एक्स एक्स हॉट वीडियो बीएफ

छवि स्रोत,16 वर्ष की लड़की

तस्वीर का शीर्षक ,

मोटी रंडी: एक्स एक्स हॉट वीडियो बीएफ, जब से उसके मम्मी पापा ने उसे मेरे साथ स्कूल भेजना शुरू किया था, तब से मुझे तो जैसे स्वर्ग का सुख ही मिल गया था.

करने वाला वीडियो सेक्सी

हम दोनों के मुंह से कुछ ऐसी आवाजें निकल रही थीं- आह्ह … स्स्स … आह्ह … होह्ह … हम्म … आह्ह … यस … ऊहह् … हाह्ह … याह …ऐसे करते हुए हम एक दूसरे के जिस्मों के सहला और रगड़ रही थीं. घरों की डिजाइनफिर भी मासूम बनते हुए मैंने अपना सवाल दोहराया- बाबूजी, ये आपने क्या कर दिया? आप तो मेरे पिता तुल्य हैं.

दो मिनट तक वो मेरे हाथ को सहलाती रही और मुझे कुछ खाने पीने के लिये पूछती रही. कैटरीना के नंगे फोटोअनु मज़े से चूत में लंड पिलवा रही थी। अनु ने कल्लू की गांड पर हाथ मार कर उसे तेज तेज धक्के लगाने को बोला.

उधर उसकी चूत भी झरने लगी और उसने अपनी टांगें मेरी कमर में किसी आक्टोपस की तरह सख्ती से लपेट कर मुझे पूरी ताकत से अपने बाहुपाश में जकड़ लिया.एक्स एक्स हॉट वीडियो बीएफ: आखिर वही हुआ … ज़ोहरा के बेटी हुई और मेरी बीवी शनाज़ ने एक बेटे को जन्म दिया.

सेक्स करने के बाद माधवी भाभी बोलीं- क्या बात है राज … आज तो आते ही धुंआधार सेक्स कर लिया.कोई अनजान भी तुम दोनों को एक साथ देखे तो यही कहेगा कि तुम दोनों सगी बहनें हो.

मोटी आंटी बड़े-बड़े बूबे वाली ass xl - एक्स एक्स हॉट वीडियो बीएफ

जब वो थोड़ी रिलैक्स हुई तो मैंने उसकी गांड को ठोक ठोक कर अपने लंड के सारे अरमान निकाल लिए.हालांकि इसमें आधी से अधिक कहानियां बनावटी होती हैं किंतु इनमें भी इतना सेक्स होता है कि लंड खड़ा हुए बिना नहीं रहता है।कुछ कहानियों में सच्चाई दिखती है जिनको पढ़ कर मेरा मन भी करता है कि मैं भी कुछ ऐसा ही करूं.

पहले चाची ऑटो रिक्शा में घर पहुंची और थोड़ी देर बाद मैं भी बाइक लेकर घर आ गया. एक्स एक्स हॉट वीडियो बीएफ उन दोनों में ये तय हो गया था कि फोन से बात करके एक दूसरे को पहचान लेंगे.

मेरा भी डिस्चार्ज होने वाला था इसलिए मैंने स्पीड बढ़ा दी और उसकी चूत में फव्वारा छोड़ दिया.

एक्स एक्स हॉट वीडियो बीएफ?

मैं उम्मीद करती हूं कि जिस तरह आपने राज की कहानी को ढेर सारा प्यार दिया, मेरी सेक्स कहानी को भी आप सभी उतना ही प्यार देंगे. एक हाथ से मैंने भाभी की एक टांग को उनके सीने की तरफ की और दूसरी अपने टांग के नीचे दबा ली. उसकी चूत में उंगली करते हुए मैं ऊपर से उसके बदन को चूमने चाटने लगा.

स्पीकर में लाइट म्यूजिक बजाना शुरू किया और एक अच्छा सा रूम फ्रेशनर स्प्रे कर दिया. मॉम के सोने के बाद मैंने राखी दीदी को नंगी करके चोदने लगा और उनके कान में कहा- दीदी, आप गर्म आवाजें निकालो, जिससे मॉम गर्म हो जाएं. तभी मेरा दोस्त बोला- यार, कोई शहर की औरत मिल जाए चोदने को तो मज़ा आ जाए.

गाड़ी में रखी एक व्हिस्की की बोतल से मुँह लगाया आर दो घूंट नीट ही खींच लिए फिर स्वाद ठीक करने के लिए मैंने एक सिगरेट सुलगाई और अपनी बीवी की चुदाई को देखने लगा. भाभी के होंठों को कुछ देर चूसने के बाद मैं उनके चेहरे और गर्दन को चूमने लगा. इसके साथ ही उस आदमी के दोनों हाथ अब मेरी मां के मम्मों पर आ गए थे और वो आदमी मेरी मां के मम्मों को मसलने लगा था.

