बीएफ सेक्सी सरदार

छवि स्रोत,चुदाई वाली बीएफ सेक्सी हिंदी

तस्वीर का शीर्षक ,

बीपी वीडियो सेक्सी नंगी: बीएफ सेक्सी सरदार, अन्दर कमरे की लाइट्स ऑफ थीं, बस कुछ छोटी छोटी एलईडी लाइट्स जल रही थीं और मोमबत्तियों की रोशनी से कमरा रोशन था.

बीएफ पिक्चर दिखाइए ब्लू

मेरे कच्छे में हाथ घुसाकर जैसे ही उसने मेरा लौड़ा पकड़ा, तो ख़ुद ही उसकी सिसकारी निकल गयी. बीएफ सेक्सी नंगी फिल्म वीडियोये करते करते मैंने पैंटी में हाथ डाल दिया और भाभी की चुत को उंगली से रगड़ने लगा.

मैंने अपने लौड़े पर खूब सारा तेल गिराया … और ‘जय हो चूत चमेली की …’ बोल कर उसकी गांड में धीरे धीरे लंड डालना शुरू कर दिया. कार्टून वाली बीएफ सेक्सीअपने कमेंट्स में जरूर बतायें या फिर मुझे मेरी ईमेल में लिखें।[emailprotected]जीजा साली चुदाई की वीडियो देखें:दीदी ने बहन को अपने पति से चुदवाया.

कुछ सिखाना नहीं पड़ता और मजा भी पूरा देती हैं जो नयी लड़की भी नहीं दे पाती.बीएफ सेक्सी सरदार: ममता के दोनों पैर भी अब मेरी जांघों पर आ गए थे और वो मुँह से ‘उईई … श्श्श्श श्शश … आआह्ह्ह … ईईईई … श्श्श्श्शश … आआह्ह्ह.

”मैंने लुंगी लपेटी और मामी के कमरे में गया, नाइट लैम्प की रोशनी में ड्रेसिंग टेबल से कोल्ड क्रीम की शीशी निकाली और वापस मुड़ा.नीता की चूचियां अब मेरे सीने पर रगड़ने लगीं और नीचे मेरा लंड गाउन के ऊपर से चूत पर रगड़ खा रहा था.

एक्स एक्स एक्स वीडियो बीएफ न्यू - बीएफ सेक्सी सरदार

उसे जगाने के बाद संगीता को अहसास हुआ कि उसकी चूचियां बिना ब्रा के कुछ ज्यादा ही हिल रही थीं.मुझे लगने लगा कि चलो इतने दिनों के सब्र का फल बहुत मीठा होने वाला है.

पीहू ने भी मेरे साथ रहने को बोला और ख़ुशी उठ कर अपने कमरे में चली गई. बीएफ सेक्सी सरदार मैंने भी उन्हें वादा कर दिया- हां मैं आपको अपना दूध पिलाने ही बुलाती रहूंगी.

अपने होंठों को रास्ता दिखाते हुए उसके मम्मों के बीच की रेखा में अपने होंठ और अपनी नाक घुसेड़ दी.

बीएफ सेक्सी सरदार?

हम दोनों ने दो दो पैग पीए और खाना खाने के बाद मैंने एक सिगरेट जलाई. जब मैं पार्क से बाहर आया, तो मैंने देखा कि वो अपनी सहेली की मदद से स्कूटर हटाने में लगी हुई थीं. प्राची, परीक्षित जी पहली बीवी की बेटी है, जो बाहर रह कर इंजीनियरिंग कर रही है.

खुशी ने आंख दबाते हुए मुझसे कहा- मेरे रूम का एसी काम नहीं कर रहा है. उन्हें ऐसे सेक्सी लुक बहुत पसंद हैं, इसलिए उन्होंने ये सब करने के लिए मुझसे कहा था. उधर मेरा मन है कि वो किसी नीग्रो के लम्बे लंड से अपनी चूत का भोसड़ा बनवाए.

कुछ देर में ही खाना भी आ गया और हमें पता ही नहीं चला कि कब रात के दस बज गए. फिर धीरे धीरे आपा को भी मजा आने लगा और वो बड़बड़ाने लगी- आह हहह उम्मह हह आह हहह … भाई चोदो … चोदो और तेज चोदो … अपनी बहन को! फक मी … फक मी हार्ड भाई … और तेज चोदो अपनी बहन को फाड़ दो मेरी चूत फाड़ दो और बना लो अपनी रखैल रंडी फाड़ दो आहहल्ला कसम सही बोल रही हूँ भाई बहुत मजा आ रहा है. चुत का वो नमकीन स्वाद और मादक गंध मुझे और भी ज्यादा जोश पर जोश दिए जा रही थी.

