तो, मेरी कहानी में मैंने जिन भी रिश्तों का जिक्र किया है वे सच हैं.

मैंने भाभी से कहा- आपका सेवादार तो बड़ा उतावला हो रहा है मेरी सेवा करने के लिए!भाभी बोली- अगर तेरी तबीयत सही है तो फिर चुद जाना, क्यों नाटक कर रही है? बेचारा कितने सालों से तड़प रहा है तेरे लिए!भाभी, मैं उसको परखना चाहती हूं, कि सच में वह मुझसे प्यार करता है या केवल मुझे अपनी लण्ड के नीचे लेने के लिए ही उतावला हो रहा है!”तुझे उससे कौन सा शादी करनी है और परिवार बसाना है?” भाभी मुझसे बोली.

ತ್ರಿಬಲ್ ಎಕ್ಸ್ ಓಪನ್

मैं विजय से बोली- हाँ विजय, मुझे पता है तुम्हारा दिल मेरे लिए धड़क रहा है!ऐसा कह कर मैंने उसके गाल पर एक किस कर दिया और उठ कर खड़ी हो गई।जैसे ही मैं खड़ी हुई विजय ने मेरा हाथ पकड़ लिया और मैं उसकी तरफ घूमी तो उसने एक झटके से मेरे हाथ को खींच कर मुझे अपने ऊपर गिरा लिया. दरवाजा अच्छे से बन्द किया और फिर से अपने कपड़ों को उतारकर रोज की तरह शीशे के सामने नंगी खड़ी हो कर अपने जिस्म को निहारने लगी. मैंने देखा बिन्नी की चूत में बहुत देर तक एक बड़ा सा छेद दिखाई देता रहा जो बिन्नी के हिलने के बाद बन्द हुआ.

जैसे जैसे मेरा लंड अन्दर बाहर हो रहा था, वैसे वैसे मैं अपने आपको जन्नत में सैर करता हुआ जैसा महसूस कर रहा था. कोई दस मिनट चलने के बाद उसने गाड़ी सुनसान सी जगह पर रोक दी और वो मेरे करीब आ गयी. हर 15-20 धक्कों के बाद मैं एकदम से सुपर फास्ट ट्रेन के जैसे धक्के लगाने लगता, जिससे भाभी की हालत खराब हो जाती.

”पीछे बैठी एक दूसरी औरत ने जब ये कहा, तो मुझे राहत सी मिली … मगर वो तो जैसे कुछ सुनने को तैयार ही नहीं थी.

आज उसका बर्थडे था … तो मेरा फर्ज था कि मैं उसे ऐसा गिफ्ट दूं कि उसे जीवन भर याद रहे. ” महेश ने अपनी बेटी को समझाया।ओह्ह्हह पिता जी, डाल दो अपना मोटा मूसल लंड मेरी चूत में और खूब जमकर मेरी चूत का कचूमर बनाओ. जिसे न्यासा की चुत सह नहीं पाई और उसने अपना पानी छोड़ दिया और उसके साथ ही सन्नी भी कंडोम में ही झड़ गया.

मैंने उसकी गर्दन को चूमा, फिर उसकी छाती को और फिर उसकी नाभि को चूमते हुए मैं उसकी चूत के पास पहुंच गया. मैं नहीं चाहता था कि सीमा को यह पता लगे कि उसकी माँ भी इस खेल में पार्टनर है. पर लिखने का कभी समय ही नहीं मिला, आज मन बना कर अपनी कहानी लिख रहा हूँ.

मेरी इच्छा थी कि मैं लड़की की चूत पर चॉकलेट लगा कर उसकी चूत को चाटूं. वो भी अगर तुम कहोगी तो! अगर मन नहीं करे तो किस भी मत करना, इससे आगे कुछ नहीं करेंगे।फिर रोहित ने अपनी मामा की लड़की से मेरी बात करवाई जो उसके साथ ही थी.

