बीएफ सेक्सी चुदाई की वीडियो

छवि स्रोत,हिंदी सेक्सी पिक्चर वीडियो एचडी

तस्वीर का शीर्षक ,

गाय की सेक्सी पिक्चर: बीएफ सेक्सी चुदाई की वीडियो, उसने मुझे सीधा करके जोरों से ऐसे किस करना शुरू कर दिया, जैसे आज ही वो मेरे होंठों को खा ही जाने वाला हो.

ब्लू फिल्म वीडियो में सेक्सी दिखाएं

मैं- ब्रा!इस बार सही जवाब हुआ और दूसरी पहेली को मैंने पढ़ना शुरू किया. तेरी साकर मधु के सेक्सी वीडियोमेरा लंड भी उसकी चुत की गर्मी के आगे पिघल गया और मेरे लंड ने अपनी पिचकारी अलका की चुत में मार दी.

वो झुक कर अपना चेहरा मेरी चूत के पास ले गए और अपने हाथों से मेरे हाथों को हटाकर चूत को देखने लगे. க்ஸ்க்ஸ்க்ஸ் இந்தியன்बाबू अपनी एक उंगली को मेरी चूत में घुसाते हुए किसी एक जगह पर ले जाते, तो मैं चिहुँक जाती, वे उसी जगह पर सहलाने लगते.

! क्या करते उसके साथ रह कर?‌मैं- वही, जो आज शादी की रात को होने वाला है.बीएफ सेक्सी चुदाई की वीडियो: मैंने कहा- क्या हुआ … मेरी बात से बुरा लगा क्या?वो बोली- नहीं … मैं ये पूछ रही थी कि तुम्हारा ये हथियार अन्दर समय कितना लेता है.

मैगजीन का तो बहाना था, मैं तो आंटी को अपने लंड के दर्शन करवाना चाह रहा था.इस समय मेरी बहन, एक्स गर्लफ्रेंड और मेरी सेक्सी गर्लफ्रेंड तीनों चुद रही थीं.

भाई बहन वाला सेक्सी - बीएफ सेक्सी चुदाई की वीडियो

दीदी की गर्दन तरफ का हिस्सा ही बिस्तर पर था बाकी उसकी गांड और टांगें पूरी हवा में उठी हुई थीं … शायद दीदी काफ़ी गर्म हो गयी थी.वहां कोई नहीं था, तो वो मेरे रूम से बात करने की आवाज़ सुनकर मेरे रूम की तरफ आ गया.

कुछ सालों बाद अलका ने दूसरी शादी कर ली और उसके बाद उसने मुझसे सब सम्बन्ध तोड़ दिए. बीएफ सेक्सी चुदाई की वीडियो वो- क्यों … मुझमें कुछ कमी है क्या?मैं- नहीं नहीं … ऐसी बात नहीं … पर आप समझो, मैं जो बोल रही हूं.

तभी मेरे ऊपर चढ़ गईं और मैंने अपना खड़ा लंड दीदी की गांड में घुसा दिया.

बीएफ सेक्सी चुदाई की वीडियो?

प्रीति को ऊपर से नीचे तक बड़ी गौर से निहार रहा था और फिर प्रीति की चूत में अपनी 2 ऊंगली डालने लगा. उसकी आंखों में देखते हुए मैंने भी अपने कपड़े उतार दिए और पूरा नंगा हो गया. बाद में मैंने भी ऋतु के साथ सेक्स किया और छोटी के साथ भी चुत चुदाई का मजा लिया है.

मेरे दिमाग़ में उसकी बड़ी सी गांड, गोरा बदन … लंबी नाक, बड़ी बड़ी आंखें … बड़ा सा चेहरा … बड़ी बड़ी गोल गोल चुचियां … मोटे मोटे केले के तने जैसी जांघें … उसकी बुर के झांटों के काले घुंघराले बाल … ये सब मुझे पागल कर रहा था. हमने उन तीनों लड़कों से फिर से मिलने का वादा किया और वो फिर से हमारी चुदाई की बात कहने लगे. नीतू मेरी बांहों में बांहें ऐसे डाल कर चल रही थी, जैसे कोई पत्नी अपने पति के साथ चल रही हो.

मैं डर गयी कि इतना लम्बा और मोटा लंड मेरी गांड के छोटे से छेद में कैसे जायेगा! तभी रमेश ने अपनी जेब से मेरी ब्रा और पैंटी को निकाला और मेरे मुंह में ठूंस दिया. अब तक हम सब स्कूल बस से ही स्कूल आया करते थे, पर इसके बाद हम अपनी-अपनी लेडीज साइकलों से स्कूल आने लगे थे, इसलिए थोड़ा समय हम घूमने-फिरने या चाय कॉफी की पार्टी के लिए निकाल लेते थे. लंड को तेल से चिकना करने के बाद मैंने उसकी चुत पर भी तेल टपकाने को हुआ, फिर रुक गया.

