मराठी बीएफ एक्स

छवि स्रोत,देशी सेक्सी ऑंटी

तस्वीर का शीर्षक ,

हिंदी बीएफ एचडी फुल एचडी: मराठी बीएफ एक्स, नींद में भी चाची आह्ह्हज आह्ह्ज करके आवाज कर रही थीं और बोल रही थीं- सो जा मादरचोद सो जा … और मुझे भी सोने दे.

ब्लू सेक्सी मूवी भोजपुरी

ऐसा लग रहा था कि वो अभी अभी ही नहा कर कमरे में आई थीं और अपने भिगाए हुए बालों से मेरे मुँह पर पानी छिटक रही थीं. ओपन सेक्सी बीपी चुदाईमैं आपको बताती हूँ कि कैसे मेरी यह गैंग बैंग सेक्स फंतासी एक पार्टी में पूरी हुई.

वो बोलीं- इतनी जल्दी गांड की बारी आ गई!मैंने कहा- हां जी, अब मैं आपकी गांड मारूंगा. नंगा सेक्सी चित्रफिर उसने मेरे सूट के अन्दर हाथ डाला और मेरी चूची के दाने को ब्रा के ऊपर से ही सहलाने लगा.

आपको मेरी ये हॉट Xxx गर्ल चुदाई कहानी कैसी लगी, मुझे मेल करके जरूर बताएं.मराठी बीएफ एक्स: फिर पन्द्रह मिनट की दमदार चूत चुदाई के बाद मैं ऐसे ही झड़ गया और वह भी मेरे साथ ही झड़ गई.

मैं अपने दोनों हाथों से कामिनी के दोनों मम्मों को पकड़ कर उनका रस पीने में और मसलने लग गया था.घड़ी पर टाइम देखो, आंख पर पट्टी बांधो, अपने घुटने मोड़कर छाती की तरफ ले जाकर पकड़ लो … और हमारा इंतजार करो.

हिंदी देहाती सेक्सी फिल्में - मराठी बीएफ एक्स

उन्होंने भी मुझे बांहों में भर लिया और ऐसे ही चुत में लंड डाले, कब नींद आ गई, कुछ पता ही नहीं चला.उसने मेरी चूत की फांकें अपने दोनों हाथों की उंगलियों से अलग की।बॉस, ये तो पहले से गीली है, कुछ करने की जरूरत नहीं, चलो सीधा चोदते हैं.

उन्होंने पीछे मुड़कर देखा और कहा- बेटा तुम?अनुज ने कहा- हां सेक्सी आंटी … मैं!आंटी ने मुझे घूरकर देखा और कहा- यह क्या है … मुझे रंडी समझा हुआ है क्या?मैंने कहा- आंटी, मैंने इससे डील की थी कि अगर मैं इसे आपकी चूत दिलवा दूँगा, तो यह कॉलेज के गुंडों से आपके बेटे की सेफ्टी करेगा. मराठी बीएफ एक्स मेरे लौड़े के ठंडा होने पर जैसे ही लंड बाहर आया … पक्क जैसी चूत से आवाज आई और उसकी चूत से मेरे लौड़े से निकला लावा बहने लगा.

तभी अंकल मेरे पास आए और उन्होंने मुझसे कहा कि शाम 7:00 बजे लेडीज संगीत शुरू हो जाएगा और रात को 1:00 बजे तक चलेगा.

मराठी बीएफ एक्स?

अब मैंने सीधे भाभी को अपनी बांहों में ले लिया और उनके होंठों पर किस करने लगा. मैं उसके पास गया तो अयाना बोली- मेरी गोद में बैठो!जब मैं उसकी गोद में बैठने लगा तो उसने अपना डिल्डो मेरी गान्ड मे एडजस्ट किया और मुझे अपने बच्चे की तरह हग करते हुए प्यार से बोली- आ जा मेरा बच्चा!मैं आराम से बैठा था कि डिल्डो पूरा अन्दर ना जाए, पूरा वजन नहीं रखा था. ऐसा उसने इसलिए किया ताकि किसी को पता न चले कि हम लोग घर के अन्दर थे.

अचानक मेरी श्रीमती जी ने मुझसे कहा- पड़ोस वाले वर्मा जी के यहां पर बिजली चली गई है. फिर मैंने अपने दोनों हाथों से उनकी चूत को खोला और जीभ को नुकीला करके अन्दर डाल दी. दस मिनट तक चूत चटवाने का आनन्द लेने के बाद अचानक से मुझे अपनी चूत से कुछ गर्म-गर्म सा लावा बाहर निकलता हुआ महसूस हुआ.

