ब्लू फिल्म बीएफ एक्स एक्स एक्स

छवि स्रोत,বাংলাদেশের এক্স ভিডিও

तस्वीर का शीर्षक ,

हिंदी छोटी बीएफ: ब्लू फिल्म बीएफ एक्स एक्स एक्स, वहां पहले ही मैंने एक होटल में तीन रूम बुक कर लिए थे। शाम को हम सभी थोड़ा घूमने निकले और कुछ क्षेत्रों में बर्फ़बारी को होते हुए देखा.

बॉलीवुड सेक्सी एचडी वीडियो

मैंने गीली चुत में से उंगली निकाली और चाटते हुए कहा- लो … आपकी चुत तो फिर से तैयार हो गयी. सेक्सी व्हिडिओ पिक्चर पंजाबीतुम्हारे जीजा जी ने इस बार मालदीव में हमारे सम्मेलन का बंदोबस्त किया है … वो भी एक हफ्ते के लिए.

मैं- एक बात पूछूँ?कोमल- क्या?मैं- लगता है कि तुम्हारा पति तुमसे बहुत प्यार करता है. मारवाड़ी सेक्सी वीडियो भेजिएमैंने दूसरी वाली परफ्यूम की शीशी गुड्डी के हाथ में दे कर कहा- गुड्डी यह जो तूने कैंडललाइट वाला काम किया उसके लिए तोहफा.

मैं बोला- फिर लंड डाले हुए नीचे कैसे जाएंगे पगली!तभी सुधा बोली- मैं कुछ नहीं जानती … बस तुमको जैसे ले जाना हो, ले चलो … मगर चूत में से लंड नहीं निकालना.ब्लू फिल्म बीएफ एक्स एक्स एक्स: तभी प्रिया ने मसाज आयल उसके और अपने मम्मों पर और सुनील की छाती पर उड़ेल दिया.

सबसे ज्यादा मुझे मजा आया, जब मैं पहली बार दीदी की गांड मार रहा था और दीदी दर्द के मारे चिल्ला रही थीं.उसने अपनी टाँगों से अरविन्द की कमर पर घेरा बना कर उसकी गर्दन में बाहें डाल लीं.

सेक्सी मूवी अंग्रेजी में - ब्लू फिल्म बीएफ एक्स एक्स एक्स

इनमें दो दिन में अलीना को किसी भी तरह से पटाना है ताकि मैं अपने लंड को उसकी चुत में डाल सकूं.”ये क्या भइया भइया लगा रखी है? और क्या बता रही है कि आपका वो बड़ा मोटा है.

हनी जिस दिन अपने मायके आई, योजना के मुताबिक अगले दिन मेरा साला अजीत उसे हमारे घर ले आया और मेरे बेटे भरत को ले गया. ब्लू फिल्म बीएफ एक्स एक्स एक्स सो! उन का भी गुर्दों पर असर था, नतीज़तन! बहुत देर से मेरे ब्लैडर पर दबाब पड़ रहा था और लगातार बढ़ता ही जा रहा था.

अमनप्रीत अपना लंड अपनी पैंट की जिप से बाहर निकाल कर बेड पर लेटा हुआ था.

ब्लू फिल्म बीएफ एक्स एक्स एक्स?

काफी फोटो लेने के बाद वो बोला- चल मेरी रंडी बेटी, अब मेरे लिये खाना लगा दे. जैसे ही मैं सीमांशी को लेकर बिस्तर में आया, वो रोहिताश रोहिताश पुकारने लगी. नज़रों-नज़रों में एक-दूसरे के अंतर तक उतर जाने वाली निग़ाह से हम दोनों कितनी ही देर दो-चार होते रहे.

रोहित के लंड को अपने हाथों से छूते हुए संजू बोली- बाप रे … इतना टाई. मतलब कि तुम्हें कुछ ऐसा करना होगा कि मैं खुद तुमसे चुदने को तैयार हो जाऊं. मेरी पिछली कहानीकुलबुलाती गांडमें मैं आपको बता चुका हूं कि मैं 25 साल का एक स्मार्ट सा लड़का हूं.

मैं एक हाथ से उसकी चोटी कस कर पकड़ के खींचते हुए दूसरे हाथ से उसकी गांड पर थप्पड़ पर थप्पड़ मारने लगा मानो घुड़सवार को रेस जीतने के लिए घोड़े पर चाबुक मार रहा हो. जैसे ही मेरा वीर्य मनीषा भाभी के मुँह में झड़ा, उन्होंने फट से मेरा लंड बाहर निकाल दिया. एक दिन मेरी पत्नी और मेरी सास की फोन पर बात हो रही थी कि अगले हफ्ते हनी आ रही है.

