सेक्सी एचडी बीएफ सेक्स

छवि स्रोत,प्रेगनेंसी में पेट दर्द इन हिंदी

तस्वीर का शीर्षक ,

एसएसएसएसएस: सेक्सी एचडी बीएफ सेक्स, पर मैंने उसे समझाया कि पहली बार में थोड़ी ब्लीडिंग और दर्द होता है, मगर अब ऐसा नहीं होगा.

वॉलपेपर आयातक

अगले दिन ऋतु को स्कूल छोड़ने जाते समय मैंने उससे आगे के लिए बात की. सपना चौधरी का सेक्सी वीडियोफिर आबिदा ने कहा- अब मुझसे रहा नहीं जाता, प्लीज़ अब मुझे चोद दो जल्दी… प्लीज़ अब कंट्रोल नहीं होता!आबिदा ने अलमारी से कण्डोम का पैकेट निकाला और उसमें से एक कण्डोम निकालकर मेरे लंड पर लगाया.

उसकी स्पीड बढ़ने से मेरी आवाज़ भी बढ़ गई थी, मैं जोरों से दर्द से चिल्ला रही थी और वो और ज़ोर से चोद रहा था. हिंदी सेक्स वीडियो मारवाड़ी’ ऐसे ही कितनी देर तक वो मस्ती में आ के चहकती रही और लंड लीलती रही.

सुमन अपने पापा से जोर से लिपट गई और उसका पूरा ध्यान सिर्फ़ पापा की पैन्ट में फूले रहे उनके लंड पर ही था.सेक्सी एचडी बीएफ सेक्स: इधर की चुदाई की कहानी पढ़ने से मेरा भी मन किया कि अपने साथ घटी चुदाई की कहानी लिखूँ और आप सबके सामने पेश करूँ.

एक बार तो मेरी जान हलक में आ गई कि आज मर ही जाऊंगी, इस साले बुड्ढे का बड़ा लंड तो मेरी चुत का भुरता बना देगा.उसने मुझे अपने बॉयफ्रेंड के बारे में बताया जो बेंगलूरु में एक कंपनी में जॉब पर था और उसको कम टाइम देता था.

फादर सेक्सी - सेक्सी एचडी बीएफ सेक्स

थोड़ी देर बाद एक 50 साल का आदमी मेघा के पास आकर उससे डांस के लिए बोला, मेघा ने भी ‘हाँ’ कर दी.आज साइन्स ने बहुत तरक्की कर ली है, सब ठीक हो जाएगा, बस तू एक बार शहर जाकर दिखा आ।राजू- सच्ची.

मेरा होश जाने लगा, उसने मुझे सम्हाला और मेरी ब्रा और पेंटी भी उतार दी और मुझे वही पर उस स्लैब पर बैठा दिया जिस पर मैं खाना बना रही थी। और मेरे बूब्स को अपने मुँह में लेकर चूसने लगा. सेक्सी एचडी बीएफ सेक्स मेरे दोस्तो, आप मेरी चुदाई की कहानी पर मर्यादित भाषा में ही कमेंट्स करें.

मेरे बूब्स में दबा के कर लो चाहो तो!’‘नहीं बूब्स में नहीं, चूत पर ही करने दो.

सेक्सी एचडी बीएफ सेक्स?

फिर मैं अपने कमरे में गई और ज़ोर से दरवाजा बंद किया ताकि सासू जी और ससुर जी को पता चल जाए कि मैं अपने कमरे में आ गई हूँ. मैंने जकूज़ी से बाहर निकलते हुए पीटर से कहा- बच के रहना जान, आज तेरी खैर नहीं!पीटर ने मुझे पास खींचा, अपने दोनों हाथों से मेरे निप्पल जोर से खींचे और कहा- वो तो समय ही बताएगा कि आज किसका क़त्ल होगा. 38-36-40 की हूँ… थोड़ा सा फिगर में फर्क आ गया है अब… लेकिन मेरी जुल्फें काली घनी और लम्बी हैं.

सिगरेट का काश लेकर उसका धुआँ मेरे मुँह पर छोड़कर उसने पूछा- ये लम्बा मूसल कौन से छेद में लेना पसंद करोगी?उसका इशारा मेरे वाइब्रेटर की तरफ था. वो रैंगिंग वाली बात तुम सीनियर्स की कैटेगरी में आती हो।फ्लॉरा- ओह कोई बात नहीं. जल्दी करो।मैंने भाभी को कमर से पकड़ा और अपनी ओर खींच कर जोर से अपने होंठों से उनके होंठों को किस किया। भाभी एकदम गरम हो गईं और मेरी टी-शर्ट उतार कर फेंक दी।मैंने भी जल्दी-जल्दी भाभी की कमीज़ उतार दी। भाभी ने ब्लू ब्रा पहनी हुई थी.