’‘अब मैं तुम्हारी चूत को अपनी जीभ से चाट रहा हूं, तुम्हारी चूत एकदम गीली हो गयी है. उसमें लंड जितना दम नजर नहीं आ रहा था लेकिन मैं फिल्म के कारण उन्ह आह करती हुई मजे ले रही थी. भाभी चाय लेकर आईं, मेरी फटी पड़ी थी … क्योंकि मेरा पूरा माल सलवार पर लगा था और भाभी उसी क़ुर्सी पर बैठी थीं.

उसके बाद दीदी ने कहा- संडे को मम्मी पापा और मेरा भाई बाहर जा रहे हैं. चाची बोलीं- कोई बात नहीं, लेकिन तुम्हारे ना बोलने से मेरा मन तो दुख हुआ है.

मैंने धीरे से चाची की टी-शर्ट उतार दी और जो नज़ारा देखा, वो आज भी मुझे भी याद है.

हम दोनों के अन्दर आग लगी थी जबकि हमें चुदाई का कोई मौका नहीं मिल पा रहा था.

अब भाभी मुझे अपनी पत्नी की तरह लगती हैं, इसलिए मैं भाभी की हर जरूरत को पूरा करने की कोशिश करता हूँ ताकि भाभी मुझे हमेशा अपनी चूत चोदने को देती रहें. मेरे पति ने मेरी ब्रा खोल दी और मैंने शर्मा कर अपने मम्मों पर हाथ रख दिया. मैं बोली- सच बोलूं तो शुरूआत में सब ठीक था, पावर भी सही था लेकिन …ननद बोली- लेकिन क्या भाभी?मैं बोली- वो मुझे ठंडी नहीं कर पाए.

मैं हाम्फ़ने लगा था।आंटी ने अपनी चूची मेरे मुंह में डाल दी।हम अलग हुए तो अलमारी भी गीली हो गई थी. इसके लिए मैंने सब सोच लिया था कि प्रिया ख़ुद पूरी तरह से खुलकर मुझसे चुदेगी … वो भी पूरी रात. उन्होंने मुझे बिस्तर पर लिटा दिया और किस करते हुए कपड़ों के ऊपर से ही मम्मे दबाने लगे.

मैडम को थोड़ा आराम मिलने के बाद मैंने फिर से एक जोरदार झटका दे दिया.

नाइटी पर दुपट्टा भी नहीं होता है, इसलिए मुझे मजेदार सीन दिख रहा था. मैं तुम्हारे चाचा को राजी कर लूंगी और बाहर जाने के लिए उन्हें मना लूंगी. इस वक्त मेरा लंड पूरा खड़ा हो गया था और जब नीलिमा मेरी गोद में बैठी, तो उसकी गांड में चुभने लगा.

फिर धीरे से धक्का मारा तो मैडम की मां चुद गई और उसकी चीख निकलने लगी. उसके बाद मैंने उनकी गांड मारने के लिए उन्हें कैसे पटाया, वो मैं आपको अगली सेक्स कहानी में लिखूंगा. इन पैसों से मेरी पढ़ाई तो जारी रहेगी लेकिन क्या मैं अपनी वासना की आग बुझाने के लिए यह सब करके ठीक कर रही हूँ?आप Xxx कॉलेज स्टूडेंट सेक्स कहानी पर अपनी राय जरूर मेल करें.

वो मेरी पीठ के ऊपर धौल मारकर चिपक गईं और हाथ आगे करके मेरे पेट के ऊपर बांध दिए.

मुझे पहले ऐसा कभी नहीं लगता था लेकिन उस समय मुझे लगा कि हां मुझे अपनी चाची से प्यार हो गया है. भाभी- पजामा उतार अपना!मैं ड्रामा करने लगा- नहीं भाभी प्लीज नहीं … मेरी इज्जत से मत खेलो.

