पाकिस्तानी फिल्म बीएफ

छवि स्रोत,सेक्सी वीडियो पुरानी पुरानी

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी हॉट ओपन वीडियो: पाकिस्तानी फिल्म बीएफ, मैं तेजी से लंड पर हाथ चलाते हुए मुठ मारने लगा और एकदम से कुर्सी से उठते हुए मेरे लंड से वीर्य की जोरदार पिचकारी निकली जो सीधी कीबोर्ड पर गिरी.

बड़ा काला लंड सेक्सी

उसकी चूत में एक उंगली देकर मैंने तेजी से अंदर बाहर करनी शुरू कर दी।वो मेरे कपड़े खींचने लगी. हिंदी सेक्सी फिल्म देखने वालापर एक बात बताओ डार्लिंग कि हमारे रिश्ते को इतना टाइम हो गया … और ये तुम मुझे आज बता रही हो!इस पर नीरू बोली- जानू, बताना तो मैं आपको बहुत पहले चाहती थी, पर आज तक हम सिर्फ लोकल में ही मिलते रहे.

तो मैं उसी होटल के बाहर आकर बैठ गयी क्योंकि सामान लादे लादे होटल देखने के चक्कर में मैं थक गई थी. हीरोइन एक्स एक्स एक्स सेक्सीरूम में आने के बाद मैंने दरवाजे को जोर से पटका और अपने लग्गेज बैग को इस तरह से लात मारी जैसे कि वो बैग नहीं बल्कि उस टिकट ऑफिसर के टट्टे हों.

ममता जी पहले से ही पढ़ने में तेज थीं, इसलिए पढ़ लिखकर वो अब लेक्चरर बन गयी थीं.पाकिस्तानी फिल्म बीएफ: उसकी चूत से लगातार रिस रहे रस ने उसकी गाँड और जाँघों के चारों ओर की जगह में एक सफ़ेद परत सी बना दी थी और गाँड का छेद भी पूरी तरह से रस सिक्त हो गया था.

मैंने अपनी चिकनी चूत को अच्छे से धोया और चाचा का सब वीर्य पेशाब करके बाहर निकाल दिया.फिर हम अपने रूम में गये और दरवाजा बंद करते ही एक दूसरे की बांहों में लिपट गये.

मोठ्या थाना ची सेक्सी - पाकिस्तानी फिल्म बीएफ

मैं और सुरभि एक साइड लगे थे … और प्रियंका और अनामिका दूसरी तरफ थीं.जब मैंने अपना लोअर निकाला तो मामी मेरे लंड के उभार पर थोड़ा ध्यान दे रही थीं.

अब वो गांड चलाने लगी और झटकों का जबाव देने लगी। मेरा लंड उसकी चूत में पूरा घुसकर बाहर आ रहा था. पाकिस्तानी फिल्म बीएफ ये कहते हुए मैं शायरा के ऊपर से उठ गया और अपने कपड़े पहनने‌ शुरू कर दिए.

आप अपने सुझाव मुझे नीचे दिए गए ईमेल पर लिख सकते हैं। यदि किसी भी प्रकार की गलती हुई हो तो मुझे माफ करें.

पाकिस्तानी फिल्म बीएफ?

सेक्सी देसी स्टोरी में पढ़ें कि गांव में मैं पैसे देकर देसी लड़की की चूत मारा करता था. मैं चाचा जी के कच्छे में खड़े लंड को अपनी टांगों पर महसूस कर सकती थी. उसने एक हाथ नीचे कर मेरी अंडरवियर में डाला और मेरे होंठ छोड़कर बोली- आप इनको रोज शेव क्यों नहीं करते?मैं- क्या हुआ?ज़ारा- चुभ रहे हैं हाथों में!मैं- ठीक है सुबह तुम ही शेव कर देना!ज़ारा- मतलब बाथरूम सेक्स!और मुझे फिर से बाहों में भर लिया और किस करने लगी.

प्रियंका ने उसी वक्त मुझको फोन लगा दिया- हैलो मेरे चोदू जीजू … आपकी एक और साली आपसे चुदने को बेताब है … उसे चोदने कब आओगे!मैं- जब तुम बुलाओ रानी … बस तुम प्लान करो … लेकिन यार उस सिंगल दीवान में ढंग से कुछ नहीं हो पाता है. अब रात को भी मुझे वहीं पर रुकना था क्योंकि पुण्या अकेली नहीं रह सकती थी. मैं भी उसके लंड को तेजी से चूसने लगी और उसका माल मेरे मुंह में गिरने लगा.

