भाभी देवर की बीएफ वीडियो

छवि स्रोत,दवाई की बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

हिंदी मूवी सेक्सी गाना: भाभी देवर की बीएफ वीडियो, आज मैं जेठजी की हर इच्छा को पूरी करने को तैयार थी और उन्हें अपने हुस्न के जादू में फंसा लेना चाहती थी.

ब्लू मूवी भेजो

उसने अपनी बुर की फांकों को पकड़ कर खोला और मैंने लंड को बुर पर रख कर तेज धक्का दे मारा. बीएफ सेक्सी राजस्थानी हिंदी मेंमैंने अपनी मम्मी से बोला- मैं आज रात को यहीं रुकूंगा और कल सुबह घर आ जाऊंगा.

कुछ सालों से भाबी की चुत की ज्यादा चुदाई नहीं हुई थी इसलिए उसकी चुत लंड लेने के लिए लप-लप करती रहती थी. बीएफ सेक्स वालाकभी विजय ने सरिता को गोद में लेकर खिलाया, तो कभी भाभी के मुँह में मुँह डाल कर खिलाया.

कुछ समय बाद अनिकेत करवट बदलने लगा, तो मुझे अन्वेषी भाभी के पीछे लेटना पड़ा और रुकना पड़ा.भाभी देवर की बीएफ वीडियो: चूसते चूसते मेरे हाथ उसकी कमर से होते हुए उसके टॉप के किनारों को पकड़ कर ऊपर उठते चले गए और मैंने उसके टॉप को निकाल फेंका.

वो पूरा हफ्ता मैंने आकृति आंटी को रिट्ज को चोदने का सपना दिखाया और बड़े जोश से आंटी को चोदता रहा.उस समय मैं और मेरा ब्वॉयफ्रेंड हम दोनों ही जवानी कि मस्ती में मदहोश थे, हमें पता तक नहीं चला कि कब इसने मेरी तस्वीरें ले लीं.

फिल्मी बीएफ - भाभी देवर की बीएफ वीडियो

इन कामुक और रसभरी सेक्स कहानी को पढ़ कर मैं बहुत गर्म हो जाता हूँ और मुठ मारकर अपना जोश ठंडा कर लेता हूँ.अबकी बार न जाने क्यों मुझे ऐसा लग रहा था कि मेरे जिस्म के साथ वो बाजू वाला खेल रहा था, मेरा ब्वॉयफ्रेंड नहीं.

जब उसे अहसास हुआ कि मेरा हाथ कहां पर है, तो उसने मुझे और मालिश करने से मना कर दिया. भाभी देवर की बीएफ वीडियो मेरे ब्वॉयफ्रेंड ने मुझे मूवी के वॉशरूम में ब्रा और पैंटी को खोल कर आने को बोला.

सरिता ने कुछ नहीं कहा, तो सोनू ने अपना लंड सरिता की गांड में पेल दिया.

भाभी देवर की बीएफ वीडियो?

फिर आपा ने मेरी बीवी को फ़ोन लगाया और इधर उधर की बात करके उससे सीधे सुहागरात की बात पूछ डाली. मेरी जिंदगी की पहली चुदाई पूरी हो चुकी थी मगर अभी तो शुरुआत थी, अभी तो सारी रात बाकी थी. सत्यम मेरे सर को पकड़े और अपनी आंख बंद करके मेरे मुँह से अपने लंड की गोटियों को चूसे जाने का मजा ले रहा था.

हुआ ऐसा था कि दिल दिल ही मेरी किराएदार भाभी मुझे पसंद करने लगी थीं, जिसकी मुझे थोड़ी सी भी भनक नहीं थी. तब तक मेरे होठों से होते हुए मेरे गाल और गले को चूमता हुआ मेरे चूचियों के बीच की गहराई तक पहुंचा जिसमें मुंह डालकर सागर बेतहाशा चूमने व चाटने लगा।अब सागर धीरे धीरे मेरी शर्ट का बटन खोलने लगा. कमल के अंदर आते ही वो उससे चिपक गयी और बोली कि नींद नहीं आ रही थी बिना तुमसे चुदे.