रिंकी अपने मुँह से विशाल का लंड निचोड़ रही थी और विशाल रिंकी के मम्मों की गोलाई नाप रहा था. और मैंने अब अपने दोनों हाथों को उसके चूतड़ों की नीचे रखा और उसकी गांड उसे ऊपर को कर लिया.

मेरी चाची सेक्स कहानी के पहले भागगाँव वाली सेक्सी चाची की चुत चुदाई-1में आपने पढ़ा कि मैं अपनी चाची की नाइटी पर हाथ फेर कर उनकी ब्रा की स्ट्रिप को टटोल रहा था लेकिन चाची के जिस्म पर शायद ब्रा थी ही नहीं.

फिर जब समझ आ जाए, तब जाकर उस लड़की को मनाओ … और उसी के साथ करके मजा लो.

मैंने अपनी आँखें बंद की और रवि के लण्ड पर अपनी चूत को दबाते हुए उन्हें चुदाई आरंभ करने का इशारा दिया।बस फिर क्या था … रवि के धक्के और मेरी सिसकारियां … जितने तेज रवि के धक्के हो रहे थे, उतनी तेज मेरी सिसकारियां।मेरा मुँह बन्द करने के लिए रवि ने अपना एक हाथ बिस्तर पर रखा और दूसरा हाथ मेरी टांग से उठाकर मेरी कमर पर रख दिया. सेक्स में जितना मज़ा करने का आता है उससे ज्यादा उत्तेजित करती है महिला साथी की मादक आवाजें … जिन्हें सुन कर ही मर्द बेकाबू हो जाते हैं. जैसे जैसे मेरे डिस्चार्ज का समय करीब आ रहा था, मेरी स्पीड बढ़ती जा रही थीं.

वो तो बोलते हैं मैं मिलने आ जाऊं क्या?” …”मुझे लगता है नताशा उस लटूरे को यहाँ बुलाने की भूमिका (बेकग्राउंड) बना रही है। मैंने अपना हाथ उसकी जाँघों के बीच फिराते हुए उसकी चूत के छेद में अपनी अंगुली डाल दी।नताशा के एक हल्की चीख सी निकल गई। …”ओह … कुछ नहीं एक मच्छर ने काट लिया. गांड में लंड घुसते ही मेरी एक्स गर्लफ्रेंड जोरों से आवाज़ निकालने लगी- ओहह उहह राज … धीमे चोद साले … मैं तेरी रांड नहीं हूँ और ना ही तेरी बीवी हूँ. भाभी को देखने से ऐसा लग रहा था कि उनकी शादी हुए अभी ज्यादा टाइम नहीं हुआ था.

संजना की इन उत्तेजना भरी बातों से मैं भी अपना आपा खो बैठा और उसको तेज तेज चोदने लगा.

जैसे ही मैंने अपना लौड़ा उसके मुँह से निकाला और उसकी तरफ देखा, तो वह मेरी तरफ देख कर हंस रही थी. यह बात सुनकर संजू को उस पर प्यार आ गया और वो उसके बालों पर हाथ फेरते हुए बोली- ऐसा नहीं कहते. आलिया- हां अब याद आया, जिसमें एक बहन अपने भाई के लंड पर सवार होकर चुद रही थी.

यूं आज के जमाने में वसुंधरा जैसी प्रेयसी का मिलना तो बहुत ही नसीब की बात थी मगर मैं पहले से ही शादीशुदा, बाल-बच्चेदार इंसान था. लेकिन हम दोनों एक दूसरे की आँखों में झाँकते हुए स्तब्ध खड़े थे जैसे हम भविष्य के सारे करार अभी ही कर लेना चाहते हों।क्या हीना की चुदाई होगी? क्या मैं नेहा को मना पाया? जानने के लिए कहानी के साथ बने रहें. मैं- वो भी हमारे इस खेल में शामिल हो जाएगी … तो हम सुरक्षित हो जाएंगे … अगर तुम्हें आकाश से बचना है … तो इसी बात पर सोचो.

तू टेंशन मत ले, आज तेरी चुत की ऐसी कुटाई करके चोदूंगा कि तू अपने पति को भूलकर मेरी दीवानी हो जाएगी.

मनु ने जाते-जाते कहा- रुको सालियों, जब तुम्हारी बारी आएगी … तब मैं बताऊंगी कि पिटाई कैसे करते हैं. उसकी चूत फिलहाल बहुत गीली थी इस वजह से लंड को जल्दी जल्दी अन्दर बाहर होने में कोई दिक्कत नहीं थी.