तब तक चूत की आग को जलने दो। तभी तुम्हें मज़ा आएगा।हमने अपने आप को व्यवस्थित किया कि इतने में मौसी बाहर आ गई. मैं औंधी हो गयी और मेरे भतीजे ने मेरी चुत में पीछे से अपना लंड डाल दिया. मेरे साथ पहले दिन हर कंवारी लड़की ऐसे ही कहती है और मैं भी उसे ऐसे ही आश्वस्त करता हूँ.

सूरज ने पूछा- तो कैसा लगा सुहानी?मैंने कहा- बहुत मजा आया सच में, पर अगर तुम अच्छे से चोद सकते, तो यहां आने की जरूरत नहीं पड़ती. मैं उसके पास गई और पीछे से जाकर मैं उसकी पीठ से चिपक गयी और उससे पूछा- क्या हुआ?अभिषेक- ये सब गलत है क्योंकि ऐसा करके मैं मानसी को धोखा दे रहा हूँ.

फिर चाचा जी ने मेरा कंधा पकड़ कर मुझे सूरज से अलग किया और मेरे होंठों पर अपने होंठ रख दिए.

मगर मेरे पति नीरव इस मामले बिल्कुल फुद्दू थे, उनको जरा भी ज्ञान नहीं था कि औरत को क्या चाहिए होता है और उसको कैसे खुश रखा जाता है.

वो मेरे मम्मों को अपने मुँह में पूरा भरके बारी बारी से दोनों आमों को चूसने लगा. कविता को इस बात का सन्देह हो चला था, फिर भी उसने मेरे बालों को हल्के हाथों से पकड़ा और मेरा मुँह अपनी योनि के पास ले गयी. कुछ देर बाद एक फैमिली आयी, जिसमें एक आदमी और उसकी बीवी और एक 19-20 साल का लड़का भी था.

जब मैं अपनी बीबी की चुदाई अपने यार से होने की तैयारी करते हुए देखता; तो मुझे काफी मजा आ रहा था और तकरीबन दिन भर मेरा लन्ड खड़ा ही रहता था. पुण्या कसमसा रही थी और चूचियों में हो रहे दर्द को बर्दाश्त करती जा रही थी. उनकी साड़ी का पल्लू एक तरफ गिरा हुआ था और ब्लाउज के हुक पीठ पर कसे हुए मेरी नजरों के सामने थे.

ये सब आपको दूसरी सेक्स कहानी में लिखूंगा कि कैसे मैंने मामी को लंड चुसाया और उनकी गांड मारी.

फिर मुझे उसकी गर्दन में हाथ डालने थे और कैमरे की ओर देखकर मुस्कराना था. भोपाल 24/7 ओपन रहता है और हमारा होटल भी 24/7 ओपन वाला था, कोई भी कभी भी आ जा सकता था, तो कोई दिक्कत नहीं हुई. मैं मामी की गाँव में चुदाई की कहानी को पूरे विस्तार से अगले भाग में लिखूंगा.

फिर वो कमरे के बाहर गयी और ऐसे दिखाने लगी कि जैसे वो अपने भाई के रूम में जा रही है जो अकेले में मुठ मार रहा है. इसलिए तो मैंने कहा अगर औरत मुझे अपना टाइम देती है, तो मैं उसे चोदने के रास्ते में अपने आप बना लेता हूं. मैंने एक जोर का झटका मारा तो मेरा लंड फिसल गया। मैंने उस पर थूक लगाया और फिर से लौड़ा छेद पर टिकाया.

फिर क्या हुआ?अन्तर्वासना के सभी पाठकों को मेरा नमस्कार।मैं राजदीप एक बार फिर से अन्तर्वासना सेक्स स्टोरी पर आपका स्वागत करता हूं.

वो सिसकारियां लेने लगी- आह्ह … स्स् … आह्ह … करते हुए मस्ती में चुसवाने लगी. कुछ समय बाद जब दर्द कम हुआ तो उसने लंड अंदर बाहर करना शुरू कर दिया.

पाकिस्तानी फिल्म बीएफ काफ़ील खुद भी शायद यही सोच रहा था, वो झट से मान गया और अपनी बीवी आफ़िया भाभी से बोला- ओके हनी, तुम इधर एन्जॉय करो, मैं उधर जाता हूँ. दिल्ली और मुंबई में मेरे नाइट क्लब का काम है, तो मेरा दोनों जगह आना-जाना लगा रहता है.