एक दिन उसने कहा- क्या आप मुझसे मिल सकते हो?मैं बोला- इसका जवाब मैं आपको बाद में दूंगा. मेरी इस हरकत ने उसे बेड पर लेटने को मजबूर कर दिया और वो दोनों टांगें खोल कर लेट गयी.

दोस्तो, अब भाभी की ताबड़तोड़ चुदाई करते हुए मैं भी अपनी चरम सीमा की ओर बढ़ रहा था.

उसके पैर मेरे ऊपर आ रहे थे क्योंकि उसने पीछे एक बैग रख दिया था, जिससे उसे पैर सीधा करते नहीं बन रहा था.

यह सुनते ही सरिता ने मुस्करा कर मुझे गौर से देखा और बोली- अच्छा जी, आपको औरतों की सुंदरता का भी ज्ञान है? और क्या क्या पता है?मैं हड़बड़ा गया और बोला- नहीं नहीं, मुझे कुछ नहीं पता, मैंने तो ऐसे ही कह दिया था. तभी मेरे बगल में आकर एक बहुत ही मोटा आदमी बैठ गया और मेरे सारे सपनों पर पानी फिर गया. फिर उन्होंने मेरा हाथ पकड़ा और अपने तने हुए लंड के ऊपर रखते हुए बोले- देख … तेरे लिए इतने दिन से बेताब है मेरा लंड!कसम से दोस्तो, उनके लंड पर जब हाथ रखा तो सोच में पड़ गई थी कि इतना बड़ा और मोटा लंड कैसे मैं अपनी बुर में घुसवा लूंगी!उस वक्त उन्होंने लोवर पहना था और उनका लंड उसमें ही तमतमाया हुआ था। अभी तक मैंने लंड को देखा नहीं था.

हम दोनों एक दूसरे से कुछ नहीं बोल रहे थे, बस अपने अंगों को खेलने दे रहे थे. चाची जी नीचे बैठ कर गीले कपड़े से कुछ इस तरह से लंड साफ कर रही थीं कि ऊपर से उनके चूचों की लंबी सी लाइन साफ दिख रही थी. हर बार मैंने अपने साथ हुए सेक्स अनुभवों को सेक्स कहानी के रूप में लिख कर आपके साथ साझा किया है.

वो किताब कोई साधारण किताब नहीं थी बल्कि सेक्स कहानियों की किताब थी.

क्या मुलायम गदरायी हुई गांड थी उसकी!मैंने रचना के दोनों कूल्हों को हाथ लगाया. यह सुनते ही सरिता ने मुस्करा कर मुझे गौर से देखा और बोली- अच्छा जी, आपको औरतों की सुंदरता का भी ज्ञान है? और क्या क्या पता है?मैं हड़बड़ा गया और बोला- नहीं नहीं, मुझे कुछ नहीं पता, मैंने तो ऐसे ही कह दिया था. मैं उसको चोद कर लंडसुख दे चुका था लेकिन 7 साल से प्यासी चूत इतने में कहां मानने वाली थी.

मैं नोट्स लेकर आ गया और उन्हीं के बीच में मैंने अपना फोन नम्बर भी एक पर्ची पर लिख कर दे दिया. वो कुछ नहीं बोली तो फिर मैंने अपनी हरकत बढ़ा दी।अब आंटी भी गर्म होने लगी और बोली- कितनी गर्मी हो रही है … तू अपने लोवर और टी-शर्ट उतार को उतार ले. तभी आंटी ने पीहू को डांटते हुए कहा- इतनी बड़ी हो गई है, पर तेरा बचपना अभी तक नहीं गया है.

सरिता ने मुझसे पूछा- तुम खाना कहां खाओगे?तो मैंने कहा- मैं अपने खाने का अरेंजमेंट होटल से कर लूंगा या जो टिफिन सप्लाई करते हैं उनसे टिफिन मंगवा लिया करूंगा.

दोस्तो, थ्रीसम चुदाई का मजा आना शुरू हो गया है, बस अब अगले अंक में आपको इस नंगी चुदाई कहानी का बाकी का मजा भी दे दूंगा. उसकी चूचियों के पीछे दिख रहे उसके सुर्ख लाल होंठ अब आनंद में खुलने लगे थे.