फिर थोड़ी देर के बाद मौनी का फोन आया और वो कहने लगी- ऊपर आ जाओ, मां सो चुकी है. मैंने सर पीछे करके किस किया और कहा- मार ली अपनी मम्मी की गांड … अब मैं आज से तुम्हारी हो गई हूं … तुम जब चाहो तब अपनी इस माँ को चोद सकते हो. एक दिन वो बोली- यार, क्यों ना हम दोनों अपने अपने लंडों से एक दूसरे के सामने चुदें.

कुछ दिन बाद मेरा बेटा भी अपनी पढ़ाई के लिए बैंगलोर चला गया और घर पर मैं, सुधा और मां ही रह गए.

मैंने प्रीति के कान में कहा- जानेमन, रोती क्यों है, मैं तुझे कुछ नहीं होने दूंगा. मेरी कहानी सुनने के बाद वो बोली- क्या तुम अपनी फोटो व्हाट्सएप पर भेज सकते हो. अब आगे की देसी Xxx स्टोरी:हम दोनों एक दूसरे में पूरे खो चुके थे।20 मिनट तक एक दूसरे को चूमने के बाद हम अलग हुए और मैंने भी अपने कपड़े उतार दिए.

अब वो भी अपनी इच्छाएँ बताने लगी थी कि उसको सेक्स में क्या क्या करना अच्छा लगता है. वो मेरा लंड मेरी अंडरवियर में से निकाल कर हिलाने लगीं और कहने लगीं कि वाह आपके लंड का साइज़ तो काफी बड़ा है.

मैं बोली- तो अब?उसने कहा- अब क्या? ये पहली बार सेक्स करने में टूटती है. सोमवार को सबसे पहले पिंकी ने फोन किया शबनम को … बोली- कमीनी क्या पार्टी करवा दी? दो दिन से चोद चोद कर भोसड़ा बना दिया है धीरज ने … इतना वाइल्ड सेक्स कभी नहीं किया हम लोगों ने!पिंकी आगे बोली- कल तो वाइब्रेटर और लंड दोनों एक साथ घुसा दिया धीरज ने … अब कम से कम दो-तीन दिन तो मैं छूने नहीं दूंगी उसे. मैं न्यासा की चुत पर अपना लंड घिसने में लगा था, पर अन्दर नहीं डाल रहा था.

সানির ব্লু ফিল্ম

गाँव की बाकी औरतों जैसे दीदी भी साड़ी के अन्दर केवल पेटीकोट पहनती थी.

मेरी चूचियों को हल्की दबाने के बाद उसने मेरी जांघों पर हाथ फिराया और फिर मेरी चूत को भी छूने लगा. मेरे चुदक्कड़ साथियो, आपको मेरी गर्लफ्रेंड Xxx कहानी कैसी लगी … अपनी राय से मुझे अवगत कराएं. जिस तरह वियाग्रा मर्द के लिए काम करती है, उसी प्रकार ये गोली लेडी के ऊपर काम करती है.

उसके बाद वो बोली- देखो अमन, हम यहां पर इंटरव्यू करवाने का चार्ज लेते हैं. फिर मेरे शानदार उरोजों पर मुँह लगाते हुए हाथ पीछे ले जाकर मांसल उभरे नितंबों को सहलाने लगा. अमरीश पुरी की सेक्सीसंगीता नीचे जाने लगी, तभी उसको अहसास हुआ कि उसकी चूंचियां बिना ब्रा के सचमुच कुछ ज्यादा ही हिल रही हैं.

मगर मुझे जब इस तरह अपनी नंगी चुत पर झुके देखा, तो वो शर्मा गयी और चुपचाप वापस आंखें बन्द‌ करके लेट गयी. मेरी कामाग्नि बढ़ती चली गयी और मैं रोज़ाना नयी नयी ब्लू फ़िल्म देखने लगी.

लेकिन ये बताओ कि तुम फीस कितनी लोगे?मैं बोला- मैडम मेरा तो पहली बार है. मैंने उससे पूछा, तो वो बोलने लगी कि प्लीज़ बाहर निकालना … अब मेडीसिन नहीं लेनी है … बहुत दर्द करता है. मुझे एक दो अंडरवियर खरीदने थे, इसलिए वापस घर जाते समय मैंने उस दिन स्कूटी को पास की ही एक कपड़ा मार्केट की तरफ घुमा दिया.