तब तक डॉक्टर आ गया, उसने उसे चेक करके कुछ ब्लड सेम्पल लिए और कुछ दवाइयाँ लिखकर चला गया. इस काम में लड़कियों को उम्रदराज लोगों की यौन आवश्यकताओं को पूरा करना होता था और बदले में भरपूर पैसा मिलता था. फाड़ दे आज मेरी चूत को… अहह्ह हाह… जोर से चोद… साले दम नहीं है क्या! अहह्ह मेरे राजा, मैं झड़ने वाली हूँ!फिर थोड़े धक्कों बाद मैं कांपती हुई शांत हो गई.

और अपनी क्लास में जा।संजय- हम में से किसी एक को किस कर या वो सामने प्रिंसीपल मैम आ रही हैं तो उनको जोरदार थप्पड़ मार… अगर ये दोनों तेरे बस के नहीं तो तीसरा और लास्ट टास्क बहुत आसान है, रात को हम पार्टी करेंगे, उसमें शामिल हो जाओ! सिम्पल !फ्लॉरा ने थोड़ी देर सोचा फिर टीना के बारे में पूछा कि पार्टी में वो भी आएगी क्या?संजय- हाँ वो भी आएगी, डर मत सिंपल पार्टी होगी।फ्लॉरा- ओके, मैं पार्टी में आऊंगी. वह किचन से एक कटोरी में तेल भर लाया मैंने कोमल को पेट के बल लेटने को कहा, कोमल पेट के बल लेट गई उसकी गोल खरबूजे जैसी गान्ड ऊपर की तरफ हो गई.

इससे पहले कि मम्मी पापा उठ जाएँ… और कॉलेज भी तो जाना है ना तुम्हें, मुझे भी स्कूल के लिए तैयार होना है.

जिससे वो और सिहर उठती।काफी लम्बी चुदाई के बाद वो जोर-जोर से चिल्लाने लगी- आआआहह ऊऊऊऊ यस्स अजय फक मी हार्डर… फ़क मी हार्डर… फाड़ डाल साले आज इससस्स चुत को ओह्ह या ऊऊऊईईई!मैंने अपनी स्पीड दोगुनी कर दी और हम दोनों एक ही साथ झड़ गए।क्या असीम आनन्द मिला उस वक़्त दोस्तो.

मेरे दोस्त, पर चूत मारनी है तो इतना रिस्क लेना ही पड़ेगा, यही सोच कर मैं बस उसे पकड़े हुए था. फिर मैंने चूत के अंदर एक उंगली डाली और चूसने के साथ साथ उंगली से उसे चोदने लगा. सबसे बड़ी बहन का नाम सरोज था, उसकी शादी हो चुकी थी और उसका 5 साल का एक बच्चा भी था, लेकिन उसके पति से उसकी नहीं बनती थी.

उस गर्मी के मिलते ही मेरे लिंग ने उस योनि रस के लावा को ठंडा करने के लिए वीर्य रस की बौछार कर दी. मैं वापिस जाने लगा तो रश्मि ने कहा कि यदि तुम चाहो तो तुम्हारा वही इलाज मैं भी कर सकती हूँ परन्तु एक शर्त है कि डॉक्टर साहिबा को नहीं बताओगे. उसने मजे से आई… आई… उम्म्ह… अहह… हय… याह… आह…आह… किया और उसका पानी निकल कर मेरे लंड को भिगोने लगा.

मैंने कहा- धन्यवाद अंकल जी…कह कर मैं आने जाने वालों से रेलवे लाइन पूछता हुआ उसके बताए रास्ते पर चलने लगा.

बता तो क्या दिया?सुमन ने पूरी बात विस्तार से टीना को बताई, जिसे सुनकर टीना की आँखों में चमक आ गई. इस दौरान मेरा और उसका रोज़ फ़ोन पर सेक्स हुआ और फिर वो दिन आया जिसका मुझे बेसब्री से इंतज़ार था. अब तक की इस सेक्स स्टोरी में आपने पढ़ा था कि टीना अपने भाई मॉंटी के लंड की मालिश कर रही थी।अब आगे.

उसे मजा आने लगा, वो मादक सिसकरियां भरने लगी, उसके चुचे सख्त हो गए थे. मैं- तुमने बोला था कि तुम मुझे 2000 रूपए दोगी और नंगी भी होओगी दोनों?ऋतु- क्या तब तुम हस्तमैथुन करना शुरू करोगे?मैं संकुचाते हुए- ह्म्म्म हाँ!ऋतु- ठीक है…और पूजा की तरफ देखकर उसे कुछ इशारा किया, पूजा ने झट से अपने पर्स में से 2000 रूपए निकाल कर मुझे दिए पर मुझे कुछ न करते देखकर वो समझ गई कि आगे क्या करना है. पलंग पर लेटा दिया और मुझे हर जग़ह चूमने लगा। अब पैग का नशा मुझ पर भी चढ़ने लगा। मुझे अजीब सी सिहरन होने लगी और मजा आने लगा।फिर उसने मेरी ब्रा खोल दी और मेरे मम्मों को चूसने लगा। मैं पागल सी हो गई.

फिर मैंने वही चिकनाहट अपने सुपारे पर चुपड़ ली और लंड को उसकी चूत की दरार में लम्बवत रख के रगड़े लगाने लगा.