मैंने उसकी चूत को सहलाते हुए कहा= अजय जी को एक दो दिन में कॉफी के लिए बुला लूं?इस पर उसने तुरंत हां बोल दी. ऐसी सुंदर अप्सरा मेरे नसीब में कहां!भाभी बोली- सुंदरता को बाहर से ही देखा है या अंदर के नजारे भी लिये हैं.

सीमा ने भी लेटे लेटे अपनी नाइटी पहन ली।मैंने सीमा की ओर देखते हुए पूछा- क्यों कैसा रहा?तो उसने कहा- मुझे बहुत मज़ा आया.

मैं बोली- अरे, इसे नहीं उतारेगी तो चोली कैसे पहनेगी?तो वो शर्म से लाल हो गई, बोली- दीदी आपके सामने?मैं बोली- अरे, मैं तो तेरी बहन हूं.

मंजू की चुत चूस कर लाल करने के बाद ठाकुर ने ऊपर की तरफ होकर लंड को चुत पर सैट किया और एक जोर का धक्का लगा दिया. हम दोनों की चूत गीली हो गयी थीं और आपस में चूत टकराते हुए बड़ा मजा आ रहा था. राजेस मास्टर मेरी मां से कहने लगा- शालिनी डार्लिंग, तुम्हें एक काम मेरे लिए करना होगा.

आप मेरी ईमेल पर अपने संदेश भेजकर मेरा उत्साहवर्धन कीजियेगा ताकि मैं आपके सामने अपनी कुछ और सच्ची कहानी लेकर उपस्थित हो सकूँ।तो दोस्तो, अब मैं अपनी अगली कहानी के साथ आपके पास फिर से लौटूंगा. मैंने उससे पूछा- आप अकेले रहते हो?उसने कहा- नहीं, मेरे पति भी रहते हैं … पर वो बाहर टूर पर चले जाते हैं तो में अकेली हो जाती हूं. मैं पुणे में रहता हूं।आपने मेरी कहानीचाची के साथ मस्ती भरा सफरअगर नहीं पढ़ी है तो जरूर पढ़ लें।मैं आपके लिए आज अपनी एक और आपबीती लाया हूं.

मैंने उसके होंठों को अपने होंठों से चिपका दिया और जोर से झटका लगाया।वो तड़प उठी.

मेरी चुत अमन का लंड खा रही थी और ऊपर में अमन के हाथों से खाना भी खा रही थी. मेरी पिछली कहानी थी:देवर भाभी की सेक्सी चुदाईमैं आज जो खेत सेक्स कहानी बताने जा रहा हूँ, ये पूर्णतः सत्य है. मेरा रंग थोड़ा सा सांवला है लेकिन अपने मजबूत शरीर को बनाये रखने के लिए मैं नियमित रूप से जिम जाता हूं.

कुछ देर बाद उसने मम्मी की चुचियों को मसलना शुरू कर दिया तो मेरी मम्मी ने गर्म आहें भरते हुए मचलना शुरू कर दिया. उसको भी अपनी सहेलियों की बातें याद आ जातीं कि एक लड़के से ज्यादा मस्त चुदाई एक सम्पूर्ण मर्द करता है. क्योंकि बलदेव ने सास की चुत चूसते समय अंदाजा लगा लिया था कि चुत द्वार उसके लंड के हिसाब से बहुत छोटा है.

मैंने चाची से कहा कि मैं सोनी की बहन की चूत भी चोदना चाहता था लेकिन नहीं चोद पाया.

उसने लण्ड के सुपारे पर चूत को ऐसे सेट किया था कि किरण के दबाव डालते ही मेरा लण्ड किरण की चूत में समा गया. मैंने बुआ की पैंटी को खोला तो देखा कि बुआ की चिकनी रसीली चूत पूरी नमकीन पानी से भरी हुई थी.

एक्स एक्स हॉट वीडियो बीएफ मैंने उन्हें कसके गले से लगाया और बोली- आज से सबकुछ आपका … मेरा तन मन सब आपका. किरण का मायका भी लखनऊ में ही था लेकिन मायके के नाम पर किरण के भैया भाभी और उनके बच्चे ही थे, किरण के माता पिता अब इस दुनिया में नहीं थे.

