बीएफ पिक्चर व्हिडिओ हिंदी

छवि स्रोत,आदिवासी बीएफ सेक्सी व्हिडिओ

तस्वीर का शीर्षक ,

चोदा चोदी फुल: बीएफ पिक्चर व्हिडिओ हिंदी, मैं उसके होंठों को चूसने लगा और सोनाली अपने दोनों हाथों से मेरी गांड सहलाती हुई सैटिंग बनाने लगी.

किन्नर लोगों की बीएफ

वहां से आधे घंटे में हम गीता के घर पहुंच सकते थे, लेकिन तभी हल्की हल्की सी बारिश शुरू हो गयी. सेक्सी बीएफ राजस्थान वीडियोफिर मास्टर ने भाभी के दोनों पांव अपने दोनों कंधे पर रखे और वो भाभी को चोदने लगा.

मैं अपनी गर्लफ्रेंड शलाका को बहुत बार चोद चुका था व उसी से शादी भी करना चाहता था पर मेरी गर्लफ्रेंड के घर वाले नहीं माने और उसका कहीं और रिश्ता कर दिया. छोटी बच्ची का सेक्सी बीएफदोस्तो, मैं आशा करता हूँ कि आपको मेरी यह Xxx मौसी चुदाई कहानी अच्छी लगी होगी.

जैसे ही भाभी ने मेरा कच्छा उतारा, मेरा लंड भाभी के सामने खड़ा होकर सलामी देने लगा.बीएफ पिक्चर व्हिडिओ हिंदी: फिर मैंने उसकी चूत पर दो उंगलियों से फांकों को जरा फैला दिया और अपना लंड का सुपारा घुसा कर ठेल दिया.

फिर मैं एक उंगली रेखा की चूत में डालकर अन्दर बाहर करने लगा तो रेखा सीत्कारने लगी.इस बीच लंड ने चूत में जगह बना ली थी और उसकी कसमसाहट कम होने लगी थी.

मराठी बीएफ दिखाइए - बीएफ पिक्चर व्हिडिओ हिंदी

उन दोनों बाबाओं ने काफी आसनों में सुबह से दोपहर एक बजे तक ने मुझे खूब ज़बरदस्त चोदा.ट्रेन पास कर दी थी, स्टेशन सूना हो जाता है, बारह बजे तक कोई गाड़ी नहीं है … ये भी संयोग था कि आप आ गए.

मैंने अपनी दो उंगलियों से उसकी चूत को फैलाया और अन्दर तक उसकी चूत को चाटने लगा. बीएफ पिक्चर व्हिडिओ हिंदी अब मेरा लंड भी उसकी चूत में साँप की तरह फुंफकार रहा था और किसी भी पल अपना जहर छोड़ सकता था.

फिर वो मेरी तरफ पीठ करके खड़ी हो गई और उसने मेरे दोनों हाथ अपने दोनों बूब्स पर रख दिए.

बीएफ पिक्चर व्हिडिओ हिंदी?

चुदाई की आवाज सुन कर मेरे पैर वहीं रुक गए और मैंने इधर उधर देख कर तसल्ली कर ली कि मुझे कोई देख तो नहीं रहा है. अब उनके दोनों पैरों को फैलाकर मैं उनकी टांगों के बीच में आ गया और अपने लंडराज को प्रिंसीपल मैडम की चूत के ऊपर हौले हौले रगड़ने लगा. भाभी ने बाद में बताया कि वो अपनी गांड में बेलन की हत्था डाल कर गांड में होने वाली खुजली को मिटाया करती थीं, जिस वजह से उन्हें गांड मराने की बड़ी चुल्ल थी.

थोड़ी देर बाद वो मुझसे बोली- तुमने मर्डर मूवी देखी?मैंने बोला- हां देखी है. मेरी पूरी पैंटी गीली हो गयी थी, इसलिए मैं वहां से वाशरूम जाने के बहाने निकल गयी थी. उस हिजड़े की लुल्ली चूसते चूसते तुझे पता ही नहीं है कि लौड़े को चूसना किसे कहते हैं.

अब वो भी पूरी गर्म थी, कभी लिप-किस तो कभी गर्दन के पास किस कर रही थी. इस काम में बड़ी मेहनत करनी पड़ी थी … और भी कई तरकीबें भिड़ाना पड़ी थीं. मैं हंसने लगा और उसकी जांघ सहलाते हुए बोला- तुमसे प्यार हो गया है मिहिका मेरी जान.

