बीएफ वीडियो में भोजपुरी में

छवि स्रोत,पीछे डिजाइन वाला ब्लाउज

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ भेज बीएफ बीएफ: बीएफ वीडियो में भोजपुरी में, मैंने बाहर निकाल कर फिर से क्रीम लगाकर पेला और जोर से झटका मारा तो पूरा लण्ड अन्दर चला गया.

नाॅटी अमेरिका

मेरी कमर के चारों ओर अपनी बांहों का घेरा बना दिया और मेरे होंठ चूमने के लिये अपने होंठों को गोल कर लिया. सपना चौधरी सेक्स व्हिडीओअब मैं उस दिन का इंतजार कर रही हूं जब मेरे चूत में किसी जवान मर्द का लंड जायेगा.

चाची के साथ मैं लेस्बियन सेक्स करते हुए उनको चोदने का मन बना चुकी थी. सेक्सी करने वाला वीडियोवो कामुकता से भरी सिसकारियाँ लेने लगी, बोलने लगी- अब सहन नहीं हो रहां है … प्लीज अपना लण्ड डालो! प्लीज़!लेकिन मैं अभी कहाँ डालने वाला था.

वसुंधरा तो आनंद के अतिरेक से जैसे किसी गहरे नशे की ग़िरफ़्त आ गयी और उसकी आँखें गुलाबी हो उठी.बीएफ वीडियो में भोजपुरी में: वो बोली- अच्छा, और वो तेरा यार आशीष? मैं जानती हूं कि तू ये सब उसी से सीख रही है.

मैंने भी उसकी चुत के पानी से लिसलिसी हो चुकी चुत में उंगली चलाना जारी रखा.फिर मैंने उसका सिर पीछे से पकड़ कर अपना लंड उसके मुँह में दे दिया और उसके गले तक पेल दिया, जिससे उसकी आंखें फट गईं.

हिंदी ब्लू पिक्चर दाई - बीएफ वीडियो में भोजपुरी में

मैंने कहा- मुझे घर में इजाजत नहीं है कि मैं किसी लड़के की बर्थडे पार्टी में जाऊं.उसकी चूत इतनी चिकनी हो चुकी थी कि मुझे उसकी चूत में उंगली करने में ही इतना मजा आने लगा था कि मन कर रहा था ऐसे ही इसकी गर्म चूत में उंगली करते हुए इसका पानी निकलवा दूं और जो गर्म झरना मेरी बहन की चूत से निकले उसकी एक-एक बूंद को पी जाऊं.

मुझे भी बहुत इच्छा थी तो मैंने उसके सोए हुए लंड को चूस चूस कर जगा दिया. बीएफ वीडियो में भोजपुरी में रेखा के चूतड़ के नीचे दो मोटे मोटे तकिये रखे तो उसकी चूत आसमान में टंग गई, उसकी दोनों टांगें हवा में तैर रही थीं.

उसकी चूत पर छोटे छोटे बाल थे जैसे 4-5 दिन पहले शेव की हो या क्रीम से साफ़ किये हों.

बीएफ वीडियो में भोजपुरी में?

मैंने कई बार दीदी के गहरे गले से दिखती हुई मस्त क्लीवेज को भी देखा, उनको आधा नंगा भी देखा था. मैंने लंड को हाथ पीछे ले जाकर दूसरे हाथ से पकड़ लिया और संदीप ने मेरी चूत को कपड़ों के ऊपर से मसलना शुरू कर दिया. तभी वसुंधरा ने अपने दोनों हाथ ऊपर उठा कर मेरे गले में डाल दिये और अपना जिस्म पीछे की ओर झुका कर अपने जिस्म का लगभग पूरा भार मुझ पर डाल दिया.

थोड़ी देर बाद मैंने नीतू को सीधा किया और उसे शेल्फ पर बिठा दिया और उसकी थोंग उतारने लगा. मैं सीधा खड़ा होकर उसकी खुली टांगों के बीच में आया और अपना लंड सैट कर दिया. हफ्ते भर जब तक हम वहां रहे हम तीनों ने चोरी छिपे चुदाई के मजे लिये.