मैंने कहा- क्यों तुम्हें क्या लगता है क्या मैं किसी काम का नहीं हूँ. फिर वह दिन भी जल्दी आ गया, जिस दिन हम दोनों सात फेरों के बंधन में बंधे. चूत की मालकिनें और लंड के मालिकों आप सब अपना सामान पकड़ कर ध्यान से सेक्स कहानी को पढ़ें और मजा आए तो मुठ मारने से पहले मेल जरूर कर दें.

आज ये मेरे लिए सबसे ज्यादा खुशी का दिन था, जो मैं राज़ से चुद रही थी. भाभी टब से बाहर आ गईं और मुझे भी खींचकर बाहर निकाल कर बोलने लगीं- कोई और दिन गांड की चुदाई कर लेंगे.

जैसे ही मैंने उसकी जींस खोलने लगा, उसने मुझे रोक दिया और आगे बढ़ने से मना कर दिया.

वो लड़की मुझसे बात तो करती थी … लेकिन उसने साफ मना कर दिया था कि हम कभी लवर नहीं बन सकते हैं, बस अच्छे दोस्त बन सकते हैं.

विजय ने भाभी के दूध दबाए और कहा- ताकत तो दूध पीने से आती है मेरी जान पहले दूध ही पिला दो. चूंकि मैं एक सेल्स एग्ज़िक्युटिव हूँ और मुझे अक्सर घर से बाहर जाना पड़ता है. मैं धकापेल चुदाई में लग गया और उसके साथ लगभग 20 मिनट तक ताबड़तोड़ चुदाई का खेल किया.

मैं सत्यम के मुँह की तरफ पीठ करके लंड पर बैठी थी और वो मेरे दोनों चूतड़ों को पकड़ कर उठा उठा कर मेरी चूत को चबूतरा बनाने लगा. मैंने चुदाई के बाद उसे अपनी गोद में लिटाया और अपनी कसम देकर उससे पूछा- बता न राज ने तेरे साथ कुछ किया था क्या?इस बार वो एकदम से बोल पड़ी- मैं उससे बहुत प्यार करती थी और हमने मंदिर में शादी भी कर ली थी, पर वो धोखा देकर चला गया था और उसने अपनी शादी कर ली थी. आप सभी पाठकों से भी इल्तजा है कि आप सभी मेरी पल्लवी के लिए दुआ करें कि मुझे मेरी पल्लवी जल्द मिल जाए.

सारा ने बैठ कर लकी का लंड चूस कर एक दो बूँद जो पेशाब की बची थीं वो भी गटक लीं.

फिर आंखें बंद करके चंचल की ब्रा पैंटी को लंड पर लपेट लिया और मस्ती से लंड की मुठ मारने लगा. ओमी अंकल मुझे देख कर बोले कि तुम तो 8 बजे बोल रही थीं … और यहां तो साढ़े सात बजे से इतनी भीड़ हो रखी है. फिर पीयूष ने अपना लौड़ा शीना के मुँह से निकाल लिया और अब वो अपनी बहा की चुत की फांकों पर घिसने लगा.

उसने मेरे लंड को चूस चूस कर लाल कर दिया और मुझसे कहने लगी- क्यों मजा आ रहा है या नहीं!मैंने कहा- मेरी जान, इतना मजा आज तक नहीं आया. अपनी जीभ निकाल कर मैं उसके घुटनों से लेकर उसकी चूत के नज़दीक तक जीभ फिराने लगा। मेरे इस तरह करने से वो कामुक आवाज़ें निकालने लगी।उसने अपने हाथों से मेरे सिर को पकड़ा और चूत की तरफ खींचने लगी।मैं जानबूझकर उसको सता रहा था।छोटी अब कंट्रोल से बाहर हो चुकी थी। उसने मुझे बेड पर लेटने को बोला।मैं बैड पर लेट गया. ओमी अंकल मुझे देख कर बोले कि तुम तो 8 बजे बोल रही थीं … और यहां तो साढ़े सात बजे से इतनी भीड़ हो रखी है.

सिर्फ कमल ही चोदेगा उसे!कमल ने अपना माल सारा की चूत में निकाल दिया.

लंड देख कर बहन भाई से बोली- भाई, आपका इतना बड़ा लंड मेरे मुँह में नहीं आएगा. उफ्फ वो सीन आज भी याद आ जाता है तो मुठ मारे बिना रह ही नहीं पाता हूँ.