ब्लू फिल्म बीएफ एक्स एक्स एक्स ”सानिया कुछ सोचे जा रही थी। अब पता नहीं वह प्रीति से कुछ पूछने वाली है या नहीं पर इतना तो पक्का है कि उसके चहरे पर खिली मुस्कान यह बता रही है अब तो वह भी बिना निरोध के करने का स्वाद और मज़ा लेना चाहती है।वो कोई गड़बड़ तो नहीं होगी ना?”इंडियन देसी गर्ल चुदाई कहानी में मजा आया आपको?[emailprotected]इंडियन देसी गर्ल चुदाई कहानी जारी रहेगी. एक मिनट बाद बाथरूम से संजना के ठहाके की हंसी सुनाई पड़ी, मैं सोचने लगा कि वहां न जाने क्या हो रहा होगा.

ब्लू फिल्म बीएफ एक्स एक्स एक्स कविता ने मुझे काफी कुछ तरीके बताए थे, मगर ये सब इतना आसान होता, तो शायद मैं इतना न सोचती. उसके बाद अमनप्रीत ने अपना लंड मेरे मुंह में दे दिया और चुसवाने लगा.

भार्गव ने भी मुझे देखा और दोनों इतने मदहोश हो गए कि उनके बोलने से ही पता चल रहा था कि उनको अब कुछ और नहीं दिखाई देगा … सिर्फ़ मैं ही दिखाई देने वाली हूँ.

ब्लूटूथ का सेक्सी

अम्मी पानी लेकर आईं और पूछने लगीं- रात को मज़ा आया बेटा?मैंने कहा- नहीं अम्मी … अभी तो मुझे आपकी गांड भी मारनी है. अब वो स्टेप भी आ गया, जब मुझे पायल की कमर को पकड़ कर उसे सहारा देना था. वो- तो तुम्हारे भाई की ससुराल मुनीर के यहां है?मैं- हम्म … सही पकड़ी हो.

मैंने उसे बोला- अमन नहीं, राज कहो!नीरा चरम पर थी उसने ‘राज और तेज करो … राज चोदो मुझे! अहह!’ करते हुए स्खलन कर दिया. ये सुनकर जीजू थोड़े से ठंडे हुए और बोले- यार, कभी सोचा नहीं था कि तुम्हारी चूचियों के साथ ऐसे खेल पाऊंगा. हम दोनों सिर्फ अच्छे सहपाठी थे और अक्सर पढ़ाई के बारे में बातें किया करते थे.

मरी सिसकारियाँ निकलने लगी थी- उम्म्ह… अहह… हय… याह…और इसी तरह चुदते चुदते मेरा पानी निकल गया.

पूरे दिन घर में बेटी को नंगी रख कर उसके साथ क्या क्या किया!कैसे हो दोस्तो? मैं राकेश फिर से हाजिर हूं गन्दी कहानी हिंदी में नये भाग के साथ। पिछले भाग में आपने देखा कि रिया अपने पिता की सारी शर्तें मानने के लिए तैयार हो गयी. लंड निकलने से कोमल को भी चैन मिल गया और वो अपनी उंगली गांड में घुमाने लगी. क्रिया बोली- प्लीज़ मेरी चूत चोद दो, पीछे बाद में कर लेना।उसके बाद मैंने अपनी गर्लफ्रेंड की गांड के नीचे एक तकिया लगाया फिर धीरे धीरे उसकी चूत में लंड डालने लगा। काफी समय बाद उसकी दूसरी चुदाई हो रही थी तो उसकी चूत फिर से कस गई थी.

इधर अमनप्रीत के मुंह से भी सिसकारियां निकलने लगी थीं- आह्ह … ओह्ह चूस मेरी रंडी. उसने शीला को बुलाया और उसे अपने मुँह के ऊपर बिठाया और उसकी चूत में अपनी जीभ घुसा दी. ”वसुंधरा जी! ये क्या बात हुई? क्या वचन दिया था आपने?”वो ठीक है लेकिन एक बार … आखिरी बार आप से मिलना चाहती हूँ.

चाची बाथरूम में जाने लगीं, तो मुझे याद आया और मैंने कहा- रुको मेरी जान … मेरे होते आप पैदल क्यों जा रही हो. मैंने उसके दोनों चूचों को अपने हाथों से पकड़ा और जोर जोर से मसलने लगा.

इसके बाद वो तीनों उन नकली लंड यानि डिल्डो फिट करके हमारे करीब आ गईं. मैंने पूछा- क्या?आंटी ने कहा- पहले तुम्हें मुझे चोदने के लिए तैयार करना होगा. पिछले पांच साल से एक *** शिपिंग कम्पनी के हैड-ऑफिस जिनेवा, स्विट्ज़रलैंड में पोस्टेड है.

उन्होंने मुझे एक प्यारी सी चपत लगाते हुए कहा- क्या देखा जा रहा है?मेरे में भी पता नहीं, किस हरामी की आत्मा घुस गई, मैंने भी बोल दिया- जो दिखाया जा रहा है … वही देख रहा हूँ.