पाकिस्तानी फिल्म बीएफ उसने मेरी रजामंदी समझ ली और मुझे चादर उढ़ा कर वो मेरी चुचियों से मस्ती से खेलने लगा. मैंने कार में जाकर नीरू को इसके बारे में बताया, तो वो भी खुश हो गयी.

ऐसे ही कुछ मिनट तक मैंने मासी की झड़ी हुई चुत को चाटा, तो मासी की चूत फिर से गर्मा गई.

इंग्लिश बीएफ सेक्सी चुदाई वाली

बैंक क्रेडिट कार्ड से मैंने क्रेडिट प्वाइंट खरीद लिये जो सेशन शुरू करने के लिए जरूरी थे. आपको मेरी यह भाई बहन का सेक्सी खेल कैसा लगा? प्लीज़ कमेंट करके जरूर बताएं. कभी वो मेरे होंठों को, तो कभी मेरे मम्मों पर थूकता और उन्हें चूसकर काट भी लेता.

मैं अनामिका के आम देख कर बोला- वाह क्या रसीले चूचे हैं … पहली बार ऐसे आम देखे मैंने. मैंने भी हंसते हुए अब भागने की सी एक्टिंग की, मगर तब तक उसने मेरी पीठ पर फिर से एक मुक्का जड़ दिया. मैंने भी इस बार उनकी बात मान कर उनको लेटा दिया और उनकी टांगें फैला कर उनकी चूत पर लन्ड सेट कर दिया.

मैंने कहा- एक बार तो यह दर्द हर लड़की को सहना ही होता है, अभी ठीक हो जाएगा.

फिर उसने मेरी पैंटी निकाल दी और मेरी छोटी सी चूत उसके सामने नंगी हो गयी. मेरी मम्मी का फोन आया, तो मैंने बता दिया कि अब पार्टी शुरू होने वाली है और थोड़ी सी बात करके फोन काट दिया. शायरा की भी चीख निकल गयी, पर उसके होंठ मेरे मुँह में थे, इसलिए उसकी दबी हुई चीख मेरे मुँह में ही दबकर रह गयी.

अब आपको मैं अगली कहानी में मजा दूंगीआपकी सेक्स कहानी वाली सोनिया वर्मा. फिर उसको बांहों में लिया और उसकी गांड को दबाते हुए उसको किस करने लगा. वैसे मुझे लगता है कि 19 साल में गांड इतने बड़े लंड लेने के लिए तैयार हो जाती है; बस थोड़ा दर्द सहने की ज़रूरत है.

मैंने बिना एक पल गंवाए उस प्रीकम को चाट लिया और लौड़े को पूरा गीला कर दिया. मैं समझ गया कि आज भाभी जी मूड में हैं और इस लॉकडाउन में इनकी भी चुत में आग लगी होगी.

बीस मिनट की लगातार की चुदाई में मौसी ने दो बार स्खलित होकर अलग होने की चेष्टा की, पर मेरी पकड़ मजबूत होने के कारण वो मुझसे छूट ही नहीं पाई. उसे बड़ा लंड खाना था तो मैंने अपने बड़े लंड वाले दोस्त को अपने घर बुलाया. मैंने सोचा कि ये बड़ी बुआ के लिए कह रही हैं तो मैंने पूछा- किसने?बुआ हंस दीं और बोलीं- तेरी गर्लफ्रेंड ने.

मैं- देखो कल जो हुआ उसके लिए सॉरी बोला है, दोस्ती में इतना तो चलता है.

मैं दिखने मैं काफी गोरा हूँ, साथ में जिम ट्रेनर होने के कारण बहुत ही हृष्ट पुष्ट हूँ. मेरे कहते ही उसने अपने होंठों और दांतों के भिंचाव को मेरे निप्पल्स पर चलाना शुरू कर दिया. [emailprotected]ब्यूटीफुल वाइफ सेक्स कहानी का अगला भाग:पतिव्रता बीवी की चुदाई दोस्त के बड़े लंड से करायी- 2.