मराठी बीएफ एक्स मेरे दोस्त की प्रेयसी पानी से निकली मछली की तरह छटपटा रही थी; वो चुदने को बेताब हो रही थी।मैंने अब उसकी टॉप को खोल दिया और अपना पैंट भी उतार दिया।वो ब्रा पैंटी में बहुत हॉट दिख रही थी।मैंने तब उसकी ब्रा को खोला और फिर पैंटी भी उतार दिया।हम दोनों अब पूरे नंगे हो गए थे।मैं अब सोनी के ऊपर आ गया और उसकी चूत में लण्ड का मुंड रगड़ने लगा. आपको ऐसा क्यों लगा?उन्होंने कहा- 2 साल पहले तक ऐसा कुछ नहीं था। पर अब तुमने तो अपने खड़े हुए तंबू के बारे में भी कुछ नहीं बताया.

मराठी बीएफ एक्स मैं भी उनका साथ देने लगी और अपना हाथ अंकल के कच्छे में डालकर अंकल के लोड़े की टोपी को धीमे धीमे सहलाने लगी. एक दिन मैं रात को 11 बजे बाथरूम गया, तो मैंने भैया और भाभी की आवाज सुनी.

चाचा बाहर मस्त ठंडी हवा के मजे ले रहे हैं … और मैं आपकी जवानी के मजा ले रहा हूँ.

करीना कपूर कि सेक्सी

मैं बहुत बेताबी से भाबी को किस कर रहा था और साथ में उनके मम्मों को मसल भी रहा था. एक बार मुझे चाची की गांड मारने की इच्छा हुई, पर वो मान नहीं रही थीं. जैसे ही उसने मेरे लौड़े पर अपनी चूत को रखा, मेरा लौड़ा उसकी टाइट चूत को चीरता हुआ अन्दर तक चला गया.

वो मादक सीकार करने लगी- आअह … हह … हह … उऊईई!उसकी मीठी कसक भरी आवाज़ कमरे में गूँज रही थी. इस आसन को ज्यादा देर तक नहीं कर सकते थे, मुझे अपने भी डिस्चार्ज होने का डर था. मैं बुरी तरह सहम गया कि क्या होने वाला है; और मैं छटपटाने लगा।थोड़ी देर चूमने चाटने के बाद अयाना अपने रूम में चली गई और दो मिनट बाद आई.

फिर मेरा रस निकलने वाला था तो मैंने उनके सर को कसके पकड़ लिया और मैं लंड उनके गले तक ठूंस कर उनके मुँह में ही झड़ गया.

घड़ी में पता नहीं कितना टाइम हुआ था लेकिन मैंने खिड़की की तरफ एक आंख ऊंची करके देखा तो खिड़की के परदे के नीचे से सूरज की बहुत कम रोशनी आ रही थी. उन दोनों के जाते ही मैं भी होटल से बाहर आ गया और उन दोनों का पीछा करने लगा. मैंने एक दूध चूसते हुए पूछा- जीजा जी इतने दिन थे कि क्या आपने उनका नहीं लिया?दीदी बोलीं- अभी उनकी बात नहीं करो.

उस वक्त प्रिया भी जोर जोर से चिल्लाए जा रही थी और मैं हल्के हल्के उसे चोदे जा रहा था. मैंने बोतल से बड़े बड़े चार घूँट लगाए और मुझ पर नशा हावी होने लगा था. सेक्स तो एन्जॉय करने की चीज है, जिसे एक अनुभवी आदमी किसी लड़की को ज्यादा अच्छे से एन्जॉय करा सकता.

मैंने कहा- भाभी, आप प्लीज़ किसी से ये सब मत कहना … आप जो बोलेंगी, जैसा बोलेंगी, मैं करूंगा. उसके पापा थोड़े अय्याश किस्म के थे, इस वजह से कोमल के पापा उसके पास न रहकर दूसरे शहर में किसी और औरत के साथ रहने लगे थे.

मम्मी ने हां कर दी और ये बात तय हो गई कि मैं अब रोज साइकल से उसके साथ जाऊंगा. यह सुन जोगी सर हंसने लगे और बोले- बस इतनी सी बात के लिए अपनी प्यारी सी मुस्कान को हमसे छीन लिया. मैंने देखा कि पायल ने लाल साड़ी पहन रखी थी, जो उसके बदन पर एकदम टाईट पहनी हुई थी.

मिशनरी पोज में चुदाई के बाद मैंने अपनी बहन को कुतिया बना कर चोदा, फिर उसे अपने लंड की सवारी भी करवाई.