सुनील मुस्कुरा के बोला- आइये आप हमारी कुर्सी शेयर कर लीजिये या हमारी गोद हाजिर है. मेरा कमरा बस अब नाम के लिए मेरा कमरा रह गया था, नहीं तो मेरे दिन रात अब शायरा के साथ उसके घर पर ही बीतने लगे थे. इस स्टाइल में मैं ज़ोर ज़ोर से शॉट मार रहा था, जिससे उसके चुचे ज़ोर ज़ोर आगे पीछे हो रहे थे.

उस दिन भाभी हमारे घर आई और मेरी मम्मी से बोली- आज मेरे पति घर नहीं आएंगे, अगर आपको कोई एतराज ना हो, तो राहुल आज मेरे घर सो जाएगा.

अब आगे नंगी लड़की के जिस्म की कहानी:नहाने जाने की कह कर अनामिका तौलिया और ब्रा पैंटी लिए बाथरूम की तरफ जा रही थी. थोड़ी देर बाद मैं भाभी के ऊपर से उठ कर बराबर में लेट गया और उन्हें देख कर किस करने लगा.

आप प्लीज़ लंड हिलाने से पहले मुझे मेल करके अवश्य बताएं कि आपको मेरी सेक्स कहानी में कितना मजा आया. ” महेश ने ज्योति का हाथ अपने लंड पर रखते हुए कहा जो फिर कामुकता से खड़ा होने लगा था।नहीं पिता जी, मैं दूसरी बार यह मूसल नहीं झेल पाऊँगी!” ज्योति ने अपने हाथ को महेश के लंड से हटाते हुए कहा।क्यों बेटी क्या हुआ?” महेश ने हैरान होते हुए कहा।पिता जी एक बार में ही आपके इस मूसल ने मेरी चूत की हालत ख़राब कर दी है इसलिए कह रही हूं. अब मैं उसके सीने पर सर रखकर चौड़ी छाती पर उगे बालों को अपने होंठों से पुचकार रही थी; सीने पर हाथ फिराकर अपने प्रेम का लेपन कर रही थी.

हम सुबह साथ में ही उसके घर नाश्ता करते, फिर उसकी स्कूटी से पहले तो मैं उसे बैंक छोड़ता … फिर स्कूटी लेकर अपने कॉलेज आ जाता. मेरा पर्स और उस कंडक्टर ने मुझे जो टिकट व बाकी के खुले‌ पैसे दिए थे, वो अभी भी नीचे ही पड़े थे. अब तो मेरा भी वक़्त आ चूका था … तो मैंने शीना से कहा कि वो मेरा लण्ड अपने मुख में ले ले.

हिंदी बीएफ मां और बेटे का क्योंकि मैं उनकी हर परेशानी का हल निकाल देता था, उनके काम बना देता था. मैं ब्लाउज के ऊपर से ही उनकी निप्पल को चूस रहा था और दूसरे निप्पल को चुटकी काट रहा था और सहला रहा था.

देसी औरत का

मेरी सास मुझसे बोलने लगीं कि बहुत दिनों से तुम्हारे ससुर जी बाहर हैं … तो खुद से करना पड़ता है. फिर अपनी किताब लेकर अहाते में आकर लेट जाता और उनकी पैंटी और ब्रा को खूब चाटता और अपने लंड पर रगड़ता रहता. दोपहर का समय था, हम खाना खाकर टीवी देख रहे थे कि तभी मॉम को मिष्टि आंटी का कॉल आया.

तो नीरू दर्द के कारण आगे को हो गई और उसकी गांड में से मेरी उंगली निकल गयी. मैंने चाचा को फ़ोन लगाया, तो चाचा पूछने लगे कि अभी तक घर क्यों नहीं आए. लड़की चोदने का वीडियोमैं ब्लाउज के ऊपर से ही उनके कड़े निप्पल को महसूस कर सकता था और चूसने की कोशिश कर रहा था.