बीएफ सेक्सी सरदार मैंने उसका हाथ पकड़ा और उसको धीरे से अपनी और खींचा, तो वो फट से मेरी बांहों में आ गयी और मुझसे चिपक गयी. ब्रो सिस फक़ स्टोरी में पढ़ें कि मैं अपनी बुआ के बेटे के साथ खेतों में बने कमरे में नंगी होकर उसका लंड चूस रही थी.

बीएफ सेक्सी सरदार लेखक की पिछली कहानी थी:सर ने मेरे दूध चूसकर मुझे दूधवाली बना दियाअब इस नई कहानी ‘सेक्स इन लव रिलेशन’ का मजा लें. तो मैंने सोचा कि रेशमा मजाक के मूड में है और चुप रहकर मेरा बेवकूफ खींच रही है.

फिर मैं उन्हें सहारा देकर बेड तक ले आया और उन्हें बेड पर बिठा कर चुप कराने लगा.

विडिओ कॅल्लिंग सेक्सी विडिओ

अब मैं गुलजान की गांड में जैसे ही तेज शॉट मारता, तो उसके दर्द से वो हेलीमा की चूत को काट लेती और ज़ोर से गांड में उंगली डाल देती. मैं भाभी से बोला- भाभी अब मेरे इस कुंवारे लंड का भोग लगाओ, अपने मुँह से इसे चूस लो. उसने मेरे साथ दोस्ती कैसे की और वो कैसे मेरे पास आयी?अन्तर्वासना के पाठकों के लिए एक मेरी सच्ची आंटी लव एंड सेक्स स्टोरी पेश है.

होटल वाले को मैंने पहले ही कह दिया था कि एक रूम में गुब्बारों के साथ सजावट करके रखना और चॉको केक रखने को भी कह दिया था. मैंने धीरे धीरे उसकी मैक्सी ऊपर कर दी और उसकी जांघों को सहलाने लगा।मैंने कहा- आंटी, आपको गर्मी नहीं लग रही क्या?वो बोली- लग रही है. अदिति अपने दोनों हाथों से मेरी गांड को सहलाने लगी और साथ में अपनी उंगलियां मेरी गांड के छेद पर फिराने लगी.

मैं फिर से बात को टालने की कोशिश की और बोला- अरे मैडम, आपको जरूर कुछ गलतफहमी हो रही है.

मैंने पूछा- कितनी बार चोद चुके हो उसे?भूरा- अरे सर, एक दिन शाम को वह बकरियां बाड़े में बंद करने जा रही थी. दरअसल मैं उसे चुदाई की वीडियो दिखाते हुए चोदता था और उससे ग्रुप सेक्स के लिए कहता था. एकदम से जय मेरे से आगे की ओर से लिपट गया और पीछे से राज ने अपना लंड मेरी साड़ी के ऊपर से ही मेरी गांड पर सटा दिया.

उन सभी को मोहल्ले में की शादी में जाना था, सभी लोग जाने वाले थे इसलिए मैं अकेला घर में कैसे रहूँगा, यह प्रॉब्लम थी. वो कभी मुँह में ही पूरा लिंग दबा लेती, मानो अंदर से वीर्य खीचना चाहती हो और इधर मेरी जीभ उसको नितंब उछालने पर विवश कर रही थी।मेरे अण्डकोषों को धीरे-धीरे सहलाकर वो मुझे उसकी योनि को दाँतों से काटने पर मजबूर कर देती थी। मैं भी उसकी योनि के दोनों होंठों को अपने मुँह में भर कर चूसने लगा. वो सामने वाले ने जैसे ही अपना मुँह ऊपर किया, तो मैं उसके होंठों को चूमने लगी.

मेरे जिन दोस्तों ने अपना लौड़ा चुसवाया है, वह जानते ही होंगे कि लंड चुसवाने से बड़ी जन्नत किसी को नहीं मिल सकती. रूचिका आंटी ने पापा को एक लिपकिस करते हुए कहा- मेरी गांड तैयार है मेरे जानू … बस जरा आहिस्ते से मेरी गांड में अपना लंड पेलना.