इससे रिया की गांड से रमेश के लंड का वीर्य धीरे धीरे बहता हुआ नीचे आने लगा और बाहर गिरने लगा. चूस क्या रहा था बल्कि कहना चाहिए कि लौड़ा रानी के मुंह को चोद रहा था. ट …संजू ने रोहित के लंड को एक दो बार आगे पीछे किया और लंड से निकल रहे प्रीकम (वीर्य की पहली पतली धार) को जीभ बाहर निकाल कर अपने अन्दर ले लिया.

मैंने देर ना करते हुए चाची की चुत के दरवाजे पर लंड टिकाया और एकदम से पूरा लंड अन्दर पेल दिया. मैंने उसे एक हल्का सा मुक्का मारा और कहा- कुतिया तुझे बड़ी हंसी आ रही है.

पहली बार शान्ति भाभी जब मुझे चोदने का ज्ञान दे रही थीं, तो मैंने उनके मम्मों को पीते पीते ही सुर्ख गुलाबी कर दिए थे. किसी को चोदते समय यदि पेशाब लगे, तो धक्के मारते हुए चूत में फिंगरिंग भी करो, तो वो पेशाब वहीं कर देगी. और वो जोर जोर से सी सीई सीईई करके आवाज करती रही।मैंने उसका एक हाथ मेरे हाथ में लिया और मेरे लंड की तरफ इशारा किया।पहले तो वो पैंट के ऊपर से ही मेरे लंड को मसलने लगी.

सन्यासी आयुर्वेदा का मोबाइल नंबर

आने के बाद भैया ने कहा कि अब जब तक बच्चे की डिलीवरी नहीं हो जाती वो कहीं भी बाहर नहीं जायेंगे.

हाँ बोलिये न अंकल?”क्या मैं और तुम अपनी जरूरतों को पूरा कर सकते हैं?”क्या मतलब?”मैंने उनका हाथ अपने हाथों में लिया और कहा- मैं तुम्हें पसंद करने लगा हूँ. और उन सभी पाठकों का भी बहुत धन्यवाद जो ईमेल पे मेरी कहानी के अच्छे या बुरे पक्ष को सामने लाते हैं और मैं उस हिसाब से कहानी को और सुधार कर लिखने की कोशिश करता हूँ।ये कहानी है प्रियंका, और उसकी मुस्कान और उसकी दोस्त सीमा की, जिन्होंने मेरे और मेरे दोस्त सतीश और मोनू के साथ एक सामूहिक चुदाई की।प्रियंका मेरी पुरानी दोस्त है और हम बहुत बार चुदाई कर चुके हैं. फिर जल्दी से बाबूजी के कमरे की तरफ गयी, वहां माँ बेसुध पड़ी थी और उनके खर्राटों की आवाज आ रही थी पर बाबूजी नदारद थे.

अपने नये पाठकों से मेरा विनम्र निवेदन है कि मेरी नई कहानी से ठीक से तारतम्य बिठाने के लिए पहले मेरी पुरानी कहानियों को एक बार पढ़ लें. मयंक ने मेरी बीवी की चूचियों को उसकी ब्रा के ऊपर से ही जोर से दबा दिया और उनको मसलने लगा. बिहार के सेक्सी वीडियो फुल एचडीउसकी उछाल मारती चूचियों को मैं दोनों हाथों से दबा रहा था और वो अपने दोनों हाथों से अपने बाल पकड़ कर हाथ उचकाए हुए थी जिससे उसकी पोजीशन इतनी कामुक हो गई थी कि लंड झड़ने का नाम नहीं ले रहा था.

उस समय मेरा लंड पूरा तना हुआ था … और खून के उच्चतम संचार से फूला हुआ था. फिर भाई ने मुझे बेड पर बैठा कर अपना लंड मेरे होंठों पर रगड़ना शुरू किया.

फिर मैंने बिना रुके ताबड़तोड़ आठ दस धक्के पूरी ताकत से साली जी की चूत में और लगा दिए ताकि चूत अच्छे से खुल जाये. मेरे लिए बच्चों द्वारा अपनी मम्मियों को नंगी देखना कोई बड़ी बात नहीं थी. मैंने पूछा- क्यों?तो सामने से पायल की बड़ी बहन आंचल ने कोट उतार कर देने का इशारा किया.

रूम पर पहुँचकर मैंने स्नान किया और फिर मैं रोहिताश के रूम में जा पहुँचा!रोहिताश ने गले से लगाते हुए मेरा स्वागत किया. कुछ देर तक हम बस एक दूसरे की आंखों में देखते ही रहे, जैसे एक दूसरे की मन की बात समझने की कोशिश कर रहे हों. एक दिन मैंने उनसे कहा कि अगर आप और जल्दी स्मार्ट होना चाहते हो तो एक उपाय है.

