डब्ल्यू बीएफ

छवि स्रोत,सोनाक्षी सिन्हा के सेक्सी वीडियो बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

बीकानेर सेक्सी वीडियो: डब्ल्यू बीएफ, ’‘अपनी आंटी को बताओ ना ठीक से कि उसके भतीजे को आंटी का क्या पसंद है?’ये सुनकर मेरा लंड जो अब पूरी तरह खड़ा था, अन्दर ही फुंफकार मारने लगा.

हीरोइन के बीएफ फुल एचडी

आप सभी ने मेरी पिछली कहानीमेरी बीवी की खुल्लम खुल्ला चुदाईको पढ़ा और सभी ने कहानी को पसंद किया. जानवर बीएफ पिक्चरज़्यादा ठुकाई के कारण चाची की चूत बुरी तरह सूज चुकी थी और गांड के छेद की भी बुरी हालत हो गई थी.

मैं रात में नंगा लेटकर अन्तर्वासना पर रिश्तों में चुदाई पर चाची की चुदाई की कहानी पढ़ रहा था. सेक्सी बीएफ देखे वालाअब वो पूरी तरह से नंगी हो चुकी थी और उनके शरीर का हर एक अंग साफ साफ़ नज़र आ रहा था।न्यूड आंटी की झांटों के बाल भी साफ़ साफ़ नज़र आ रहे थे।उन्होंने ट्रिम कर रखा था और उनके चूतड़ों का रंग गुलाबी था.

लेकिन इससे पहले कि मैं अपने मुंह में भरा सारा वीर्य ख़त्म कर पाती, जलालुद्दीन के लण्ड ने और पांच छह पिचकारियां मार दीं.डब्ल्यू बीएफ: क्या मस्त अहसास था!जलालुद्दीन ने उंगली मेरी चूत में आगे पीछे की और थोड़ी देर में एक और उंगली डाल दी.

मैंने एक जोर का झटका दिया और मेरा करीब आधा लंड चूत को चीरता हुआ अन्दर चला गया.इतने में उसने आवाज दी- मामा जी गाड़ी रोको ना, मुझे पीछे बैठने में प्रॉब्लम हो रही है.

हॉट गर्ल सेक्स बीएफ - डब्ल्यू बीएफ

हम दोनों के मुँह से मस्त आवाज़ें निकलने लगीं ‘आआहह ओहह …’क़रीब 20 मिनट तक लंड पर कूदने के बाद चाची ने लंड को चूत से बाहर निकाल कर अपनी गांड में डाल लिया और फिर से लंड पर कूद कूद कर गांड में लंड को अन्दर तक लेने लगीं.मेरे मायके में मेरे मम्मी-पापा, दादी और एक बड़ा भाई है जो शादीशुदा है.

उन्होंने मुझे दोनों हाथों से ऊपर किया और अपने तने हुए लण्ड पर बैठा दिया. डब्ल्यू बीएफ मैंने बहुत समझाया कि सब पति ऐसे नहीं होते, पर बीवी को समझ नहीं आया.

मैंने पूरी मस्ती से उसकी दूध घाटी का दीदार किया और उधर वो शायद इस बात को देख रही थी कि मैंने उसके मम्मों को देखा.

डब्ल्यू बीएफ?

मैंने उसकी ओर देखा, तो उसने कहा- चलो चलो …उसने जीभ चिढ़ाई लेकिन कर क्या सकते थे. मैं हमेशा उन्हें चोदने के लिए मौके की तलाश में रहा करता था।एक दिन मैं सुबह उनसे मिलने गया था उनके घर … क्योंकि उन्होंने मुझे चाय नाश्ता के लिए बुलाया था।पर घर पर कोई नहीं था उस दिन!उनके बच्चे स्कूल जा चुके थे रोज की तरह और अंकल तो बाहर ही रहते थे।तब मैं सोफे पे जाके बैठ गया क्योंकि दरवाजा खुला था बाहर का … और कोई नजर भी नहीं आ रहा था. उसने पीछे से मेरी पीठ पर चढ़ कर अपने हाथों से मेरे मम्मे पकड़ लिए और जोर जोर से दबाते हुए मेरी चूत चोदने लगा.