ये सोचकर मैं जैसे ही फ्लैट पहुंचा, तो देखता हूँ कि दूध वाला रोहित भी अभी तुरंत दूध लेकर आया था. इतने में मैंने उनकी तरफ देखा और स्माइल के साथ हेलो बोलकर हाथ मिलाने के लिए आगे बढ़ाया तो उनमें से 1 लड़की ने हाथ मिलाकर हेलो बोला.

उस दिन भी मैं आफिस से जल्दी निकल गयी, पर रास्ते में अचानक हुई बारिश की वजह से मैं भीग गयी.

अब मेरे लंड ने भी अपना मुँह खोला और मैंने मिताली भाभी से पूछे बिना ही लंड का सारा पानी उनकी चूत में छोड़ दिया.

लेकिन मामी करवट लेकर सीधे होकर लेट गई।कुछ देर मैं ऐसे ही चुपचाप लेटा रहा. मैंने भी उसकी मदद कर दी, क्योंकि मैं खुद भी अब सारे बंधन से आजाद होना चाहती थी. आशा ने जीभ बाहर निकाल मुँह खोला, इतने में नीतू सामने आ गई और उसके मुँह के सामने मेरी मुठ मारने लगी.

यह मुझे मालूम ना था और उस टाइम जिओ था नहीं जिससे फ्री बातें हो सकें. बाप बेटी में संवाद भी चलता रहा और लंड चुत की घपाघप भी बदस्तूर जारी रही. यदि आपके पास भी ऐसी कुछ अलग सी घटना हो तो बेझिझक मुझसे संपर्क कर सकते हैं.

मैंने कहा- तो फिर अगर मैं तुम्हारे घर पर ही रहूं तो तुम्हें कोई दिक्कत तो नहीं होगी.

उसने तो मुझे पूरा ही नंगा कर दिया था … जब कि मैंने उसकी ब्रा और पेंटी नहीं उतारी थी. दीदी- राज आज मैं तुम्हारी गर्लफ्रेंड हूँ इसलिए तुम मुझे सिर्फ चित्रा कहकर बुलाना. क्यूं क्या हुआ?मैंने कहा- कुछ नहीं, आप उस दिन कह रहे थे कि आप भी इसी जिम में में जाते हो एक्सरसाइज़ करने के लिए.

इधर मैं सेक्स के नए नए पैतरों का जीवंत अहसास करते हुए आंखें मूंदे लेटी थी, उधर दीदी और मनु भी एक दूसरे के ऊपर उल्टे होकर एक दूसरे की चूत चाट रहे थे. बदले में वो भी मजे से गांड उठा उठा कर अपनी चूत को चुदवाने का आनंद ले रही थी. मैं भी संजू की गांड मरवाना और मारना चाहता था … इसलिए मैंने संजू के मुँह में लंड डाले ही 69 पोज में आकर संजू की चूत को चाटने लगा और उसकी क्लिट को जीभ से लपलपाने लगा.

मैंने पूछा- हम चारों में से तुम्हें किसका लंड पसंद आया है?जिया- क्यों?मैं- बताओ तो सही.

फिर हम दोनों ने 69 भी किया।हम दोनों एक दूसरे के यौन अंगों को खाने की कोशिश कर रहे थे।बातों ही बातों में उसने मुझसे कहा- मैंने कभी आपके जैसी भाभी की कल्पना नहीं की थी जो सेक्स से इतनी भरी हुई हो।फिर उसने मेरी चूत में अपना लंड डाल दिया और मुझे दबा कर चोदने लगा. अब क्योंकि मैं बहुत गर्म हो चुका था तो मैंने लन्ड उसकी गांड के छेद में टिकाया और धीरे धीरे दबाव डाल कर पूरा लन्ड उसकी गांड में उतार दिया.

बीएफ सेक्सी चुदाई की वीडियो काफी कसे और टाइट पिंक सलवार सूट में आंटी के बोबे बड़े खतरनाक नजर आ रहे थे. वो टॉयलेट सीट पर बैठ गयी और फिर बहाने से अपनी चूत धो ली और अंदर उंगली कर क राजन की निशानी को साफ़ किया.

बीएफ सेक्सी चुदाई की वीडियो मैं आपका दोस्त संजू आर्यन, एक बार फिर से एक नई और सच्ची चुदाई की कहानी के साथ हाजिर हूं. मैं आदी के रूम में ऐसी ही नंगी गई और उससे बोली- चलो तुम्हारा काम हो गया … जल्दी से अपने कपड़े उतारो.

कुछ देर रुकने के बाद हसन और रजत दोनों ही कमर हिलाने लगे, जो नियमित और मद्धिम गति का था.

आतंकी सेक्सी वीडियो

आखिर में मैंने उससे अपने दिल की बात कह ही दी कि मैं तुम्हें चोदना चाहता हूँ. मैंने जैसे ही आंटी की चूत पर प्यार से दाना खींचते हुए काटा, तो आंटी ने मेरी कमर को बहुत जोरों से दोनों हाथों से दबा लिया और मुँह से तेज ‘आआआ … ऊऊऊऊ…’ करते हुए अपनी चूत को मेरे मुँह में घुसेड़ने लगीं. वैसे दोस्तो, एक बात का ध्यान रखिएगा कि लेखक भी इंसान ही होता है, उसे हेय दृष्टि से देखकर अच्छे इंसान के दिल को ठेस पहुंचाना अच्छी बात नहीं है.