भाभी देवर की बीएफ वीडियो अगर कुछ कमी रह जाये तो नजरअंदाज करना।दोस्तो, ये मेरी आंखों देखी कहानी है. साथ ही उसकी चड्डी को भी मैं नीचे ले आया था और उसकी जांघों से अलग करके उतार दिया.

भाभी देवर की बीएफ वीडियो मुझे भी काफी दिन बाद लंड चूसने को मिला था तो मैं भी पूरी तन्मयता से लंड चूस रही थी. मेरी कामुकता सेक्स स्टोरी मेरे कॉलेज के स्टाफ के एक लड़के के साथ चुदाई की शुरुआत की है.

बस तभी वो मेरे ऊपर आ गया और पहली बार हम दोनों के नंगे बदन एक दूसरे से टकरा गए.

भाभी वीडियो सेक्सी

मैंने प्रिया को बिस्तर पर लिटा लिया और टीशर्ट के ऊपर से उसके स्तनों को दबाने लगा. मैं और मंजू बाथरूम से साफ़ होकर निकले और देखने चले गए कि रमेश क्या कर रहा है. उसकी चूत बहुत टाइट थी जिसकी वजह से मेरे लंड को चूत के अंदर एक सुकून भरी पकड़ मिल रही थी.

आपको लड़की की अन्तर्वासना कहानी कैसी लगी इस बारे में आप अपने कमेंट्स में लिखें. मामी ने मेरे लंड को हाथ में पकड़ा और अपनी चूत के द्वार पर लगा लिया. मैं डर रहा था कि दीदी कहीं एकदम से गुस्सा न हो जाये लेकिन वो शायद गर्म हो चुकी थी और चाहती थी कि मैं उनके दूध पर मसाज करूं।मसाज करते हुए मैंने अब दूध को दबाना शुरू किया।दीदी अब भी चुपचाप लेटी हुई मसाज करवा रही थी।5 मिनट बाद मैं कसकर दीदी के दूध दबाने लगा.

मैं थोड़ी देर ऐसे ही उनको चोदता रहा, फिर मैंने उनको आगे पलटा दिया और उनके मम्मे पीते हुए उनको चोदने लगा.

दोस्तो, सेक्सी लेडी पोर्न स्टोरी के अगले भाग में मैं आपको रिट्ज की चुत चुदाई की कहानी लिखूंगा. तभी ज़रीना ने आसिफा को अलग हटा दिया और वो खुद मेरे लंड के ऊपर आ गयी. मैंने उसकी बात मान ली और उसे चुदाई की पोजीशन में लिटा कर उसकी चूत पर लंड सैट कर दिया.

अचानक से मामी पूछ पड़ी- अपनी शादी में तो बुलायेगा ना मुझे?मैं उनके सवाल पर हंसने लगा और बोला- कैसी बात कर रही हो मामी, आपको नहीं बुलाऊंगा तो किसे बुलाऊंगा?फिर हम यहां वहां की बातें करने लगे. मैंने उसकी चूचियां दबाई और फिर उसको अपनी तरफ घुमाकर उसे किस करने लगा. अब लकी के जाने के बाद सारा कमल से ऐसे चुदी कि वो लकी से चुद रही हो.

कुछ देर बाद मैंने उसको उल्टा किया और उसके मुँह में अपना लौड़ा दे दिया. मैं बाथरूम के अन्दर अकेला था, पूरी तरह से नंगा … मेरा बदन पूरी तरह से ढीला हो चुका था.

भाभी टब से बाहर आ गईं और मुझे भी खींचकर बाहर निकाल कर बोलने लगीं- कोई और दिन गांड की चुदाई कर लेंगे. बिल्कुल काला लंबा और मोटा लंड देख मुझे थोड़ा डर लगा कि इतना मोटा लंड मैं सह पाऊंगी या नहीं. मैं उनके ऊपर चढ़ गई और उनके लंड को अपनी चुत में लेकर गांड उछालने लगी.

इस आसन में मैं ज्यादा देर नहीं टिक पाई और मेरी चूत ने अपना पानी छोड़ दिया.