मैं कुछ कहता इस पहले ही वो आगे को बढ़ी और मेरे लोअर को नीचे को खींचने लगी. वो पूरी मदहोश हो गई थी, फिर मैंने दाँतों की मदद से उसकी ब्रा खोल कर साइड करके रख दी.

सेक्सी एचडी बीएफ सेक्स उसके बोलने से एकदम मैं डर तो गया था क्योंकि मैं तो उसकी चूत को अपने अंगूठे से ढूँढने में लगा हुआ था. रयान ने ऋषिका को जल्दी कपड़े बदलने को कहा और फटाफट अपने कपड़े बदल कर अदरक की चाय बनाई.

सेक्सी एचडी बीएफ सेक्स मेरा नाम सुम्मी है, मेरी उम्र 25 साल है, मैं एक कॉल सेण्टर में काम करती हूँ. उसने बैठे-बैठे ही मेरी गर्दन दबोचे हुए मेरा मुंह अपने लंड पर ऊपर नीचे धकेलना शुरू कर दिया.

मैं अपने कमरे से उन सबके पास नहीं जा सकती थी क्योंकि संजय के मन का मुझे अभी भी पता नहीं था.

मस्तराम कॉम

थोड़ी देर बाद गुलशन जी ने अनिता को कहा- अब तू खड़ी होकर ये गाउन निकाल दे. दोस्तो, मेरी देसी लड़की की कामुकता की कहानी कैसी लग रही है, मुझे आप मर्यादित भाषा में ही कमेंट्स करें. उइई… माँआआआँ… उम्म्ह… अहह… हय… याह… मेरी… चूस ले मुझे… पी जा मेरा पानी… आआहहह…जब मैं पूरी तरह से झड़ गई तो रोहित ने अपना मुँह मेरी चूत पर से हटाया, उसका चेहरा मेरे पानी से सन चुका था, उसने भी जी भरकर मेरा पानी पिया था।मैंने रोहित से कहा- रोहित, अब अपना लंड मेरी चूत के अंदर डाल दो।रोहित ने वैसा ही किया, वो मेरे ऊपर लेट गया और अपने लंड को चूत पर रगड़ने लगा.

वो देखने में मेडम से भी ज्यादा हॉट थी तो मैंने जाते ही उन्हें किस करना शुरू कर दिया. नताशा के हलक से जोरों की चीखें पूरे हॉल को गुंजायमान कर रही थीं, उसकी सेक्सी आवाज को सुन कर क्रू के हर मर्द का हाथ उसके लंड को मसलने पर मजबूर किए जा रहा था. जमीला- आहह… मुझे लग रहा था कि कोई ऐसा ही काम है, तो सुनाओ कैसी रही रात?मैं- रात तो मजेदार ही रहती है मेरी, आज आप लोगों की भी मजेदार हो जायेगी मेरे साथ.

सुमन- नहीं पापा, मुझे कुछ नहीं चाहिए बस मेरे लिए आपका प्यार ही बहुत है.

तो मैंने भी बात को आगे बढ़ाते कह दिया- घुमा तो दूंगा पर तू मेरे से दूर रहेगी. उसने मुझे फिर बिस्तर पे लेकर दो बार और चोद दिया और हम दोनों वहीं बिस्तर पर एक दूसरे की बाहों में सो गए. नीतू- ठीक है जीजू… अब आप उठ जाओ, मैं हाथ धोकर आपके लिए खाना लगा देती हूँ.

जैसा मैंने पिछली वाली कहानियों में बताया था, रीना रानी की चुदक्कड़ माँ सुलेखा कई सालों से मेरे पीछे पड़ी हुई थी. अब तक मेरे दिमाग में दारू का नशा चढ़ चुका था और मैं बस उनका साथ देने में मग्न सा होने लगा था. हम लोग स्काइप के अलावा फ़ोन पे भी थे, रफीक फ़ोन पे कोमल को चोद रहा था और मैं और मोहन ओपन स्पीकर पर जमीला को चोद रहे थे.

मेरा तो पहले ही बुरा हाल हो रहा था और उसकी कामुक सिसकारियाँ और गर्म साँसें मुझे और भी उत्तेजित कर रही थीं. हमें लगा कि शायद महक और राजेश आ रहे हैं, सो हम अलग होके अपने कपड़े ठीक कर हॉल का दरवाजा खोल कर वापस सोफे पे बैठ गए।प्रिया पूरी लाल हो गई थी, उसके गोरे निखार के वजह से पहचान में आ रहा थी कि ये बहुत रोई है।पर सोफे पर बैठने के बाद उसने मुझे किस कर थैंक्स कहा और बोलीं- रोहन आज मुझे बहुत अच्छा लगा.