चाची को भी शक नहीं हो सकता था क्योंकि घर में कोई मर्द तो रहता ही नहीं था. करीब 15 मिनट बाद मैंने अपना माल मामी की चूत में ही निकाल दिया और उनके ऊपर गिर कर किस करने लगा. फिर अंकल मुझे किस करते करते मेरे पेट से होते हुए मेरे बूब्स तक आ गए और मेरी ब्रा को मेरे बदन से अलग कर दिया.

वो समझ गई कि अब उसके साथ क्या होगा, इसलिए वो जोर से बोली- नहीं न प्लीज़!मगर मैं कहां मानने वालों में से था. मेरा सारा वीर्य प्रीति की चूत के अंदर ही गिर गया और प्रीति भी साथ में ही झड़ गई.

कहानी के पिछले भागनई नवेली भाभी की चुदाई देवर से-1में आपने पढ़ा कि जब मैं बाथरूम में पेशाब कर रहा था तो मेरी शादीशुदा भाभी ने मेरे लंड को चुपके से देख लिया था.

फिर मैंने उनकी लवली चुत पर बड़े ही प्यार से किस किया और चूसने चाटने लगा.

फिर उन्होंने मेरे चेहरे के करीब अपने होंठों को लाते हुए मेरे होंठों पर एक किस कर दिया. दीदी के फीगर की बात करूं तो उसके बूब्स का साइज 36 का है जबकि उसके हिप्स 38 के हैं. उसकी चूत के आस-पास वाले एरिया में एक भी बाल मुझे दिखाई नहीं पड़ रहा था.

मेरे कमरे में आकर उसको जबरदस्ती दूध पिला दिया … और वो मेरे साथ खेलते खेलते सो गया. दूसरे दिन फिर शाम को मैंने उससे कहा- मुझे आज तुम्हारा सब कुछ चाहिए. इस कारण मैं खुद को रोक नहीं पाया और मैंने उसके मुंह में लंड को पूरा घुसा दिया.

एक साथ घूमना, एक साथ खाना, अपनी जिंदगी के हर सुख दुख में एक दूसरे का साथ देना हमारी आदत में था.

अब मुझे भी मज़ा आने लगा था उन दोनों आदमियों की हरकतों पर! और मैं भी उन दोनों की इन हरकतों को एंजाय करने लगी।अब सामने वाला मेरे थोड़ा साइड में हुआ और अपनी कोहनी से मेरे बूब्स को दबाने लगा. कभी लण्ड मसलती तो कभी मेरे गोटे!कुछ पल का मेहमान मेरा जॉकी भी मेरे जिस्म से अलग हो गया और मेरा भूरा लण्ड उछाल कर बाहर आ गया. वो फिर से बहुत तेज चिल्लाई, पर इस बार मेरे होंठ उसके होंठों से चिपके थे, तो उसकी आवाज मुँह से बाहर ही नहीं आई.

संदीप खाना निकालने परोसने के लिए उठ गया, इस पर पहले तो मैंने संदीप को गिफ्ट पकड़ाया और उसके कानों के पास मुँह करके ‘आई लव यू’ कहती हुई खुद रसोई की ओर भाग गई. दीदी- तुम दोनों एकदम पागल इंसान हो क्या?मैं हंसते हुए दीदी के मम्मों को सहलाने लगा. उसके बाद उसने अपने लंड में भी बहुत सारी क्रीम पोत ली और मेरी गांड पर लंड का सुपारा सैट कर दिया.

हालांकि नतीजा ये निकला कि अब मेरा अपनी चाची को देखने का नज़रिया बदल चुका था.

चाची ने कहा- मुझे गांड में लंड लेना बहुत अच्छा लगता है और मजा भी आता है. मुझे बेबस देखने के अलावा कुछ भी न कर पाने की स्थिति बनाने के बाद उसने अपना ब्लाऊज़, ब्रा, पैंटी और पेटीकोट भी निकाल दिया.

बीएफ वीडियो में भोजपुरी में मैं एक मिडल क्लास परिवार से सम्बन्ध रखता हूँ, परिवार के साथ ही रहता हूं और मेरा लंड किसी को भी संतुष्ट कर सकता है।आपने मेरी कहानियां पढ़ीकस्टमर की बीवी की चुदाईऔरकस्टमर की बीवी की बहन की चुदाईअच्छा रिस्पॉन्स मिला आप लोगों का!आज काफी दिन बाद फिर से मैं आप लोगों को एक सच्ची घटना बताने जा रहा हूँआपको ज्यादा बोर न करते हुए सीधे कहानी मैं आता हूँ. आज तक दोनों हर तरह की बात, मेरे सामने ही कर लेती थीं … पर आज क्या खास बात है.