शेखर अपनी बीवी की संगमरमरी जांघों को चाटने के बाद उसकी चूत पर अपनी जीभ फेरने लगा. नैना के बारे में सोच सोचकर मेरे लिंग महाराज भी तोपों की सलामी दे रहे थे. मेरी चूत में जलन हो रही थी लेकिन समीर नहीं रुक रहा था।मैं उसको पीछे धकेलना चाह रही थी।वो चोदते हुए बोला- साली, जब लंड लेने का मन कर रहा था तब नहीं सोचा कि दर्द भी होगा चुदने में? आज मैं तेरी चूत को फाड़ता रहूंगा। मैं तेरी चूत की प्यास मिटा दूंगा।ये बोलकर वो फिर से चोदने लगा.

अंकल ने मुझे किचन कि स्लैब पर झुका कर घोड़ी बना दिया और ताबड़तोड़ गांड मारने लगे. उसने दोनों हाथों की मुट्ठी भींच ली और तभी उसकी चूत से गर्म गर्म लावा बह निकला जो मुझे मेरे लंड पर महसूस हुआ।मैंने अचानक से अपना लण्ड उसकी चूत से निकाला और अपना मुख उसके गर्म-गर्म लावे पर लगा दिया.

सेक्स के लिए मैं भी पागल हो चुकी थी जब से मैंने जवानी में कदम रखा था, जब से मेरे बदन में बदलाव आना शुरू हुआ था … तब से सेक्स के प्रति मेरी कामना बढ़ती जा रही थी. आज जो भी मैं आपके साथ शेयर करने जा रही हूँ, वो मेरे साथ दस साल पहले हुआ था. लंड मेरे हलक तक जाने की वजह से मेरे मुँह से बहता हुआ थूक सत्यम के लंड से होकर उसकी गोलियों से टपक रहा था.

लैंड बढ़ने का उपाय

उसके आते ही मैंने उसको दबोच लिया और उसकी चुचियों को ब्लाउज के ऊपर से ही जोर जोर से दबाने लगा.

उसको मैंने इसी तरह से लगभग 15 मिनट तक चोदा।जब दोनों झड़ने वाले हुए तो मैंने पूछा- कहां निकालना है?तो वह बोली अंदर ही निकाल दो, अब तो हर रोज चुदाई होनी है. वो हाथ पांव मारने लगीं, तो मुझे ध्यान आया कि लंड सारा का सारा मुँह में है, तो मैंने थोड़ा सा लंड बाहर निकाला और फिर से अन्दर को एक स्ट्रोक मारा. मैंने कहा- तो बोलने में मां चुद रही थी?मेरी गाली सुनकर वो भो बोली- साले चुदुर चुदुर मत कर काम कर … फ़ालतू में समय खराब मत कर.

रात को नौ बजे जेठजी घर आते हैं, तो मैंने जेठजी को मैसेज किया कि जल्दी घर आइए … मैं आपका इंतज़ार कर रही हूँ. तभी मैं भी मजा आने से सिसकारने लगा क्योंकि ऐसा मेरी जिन्दगी में पहली बार मजा आ रहा था. बूढ़ी औरतों की चुदाईपहली बार मुझे दीदी के चूचे नंगे देखने को मिले।एकदम से मेरा लंड फनफना उठा.

पंजाबी चूत की कहानी में पढ़ें कि अपनी सलहज को मैंने पैसों का सहारा दिया. मैं एक हाथ से उनके एक दूध को दबाता और दूसरे वाले दूध को मुँह से लगा कर पीने लगा.

मैंने कहा- मुझे पता है, पर जो चीज पसंद आई है पहले उसकी सेवा तो पूरी कर लेने दो. अब दीदी को मज़ा आने लग गया था तो मैंने उनके मुँह से अपना लंड निकाल दिया. शायद इसका एक ही सबब था कि वो मेरे लंड की परफ़ॉर्मेंस से बड़ी खुश थीं.

वो मुझसे लंड चुसवाते हुए एक बार फिर से मुझे चोदने के लिए खेलने लगे. जब मम्मी की सहेलियां भी सत्यम से चुदने आती थीं, तो मैं उनके साथ शामिल नहीं होती थी. दूसरे दिन जब अनीषा मैडम वापस आई, तो मैंने उससे यास्मीन के साथ शादी की बात की.