वो बोली- मैं तुम्हें कब से ढूंढ रही थी, कहां थे? मुझे तो तुम्हारा नाम भी नहीं पता. वो भी मेरे मुँह में जीभ डालकर अपनी चूत से निकले रस का स्वाद लेने लगीं. इधर मोहित अभी भी मेरी गांड मारने में लगा हुआ था लेकिन अब अमित आयेशा और रिया को देखकर मेरा भी दो लंड से चुदने का मन करने लगा.

ये सुनकर मैं अन्दर ही अन्दर खुश हो गई और मेरे अन्दर से घबराहट और बेचैनी भी मिटने लगी. मेरे आते देख उन्होंने टीवी बंद कर दिया और मुझे सोफा में बैठाया और मुझे जूस पिलाया उन्होंने!फिर वे पूछने लगी- क्या तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड है?मैंने कहा- नहीं, अब तक तो कोई बनी नहीं. मैं तेरी गर्लफ्रेंड हूँ मुझे चोदो। वॉवो आज मुझे मालूम हो रहा है कि कोई मर्द मुझे चोद रहा है।ऐसे ही एक दिन बबली मुझे मिसेज रूपाली के पास ले गयी.

मैं- कोई देख लेगा तो क्या सोचेगा?डिंपी- अच्छा जी … और जो सब बाइक पर हुआ वो देख कर क्या सोचेगा कोई?मैं- अरे सॉरी ना, जानबूझ कर थोड़ी किया … गलती से हुआ. मैंने उससे पूछा- विनोद तुम्हारी चुदाई नहीं करता क्या?उसने मुझे बताया- शादी के बाद अभी तक उसने मुझे सिर्फ तीन चार बार ही चोदा है.

शुभा- राहुल मुझे कभी छोड़ कर मत जाना, मैं तुमसे बहुत प्यार करती हूँ.

उनके गालों की दीवारों पर बनती हुई मेरे लंड की आकृति बार बार मुझे उत्तेजित कर रही थी.

दोस्तो, मेरा नाम राज है, उत्तर प्रदेश का रहने वाला हूँ और अन्तर्वासना का नियमित पाठक हूँ. एक बार चाचा चाची मूवी देखने गए और वो अपने साथ बच्चे को भी ले गए थे. जब मैंने लंड चूत में से बाहर निकाला तो ढेर सारा खून देखकर वो डर गई.

वो मेरे ठीक पीछे ही खड़ी थी और उसका एक हाथ उसकी चूत के ऊपर था और उसके चेहरे पर एक नॉटी स्माइल थी. मैंने उसकी एक चूची मुँह में भर ली और दूसरी को अपने हाथ में लेकर दबाने लगा. आलिम साहब- देखो नगमा जान, समझने की कोशिश करो, मैं तुमको इधर हमेशा के लिए नहीं रख सकता.

मैंने पहले भी गांड में कई बड़े बड़े लंड लिए हैं तो मुझे कोई खास दर्द नहीं हुआ मगर मैं मोहित का जोश और ज्यादा बढ़ाना चाहती थी.

मैंने देखा कि राजवीर सोफे पर चुपचाप बैठा हुआ हमारी लाइव चुदाई देख रहा है और अपनी पैन्ट की ज़िप खोल के लण्ड को बाहर निकाल कर हिला रहा है।मैं बोला- भोसड़ी के, क्या कर रहा है ये?वो बोला- तुम्हारी चुदाई देख के रहा नहीं गया यार … मेरा भी मन कर रहा है।मैं बोला- मेरा हो जाये तो तू भी कर लेना।राजवीर बोला- इतना टाइम नहीं है. चारों तरफ पानी ही पानी भरा हुआ था और गांव से होकर बहने वाली नदी उफान पर थी. मुझे चाची पर थोड़ी दया आ गई और मैंने धीरे धीरे करके लंड के टोपे को गांड में डालने की कोशिश की.

मेरे लंड पर भी खिंचाव पड़ रहा था और मेरा लंड भी पूरी मस्ती में आ चुका था. मेरी गलती न होने पर भी, मैं जब तक बीवी के पाँव पकड़कर माफ़ी नहीं मांग लेता, उसका गुस्सा शांत नहीं होता. वो दूसरे मम्मे का निप्पल अपने हाथों की उंगली से मसलने लगा जिससे मैं उसका सर अपने सीने से दबाने लगी.

मैंने उसके होंठों को अपने होंठों से बंद किया और चूत में जोर जोर से धक्के लगाने लगा.