मां ने मेरी चुदास समझ ली और उन्होंने तत्काल झुक कर अपनी साड़ी ऊपर कर दी. चुदाई का यही मजा मुझे सबसे ज्यादा पसंद है कि चुदाई में लड़की तड़प उठे और उसके बाद उसे इतना मजा मिले कि वो उस मर्द की दीवानी हो जाए. चौथे ने फिर से मेरी चूत में अपना लंड डाल दिया और मुझे कुर्सी पर बैठा कर मुझे जोर जोर से चोदने लगा.

दोस्तो, इस चुदाई कहानी की हीरोइन और कोई नहीं, वैशाली की चाची ही हैं. मैंने पूछा- क्या हुआ?भाभी ने बताया- उनके पति का छोटा सा है … और लंड अन्दर डालते ही झड़ जाता है.

दोस्तो, मनीषा भाभी से दूसरी बार मुलाकात करने में थोड़ा टाइम ज्यादा लग गया था क्योंकि आप सबको पता है कि लॉकडाउन की वजह से वो अपने परिवार के साथ थी, तो सिर्फ उससे मेरी व्हाटसैप पर बात होती रहती थी. आप होश में तो हो! आप क्या कह रही हैं और यहां इतनी भीड़ में!मैं गुस्से में उससे बोली- अबे भोसड़ी के … ऐसे सकपका रहा है, जैसे कभी किसी लौंडिया की चूत ना मारी हो. आंटी एकदम से मचलने लगीं तो मैंने उनको काऊ गर्ल में बैठा लिया और चूत में लंड पेल दिया.

सेक्स मराठी ओपन सेक्सी

मेरे लौड़े के ठंडा होने पर जैसे ही लंड बाहर आया … पक्क जैसी चूत से आवाज आई और उसकी चूत से मेरे लौड़े से निकला लावा बहने लगा.

मैं बाहर आया और पलट कर देखा, तो गुरबचन जी अरुणिमा को लेकर अन्दर बेडरूम के तरफ जा रहे थे. उस रात मैंने उसकी और चुदाई नहीं की क्योंकि अभी मेरे पास काफी दिन थे और अगले दिन से उसकी तरीके से चुदाई शुरू करने वाला था. चलो वैसे आप अगर उन्हें गर्लफ्रेंड बना सकते हो, तो बना लो, मुझे कोई दिक्कत नहीं है.

फिर मैंने थोड़ा सा लंड चूत से बाहर निकाला और एक तेज झटके में पूरा का पूरा लंड चूत में धकेल दिया. मैंने जबरदस्ती उसको अपने ऊपर से उठा कर बेड पर लिटाया और एक बार लंड को मुँह ने आधा भर लिया. सेक्स फिल्म एचडी सेक्सीमैं बोला- भाभी हमने अभी गलत थोड़े किया है, देवर भाभी में तो ये सब चलता है.

मैं न जाने कितनों की मेल का तो रिप्लाई भी नहीं दे पाया, जिसके लिए मैं आप सबसे माफी चाहता हूं. फिर मुझे पता नहीं क्या हुआ … और मैंने एक जोर का झटका मार कर अपना पूरा लंड अन्दर पेल दिया.

उसकी चूत से पानी की छप छप आवाज भी आ रही थी जिससे मुझे और जोश आ गया था. मैंने उसकी फ्रॉक के अन्दर आहिस्ते आहिस्ते अपना हाथ डाला और उसकी चिकनी जांघों पर चलाने लगा. मैंने जैसे तैसे अलमीरा खोल दी।मैं और आंटी वैसे ही खड़े रहे, मेरा लन्ड गांड की दरार में झटके ले रहा था।मैंने कह दिया दुबारा- खोल के दिखा दीजिए ना … आपको ही देख के जवान हुआ हूं। चुपके से हर चीज मैंने आपकी देखी है.

नींद में भी चाची आह्ह्हज आह्ह्ज करके आवाज कर रही थीं और बोल रही थीं- सो जा मादरचोद सो जा … और मुझे भी सोने दे. हाय दोस्तो, मैं ललिता जोशी फिर से एक बार आप सभी का अपनी चुदाई की कहानी में स्वागत करती हूँ. सिमरन पहले से चुदी हुई थी इसलिए मुझे लग रहा था कि वो आसानी से लौड़े को ले लेगी और उसकी गीली चूत से भी कोई परेशानी नहीं होगी.

शर्मा अंकल को मेरी तरफ आते देख कर मैंने तकिए से अपना मुँह छुपा लिया.