मैं उसकी इस बात से बेहद खुश हो गई थी इसलिए मैं हंस कर बोली- ठीक है, इकबाल के रूम पर मिल.

तभी मैंने देखा कि सामने वाली भाभी ने भी मेरे पैरों को अपने पैरों से रगड़ना शुरू कर दिया. दोस्तो, जब सत्यम ने मेरे ब्लाउज के बटन खोल दिए; तब मैंने भी अपने स्तनों पर उसके हाथ के ऊपर ही अपने हाथ रख दिए और आंखें बंद करके अपने हाथों से उसका हाथ थाम कर मैं खुद ही अपने मम्मों को ज़ोर से दबवाने लगी.

कमल ने वैसलीन लगा कर सारा की चूत में घुसे लकी के लंड के बराबर से ही अपना लंड भी पेल दिया. लंड चुत में पेलने के बाद उसने मुझे मेरी गांड से पकड़ कर उठाना और बिठाना शुरू कर दिया था. करीबन दोपहर के तीन बजे सरिता भाभी ने डोरबेल बजाई, तो विजय तुरन्त उठ गया.

मेरी आंखों के सामने अब उनकी घुटने से नीचे की नंगी और चिकनी टांगें साफ़ दिखाई देने लगी थीं जो अब मुझे और ज़्यादा कामवासना में लीन करने लगी थीं. उन्हें मैं खाना खिला दूंगी और खाने के बाद हम दोनों जब कमरे में आएं, तुम मेरे कमरे में चली जाना. मुझे लगा कि ये शायद इनसे गलती से हो गया होगा … या इन्हें मालूम ही नहीं होगा कि इधर से मेन स्विच खोलना होता है.

भाभी देवर की बीएफ वीडियो मैं धीरे से उनके मम्मों की नोकों को अपने होंठों के बीच दबा कर अच्छे से खींचते हुए मजा लेने लगा. मैं जब अपना लंड उसकी चुत में डालने लगा, तो मुझे बिल्कुल कुंवारी चुत का अहसास हुआ.

औरत सेक्सी फिल्म

आपा ने भी मेरे लोवर मैं हाथ डालकर मेरा लंड पकड़ लिया और उसे हिलाने लगी. उनके लंड पर अपना हाथ फिरा आ रही थी और उनके लंड की लंबाई और मोटाई को महसूस करके लज्जत महसूस कर रही थी. जब उसका बुखार ठीक हुआ तो इस बार उसी मैरिज हॉल में ही उसने मिलने का प्लान बनाया.

ये देसी आंटी सेक्स कहानी मेरे पड़ोस में रहने वाली नेपाली आंटी और मेरे बीच घटी एक सच्ची घटना है. मैंने अपना लौड़ा पूरा उसके मुँह में अन्दर डाल दिया और वहीं झड़ गया. मराठी साडीवाली बाईमैं स्टूल से जब नीचे देखता तो मुझे आंटी की छाती के किसी महल नुमा गुम्बद की तरह उनके गोरे दूध एकदम साफ दिख जाते.

मैं और रिट्ज सबसे पीछे वाली सीट पर जा बैठे और बस में अंधेरे का फायदा उठा कर रिट्ज मेरी गोद में मेरे सीने लग कर बैठ गयी.

मैंने भाभी को बेड पर लुढ़का दिया और उन पर चढ़ कर उन्हें किस करना जारी रखा. फिर जैसे ही भाबी की नजर इस पर पड़ी तो उसको घुड़सवारी का मौका दे दिया.

मैंने छटपटाते हुए सत्यम का सिर आगे कर लिया और उसके बालों को खींच कर अपनी चूत में पूरा घुसाने लगी. साले कॉलेज के लौंडे थे भैन के लौड़े … फुच्छ फुच्छ करके निकल गए … मेरी चुत की झांट भी टेड़ी नहीं कर पाए. मेरे दिमाग में बस वो ही घूम रही थी और मुझे लग रहा था कि काश वह मुझे मिल जाए और मैं उसकी चुत चाटने में लग जाऊं.