स्नेहा भाभी को चोदा कैसे मैंने? चुत चुदाई की कहानी का अगला भाग आपके सामने कल पेश करूंगा.

और बातों ही बातों में मैंने उनको कह दिया कि मैंने हमारी बातें मेरी सहेली नज़मा को बता दी हैं. मैं- ईंट का भट्टा … मतलब वो जो हाइवे पर एक्सप्रेस ढाबा है, उसके बगल वाले रास्ते से?वो- हां हां वहीं से.

भाभी ने अन्दर जाकर चाय बनाने रखी और बाथरूम में कपड़े बदलने के लिए चली गईं. वो बोला- फिर?उसके पूछते ही मैंने उसको पकड़ कर अपनी ओर खींच कर उसके होंठों को जोर से चूम लिया. फिर बड़ी ही कातिल अदा से अपनी काली ब्रा निकाली और मेरी तरफ फेंक कर झटके से घूम गयी.

मैंने मॉडल्स को कॉस्ट्यूम्स बदलने को कहा, तो सभी मॉडल्स ने मेरे सामने ही कॉस्ट्यूम्स बदले. वो तब सेक्स के लिए गर्म भी हुई रहेगी तो सब हो जाएगा आराम से! और तुम भी उसे तैयार करना थोड़ा सा।तो मैंने जीजाजी के प्लान पर काम करना शुरू कर दिया. मेरा पूरा लन्ड उसकी लार से गीला हो चुका था! अब मैंने रोहिताश को पेट के बल लेटने को कहा और खुद उसके ऊपर जाकर उसकी गांड में लन्ड सटा दिया.

ब्लू फिल्म बीएफ एक्स एक्स एक्स वैसे जितना वो स्मार्ट था, मुझे कबसे उसके लंड देखने की तमन्ना थी, पर आज मानो वो तमन्ना पूरी होने को जा रही थी. उधर मैंने अपना लोअर निकाल कर देखा, तो लौड़े ने पैंट में उत्पात मचा रखा था.

rocky सेक्सी वीडियो

फिर वो तीनों खड़ी होकर अन्दर चली गईं और हम तीनों बियर पीने में मस्त हो गए. प्लेटफॉर्म की दीवार पर ही एक खिड़की लगी हुई थी वेंटिलेशन के लिए। पर उस खिड़की से घर के अंदर का भी सब दिखता था. अम्मी बोलीं- दूध पीना है मेरे शोना को?मैंने भी गर्दन हिला दी और अम्मी ने मेरा सर अपने मम्मों के बीच घुसेड़ दिया.

अब आगे की जीजा साली xxx कहानी:अब जीजू मुझे चारों तरफ से पकड़ने की कोशिश कर रहे थे और मैं इधर उधर हो रही थी. रोहित संजू की बुर को अपने हाथों से धो रहा था, जिसमें खून लगा हुआ था. सर्जिकल अबॉर्शन कैसे होता हैएक तो लौड़ा अंदर ठोकरें मार रहा था और फिर बाबूजी ने मेरे इतने अंदर लौड़ा पेल दिया कि मैं बता नहीं सकती। मुझे लगा कि कम से कम सात इंच लम्बा लौड़ा था उनका!वो मुझे चूतड़ तक नहीं उठाने दे रहे थे!‘आह!’ और जब लास्ट धक्का मारा तो मैं अपनी चीख रोक नहीं सकी और मुंह से आह निकल गयी.

तभी जीजू ने मुझे लिटाया और बोले- इतनी जल्दी कैसे चोद दूं साली साहिबा.

वो बोले- कोई बात नहीं, हमें उसके अलावा जो करना है वो तो कर ही सकते हैं. ये लम्हें बेशकीमती थे और न तो दोबारा दोहराये जाने थे … न ही वापिस मिलने के थे.

फिर मेहंदी वाली जाने लगी तो खुशी ने कहा- अच्छा सुनो अभी तुम क्या करोगी?जवाब मिला- कोई मेहंदी लगवाये तो ठीक है मैम. उन फिल्म वाली लड़कियों का मुंह में जो ढेर सारा वीर्य भर जाता वो भी इसको अच्छा लगता है. गिन्नी के चूतड़ों के नीचे तकिया रखकर मैंने गिन्नी की चूत ऊंची कर दी.

मैं- क्या हुआ?चित्रा- अविनाश का कॉल था, वो सभी सेंड बैंक ट्रिप पर जा रहे हैं, तो जल्दी से तैयार हो जाओ.