बाइक्स की बात करूं, तो लगता था कि रॉयल एनफील्ड जिसे बुलेट भी कहते हैं, उस जैसी महंगी बाइक से लड़कियां जल्दी पट जाती हैं. उसने मुझसे कुछ खाने पीने के लिए पूछा तो मैंने कहा- अभी तो मैं सरकारी अफसर हूँ, फिर कभी आपकी मेहमाननवाजी का लुत्फ़ उठाऊंगा.

जब वह हमारी कॉलोनी में आईं, तब उस समय मैं कॉलोनी में नहीं था, मैं अपने काम के सिलसिले में बाहर गया हुआ था.

शैली मामी धीमी-धीमी आवाज में कंट्रोल करती हुई चेतना को अपने आगोश में दबा कर रखने की कोशिश कर रही थीं.

मैं उसको देख ही रहा था कि इतने में भाभी ने मेरे सर को पकड़ा और अपनी चूत पर दबा दिया. सुमैत्री ने कहा- उफ्फ … एक तो मोटा तगड़ा लंड ऊपर से एक्स्ट्रा डॉटेड और रिब्ड कंडोम लगाया हुआ है … क्या जान लोगे मेरी?मैंने बोला- नहीं, आज जान नहीं बल्कि तुम्हारी गांड की मस्ती लेनी है. आपको मेरी ट्रिपल Xxx हिंदी स्टोरी कैसी लगी, आप प्लीज मेल करके जरूर बताएं.

करीब 20 मिनट नहाने के बाद मैं चड्डी और ब्रा पहनी और अपनी चड्डी को और ऊपर की ओर सिकोड़ ली, जिससे कि मेरे बड़े बड़े चूतड़ चड्डी के बाहर निकल आए. ’‘आह बहुत टेस्टी हैं तेरे निप्पल मेघा …’इधर पजामे में सर का हाथ अन्दर चल रहा था. !मनीष हंस कर बोला- सुधा मेरी जान, आह … तू तो अपनी बहन से भी मस्त माल है.

लेकिन यह बहुत मुश्किल काम था क्योंकि मेरे घर ऐसा कोई आता जाता भी नहीं था और मैं अकेली कहीं भी बाहर जाती नहीं थी जिससे मेरी किसी मर्द के साथ दोस्ती हो सके.

जैसे ही उसने आंख खोल कर मुझे देखा, तो मैंने पाया कि उसकी आंखों में अलग ही नशा था. अपनी टी-शर्ट के अन्दर वो ब्रा नहीं पहनती थी जिससे उसके मम्मे बड़े मस्त उछलते थे. आपका रवि खन्ना[emailprotected]मेरी पिछली कहानी थी:जाटनी के बाद दूसरी स्कूल गर्ल की पलंग तोड़ चुदाई.

मैं- प्लीज़ दीदी सिर्फ एक बार तो करके तो देखने दो न कि कैसा लगता है. भाभी बोलीं- नहीं, बोलो क्या हो जाएगा?उनके पति गर्म हो गए और बोले- खड़ा हो जाएगा. जब मौसी ने मेरे कंबल को अपनी तरफ खींचा और अन्दर से पकड़कर सही करने लगीं.

वो- हां मेरे राजा पेल दो मेरे अन्दर अपना पूरा लंड ठोक दो … आंह और जोर से चोदो.

रेशमा ने मेरे बालों को पकड़ कर मेरा मुँह और जोर से अपनी चूत पर दबा दिया. मैं उन्हें पहले पूरी तरह गर्म करना चाहता था इसलिए कुछ देर लंड से उनकी चूत की फांकों के बीच में घर्षण करता रहा.

बीएफ पिक्चर व्हिडिओ हिंदी फिर चूत में लंड घुसा कर चोदने लगा, दोनों चूचियों को चूसने लगा और झटके लगाने लगा. मैंने उसे लंड की तरफ इशारा किया तो वो मेरे लंड को अपने मुँह में लेकर चूसने लगी.

बीएफ पिक्चर व्हिडिओ हिंदी वो बोली- तुम कितने दिन में मेरी ब्रा की साइज़ बढ़ा दोगे?मैंने उससे कहा- अगर अगले एक महीने में मैंने तुम्हारी चूचियां नहीं लटका दीं, तो मैं तुम्हें अपनी शक्ल नहीं दिखाऊंगा. वो अपनी सेक्स की प्यास में तड़पती रहती थी पर किसी को अपना बॉयफ्रेंड भी नहीं बना सकती थी क्योंकि उसे बदनामी का डर था.