इतने में मोहित ने मेरी एक टांग उठा ली और अपना लंड पकड़कर मेरी चूत में डाल दिया. मैं शाम को जब सोफे पर बैठ कर चाय पी रहा था और मेरी खाला फर्श पर झाड़ू लगा रही थीं.

डब्ल्यू बीएफ मम्मी ने मेरे हाथ से रिमोट लेकर अपना सीरियल लगा दिया तो मेरी बहन भुनभुना कर अपने कमरे में चली गई. उसने कुछ सोचा और कहा- हां कोई है तो नहीं जो देखेगा, हम दो ही तो है यहां.

डब्ल्यू बीएफ मुझे चोदते चोदते वो एक बार फिर से झड़ गयी और एकदम से मेरे ऊपर गिर पड़ी. जब भाभी की तरफ से कुछ हलचल नहीं हुई तो मैंने अपना हाथ फिराना शुरू कर दिया.

यह कज़िन सेक्स पोर्न स्टोरी बिल्कुल ही सत्य घटना पर लिखी है, बस नाम और जगह काल्पनिक हैं.

नेपाल काठमांडू फोटो

बस चूक इतनी सी हो गई कि एक दिन मैंने उससे एकदम से खुल कर कह दिया कि तुम इतनी हॉट माल लगती हो कि मन करता है कि तुम्हें पटक कर चोद दूँ. वो मजा लेते हुए कह रही थीं- बेटा और चोद … फाड़ दे अपनी चाची की गांड … आंह और चोद मेरे बेटे. उसको अचानक से लंड गांड में लेने से बहुत तेज दर्द हुआ और वह चिल्लाने लगी- अरे नहीं … मत मारो … दर्द हो रहा है बाद में कर लेना.

उस दिन मैंने भाभी को अपने कमरे में बुलाया और उससे चुदाई की बातें करने लगी. मैंने हाथ में अपना लंड ले लिया और उसे हिलाने लगा।मगर ना जाने कैसे शायद उन्हें यह पता लग गया कि गेट के बाहर कोई है, तो अन्दर से आवाज आनी बंद हो गयी. अभी हमारी ये बातें हो ही रही थी कि सोनी के मोबाइल पर किसी का फ़ोन आया.

जिन पाठकों ने मेरी पिछली कहानियां पढ़ी होंगी, उन्हें पता होगा कि मेरी कुछ कहानियां मेरी जिंदगी की हैं लेकिन ज्यादातर कहानियां मेरे दोस्तों द्वारा भेजी गई होती हैं.

मैंने फिर से मुठ मार कर मामी के कपड़ों में रस झाड़ दिया और ब्रा से लंड को साफ़ कर दिया. पता नहीं क्यों … मगर शालू के साथ दुबारा चुदाई करने का मौका नहीं मिल पाया. मैं भी तैयार था इसलिए भाभी को लेटा कर लंड का मुँह भाभी की चूत पर रखकर जोर लगा दिया.

वो भी मेरे मुँह में जीभ डालकर अपनी चूत से निकले रस का स्वाद लेने लगीं. ऐसे ही मैं अपने मुँह में दूसरी चूची को लेकर चूसने लगा तो देखा कि मेरे जोर जोर से दबाने से मसलने से माधुरी की चूची का निप्पल कड़ा हो गया था और एकदम नुकीला होकर उसका निप्पल सीधा खड़ा था. दोस्तो, कानपुर से मैं अभिनव फिर से आपके समक्ष अपनी नई सेक्स कहानी रखने जा रहा हूँ.

चाची बोलीं- तुझे जो करना है, कर पर मेरी चूत को शांत कर बस!मैं चाची के मुँह से ये सुनकर बहुत खुश हो गया. बस मैं ऐसे ही उसी को सोचते सोचते उसको चोदने का ख्वाब मन में लिए कब सो गया, पता ही नहीं चला.

उन्होंने उस दिन हाथ में बेलन लिया हुआ था और उस बेलन को अपनी चूत पर सैट कर रखा था. मैं अपने फ़ोन में मॉम की फोटो लेने लगा, सच मेरी मॉम उस छोटी सी कच्छी में किसी पोर्न फिल्म की हीरोइन की तरह लग रही थीं. बीवी के जाने के बाद उसी दिन एक गाय ने बगिया के सारे फूल खराब कर दिए थे.