एक्स एक्स हॉट वीडियो बीएफ इस प्यारी सेक्स कहानी में पढ़ें कि एक बार अनजान भाभी से चुदाई के बाद मैंने उसकी गांड को अपने लंड का निशाना बनाया. अब हम तीनों के होंठों को जहां तहां किसी के बदन पर जगह मिल रही थी बस चूमते जा रहे थे.

जैसे ही टी टी ने मेरे होंठों को छोडा़ और झटके लगाने को तैयार हुआ मैंने टी टी से गिड़गिडा़ते हुए कहा- साहब, आप जो चाहते हैं, मैं कर रही हूं, फिर मेरी विडियो क्यो बनवा रहे हैं?टी टी 90 डिग्री के कोण में उठा और उसका लण्ड अभी भी मेरे योनि में फंसा था और मेरी टांगें उसके कमर के इर्द गिर्द लिपटी थी.

दिल्ली सेक्सी फोटो

उसके गर्म मुंह में लंड जब जा रहा था तो मैं जैसे स्वर्ग सा सुख अनुभव कर रहा था. एक घंटे तक मसाज करने के बाद मैंने मनमीत से कपड़े पहनने को कहा और पूछा- कैसा लग रहा है?मनमीत ने कहा- फ्रेशनेस और चुस्ती फील कर रही हूँ. उसकी चूचियों के निप्पल एकदम पहाड़ की चोटी की तरह उसकी चूचियों पर नुकीले होकर तन गये थे.

कुछ देर बाद मैंने उसके होंठों को छोड़ दिया तो वो बोली- भईया, आप बहुत बेरहम हो. बलविंदर के धीरे-धीरे किस करने के बाद अलीमा ने अपने आप सोच लिया कि आज जो हो रहा है, होने दिया जाए. जिसकी वजह से उनके काफी ज्यादा क्लीवेज दिख रहे थे।वो दोनों कुछ बात कर रहे थे.

जैसे ही माया आगे आकर चलने लगी, वो माया कि सुडौल और सेक्सी गांड को घूरने लगा.

मेरा लंड तेरी चूत के लिए प्यासा था… आह्ह … ले चुद साली … खा जा मेरे लौड़े को… तेरी चूत को खोल के रख दूंगा आज।इस तरह से कामुक सिसकारियों के साथ ही पूरे कमरे में गालियां भी गूंज रही थीं. मम्मी बोलीं- जरा देखना … क्या दादी आ रही हैं?मम्मी का देसी यार बोला- कोई नहीं आएगा यार, सभी सो रहे हैं. मेरे ससुर जी बोले- आज कुछ खास है क्या?मैंने कहा, नहीं बाबूजी, आज कुछ खास नहीं है, अब आपको यह रोज खाना है.

मैं बोला- आपा … अब तो आपकी उम्मीद को हकीकत में बदलने के लिए आपका भाई आपके पीछे खड़ा है. मैंने समय देखा दो पता चला कि लगभग साढे़ चार घण्टे मैं सो चुकी भी और मेरी मंजिल पहुंचने में और तीन घण्टे बाकी थे. तो लड़की चिल्लाई कि सर मेरी चूत में मत झड़ना; आप मेरे मुँह में झड़ जाओ.

वो कल्लू की नजर को भांप गयी और अपनी चूचियों पर हाथ फेरते हुए बोली- चाय पिओगे क्या?कल्लू बोला- दूध नहीं है क्या तुम्हारे पास?कातिल मुस्कान के साथ अनु ने कहा- वो तो तुम्हें निकालना पड़ेगा. मेरी तो हालत खराब हो रही थी, मुझे ऐसा लग रहा था कि दीदी के मुँह से लंड निकाल कर सीधा मॉम की चुत में पेल दूँ.

बाद में माया की भी नजर उसके ऊपर पड़ी और उसने माया को एक स्माइल दे दिया. मैं उसे चोदना चाहता था पर चुदाई से पहले ही उसने मुझे अपनी बड़ी बहन से मिलवाया. ऐसा लगा जैसे मंजू के मुँह से नहीं बल्कि उसकी चुत के धक्के से पेट … और पेट से मुँह के जरिए आवाज बाहर आयी.

15 मिनट तक मैं उसे ऐसे ही प्यार करता रहा तब जाकर वो थोड़ा शांत हुई.

मैं उनको उठाने के लिए कोई तरकीब सोचने लगा जिससे शोर ना मचे और बाजी उठ भी जाए।मैं अपनी चारपाई से धीरे से उठा और बाजी की चारपाई पर लेट गया. चूंकि वो मुझे जानती भी नहीं थी, तो सवालिया नज़रों से मेरी तरफ देख रही थी. वो फुर्ती से उठ कर बैठ गयी और मेरा लंड पकड़ कर उसने तीन चार बार ऊपर नीचे किया और फिर सुपारा मुंह में घुसा लिया और चूसने लगी.