यह बात उसने अपने दोस्त सोनू को भी बताई और सोनू भी उसका साथ देने को तैयार हो गया.

फिर उसने मेरी कमर पकड़ कर मुझे गोल गोल घुमाया और मेरी गांड पर 4 से 6 थप्पड़ मारे. पहली बार मुझे दीदी के चूचे नंगे देखने को मिले।एकदम से मेरा लंड फनफना उठा. अब जल्दी से चोद दो भाई!मैंने कहा- थोड़ा रुको, तेरी चुत चोदने में अभी मैं कुछ टाइम लूंगा.

बीएफ सेक्सी वीडियो जंगल कीमैंने उन्हें बाइक पर बैठने का इशारा किया तो वो गांड उचका कर वो मेरे पीछे बैठ गई थीं. साली ने अपने ब्वॉयफ्रेंड से चुदाई के समय अपने मम्मे खूब मिंजवाए होंगे.

सुपर सेक्सी हिंदी वीडियो

अब कुसुम ने बोलना शुरू किया- देखो रोहन … जो हम लोग आज करने वाले थे, वो एक तरह का पाप है. वो खुश होती हुई बोली- अरे वाह … चलो देखते हैं कि आज हमारा ये प्लेबॉय हमें कितने मज़े दे पाता है. अब रॉय मेरी गांड में जीभ डाल कर गांड चाट रहा था और फिरंगी जॉन मेरी टांगें चौड़ी करके मेरी चूत चाट रहा था.

शॉर्ट के अन्दर अंडरवियर नहीं पहनी क्योंकि मैं चाहता था कि आज मैं उसे अपना खड़ा लंड दिखा सकूं. वो बोली- राज तुम मेरी तरफ खिसक जाओ।अब मेरी हिम्मत धीरे धीरे बढ़ने लगी थी। मैंने उसकी नाईटी ऊपर करके उसकी जांघों पर हाथ फेरना शुरू कर दिया।उसे भी मज़ा आने लगा था, उसने अपनी टांगें मेरी कमर पर लपेट दी।मैं समझ गया कि उसकी तरफ से हां है।मैंने उसकी नाईटी में अपना हाथ डाल दिया उसके बूब्स मसलने लगा. मैंने रात में एक दोस्त से सुबह बाइक मांग ली और आंटी के साथ जाने के लिए तैयार हो गया.

उसने मुझसे दोस्ती इसलिए नहीं की थी कि वो मुझसे प्यार करता था, बल्कि उसने मुझसे दोस्ती केवल अपनी चुदाई की भूख मिटाने के लिए की थी और मुझे भी यही तो चाहिए था. नासिर जी दुआ देते हुए बोले- सभी बहनें तेरे जैसी हों तो किसी भाई को कभी कष्ट ही न हो. वो दोनों एक दूसरे के होंठों को चूसने लगे और अपनी अपनी जुबान से एक दूसरे को चाटने लगे और लार चूसने लगे थे.

इस सेक्स कहानी में अगले दिन से सरिता भाभी को रोज चुत चुदाई के लिए एक लंड मिल गया था. चाची हाँफते हुए बोली- आह्ह … हमराज … तेरा लंड तो बहुत मजे देता है रे … मैं तो तेरे लंड की कायल हो गयी.

फिर हम दोनों वैसे ही पड़े रहे, दोनों को बहुत खुशी थी क्योंकि दोनों को आज जन्नत का मज़ा मिला।हम दोनों एक साथ बाथरूम गये और मैं उसको गोद में लेकर वापस आया।उस रात हमने 4 बार चुदाई की.

बड़ी बड़ी चुचियां, गोल गोल बाहर को निकलते हुए चूतड़, पतली कमर, गोरा रंग … बड़ी मस्त माल लगने लगी थी मैं!सुरेश और मैं कभी कभी स्कूल से तालाब पर चले जाया करते थे. मां बेटे के साथ बीएफजेठजी ने मेरी चूत को अपनी जीभ से चोदते हुए अपने दोनों हाथों को ऊपर कर दिए और मेरे दोनों स्तनों को पकड़ लिया. पिक्चर सेक्सी बीएफमगर मैं इस बात से थोड़ा परहेज रखती हूँ कि मुझे कोई भी और देखे। आप तो जानते हैं कि सब मर्द खूबसूरत औरतों के कहाँ कहाँ देखते हैं. अभी उसकीचुत की सील तोड़नाबाकी है, अगली बार उसकी चुत चुदाई की कहानी लिखूँगा.