अब मैंने उसे घोड़ी बनाया और पीछे से उसकी बुंड और फुद्दी को चाटने लगा.

स्पीड बढ़ाने पर उसने मेरा लंड छोड़ दिया और चूत वाले हाथ पर हाथ रख दिया. वो- अब नाटक ये बंद करो, मैं जानती हूँ कि तुम ऐसा बोल कर मुझे पहन कर दिखाने को बोलोगे.

अच्छा चलो अब बहुत देर हो गई है, तुम भी सो जाओ और मैं भी अपने रूम में जाती हूँ. जिस लड़की का मेल आया था, मैं यहां उस मैडम का काल्पनिक नाम यूज करूंगा, क्योंकि यह कहानी मैं उन्हीं की परमिशन लेकर यहां पर लिख रहा हूं. कुछ ही देर में हम दोनों की नजरें एकदम से ऐसे जम सी गई थीं जैसे भाभी को मुझमें कोई शिकार दिख गया हो.

अब वो भी अपनी इच्छाएँ बताने लगी थी कि उसको सेक्स में क्या क्या करना अच्छा लगता है.

मैंने कहा- मैडम दिन में घर के कामों में व्यस्त था, इसलिए रिप्लाई नहीं दे पाया. मैंने पहले उनको कभी गन्दी नजरों से नहीं देखा था लेकिन एक बार हम दोनों की जिंदगी में ऐसी घटना घटी कि उसकी बाद से मेरे विचार उनके लिए बदल गये. मैंने पूछा- क्या खाओगे?वह बोला- इडली व एक गिलास दूध … बस ज्यादा कुछ नहीं.

अंग्रेजी पोर्न वीडियोमैंने उससे लिपटते हुए कहा- तुम अपनी बताओ?उसने कहा- मेरी तो आज लॉटरी लगी है, जो तुम्हारी चूत के आज दर्शन ही नहीं बल्कि आज ही मेरा लंड इसमें अन्दर तक सैर भी करके आ गया है. अब मैंने तुरंत आंखें बन्द करके मजे लेने लगा कि अनामिका क्या कर रही है, ये देखता हूँ.

सेक्सी चूत वीडियो बीएफ

अगर आप जबरदस्ती किसी के साथ ऐसा करते हैं, तो यह न आपका हक है और न ही उसकी सहमति है. उसकी चूत तो मैं पहले भी चोद चुका था लेकिन जब वो सामने होती थी तो जैसे लंड में आग लगा देती थी. उसके बाद हम दोनों उठ कर बाथरूम में नहाने के लिए चले गये क्योंकि कामवाली आने वाली थी.

इतने में ही मेरे लंड ने पूरे वेग के साथ वीर्य उसकी चूत में उड़ेल दिया. फिर उसने कहा- तुम भी हैंडसम बन गए हो, कोई मिल गई क्या?मैंने भी कहा- नहीं मिली तो नहीं … पर लग रहा है जल्दी मिल जाएगी. वो जब चुप नहीं हुई, तो मैंने उसे बेड पर लेटा दिया और मैं भी उसी के साथ बाजू में लेट गया.

मैंने अपने सारे कपड़े उतारकर सूखने के लिए फैला दिये और टॉवल लपेट लिया. वो बोली- अभी मेरे बूब्स और दबाओ न प्लीज़ … और बताओ मुझे कब चोदोगे?मैंने उसके टॉप को ऊपर किया और ब्रा हटाकर एक मम्मे के निप्पल को अपने होंठों के बीच दबा लिया. चूंकि पूरी बस फुल थी और सिर्फ मेरे बाजू वाली बर्थ खाली थी, तो उस महिला को कोई दिक्कत नहीं थी.

उसने मेरे कंधे में फंसे बैग को जोरों से खींचकर नीचे पटक दिया और चिल्लाई- ओय्य … तुम्हें सुनाई नहीं देता क्या?ये उसने चीखते हुए कहा. वो सिसकारी लेने लगी, उसकी आंखें बंद हो गई थीं और चेहरे पर परम सुख का भाव दिखने लगा था.