अब सीधे सुबह ही देखते हैं कि आज का सूरज किस-किस की लाइफ में क्या-क्या रोशनी बिखेरेगा. मैंने कहा- उई आह आह सी सी… ले संभाल अपने यार को साली आह आह उफ़… आ गया मैं आह्ह… सी सी सी सी…जब तक मेरे लंड भी अपना फव्वारा रुचिका के मुंह के अंदर छोड़ दिया और रुचिका ने लंड को कस कर होंठों में दबा लिया और फिर तुरंत ही होंठ खोल दिए और मेरा झड़ रहा लंड उसके खुले मुंह के होंठों के पास नेहा ने पकड़ा हुआ था, लंड की बरसात कुछ उसके मुंह के अंदर और कुछ बाहर उसके गले पे, नाक पे हो रही थी. बस अब तो कभी नल पर पानी भरते हुए तो कभी आमने सामने से आते जाते उसे टक्कर मार देना, कभी उसे छू लेना तो कभी उसके बूब्स पर किसी ना किसी बहाने से हाथ लगा देना, ऐसी हरकतें करने लगा.

और बताओ आपको कहाँ खुजली हो रही है?सुमन ने हिम्मत करके फैसला किया कि अब शर्म जाए भाड़ में, मज़ा लेना ही ठीक होगा.

ला हमको भी टेस्ट करवा।साहिल अब मम्मों को चूसने लगा और वो दोनों बारी-बारी चुत को चाटने लगे। इधर अजय भी चरम पर आ गया. मैं सोच रही थी कि यह कब नंगा करके मुझे चोदेगा। मैंने सोचा यह तो ऐसे कुछ कर नहीं पाएगा. वहां पर कन्डोम के पैकेट और ब्लू फिल्म की सीडी रखी थीं जिन पर ऊपर से नंगी फोटो बनी थीं.

उसकी गांड मारता हूँ और तुझे भी ऐसे ही चोदूंगा।मैंने कहा- ठीक है।फिर उसने मेरे बोबे चूसने शुरू किए और दूसरे हाथ से मेरे दूसरे बोबे को दबाना चालू कर दिया। उसकी पकड़ बहुत मजबूत थी और दर्द देने वाली भी थी। वो मेरे बोबे ऐसे चूस रहा था. जैसे हमने एक दूसरे की जीभ चूसना चालू किया तो पीटर के हाथ मेरे मम्मों का कड़ापन आजमाने लगे और मेरे हाथ सीधे उसके टट्टों के मजे लेने लगे.

झड़ते ही ऋतु ने झटके से पूजा की गर्दन पकड़ी और एक गहरा चुम्बन उसके होंठों पर जड़ दिया. जैसे ही वे गई, मैंने तुरंत सारे दरवाजे बंद किये और जोर से उसको किस किया. गुलशन- अरे कुछ नहीं होगा भला चोदने से कोई मरता है क्या? मैंने कहा ना… बस आज सहन कर ले, फिर मज़ा ही मज़ा है… तू बोलेगी तब आगे चोदूंगा ठीक है.

कैटरीना एक्स एक्स वीडियो

देर हो गई है, सुबह जल्दी उठना भी है कि नहीं, तेरी मॉम तुझे दोबारा मेरे साथ नहीं भेजेगी.

मैं मना नहीं करूँगी।उनकी बात सुनकर मुझे बड़ा मजा आया और दूसरी चुदाई को लेकर सपने बुनने लगा। हालांकि मुझे तो पहली बार में ही आंटी चुत का मजा आ गया था।आपक मेरी आपबीती अच्छी लगी या नहीं, मुझे प्लीज़ रिप्लाई करना।[emailprotected]. फिर मैं पानी गर्म किया और गुनगुने पानी से अपनी चूत अच्छे से धोई और सेंकी, पांव भी धोये. हैलो दोस्तो… एक गांड की गे सेक्स स्टोरी भेज रहा हूँ।इस शहर में मैं चार वर्ष और रहा मैंने बी.

मैंने मौका देखा और बाल्कोनी के दरवाजे पर गई और अपने सीधे हाथ से उसके लंड को रगड़ मार के निकलने लगी. वरना तेरे साथ साथ मुझे भी सुनना पड़ेगा।दोस्तो, आप टेंशन में आ गए ना. सुम्बली भाशाजिसकी उम्र 25 साल की है और उसकी शादी तय हो चुकी है। उसका फिगर 36-32-36 का है, उसका रंग बिल्कुल गोरा है वो एकदम सेक्सी लगती है। उसको पहली नजर में कोई भी देखे तो उसका बस मेरी बहन को चोदने का मन करने लगे।ये बात उस छः साल पहले की है.

कितना मज़ा आ रहा था।संजय- मेरी जान क्या तुझे इससे भी ज़्यादा मज़ा लेना है?पूजा- हाँ, मामू लेना है।संजय- तो मेरी बात सुन अपनी आँखें बंद कर ले और कुछ भी हो जाए. ’‘मेघा आज रात हमारे साथ चलो… मेरी वाइफ के सोने के बाद मैं तुमसे प्यार करना चाहता हूँ.