अब भाभी की चूत एकदम साफ़ दिख रही थी और उसमें मास्टर का लंड अन्दर बाहर होता हुआ एकदम साफ़ दिख रहा था.

सेक्सी विडिओ कॉम

बालकनी में अन्धेरा था इसलिये मैंने अपना लंड उनके स्कर्ट के उपर से उनकी चूत पर रख दिया. तभी जस्सी बोली- अरे रुक जा ना कमीने … ऐसे तो तुम मुझे मार ही डालोगे. मेरा स्पर्श पाते ही फकीर ऐसे उठ गया, जैसे वह जैसे मेरा इंतजार ही कर रहा था.

भाभी को दर्द बहुत हुआ वो ज्यादा चिल्ला नहीं पाईं क्योंकि मैंने उनके होंठों को अपने होंठों से दबा रखा था. धौंकनी जैसी चलती सांसों को थाम कर मैं उसके गुलाबी होठों को चूसने लगा. मेरा एक हाथ उसकी कमर पर चल रहा था और जीभ ने गर्दन और उसके होंठों का बुरा हाल कर रखा था.

अपने दूसरे हाथ से उसका हाथ पकड़ा और उसकी दो उंगलियों को उसकी चूत पर रख दिया.

क्योंकि जिस अनुष्ठान की बात वो कर रही थी उसमें मेरा समय बहुत अधिक लगना था. उस रात एक बजे करीब मैं किचन में कुछ खाने के लिए ढूंढ रहा था, तभी उसकी पीछे से आवाज़ आयी. हम दोनों चरम पर आने लगे थे, इससे हमारी वासना भरी सिसकारियां निकलने लगी थीं.

शीना ने हल्के से किवाड़ खोल कर अंदर झाँका तो कमरे में अंधेरा था और राजीव सो रहा था।कॉफी का कप उठाकर शीना बाहर जाने को हुई तो उसकी निगाह राजीव की ओढ़ी चादर पर गयी जो एक ओर से खिसक गयी थी. लेकिन सुमैत्री मेरे लंड को अभी भी मस्ती से सहन नहीं कर पा रही थी और आहें भर रही थी ‘आअह उफ्फ …’मैं नीचे हाथ डालकर उसकी चुत का दाना रगड़ने लगा. अब वो थोड़ी देर रुका और धक्के देने शुरू कर दिए।मैं- आह आ आह और जोर ज़ोर से करो!अमन- जी चाची!उसने अपने धक्कों की गति बढा दी।मेरे दूध बहुत हिल रहे थे इसलिए मैंने उसे अपने हाथों में थामा।तभी अमन ने मेरे हाथ साइड किये और अपने हाथ से मेरे दूध को कस कर पकड़ लिया.

उन्होंने आते ही मुझसे पूछा- बोलो, तुम्हें मेरे में क्या अच्छा लगता है?मैंने कहा- आपके चूचे और आपकी गांड. मैं अब उसके बिस्तर पर बैठा था और वो नीचे घुटनों पर बैठ कर मेरे पैर पकड़ कर ‘प्लीज प्लीज …’ करके मुझे मनाने की कोशिश कर रहा था.

उनकी इस क्रिया से … और क्योंकि ये मेरा पहली बार किसी लड़की के साथ था, तो मेरा पानी निकलने को हो गया. वो चीखती हुई बोली- आंह मर गई … इसे बाहर निकाल मां के लौड़े … मैंने आज तक गांड नहीं मरवाई है. मेरे पति मुझे बहुत प्यार करते हैं और हमारी सेक्स लाइफ भी बहुत अच्छी है.

तब भी अभी के लिए मेरी हां है, क्योंकि आपके साथ कुछ यादें बन जाएंगी और कुछ नया टेस्ट भी हो जाएगा.

वो हंस कर बोली- नहीं तो, ऐसा क्यों कहा?मैंने कहा- आज बहुत सेक्सी लग रही हो. वो मेरे पास फोन कर देती हैं और मैं तुरंत जाकर उनकी बलखाती चूचियों पर टूट पड़ता हूँ. भाभी मुस्कुराने लगीं- तो मेरी आज अपने मन की कर लो … इन्तजार किस बात का है!मैंने कहा- बस आपकी तरफ से हरी झंडी मिलने का इन्तजार था भाभी.