बीएफ वीडियो में भोजपुरी में उनमें से कुछ तो वक्त के दरिया में पीछे छूट जाते हैं, मगर कुछ अंत तक साथ तैरते चले जाते हैं, फिर चाहे अंजाम डूबना ही क्यों न हो. मैंने सवालपूर्ण नज़रों से जेठजी की तरफ देखा, तो वो हल्के हल्के मुस्कुरा रहे थे.

मैंने अपने लंड को अपनी बहन की चुत पर सैट किया और एक धक्का लगा दिया मगर मेरा लंड फिसल गया.

हिंदी बीएफ पिक्चर ब्लू पिक्चर

दोनों में यह तय हुआ कि राजन उसे ममता और ममता राजन को मेनेजर साहब कहेगी. फिर भानुप्रताप अंकल मेरे पीछे आये और अपने लन्ड को मेरी गांड के छेद पर लगाया और धक्का दिया तो अंकल के लन्ड का टोपा मेरी गांड में चला गया. मैं बोला- बस यार और 5-7 मिनट की बात है … तुम यहीं घोड़ी बन जाओ, बेड पर तो तुम्हें रात को चोदना है.

फिर मैंने घर पर आदी को कॉल करके बता दिया कि हम पहुंच गए हैं, मम्मी को बता देना. मैंने फिर जानबूझ कर पेटीकोट के अन्दर हाथ ले जाना शुरू किया … ताकि मालकिन की बड़ी सी गांड दिखाई दे जाए. वैसी भी संजू काफी गर्म थी, आखिर कहीं ना कहीं वो भी अपने भाई को नग्न देखना चाहती थी.

जब मैं उसके इस लंड से चुदती थी, तब उसका लंड 8 इंच और 2 इंच मोटा था.

उसे ढूंढने में मुझे ज्यादा मेहनत नहीं करनी पड़ी, क्योंकि मुझे पहले से पता था. इस तरह से मेरे कहने पर मेरी बीवी अपनी नाभि, बुर और गांड को मटका कर ऐसे नाचती थी मानो स्वर्ग लोक की अप्सरा नाच रही हो. सारा थूक मॉम के मुंह से गिरता हुआ उनकी मस्त मुलायम चूचियों पर गिर रहा था। यह चीज शर्मा अंकल भी देख रहे थे और फिर वो मॉम की गर्दन को अपनी जीभ से चाटते हुए मॉम की चूचियों पर पहुँच गए.

अगले भाग आप पढ़ेंगे कि कैसे आलिया मेरे प्रपोजल को स्वीकार कर लेती है और फिर हम दोनों के बीच रोमांस शुरू होता है. रवि जब आपका अभी ये हाल है, तो वो पता चलेगा, फिर आपका क्या होगा?मैं- कैसे बदलाव मोनिका?मोनिका- जो तुम हमेशा कहते थे, इनको बढ़ाओ मतलब मेरे बूब्स को … और मैं मना कर देती थी. दोस्तो, मेरे पिताजी का दुबई में बिजनेस है और इस कारण वो अक्सर घर से बाहर ही रहते हैं.

उसके मुँह से ‘सीयी आआह … ह्म्म्म उफ्फ़ उम्म्ह… अहह… हय… याह… आआ … उफ़ सीईई. एक तरफ मेरा लण्ड बावला हो रहा था तो दूसरी तरफ मनीषा की चूत भी बेहाल हो रही थी.

मैंने उनसे पूछा- ये कैसी है?उन्होंने मुझे बदमाश कह दिया और जवाब दिया- सुपर हॉट. दीदी- सुनो तुम दोनों घर की साफ सफाई कर लेना और कपड़े वाशिंग मशीन में डाल देना. उस रात को हमने चुदाई का दूसरा राउंड भी किया जिसमें मैंने 20 मिनट तक अपनी मौसी की लड़की की चूत को चोदा.

मैंने उसको फिर से चोदना शुरू कर दिया और इस बार बहुत तेजी से चुदाई चलने लगी.