मामी ने भी अपना हाथ मेरे निकर के अंदर डाल दिया और मेरे लंड को अपने हाथों में पकड़ कर ऊपर नीचे करके उसे सहलाने लगी।मैं उनके कमीज के गले में से हाथ अन्दर डालकर ब्रा के ऊपर से ही उनकी चूचियों को मसलने लगा. उसकी मां ने कहा- तू भी जा रही है क्या? तू हां कहेगी, तो मैं तुम दोनों को जाने दे सकती हूँ. लेकिन उसकी कसमसाहट इतनी अधिक थी कि यदि मैं उसको जकड़े हुए न होता, तो वो मुझसे छूट जाती.

दोस्तो, मैं दीप मलिक, आज आपके पास अपने जीवन की सत्य घटना, जिसमें मैंने एक शादीशुदा चुदासी भाभी को चोदा, पर आधारित एक सेक्स कहानी को बताने आया हूं.

उसकी टांगें काँप रहीं थीं और मुझे भी अंदाजा हो गया था कि अब ज्यादा देर नहीं टिक पाऊँगा इसलिए मैंने ताबड़तोड़ धक्के देने शुरू कर दिए।रोजी के मुँह से मम्म्म उम्म्ह… अहह… हय… याह… आआह्ह ह्ह्ह की आवाजें निकलने लगीं थीं. ऐसे ही लगभग बीस मिनट और चुदाई के बाद पहले रजत ने अपने गाढ़े वीर्य से मेरी चूत को लबालब कर दिया, जो मेरी जंघाओं के मध्य बह गया. उसने पूछा- तुम लोग किस टाइम आते हो?मैंने कहा- हम तो शाम को आते हैं.

वो मेरे पिंक टोपे पर जीभ फेर फेर कर, उसे जीभ से चाट चाट कर, लंड के छेद के ऊपर अपनी जीभ लगा कर, जीभ से अपने थूक की एक लार बना कर फिर छेद को जीभ से रगड़ने लगी. मुझे बिल्कुल उम्मीद नहीं थी कि वो मेरे लंड को मुंह में लेकर चूसेगी. अब आगे:उन्होंने कहा- देखो मल्लिका मेरी बात का बुरा मत मानना … क्योंकि जो मेरे दिल में है … मैं बस वही कहना चाहता हूं.

आलिया बिना कुछ बोले जीजा जी के सामने घुटने के बल बैठकर जीजा जी के पेन्ट की चैन खोलकर लंड हाथ में लेकर चूसने लगी. वसुंधरा की टांगों ने मेरी पीठ पर कैंची सी कस ली थी और इस से मुझे अपना लिंग वसुंधरा की योनि में से वापिस खींचने में थोड़ी दिक़्क़त हो रही थी तदापि अभी तक तो मैं डटा ही हुआ था.

मैं अपने भैया के आगे आगे चल रही थी और इसी बीच भैया के मन में पता नहीं क्या आया कि उसने मुझे पीछे से पकड़ लिया. आपने अब तक की बाप बेटी की चुदाई की इस गंदी इन्सेस्ट सेक्स स्टोरी में पढ़ा कि मैं सीमा अपने बाप से चुद रही थी. जब हम दोनों की नजर पड़ी, तब आलिया घुटने के बल बैठकर जीजा जी का लंड चूस रही थी और जीजा जी आलिया के बाल पकड़कर अपनी आंखें बंद करके सीत्कार कर रहे थे.

[emailprotected]सेक्सी स्टोरी का अगला भाग:दोस्त की बीवी ने बहाने से चूत चुदाई-2.

”शाबाश!”और प्रोग्राम शुरू हो गया।अगले ही मिनट में एक लन्ड पिस्टन की तरह मेरे चूतड़ों के बीच में चल रहा था दूसरा मेरे मुंह में अंदर बाहर हो रहा था।मेरी दोनों जगह से चुदाई हो रही थी धकाधक … फचाफच!और ये सारी रात चला। चारों ने दो दो बार अपना माल मेरे अंदर झाड़ा।चारो लौंडों को मैंने चूसा भी और उनसे मरवाई भी।सुबह तक मेरा सारा शरीर दर्द कर रहा था।मैं चुपचाप घर आयी और सो गयी. पर वो अंग्रेज़ नहीं थे बल्कि अफ्रीका के काले काले सांड जैसे आदमी थे और वो भी हमें ही देख रहे थे।मैंने तन्वी को चिढ़ाते हुए कहा- कोई ताज्जुब की बात नहीं, जैसी तेरी शक्ल वैसी तेरी पसंद!और मैं और सोनम खिलखिला के हंसने लगे।तन्वी बोली- पागल … मैं उनकी शक्ल की तारीफ नहीं कर रही, तुझे पता हैं इनके लंड 8-10 इंच तक के होते हैं. कुछ देर में नीरज भी गर्म हो गया और वो लंड पर कंडोम लगाकर तैयार हो गया.