मैं हाम्फ़ने लगा था।आंटी ने अपनी चूची मेरे मुंह में डाल दी।हम अलग हुए तो अलमारी भी गीली हो गई थी. अब आगे चाची की गांड मारी:मुझे तो नींद आ गई थी मगर नींद में भी मैं चाची की चुत में लंड डालकर चुदाई कर रहा हूं, ऐसा मुझे ख्वाब आने लगा था.

और वो चिल्ला पड़ी- ये क्या किया? पागल है क्या? अंदर नहीं छोड़ना था, अब पिल खानी पड़ेगी. मैंने अपने दोनों हाथों से उसके चेहरे को पकड़ा और उसकी आंखों में देख कर कहा- जान, मेरे लिए ये दर्द बर्दाश्त कर लो. मैंने आंटी से कहा- आंटी, अब आपको कुछ चेंज करना है, तो आप लेडीज चेंजिंग रूम में कर सकती हो.

”ये सुनकर मेरे दिमाग में सब साफ़ हो गया कि नैना ने एकदम से हितेश के साथ सेक्स करने की बात मान ली थी. फिर कब दर्शन होंगे, पता नहीं।आंटी की चूत की फांकेन खुल गयी थी।मैंने जीभ लगा दी चूत में!आंटी बोली- बाबू क्या चाहते हो? ना जाऊं मैं?दो बार हल्के से मैंने चूत को चाटा. मेरी ऐसी हालत हो गई थी कि लंड लिए बिना मुझे ना दिन में चैन मिलता था ना रात में सुकून, बस दिन-रात लंड लेने की इच्छा होती रहती थी.

मराठी बीएफ एक्स आप सब लोगों के मेल मेरे हौसले को बढ़ाते हैं, आप सब लोगों के मेल मुझे आगे की कहानी लिखने के लिए प्रेरित करेंगे, इसलिए मुझे बताते रहें कि आपको मेरी सच्ची Xxx क्रेजी गर्ल सेक्स स्टोरी कैसी लगी. पर वो मिलने की जिद करता रहता था, जिस कारण उसने कोमल से बात करना बंद दिया था.

सील+पैक+सेक्सी

मेरा भाई मेरे दूध पकड़ कर नीचे से अपनी गांड उठाते हुए बहन चोद रहा था. सेक्सी मामी को भी गांड मराने में मजा आने लगा और वो मुझसे चूत मसलने की कहने लगीं. सरकते सरकते मेरे होंठ चूत के ऊपरी हिस्से तक पहुंच गए और उसको चूसने लगे.

आंटी ने फिर से कहा- बेटा यह ठीक नहीं है, तुम मेरे बेटे के अच्छे दोस्त हो. चाची लम्बी लम्बी सांसें लेती हुई अपनी चूत सहलाने लगी थीं, जो साफ जाहिर कर रहा था कि मेरा लंड लेने में चाची की चूत में दर्द हुआ था. हिंदी सेक्सी फिल्म वीडियो फुलप्रकाश- इसकी मां का यार … क्या सुपर माल है, राजेश भाई तूने तो हमारी लाइफ बना दी.

जितनी तेज तेज मैं उनकी चूत चाटता, उतनी तेजी से वो मेरा लंड के आसपास किस कर रही थी, मगर मुँह में नहीं ले रही थी.

फिर वो खुद ही मुझे मनाने के लिए मेरे पास आईं और प्यार से बातें करने लगीं. आपको मेरी सच्ची वाटर सेक्स स्टोरी कैसी लगी, आप मुझे मेल कर सकते हैं.

ऐसा कहकर मैंने मॉम के होंठों पर वापिस होंठ रख दिए और मॉम के होंठों को चूसने लगी. मैंने कहा- हां चलो, मैं भी खाना लगाने में तुम्हारी मदद कर देता हूं. दोस्तो, आज मैं फिर एक नया किस्सा लेकर आई हूं लेकिन इसमें मेरी चुदाई नहीं है … पर बहुत मजेदार किस्सा है कि कैसे और क्यों मेरा विक्रम से ब्रेकअप हुआ.

उसने सामने रखी हुए बॉटल से बने हुए पैग में कुछ और व्हिस्की ग्लास में डाल ली और एक सिप लिया.

फिर कब दर्शन होंगे, पता नहीं।आंटी की चूत की फांकेन खुल गयी थी।मैंने जीभ लगा दी चूत में!आंटी बोली- बाबू क्या चाहते हो? ना जाऊं मैं?दो बार हल्के से मैंने चूत को चाटा. दिन में 11 बजे तक उधर पहुंचकर मुझे अपने दोस्त से टिकट्स भी अरेंज करानी थी. उनका नाम विश्वेश्वर था और मैं उनका बहुत ज्यादा कृपा पात्र था, जिस वजह से मेरा कोई काम रुकता नहीं था.