रवि को अपने विवाहित जीवन में कभी शांति नहीं मिली थी, यौन सम्बन्ध भी मजेदार नहीं था.

आंटी- घर से मुझे लेने मेरे शौहर आ रहे हैं यहां, वो आने वाले हैं, यह बताने के लिए कॉल किया है. मैं अपने ही विचारों में खोया था कि तभी आगे एक गड्डा आ गया और मैंने गाड़ी को तुरंत ब्रेक लगा दिया. एक दिन शाम को जब मैं ऑफिस से निकला तो मैंने देखा कि माधुरी के पति ने पूरी शॉप खाली कर दी थी और सारा सामान एक गाड़ी में रख कर दूसरी जगह जा रहा था.

उसके चूचे काफी बड़े थे जैसे किसी महिला के होते हैं, ठीक वैसे ही!जबकि सुधा देखने में किसी कमसिन लड़की की तरह लगती थी. वो सेक्सी सेक्सी आवाजें निकालने लगी- आहआह उफ्फ्फ विक्रांत बेबी ओर तेज आह … मैं मर जाउंगी … अअह बेबी मेरी चूत में चीटियां सी रेंग रही हैं.

जब मैं कमरे में आया तो वो बड़ी मस्त नजरों से मुझे देख रही थी और एक मस्त सा ड्रेस पहन कर बैठी थी. फ्रेंड वाइफ सेक्स कहानी में पढ़ें कि मेरा दोस्त अपनी बीवी की गांड मारना चाहता था मगर वो डरती थी. मैं उसके गरमागरम लंड का मजा अपनी चूत में ले ही रही थी कि तभी ड्राइवर के लंड ने वीर्य की पिचकारियां मेरी चूत में छोड़ दीं.

गुड्डन के कपड़े कैसे बनाते हैं

प्रिय पाठको, आपको मेरी हॉट कजिन सेक्स कहानी कैसी लगी, कृपया कंमेंट में जरूर बताइएगा.

तो मजा लें इस अंकल पोर्न स्टोरी का!जो नए पाठक मेरी कहानी पहली बार पढ़ रहे हैं, उन्हें मैं अपने बारे में बता देती हूँ. मैंने उनकी तरफ देखा तो वो बोलीं- तू कह रहा था न कि चैक कर लो … आज देखती हूँ कि तू कितना बड़ा हो गया है. कुछ ही देर में मैंने उसकी चूत और गांड के छेद को साफ़ कर दिया व उसने मेरे लंड को.

ले मादरचोद रंडी, वीर्य पी मेरा, पेट भर ले अपना छिनाल!”गर्म गर्म वीर्य का एहसास मुंह में बहुत ही अच्छा लग रहा था. जब मैं किशोरवय था, तभी से सेक्स कहानियां पढ़ रहा हूं और मैंने काफ़ी लड़कियों व औरतों के साथ ऑनलाइन सेक्स चैट भी की है. पुणे के बीएफउस कच्ची उम्र में एक दिन जब मैं सुबह सो कर उठी तो यह देख कर बुरी तरह घबरा गई कि मेरी कच्छी खून से भरी हुई है और मेरे बिस्तर पर भी खून फैला है.

इतना बड़ा शहर है। कहते हैं यहाँ चारों तरफ लण्ड ही लण्ड घूमते रहते हैं. यदि कभी तूने घर के बाहर किसी दूसरे से सेक्स कर लिया और कुछ लफड़ा हो गया तो बड़ी बदनामी होगी और हो सकता है कि तू किसी परेशानी में फंस जाए.

3 फिट की 30 से 32 साल की औरत खड़ी हुई है जिसने सिंपल सी नीले रंग की साड़ी पहने हुई थी। जिसमें उनका निखरा हुआ रंग और 36 30 38 का फिगर अलग ही दिख रहा था।उनके होंठों पर गहरे लाल रंग की लिपिस्टिक खुले हुए बाल देखकर ऐसा लग रहा था कि मैं कोई सपना देख रहा रहा हूँ. तो मॉम चिल्लाने लगीं- आह आह … मर गयी!मॉम नशे में बड़बड़ा रही थीं, इसी वजह से मैंने उनकी बातों पर कोई ध्यान नहीं दिया और मैं उनकी गांड मारने लगा. जब उसने मुझे पेलते हुए नहीं देखा तो उसने मेरे लंड को पकड़ लिया; लंड को अपनी चूत के छेद की ओर खींच कर अपनी गांड उठाने लगी.