जितनी सुन्दर वो अपनी फोटो में देखने में लग रही थीं, उससे कहीं ज्यादा वह सामने से देखने में लग रही थीं.

वैसे असली वजह तो मैं अभी नहीं जानता था, लेकिन जल्द ही पता चल जाएगा कि आखिर मेरे दोस्त ने मेरी बीवी को कैसे पटा लिया था और उसकी क्या वजह थी. पड़ोस की लड़की को कैसे पटाएजब से मैं और पिंकी पकड़े गये थे तब से मैं उनके घर नहीं जाता था, मगर अब तो मैंने उनके घर भी जाना शुरु कर दिया। हालांकि पिंकी की मम्मी यानि स्वाति भाभी की सास मुझे अब भी पसंद नहीं करती थी. भगवती सेक्समैंने शौहर की रजामंदी से उसकी बीवी को कैसे चोदा?हैलो फ्रेंड्स, अन्तर्वासना की सेक्स कहानी की दुनिया का मैं एक अदना सा लेखक राजकुमार जयपुर से एक बार फिर से आपको आफ़िया भाभीजान मस्त जंगली चुदाई की कहानी का अगला भाग लेकर हाजिर हूँ. मगर अब उसने मेरा लंड अपने गले गले तक ले जाकर खूब चूसा और मेरे लंड का पानी निकाल दिया.

प्रीति पूरी नंगी … अपने पति की गोद में किसी बच्चे की तरह बैठी हुई थी.

मैंने अचानक से अपने मुँह को उसकी नाभि से चिपका दिया और अगले ही पल उसके मुँह से ‘आहहा हाह. एक बार मैं कमरे का किराया देने गया तो आंटी ने बोला- अर्जुन, तू घर में किसी से बात ही नहीं करता, कोई परेशानी तो नहीं है न तुझे!ये बात उन्होंने मुझसे कुमाउनी भाषा में कही. मैं 15-20 धक्के जोर जोर से लगाते हुए उनकी चूत में ही झड़ गया और उनके ऊपर लेट गया.

तुम्हें एक ऐसे साथी की जरूरत है, जो तुम्हारी हर इच्छा को पूरी कर सके. इसका नतीजा यह हुआ कि मैं चुत के दाने पर अपना थूक लगा कर डिल्डो से रगड़ने लगी. शायरा के पर्स में दो अढ़ाई हजार कैश के साथ दो-दो एटी‌एम कार्ड पड़े थे.

एचडी ब्लू पिक्चर दिखाओ

थोड़ी देर में मैंने उसको घोड़ी बनाया और पीछे से लंड को उसकी चूत में घुसा दिया. वह दोस्त अपनी पत्नी को आलिंगन में लिए हुए भी मेरी ही पत्नी को निहार रहा था और तुरंत ही उसने मेरी तरफ देखते हुए बोला- तुम लोग बहुत अच्छे मिल गए, गोवा आने का पैसा वसूल हो गया. गर्लफ्रेंड- क्यों?मैं- आज तुमने खुद आकर किस किया है इस वजह से मैं देख रहा हूँ कि आज सूरज किस दिशा से उगा है.

मैंने उसका शुक्रिया अदा करते हुए कहा- बहुत सालों बाद मैं इतनी चुदी हूँ.

फिर रोहित ने पैंटी की इलास्टिक पकड़ी और मेरी पैंटी को भी उतारकर मुझे बिल्कुल नंगी कर दिया और खुद भी नंगा हो गया था।मैं इतनी उत्तेजित हो गयी थी कि मेरी पैंटी चूत वाली जगह से गीली हो गयी थी जिस कारण वहां धब्बे का निशान बन गया था.