भाभी नींद में ही बड़बड़ाने लगी- क्या कर रहे हो, सोने दो ना प्लीज … मैं बहुत थक गई हूं. मैंने दीदी से कहा- लेकिन दीदी ये डिल्डो तो परमीत के पास वाले डिल्डो से काफी मोटा है और ये ही एक ओर से ही लंड जैसा है. इस दौरान कभी कभी मेरे हाथ उसके हाथ से लग जाते थे, तो वो हंस देती थी.

स्वीटी आंटी ने पहले तो मना किया लेकिन मैंने आखिरकार उनको भांग पिला ही दी. श्वेता दीदी- तुम्हारी दीदी तो कुछ नहीं बोल रही … तुम बताओ … तुम क्या खाओगे?साकेत भैया- हां अर्णव.

मेरे झूठे गुस्से का असर जेठजी पर हुआ, अब वो चुपचाप वहीं खड़े खड़े कभी बर्तनों को, तो कभी मुझे घूर रहे थे. आलिया- क्या देख रहे हो?मैंने मुस्कराते हुए कहा- काश आप मेरी गलफ्रेंड होतीं. पर अंकल ये चूत को एक बार लंड मिल गया, तो इसको हमेशा लंड की खोज रहने लगी है.

एक्स एक्स देसी सेक्सी बीएफ

इस मदमस्त रंगीन कहानी में सेक्स का इतना धीमा मजा है कि लंड और चुत पल पल गीले होते रहेंगे.

मैं एक हाथ से उसकी चूचियों को सहला रहा था, तो वो अपने एक हाथ से मेरे छाती पर उगे घने बालों से खेल रही थी. सीढ़ियों में अंधेरा था और संगीता वहीं खड़ी थी, मुझे देखते ही लिपट गई और मेरे होंठ चूसने लगी. मैंने भी जल्दी से अपना नाश्ता ख़त्म किया और हॉल में सोफे पर बैठ कर पढ़ाई करने लगा.

ऐसा कहते हुए अपना एक हाथ मेरी कमर में डालते हुए मुझे अपनी तरफ खींच लिया. नाश्ता करने के बाद मैं और भाई मेरी मां के साथ मंदिर में दर्शन के लिए गये. सेक्सी झवाझवी मराठीमैंने नीतू को टांगें चौड़ी करने को बोला और नीचे बैठ कर उसकी चूत चाटने लगा.

मैं अपने लंड को शांत करने की कोशिश कर रहा था मगर मेरे अंदर की हवस और बढ़ती जा रही थी. हुआ भी वही … इस दूसरी चुदाई में पता नहीं, मैं कितनी बार झड़ चुकी थी … और बीच बीच में मेरा मन कर रहा था कि जेठजी हट जाएं, तो मैं लेट कर चैन की सांस लूं, पर जेठजी कहां रुकने वाले थे.

भाभी मेरी छाती को चूमने और चूसने लगीं और धीरे धीरे मेरे लंड पर जाकर उससे चूमने और चूसने लगीं. पहली बार जैसे ही उनका बस थोड़ा लंड का सुपारा दीदी की बुर के अन्दर गया ही था कि दीदी जोर से चिल्ला दी- मम्मी … आह … उह … उह. लगभग दो घंटे पढ़ाने के बाद मैंने शैली से कहा- बेटा, आज मुझे अपने संतरे दिखा दे.

सेक्स कहानी के बारे में आप अपने कमेंट्स अब[emailprotected]या फिर hangsout पर करें, धन्यवाद. फिर हम दोनों एक दूसरे को चूमने लगे और वो मेरा शर्ट को खोल कर मेरे सीने को अपने होंठों से चूसने लगी. प्रियांशु के जन्म के दो महीने बाद करवाचौथ का व्रत पड़ा और उस दिन हमने सुहागरात मनाई.

हम सभी में से सबसे पहले मनु ने सोने चलने की बात कही, तो दीदी ने हम सबकी सुविधा के लिए मनु को परमीत के कमरे में भेज दिया और मुझे अपने साथ कमरे में ले आईं.

वो उस जगह पर कोशिश करके बार बार धक्के पर धक्के मार रही थी और हर बार इस्स्स इस्स्स. कुछ पल तक उसने मेरी चूत को इसी तरह से चाटा तो मेरे मुंह से अपने आप ही कामुक आवाजें निकलने लगीं- आह्ह … बिक्कू आराम से करो.