उसने मेरे साइड में लेट कर पहले अपनी एक उंगली केक में डाल कर और वही उंगली मेरे मुँह में रख दी. मेरा उतावलापन देख कर मनीष ने अपना लंडमेरी चूत के छेदपर लगा कर एक ही झटके में पूरा जड़ तक घुसेड़ दिया.

भाभी की आंखों में लालिमा साफ़ बता रही थी कि आज भाभी की वासना चरम पर आ गई हैं. इस बार मैं उसे झड़ने नहीं देना चाहता था इसलिए उसकी चूत से अपनी जीभ हटा ली. खूबसूरत औरतों को लंड की कमी इसलिए नहीं होती क्योंकि सब लोग उसे लंड पकड़ाने के लिए आगे पीछे घूमा करते हैं.

छोटी बच्ची का सेक्सी

कभी दोनों भाई अपनी बहन अर्चना दीदी की हर बात में मीन मेख निकालते थे, अभी गुलाम की तरह दीदी के आदेश का अक्षरशः पालन करने लगे थे.

उन्होंने मुझे अपने गले से लगा लिया जिससे मेरी चूचियों की नोकें उनके सीने में जा घुसीं. एक हाथ से लंड पकड़ कर उसकी गांड पर टिकाए था, दूसरा हाथ उसकी कमर पीठ पर रखे था. जैसे मैंने उसकी चुत में उंगली डाली, वो एकदम गर्म थी और पूरी तरह से गीली हो चुकी थी.

पापा मूड में रहते, वो मोबाइल और दोस्तो से नई नई पोजीशन सीखते रहते और मम्मी को चोदते रहते. दूध वाला उसे गाली देते हुए बोला- साली रंडी … तेरी चूत बहुत टाइट है, लगता है तेरा पति तेरी चूत नहीं चोदता. देसी सेक्स गांव कीआरजू को भी बहुत मजा आने लगा; चीखें, मादक सिसकारियों में बदल गईं और एक दूसरे का साथ देते हुए चुदाई करने लगे.

मैं पढ़ाने के अलावा बाकी सभी कामों में भी हिस्सा लेता हूँ इसलिए हर किसी की जुबान पर अब मेरा नाम अक्सर आने लगा. ’मैंने टांगें खोल दीं और चूत को सर के आगे कर दिया लेकिन पजामा नहीं उतारा.

तरुण जयपुर का रहने वाला है। जब भी मैं जयपुर जाता तो तरुण के घर ही रुकता और तभी उसकी चचेरी बहन पायल से आँखें लड़ जाती।आँखें तो लड़ जाती पर मैं हर बार बस तिलमिला कर रह जाता कि इतने सही माल को जाने कैसे भोग सकूंगा।फिर एक दिन बातों के दौरान तरुण से पता चला कि पायल की शादी एक आर्मी वाले से तय हो गयी है और अगले महीने उसकी शादी है।यह सुनकर मैं बहुत उदास हुआ और जैसे मन मार कर रह गया।पर कर भी क्या सकते थे. रेशमा के ऊपर से अब मैं थोड़ा खड़ा हो गया और घुटनों के बल बैठ कर उसकी चूत का भोसड़ा बनाना चालू रखा. दोनों भाइयों से अर्चना दीदी चुदाई करवा कर घायल हो गई थीं लेकिन जिंदगी में चुदाई करने का सबसे सुरक्षित तरीका हासिल कर लिया था.

टी-शर्ट में उसके तने हुए दूध मस्त लग रहे थे जिनका साइज मेरे हिसाब से 34 का लग रहा था. फिर रात को रुकने के लिए एक स्कूल का हॉस्टल था, वहां जाकर रुके।वहां सब के लिए कमरे थे।मेरे कमरे में 5 और लड़कियां भी थी।और मजे की बात यह थी कि पटेल सर ने मेरे बाजू वाला कमरा ही लिया था, जो उन्होंने मुझे मेसेज करके बताया।रात को खाने के बाद सब लड़कियां सो गई लेकिन मुझे नींद नहीं आ रही थी।मैंने सर को मेसेज किया, सर ने तुरंत मुझे अपने कमरे में बुलाया।मैं बिना आवाज किए चुपके से सर के पास गई. जस्सी एकदम से कलप उठी और उसने झट से मेरा सर पकड़ कर अपनी चूत के ऊपर लगा दिया.