और ऑफिस जाने का ड्रामा करना, तेरी गाड़ी जैसे ही गेट से बाहर होगी सबीना यहाँ होगी उसके आधा घण्टा बाद तुम आ जाना हम तीनों बैडरूम में चुदाई में बिजी होंगे तुम धीरे से गेट खोल कर अंदर आ जाना और बैडरूम के दरवाजे से देखते रहना और जब सबीना चुद रही हो तो तुम बिल्कुल नंगे रूम में आना और आकर ऐसा वर्ताव करना जैसे तुमने सबीना को आज ही चुदवाते देखा है. फिर उसने अचानक मेरी गर्दन पर से अपनी पकड़ ढीली कर दी और बोला- साले तू लड़की होता तुझे इतना चोदता… इतना चोदता कि हर महीने तेरे पेट से बच्चा बाहर निकलता!कह कर उसने मुझे पीछे कर दिया और फिर से बाइक आगे कच्चे रास्ते पर दौड़ा दी. दोनों लड़कों ने दुबारा मेरी जान की गांड को दो-तीन सेकंड का आराम देकर अहसान किया और फिर भयंकर चुदाई में जुट गए.

फिर दोनों ने साथ में लंच किया और जब गुलशन जी ने सुमन को अपने साथ चलने को कहा. वहाँ उसकी चीख सुनने वाला भी कोई नहीं था, मैं गांड को जोर-जोर से चोदता रहा. सहलाने लगा। फिर हाथ ने मेरा हाथ पकड़ा और अपने लंड के ऊपर अंडरवियर के ऊपर रख दिया। मैं हाथ चुपचाप रखे रहा.

मैंने कहा- मेरे बहुत कम बाल है और वो मुलायम भी बहुत हैं।मैं अपने मन ही मन में सोच रही थी कि काश पूजा भाभी एक बार मेरी चूत का देखे और उसको वो अपने हाथ से सहलाए और मैं उसकी पेंटी के अंदर अपने हाथ को डालकर मजा लूं.

तभी मेरा निकलने वाला था सो मैंने पूछा- कहाँ निकालूँ?उन्होंने बोला- अन्दर ही डाल दो. चाची ने आश्चर्य से बोली- हाँ रे अशोक, ये तो सच में, अरे बाप रे…!चाची और आगे देखने लगी.

वो उठी और बाथरूम में चली गई, वहां उसने सोचा नहा लेगी तो ठीक हो जाएगी. ’ वह औरत बोले जा रही थी, मैं दबाते हुए मजा लेने लगा, उनकी चूची ढीली हो गयी था, वो आ… आ आ करते जा रही थी, फिर भी मैं बिना सोचे ही उसे दबा दबा कर दूध निकालने की कोशिश करने लगा. मानसी ख़ूबसूरत चेहरे के साथ एक हरे भरे शरीर की मालकिन थी जिसकी फिगर 38-32-36 थी और उसका वो संगेमरमर बदन पहली बार देख मेरे लंड की हालत यूँ थी कि अभी पानी उगल देगा.

पर मैं तो जैसे अपनी ही दुनिया में था मुझे सिर्फ़ अपने मोटे लंड पे एक टाइट बुर का अहसास हो रहा था. अनिता- कुछ लोगे या आपका सीधे मुझे ही खाने का मूड है?गुलशन- नहीं मेरी रानी, खाना-पीना सब हो गया, अब तो बस मैं तुम्हें प्यार ही करूँगा. ऊपर से अपने मेरी आग को और भड़का दिया तो मुझसे बर्दाश्त ना हुआ।काका- अच्छा हुआ जो झड़ गई.

सेक्सी एचडी बीएफ सेक्स मैंने उस दरवाज़े को चिटकनी लगा कर बंद किया और बाकी के दरवाज़े एवम् खिड़कियाँ देखते हुए जब स्टोर में पहुंचा तो देखा की माला सिर्फ ब्लाउज और पेटीकोट पहने हुए सीधा सो रही थी. लगभग छह माह तक ऐसे ही लगन से काम करते रहने के बाद एक दिन उस वृद्ध महिला ने मुझसे कहा- साहिब, मेरी सबसे छोटी बहू के घर बालक होने वाला है इसलिए मुझे तीन-चार माह के लिए उसके पास जाना पड़ेगा.

योनि चाटने का तरीका

बस ऐसे ही चोदते रहना और मुझ जैसी दुखियारियों की चुत के दु:ख को सुख में बदलते रहना, ये बड़ा पुण्य का काम है।काका ने रसोई से एक कटोरी में देसी घी ले लिया था और वो दोनों वापस ऊपर चले गए। तब तक मोना और राजू ने सब ठीक कर दिया था. ऋतु ने मुझसे पूछा- मेरा इतना गाढ़ा नहीं है पर थोड़ा खट्टा-मीठा स्वाद आता है… क्या तुम टेस्ट करना चाहोगे?मैंने कहा- हाँ… बिल्कुल… क्यों नहीं… पर कैसे?ऋतु मुस्कुराती हुई धीरे धीरे अपने बेड तक गई और अपना डिल्डो निकालकर उसको मुंह में डाला और मेरी तरफ हिला कर फिर से पूछा- क्या तुम सच में मेरा रस चखना चाहोगे?मैंने हाँ में अपनी गर्दन हिलाई. फिर रोहित मेरे पास आया मैंने उसके लंड से कंडोम हटाया फिर उसने अपने वीर्य से सने हुए लंड को मेरे मुंह में डाल दिया, मैंने उसका लंड चाट कर साफ़ कर दिया.