सेक्सी बीपी सेक्स बीपी सेक्समॉम ने आंटी की चूत चाटनी शुरू कर दी और स्पीड से अपनी जीभ चूत के अन्दर बाहर करने लगीं. इतने लंबी चुदाई के दौर के बाद थककर हम दोनों एक दूसरे की बांहों में नंगे ही सो गए.

देसी सेक्सी बहन

कुछ नहीं मिलता तो लड़के लड़कियां हस्तमैथुन से ही अपनी यौन तृप्ति करते हैं. वंदना ने मेरे लंड की तस्वीर देख कर कहा- क्या मस्त लंड है तेरा, काफी लम्बा और मोटा है. फिर दादा जी के दोस्त ने एकदम से मुझे अपनी बांहों में कस कर पकड़ लिया और पलट गये.

तो वो मना करने लगी कि पहली बार में कोई ये सब करता है क्या!मैंने कहा- अभी तो लंड टटोल रही थी अब क्या हुआ?चूत चुदाई की तलब तो उसके अन्दर भी थी तभी तो वो मेरे साथ ऐसे एकदम होटल के रूम में आयी थी. मैंने उसके होंठों को जी भर के चूसा और मम्मों को तो पता नहीं कितनी देर चूसा. चड्डी के अन्दर मेरा लंड भाभी के सामने एकदम कड़क मुद्रा में फूला हुआ रहा था और भाभी लंड को लालच भरी निगाहों से लंड के पहाड़ को देख रही थीं.

मैंने उसको समझने के लिए उसके लंड पर अपने चूतड़ों को रगड़ कर देखने लगा. शाम को ट्रेनर ने बीडीएसएम की क्लास में सबको कुत्तों की तरह फर्श पर चलाया, चलते समय बेल्ट से पिटाई भी की. मेरी चाची जो एक दो महीने के लिए मेरे साथ भाग जाने का प्लान बना रही थीं.

आज मेरी चूत का तुम भुर्ता बना दो, रुकना मत आह्ह आअह्ह उह्ह्ह!वह ना जाने क्या कुछ बोले जा रही थी।उसकी आँखें कामुकता से लाल हो चुकी थी और मैं दनादन शॉट पे शॉट लगाये जा रहा था।दिव्या की चूत की दीवारें मैं अपने लंड की चमड़ी पर महसूस कर सकता था जो काफ़ी गर्म थी और टाइट होने की वजह से मेरे लंड की चमड़ी छिल गयी थी. इतना सुनते ही मैं खड़ी हुई और अपनी कैप्री पर हाथ सा फेरकर बुर को दिलासा दी कि लंड आ गया है, अब तू फटने के लिए रेडी हो जा.

उसने बताया कि उन लोगों को गुंजन पसंद है, गुंजन मेरी पड़ोस की बहन का नाम है.

उनके जाते ही राजेश ने फिर से अपना लंड मेरे मुँह में घुसा दिया, जिसे मैं चूसने लगी. बुड्ढे बुढ़िया का सेक्सी वीडियोआज भी मेरे घर और पड़ोस के लोग मुझे इतना शर्मीला समझते थे कि मैं तो किसी लड़की की तरफ आंख उठा कर भी नहीं देखता. सलवार सूट वाली सेक्सी लड़कीमेरा दोस्त खेल के मैदान में स्मार्ट फोन लाया और उसने मुझे इंडियन सेक्स मूवी दिखाई. चलती बस में लंड चूस कर लंड का पानी पीने का अनुभव मुझे आनन्द की एक अलग ही अनुभूति करा रहा था.

मॉम ने आंटी की पैंटी के अन्दर हाथ डाल दिया और आंटी की चूत को रगड़ने लगीं, धीरे से कमर से पीछे हाथ डाल कर पैंटी के अन्दर घुसा दिया.

मैंने सारा पानी चूत में निकाल दिया और चाची ने भी पानी निकाल दिया जिससे चूत में से पानी टपकने लगा. सिमरन ने अपनी धधकती हुई भट्टी जैसी चूत को मेरे आसमान को ताक रहे लौड़े पर रख दिया. वो बोला- हां मैं उन्हें समझाने के लिए रेडी हूँ मगर तुमको भी उनसे कहना पड़ेगा कि तुम मुझसे प्यार करती हो.