उसका तन्नाया हुआ लौड़ा शब्बो की मांसल जांघों पर रगड़ रहा था।शब्बो का कभी दायां तो कभी बायां मम्मा चूसते हुए वो शब्बो की प्यास और बढ़ा रहा था.

कुछ मिनट में ही प्रियंका मैडम खड़ी हुईं और मेरे अंडरवियर को मेरे बदन से अलग कर दिया, मेरे लंड को चूसने लगीं. उसने हमें रूम नम्बर 401 दिया और पूछने लगा- सर आपको कुछ चाहिए हो, तो मुझे रूम सर्विस पर कॉल कर देना.

मैं- उसी की वजह से हमारी नजदीकियां बढ़ गईं और तुम्हारी जैसी खूबसूरत और सेक्सी औरत मेरे साथ है. उसके इंटरव्यू तक मैं वहीं रहा और जब इंटरव्यू खत्म हुआ तो हमने साथ में खाना खाया. मैंने नींद खुलने का नाटक किया और अपने पैर पूरे लंबे करके और हाथ फैलाकर पीठ के बल होकर लेट गया.

मैंने सीधे होकर उनसे पूछा- लंड की सवारी करना है या मैं ही पहले ऊपर चढ़ जाऊं?चाची उठती हुई बोलीं- नहीं मुझे लंड की सवारी का मजा लेना है. पीछे से चूत चोदने वाले बाबा ने मुझे नीचे खींच कर ज़मीन में खड़ा कर दिया और मेरी एक टांग उठा कर मुझे पीठ से अपनी तरफ करके मेरी गांड में अपना लंड पेल दिया. ये शादी उसने अपनी मर्जी से अंतर्जातीय की थी तो इतना विलम्ब हो गया था.

बीएफ पिक्चर व्हिडिओ हिंदी वो तो अच्छा हुआ कि मैं उसे प्यार से सब कर रहा था, नहीं तो किसी और मर्द के हाथ लग जाती तो वो रूना को पटक पटक कर चोदता. थोड़ी देर बाद मेरा पानी उसकी गांड में ही निकल गया और भाभी ठंडी पड़ गयी.

इंडियन सेक्स वीडियो एचडी

मेरा स्पर्श पाते ही फकीर ऐसे उठ गया, जैसे वह जैसे मेरा इंतजार ही कर रहा था. यह आपकी सपना का हसीन सपना है, जो मैंने आपके सामने कहानी के रूप में लिखा हैये सब मेरे मन की इच्छा है, जो कभी मेरी किस्मत में हुआ तो मैं जरूर करूंगी. मैंने एड़ी उचका कर लंड को उस नंगी लड़की की चूत में डालना चाहा, तो वो बोली- नो डार्लिंग, लंड अन्दर नहीं करना है.

मैं खून से लथपथ बुर चोदने का मजा लेते हुए तेज गति से हचक हचक कर चोद रहा था. मैंने झट से तौलिया लंड पर रख दिया और कहा- अरे गीता तुम … कब आई?वो बोली- मैं अभी आयी हूँ, जब तुम बाहर आये थे. विवाह फिल्म भोजपुरी मूवीउसने कुछ ही देर में भाभी की चूत का रस चाट कर साफ़ कर दिया था और भाभी चित पड़ी लम्बी लम्बी सांसें ले रही थीं, उनकी गोल मटोल चूचियां बड़ी तेजी से उठ बैठ रही थीं.

शौहर की नामौजूदगी में आरजू अपनी चुत की आग को उंगली के सहारे ही ठंडी कर पाती है, इसके सिवाए वो कुछ नहीं कर सकती थी.

भाभी ने आंखें मटका कर कहा- ओहो … लाला मतलब तुम्हारी गर्लफ्रेंड चाहे जिधर से दे देती है?मैं कहा- हां भाभी, आप सही पकड़े हैं. तो दोस्तो, कैसी लगी आपको मेरी देसी हॉट गर्ल सेक्स कहानी?मुझे लगता है लड़कियों ने तो रात को पढ़कर अपनी चुत में उंगली की होगी और लड़कों ने भी अपना लंड हिलाया होगा.