हाँ मानती हूँ मैं संजय को पसंद करती हूँ मगर उसकी वजह क्या है ये तो सब को पता ही है। अब ये उसको चोद कर छोड़ दे या प्यार करे. फिर मैंने सोचा कि अभी नहीं, रात को पूरे मजे करेंगे क्योंकि अभी कोई आ सकता है. सेक्सी वीडियो जानवरइंदौर से मेरी ट्रेन रात 1 बजे की थी जिससे मुझे रतलाम आना था, एयरपोर्ट से टेक्सी करके हम इंदौर के प्रसिद्द गुरुकृपा रेस्टोरेंट में आ गए.

काका के साथ मोना भी हँसने लगी।काका- बस मेरी जान ये सवाल बहुत हो गए। अब तू अपने काका की चुदाई देख, फिर बताना मज़ा आया कि नहीं।मोना- अपने अजगर को तो आज़ाद कर दो काका, वो कब से अन्दर तड़प रहा है बेचारा।काका- उससे ज़्यादा तो तू तड़प रही है उसे देखने के लिए.

फिर उसने बाहर बचे हुए लंड को अपने हाथ से छू कर देखा और बोली- सारा अंदर डालना है क्या?मैंने कहा- तुम्हारी इच्छा है, अगर पूरा मजा लेना है तो सारा ही अंदर लेना पड़ेगा. मैंने कहा- तो मतलब? कैसे?तो उसने बताया- एक बार घर में कोई नहीं था, हमारे घर में लाइट चली गई थी और मुझे नहाना था, अँधेरे में नहाने में थोड़ी घबराहट होती है इसलिए मैंने बाथरूम का दरवाज़ा थोड़ा खुला रख लिया और मैं नहाने लगी.

दोस्तो, मैं रिया माहेश्वरी एक बार फिर आपके समक्ष अपनी हिंदी सेक्सी स्टोरी लेकर उपस्थित हूँ. उसने कहा- क्यूँ?मैंने उसके मम्मों को घूरते हुए कहा- मुझे डर लग रहा है. मैं दीदी की चुत चाटते जा रहा था और वो चुदास के चलते अजीब-अजीब सा मुँह बना रही थीं.

दोनों के लंड अंदर जाना शुरू भी नहीं हुए थे कि मेरी गांड फटने लगी… मुझे इतना दर्द हुआ कि मेरे दांत जग्गी के लंड में गड़ गए और उसने मेरे बाल पकड़ कर अपना लंड बड़ी मुश्किल से बाहर खींचा.

32 और रंग गोरा था, बस कोमल के उरोज गोल और भारी लगते थे, तो मेरे नोकदार ऊपर की ओर उठे हुए… उसकी चूत की फांकें थोड़ी सी खुली हुई थी, तो मेरी एक लकीर जैसी दिखाई देती थी। इन बातों के अलावा हमारे चेहरे में फर्क था, इसलिए मैं कोमल से भी ज्यादा कातिल नजर आने लगी थी, ऐसे भी दोनों की हाईट भी मॉडलों जैसी 5. मेरा पति 7 दिन के लिए गया है, मुझे लगता है 7 दिन में तू मेरी चुत को चोद-चोद के कबाड़ा कर देगा।मैं- मेरा मन कर रहा है. रात को सबके सोने के बाद मैंने देखा कि ऋतु के रूम की लाइट बंद हो चुकी है.

देसी खानाअब वो मेरे सामने अपनी टांगों को पूरा खोल कर मतलब अपने गाउन को ऊपर करके मेरे सामने बैठ गई. अब हम लोग जमीला के बैडरूम में आकर वापस बाथरूम में घुस गए और एक बार फिर नहाये और बाहर आये.

सुपर एक्स वीडियो

उन्हें कुछ सवालों के हल गलत मिले तो उन्होंने बोला- ये सब गलत किया है, मैं तुम्हारे डैड को बता दूँगी. इसके बाद मैं रूम पर लौट आई और तीन दिन बाद हम दोनों शिमला के ट्रिप पर निकल गए. अब मैं भगवान से प्रार्थना करने लगा कि हे भगवान बचा ले… ये मेरे पीछे क्यों पड़े हैं और मुझसे क्या चाहते हैं… मेरे पास तो कुछ ऐसा है भी नहीं.

फूफा जी का लंड मेरी चूत के अंदर बाहर हो रहा था और अब तो फूफा जी भी नशे में ही अपनी कमर हिला हिला कर मेरी चूत में अपने लंड पेल रहे थे और उनके दोनों हाथ भी मेरी नंगी पीठ पर चल रहे थे. सुलेखा हड़बड़ा गई क्योंकि उसको ज़रा भी उम्मीद नहीं थी कि मैं ऐसा करूँगा. अपने लंड रस को, बहुत दिनों से यह चूत बिना पानी के बंजर जमीन जैसे हो गई थी.