मैंने भी अछा मौका देखते हुए उसके लंड को पैंट के उपर से ही ज़ोर से पकड़ लिया. फिर मैंने भी दस बारह धक्के और मारे और अपना सारा माल उसकी चूत में छोड़ दिया. उसे बस इस हुस्न की परी की उस रसीली मुनिया (चूत) के हां कहने की जरूरत थी.

इतना कहने के बाद मैंने 15-20 जोर के शॉट मारे और हम दोनों साथ में ही झड़ने लगे. मैंने एक दिन काले रंग का डीप गले वाले वार्मर में अपनी तस्वीर निकाल कर अपनी व्हाट्सप्प प्रोफाइल पर लगा दी. मैं बोला- निधि रानी, जब तू इतनी समझदार है … तो आज मेरे साथ क्यों नहीं है?वो बोली- ये बात छोड़ो … मुझको आपके फोन से चुदवाने की आवाज कहां से आ रही है? आप पोर्न देख रहे हो न?मैं बोला- हां.

बीएफ वीडियो में भोजपुरी में जब जीजा को मेरी चिकनी चूत दिखी तो वो हवस भरी नजरों से मेरी चूत को देखने लगे. जब उसने मेरी चुदाई अपने 3 दोस्तों के साथ की थी, तब भी उसने सिर्फ मेरी गांड ही मारी थी.

हरियाणवी बीएफ हरियाणवी बीएफ

पर उस वक्त मेरा पूरा शरीर कांपने लगा, जब मामी ने मुझे देखा और उन्होंने मेरे गाल पर एक किस कर ली. अब इतने दिनों में मैंने तुम्हारा काम देखा है और तुम्हारे काम से बहुत खुश हूँ. इससे पहले मैंने और भी भाभियों और आंटियों को चोदा था, उनमें मुझे उतना मजा नहीं आया था, जितना चाची की चुदाई में आ रहा था.

मैंने रिक्वेस्ट करते हुए कहा- प्लीज बाबू … एक बार और मुंह में ले लो. मैंने कहा- हेलो, रोज़ खड़े दिखते हो, एक-आध बार मुँह से कुछ बोल भी दिया करो काहे का घमंड है तुमको रे?उसने झेंपते हुए कहा- भाभी जी नमस्ते! वो मैं नया आया हूँ ना, आपको परेशान नहीं करना चाहता था, वैसे मेरा नाम रोहित है. मुठ मारने के फायदेजब मैं चूत की दरार में जीभ को ले जाने लगा तो वो मेरे सर को पकड़ कर इतना जोर से दाब रही थी कि उसका बस चले तो मेरे पूरे सर को अपनी चूत में घुसा ही लेगी.

भाभी घर में अभी नई नई थी और वो डर न जाये इसलिए मैं उनको कंपनी दे रहा था.

फ़िल्म शुरू के कुछ देर बाद मैंने देखा कि मम्मी की शर्ट अधखुली हो गई थी. मम्मी ने वहीं से आवाज लगाई- क्या हुआ श्वेता, जा रही हो?श्वेता- हां आंटी जा रही हूं.

इतना कहकर साड़ी पेटीकोट ऊपर उठाकर मेरे लण्ड पर चढ़ गई और अपनी चूत की कुलबुलाहट मिटाने में जुट गई. पूरा लंड मेरी फुदी में घुस गया और मेरी बच्चेदानी को टक्कर मारने लगा. उसने लंड का स्पर्श चुत पर पाया तो अपनी गांड को उठाते हुए मुझे आंख मारी.

निधि समझ गई कि उसके पतिदेव बहुत गुस्से में हैं और लवड़ा पकड़ कर मुठ मार रहे हैं … इसलिए इतने भड़के हुए हैं.

फिर वो गांड उठाते हुए अपने मन से ही बोली- हां भैया, आपके लंड से बहुत मजा आ रहा है … और जोर से चोदिए मुझे. बीचबीच में उसके गांड में थप्पड़ मार कर उसकी चीख सुनने का मज़ा आता था. कुछ पल के बाद उसका लंड मेरी गांड में ही सिकुड़ कर इतना छोटा हो गया कि वो खुद ही मेरी गांड से बाहर आ गया.