मगर मैं उससे फोन पर बात जरूर कर लेता था।धीरे धीरे हम दोनों की दोस्ती गहरी होने लगी। यहां तक कि अश्लील चुटकुले भी भेजे जाने लगे और वो भी कुछ नहीं कहती थी।गुजरते समय के साथ हमारी बातें काफी गहरी होने लगीं और मीनू मुझे अपनी पर्सनल बातें भी बताने लगी।एक दिन मुझे पता लगा कि राहुल मीनू में बहुत कम रूचि लेने लगा है. हम तीनों ने सीधे बोतल मुँह से लगा कर एक एक घूंट लगाना चालू कर दिया.

नमस्कार दोस्तो, मैं कई वर्षों से अन्तर्वासना का नियमित पाठक हूं, यहां की लगभग हर सेक्स कहानी मैंने पढ़ी है. अब उसकी गांड, लंड के ठीक सामने थी और ये दोनों ही इस दूरी को बर्दाश्त नहीं कर पा रहे थे. कुछ देर तक हम होंठों के रसपान में डूबे रहे और फिर मैंने भी अपने कपड़े निकाल दिये.

हिंदी में बीएफ एचडी हिंदी

ऐसे कहते हुए प्रियंका फिर से नीचे आ गई और उसने अनामिका की चूत को दो उंगलियों से चोदना शुरू कर दिया.

मैंने अपनी टी शर्ट निकाल दी और उसकी टी शर्ट को ऊपर किया तो उसकी गुलाबी कलर की ब्रा दिख गयी. उनके होंठ मेरी गर्दन पर नर्म नर्म चुम्बन दे रहे थे और हर चुम्बन मेरे बदन पर जैसे प्यार के फूल फेंक रहा था जो मुझे अंदर तक झकझोर जाता था. मैंने चाचा जी से विनती की- प्लीज एक बार लंड निकाल लो, मैं दुबारा डलवा लूंगी, थोड़ा दर्द कम हो जाने दो.

उस डॉक्टर ने मेरा इलाज कैसे किया?साथियो, मैं शरद अपनी सेक्स कहानी में आपको बता रहा था कि एक लड़की की चूचियों को बड़ा करने को लेकर परेशान थी. उसने मेरे कंधे से ब्लाउज से उंगली घुसा कर पिनअप किया और साड़ी बांध दी. लड़कियों की सेक्सी फाइटमैं- तुम सच में मुझे प्यार करती हो?शायरा ने फिर से हां में गर्दन हिलाई.

इससे पहले रस सूखता, उसे वापस उसी तरह अंदर धंसा दिया। इस बार पहले की अपेक्षा कुछ आसानी से गया और अपने हाथ उसकी जांघों पर टिका कर बड़ी आराम से धीरे-धीरे अंदर-बाहर करने लगा।योनि एडजस्ट हो गयी और तो उसने अपना हाथ हटा लिया और अब आंखें बंद कर के धीरे-धीरे सिसकारने लगी।जोर-जोर से पेल न बे! शिवम ने उकसाने की गरज से कहा।शुरुआत में ऐसे ही ठीक है. शायरा का दर्द कम करने के लिए मैंने अपने होंठ उसके होंठों से जोड़ दिए और उन्हें हौले हौले प्यार से चूसने लगा, ताकि शायरा दर्द को भूल कर किस पर फोकस करे … और उसका दर्द कुछ कम हो ज़ाए.

एक तरफ तो वो दर्द की वजह से अपने नाख़ूनों से मेरी पीठ को खरोंच रही थी और दूसरी तरफ कह रही थी कि मुझे दर्द नहीं हो रहा. टीवी देखते हुए 11 बज गये और फिर उसी वक्त मेरे फोन में एक अलर्ट आया. मैंने कार पार्किंग में लगाई और नीरू को कार में ही बैठने को बोल कर अन्दर आ गया.

मुझे इस बात पर गुस्सा आ गया था लेकिन फिर भी मैंने उसको घर में आने दिया. जब मैं दोबारा गाँव गया तो उससे मिल कर दोबारा चुदाई का प्रोग्राम बनाया. मैं मजा लेने लहा- आह पुष्पा रानी और जीर से लंड चूसो … अहह अह … पुष्पा.

इसी बीच मैंने अपना पैर उसकी गोटियों में लगा दिया और कस कर दबा दिया.

नमस्कार दोस्तो, मैं आपका राज शर्मा लेकर आया हूं अन्तर्वासना हिन्दी सेक्स कहानी पर आपके लिए अपनी एक और कहानी!इसे पढ़कर आप मुट्ठी मारने के लिए मजबूर हो जाओगे और सेक्सी चूतों में चुदास जाग जायेगी. काफी देर चुसवाने के बाद मैंने उसके मुंह में ही माल निकाल दिया क्योंकि मैं कंट्रोल नहीं कर पाया.