जब मेरा जन्म हुआ तो मैं एक साधारण बालक था, अपनी उम्र के हिसाब से मैं सब कुछ कर रहा था, कुछ भी ऐसा नहीं था जो और बच्चों से अलग हो, सिवाए एक चीज़ के और वो चीज़ थी, मेरी लुल्ली, जो बचपन से और बच्चों से बड़ी थी. इस ऑडियो के शुरूआती शब्द हैं- आज का कार्यक्रम शुरू करते हैं जिसका नाम है- बॉयफ्रेंड की तारीफ़नदी का पानी कड़वा हैसबका बॉयफ्रेंड भड़वा है!साले बहन चोद…साले हराम के लौड़ो… तुम्हारा तो लौड़ा भी हराम का है, जिसको चोदोगे तो उसके हराम की औलाद ही पैदा होगी. मैं करने को तो बहुत कुछ कर सकता था लेकिन मैंने कुछ नहीं किया, उसे कैसे भी करके उसके बिस्तर पर उठा ले गया और उसे होश में लाने की कोशिश करने लगा.

अब घर चलें या कुछ और भी लेना है?सुमन की आवाज़ सुनकर दोनों ही झेंप गए।अनीता- उह तो ये है आपकी बेटी सुमन. मेरी तो टांगें जवाब दे गईं और ये चुत की खुजली भी वैसी की वैसी है। उंगली से कितना दर्द हुआ तो इतना बड़ा लंड कैसे जाता होगा.

साथ ही मनोज ने म्यूजिक चला दिया और हम सभी केक से खेलने लगे और म्यूज़िक पे डांस करने लगे.

नीतू ने धीरे-धीरे हाथ ऊपर की तरफ़ किया और अब उसका हाथ गोपाल के लंड पर था. इंग्लिश सेक्सी वीडियो देखना हैफिर अचानक वो और ज़ोर से ‘आआआ अहह… आआआअहह’ करके चिल्लाने लगा और मैं बहुत ही तेज़ी से गांड मारने लगा. सेक्सी वीडियो अच्छामगर इस में कोई उस बेहद खूबसूरत लड़की को चोद कर मुझे बहुत मज़ा आ रहा था. फिर तो मैं रोज सबका एक-एक करके ले ही लूँगी।फ्लॉरा की बात संजय ने मान ली। बाकी सब उसके मम्मों और होंठों पे टूट पड़े। इधर संजय ने लंड चुत पे सैट किया और जोरदार झटका मार दिया, जिससे आधा लंड चुत को फाड़ता हुआ अन्दर घुस गया।फ्लॉरा- आईईइ आईईइ मार डाला रे.

वो उन्होंने नोटिस कर लिया।मैं- आंटी आपके हाथ की चाय तो बहुत टेस्टी है।आंटी- थैंक्यू.

वहाँ जाकर मैंने उसके लंड को हाथ में ले लिया और हाथ में लेते ही मेरी काम वासना उबाल खाने लगी. जो मैं आपको बताने जा रहा हूँ।मेरा नाम सौरभ है, मेरी उम्र 27 साल की है, मैं यूपी का रहने वाला हूँ लेकिन अभी मैं दिल्ली में रहता हूँ। मेरे घर में पापा-मम्मी भाई-भाभी और एक भतीजी है। मेरी एक छोटी सिस्टर सोनी भी है. और मेरे होंठों पर अपने कोमल गुलाबी होंठ रख दिए और हम एक दूसरे को बेइंतिहा चूमने लगे.

की आवाजें गूंजने लगी थीं। मगर राजू इस तूफान को झेल नहीं पाया, राधा की कुँवारी चुत की गर्मी उसको पागल बना रही थी। वो जोर-जोर से मोन करने लगा।राजू- आह आह राधा तेरी चुत बहुत मस्त है आह. मैंने उसके दोनों चूतड़ों को अपने हाथों में कस कर पकड़ रखा था और धकाधक चोदे जा रहा था. अगर मेरे वापिस आने तक आप माला को इस घर के स्टोर कमरे में रहने की आज्ञा दे देंगे तो आपके द्वारा मेरे ऊपर इससे बड़ा कोई उपकार नहीं हो सकता.

सेक्सी गीत

देखना उसको भी पसंद आ जाएँगे और दूसरी बात उसका बैग एयरपोर्ट पर खो गया इसी लिए ये सब करना पड़ रहा है। समझी. सुमन का नंगा जिस्म तो आपने उस दिन देखा ही था तो अब आगे इसकी जवानी की प्यास भी देख लो कि ये क्या-क्या करती है. पता नहीं स्प्रिंग जेट की वजह से या फिर रिया के बदन की वजहसे पीटर का लंड धीरे धीरे पूर्णस्वरूप में आने लगा.