दोस्तो, कैसे हो आप सब? उम्मीद और भगवान से दुआ करता हूं कि आप सब ठीक होंगे और आगे भी ठीक रहेंगे. आपको यह नयी कहानी पसंद आई या नहीं, मुझे मेल करके जरूर बताएं कि आपको कहानी कैसी लगी.

और वैसे भी मेरी मदद की बिना तूअपनी बहन की चूतकैसे चोदेगा?फिर वो बैठ गया और सोचने लगा। मैं उसे अपने साथ वहीं ले गया जहाँ उस रात एक औरत की गांड चोदी थी।वहाँ कोई नहीं था, फिर मैं उसे और कहीं ले गया।वह जगह बहुत सुनसान थी। खैर किस्मत अच्छी थी। वहाँ हमें एक जवान लड़की मिल गयी। मैंने बात करके उसे बिठा लिया और उसी गोदाम में ले गया और वहाँ के चौकीदार को सौ रूपए दिए. मैं अपना पूरा लंड बाहर निकाल कर शालू की चुत में अन्दर तक डालने और निकालने लगा. मैंने मासूम बनते हुए कहा- क्या हुआ आंटी?वो बोलीं- हां तू तो कुछ जानता ही नहीं है … बहुत सीधा है.

ओपन सेक्सी व्हिडिओ महाराष्ट्र

उसके मुंह से सिसकारियां निकल रही थीं जिनको वो कंट्रोल करने की कोशिश कर रही थी.

एकाएक संजू उठी और उसने अपनी भाभी को दबंगों की तरह मेरे लंड से जबरदस्ती उठा कर अलग कर दिया. उसका सुपारा ही इतना मोटा और बड़ा दिख रहा था कि मैंने मन में सोचा … बाप रे ये क्या है … कोई लंड इतना बड़ा भी होता है. उसे रसोई का काम बहुत अच्छे से आता है क्योंकि पहले वो किसी बड़े अधिकारी की कोठी पर काम करती थी और वहीं रहती थी.

किसी के घर में जाता हूं तो मौका पाकर बाथरूम में टंगी ब्रा और पैंटी को सूंघने का मौका नहीं छोड़ता. गांड मरवाने की वजह से मेरी चाल लड़खड़ा रही थी, तो हमने जानबूझ कर सायकल को गिरा दिया और पैर पर थोड़ी मिट्टी मल ली, ताकि घर वालों को लड़खड़ाने का उचित कारण बता सकें. സെക്സ് ബ്ലൂवो भी बड़े मजे से चुसवा रही थी चूची अपनी … और बीच बीच में बोल रही थी- काटो मेरी चुचियों को मेरी जान! चूस डालो इनको!मैं भी मसल मसल के चूस रहा था चुचियाँ उसकी.

गांड चुदाई का नाम सुनते ही वो गुस्सा हो गई और बोली- अपनी हद में रहो. तो मैं रुक गया और मैं उसके ऊपर लेट कर उसे किस करने लगा और हाथ नीचे ले जाकर उसका नाड़ा खोल दिया।उठकर उसका पेटीकोट निकाल दिया अब वो सिर्फ लाल पैंटी में थी।अब मैं उसकी नाभि में किस करने लगा और धीरे धीरे पैंटी पर किस करने लगा।उसकी पैंटी काफी गीली हो चुकी थी। अब मैंने अपना हाथ आगे बढ़ा कर उसकी पैंटी भी खोल दी। अब वो पूरी नंगी हो चुकी थी; उसकी गोरी चूत मेरे सामने थी.

मेरी भी हवस बढ़ती जा रही थी तो मैंने जीन्स के ऊपर से उसका लंड पकड़ लिया जो सच में अच्छा खासा बड़ा था. दोस्तो, यह घटना आज से करीब 2 साल पहले की है, जब मेरी जेठानी जी यानि श्वेता भाभी प्रेग्नेंट थीं और उनका छठा महीना चल रहा था. बाद में मैंने ये सवाल दीदी से भी किया, तो पता चला कि कभी भैया भी दीदी के दीवाने रहे हैं.

संजू बोली- बहुत ही टेस्टी, थोड़ा सा नमकीन लगता है … और सबसे बढ़कर बात है कि इस वीर्य में बहुत सारे फायदेमंद तत्व होते हैं, जिसे पीने से महिला के चेहरे और शरीर में निखार आ जाता है. थोड़ी देर तक मैं प्रीति के जिस्म के साथ खेला और हम नंगे ही एक दूसरे के बांहों में बांहें डालकर सो गए. नीतू बोली- क्यों न आज हम लोग डिनर बाहर करें, यहां थोड़ी दूर ही एक बहुत अच्छा रेस्टोरेंट है … और उसमें बार भी है.

अब तनु बोली- यार, तुझे अगर यहाँ काम करना है तो उसके साथ सेक्स करना पड़ेगा.