उसने नाईटी के अन्दर कुछ नहीं पहना था।अब भाभी मेरे सामने पूरी नंगी थी. फिर उसी रात को स्वाति का मैसेज आया कि कल उसे मौसी के घर की सफाई करने के लिए जाना है और उसे मेरी हेल्प चाहिए थी. मेरे दोनों गालों पर अपने हाथ रख कर वो जैसे मेरे चेहरे को अपने करीब लाकर, उसे पूरी तरह से बस अपना कर लेना चाह रहा था.

उधर भाभी जोर जोर से चिल्लाने लगीं- आह मार दिया हरामी … साले निकाल ले … मुझे नहीं खुलवानी. पोर्न मूवीज को देख देख कर वो दोनों कामसूत्र की नयी मुद्राएं अपनाते थे. गे बॉय सेक्स कहानी में पढ़ें कि एक वेडिंग प्लान के लिए मैं एक क्लाइंट के असिस्टैंट से मिला.

पाकिस्तानी फिल्म बीएफ तो दोस्तो, इस तरह से मेरी पहली चुदाई के बाद ये बॉयफ्रेंड सेक्स स्टोरी शुरू हुई। आप मुझे रिव्यू देकर बतायें कि आपको कहानी कैसी लगी?मेरा ईमेल नीचे है।[emailprotected]. एयरपोर्ट से बाहर निकलने से पहले ही उसने शर्माकर मुझसे बोला- एक बार फोन कर लीजिए ना पंकज को, कहीं उसे होटल ढूंढने में परेशानी तो नहीं हुई?कसम से मेरा एकदम से मन किया कि जोर जोर चिल्लाकर उस समय सामने खड़े हर आदमी को बताऊं कि देखो … मेरी बीवी अपने यार से चुदवाने के लिए कितनी बेचैन है.

सेक्सी बीएफ दिखाइए इंग्लिश में

कुछ देर बाद वो रूम में आ गए और मेरा घूंघट उठाने लगे।भारतीय परंपरा के अनुसार मुझे भी दुल्हन की तरह शर्माना था; मैं शर्माने लगी. जवान भतीजे अयान का हाथ भी एक प्यासी औरत को जगाने वाली जगहों के पास से होता हुआ चलने लगा, जिससे मेरी पैन्टी में हलचल होनी शुरू होने लगी. मैंने उसके सिर को जोर से लंड पर दबा लिया और उसके गले में सारा वीर्य निकाल दिया.

इसी के साथ अनामिका ने अपना एक हाथ प्रियंका के शॉर्ट्स में पैर की साइड से अन्दर घुसेड़ दिया और प्रियंका की पैंटी को खिसकाकर उसकी चुत में अपनी दो उंगलियां एक साथ पेल दीं. आप दोनों आज रात हमारे साथ डिनर कीजिए और आपका जो भी जवाब होगा, आप हमें बताइएगा. जानवरों की सेक्सी पिकपहले दिन तो अविना ने बियर पीने से मना कर दिया था, मगर अनु अविना को साइड में ले जाकर उसे समझा बुझा कर ले आई.

ये करूं कि वो करूं, इस वजह से मैं उसके साथ कुछ भी नहीं कर पा रहा था.

दूसरी बार जब वो मिली तो बोली- इस वीकेंड में तुम क्या कर रहे हो!मैंने बोला- कुछ नहीं. फच्च फच्च की आवाज से पूरा कमरा गूंजने लगा।थोड़ी देर बाद आंटी की चूत ने पानी छोड़ दिया और वो शांत हो गई.

मैंने उसको थोड़ा सा स्माइल देकर पूछा- आपको भी जाना है?तो उसने हां में सर हिलाया और मैं बाहर आ गयी. उसकी चूत पूरी भीगी‌ हुई थी … इसलिए मैं बाहर बाहर से ही चूत को प्यार करने लगा. पिछले भाग में बताया था कि कैसे मैंने नीरू की इच्छा अनुसार उसके साथ सुहागरात मनाई और उसकी जम कर चुदाई की.

घर के सब लोग चले जाते थे और मैं और चाची अकेले घर में पति पत्नी की तरह रहते थे.