उसने समझाया कि तुम चूतिया हो, इतना समझ लो कि सांप और चूत जहां मिले, वहीं मार देना चाहिए. ना जाने कितना मज़ा आता है लड़कों को सील तोड़ने में!हर लड़के को कुँवारी सीलबन्द चूत वाली लड़की चाहिए चोदने के लिए।मेरी दीदी भी यही कहती है कि आजकल के लड़कों को तो बस चूत चोदने से मतलब होता है चाहे वह सीलबन्द हो या चुदी हुई।और फिर लड़कियाँ भी कम नहीं होती हैं. लखनऊ का सेक्समैंने सोच लिया था कि अब तो कुछ भी हो जाये मैं इसको अब हाथ से नहीं जाने दूंगा.

मैंने उसकी अंडरवियर सरकाई तो लपलपाता लंड मेरे मुंह के सामने आ गया। उसकी भी झांटें नहीं थी. न्यासा ने चौंकते हुए कहा- ग्रुप सेक्स … लगता है, आज तुम लोगों के इरादे मेरी जान लेने के हैं. तभी दीदी बोली- तुम ड्रेस चेंज करने में कितना समय लगाते हो … इतना समय तो मुझे भी नहीं लगता.

अपने हाथों चाची के शरीर पर हर जगह मम्मों पर, गांड के छेद पर, चूतड़ों पर, पेट पर पीठ पे, जांघों पर मतलब सब जगह तेल मल दिया. वो बिल्कुल सेक्स वीडियो वाली हीरोइन की तरह लंड चूस रही थीं और बीच बीच में मुँह से लंड निकाल कर उसे हिला भी रही थीं.

रामू- भाभी आप मुझे बता सकती हैं और आप वैसे मुझे अपना दोस्त बोलती हो, तो बता दीजिए न मुझे!आरिषा- क्या क्या बताऊं तुम्हें … एक रमेश है, जो मेरा पति होकर भी मुझसे सही से बात नहीं करता है.

तू शादी के इंतज़ार में बुड्ढी हो जाएगी और दूसरों की चुदाई के बारे में सुन सुन कर तड़फती रहेगी. मैंने अपनी पत्नी से बोल दिया- ठीक है, जब तुम अपनी सहेलियों के पास से लौटना, तो आने से पहले मुझे एक कॉल जरूर कर लेना ताकि मैं भी अपना काम समेट लूं. उन्हें लगता है कि बस बाकी सब गया मां चुदाने और लन्ड चूत में डाल दो बस।मगर दोस्तो, उस तरीके से सिर्फ आप ही मजा ले सकते हो, आपका पार्टनर नहीं।पार्टनर के लिए आपको उसकी इच्छा का भी ध्यान रखना पड़ता है.

मछली मारने का तरीका जब उसको जवाब नहीं मिला तो वो फिर बोला- भाभी, आप बिल्कुल भी घबराइये मत, ये बात केवल आपके औरे मेरे बीच में रहेगी. लेकिन मैं लगा रहा और उसे स्लैब पर ही लिटा कर उसकी टांगों को अपने कंधे पर रख कर चोदता रहा.

थोड़ी बहुत ना-नुकर के बाद मुझे हीरो-होंडा पैशन बाइक मिल गयी और मेरी साइकिल पर रोहित ने कब्ज़ा कर लिया. जब से तूने घर बुला कर किस करवाया था, तभी से चुदाई का मन था, जो आज पूरा हुआ. ”सोनू के साथ अपनी तुलना सुनकर गौरी को शायद अच्छा लगा रहा था इसीलिए वो मंद मंद मुस्कुरा रही थी।एक बात और भी है?”गौरी अपनी सुन्दरता के ख्यालों मे डूबी हुयी थी। वह कुछ बोली तो नहीं पर उसने रसीली मुस्कान के साथ मेरी ओर प्रश्नवाचक निगाहों से देखा।गौरी सच कहता हूँ तुम अगर जीन पैंट पहन लो तो बिल्कुल वैसी ही खूबसूरत लगोगी.