फिर एक एक करके सारे एमसीबी आन कर दीं, जिस एमसीबी के आन करने से मेन फिर से गिरा, तो मैंने उसको डाउन कर दिया. ’मैं उसे बिल्कुल ही अनसुना करते हुए अपने लंड को उसकी चूत में पेलता चला गया. सुबह कसरत के बाद हॉल में हुई, जहां 8 पलंग थे, जिन पर रात को हम आठों सोते थे.

सेक्सी ओपन बाप

मैं बोली- बहनचोद, तेरी चूत तो बहुत खुली है!वो बोली- बहन की लौड़ी, मेरी उम्र में तेरी चूत तो इससे भी बड़ी हो जाएगी. चाची तड़फ कर बोलीं- रुके क्यों?मैं बोला- सांस तो लेने दे साली रंडी …चाची पलट कर बोलीं- हां मादरचोद … ले ले पूरी सांस … और फिर से शुरू हो जा. मैंने कहा- बस जरा देर का दर्द सह लो मेरी जान … फिर गांड में मीठा मजा आएगा.

अब मैंने उसकी चूत देखी और क्या बताऊं दोस्तो … मैं बस उसे ही देखता रह गया.

उसने अपने बारे में मुझे सब बताया और मैंने भी उसे अपने बारे में सब कुछ बताया.

उसने बताया कि उन लोगों को गुंजन पसंद है, गुंजन मेरी पड़ोस की बहन का नाम है. कुछ समय के लिए मेरा पूरा शरीर शांत हो गया और मैं निढाल अवस्था में लेटी हुई थी. सेक्सी गेम द्यामगर मुझे ये कहां मालूम था कि मेरी कमसिन बीवी को इस चुदाई में न केवल मजा आया था बल्कि वो इस तरह की चुदाई की आदी बनती जा रही थी.

मैंने कहा- क्या मतलब?जोगी सर- मतलब यह कि आप अपना एकाउंट नंबर मुझे दे देना और जो खर्च घर वाले उठाते थे, वो मैं कर दिया करूंगा. वो मेरी गर्दन पर चूमते हुए बोला- डार्लिंग, तुम गांड मराने में एक्सपर्ट लगते हो. कामिनी ने मेरे हाथ कसके पकड़ रखे थे और लंड चूत में अन्दर रगड़ खाने लगा था.

हम दोनों 69 में एक दूसरे की चूत चाट रही थीं और पूरे अन्दर तक जीभ ले जा रही थीं. भाभी जोर से कराह उठीं- आह आह आह … मर गई मैं … हाय मेरी चूत फाड़ दी.

फिर उन्होंने मुझे नंगा किया और चाची ने मेरा लंड देखा तो हैरान रह गईं.

तो मैंने कहा- भाभी, इतना समय नहीं है, आपको दवाई की जरूरत है!मैंने भी मौके का फायदा उठाया और उन्हें गोदी में उठा लिया।उनकी कमर में इतना तेज दर्द था कि वह कुछ बोल भी नहीं पा रही थी, केवल कराह रही थी. उससे बात किए हुए मुझे दो महीने हो गए थे, मैं यही सोच रहा था कि क्या क्या करूं. आपको मेरी लेस्बियन पोर्न कहानी कैसी लगी, मेरी ईमेल आईडी पर मेल करके बताइए.

अंग्रेजी सेक्सी वाला अब मैं भी धीरे-धीरे सिसकारियां ले रही थी और आवाजें निकाल रही थी- आह आह भाई मजा आ रहा है … और चोदो मुझे … आंह भाई!मैं भाई के बाल पकड़कर उसे चूम रही थी. लड़कियों को लड़कों का लंड, जांघ चूमकर उनका लंड खड़ा करना सिखाया गया.

इससे उसे थोड़ी दिक्कत तो हुई थी।लेकिन मेरे कुछ झटकों के बाद बाद उसे भी मज़ा आने लगा था।मैं भी आज अपनी काफी दिनों की चुदाई की कसर पूरी कर रहा था।हम दोनों सेक्स का भरपूर मज़ा ले रहे थे।मैं उसे अलग अलग पोज़ में चोद रहा था।सोनी मेरी चुदाई से खुश हो गयी थी।मैंने उसे पूर्ण संतुष्ट कर दिया था। वो पूरा मजा लेकर झड़ी. दोस्तो मैं अपनी इस Xxx चुदाई की कहानी के अगले भाग में आपको बताऊंगा कि किस तरह से सोनल मेरे लौड़े से चुदी और मेरी बीवी नैना के बारे में उसने क्या खुलासा किया. आंटी ने भी कहा- आज तो मुझे भी बहुत दिनों में शानदार राइड मिली जिसको मैं कभी भूल ही नहीं सकती.