साथ ही मेरी तेज और कामुक उत्तेजना से भरी आवाजें भी गूंजने लगीं- उफ़्फ़ यस आई लाइक इट … ओह्ह आह उह उफ़्फ़ मम्मी मर गई … आह उफ़्फ़. ऑफिस लेडी सेक्स कहानी में मैंने बताया है कि मैं बदली पर कम्पनी के बैंगलोर ऑफिस में गया तो वहां कई लड़कियां थी. दस मिनट धकापेल चुदाई के बाद मैंने उसकी चूत में ही अपना माल गिरा दिया.

मेरी बेटी चीखने लगी और फिर सोनी उसकी पकड़ से छूट कर एकदम भागी और टेबल के नीचे छिप गयी.

चूत लंड की इस रेस में ललिता भाभी की चूत ने फिर से रस बहा दिया और फच्च फच्च करते हुए मैं उसे चोदने लगा. ‌ उसके पास जरूरत का हर एक सामान था और वो भी‌ मंहगा मंहगा वाला सामान था. वसुंधरा भाभी ने मुझे चाय देते हुए, शरारतपूर्ण मुस्कान के साथ घर में रुकने का विकल्प दिया जिसे रागिनी के जोर देने के कारण सभी ने मान लिया.

सामने से कोई आदमी बोल रहा था कि मेरा नम्बर उसको किसी एजेंट ने दिया है और उसे पता है कि मुझे रूम की तलाश है।मैं खुशी से झूम उठी ये सोचकर कि शायद मेरा काम बन गया. ख़ुशी ने एक भद्दी सी गाली निकाली- इस मादरचोद को भी अभी ही आवाज देनी थी.

देखते ही देखते मेरी जवान बेटी के मुंह से आह्ह … आह्ह … की आवाजें आने लगीं. मैंने ये बात अपनी बीवी को बताई कि वो ऐसे कह रहा था तो मेरी बीवी कुछ देर सोचती रही. वो सोने से पहले कपड़े चेंज करने गईं और जब बेडरूम में आईं तो मेरी आंखें फट गई थीं.

हिजरा की सेक्सी पिक्चर

उन्होंने किस छोड़ कर मेरे लंड पर हमला बोल दिया और मेरे नंगे लंड को गौर से देखने लगी.

कसम से उनके बड़े बड़े तरबूज देख कर बार बार उनको देखने का मन करता था. मैं उसके हाथ को होंठों तक ले गया और चूमते हुए बोला- तुम बहुत खूबसूरत हो सुधा. इसके बाद मैंने कहा- चलो जल्दी जल्दी करो अब!विपिन बोला- ठीक है, फिर घोड़ी बन जाओ.

आज शाम को रोहण कोचिंग के बाद मेरे घर आया और सीधे मेरे कमरे में आ गया. उसकी चूत के आस-पास चूत का रस और विक्रम के वीर्य का मिला जुला पानी जो कि सूख गया था, लगा हुआ था. फुल एचडी बीएफ ओपनमैं बोला- मैंने कहा था ना … ऐसी नंगी चुदाई करूंगा कि कभी भूल भी नहीं पाओगी और ना भूलना चाहोगी.

चूंकि मामला चुदाई करने को लेकर साफ़ हो चुका था तो मैंने उसकी बीवी जौहरा की तरफ इशारा किया. मम्मी के होंठ मेरे मुँह के अन्दर होने की वजह से वो चिल्ला नहीं पाईं, पर वो छटपटाने लगीं और उनकी आंखों से आंसू निकल आए.

एक उसने खुद से कहा- भाबी, देखो हम लोग रोज घर पर खाना खाते हैं, मगर कई बार होटल में भी तो जाकर खाते हैं. जिस हिसाब से भाभी खुल कर बात कर रही थी तो मुझे लग भी रहा था कि भाभी चुदने के इरादे से ही आयी हैं. अब मैं गुलजान की गांड में जैसे ही तेज शॉट मारता, तो उसके दर्द से वो हेलीमा की चूत को काट लेती और ज़ोर से गांड में उंगली डाल देती.

मैंने उसे कामवर्धक गोली और पैन किलर दे दी … ताकि उसे दर्द कम हो और वह मूड में आ सके. जैसे जैसे वो उसकी कच्छी खींच रहा था वैसे वैसे सोनी अपना नीचे का हिस्सा उठा रही थी और इस तरह उसकी कच्छी निकल गयी. इस पोजीशन में उसने अपनी चूत मेरे मुँह की तरफ कर दी और खुद डॉगी सी बन कर अनामिका को अपने चूचे पिलाने लगी.

अब आपको मैं बताती हूँ कि आखिर वो क्या सामान था, जिसकी वजह से हमें शर्म आ रही थी.