अब अगली बार मैं आपको अपनी नयी स्टोरी बताऊंगी कि उसके बाद मैंने और प्रियंका ने कैसे और किसके साथ मजे किये. मैं थोड़ी देर गेट पर ही खड़ा रहा और जैसे ही वापस जाने के लिए मुड़कर आगे बढ़ा, तो अंधेरे में किसी से टकरा गया.

प्रियंका भाभी की बात सुनकर मैं घबरा कर खड़ा हो गया और बोला- किधर तक पीछा किया?वह बोली- अरे बैठो परिमल, घबराओ नहीं. इसमें ज्यादातर मेरी सोच से लिखी हुई है।सुमन एक जवान लड़की थी। उसके घर में उसकी छोटी बहन तनु भी थी।तनु अभी जवान होने लग रही थी। उसके शरीर के अंग नए पेड़ पर उगती टहनियों की तरह फैल रहे थे।उसकी लम्बी गर्दन किसी संगमरमर की तरह बिल्कुल गोरी थी. मुझे बहुत आनंद मिल रहा था जैसा कभी मैं सोचती थी आज वैसा सेक्स मेरे साथ हो रहा था.

हिंदी पिक्चर फिल्म सेक्सी देखने वाली

अब वे मेरी नाइटी को मेरे बदन से अलग करके मेरी कमनीय काया को वासना से देखने लगे.

मेरी रिजर्व बर्थ होने के बावजूद मुझे अपनी बर्थ तक पहुंच पाने का अवसर बड़ी मुश्किल में मिल सका. अचानक से मैंने टीवी बंद कर दिया और वो मेरी तरफ देख कर मुस्कुराने लगी. इधर मैंने उसी मानसिकता का चित्रण करने का प्रयास किया है कि चुदाई का मन होते हुए भी अलीमा का डर कैसे दूर हुआ.

उसने दोबारा कोशिश की लेकिन चूत टाइट होने की वजह से फिर से लंड चूत पर से फिसल गया. पहले धक्के में सुपारा और दूसरे में पूरा लण्ड गुरप्रीत की चूत में समा गया. मां बेटा की सेक्सी वीडियोहेमा चाची चीख पड़ीं, तो मैंने चूचियों को छोडकर गांड पर हाथ मलना शुरू कर दिया.

चार पांच मिनट तक मैंने दीदी की चूत चोदी और फिर मेरा माल दीदी की चूत में ही निकल गया. ससुर जी अपने लण्ड का सुपारा मेरी चूत पर रगड़ने लगे, कलेजा मजबूत किये, आँखें बंद किये मैं बेसुध होकर सो रही थी तभी ससुर जी के लण्ड का सुपारा टप्प की आवाज के साथ मेरी चूत के अन्दर हो गया.

इतना कहकर बाबूजी लेट गये और मैं उन पर ऐसे चढ़ी हुई थी जैसे घुड़सवारी कर रही हूँ. वो नहा धो चुकी थी और धानी कलर की साड़ी में एकदम ताजा खिले गुलाब की तरह लग रही थी. आपा ने सारी गोलियां शनाज़ से लेकर फेंक दी और उसको डांटा कि वो गोली क्यों खा रही है, सब घर वाले तो शनाज के पैर भारी होने का इन्तजार कर रहे हैं.

आप भी तो मुझसे इतना प्यार करते हो … तो आपके लिए मैं इतना तो कर ही सकती हूं।मैं मन ही मन सोच रहा था कि मेरी बहन कितनी भोली है. सेठ जी गुस्से से बोले- अरे पुरानी बोरी में से ही खा लेता, नई बोरी क्यों फाड़ दी?ये सुनकर कल्लू की गांड फट गयी. वो उनके सामने जाने से शर्माने लगा, लेकिन मैं उसे ज़बरदस्ती घसीट कर उन लड़कियों के सामने ले गया.

जब लगभग एक तिहायी लंड गांड में घुस गया तो फिर मैंने एक जोरदार धक्का मार कर समूचा लंड उसकी गांड में पिरो दिया.

मंजुला मेरी जान … तुम कितनी मीठी कितनी प्यारी हो, तुम अबला नहीं मेरे दिल की रानी हो अब से!” मैंने उसके दोनों मम्में दबोच कर उसका निचला होंठ चूसते हुए कहा. चूंकि मैं एक लड़की थी और दूसरे राज्य की रहने वाली थी इसलिए हॉस्टल भी जल्दी ही मिल गया.