आंटी के सेक्स वीडियो

तो वो बोले- तुमने कुछ सोचा चुदाई के बारे में?उनके मुंह से चुदाई शब्द सुनकर मैंने झटके से उन्हें देखा और मेरी हंसी निकल गयी. इधर अनिल ने अपनी जीभ पिंकी की चूत में करना शुरू की तो रवि ने अपना लंड पिंकी के मुँह में कर दिया; जिसे पिंकी लॉलीपॉप की तरह चूसने लगी. वो चारों एक कमरे में चले गए और कमरे का दरवाजा अन्दर से बंद कर लिया.

उसने एक पारदर्शी नाइटी डाली हुई थी, जिसमें से उसका एक एक अंग पूरी तरह से नज़र आ रहा था. गर्मी की वजह से उनकी त्वचा हल्का सा नमकीन लग रही थी लेकिन उस वक़्त मेरे दिमाग में और कुछ भी नहीं था.

अब यहां से बाहर निकलकर मुझे अपने लिए एक पैंटी खरीदनी पड़ेगी।” मैंने रोहित से कहा।मेरी बात सुनकर रोहित हंसने लगा और बोला- यार, आज अगर बिना पैंटी के घूम लोगी तो कुछ फर्क थोड़े ही पड़ेगा। तुम भी नीचे से नंगी रहकर घूमने का लुफ्त उठाओ ना यार!रोहित की बात सुनकर मैं भी सहमति से मुस्कुराने लगी।कुछ देर के लिए रोहित बाहर चला गया.

भाभी के कातिलाना मम्मों को देखकर मेरा मन उनके मम्मों को अभी के अभी दबाने का कर रहा था. क्या है … ठीक‌ से खड़े भी नहीं हो सकते क्या?” उसने बुरा सा मुँह बनाकर मुझसे दूर हटते हुए कहा. मैंने उसकी गर्दन को चूमा, फिर उसकी छाती को और फिर उसकी नाभि को चूमते हुए मैं उसकी चूत के पास पहुंच गया.

मुझे लगा कि वह मुझे सामने से चोदता तो मैं उसकी कोली भर के झड़ जाती. डाक्टर साहब की बात से मुझे मालूम हुआ कि ये महाशय भी पुराने हरामी हैं. कभी अपनी जीभ से निप्पल चाटने लगता, तो कभी दांतों से पकड़ कर खींच लेता.

उसके जाते समय देखा कि उसकी चाल थोड़ी बदल गयी थी, जिसे वो छिपाने की कोशिश कर रही थी.

हिंदी बीएफ मां और बेटे का: उसकी बात पर मैं बोली- मैं तुम्हारी मां जैसी लगती हूं रिश्ते में, मां से भी कोई ऐसी बात करता है?वो बोला- रिश्ते को भूल जाओ, हम दोनों एक ही उम्र के हैं. पोर्न देखने का शौक तो मुझे था ही इसलिए कई बार पोर्न देखते हुए मैं अपनी साली के बदन की कल्पना कर लिया करता था.

मैंने भी कहा कि मैं भी झड़ने वाला हूँ … किधर निकालूं?उसने कहा- आह … पूछ क्या रहा है … रस डाल दे अन्दर … तेरा पूरा रस मेरी चुत का ठंडक देगा … आह … अन्दर ही डाल दे … इसी लिए तो तड़फ रही थी राहुल. बड़ी चाची अपनी साड़ी और पेटीकोट को जांघ के ऊपर तक लाकर बांधकर काम करने लगी. बस ऊपर के दो कमरे किराये पर दे रखे थे जिसमें रोहित और उसकी मामा की लड़की रहती थी।रोहित तो मुझे देख कर बहुत खुश हो गया.

जीजा बोले- तो ठीक है, यहीं गांव में मेरे दो दोस्त ठेकेदार हैं जिनके पास जेसीबी और ट्रक व डंपर हैं.

वहां पर दोनों ने पार्टी का जश्न किया और उसने रिया को बहुत शराब पिला दी. फिर भी आप थोड़ा ध्यान रखना क्योंकि आपका लंड मेरे पति के लंड से कहीं ज्यादा मोटा है. मैंने उनकी आंखों में देखा, तो मुझे एक अजब सी संतुष्टि का भाव दिख रहा था.