अचानक मेरी नजर एक पेड़ के पास पड़े पत्थर पर पड़ी मैंने एकदम अपना लंड रोजी की चूत से निकाला तो पक्क की आवाज आई और हट गया।रोजी मुझे कुछ गुस्से और कुछ विनती की नज़रों से देखने लगी कि छोड़ क्यों दिया?मैं उस पत्थर पर पीठ लगाकर बैठ गया और रोजी को इशारा किया वो खिलखिलाती हुई मेरे पास आई और पेड़ की तरफ मुँह करके मेरे लंड पर अपनी चूत सेट करके बैठ गई।अब मेरे मुँह के सामने उसके गोर तने हुए दूध थे. जिससे प्रतीक्षा को भी मजा आने लगा और वो नीचे से अपनी कमर हिलाने लगी।तभी मैंने भी अपनी स्पीड बढ़ाई और अलग अलग पोजीशन में उसे करीब आधे घंटे तक लगातार चोदा.

मैंने बिना लंड निकाले, उसे अपने ऊपर लिया और अब वो मेरे ऊपर आ गई थी. ऐसे तो मैंने बहुत से लड़कियों के साथ मजा लिया है, किसी को चोदा है तो किसके साथ सिर्फ ऊपर ऊपर से हाथ सेंके हैं. अक्सर पति से बातों के दौरान ही मेरी चूत गीली हो जाती … और रही सही कसर अन्तर्वासना पूरी कर देता.

एक मेरी साथी लड़की भी आएगी मेरे साथ … वो वीडियो कैमरा लेकर आएगी … अगर अपने कुछ गड़बड़ काम किया तो वो सब कुछ रिकॉर्ड करके पुलिस में शिकायत कर देगी. हम कुछ बोल भी नहीं सकते थे क्योंकि अब उन चारों ये हमारे मुँह पर पट्टी बांध दी थी. उसने अपनी आंखें बंद कर रखी थी। मैंने उसके माथे पे किस किया, आंखों पे भी किया.

बीएफ सेक्सी चुदाई की वीडियो इस बीच विडियो कॉल, फोन कॉल आदि बहुत हो गए थे, पर मज़े की बात यह थी कि ‘आई लव यू’ किसी ने भी एक दूसरे को नहीं बोला था. लण्ड की तो पूछो मत … इस तरह अकड़ गया था कि लोहे का रॉड!सिल्क मेरे लण्ड से खेल रही थी तो कभी मेरे चूतड़ को दबा देती तो कभी कंधों पर उत्तेज़ना में दांत गड़ा देती.

सेक्सी विडीयो हिन्दी मे

भाभी बोलीं- यार तूने कहा था कि तेरे दूधवाले का बहुत बड़ा है … मुझे भी मिलवा दे उससे … अब तेरे भैया में पहले जैसा दम नहीं रहा. शायद यह उसका पेशा था, इसलिए हो सकता है कि वो सब इन बातों पर ध्यान न देता हो. अविनाश- राज तो हो जाएं शुरू?हम चारों ने ड्रावर से वायग्ररा की गोली लेकर अपने पार्टनर के हाथ खोल दिए और उनके ऊपर चढ़कर ठुकाई शुरू कर दी.

मेरा साइज देखने में ऐसा लगता है जैसे मैं खाते पीते घर की लुगाई हूँ. उस फोटो को देख कर ही मुझे अहसास हो गया था कि कोमल एक माल दिखने वाली आइटम है. कुछ नहीं सेक्सीउसका नाम प्रियंका था और वो दिखने में मेरी तरह ही एकदम दूध जैसी गोरी थी.

मेरी पिछली कहानीभाई बहन ने जन्मदिन का तोहफा दियाको बहुत सारे लोगों ने पसंद किया था उसके लिए सभी का खुले दिल और फ़टी चुत से धन्यवाद।हीही हीही हीहीलेकिन मैं अपने काम में इतना व्यस्त हो गयी थी कि मुझे नई कहानी लिखने का वक़्त ही नहीं मिला। बहुत लोगों ने मुझे नई कहानी लिखने को कहा था।वक़्त ही नहीं मिलता था मेरी पिछली कहानी लगभग एक साल पहले आयी थी.

मेरे सामने दीदी की मोटी जांघें बड़ी मादक दिख रही थीं … ऊपर से दीदी हद से ज्यादा गोरी भी थी … बाप रे बाप मैंने पहले ऐसा नहीं देखा था. मैं खेत में अपनी साड़ी कमर तक अपने हाथों उठाकर नीचे से नंगी खड़ी थी और एक औरत मेरे नाजुक अंगों से छेड़छाड़ कर रही थी.

और संजना ने मेरे पोते चाटने लगी।हालांकि प्रतीक्षा लंड चूसने में अनाड़ी थी और मेरे लंड के सुपारे को खोले बिना चूस रही थी जिससे उसकी जीभ मेरे लंड के छेद को रगड़ रही थी जिससे मुझे बहुत मजा आ रहा था. मैं निढाल होकर मेज पर झुक गयी और अपने हाथों को पीछे लेजाकर उसे रोकने लगी. प्लीज़ मेरी आपसे दरखास्त है कि सेक्स कहानी में हुई गलतियों को नजरअंदाज कर दीजिएगा.