अन्तर्वासना. कमफिर श्वेता दीदी ने अपने ब्रा के अन्दर से एक कागज निकाला और दीदी को देने लगी. मेरी इस कातिलाना चूत पर संदीप की मेहरबानी ने गजब ढा दिया, शायद संदीप ने चूत को बहुत जोरों से सूंघा भी था.

बीएफ ऑफ सेक्सी

मेरे मामा की शादी की शादी के दूसरे दिन से ही मेरे एक्जाम थे, जिसके कारण मुझे विदाई के तुरंत बाद निकलना पड़ा. मन कर रहा था कि किसी नंगे मर्द की बांहों में नंगी होकर आराम से सुबह तक सोती रहूं!खैर!आपको हॉट भाभी की चुदाई का किस्सा कैसा लगा? मुझे ज़रूर बताना. जब शाम को मैं ड्यूटी से आया तो भाभी का बेटा मेरे पास आ गया और मेरे साथ ही रहा.

मुझे मजा आ रहा था, मेरा जिस्म गर्म होने लगा था कामवासना की अग्नि से!और सामने वाला अब मेरी तरफ चेहरा कर के खड़ा हो गया और मेरे बूब्स को दबाने लगा. तुम एक काम और कर दो तो मैं तुम्हें पांच नहीं बल्कि छह हजार दिया करूंगा. मैडम- क्यों? मम्मी कहां गई हैं?दीदी- मम्मी और पापा दोनों दिल्ली गए हैं.

संजू गर्म हो गई थी और उसने अपना जीभ मेरे मुँह में दे दी, जिसे मैं चुभलाने लगा. उसमें उसकी चूचियों के निप्पल कड़क हो रहे थे जो कि साफ नजर आ रहे थे। उसकी चूचियों को नंगी करके मैंने कसकर भींच दिया तो उसकी सिसकारी निकल गयी. इधर बिस्तर पर चाची को लिटा आकर मैंने लंड पर कंडोम चढ़ा कर चुदाई की पोजीशन बनाई और उनकी चुत के दाने पर लंड रगड़ना चालू कर दिया.

कुछ देर के बाद भाभी ने मेरी तरफ ही करवट ले ली और अपना मुंह मेरी तरफ कर लिया. इधर राज भी निकलने वाला था और मैं भी ऑफिस के लिए करीब 8 बजे तक निकल जाता था.

मैंने पिंकी को अपने से दूर किया और उसके मादक बदन को निहारने लगा, जैसे साक्षात् कामदेवी मेरे समक्ष खड़ी थी.

उसके लंड में काफी बदबू थू पर कामुकता के चलते मैं उस गंदे लंड को भी मज़े से चूस रही थी. अमेरिकन ट्रिपल एक्सउस वक्त मैं एक शादी में गया था जहां पर मैं अपनी मौसी की लड़की से मिला. प्रियंका चोपड़ा एक्स वीडियोमैं उसकी चूत पर जीभ फेरने लगा तो कसमसा कर बोली- ये न करो साहब, लण्ड पेलो, अब हमसे बरदाश्त नहीं हो रहा. मनु ने थोड़ी सुस्ती से जवाब दिया- दीदी वो दोनों अन्दर बातें कर रहे हैं.

वो बोली- ठीक है, मगर एक बात तो बता, मनोज जीजू तुम्हारे साथ रात में कैसे करते हैं?अगर मौका मिले तो तुम खुद ही करवा कर देख लेना.

मेरी फुदी से मेरा लावा बह कर मेरी जांघों तक आ चुका था और मेरी फुदी से फ़च फ़च की आवाज़ें आ रही थी. मैं अपने बेड पर नंगा लेटकर अपनी बीवी की मस्त चूचियों को हिलाती हुई देख रहा था. ऐसे ही कामुक होते हुए बिक्कू ने मेरी चूत को हथेली से रगड़ना शुरू कर दिया.

रेखा ने मेरा लण्ड मुंह में लेकर चूसा और बोली- चाचा जी, कोशिश करती हूँ कि आपकी इच्छा पूरी हो जाये. किताब के बीच में ऊंगली फंसाकर ऐसे आई थी कि जैसे कुछ पढ़ रही थी और समझ न आने पर पूछने आई थी. फिर जब मैं उदास रहने लगी, तो हॉस्टल में एक सहेली ने डिल्डो लाकर दिया और खुद से प्यार करना और अपनी जरूरतों के लिए आत्मनिर्भर बनना सिखाया.