फिर जिस हाथ में उन्होंने कंडोम का पैकेट पकड़ा हुआ था, उस हाथ को मैंने पकड़ लिया. मगर वो योनि की संतुष्टि चाहती थी। मेरे हर धक्के पर वो आह-आह और कामुक सीत्कार निकाल रही थी।उसे योनि के अंतिम पड़ाव पर लिंग का टकराना मदहोश कर रहा था.

मैं- आपकी तो हर एक अदा ही तारीफ करने का दिल‌ करता रहता है, पर डर भी लगता है. और मैंने ये सब थोड़ा गुस्से में कहा तो वो बोले- जान सॉरी, मगर मुझसे अब और ज्यादा बर्दाश्त नहीं हो रहा. आज भी वो माँसल नितंबों का घर्षण वैसा ही था जो किसी भी पुरूष का पुरूषत्व हिला दे।वो इठलाती हुई रसोई में चली गई.

अपनी शर्त की अनुसार समीना की गांड के बदले मुझे उस सांवली रीता की भी चुदाई करनी थी. अब मैंने उसके सामने सिगरेट पीना भी शुरू कर दिया क्योंकि मां घर में नहीं होती थी तो मैं पी लेता था. भाभी जोर जोर से सिसकारियां ले रही थी- आअह आआ इस्स्स्स स्शह्ह, ओह्ह दीपूउउउ … आह आह ओह ओह!थी और बोली- मैं कब से तरस रही थी इस प्यार के लिए।मैंने कहा- भाभी अब में हूँ ना आपके लिए, अब आपको कभी इस प्यार की कमी नहीं होने दूँगा।भाभी ने अपना एक हाथ नीचे लाते हुए मेरे लंड पर रख दिया और दूसरे हाथ से मेरी कमर को सहला रही थी.

बीएफ सेक्सी सरदार यह मेरी सच्ची चुदासी पड़ोसन भाभी चुदाई स्टोरी है जो मैं आपके लिए लेकर आया हूं. जब तक भाभी बाथरूम से बाहर आयी तो मेरा खड़ा लंड देख कर बोली- लंड है या क्या है ये यार? अभी चूत से झड़ कर बाहर निकले इसको 10 मिनट भी नहीं हुए हैं.

ऐसे सेक्सी सेक्सी

भाई बोला- तो आप पापा को भी साथ मिला लो न!मां बोली- तुम्हारे पापा जान गए तो जानते भी हो कि क्या होगा, कुछ पता भी है तुमको! कितनी आसानी से कह दिया कि पापा को भी मिला लो. ये सब सोचते सोचते मैं काफी देर तक जागता रहा … और फिर पता नहीं कब मुझे नींद आ गयी. जिसे देखकर पहले तो मैं चौंक गयी और सोचने लगी- भारतीय मर्दों का इतना बड़ा और मोटा कैसे हो सकता है?लेकिन दूसरे ही पल मेरी चूत ने पानी छोड़ना शुरू कर दिया.

समय के साथ मैं अपने काम में माहिर हो गया और इस वजह से टीम का काम भी आसान हो गया. मैंने उसकी पूरी साड़ी निकाल कर फेंक दी, साथ ही पेटीकोट भी निकाल दिया. प्रियंका चोपड़ा का सेक्स बीएफउसकी चूत से साबुन के झागों के साथ ही उसकी चूत का पानी मिलकर बाहर आने लगा.

बेड पर कई जगह खून लग गया था और सलवटें पड़ गयी थीं।सुरेश की जांघों और सोनी के चूतड़ों की टकराने की आवाजें मेरे कानों में साफ आ रही थीं और मुझे ऐसा लग रहा था जैसे सुरेश मेरे गालों पर लगातार थप्पड़ मार रहा हो मगर मैं एक बेबस बाप था.

मैं सोच रहा था कि मौका अच्छा है, भैया भी नहीं हैं तो क्यों न भाभी की चुदाई कर दी जाये?अब मैं मौके की तलाश करने लगा. हॉट चाची सेक्स स्टोरी मेरी पत्नी की चाची की गरम चूत की चुदाई की है.

जैसे ही वो तेज़ी से लंड अन्दर डालता तो उन झटकों से मेरे बूब्स थर-थर हिलने लगते. रुखसार- आह देख तो कशिश, कितना बड़ा लंड है इसका!ये कह कर वो ज़ोर ज़ोर से मेरा लंड चूसने लगी. साक्षात रतिदेवी के रूप में थी रेनू!मुझसे बर्दाश्त नहीं हुआ और मैं फिर किचन में चला गया और उसको पीछे से दबोच लिया.