वह मेरे ऊपर आकर मेरा लंड हाथ में लेकर सहलाने लगी और उसे अपनी बुर पर सैट करके उस पर बैठ गई. ”तो तुम क्यों इतने दिन तक दबायी रही, बोल देती … तो इस तरह तुम्हें उंगली से अपनी चूत की क्षुधा शांत नहीं करनी पड़ती … और तुम्हारी चूत में झांटों का जंगल न हो जाता. फिर मैं तेजी से सांसें भरते हुए फर्श पर लेट गयी और मैंने उसके माल को अपने चूचों पर थूक कर फैला दिया.

सेक्सी वीडियो सेक्सी मारवाड़ी सेक्सीअब ज़्यादा देर करना भी ठीक नहीं होता … इसलिए मैंने अपने सारे कपड़े निकाल दिए और बिल्कुल नंगा होकर शायरा की टांगों के बीच आ गया. अब मैं अपनी चाची के सिखाए हुए तरीके से अपनी मस्त मादक मामी को ज़ोर ज़ोर से चोद रहा था.

बीएफ पंजाबी पिक्चर

मुझसे भी रहा न गया और मैंने नीचे झुक कर चाची की एक चूची को मुंह में ले लिया. उसने इसके बाद ज़रा सा समय न लगाते हुए मेरी टी-शर्ट और ब्रा ऊपर कर दी और दोनों मम्मों को बारी बारी चूसने लगा. उस दिन अविना और मैं दोनों ही होटल की और निकल पड़े, आज कमल और अनु को मैंने साथ नहीं लिया था.

मगर उसके उलट वो तो पंकज के लंड को पूरा अंदर तक निगलने लगी और उसकी आँखों में देखती हुई उसे अपने मुँह में ही झड़ने का मूक आमंत्रण दे रही थी।थोड़ी ही देर में पंकज के भीतर से खौलता हुआ लावा फूट पड़ा और वो गुर्राते हुए … थरथराते हुए झड़ने लगा।मैं सब भूलकर उस दृश्य को गौर से देख रहा था क्योंकि आज तक सुमन ने कभी मेरा वीर्य अपने मुँह में नहीं गिरने दिया था. रोहित ने मेरे निप्पल पर अपने होंठ रख दिये और फिर जीभ से उनको सहलाने लगा. मैंने एक स्पेशल जैली लगे वाले कंडोम का प्रयोग किया था, इसलिए उसे लंड की रगड़ाई से चुत में होने वाला दर्द कुछ कम होने वाला था.

फिर हम दोनों ने बैठ कर फिर से एक दूसरे की आंखों में देखा और फिर से एक दूसरे को चूमने लगे … जैसे कि कभी दुबारा अलग ही नहीं होना चाहते हों. जितनी खूबसूरत वो फ़ोटो में दिखती थी उससे कहीं ज्यादा वो असल में खूबसूरत लगती थी. इसके बाद से तो मैं जब चाहे जिस बुआ के ऊपर चढ़ जाता था और उनकी चुदाई का मजा ले लिया करता था.

इसी बीच मैंने अपना पैर उसकी गोटियों में लगा दिया और कस कर दबा दिया. नमस्कार दोस्तो, मैं कई वर्षों से अन्तर्वासना का नियमित पाठक हूं, यहां की लगभग हर सेक्स कहानी मैंने पढ़ी है.

आते जाते भी उनकी नजर इसी तरफ होती।फिर तो मैंने भी सोच लिया कि जो होगा देखा जाएगा आज कुछ नया करूंगा.

चाचा जी बोले- कोई नहीं धीरे धीरे सीख जाएगा … वरना सुहानी को मेरे पास ले आना, मैं फिर से सिखा दूंगा. देवास सेक्सी वीडियोसोने से पहले शॉवर लेने की आदत के चलते मैंने अपने रूम में आते ही नहाने का सोचा. नौकरानी के साथ सेक्सी वीडियो हिंदी मेंफुदकते फुदकते गिनती पंचानबे, छियानबे पर पहुंची तो मैं चौकन्ना हो गया. मैंने कहा- बिन्नी, ठीक है, हम अब नहीं करेंगे लेकिन थोड़ा प्यार तो कर ही सकते हैं.

वो काफी गर्म हो रही थी और मैं उसकी चूचियों को चूसते हुए उसके बदन पर हाथ फिराने लगा.