एक हाथ से लंड और दूसरे हाथ से मेरे टट्टे सहलाते हुए रेशमा की जीभ मेरे सुपारे की जबरदस्त तरीके से मालिश करने लगी. अब मैं शादी के बाद हर दूसरे दिन किसी पराए मर्द से बिंदास चुदवाती हूँ. मैं अमन के लंड के ऊपर बैठी और लंड चूत में डाल कर सेट किया और अपने हाथ अमन के निप्पल पर रख कर अपनी कमर हिलाने लगी।थोड़ी देर बाद अमन ने भी अपनी कमर उठा कर मेरा साथ देना शुरू कर दिया.

रेखा- आंह अंकल, मुझे आपका लंड का पानी मेरी इस कुंवारी चूत में चाहिए, जो कि अब आपने फाड़ दी है.

मैंने कहा- भाभी, आप मुझे अच्छी लगती हैं और आप सब सच बोल रही हैं कि मेरे मन में आपको चोदने का विचार काफी पहले से ही था. नीचे से महंत का दो इंच मोटा और आठ इंच लंबा हब्शी लंड अर्चना दीदी की छोटी सी मुलायम चुत में अभी भी घुसा घुआ हुआ था. अब दीदी और नीरजा बहुत खुश थेमैंने उस रात दीदी को एक बार ओर चोदा सो गया.

लड़की लड़की का एक्स एक्स एक्सपहले तो मुझे बिल्कुल भी यकीन नहीं हुआ लेकिन उसने मुझे पूरे सबूत के साथ अपनी सच्चाई बताई और अपनी सच्चाई को साबित करने के लिए उसने मेरे सामने ही अपने ससुर से फोन पर बात भी की जिसमें उसने खुलकर अपने ससुर से चूत और लंड की बात की. कॉलेज गर्ल पोर्न स्टोरी दो साल पहले तब की है, जब मैं कॉलेज में पढ़ा करती थी.

सेक्सी इंग्लिश पिक्चर फिल्म

मेरी बीवी की एक मादक आह निकली और उसने लंड का सुपारा अपनी गांड में जज्ब कर लिया. मैं उसे अपने कमरे में ले गया, जिसे आज मैंने विशेष रूप से इस अवसर के लिए सजाया था. मेरा नाम राज (बदला हुआ), उम्र अड़तालीस साल, लम्बाई छः फिट तीन इंच, भरा पूरा शरीर है, दिखने में ज्यादा हैंडसम नहीं हूँ.

उस कंपनी के ऑफिस का पार्किंग एरिया अंडरग्राउंड था इसीलिए वहां थोड़ा अंधेरा था और इक्का दुक्का लोग ही वहां थे. मैंने कुछ देर ऐसे ही झटके दिए और फिर उसे, उसकी गर्दन के सहारे पकड़ कर एक और जोरदार झटका दिया. मैंने कहा- ओके पनीर टिक्का न मिल सकता हो तो खाली प्लेट ही चाटने को मिल जाए!वो समझ गई और बोली- किसी सुनसान जगह पर चल कर कार लगाओ.

वो मादक स्वर में बोली- क्या अब भी तुम मेरी गांड पहले मारना चाहते हो?मैंने कहा- पहले तो मैं तुम्हारी गांड ही मारूंगा. हम तीनों वहीं एक कुर्सी पर बैठकर आपस में बातें करते हुए नाश्ता करने लगे. तभी एक बाबा ने मुझे अपनी तरफ खींचा और मेरा चुम्मा लेते हुए अपने मुँह से एक दवा की गोली मेरे मुँह में डाल दी.

पापा ने सीधा चूत पर लंड टिकाया और जोर से धक्के देकर लंड अन्दर डाल दिया. ऐसे ही एक बार मैं और मेरा बिजनेस पार्टनर अमित बिजनेस के काम से मुंबई गए.

मेरे चाचा के कोई बच्चा नहीं है इसलिए वो मुझे अपने बच्चे की तरह देखते हैं.

तभी बलदेव तेज़ झटके देने लगा और दूसरे को ऊपर से हटा कर उसने मुझे सीधी नीचे लिटा दिया. मराठी ओपन बीएफजैसे ही मेरी नजर चाची की उठी हुई गांड पर पड़ी, मेरा लंड सलामी देने लगा. रेखा मैडमकुछ मिनट लंड ऐसे ही अन्दर बाहर करके मैंने पूरा लंड अदिति की चूत में उतार दिया था. अपने जान पहचान में भी मैंने कभी ऐसी घटना के बारे में नहीं सुना था, जिसमें ससुर और बहू के बीच में शारिरिक सम्बन्ध हुए हों.

मैंने कहा- अब हमें अपने अंतिम लेकिन सबसे महत्वपूर्ण काम की ओर बढ़ना चाहिए.