कहानी के पहले भागखूबसूरत लड़की की जवानी पर चढ़ा जिन्नमें आपने पढ़ा कि मुझे माहवारी शुरू होने के साथ ही सेक्स संबंधी बीमारी लग गई। मेरे अम्मी अब्बू मुझे डॉक्टर के पास ले गए. कुछ दिन बीतने के बाद भाभी की मम्मी को कॉल आया कि भाभी के मामा की तबियत खराब हुई है और उनको बुलाया गया है. फिर हम दोनों ने कभी कभी वीडियो कॉल करनी शुरू कर दी, उसमें भी पहले नॉर्मल बातें होती थीं.

वो अपनी मां से बोला कि इस बेड पर मैं सोऊंगा और आप चाचू के साथ उस बिस्तर पर सो जाना.

फिर मैं उसके पास जाकर उससे चिपक गया और उसकी सांसें महसूस करने लगा था. चूत खुल कर सामने आई तो मैंने उसकी चूत को अपनी उंगलियों से सहलाना शुरू कर दिया.

उसने बताया कि उसकी वाइफ हॉट है और वो उसे अपने सामने नंगी चुदती देखना चाहता है. खाला की चीख निकल गई- आह मर गई … उई अम्मी रे मर गई … आंह निकालो जल्दी सुलेमान … मैं अपने हाथ जोड़ती हूँ … आह निकाल लो जल्दी से वर्ना मैं मर जाऊंगी. थोड़ी देर बाद वो फिर से साथ देने लगीं और दस मिनट के बाद हम दोनों साथ में झड़ गए.

इधर शबाना मेरे लंड को कपड़े से साफ कर रही थी और लंड में चावल के बराबर के छेद को समझने की कोशिश कर रही थी. उसके बाद उसके होंठ मेरे पेट से होते हुए नाभि से होकर नीचे मेरी पैंटी तक जा पहुंचे. लंड को चूत में ही रख मैं उसके पर गिर गया और उसे किस करता हुआ उसके बगल में लेट गया.

डब्ल्यू बीएफ बहुत आनाकानी करने के बाद उसने लंड चूसना शुरू किया।चूसते चूसते वापस उसकी चूत में खुजली होने लगी और वो अपनी चूत को सहलाने लगी।क्या हुआ? मन नहीं भरा क्या?” मैंने पूछा. मैंने हाथ मुँह धोए और देखा तो भाभी अपने बेटे को तैयार करके स्कूल भेज रही थीं.

सेक्स सीडी

दोस्तो, मेरा नाम नगमा खान है और मैं पाकिस्तान में लाहौर के पास एक गाँव की हूँ. दोस्तो, जिस गांड को मैं चोदने का सपना देखा करता था, आज वो गांड मेरे सामने पूरी नंगी थी. आयशा के हाथ में मोमबत्ती देखकर जो लड़कों की गांड फटी है, कसम से आप लोगों को बता नहीं सकती.

मैंने उनकी टांगों को थोड़ा और ऊपर उठाया और अपनी एक उंगली को तेल से चिकना करके चाची की गांड के छेद में घुसा दी और धीरे से अन्दर बाहर करने लगा. अब मैंने गुस्से में उससे बेड पर चित लिटा दिया और लंड को हाथ में पकड़ कर उसकी चूत पर रख दिया. सेक्सी वीडियोस बीएफ एचडीउनकी सिसकारियां निकल रही थी- आआहह आआ हहह आहह … आहह अईई … उइई ईईई … आह … ओहह ओहह उम्म!खूब पलंगतोड़ चुदाई की मैंने उस दिन!फिर कुछ देर में हम दोनों झड़ गए, मैंने अपना सारा वीर्य उनके मुंह में डाल दिया और उनकी चूत का सारा पानी पी गया।मैं और आंटी कुछ देर बिस्तर में लेटने के बाद कपड़े पहनकर रूम में आ गए.

फिर माधुरी काउंटर से बाहर निकली और मुझसे बोली- तुम अन्दर ही रुको, मैं यहां नीचे बैठने की व्यवस्था करती हूँ.