बीएफ फिल्म वीडियो में एचडी

चूतड़ ऐसे गोल थे कि लग रहा था ये जीन्स इसी के चूतड़ों के लिए बनाई गयी हो. अब वो मेरी चुत और गांड को बड़ी बेरहमी से चाटने चूसने लगा- बिंदु, आज तेरी गांड मेरे लंड पर राज करेगी. बस फिर क्या बचा था … मैंने लैपटॉप को एक तरफ रखा और उसको किस करने लगा.

मैंने रेशमा के सुर में सुर मिलाते हुए कहा- हां पूनम, तुम काम खत्म कर लो.

मेरे लंड की लम्बाई 6 इंच है जो किसी भी लड़की या भाभी को संतुष्ट करने के लिए काफी है.

मैंने उनको समझाया- चाची अगर आप मुझसे सेक्स करोगी, तो घर की बात घर में ही रहेगी. थोड़़ी देर बाद उसने चूसना बंद कर दिया तो मैंने पूछा- चूसना क्यों छोड़ा?बस ऐसे ही दादू. ब्लू फिल्म देखना है सेक्सीतभी मैंने उनकी सलवार को खोला और उनको घोड़ी बना कर सूट को ऊपर कर के लंड को अन्दर डाल कर चोदने लगा.

फिर अंकल ने दीदी के दोनों पैरों को घुटने से उठा कर पैरों को और भी ज्यादा फ़ैला दिया. उन्होंने श्वेता की टांगों को फैला दिया और उसकी चूत पर अपना लंड टिका दिया. यदि प्यार किसी और की अमानत है तो सेक्स की प्यास आप कहीं भी बुझा सकते हैं.

क्यों … कोई शक़ है?” मैंने बात ख़त्म करने की ग़रज़ से लिफाफा बंद कर के टेबल पर रखा और आगे कुर्सी के उठ कर वसुंधरा के दाएं बाजू में जा कर बहुत नाज़ुकता से वसुंधरा के कपोलों से आंसू साफ़ किये. इससे एक बार में ही पूरा लंड अन्दर समा गया और मामी की एक तेज चीख निकल गई.

मैंने सिगरेट जलाते हुए उसे मॉडल्स के बारे में पूछा तो वो बोला- सर पाँचों लड़कियाँ बाहर खड़ी हैं.

हालांकि अब दीदी के कहने पर हमें घर से एक घंटे की और छूट मिल सकती थी. उसने इतना काम करने के पांच हजार रुपये मांगे और मेरे कहने पर चार हजार में राजी हो गई. अचानक ही कामविहिल वसुंधरा ने अपनी दोनों जांघों को थोड़ा और खोल दिया और वो कुर्सी पर अपने नितम्ब थोड़ा और आगे की ओर खिसका कर, नाईटी के ऊपर से ही, अपने दोनों हाथों से मेरा सर अपनी दोनों जांघों के ठीक बीच में जोर-जोर से दबाने लगी.

मेहंदीपुर बालाजी की फोटो मैं उसकी चूत चाटने लगा, उसके भगनासे को चाटता, कभी उसकी चूत में जीभ डालता. घचाक की हल्की सी आवाज आई और एक बार में ही उसने मेरा पूरा लंड अपनी चूत के अन्दर ले लिया.

उसने बताया कि तुम जहां खड़े हो, उसके सामने एक ऑटो में मैं बैठी हूँ. वो मेरी चूत को चाट नहीं रही थी, बल्कि उसे खाने का प्रयत्न करने में लगी थीं. अंकल ने मम्मी की साड़ी खोल दी, पेटीकोट का नाड़ा खींच कर नीचे गिरा दिया.

बीएफ चिल्लाने वाली

तुम दूसरे कमरे में क्या करने के लिए गये थे?मैंने अन्जान बनते हुए कहा- अरे हां, मैं तो इसी को ढूंढ रहा था. एक दिन जब मैं ऑफिस से आया, तो खाला ने ज़ेबा के पेट से होने की खुशखबरी सुनाई. थोड़ी देर बाद मैंने नीतू को सीधा किया और उसे शेल्फ पर बिठा दिया और उसकी थोंग उतारने लगा.