फिर वंश है ना मेरे साथ!मैं बोली- वंश है, वो तो ठीक है … मगर जीजू की वो कमी तो दूर नहीं कर सकता ना!उसने बोला- नहीं … वो मेरी हर कमी दूर करता है. थोड़ी देर मेरी चूत को सहलाने के बाद उसका धीरज टूट गया … और वो हल्का सा खड़ा हो कर मेरी चनिया को निकालने लगा. वो लोग दस मिनट तक ऐसे ही हरकतें करते रहे और बीच बीच में उंगली मेरी गांड के छेद में घुसाने की कोशिश करते.

rakhi सेक्सवसुंधरा की आवाज़ में वही ख़नक, वही ख़लिश और बिल्कुल वही सामने वाले पर छा जाने वाली लय, सब कुछ वैसा ही था … कुछ भी तो नहीं बदला था. मैं चाह कर भी सिसकारी नहीं ले सकी।उनका हाथ मेरे पेट की तरफ बढ़ रहा था और उन्होंने मेरी साड़ी उठा दी.

गाय भैंस की चुदाई

मैंने रुकैय्या की चूत के लब फैला कर अपना लण्ड पेल दिया और रुकैय्या की कमर पकड़ कर उसे चोदने लगा. यह टेबलेट दे रही हूँ, इसका पांच दिन का कोर्स होता है, मासिक के दसवें से पन्द्रहवें दिन तक एक टेबलेट रोज खाइये. और फिर खुद बेड पर लेट कर मुझे अपने ऊपर आने को कहा, मैं उनके ऊपर चढ़ गई, उनका लंड अपनी चूत में ले लिया और धक्के लगाने लगी.

मोनू फिर सीमा को बोला- तेरी फाड़ दें क्या?सीमा बोली- नहीं, अभी तो प्रियंका की फाड़ दो. मैं- तुम्हारी बुर खूब सहलाने के बाद तुम्हारी सलवार की डोरी खोलूंगा और उसे उतार दूंगा. वहां पर भैया ने डॉक्टर से पूछा- क्या हम अभी भी सेक्स कर सकते हैं?डॉक्टर बोली- हां कर सकते हो लेकिन पांचवे महीने तक ही कर सकते हो.

आपका अच्छा रेस्पॉन्स मिला, तो एक सेक्स कहानी और लिखूंगा कि जब वो जा रही थी, तब मैंने उसे छोड़ने जाने के बहाने एक होटल में ले जाकर कैसे चोदा और उसे गुडबाइ चुदाई कहा. लेकिन छोड़ने से पहले उसने मौका देखकर मम्मी की गांड को सबके सामने दबा दिया जिसे मैंने देख लिया था. दीप्ति की नजर मेरे लंड पर थी और मेरी नजर उसकी चूत से नहीं हट रही थी.

शायद शर्म का पर्दा भी बिना चूत में मेरे लण्ड के गए हुए फटता नहीं दिखाई दे रहा था मुझे। उनकी चूत पूरी गीली थी. मैंने कहा- ये जिनकी पार्टी हो रही है क्या आप उनकी रिश्तेदार हैं क्या?स्नेहा भाभी बोलीं- नहीं, मैं अपने पति के दोस्त की पार्टी में आई हूँ.

नहाने के बाद मैंने अपना बदन पौंछा और अपने पूरे जिस्म पर मस्त क्रीम लगाई.

यह बात सुनकर संजू को उस पर प्यार आ गया और वो उसके बालों पर हाथ फेरते हुए बोली- ऐसा नहीं कहते. सेक्स हिन्दी फिल्मउसकी उंगलियां अंधेरे में ऐसे घूम रही थीं कि मेरी चूत में चुदने से पहले ही पानी छूटने को हो गया था. तुम्हारे हवाले वतन साथियों पिक्चरहोटल के बेड ज्यादा बड़े नहीं थे फिर भी विशाल प्रिया को लेकर बेड पर ही चला गया. मैंने बोतल नहीं ली और कहा- मेमरानी … मैं कोई भी ड्रिंक अपने आप नहीं लेता … तू सिप ले और उसको मेरे मुंह में डाल दे … मैं तो कोल्ड ड्रिंक और दारु सब कुछ इसी तरीके से पीता हूँ.

इस सबसे उनके ससुर का लंड बिल्कुल टनटना गया और आसमान की ओर खड़ा हो कर सलामी देने लगा.

वो पूरा मन लगा लगा कर अपने पापा के लण्ड को चाट रही थी।कभी लण्ड के सुपारे को जीभ से रगड़ती और चूसने लगती। लण्ड के छेद को जीभ से छेड़ती। फिर लण्ड पर थूक कर अपने हाथों से मलती और फिर लण्ड को मुंह में भरकर चूसने लगती।रिया चूसते हुए बोली- डैड तुम्हारा लण्ड बहुत मस्त है। एकदम कड़क है. थोड़ी देर चूची चुसवाने के बाद आंटी मेरा कपड़े उतारने लगी।मेरा लौड़ा एकदम तनतनाया हुआ था। आंटी मेरे लंड को चूसने लगी. कसम से दोस्तो … उसकी चुत चाट कर हम दोनों का तो हाल ही खराब हो गया था.