भाई की सास ने आवाज़ दी- बेटा नींद आ रही होगी, ऊपर आकर सो जाओ रोहन, बहुत दूर जाना है. उसकी फांकें गीली और चिकनी तो थीं मगर बहुत ताकत लगाने पर मेरा लंड अन्दर जा सका.

इसका मोटा लंबा जवान लंड मेरी अच्छे से ठुकाई कर सकता है और मेरी चूत को शांत कर सकता है. मैंने धक्के लगाना शुरू कर दिए और अपने 7 इंच के चाची की गांड के लंड को छेद में पूरा अन्दर बाहर करने लगा. इस तरह मैंने मोहित को रिया ने पुलकित को आयशा ने अमन को और नेहा ने अमित को पकड़ लिया था.

इतने साल बाहर रहने की वजह से मेरा ध्यान कभी अपने गांव की लड़कियों पर नहीं गया.

उसने मेरी शर्ट निकाल दी और नीचे मैंने ब्रा पहनी हुई थी जिसमें मेरी सेब जैसी गोल गोल चूचियां नीचे छुपी हुई थीं. मैं अपनी जगह से चलकर आगे हुआ और उसके सर की तरफ बढ़ता हुआ उसके करीब चला गया. जब नीना का मन होगा, रंडी का रोल प्ले करने का, तो एक ही कमरे में चारों रहेंगे और एक के बाद एक एक करके नीना की चुदाई करेंगे.

बीएफ वीडियो में हिंदी मूवीठंड के कपड़ों की वजह से उनके जिस्म कि गोलाइयों का अंदाज़ा लगाना जरा मुश्किल था, पर चेहरे से वो मस्त माल थीं, एकदम गोरी चिट्टी और चिकनी जैसे भोजपुरी टीवी अभिनेत्री रश्मि देसाई. चलते समय उसने मुझे थैंक्स कहा तो मैंने कोमल से उसका मोबाइल नंबर ले लिया.

सेक्सी वीडियो गाना में

शर्ट फट जाने से उसकी ब्रा एकदम साफ़ दिखने लगी और उसका गोरा बदन मुझे पागल करने लगा. अब हम दोनों एक साथ बाथरूम गए और एक दूसरे को साबुन लगाकर नहलाने लगे. फिर जब एक उंगली के लिए रास्ता साफ हो गया तो मैंने अपनी दूसरी उंगली को भी डालना शुरू कर दिया.

मैंने और नीना ने तापोश और सोनी के हाथ पांव पलंग के चारों कोनों में बांध दिए. उसने अपनी टांगें मेरी कमर के पीछे ले जाकर मुझे टांगों से कसना और जकड़ना शुरू कर दिया. मेरी पिछली कहानीअल्हड़ लड़की के साथ कामक्रीड़ा का तूफानमें आपने पढ़ा कि कैसे दारू के सुरूर मैंने और पिंकू ने तूफानी सेक्स का टीन पोर्न का आनंद लिया.

वो बोली- मेरा गिफ्ट?मैंने उसे फिर एक मस्त पार्टी दी और उसने थोड़ी सी ड्रिंक की. मैंने आंटी से कहा- पूनम कुतिया बनोगी?‘हां … कुतिया, घोड़ी जो कहो, वो बनेगी तेरी पूनम. ’ये कह कर मैं साक्षी की गांड के ऊपर प्यार से हाथ घुमाने लगा और धीरे से अपना लंड साक्षी की गांड के अन्दर पेलने लगा.

मैंने खाला के फोन में पोर्न साइट्स देखी थी तो पता था कि वे चुद जायेंगी. इस बीच मैंने न जाने कितनी दफा माधुरी के होंठों को चूस चूस कर दांतों से काटा होगा, मुझे पता ही नहीं है.

मैंने उसके एक निप्पल को इतना जोर से काटा कि वह ‘आह मर गई काट कर खाएगा क्या.

जब मैं कमरे में आया तो वो बड़ी मस्त नजरों से मुझे देख रही थी और एक मस्त सा ड्रेस पहन कर बैठी थी. बीएफ भेजना हैछेद पर लंड सैट होते ही मैंने हल्का सा ज़ोर लगाया मगर उसका छेद बहुत छोटा सा था. सेक्स सेक्स बीएफ हिंदी वीडियोपर मैंने उसको इतना चिकना कर दिया था कि एक झटके में लंड अन्दर चला जाए. यह देख कर मुझे भी जाने कैसा अजीब सा लग रहा था और मेरा हाथ अपने आप ही मेरी चूत पर चला गया.