मां बोली- अब मैं रात में तुम लोगों के पास तुम्हारे पापा के सोने के बाद आ जाऊंगी.

कुछ देर बाद फिर से उसने मेरे मुंह में लंड दे दिया और सिसकारते हुए चुसवाने लगा. जैसे ही मेरा हाथ सरिता की कमर पर लगा, सरिता के सारे बदन में झनझनाहट हुई और उसने अपनी कमर को झटके से पेट की ओर अंदर किया. शायद वो जानबूझ कर ऐसे सैट ले रही थीं … ताकि मुझे वो अपने मदमस्त यौवन को दिखा सकें.

बीएफ दिखाओ सेक्सी वीडियो मेंयह सुन कर भाभी भी थोड़ी शांत हो गईं और उन्होंने मुझे देखा तो मैं एकटक उनकी चूत को ही घूर रहा था. इस बार लंड सीधा अन्दर चला गया और मैंने धीरे धीरे चुदाई का खेल शुरू कर दिया.

कॉलेज की लड़की का सेक्सी वीडियो

भाभी- अरे परेशान मत हो, वो साली खुद चुदक्कड़ है और उसकी बड़ी बहन तो उसकी से भी बड़ी वाली है. दोस्तो, मीना की शादी को 7 साल हो चुके थे और उसके 2 बच्चे भी थे। उसकी उम्र 28 साल थी. किसी तरह से हमारा घर चल रहा था और जैसे तैसे करके मेरी पढ़ाई पूरी हुई.

उस वक्त मेरे निप्पल्स बड़े हो जाते थे, चूत में कुछ गीलापन हो जाता था. तो उन्होंने अपने लॉलीपॉप को निकाल लिया और कहा- कैसा लगा दूध?मैं रो रहा था, तो भैया ने मुझे मनाने के लिए चॉकलेट दी … पर मेरे मुँह अभी भी दर्द हो रहा था. मैं पास में बैठ गया।आंटी बोली- राज, कुछ खाएगा?मैं बोला- बहुत कुछ खाऊंगा।इस बात पर आंटी ने मेरी ओर अजीब सी निगाहों से देखा और फिर हल्के से मुस्करा दी.

दोनों के लंड अंदर जाते ही दोनों के दोनों फिर से मुझे कुतिया समझकर चोदने लगा. आपकी रूपा रानी[emailprotected]विडो सेक्स कहानी का अगला भाग:इस चुत की प्यास बुझती नहीं- 6. मैंने खाना खाया और रात में भाभी से बातें करके अपने रूम में आकर सो गया.

फिर दो लड़के सामने सोफे पर बैठ कर आराम करने लगे और कुछ देर बाद नमन ने मॉम की टांगें खोल कर उनकी चूत पर लंड टिका दिया. ”शायरा अब पता नहीं क्या क्या बड़बड़ाती रही … मगर मैं चुपचाप उसके घर से निकलकर ऊपर अपने कमरे में आ गया.

मैं उसके गालों पर किस करने को जैसे ही पास गया, उसने मुँह पीछे कर दिया और हमारे होंठ एक दूसरे से मिल गए.

उन्होंने मेरी हिम्मत बढ़ाई तो मैंने भी खुद को अंकल के लंड के हवाले कर दिया. फ्री हिंदी बीएफसाथ ही मुझे अपनी बेटी की चुदाई का नजारा देखने के बारे में सोचकर उत्तेजना भी हो रही थी. सेक्सी बीएफ अमेरिका कीदूसरी बार वह आए तो मैंने अपने ब्लाउज़ को ऊपर उठाकर अपना दूध पिलाना शुरू कर दिया. मैं उस दिन कॉलेज आया … तो पता चला कि एक दो दिन में दस दिनों का एक हिस्टोरिकल टुअर जा रहा है.

अब मुझे चूत में भी मजा नहीं आ रहा था क्योंकि गांड में बहुत ज्यादा दर्द हो रहा था.

जब मुझे लगा कि मैं अब ज्यादा देर नहीं टिक पाऊंगा तो मैंने उसको हटा दिया; लंड को उसके मुंह से निकलवा दिया और फिर उसको नीचे लेटाकर उसके ऊपर आ गया. मैं अंदर पहुंचा ही था कि वह दूध का बर्तन लिये बाहर की ओर आती हुई दिखाई दी. दिल्ली शिफ्ट होने का उसका कारण यह था कि उसके भाई की दो 2 बेटियां थीं। हम उम्र ही थी.