उन्होंने मेरा हाथ अपने हाथ में लेते हुए बोलना शुरू किया- मैं तुमको पसंद करता हूं.

मेरी जगह सतीश ने सम्भाल ली, अब मेरा लंड सीमा के मुंह में था और सतीश का लौड़ा उसकी चूत फाड़ रहा था. हालांकि वो फोन उसे सिर्फ घर के लिए ही मिला था मगर वो कभी कभी उसे स्कूल भी ले आती थी. उसने मुँह बंद रखने का इशारा करते हुए कहा- शशश … अभी चुप रहो … स्कूल के बाद हम कॉफ़ी शॉप में जाएंगे, वहां मैं सब अच्छे से बताऊंगी.

हॉलीवुड के सेक्सी फिल्ममैं संजू की मनोदशा को समझ रहा था कि वो अपने स्खलन के अंतिम पड़ाव में है. मैंने सुहास से कहा- चलो हम फ्रेश हो जाते हैं … आज शाम की हमारी कैलीफोर्निया की फ्लाइट है.

विदेशी सेक्सी वीडियो सॉन्ग

वो थर्राते हुए बोली- आह धीरे से कीजिये ना … लग रहा है जैसे पेशाब निकल जाएगी. खाना खाने के बाद हमारे कहने के मुताबिक वो चारों टी-शर्ट और शॉर्ट पहनने के लिए कमरे में चली गईं. अक्सर पति से बातों के दौरान ही मेरी चूत गीली हो जाती … और रही सही कसर अन्तर्वासना पूरी कर देता.

जब हम दोनों दूसरे वाले रूम में पहुंचे, तो हम एक दूसरे को खूब किस करने लगे. उन्होंने मेरा मुँह लेकर लंड पर टिका दिया और बोले- चल कुतिया … लॉलीपॉप चूस ले. रात लगभग दस बजे उसका मैसेज आया- हाय क्या कर रहे हो?मैंने जवाब दिया- आपका इंतजार कर रहा हूँ, आज आप कुछ बताने वाली थी ना!फिर उसका मैसेज आया कि अच्छा हां … तो बताओ कहां से शुरू करें?मैंने भी लिखा कि आपकी जहां से मर्जी हो, वहां से बता दो.

वो बड़बड़ाने लगी- आह्ह … आ रही हूं, और जोर से … आह्ह चोदो, पूरा घुसा दो. मैं- वो तब मन नहीं था … लेकिन तुम लोगों को देखकर हमें भी ड्रिंक्स करने का मन हो गया. फिर प्रीति की गांड पर हाथ फेरते फेरते मैंने उसकी चूत में हाथ डाल दिया.

फिर मैं तेरे होंठ से होंठ लगाऊंगा और तू शैम्पेन मेरे मुंह में टपका दियो. एक बात और … एक दूसरे के बदन को अच्छे से देखा मतलब … चुदाई … बहुत सारा सम्भोग और प्यार किया.

रेड लिंगरी स्टाइल ब्रा पेंटी में परमीत को देखकर सभी के लंड में भयानक तनाव आ गया.

मैं अभी तक झड़ा नहीं था … तो मैंने भाभी को पेट के बल लेटे रहने दिया और उनके पेट के नीचे दो तकिये लगा कर उनकी गांड को ऊपर को उठा दिया. ब्लू पिक ब्लू सेक्सीउसने फ्रेंची उतार दी और उसके लंगोट के अगल-बगल उसकी गोरी जांघों से निकल रहे झाँटों के बीच में तने अपने लौड़े को लंगोट समेत ही वो मेरे होंठों पर धकेलने लगा. 50 साल की लड़की की सेक्सीलंड को कभी कभी उसकी गांड से छुआ देता हूँ।मेरे कुछ बिना पूछे ही अब वो और बताने लगा- एक बार वो टीवी का रिमोट मेरे से छुपा रही थी, मैंने उससे छीनने के लिए उसे पीछे से पकड़ लिया. उसके मुँह से चोदता है शब्द सुनकर … और विक्की की ये बात सुन कर मुझे थोड़ा अजीब लगा.

मीना का डंका रीजनल ऑफिस तक बज गया था … रवीना आ चुकी थी … मीना का अमेरिका का प्रोग्राम बन गया था 15 दिनों के बाद जाने का.

आह्ह आह्हः आ आ आ आ!!”दर्द की एक लकीर उसके चेहरे पे साफ नज़र आने लगी. मेरे मन में अभी भी अजीब उधेड़बुन चल रहा था … जैसे कि क्या ये जो कुछ हो रहा है, वो सही है! मुझे जेठजी को रोकना चाहिए या नहीं … और इसके बाद क्या होगा?दोस्तो, यहां मैं आप सबको एक बात बताना चाहूंगी कि मेरे पति और श्वेता भाभी के बीच भी शारीरिक संबंध थे और ये बात मेरे पति ने मुझे शादी से पहले ही बता दिया था. मुझे पोर्न देखने से ज्यादा मजा कहानी पढ़ने में आता है। वहां पर मैं सबसे ज्यादा इंडियन बीवी की चुदाई की कहानियां, बेचारा पति टॉपिक पर कहानियाँ पढ़ती हूँ.