मैगी बनाने की बात पर मैं हस्बैंड से बोली- दोबारा कभी मुझ पर हुक्म चलाने की कोशिश मत करना नीरव! मैं तुम्हारी नौकर नहीं हूं जो तु्म्हारे लिये खाना बनाऊंगी. मैं उसकी तरफ देखने लगा कि ये तो ग्राहकों को देखने के लिए ही कह रहा है. मुझे बहुत आश्चर्य हुआ कि ये दोनों स्त्रियां एक दूसरे के बारे में सबूत चाहती थीं.

अनिल ने दीपा के आने के बाद उसकी ताबड़तोड़ चुदाई की और किसी जोड़े से सेक्स की बात कही, उसे खूब पोर्न दिखायीं. फिर जब मेरे हाथ उसकी चूत के ऊपर होते, तो वो अपनी चूची से खेलती और अपने निप्पलों पर अपनी जीभ चलाती. चुदाई की कहानी के पहले भागगर्लफ्रेंड की सहेलियों संग रासलीला- 1में अब तक आपने पढ़ा कि प्रियंका अपनी सहेली अनामिका को मेरे साथ चुदवाने के लिए उसे मेरे लंड की फोटो दिखा रही थी.

जीजा साली की बीएफ हिंदी

वो थोड़ी देर बाद उठी और कमरे से बाहर चली गई।कुछ देर बाद अफसाना रूम में आ गई. मैं- वो तो ठीक है … पर मुझसे ये तुम्हारे हां करने की खुशी बर्दाश्त नहीं हो रही है. खैर, सबके ऊपर जाने के बाद पिंकी ने चिंटू को जबरदस्ती सुला दिया और अनिल को फोन करके पहले तो आने को मना किया.

क्योंकि अभी प्रिंसिपल का फ़ोन आया था और वो बोले हैं कि आज स्कूल बंद कर दो.

अब पति के दोस्त का ध्यान कभी उसके निप्पलों पर जा रहा था, कभी नीचे से झांकती चूत की दरार पर.

इसीलिए मैंने भी अपने दरवाजे को बिना कुंडी लगाए ही बस सटा कर बंद कर दिया था. कॉलेज में भी कुछ खास नहीं होता था, बस कुछ थकेले टीचर मुझ अकेले बच्चे को लेक्चर देकर चले जाते थे. पोर्न सेक्सी हॉटलेकिन उस टाइम मेरी इतनी फटने लगी कि मैंने उसके लंड से अपना हाथ हटा लिया.

अनिल ने पिंकी को कसम दी कि तुम रवि से सेक्स मत करो, तुम पर मेरा अधिकार है. दो दो पैग होने के बाद मैं तो ठीक थी, लेकिन उसको चढ़ चुकी थी क्योंकि वो पहले से भी लगाए हुए था. हम दोनों पसीने से लथपथ हो गये और चिपक कर लेट गए।थोड़ी देर बाद मैंने लंड को बाहर निकाल लिया और उसके होठों पर रख दिया.

मैं उठ गया था, आपको आवाज दी, आप नहीं आयीं, मुझे डर लगा तो मैं दुबारा सो गया. मैंने कहा- बिन्नी, ठीक है, हम अब नहीं करेंगे लेकिन थोड़ा प्यार तो कर ही सकते हैं.

मैंने उसे गोदी में उठाया और कमरे में आकर बोला- चल लेट जा, तेरी मालिश कर दूं.

मोना ने लाल रंग की नेट वाली ब्रा पहन रखी थी और उसकी चूचियां उसकी सेक्सी ब्रा से बाहर निकलने के लिए बेचैन थीं।मोना बोली- डेजी … अपने आशिक़ को थोड़ा मेरे साथ भी बाँट ले. मेरी नजर सीधा सोनू के बेड पर थी, जिस पर सोनू सायरा की तरफ पीठ किये हुए सो रहा था और राहुल (मेरा पोता) सोनू के सीने से चिपका हुआ सो रहा था. काफ़ी कम उम्र में ब्याह के बाद मैंने ही उसकी अनछुई चूत की सील तोड़ कर किलाभेदन किया था.

हरियाणा की फुल सेक्सी वो हल्की सी चीखी और बोली- जरा धीरे कीजिये ना!मैंने उसकी बात को अनसुना करते हुए उसे बेड पर सीधा लिटाया और अगले ही पल उसकी पैंटी को उसके बदन से अलग कर दिया. वो पिंकी को गोदी में उठाकर नीचे से उसकी चूत में अपना लंड घुसा कर चोदता था.