मैं बोली- बहुत अच्छे, मेरे कुत्ते!हम दोनों ही बहुत ज्यादा गर्म हो चुके थे. फिर बिना कुछ कहे मेरे होंठ उसके प्यारे लाल सुर्ख होंठों से टकरा गए और हम दोनों एक दूसरे को ऐसे चूमने लगे जैसे कि ये पहली और आखिरी बार का प्यार हो. मैंने कई बार अपनी मॉम को नंगी नहाते हुए देखा है और मैं रोज उनके नाम की मुठ मारता हूँ.

सेक्सी फिल्म सेक्सी कहानी

कभी चूसे, कभी मुठियाये, गले तक लेकर जाये!उस वक्त वो किसी पोर्नस्टार जैसी लग रही थी. अब हम दोनों जल्द ही 69 की पोजीशन में आ गए और एक दूसरे के गुप्तांगों को चुम्बन करने और चाटने लगे. मगर अब जैसे ही मैंने उसकी चूची को पकड़ा, वो छुईमुई की तरह सिकुड़ सी गयी.

मैं उन दोस्तों को तहेदिल से धन्यवाद कहना चाहूँगा और साथ ही साथ अन्तर्वासना साइट का भी तहेदिल से धन्यवाद कहना चाहूँगा जिसके वजह मुझे इतना प्यार व सम्मान मिला.

मुझे भी ध्यान आया कि मैंने ममता को तो पूरी नंगी कर दिया था मगर खुद अभी भी सारे कपड़े पहने हुए था.

अब या तो चाय पीनी थी या यौवनरस।कामुकता ने यौवनरस चुना और मैं रेनू को उठाकर बेडरूम में ले आया. इस पर सबीना हंस कर बोली- मेरी पैंटी क्यों फाड़ दी जान?मैंने कहा- अभी सिर्फ पैंटी फाड़ी है, कुछ देर बाद तुम्हारी चूत भी फाड़ूंगा. बीएफ फिल्म ब्लू वालीअभी तक मैं उन दोनों के हंसी ठहाकों के कारण मजाक के मूड में थी लेकिन अब मेरे बदन में एकदम से आग लग गयी.

कुछ ही सेकंड बाद सुरेश के अण्डों के आस पास सफ़ेद गाढ़ा गाढ़ा माल बहकर निकलने लगा. जब किसी लड़की से सेक्स की बात कर रहे हों तो लंड बहुत जल्दी खड़ा हो जाता है. मेरे बालों को अपने मुट्ठी में भर कर वो मेरा सर और भी ज्यादा अपने मुँह में दबाने लगी.

मुकेश- नहीं, पहले ठीक से नाश्ता करो, फिर कॉलेज जाना … और पढ़ाई कैसी चल रही है तुम दोनों की?चिराग एक आमलेट उठा कर जल्दी जल्दी खाते हुए- पापा एकदम बढ़िया चल रही है … और मेरी ही नहीं इस भूतनी को भी पढ़ाना पड़ता है मुझे. मैंने उसको नीचे बैठा दिया और बोला- जानू चूसो ना मेरे लंड को, खा जाओ इसको … बहुत परेशान करता है.

मैंने उसके होंठों पर अपने होंठ रख दिए और दोनों एक-दूसरे के होंठों को चूसने लगे.

आपकी लड़कियों की टीम तो कल ही वापस हो गयी थी और आप वापस भी नहीं गईं?वो बोली- मैं हॉस्टल की खिलाड़ी हूँ. ट्रेन पूरी रफ्तार में चली जा रही थी और उन दोनों ने भी अपनी चुदाई की ट्रेन मेरी चूत और गांड में चली दी थी. मेरा दिल‌ तो‌ कह रहा था कि मैं अभी जाकर उससे मिल लूं और उससे बात करूं.

इंग्लिश सेक्स बीएफ सेक्स सुरेश ने झटके मारे तो सोनी चिल्लाने लगी- नहीं … अंकल नहीं … अंकल आह्ह … नहीं … बहुत मोटा है … प्लीज नहीं!सुरेश ने उसे समझाया- सोनी चुप … बस बस … हो गया है. मैंने तुमसे भी झांटें साफ़ करने का कहा था, की या नहीं?मैंने कहा- ओह आई लव यू सबीना डार्लिंग.