ओपन चुदाई कहानी मेरे चोदू यार के साथ रात में सड़क के किनारे चुदाई की है. उसने नाजुक से कोमल होंठों से जैसे ही लण्ड पर सहलाया, मेरी तेज़ी से धार निकल पड़ी और उसने सारा पानी पी गयी।मैंने पूर्वी से कहा- अब तू पापा को अपनी मटकती गांड दिखा और थोड़े ढीले ज्यादा गले के टॉप पहन के घूम घर में! पापा भी एक मर्द हैं, देखना उनके मन में भी बेटी के लिए वासना जरूर जागेगी।कुछ दिन बाद, मैंने कैमरा निकाला. मैं मस्ती से कराहते रही- आह ओहह मेरी जान अक्षय … कितना मस्त चोदते हो … आज मेरी प्यास बुझा दो … आह आज के लिए मैं ही तुम्हारी औरत हूँ.

उस वक्त जो भी शादियां हो रही थीं उनमें बहुत कम लोग ही शामिल हो रहे थे. अब मैं पूरा जवान हो चुका था और इस चढ़ती जवानी में मुझे लड़कियां अपनी ओर खींचने लगी थीं. अब मुम्बई में किसी औरत को लाने के लिए आप भी सोच सकते हो कि उसे घर भी चाहिए और उसके खर्चे का हिसाब भी फिर अलग रह जाता है.

एक्स एक्स हॉट वीडियो बीएफ चूंकि कॉलेज में अपनी सहेलियों के अपने ग्रुप में अलीमा सुन चुकी थी कि चुदाई में कितना आनन्द आता था. जैसे ही उसने मेरे लौड़े को देखा उसके मुंह में पानी आ गया और मेरे लौड़े को मुंह में लेकर चूसने लगी.

9 सेक्सी ब्लू

फिर उसने मेरी गर्दन को पकड़ा और मेरा चेहरा अपने मुंह की तरफ करके मेरे होठों को चूसने लगा. मलखान- रानी गाली का बुरा मत मानना, गाली देकर करूं?मैं- जी राजा जी … आज कुछ भी कर लो बस अपना ये अन्दर डाल दो. यह रोज का नियम था कि खाना बना कर, ससुर जी को खिलाने के बाद मैं नहाती थी फिर खाना खाती थी क्योंकि खाना बनाने के दौरान मैं पसीने से तरबतर हो जाती थी.

फिर मैंने धीरे से उसकी जींस का बटन खोला जिसका उसको बिल्कुल भी अंदाजा नहीं लगा और उसकी पैंटी के ऊपर से उसकी चूत को सहलाने लगा. अब कहानी को आगे बढ़ाते हैं!डिम्पी फोन पर सिसकते हुए बोली- सौरभ, तुम मुझे भी कुछ दिनों के लिए मुंबई ले जाओ, मैं यहां नहीं रहना चाहती. प्यासी औरत की चुदाईदोस्तो, मैं आपको बता दूं कि हमारे घर में दो कमरे थे जिनमें बेड डले हुए थे.

जबकि फेमस पोर्न ऐक्ट्रेस मीया खलीफा जैसी क्यूट चेहरे वाली माल लगती थीं.

उसके बाद बड़ी मम्मी बगल में लेट गईं और बड़े पापा उनकी चुचियां किसी बच्चे के जैसे चूसने लगे. कभी मेरी पीठ को सहला रही थी तो कभी मेरे सिर के बालों में हाथ फिरा रही थी.

बुआ की मादक आवाजों ने मेरी कमर की गति को खुद ही रफ्तार दे दी थी और मैं ज़ोर ज़ोर से बुआ की चूत चोदने में लगा था. बनारस से ट्रांसफर होकर लखनऊ आया तो जो फ्लैट मैंने किराये पर लिया, उसके सामने वाला फ्लैट चौरसिया जी का था. फिर उसने मेरे बालों को खोल दिया और मेरे बालों में अपनी उंगलियां फिराने लगा।उसने मुझे मेरे गाल पर किस किया.

मुझे बहुत अजीब स्वाद लगा लेकिन वीर्य को मुंह में गिरवाने में मजा आया.

मैंने भाभी की टांगों में अपनी टांगों को फंसा लिया और उनके चूतड़ों को दबाते हुए बोला- भाभी जान … अब मुझे चूमिए न!मेरे कहते ही भाभी ने मेरे चेहरे को अपने हाथों में लेकर चुम्बनों की झड़ी लगा दी. स्लीवलैस टैंक टॉप और टाइट जींस पहन कर जब हम बाहर जाते थे, तो लोगों की नजरें उसके ऊपर जमी रहती थीं, इतनी वो सेक्सी लगती थी. जवानी में उसने अभी अभी कदम रखा था, इसलिए उसे अपनी जवानी संभल नहीं पा रही थी.