बिहारी सेक्सी भाभी की

मेरे घर में नेहा दीदी ही बची थीं जिनकी जवानी का रस मैंने नहीं पिया था. फिर मेरे चाचा जी ने बड़ी दीदी को एक स्मार्टफोन खरीद दिया जिससे वह पढ़ाई किया करती थी. मैं अपनी पहली चुदाई से इतना थक चुकी थी कि घर आकर मैंने खाना खाया और चुपचाप सो गई.

फिर मैंने मैडम को उसी टेबल पर सीधा लिटा दिया और अपने लंड पर टोपा उसकी चूत पर रगड़ने लगा. दीदी गांड झुका कर मसाला भूनने लगीं मैंने अपनी एक उंगली दीदी की गांड में पेल दी.

फिर जब चुदाई क्या चीज होती है, इसका मालूम हुआ तो मन विचलित होने लगा और प्रकृति की स्वत: ज्ञान देने की प्रवृत्ति ने मुझे मुठ मारना सिखा दिया.

शिवानी आंटी- बिटिया, सभी अच्छे हैं, तुम अपनी शादी की तो बताओ!दिशा- आंटी शादी-वादी के चक्कर में अभी नहीं पड़ना, पहले कैरियर बना लेने दो, उसके बाद शादी के बारे में सोचूंगी. उसका थोड़ा सा ही लंड मेरी गांड में जा पाया था मगर मेरी मां चुद गई थी. मैंने अपना लंड हिलाना शुरू कर दिया; अपने हाथ से तेज तेज हिलाते हुए लंड की मुट्ठी मारी.

मैंने उन्हें पांच नए नए पोज में 40 मिनट तक चोदा।मैं जानता था कि मुझे यह हंसीन मौका बाद में नहीं मिलेगा और इतनी सुंदर और भरी हुई काम देवी सी भाभी मुझे जीवन में कभी चोदने को नहीं मिलेगी।इस तरह मैंने अपनी सगी भाभी को चोदा. बाहर से आने की वजह से मुझे पसीना आने लग गया था तो उसने मुझे अपने बेडरूम में बिठाया और एयरकॉन चालू कर दिया. मैं भी आ रही हूँ तेरे रूम पर!मैंने सोचा कि साली ये आ जाएगी, तो मेरा मजा ये ले जाएगी.

अब आप परिमल के लंड से नहीं, बल्कि आज आप नौ इंच लम्बे घोड़े जैसे लंड से चुदोगी.

मराठी बीएफ एक्स: मेरी पिछली कहानी थी:सगी भाभी से प्यार और सेक्सइस बार मैं समाज के व्हाट्सएप ग्रुप से मिली एक शानदार भाभी की Xxx चुदाई की कहानी लेकर हाजिर हूँ. अंकल ने शायद ही ऐसा कोई आसन छोड़ा होगा, जिसमें उन्होंने मुझे नहीं चोदा होगा.

Xxx लड़की सेक्स कहानी में पढ़ें कि अंकल से चुदाई के बाद मुझे बड़े लंड की जरूरत थी. मेरी क्लास में एक लड़का बहुत बदतमीज था जो हर टाइम बस लड़कियों की गांड और चूतड़ देखता रहता था. घर में अकेले होने के कारण हम दोनों को कोई डर नहीं था इसलिए हम दोनों खुल कर सेक्स के मज़े ले रहे थे.

मैं झट से कुतिया बन गयी और जोगी सर पीछे से मेरी चूत पर लंड रगड़ने लगे.

उस दिन के बाद से जब भी मुझे चाची को कपड़े बदलते हुए देखने का मौका मिलता था तो मैं मिस नहीं करता था. ये ऑफिसर सेक्स कहानी उन दिनों की है जब मैं कोई भी काम नहीं करता था और काम की तलाश में इधर-उधर भटकता रहता था. बस ऐसे ही कई दिनों तक हम दोनों में बातचीत होती रही और हम दोनों कॉलेज में मिलने लगे.