मैंने कहा- घबराओ नहीं बेटी, तुम मेरी तरफ पीठ करके बैठ जाओ, मैं मग से पानी डालता हूँ, तुम आराम से नहा लो!वो मजबूर थी और करती भी क्या?मीना बैठ गई और मैंने मग से पानी डाल डालकर उसे नहला दिया और वो अपने नंगे जिस्म को हाथों से मल मल कर साबुन उतार कर नहाने लगी. लेकिन आलिया की हालत इतनी पतली हो गई थी कि वो पैग भी नहीं मार पाई … बस ऐसे ही लेटी रही.

फिर कहानी के नायिका की सहेली की बारी आई और मैंने उसकी जगह खुद को फिट कर लिया.

फिर उन्होंने मुझे कुतिया बनने का इशारा किया और मैं अच्छी बच्ची की तरह उनकी बात मान कर कुतिया बन गयी. इस समय वैसे भी हमारे अलावा कोई घर पर होता नहीं, चाचा तो सवेरे ही काम पर निकल जाते हैं और रात को ही लौटते हैं. इस दौरान स्नेहा भाभी की मदमस्त आवाजें मेरे कान में गूंजती रही थी- आऊऊ … ओह्ह्ह … उम्मम्म … यस यश बेबी … आह ऐसे ही चूसो … आआहह.

अंशी के घर में उसके मम्मी पापा और एक बहन है, उसकी बहन भी बहुत बड़ी रंडी है. मैंने आगे बढ़ कर उनके होंठों को चूम लिया। उनका विरोध ना पाकर उनके होंठों को अपने होंठों तले दबा कर चूसने लगा। उफ्फ … वो रसीले होंठ। आज भी मुझे उत्तेजित कर जाते हैं. और जैसे ही दरवाजा खोल कर अंदर आया वैसे ही प्रीति मेरे रूम में आकर मेरे से लिपट गई और मेरे होंटों को अपने होंटों में लेकर चूसने लगी.

फिर मैंने देखा कि बालकनी वाला दरवाजा अन्दर से बंद नहीं था, सिर्फ सटा हुआ था.

बीएफ वीडियो में भोजपुरी में: उसकी चूत से निकल रहा रस उसकी गर्म चूत को और ज्यादा मादक और मेरे लंड को और ज्यादा उतावला कर रहा था. 5 मिनट की चुदाई के बाद सर का पानी निकल गया।फिर मैंने उन्हें गोद में उठाया और मैम की चूत में लंड डाल कर मैम की चुदाई करने लगा।उसके बाद उनके दोनों पैरों को कंधे पे रख कर चुदाई चालू रखी.

मनीषा ने फिर से अपनी चूत के होंठ खोले और अपनी चूत सावधानी पूर्वक मेरे लण्ड पर रख कर दबाव डाला तो लण्ड का सुपारा उसकी चूत में चला गया. अन्तर्वासना के पाठकों को मेरा नमस्कार! मेरी पिछली सेक्स कहानीमेरी पत्नी ने चुत से क़र्ज़ चुकायापढ़ी और खूब ईमेल भी किये।आप सबकी मांग पर ये नयी कहानी रीना की कलम से!यह कहानी काल्पनिक है, मनोरंजन मात्र के लिए लिखी गयी है।मेरा नाम रीना है, जयपुर में अपने पतिदेव विक्रम के साथ रहती हूँ. मैं फिर से उसका लंड चूसने लगी और अपने दोनों हाथ उसके टट्टों पर फिराने लगी।उसका लंड पूरा टाइट हो गया था तो उसने मुझे अपने ऊपर आने को कहा.

जब सफल नहीं हो पाती तो वो भी मेरे सुपारे को काट लेती और मुझे हारकर दांत रगड़ना बन्द करना पड़ता।काफी देर तक हम दोनों के बीच ऐसा चलता रहा.

फिर मेरे आधे खड़े लंड का सुपारा निकाल कर उस पर एक चुम्मी ली और मेरी बांहों में लिपट गयी. अगले बीस मिनट तक कमल ने मुझे घोड़ी बना कर चोदा और मैं इस दौरान दो बार और झड़ गयी. मेरा सारा वीर्य प्रीति की चूत के अंदर ही गिर गया और प्रीति भी साथ में ही झड़ गई.