मेरे अंडकोष जैसे फटने को तैयार थे, पर अलका की पकड़ मेरे लंड की जड़ पर इतनी मजबूत थी कि मेरा लावा बाहर नहीं आ सकता था. पांच-सात मिनट तक उसकी गांड को चोदने के बाद मैं भी झड़ने के कगार पर पहुंच गया. मैं उनके मम्मों को देख रहा था, ये बात रूमानी ने नोटिस कर ली, वो इस बात पर गुस्सा हो गयी.

सेक्सी अंग्रेजी विडियो

उन्होंने खुद से मेरे पल्लू को ठीक किया और कहा- बर्तन यहीं रख दो, कल ले जाना. तो मैंने हाथ जोड़ कर कहा- नमस्ते भाभी, कैसी हो आप?वो भी खुल कर मुस्कुरा दी- अरे नमस्ते भाई साहब, आज आपको हमारी याद कैसे आ गई?मैंने कहा- कल शीराज के फोन आया था कि उसकी बदली मुंबई की हो गई है, तो उसने मुझे हेल्प के लिए कहा था।वो मुस्कुराती हुई आगे चल पड़ी और बोली- ओह हो … तो आप आये हैं मेरी हेल्प करने!मैं उसको जाते हुये देख रहा था. दीदी ने नीचे उतर कर घुटने के बल बैठकर मेरे लंड को मुँह में ले लिया और लंड चूसने लगीं.

उसने फिर से पैरों को सिकोड़ने की कोशिश की, तो मैंने उसके पैरों के बीच आकर खुद को फंसा दिया और उसकी चूत पर अपनी जीभ रख दी.

होटल पहुँचते ही उसने पहले तो कमरे कि गंदगी को देख कर मुँह बिचकाया और होटल वाले को दस गाली दीं.

दीदी अकड़ने लगीं और गालियां भी बकने लगीं, जो अब तक की चुदाई में पहली बार हो रहा था. वहां पर रास्ते में जाते हुए मेरी चूत में पेशाब लगी तो मैंने भैया को रुकने के लिए कहा था और वहां पर मेरे भैया ने मेरी और दिव्या की चूत चोदी थी. सेक्सी व्हिडीओ रोमान्सखुले आसमान के नीचे हम दोनों दोस्त नंगी होकर नदी किनारे ऐसे चुद रही थी कि जैसे कोई ब्लू फिल्म चल रही हो.

मैंने अपने बगल में पड़े एक डण्डे को उठाया कि तब तक वो लड़की मेरे करीब आ चुकी थी. नंगी चूचियों वाली औरत सिर्फ पैटीकोट में खड़ी हुई किसी कामदेवी के जैसी प्रतीत हो रही थी. मैंने आव देखा ना ताव … खिड़की का पर्दा हल्का सा साईड कर अन्दर झांक कर देखने लगा, तो देखा संजना अभी भी वैसी ही संजी-संवरी तैयार थी.

मैंने अपनी सलहज की आंखों में कामुकता से देखा, तो वो मुझे मादकता से देख कर मुस्कुराते हुए बोली- क्यों मेहमान का माल कैसा लगा?अब आगे:मैंने कोई जवाब नहीं दिया और उसके होंठों को अपने मुँह से खाने लगा. उसको देखकर मैंने सरीना को बूब्स पकड़कर उसके होंठो से अपने होंठ चिपका दिए.

मैंने हमेशा देखा है कि घर में जो छोटा बच्चा होता है, उसे सब छोटा ही समझते हैं चाहे वो कितना भी बड़ा क्यों न हो जाये.

मेरी पिछली सेक्स कहानीकॉल ब्वॉय के साथ बितायी पूरी रातमें आपने पढ़ा कि मैंने अपने पति के बाहर जाते ही एक बढ़िया कॉलब्वॉय सुहास के साथ पूरी रात चुदाई की और फिर फ्लाइट लेकर उसके साथ कैलीफोर्निया आ गई मौज मस्ती करने!अब आगे:वहां एयरपोर्ट पर हमें होटल की कार लेने आ गयी थी. मैं- कहां पर मिलोगी?वो बोली- डीबी मॉल के सामने 11:00 बजे आकर मुझे कॉल कर लेना, मैं वहीं मिलूंगी. मेरी सलहज अपने होंठों से मेरा गर्दन चूसने लगी तथा अपने हाथों से मेरे बाल सहलाने लगी.

सूअर के सेक्सी वीडियो उसने रवीना के कुंवारेपन की तो मां चोद दी थी पर उसे गर्भवती बनाने का रिस्क वो नहीं लेना चाहता था. हमने नंबर एक्सचेंज किये, अगले स्टॉप पर वो उतर गया।पर मेरी वो हालत कर गया था कि पूरी रास्ते मेरी टांगें कांप रही थी।आगे की कहानियों से जल्द ही रूबरू करूँगी आपको। तब तक के लिए विदा, खुदा हाफिज।दोस्ती, कैसी लगी आपको ये कहानी? अपनी प्रतिक्रिया दें.