सच में वोसेक्स सेक्सनहीं था, वर्जिन गर्लफ्रेंड लव था, एक मेडिटेशन था.

वो मेरी लाल पैंटी के ऊपर से ही मुझे जबरदस्त किस करने लगा और दांतों से काटने लगा, जिससे मेरे मुँह से आहें निकलने लगीं. कोमल के हाथों को बांधने के बाद मैंने पास रखी प्लेट में से आइस क्यूब को उठाया और कोमल की नाभि के चारों ओर सर्कल बनाता हुआ फेरने लगा. मैं- कुछ भी, आपको किसने कहा ऐसा?डिंपी- वो तो मैंने दिन में सब देख ही लिया था न.

मैं बहुत बार उन सुंदर महिलाओं के बूब्स भी देख लेता था, जब वो नीचे खड़ी होती थीं और मैं कुछ ऊंचाई पर खड़े होकर उनके घर में काम कर रहा होता था. और में अपनी जीत पर इतराती हुई अपनी जान से भी प्यारे जलालुद्दीन साहब के बारे में सोचती हुई उस दिन बिना चुदे ही सो गई. फिर वो दबी और घुटी हुई आवाज में बोली- आह मर गई … काफी गर्म और कड़ा है.

ब्लू पिक्चर वीडियो में चलने वाली

मैंने देखा कि मेरी पूरी उंगली चूत में जा चुकी है और वह एक बार झड़ कर फ्री हो चुकी है. वो दृश्य देखकर मेरा लंड टाइट होने लगा और लुंगी में तंबू सा बनने लगा. उस दिन से मैंने महसूस किया कि वो मेरा कुछ ज्यादा ही ख्याल रखने लगी थी.

अपने मन की कर ही ली तूने!मैंने हंस कर कहा- अबे यार मजा आ रहा है, तो थैंक्स बोल न.

जैसे ही लंड अन्दर जाता, उसकी ‘आह … अह …’ निकलती और बाहर आने पर वो ‘अम्म्म … ओह्ह …’ कराहती.

मैंने चाय की ट्रे कमरे के बाहर ही रखी और सोचा कि‌ लाओ कपड़े डालकर मशीन चला‌ देता हूं‌ … और फिर आराम से बैठकर मैं और आंटी चाय पियेंगे. चाची के दोनों हाथ हवा में उठे हुए थे और उनके चूचे उछल उछल कर मेरे लंड को बेहद सनसनी दे रहे थे. छोटे बच्चों का सेक्सी बीएफशुरुआत कुछ ऐसी हुई कि मैं उस समय अपनी जवान चाची को छेड़ने की कोशिश करता था.

ये सुनकर आंटी थोड़ी परेशान सी हो गईं और बोलीं- तेरे अंकल भी अब अपने ऑफिस पहुंच गए होंगे और अब शाम‌ को ही मुझे वापस लेने आ पाएंगे. अब मैं रोज जलालुद्दीन को बुलाती थी और वो भी मेरी बात मान कर हर रोज मुझे रगड़ रगड़ कर चोदा करते थे. मैं बिल्कुल शांत होकर ऐसे नाटक कर रहा था, जैसे कि गहरी नींद में सो गया हूँ.

मैं आपको बता दूँ कि ये मेरी पहली सेक्स कहानी है तो कोई गलती होना लाजिमी है तो माफ़ कर दीजिएगा. आधा घंटे के बाद तूफान थोड़ा शांत हुआ तो मैंने उसे गोद में उठाया और बिस्तर पर ले गया.

उसकी गोरी गोरी जांघें पतले कपड़े की इस मैक्सी में से आर-पार दिख रही थीं.

मैंने चाची को घोड़ी बनाया और गांड में तेल लगाकर छेद को ढीला कर दिया. यह देख कर मैंने भी उनकी अंडरवियर खींच कर नीचे कर दी और उनको नंगा कर दिया. उन तीनों ने खाना खाया लेकिन मैंने भूख नहीं लगने की बात कहकर खाना नहीं खाया.

सेक्सी बीएफ स्कूल की लड़की मैंने भाभी को फोन लगाया और कह दिया कि भाभी अगर आपको किसी चीज़ की भी ज़रूरत हो तो बता दीजिएगा. अंकित ने मुझे गले से लगा लिया फिर मुझसे अलग होते हुए उसने मुझे गाल पर किस किया.