बैंग ब्रोसगुड नाईट!”अगले दिन शाम को …अगले दिन मैं अपनी कॉन्फ्रेंस से फ्री होकर साढ़े चार बजे ही मंजुला के ऑफिस जा पहुंचा. लेखक की पिछली कहानी:अन्तर्वासना वश मैं गैर मर्दों से चुदीहाय फ्रेंड्स, मेरा नाम सोनल है.

सेक्सी वीडियो ब्लू भेजो

पहले तो वो विरोध करने लगी फिर शायद हम दोनों का नंगा बदन एक दूसरे को अच्छा लगने लगा तो उसने विरोध त्याग दिया. जब मैडम बाहर आईं, तो मैंने बात बताई और पूछा- मैडम मुझे क्या करना होगा?उन्होंने मुझे निहारते हुए बोला- मैं शाम को कॉल करूंगी, अपना नम्बर बाबू जी को नोट करवा दो. मेरी बीवी ने मेरा हाथ पकड़ कर खींचा पर मैं नहीं उठा … तो वो समझ गयी मैं सो गया हूँ.

सीमा अपने दोनों हाथों की उंगलियों को मेरे बालों में घुमाते हुए सिसकारी भरी- ओह्ह सीईईई अभिमन्यु … बसस्स ओर्रर बर्दाश्त नहीं हो रहा, तुम जल्दी से पेल दो ओह्ह्ह!मुझे सीमा को ज्यादा तड़पाना ठीक नहीं लगा, उसकी चूत पर से अपना मुँह हटा लिया और सीधा होकर घुटनों के बल बैठ गया. करीब बीस मिनट बाद मैंने उससे पलटने को कहा और उसकी बांहों और टांगों पर मसाज करने लगा. कुछ देर बाद भाभी मुस्कुराते हुए बोलीं- ऐसे क्या देख रहे हो, क्या कच्चा ही खा जाओगे?उन्हें मुस्कुराता देख मेरा डर गायब हो गया और मेरे मुँह से निकल गया- अगर आप इज़ाज़त देंगी, तो जरूर खा जाऊंगा.

ये लो मेरी रानी!” मैंने लंड को एक बार थोड़ा सा बाहर खींचा और फिर पूरे वेग से उसकी चूत में उतार दिया तो चूत रस की चिपचिपाहट मुझे अपनी झांटों में महसूस हुई. उसने मेरी बुर में अपनी जुबान डाल दी और अन्दर बाहर … ऊपर नीचे करने लगा. ये कह कर मेरी बीवी ने अमित का लंड हाथ से पीछे किया और सुपारा बाहर निकाल कर उसको सूंघने लगी.

इसका नतीजा ये निकला कि धीरे-धीरे अलीमा बलविंदर के किस में उसका साथ देने लगी. ‌मैं- आह मेरे राजा … आह अंकल मुझे चोदो जोर जोर से चोदो … आह जोर-जोर से पेलो … मेरी चुत फाड़ दो.

उस ड्रेस को पहनने के बाद भी मुझे लग रहा था कि जैसे मैं आधी नंगी हूँ.

फिर मैंने उनसे बात करने की कोशिश की तो देखा कि बुआ एकदम उदास बैठी थीं. योनि टाइट करने का तरीकादस मिनट की चुदाई के बाद वो झड़ गयी और मेरे लंड को उसने बाहर निकाल दिया. lal सेक्सी वीडियोबाजी बिल्कुल शांत होकर ये सब महसूस कर रही थी।राबिया बड़े ध्यान से सब देख रही थी जैसे उसको कल ये एग्जाम में लिखना हो।मैंने अपना लंड बाजी की चूत में डाल दिया और उनकी कमर पकड़ कर धक्के लगाने लगा. मैंने पूछा- पहली चुदाई के बाद कैसा लग रहा है?वो बोली- तुम लोगों ने तो मुझे निचोड़ दिया.

शाम को जब मैं उसकी दीदी से मिला, तो उसकी दीदी उससे भी ज्यादा स्मार्ट और हॉट थी.

जब मैं गेट से निकलने लगी तो उसने एकदम से मेरा हाथ पकड़ कर मुझे अपनी ओर खींच लिया. मैंने कहा- अरे यार, मैंने तुम्हें वो मूवी दिखाई थी ना … उसमें कैसे लड़कियां लंड चूसती हैं. अभी भी मेरे अंदर इतनी हिम्मत नहीं आ रही थी कि मैं उसके साथ कुछ छेड़खानी कर सकूं.