उसने कहा- मैडम हमारे पास सिगरेट नहीं है, आप अपनी सहेली से कहिये ना सिगरेट के लिए. अगले कुछ पलों के बाद मेरी सुहानी मेरी नीचे नंगी लेटी थी और मैं नंगा, उसके ऊपर चढ़ कर चुत में लंड डालने वाला था. वैसे हम करीब सात कपल साथ थे, जिसमें सबसे ज्यादा मुझे अलीना पसंद थी.

मोटा मोटा लंड सेक्सी

उसने राजन की शॉर्ट्स नीचे कर उसका लंड खूब चूसा और फिर वो स्टीयरिंग की ओर पीठ कर के उसके लंड पर बैठ गयी और लंड अपनी चूत में कर लिया. सिर्फ हम दो प्यार करने वाले … और कुछ नहीं बस।मेरी सास ने मेरा लंड पकड़ा और अपनी फुद्दी पर रख लिया।मैंने फिर से लंड पेला. मैं आपको बता देना चाहता हूँ कि मैं हरियाणा का रहने वाला हूं और यह सेक्स कहानी मेरे जीवन की मस्त कहानी है.

इतना कह कर उसने रवि की सिगरेट से एक सुट्टा मारा और छल्ले छोड़ती हुई रसोई में चली गयी. मेरे लिए हसन का मोटा लंबा मूसल जैसा लंड चूत में लेना भी दर्द पीड़ा का भोग करने जैसा था.

मैंने उन दोनों की बारी-बारी से चुदाई की और तीनों पूरी तरह से थककर एक दूसरे के बदन से चिपककर सो गए.

हालांकि प्रिविलेज कुणाल का था, पर रवि को भी बहती गंगा में हाथ धोने का मौका मिल रहा था. अब ममता भी सीत्कारों के साथ बकवास भी कर रही थी- फाड़ दो मेनेजर साहब … आज निकाल दो सारी कसर … ऐसा माल लखनऊ में नहीं मिलेगा. मनु की चूत मे जाने वाला डिल्डो मोटा था, इसलिए उसकी चीख और दर्द भी ज्यादा थी.

इसमें से ज्यादातर से बस बात होती थी या घूमना फिरना, शॉपिंग वगैरह ये सब ही होता था. ”चल बैठ!” और मुझे बाइक पे बिठा के वो मेरे पीछे बैठ गया।बाइक चल पड़ी और पीछे वाले ने मेरी चूचियाँ पकड़ ली और दबाने लगा।भाई, आज तो मस्त चीज़ हाथ लगी है. मैंने पूछा- पापा के लिए?उसने कहा- पापा के लिए कुछ हल्का फुल्का ले आना.

इनमें से एक लड़की ने शुरुआत की और फिर इसके ही माध्यम से इसकी पक्की दो सहेलियां भी मिलीं.

बीएफ सेक्सी चुदाई की वीडियो: तो दोस्तो, कैसी लगी आपको इतनी कहानी।क्या हुआ उसके बाद? जानने के लिए और अपना लंड खड़ा करने और चूत गीली करने के लिए अगले भाग का इंतज़ार कीजिये।[emailprotected]. मैं जानती थी कि संदीप से मेरा बिछड़ना तय है, तब भी मैं उसे दिल से चाहती थी, जबकि परमीत का संबंध सिर्फ लंड चूत वाला था और मनु का संबंध भी शारीरिक ही लगता था.

उस दिन बारिश हो रही थी और मेरे तीनों अंडरवियर गीले थे, तो मैं बिना अंडरवियर के ढीला सा नेकर पहने हुए लेटा था. मेरी इस सेक्स कहानी के पहले भागमेरी पहली चुदाई पड़ोस की भाभी के संग-1में आपने पढ़ा कि मेरी पड़ोसन मिताली भाभी का दिल मेरे ऊपर आ गया था और भाभी मुझसे चुदाई करने के लिए उतावली हो रही थी. मैं- वो तब मन नहीं था … लेकिन तुम लोगों को देखकर हमें भी ड्रिंक्स करने का मन हो गया.

उसकी चूत मैं चाटने ही वाला था कि उसने फिर से धक्का दे दिया और बोली- बड़े मतलबी हो? मेरी कोई फ़िक्र नहीं … केवल खुद ही मजा लोगे?मैं समझ गया; मैंने पैंट से अपना लंड निकाला और हम 69 की पोजीशन में आ गए.

मैंने उसकी तरफ देखा और अपने मन की बात को आंखों से कहने की कोशिश करने लगा. मतलब इस घटना के 5-6 दिन पहले से घर में सिर्फ मैं और मेरे जेठजी ही थे. चूंकि पार्टी तो संजय की थी, इसलिए उसकी बात को टाला भी नहीं जा सकता था.