मैं मोना की चूत में लंड को पेलते हुए डेजी की चूत में जीभ से चाटने लगा. वो मुझे मेरे होंठों पर चूमने लगा और मेरे बूब्स की घुण्डियों को दबाने लगा. पापा अगर आप मेरी चूत को खा लेंगे … तो फिर अपने लंड के लिए आपको नयी चूत ढूंढनी पड़ेगी.

बीएफ वीडियो हिंदी हॉट

जैसे जैसे मेरी जीभ शायरा की चुत पर चल रही थी … वैसे वैसे मेरी उसकी चुत के प्रति दीवानगी‌ बढ़ती जा रही थी. मेरे घर के पास वाले घर में ही एक भाभी से मेरी नजरें टकराईं और एक दिन उसने मुझे खिड़की से मुठ मारते देख लिया. अभी ये बता कि तेरे पास कितना टाइम है?अस्मिता बोली- अमित ज्यादा से ज्यादा 15 मिनट रुक पाऊंगी.

तो फूफा जी ने पूछा- क्या हो गया?बुआ मेरे सर पर हाथ फेरते हुए बोलीं- कुछ नहीं, एक चूहा आ गया था. इंडियन लंड सेक्स कहानी में पढ़ें कि कैसे मेरी चूत एक लंड के लिए बेचैन हुई जा रही थी.

इस चीज़ को मैं भली भांति जानता हूँ कि आज की लड़कियां आलीशान जिंदगी और विलासिता को पूरा करने के लिए पैसों के पीछे भागती हैं और इसी चीज का मैं फायदा लेता हूँ।मैं हमेशा से ही अन्तर्वासना का पाठक रहा हूँ.

क्योंकि स्कूल बंद हो चुका है, तो अब कोई आएगा भी नहीं … और बारिश अभी ऐसी हो रही है कि जल्दी बंद भी नहीं होगी. मेरे खुले बाल उसके सिर के ऊपर झूल रहे थे और मैं ‘आहह … आहह … सूरज … पता है कब से इंतज़ार था मुझे तुमसे चुदवाने का … आहह … मेरी जान … तुम जल्दी चोदना सीख लो, फिर तो रोज़ चुदाई करा करेंगे … आई लव यू जान. मेरी बातों पर शायरा भी पूरा फोकस कर रही थी … पर वो कुछ फ़ैसला नहीं कर पा रही थी.

शनाया मेरी ओर देख रही थी और मेरे लंड से एकदम से मेरा गर्म गर्म वीर्य निकल कर कंप्यूर स्क्रीन पर जा लगा. जब वो दोनों स्टेशन पर पहुंची, तो मैं उनके पैर छूने के लिए झुक रहा था. दो दिन बाद सुबह से ही विक्रम का फोन आ गया- हैलो यार, मैं आज तेरे घर आ रहा हूँ.

मैं सोनिया वर्मा फिर से आपको सेक्स कहानी का मजा देने के लिए हाजिर हूँ.

पाकिस्तानी फिल्म बीएफ: मगर अगले पल ही वो हल्के से हंस दी और बोली- अरे वो तो ऐसे ही … और उसकी तो शादी हो चुकी है न. पर रात को 2-2 लड़कियां और 2-2 लड़कों की जगह एक लड़की एक लड़का हो जाते थे.

हॉट सेक्स विथ फ्रेंड्स वाइफ में पढ़ें कि मेरे पति के जवान दोस्त ने मुझे खूब चूसा. मगर वो काफी दिनों बाद लंड ले रही थी तो उसे दर्द हो रहा था, उसकी आंखों से आंसू निकल आए. इस बार मैंने तुरंत लंड को बाहर निकाल लिया और रश्मि की चूत के रस को रागिनी पीने लगी.

सुबह चार बजे के आसपास मेरी नींद खुली तो देखा कि अपर्णा मेरी बांहों में निश्चिंत होकर सो रही है।ऐसे उसे अपनी बांहों में उसको नंगी देख कर मेरे लन्ड ने भी सलामी देना शुरू कर दिया.

वो तो अनिल को बता कर गया कि मैं आज नहीं रहूँगा, तुम पिंकी से बात करके उसका मन लगा देना. उसने झड़ते ही मेरा लंड मुँह से निकाल कर अलग कर दिया और बिस्तर पर पसर गई. वो बस मेरी बनके रहती और मैं उसे वो सारे सुख देता, जिसके सिर्फ़ उसने सपने ही देखे होंगे.