देसी न्यूड गर्ल सेक्स स्टोरी पर अपनी राय देने के लिए आप नीचे दी गयी ईमेल का प्रयोग करें अथवा कमेंट बॉक्स में भी लिख सकते हैं. मैंने मैरून कलर की साडी़ पहनी और डीप गले का ब्लाऊज, पहली बार अपने शौहर के साथ बाहर जा रही थी तो खूब मेकअप किया. उन्हें लज्जा भी आ रही थी कि वो अपने दामाद की कमर से झूली हुई उसके लंड पर बैठी थीं.

सेक्सी कॉल गर्ल का नंबर

मैं तो घर से देवी माँ का नाम लेकर निकली थी कि अब तू ही सब संभालना और उनकी कृपा ऐसी हुई कि आप मिल गए. गाड़ी में रखी एक व्हिस्की की बोतल से मुँह लगाया आर दो घूंट नीट ही खींच लिए फिर स्वाद ठीक करने के लिए मैंने एक सिगरेट सुलगाई और अपनी बीवी की चुदाई को देखने लगा. हेल्लो गुड इवनिंग जी, कैसी हो?” मैंने काल पिक करके पूछा और दूसरे हाथ से लंड सहलाता रहा.

चूमाचाटी करते करते बूब्स मसलते कब हमने एक दूसरे के कपड़े उतार डाले कुछ पता ही नहीं चला.

फिर उसकी तीन जवान बेटियों को भी चोदा!लेखक की पिछली कहानी:साली की चूत चुदाई का सपना पूरा हुआमैं अपने क्लीनिक में मरीज देख रहा था तभी 35-40 साल की एक सेक्सी महिला ने प्रवेश किया.

थोड़ी देर में रजक लाल ने रोहन के मुँह से लंड निकाला और उस पर मूतने लगा. थोड़ी देर बाद वो वापस मेरे पास आई और सॉरी बोलकर बोली- आपके पास और मोमबत्ती है क्या?पर मेरे पास भी एक ही थी … तो मैंने मना कर दिया. ब्लू पिक्चर दिखाओ नामैं शनाज़ को एक बार चोद कर उसे सुला कर आपा के कमरे में जाना चाहता था लेकिन उस रात उसने मुझे कहीं नहीं जाने दिया.

कुल मिलाकर हेमा चाची के जिस्म का कोई भी ऐसा अंग और कोई रोम नहीं बचा था, जहां तक मेरा वीर्य न पहुंचा हो. एक दिन रिया का मुझे कॉल आया, उसने बताया- दीदी के घर पर कोई नहीं है और मैंने उनसे बात कर ली है. लगभग दस मिनट तक वो दोनों मेरे स्तनों से खेलते रहे और मुझे छोड़कर वापस चले गये.

फिर मैंने रिया को बेड पर गिराया और उसके ऊपर जाकर उसे चूमने लगा।रिया पागल होती जा रही थी. अब बारी पापा की थी, पापा ने तेल डाला पहले बेटी की गांड में … फिर अपने लण्ड में लगाया।मैंने पूर्वी के होंठों को अपने मुंह में भर लिया ताकि वो चिल्लाये न!फिर पापा ने अपनी बेटी की गांड में धीरे धीरे लंड डालना शुरू किया।पूर्वी छटपटाने लगी.

सातवें आसमान पर थी मैं!ससुर जी से मुझे ऐसी उम्मीद नहीं थी कि बाबूजी निखिल से भी इक्कीस पड़ेंगे.

इस सबके बाद मेरी सास मुझसे बोलीं- देखो बेटा जीवन भर तुमने अपने पति का ख्याल रखा है, लेकिन अब तुम्हारी बेटी को तुम्हारी ज़रूरत है, तो तुमको उसके पास जाना चाहिए. बलविंदर को तो इस बात की उम्मीद ही नहीं थी कि अलीमा उससे गुस्सा होगी. उसको तो पता नहीं था, पर मैं आपको बता दूं कि मैंने एक वोदका की बोतल ले ली थी और उसके साथ का बाक़ी सामान और वो दोनों गिफ्ट्स, जिसमें से एक सोनी का लेटेस्ट मोबाइल फोन था.

आज का ताजा सेक्स मेरा ब्लाउज आगे से और पीछे से दोनों तरफ से काफी खुला सा रहता है जिसमें मेरे अच्छे ख़ासे मम्मे सभी को कामुकता से भर देते हैं. इतने में दीदी बोलीं- बुआ आप तो मुझसे भी ज़्यादा हॉट लग रही हो … मार्केट में सब आपको ही देख रहे थे.