जब मुझे मजा आया तो मैंने अपने दांत उनकी गर्दन पर और मेरे नाखून उनकी कमर पर गाड़ दिए।और मैं उनकी बांहों में ही सिमट गई. कमरे में ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’ ऐसी मादक सिसकारियां गूंज रही थी जो सिर्फ हमारे कानों को ही सुनाई दे रही थी। वे मेरी चूत में बहुत तेज तेज धक्के लगा रहे थे मैं भी खुलकर उनका साथ दे रही थी. इतने में स्नेहा भाभी मेरे करीब आईं और बोलीं- चलो … क्या देख रहे हो?मैं तो बस उनको ऊपर से नीचे तक देखने में ही लगा हुआ था.

स्कूल गर्ल सेक्सी व्हिडीओ

मैंने उसकी चूचियों से अपना हाथ हटाकर उसकी चूत पर रख दिया और सहलाने लगा. वहीं दूसरी तरफ पल्लवी ने अविनाश का लंड चूस चूस कर लोहे की रॉड जैसा कर दिया और फिर उस पर चढ़कर अपनी गांड मरवाने लगी. लेकिन तभी मेरे लन्ड के ऊपर मुझे जीभ फेरने का एहसास हुआ मानो कोई लन्ड को चाट रहा हो.

मैं भी वही कर रहा था जैसे वह मुझसे करा रही थी।काफी देर तक किस करने के बाद मुझे अलग हुई और पूछने लगी- समझ में आ गया कि किस कैसे किया जाता है?फिर उन्होंने अपना साड़ी का पल्लू मेरे हाथों में दे दिया और मैं उनका इशारा समझ गया.

फिर मैंने सोची कि चलो कोई बात नहीं, आज कुछ नए तरीके से ही चुद लूंगी.

आशा की चुदाई होते देखकर नीरा गीली हो चुकी थी अतः मेरा लण्ड आसानी से नीरा की चूत के अन्दर हो गया. दिखने में वो मेमसाब से दुगनी खूबसूरत थी, बस उस पर नौकरानी का ठप्पा लग रहा था. सेक्सी फिल्म वीडियो इंग्लिश मेंमैंने मार्केट से उपकरण लाकर दिया तो पता चला कि भाभी के पेट में बच्चा है.

फिर मैंने पाइप का एक सिरा थोड़ा गीला किया और भाभी की गांड में धीरे धीरे डालना चालू कर दिया लगभग 3 इंच अंदर चला गया होगा और और दूसरा सिरा नल की टोटी में लगा दिया।भाभी बोली- सचिन, क्या कर रहे हो? कुछ तो बताओ?मैंने भाभी की बात का कुछ जवाब नहीं दिया और नल चालू कर दिया. इसलिये लंड अब बड़े आराम से इतनी तंग चूत में भी फिसलता हुआ सा अंदर बाहर हो रहा था. शायद बसंती वहां पर खड़ी होकर मेरे बारे में ही सोच रही थी, जिस कारण उसकी आंखों में वासना के लाल डोरे पड़ गए थे।मैंने उसे आवाज दी। उसने मेरी आवाज को जैसे सुना ही नहीं.

कुछ सेकेंड्स तक मैंने भी उनकी आंखों से आंखें मिलाने की कोशिश की, पर जल्दी ही शर्म के मारे मैंने अपनी आंखें झुका लीं. राशि ने मेरी मंशा को भांपते हुए हैरानी से कहा- हैं?? पल्लवी दीदी यहाँ है क्या? साथ में कौन है! अविनाश या कोई और? पक्का पल्लवी ही होगी.

तब मैंने उसे उल्टा लेटा कर घोड़ी बना दिया व धीरे धीरे मेरी गर्लफ्रेंड की गान्ड में लंड डालने लगा.

अम्मी बोलीं- दूध पीना है मेरे शोना को?मैंने भी गर्दन हिला दी और अम्मी ने मेरा सर अपने मम्मों के बीच घुसेड़ दिया. मैंने झट से अंडरवियर सहित पैंट पहनी तुरंत उसके रूम से बाहर निकल आया. अब न तो विशाल और न रिंकी इस बात का बुरा मानते यदि सुनील रिंकी को हग कर लेता या कभी प्रिया को विशाल.

हिंदी सेक्सी वीडियो मराठी अब मैं उसी रास्ते से अन्दर दाखिल हो गया और उसके घर के पास पहुंच कर उसको फोन किया. अब मौसी मेरा सर अपने पैरों के बीच फंसा कर अपनी चूत पर दबाने लगी थीं.