एकाएक सत्यम के सांसें उखड़ने लगीं और उसकी रफ्तार नियमित गति से दुगनी हो गयी.

एक मिनट बाद मैंने सीमा की नाइटी के ऊपर से ही उसकी एक चूची को मुँह में भर दिया और जोर जोर से खींचते हुए चूसने लगा. मैं सुहैला के बग़ल में लेट कर उसके एक मम्मे को चूस रहा था और दूसरे को अपने हाथ से दबाने लगा. वो चुत सहलाती हुई बोली- और कोई कामना?मैंने कहा कि हां मैडम एक राउंड तो पूरा हो गया.

दो ही मिनट में जेठजी का लंड पूरी तरह सख्त होकर खड़ा हो गया था और उनका सुपारा पूरी तरह नंगा होकर मेरे चेहरे के सामने अपनी मर्दानगी का परिचय दे रहा था. मैं बाहर आया, तो आज भी पूजा बाहर खड़ी थी; वो मुझे अजीब सी नजरों से देखने लगी. मैंने उसकी टी-शर्ट उतार दी और उसके दोनों बूब्स को बारी बारी से चूसने लगा और काटने लगा.

सेक्स वीडियो hindi

अगर आप अभी भी कुंवारी होतीं तो इस उम्र में भी मैं निश्चित ही आपसे शादी करके आपको अपनी बीवी बना लेता. उन्होंने पूछा- तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड है क्या?तो मैंने कहा- नहीं आंटी. उस पर चढ़ने से पहले मैंने डाइनिंग टेबल से आइसक्रीम की कोन उठा ली और उसकी चुत पर लगा दी.

वो बोली- रमेश, तुम्हारा लंड बहुत बड़ा है और मोटा भी … इसलिए मुझे दिक्कत हो रही है.

वो बार बार रोहन के हाथों को अपने हाथों से पकड़ कर खींचती और इशारे से कहती कि अपना लंड बाहर निकाल ले.

इधर जेठजी मेरी चूत को उंगलियों से फैलाते और उधर अपने लंड को जोर जोर से मेरी चूत के अन्दर बाहर करके चोदे जा रहे थे. इस अचानक हुए हमले के कारण भाभी दर्द से चिल्ला उठी- हाय मेरी गांड से निकालो अपनी उंगली … आह मेरी गांड से बाहर निकालो. नंगे पिक्चर नंगेकोरोना लॉकडाउन में मुझे चूत की जरूरत हुई तो मेरी दोस्त ने अपनी सहेली से मिलवाया.

फिर जैसे जैसे हालात सामान्य होते गये तो हमारा रिश्ता भी कमजोर पड़ने लगा. भाभी की मदमस्त जवानी को नंगी देख कर विजय ने झट से अपना पजामा खोला और अपना लंड बाहर निकाल लिया. मैं उठा और उसकी छाती पर बैठ गया और लन्ड को उसके होंठों पर रगड़ने लगा.

फिर मैंने उसकी चूत में उगली दे दी और जाकिरा अपनी चूत में भी उंगली करने लगी. मैं नीचे बैठ गया और भाभी की गदराई हुई गोरी और मोटी जांघों को देखकर एकदम से गर्मा गया.

फिर इंटरवल के बाद मेरा ब्वॉयफ्रेंड आ गया और कुछ देर बाद अन्धेरा होते ही उसने मेरे साथ फिर से वही सब किया.

इस तरह से आंटी ने मुझे बातों बातों में इशारा दे दिया- वो चुदने के लिए तैयार हैं. मैं गर्म होकर उसके पैंट पर हाथ ले गई तो नवाब ने मेरा एक हाथ अपनी जींस में डाल दिया. मुझे तो यकीन ही नहीं हो रहा था कि मामी के पेट से मेरा बच्चा निकला है.