मैं भी उसका पूरा ख्याल रखता हूँ और उसे किसी भी चीज की कमी नहीं होने देता. मेरे बड़े बड़े दूध पर वो जगह जगह काटे जा रहे थे और मैं मचलती जा रही थी- आआह हहआ आहह पापा जी आआ हह कैसे कर रहे हैं … आआ हह दर्द हो रहा है पापा जी … आऊऊच आआ आहह. पूरा चूत रस पी लेने के बाद मैंने अपनी जीभ नीता के मुँह में डालकर उससे पूछा- लो चखो मेरी जान और बताओ कैसा है तुम्हारी चूत के अमृत का स्वाद?नीता मेरी जीभ चूसकर बोली- बहुत ही स्वाद भरा और खट्टा स्वाद है.

वो आ गयी तो मैंने सेक्स की एक गोली का चूर्ण बना कर पानी में गीला किया और उसे अपने लंड पर मला कर उससे लंड चाटने को कहा. मैंने उसका गाउन नीचे से उठाकर कमर के ऊपर ले लिया तो नीता ने अपने हाथ ऊपर करके सर से गाउन निकाल दिया. पहली बार दो अजनबी मर्दों के साथ सेक्स करने में मजा आ रहा था और ऐसा लग रहा था कि ये पल यहीं ठहर जाए.

सेक्सी वीडियो हिंदी में देखने के लिए

उसका साढ़े सात इंच लंबा और मोटा लंड मेरी चूत की धज्जियां उड़ाने लगा था. पर मैं जोश में था तो मुझसे रुका ही नहीं जा रहा था, उसे मैं बिना रुके चोदता रहा. राज देखने चला गया और आकर बोला- मामी, संतरा केला सेब और चीकू बेच रहा है.

एक दिन मैं घर आया तो वो घेलू नौकर को नंगा करके उसके ऊपर चढ़ा हुआ था.

वह मुस्करा कर कह देता- अरे यार, गलती हो गई, असल में तुम इतने चिकने हो कि रहा नहीं जाता.

मैंने कहा- भाभी मैं समझा नहीं, आप क्या कह रही हो?भाभी बोली- अच्छा तो अब अनजान बनने का नाटक कर रहे हो देवरजी. फिर पापा ने कसमसाते हुए अपने लंड का सारा माल मम्मी की चूत के अन्दर ही छोड़ दिया. सेक्सी बीएफ बढ़िया मेंदोस्तो, आपको मेरी यह Xxx एनल सेक्स कहानी कैसी लगी, मेल से ज़रूर बताएं.

उसे घोड़ी बनकर चुदवाने में बहुत मजा आ रहा था, मुझे भी बहुत मजा आ रहा था. चूत की फांकों को मास्टर अपनी जीभ से चाट रहा था और चूत के दाने को अपने होंठों से पकड़ कर खींच खींच कर चूस भी रहा था. आज तक ऐसी कोई लड़की या आंटी नहीं मेरे लंड के नीचे से नहीं निकली, जिसे मैंने पूरी तरह से संतुष्ट न किया हो.

मैंने उसके चूतड़ थपथपाए, चूतड़ों पर जोरदार चुम्बन अंकित किए, उसके होंठ चूमे और अलग कर दिया. बेडरूम में मोनिका की चुदास से भरी हुई आवाजें गूँजने लगीं- अहा … आह … राज बस जल्दी से मेरी चूत में लंड डाल दो.

हम दोनों चुम्बन करने में इतने पागल हो गए कि एक दूसरे के होंठों को खाने लगे.

मैंने उससे बहुत कोशिश की और कारण जानना चाहा, लेकिन उसने कुछ नहीं बताया. मेरी मकान मालकिन देसी भाभी की चूत की कहानी कैसी लगी, प्लीज मेल से बताइएगा. एक दिन मैंने उनसे भईया के बारे में पूछा, तो वो मुझे बताने लगीं कि वो अक्सर अपने काम में व्यस्त रहते हैं और महीने में दो तीन बार ही घर आ पाते हैं.

सनी लियोन बीएफ बीएफ मैंने कहा- अब हमें अपने अंतिम लेकिन सबसे महत्वपूर्ण काम की ओर बढ़ना चाहिए. मैंने भी उसके पास जाते हुए उसका हाथ फिर से अपने हाथ में लिया और उसके बिल्कुल करीब जाकर खड़ा हो गया.