मैंने अपने चेहरे और बदन पर फैले उनके वीर्य को प्याली में इकट्ठा किया और सारा का सारा वीर्य गटगट करके पी लिया. मैंने देखा कि उसकी चूत से खून आ रहा था और आंख से उसके आंसू भी टपक रहे थे. थोड़ी देर में मुझे बहुत अच्छा लगने लगा तो अपने दूसरे नीम्बू को मैं भी सहलाने लगी और अपने निप्पल घुमाने लगी.

बबीता चुत

उसकी बात से फिर से लगा कि मुझे हर हाल में एक चूत सैट कर लेनी चाहिए. उसकी स्कूल की पढ़ाई पूरी हो चुकी थी और वो पत्राचार से कॉलेज कर रही थी. फिर आगे क्या हुआ, वो मैं अपनी अगली सेक्स कहानी में आप सभी को लिखूँगा.

मैंने नजर भर कर दोस्त की चाची को देखा और उसके बाद मेरी नजर अपने दोस्त से मिल गई. हाथ से कपड़े धोने की वजह से उसके बूब्स भी काफ़ी हिल रहे थे और उसके कपड़े गीले होने की वजह से उसके बूब्स सही आकार में दिख रहे थे.

कुछ देर बाद मेरी हवस जाग उठी और मैं उसके पैर में मूव लगाते हुए कुछ अलग तरह से सहलाने लगा था.

वो इसलिए कि मेरे पेग इस टाइम काम आ गए।अब अंजलि मेरे लण्ड को सहलाने लगी, आगे पीछे करने लगी और दूसरे हाथ से मेरे लण्ड के दोनों साथियों को भी सहलाने लगी।अब मुझ से बर्दाश्त नहीं हो पा रहा था।मैंने अंजलि को लण्ड को मुँह में लेने को बोला. रोहित अपना लंड मंजू के चूतड़ों के पीछे ले गया और लंड पेल कर जोरदार धक्का लगा दिया. जलालुद्दीन ने भी अपने शेरवानी उतार दी और मुझे अपने सीने से लगा लिया.

मैं- और कुश्ती का क्या? भला मैं क्यों खेलूंगी कुश्ती?आपा- अरे कुश्ती नहीं रे, मर्द और औरत का जो जिस्मानी रिश्ता होता है उसी को कुश्ती कहते हैं मजाक में. मुझको चुदाई करते करते अभी कुछ मिनट ही हुए थे कि भाभी की चूत का पानी निकल गया और उनकी फुद्दी बहने लगी. मैंने कुछ कहा भी नहीं, मगर उन्होंने मेरा लंड मुँह में लेकर चूसना चालू कर दिया.

काकी के उठे हुए दूध और तनी हुई गांड का ध्यान तो मेरी निगाह में आज ही घूमा था.

डब्ल्यू बीएफ: आप मुझे बताएं कि आपको मजा आया मेरी हॉट गांड Xxx कहानी पढ़ कर?nagmakhanfro[emailprotected]. उसी समय मैंने नोट किया कि आंटी के चेहरे पर हल्की सी मुस्कान फैल गयी.

मेरी बात सुनकर‌ आंटी ने कहा- चल अच्छा, अब यही पहनने हैं तो क्या कर सकती हूँ. अपनी चूत में पूरा लंड लेते ही साक्षी की मादक कराहें निकलने लगी थीं ‘आह राजा इस्स्स…’कुछ ही पलों में साक्षी की चूत से रस छूटने लगा था, जिससे अब मुझे फच फच की आवाज आ रही थी. कुछ देर में उसने अपनी पोजीशन चेंज करते हुए पेट के बल लेटकर कोहनी बेड पर टिका अपना चेहरा हाथों के बीच भरकर लेट गयी.

मैं बोली- जान, पानी जब निकालना हो तब निकालना लेकिन गांड में मत निकालना.

मंजू हांफती हुई बोली- बुआ जब यह वियाग्रा खा लेता है तो रात भर चुदाई करता है. मैं- शश्श … इतने अंधेरे में कोई कुछ नहीं देख पाएगा, तुम बस एंजॉय करो. मैं साथ में बने बाथरूम में जाकर अपने चेहरे पर आंटी की लिपस्टिक के दाग छुटाने लगा.