चीनी ब्लू फिल्म मुझे सेक्स का चस्का लग गया था नया नया मजा था और इस अनुभव को मैं अभी और अच्छे से महसूस करना चाहता था. काफी दिनों बाद मैंनेमेरी पत्नी की चूतको अपने माल से सराबोर कर दिया था.

फिर मैंने बिल्कुल भी देर ना करते हुए उसको दूसरी तरफ घुमाया और उसका ब्लाउज खोल दिया. मैंने कहा- मुझे पता है, पर जो चीज पसंद आई है पहले उसकी सेवा तो पूरी कर लेने दो. भाबी ने अपना चिकना हाथ बाथरूम से निकला और साथ में अपने गोरी जांघ भी बाहर कर दी.

कश्मीरी लड़की

वो कहती थी कि राज अब तो कैसे भी करो, लेकिन मुझे चोद दो, मेरे भोसड़े को चूसो. जेठजी ने अपने दोनों बड़े बड़े हाथों की उंगलियों से मेरे बाएं स्तन के निचले हिस्से को चारों तरफ से घेरा बना कर जोर से निचोड़ दिया, जिससे मेरा स्तन ऊपर की ओर उभर गया. उन्होंने मेरा हाथ अपने हाथ में ले लिया और मुझसे कहने लगे- मैं आपके लिए कुछ भी करने के लिए तैयार हूं, बस आप मेरा पूरी जिंदगी साथ देने का वादा कर दीजिए.

उसने जैसे ही मेरी अंडरवियर निकाली, उसके चहरे पर अजीब सी ख़ुशी नजर आने लगी. मैंने उनकी तरफ देखा तो मामी ने कहा- ये नहीं … अपना स्पेशल इंजेक्शन लगा दो.

मैं आहिस्ता आहिस्ता चलते हुए कोमल के पास आ गया और अपने दोनों हाथों से उसके दोनों कंधों को पकड़ कर थाम लिया.

मैं लपक कर पहुंच गया क्योंकि मैं खुद ही किसी ऐसे ही मौके की तलाश में था. मैंने उसके गाल पर एक प्यार भरा चुम्बन दिया और उठ कर उसके लिए कॉफ़ी बना लाया. पीयूष बोला- मेरे लौड़े को हाथ में लेकर कैसा लगा?शीना बोली- बहुत अच्छा.

ये वही पल था, जिसमें कुसुम अन्दर आकर अपने बेटे के बारे में सोच कर अपनीचुत में उंगलीकर रही थी. मैं उसकी चूत में माल नहीं गिराना चाहता था लेकिन वो क्षण इतना मजेदार था कि मैंने चूत से लंड निकालने के बारे में सोचा भी नहीं. हॉट देसी न्यूड लड़की की कहानी में पढ़ें कि मैं अपने यार के साथ सिनेमा हाल में सेक्सी हरकतें कर रही थी.

काफी दिनों बाद मैंनेमेरी पत्नी की चूतको अपने माल से सराबोर कर दिया था.

भाभी देवर की बीएफ वीडियो: इस पर पलट कर मैंने जवाब में सारी क्लास के सामने उसके गाल को खूब जोर से काट लिया और होंठों का किस भी कर लिया. आंटी ने मेरे लम्बे और मोटे लंड को देख कर हैरानी जताई तो मैंने भी उनकी चूचियां दबा दीं.

लड़कियों की जानकारी के लिए बता दूं कि मेरे लंड का साइज 8 इंच है और ये काफी मोटा भी है. बड़ा नमकीन स्वाद था मेरी बहन की चूत का!मैं उसकी चूत का रस पीने में लगा हुआ था. वो मेरी चूचियां देखता हुआ बोला- हां चलिए दीदी … आपका काम अभी कर देता हूं.

मैंने उसकी चूत में उंगली चलानी शुरू कर दी और वो मेरे लंड को हाथ से सहलाने लगी.

मामा ने अपना पजामा खोला और उसको जांघों तक नीचे करके मीनू के ऊपर लेट गये. आपको अपनी सेक्सी फैमिली हिंदी स्टोरी बताने से पहले मैं आपको अपने बारे में बता देता हूं. क्या मेरा हक नहीं है कि मैं तुम्हारी चूत और गांड का रस पी सकूं!पूजा ने कहा- चल ठीक है … पीछे भी चाट ले.