उधर बलविंदर ने दरवाजे की चिटकनी को लगा दिया, फिर उसने सारा सामान टेबल पर रख दिया और अलीमा की ओर बढ़ने लगा. समर की आदत थी कि वो अक्सर वो जब नहाने के लिए जाता था तो तौलिया भूल जाता था. मुझे दर्द और जलन तो बहुत हो रही थी, लेकिन मेरे मुँह से आवाज निकल नहीं पा रही थी.

బెన్ టెన్ సెక్స్ వీడియోస్

जिया समझ गयी और बोली- मेरी भांजी काम की लगती है, तो इसे काम पर रख लो. मगर अंकल मुझे अपनी मजबूत बांहों में उठा कर पलंग पर ले गए और मेरे ऊपर लेट कर अपने होंठ मेरे होंठों से मिला दिए और मेरे होंठ चूसने लगे. उसने गुस्सा होते हुए मुझसे कहा- ऐसे क्या देख रहा है?मैंने कहा- सॉरी … कुछ नहीं!फिर मैं टॉवल ले आया और उसकी पेट और पीठ सभी जगह लगे बेसन को साफ करने लगा, पर ब्रा की वजह से ठीक से साफ नहीं कर पा रहा था.

उसने मुझे फिर से रोकने की कोशिश की लेकिन मैंने उससे प्यार से समझाते हुए वो भी निकाल दी. मैंने थोड़ा जोर से धक्का लगाया, तो मेरा लंड चुत में सीधा अन्दर घुसता चला गया.

आज मैंने देखा कि शादी के बाद अक्षय स्मार्ट और गुड लुकिंग हो गया था.

अब इनकी मम्मी बचपन में ही खत्म हो गई थीं, तो इसमें मेरी क्या गलती है. धीरे धीरे उनकी सिसकारियां चिल्लाने में बदल गईं और वो अपनी कमर को हिलाने लगीं. एक दो बार तो उसके हाथ मेरी आधी चूचियों पर आ गये और वो मेरी चूची दबाकर फिर से हाथ ऊपर ले जाकर पीठ की मालिश करने लगता था.

थोड़ी देर बाद मैंने उसे बिस्तर पर लिटा दिया और उसकी एक टांग उठा दी और लंड को चूत में डाल दिया. बहू बोली- कैसे हैं डैडी जी? आप इस बार आप बिना बताये आ गये?मैंने कहा- बहू, बस इस बार सोचा कि सरप्राइज दे दूँ. वो उसका मोटा और लंबा लंड देख कर चौंक गयी और खुश होते हुए लंड को हाथ में लेकर देखने लगी.

भाभी ने भी मुझे कसकर अपनी बांहों में भर लिया था और धीरे धीरे आहें भर रही थीं.

एक्स एक्स हॉट वीडियो बीएफ: आ आ आ … जल्दी चोद लो … ओह्ह … ध्रुव … उफ्फ … आह्ह फट गयी।मैं उसकी चूत में तेज तेज धक्के लगाता रहा।अब मैं भी अपनी चरम सीमा पर पहुंचने वाला था। फिर तेज तेज धक्के लगाते हुए मैंने अपना पूरा वीर्य उसकी चूत में निकाल दिया।उसके चेहरे पर संतुष्टि झलक रही थी। उसने मुझे बिस्तर पर लेटाकर मेरे पूरे मुँह को चूमना शुरू कर दिया. मगर एक बात मैं कहना चाहता हूं कि आप लड़की की मर्जी के बिना सेक्स मत करो, उसके साथ मर्जी से चुदाई करने में ही पूरा मजा है.

उसके बाद मेरा ब्लाउज उतारकर और मेरी पूरी साड़ी उतार कर मुझे नंगी कर दिया. ऐसे ही एक बार मैंने उससे पूछ लिया- तुमने ऐसे आदमी से शादी क्यों की?वो बोली- हमारी लव मैरिज हुई थी. छीः छीः क्या करते हो सर!” अभी आपने वहां नीचे चाटा था अब वहीं गंदे होंठ मेरे मुंह पर लगा रहे हो, हटो मेरे पास से!” वो मुझे झिड़कते हुए सी बोली.

मैंने कहा- नौरीन या तो तुम समझ नहीं पा रही हो या फिर जान बूझकर नहीं समझने का नाटक कर रही हो.

जब मैं घर गया, तो घर में मैं और मेरे मामा की लड़की सरिता हम दो ही रह गए थे. मैंने भी मजे के कारण अपनी टांगें पूरी ऊपर उठा दी थी और उसकी कमर पर रख दी थी. उसने सिर्फ किस तक रुकने को कहा था, लेकिन मैं आज रुकना नहीं चाहता था.