मैंने कहा- अरे नहीं मम्मी, आप नयी हैं हमारे घर में, आपको अभी काम करने में परेशानी होगी. मुझे उसमें ज़्यादा कुछ तो नहीं समझ आता था लेकिन वो खुश थे इसलिए मैं भी खुश थी. मैंने उसकी चूत को देखा और एक बार उसकी आंखों की तरफ देखा, वह एक कातिल मुस्कान के साथ मुझे देख रही थी.

सेक्सी सेक्सी फिल्म सेक्स

अंदर मैंने क्या नजारा देखा … आप भी जानें।दोस्तो, कैसे हो सब? मैं आपको अपनी पैसे की मजबूरी में हुई घटना के बारे में बता रहा था. उसे कहां अंदाज़ा था कि गांड मारने में उसे दिन में तारे दिखने वाले हैं. अदिति नीचे से गांड उठाकर मेरे लंड को अपने चूत में लेती हुई बोली- हां हर्षद, मैं भी यही चाहती हूँ.

वो भी गांड पटक पटक कर चुदवा रही थी। पांच-सात मिनट तक उसने अपनी चूत ऐसे ही रगड़वाई. मैंने उसके हाथ को दबाते हुए कहा- आप परेशान मत हो, मैं आपसे कल बात करता हूँ.

मैंने प्रियंका को इशारा किया, तो उसने अनामिका के दोनों हाथ खोल दिए.

तभी उसकी चूत ने अपना फव्वारा छोड़ दिया और मेरे लन्ड को पूरा भिगाते हुए अंदर चूत में और चिकनाई बना दी, जिससे मेरा लौड़ा और तेजी से अंदर बाहर होने लगा।अब मेरा भी माल निकलने वाला था. हमारे बीच फिर से बातें होने लगीं और बातें करते करते उसका ऑफिस आ गया. मैंने आंटी को अपनी बांहों में भर लिया और उनके ब्रा का हुक खोलने के बाद उन्हें देखा.

हैलो फ्रेंड्स, मैं जय फिर से आपकी चुदाई की आग को ठंडा करने के लिए हाजिर हूँ. मैंने कहा- तुम्हारी मसाज की जा रही थी इसलिए तुम्हें कपड़े निकालने थे. उसने सोनी को इतना गर्म कर दिया था कि वो बेचैन हो उठी और उसके लण्ड को देखने के चक्कर में वो सारी शर्म भूल गयी.

मेरी जांघों पर बैठे बैठे रेशमा कभी मुझे किस करती, तो कभी दारू का घूंट मेरे मुँह में दे देती.

बीएफ सेक्सी सरदार: कुछ ही देर में भाभी ने अपना कामरस मेरे मुँह में ही निकाल दिया और आहह की आवाज़ करके शांति से मेरा लंड चूसने लगीं. भाभी ने मेरी बात पर पहले तो बनावटी गुस्सा दिखाया और फिर अंदर किचन में मजाक में डांटते हुए चली गयी.

फिर मैंने उसकी कमर में हाथ डालते हुए कहा- इतना सोचने की जरूरत ही नहीं है. इधर कविता मुझसे निरंतर हर एक या दो दिन के अंतराल में बात करती रहती. मैंने बोला- तो बन जाओ न!आपा बोली- नहीं आसिफ तुम मेरे भाई हो, मुझसे ये सब मत कहो.

आंटी ने कहा- अब सब कैसे होगा, मेरी तो कुछ समझ में ही नहीं आ रहा है.

वाइफ पोर्न सेक्स स्टोरी के पिछले भागमेरी दूसरी बीवी संग सुहागरात- 1में अब तक आपने पढ़ा था कि आज मैं अपनी दूसरी बीवी सुधा के साथ चुदाई की शुरुआत करने वाला था. मां की चूचियों को मैंने भी दबाते हुए कहा- भाई सच कह रहा है मां, आपकी चूची मेरे हाथ में नहीं आ रही है. पति बहुत परेशान रखता है इसलिए इससे बात शुरू की।फिर मैंने पूछा- क्या तुम मोहित से सच में प्यार करती हो?मीना ने बताया- शुरू में तो करती थी मगर ये धीरे धीरे सनकी होता गया और अब मुझसे ये बहुत जबरदस्ती करता है मिलने की, घर पर बार बार फोन करता है.