फिर मस्त चुदाई के बाद जब वह अपने प्यार की दुहाई देगी तो मैं उससे शादी का आश्वासन दूंगा और उसी से शादी कर लूंगा. भाभी ने बाद में बताया कि वो अपनी गांड में बेलन की हत्था डाल कर गांड में होने वाली खुजली को मिटाया करती थीं, जिस वजह से उन्हें गांड मराने की बड़ी चुल्ल थी. मौसी बोली- हर्षद, काश तुम बहुत पहले मिले होते तो मेरी जिंदगी ही बदल जाती.

लड़की का नंबर मोबाइल नंबर

मैंने कहा- किधर अन्दर भाभी?भाभी- उधर गुसलखाने में!मैंने कहा- क्या भाभी, आप तो मुझे छेड़ रही हो. हॉट स्टूडेंट पोर्न स्टोरी में पढ़ें कि मेरी क्लासमेट मुझे अपने घर ले गयी. फिर रात में दारू पीने और खाना खाने के बाद उन दोनों ने शायद दवा खा ली थी.

मैंने आज तक जो भी कहानी लिखी है, वह सब हकीकत है और मेरे साथ गुजर चुकी हुई होती है. उसको लग रहा था कि उसकी बहन तो शरीफ लड़की है और वो ऐसे काम के लिए कभी तैयार नहीं होगी.

उसने एक हाथ की उंगलियों से अपनी चूत की फांकों को फैला दिया और दूसरे हाथ से मेरा लंड पकड़ लिया.

फिर वो अपना एक हाथ नीचे ले जाकर मेरे पेटीकोट के अन्दर डालने लगे लेकिन मैंने उनका हाथ पकड़ लिया. मुझे हैरानी जब हुई जब होटल के रजिस्टर में अनीशा ने मेरा और उसका रिश्ता पति और पत्नी लिखा. मैं भी 20 दिन का भूखा था, तो सुनीता के ऊपर टूट पड़ा और उसके दोनों मम्मों को बारी-बारी से पिया.

अब बलदेव फौलाद की तरह मेरी चूत का भोसड़ा बना रहा था और दो मूसल लंड मेरे गुलाबी होंठों में खेल रहे थे. मैंने अनजान बनकर भाभी से कहा- क्या देखा भाभी आपने?भाभी ने कहा- बहुत भोले बनने का नाटक कर रहे हो देवरजी. लगभग 10 मिनट ऐसे ही चुदाई करने के बाद मुखिया जी ने अपने लन्ड को माँ की चूत से बाहर निकाला.

उसे थोड़ा विश्वास में लेने के बाद मैंने एक दिन उसको प्रपोज़ कर दिया और उसने भी बिना कोई नाटक के हां कर दिया.

बीएफ पिक्चर व्हिडिओ हिंदी: चाची मेरे सीने पर हाथ फेरती हुई बोलीं- चिंता न करो विक्की, आज तुम भी खुश हो जाओगे और हम दोनों भी तुमसे खुश हो जाएंगी. अब उसने संतोष को पास आने का इशारा किया तो वो भी पास आ गया और मेरा गाउन निकालने लगा.

नीता मादक सिसकारियां लेते हुए मेरी गांड पर अपने हाथ रखकर दबाने लगी थी. मैं- लो भाभी, पर भाभी मेरे पास ये सिर्फ एक ही क्रीम की टयूब है, आप किचन में जाओ … और लगा कर वापस दे दो. तभी वह अचानक उंगली मेरे लंड पर लगाने को हाथ बढ़ा चुका था, मेरे मुड़ने से उसकी उंगली की क्रीम मेरे चूतड़ पर लग गई.

मैं लंड उसकी चूत पर ऊपर से नीचे और नीचे ऊपर की तरफ रगड़ते हुए, उसका स्मूच करते हुए भरपूर साथ दे रहा था.

शादी के समय मेरे पति अपना खुद का एक बिजनेस चलाते थे लेकिन उसमें लगातार नुकसान होने के कारण उन्होंने उसे बंद कर दिया और शादी के 9 महीनों बाद ही वो सूरत में जाकर नौकरी करने लगे. उसने भी अपनी कमर उठा कर अपनी लैगिंग्स और पैंटी निकलने में मेरी मदद की. जब वो घर का काम कर रही होती थी, तब उसके मम्मों को देखने के लिए मैं उसके आस पास ही मंडराता रहता था.