प्रिया के गोरे गोरे मांसल मम्मे अब विशाल के हाथों की गिरफ्त में थे. फिर उसने मेरी टांग अपने कंधे पर राखी और एक झटके में लन्ड मेरी चूत में उतार दिया. अचानक भाभी की एक गहरी घुटी से चीख निकली और इधर मेरी योनि से पानी टपक गया.

मैं शराबी नहीं मुझको बोतल ना दो गाना

इस तरह हम एक दूसरे को काफी देर तक किस करते रहे। फिर वह मुझसे अलग हुई।हम दोनों की सांसें बहुत तेज चल रही थी. रमेश ने उससे एग्रीमेंट साइन करवा लिया जिसके मुताबिक रिया को रमेश का हर हुक्म मानना था. अब वो कैसी लगने लगी थी, इसका मुझे अंदाजा नहीं था, क्योंकि मैंने भी उसको एक साल से नहीं देखा था.

उसके बाद मयंक नहा धोकर फ्रेश होने के बाद सुबह की चाय पीकर अपने घर के लिए निकल गया. लंड को ऐसे मस्ती में चाटते हुए देखकर मुझे इतनी उत्तेजना हुई कि मैंने राशि को झटके से उठाया और उसे गोद में लेकर लंड उसकी चूत में घुसा दिया.

सर बोले- सेक्सी लग रही हो!मैंने कहा- मुझे शर्म आ रही है।अब तो रोज का ये काम हो गया … उनका मुझे घर छोड़ना … गले लग के बाय कहना।फिर उनका कॉल आया एक दिन- क्या कर रही हो मेघा?कुछ नहीं … बस आपको याद कर रही थी!”अच्छा जी?”हाँ सर … मन ही नहीं लगता आपके बिना अब!”अच्छा तुम तो कहती हो कि मुझे चूम लोगी.

जब भाई मेरे गालों को मुँह में भर कर ताबड़तोड़ चुंबन करता है … तो मैं मस्त हो जाती हूँ. उनकी सिसकारियों से मेरे अन्दर दुगनी ताकत आ रही थी और मैं उनको जोर जोर से झटके मारते हुए चोदने में लग गया था. फिर सुबह के आठ बजे तैयार होकर दीदी ने मुझे उठाया, तब मैंने अपनी बहन चित्रा का हाथ पकड़कर उन्हें अपनी ओर खींच लिया.

उसने बैठते ही खुद अपनी टांगें खोल दीं और खुद ही अपनी थोंग में हाथ डाल कर अपनी चूत में उंगली करने लगी. [emailprotected]कहानी का अगला भाग:दिल्ली के चोदू लड़के से गांड चुदवा ली-2. तभी बरसात की तेज फुहार फिर से बेडरूम की खिडकियों से आ टकराई और बादलों की तेज गड़गड़ाहट के साथ बिजली कौंध उठी.

चुदाई की कहानी का ये भाग आपको कैसा लगा, प्लीज़ कमेंट करके जरूर बताइएगा.

ब्लू फिल्म बीएफ एक्स एक्स एक्स: उसने आव देखा ना ताव, संजू का सर पकड़कर अपनी तरफ खींचते हुए अपनी जीभ निकालकर संजू के मुँह में प्रवेश करा दी. सीमांशी ने सहज होते हुए दोनों पैर खोल दिये मानो वासना के वशीभूत एक नारी एक मर्द को निमंत्रण दे रही हो कि आओ मुझे भोग लो मेरे शरीर को चरमसुख दो!रोहिताश यह सब देख रहा था उससे भी खुद पर काबू पाना मुश्किल हो रहा था!मैंने जीभ पूरी अंदर तक डालनी शुरू कर दी.

उन्होंने झट से आंचल से पूछा- ये कौन है?तो आंचल ने उनके कान में कुछ बताया, इस पर दादी मुस्कुरा उठीं. विशाल ने अब एक हाथ नीचे करके प्रिया की शॉर्ट्स के बटन खोल कर एक हाथ उसकी फुद्दी तक पहुँचाया और लगा उसकी मालिश करने. चाची को साड़ी बांधते हुए मैं काम वासना से ऐसे घूर रहा था … जैसे कोई भूखा शेर अपना शिकार देख रहा हो.

आप यू समझें कि उसके ब्लाउज से केवल उसके स्तनों के निप्पल ही ढके हुए थे.

मैंने फोन में आज सुबह जो जीजा जी और आलिया की वीडियो रिकॉर्ड की थी, वो देखने लगा और अपने लंड को सहलाने लगा. और यहाँ तक कि उन दोनों में ये भी बात हुई थी कि उन दोनों ने अपनी अपनी मम्मियों को नंगी देखा है. हर किसी का सपना होता है कि उसकी ज़िन्दगी में कोई लड़की ऐसी आये जो उसे हर सुख दे.