’ की आवाज़ निकाल रही थी। थोड़ी देर मैंने उसकी चूत चाटी और फिर हम 69 की पोज़िशन में आ गए। वो मेरे लंड को चूस रही थी और मैं उसकी चूत को चाट रहा था। मुझे बहुत मज़ा आ रहा था। थोड़ी देर बाद उसने चूत का पानी छोड़ दिया और मैं धीरे-धीरे उसके पानी को चाट गया।अब उसने कहा- राज प्लीज़ अब जल्दी से अपना लंड मेरी चूत में डालो.

कुछ देर तक होंठों एवम् जीभ के इस आदान प्रदान के बाद मैंने माला को अपनी बाजुओं में उठा कर अपने कमरे में ले जा कर बिस्तर पर लिटा कर पास में लेट गया.

लेकिन गौरव को रोक कर विकास मेरी गांड फाड़ने आगे बढ़ गया, मैं डर के मारे गिड़गिड़ा उठी- नहीं विकास, प्लीज तुम नहीं. मैं तो हमेशा यही सोचता था कि काश इसका ये ब्लाउज फट जाए और मुझे मजा आ जाए… लेकिन ऐसा हो नहीं सकता था. कोई लड़की का नंबर बताओऔर उधर से कंडक्टर ने सीटी मार दी- बहादुरगढ़ वाली बस चलने वाली है, कोई सवारी बाहर है तो बस में आकर बैठ जाए.

!मैं समझ तो गया था कि भाबी क्या कह रही हैं लेकिन मन में एक डर सा था कि कहीं मैं ग़लत तो नहीं सोच रहा हूँ।मैंने अनजान बनने की कोशिश की और बोला- मैं कुछ समझा नहीं भाबी. हमने 69 पोजीशन ली, मैं लगातार उनकी चूत चाट रहा था और वो मेरा लंड चूस रही थी. ऋषिका बैंक जाने की जिद कर रही थी तो रयान ने डांट कर उसे घर पर रुकने को कहा.

मैंने धक्का लगया तो इस बार एक बार में ही लंड चुत के अन्दर घुसता चला गया. उसके पैर काँपने लगे। वो दो कदम भी नहीं चल पाई और वापस बेड पे बैठ गई, उसको बहुत दर्द हुआ- ओह मामू ये क्या हो गया.

सुमित ‘आह, आह, मज़ा आ गया, उम्म्ह… अहह… हय… याह… मादरचोद, साली बहुत मस्त है तू तो’ और न जाने क्या क्या बकता हुआ उसे चोदे जा रहा था.

जैसे ही वो बाथरूम से बाहर आई मैंने उसको कस कर पकड़ लिया और किस करने लगा। हम दोनों एक दूसरे को पागलों की तरह चूम रहे थे, ऐसा लग रहा था कि पता नहीं वो कब की प्यासी है।तभी बेल बजी और हम अलग हुए, बाहर देखा तो वेटर खाना लेकर आया था।हम दोनों ने मिलकर खाना खाया. ग़लती मेरी है जो मैंने इसकी खुजली पर दवा लगाने के लिए इसकी लली को टच किया. फ़िर जब वो थोड़ी शांत हुई तो मैंने एक जोरदार झटका दिया और मेरा आधा लंड उनकी चूत में घुस गया.

चाय बनाने वाली मशीन जैसे ही सुलेखा अपने कमरे में गई, रीना रानी ने आवाज़ लगाई- मम्मी मैं जा रही हूँ!सुलेखा ने भी आवाज़ लगा दी कि रीना अच्छा जा तू!रीना रानी झट से भाग के मेहमानों वाले कमरे में चली गई, मुझे बोल गई कि बाहर वाला दरवाज़ा आवाज़ करते हुए बंद कर दूँ ताकि सुलेखा समझे कि रीना गई. थोड़ी देर में सबीना का शरीर अकड़ा और उसने मुँह में मस्ताना को भी दबा लिया और उसकी चूत ने मेरे मुँह में पानी की बौछार कर दी, नमकीन नमकीन चूत रस मेरे मुँह में भर गया और सबीना मेरे ऊपर ही लेट गई तो जमीला ने उसको साइड करके खुद मेरे साथ 69 हो गई.

यह कह कर उसने मेरे लंड को अपने मुंह में भर लिया और पागलों की तरह चूसने लगी. मैंने अपना ध्यान वापिस कटरीना पर लगाया और उसकी चूत को जोर से चूसने और चाटने लगा. फिर एक दिन मैंने उसके घर जाने की सोची, मैंने उसको फोन किया तो वो बोली तो मैंने उसको कहा- आपके लिए एक काम है, मैं आपके घर आ जाऊँ?तो उसने हाँ बोल दिया.

साले की पत्नी को चोदा

तो मैं क्यों इस छोटे से लंड से खेलूँगी?सुमन- दीदी वो तगड़ा लौड़ा संजय सर का है ना. अरमान तुरंत बोल उठा- अरे वाओ, हम तो सोच ही रहे थे कि कैसे किया जाये, क्या तुमने भी कोई प्लान बना रखा है?अंशिका बोली- हाँ जी, हमने भी बनाया हुआ है प्लान!कहकर वो दोनों नीचे भाग गईं और नेहा उठ कर टेबल को गद्दों के पास करने लगी. पूजा- तुझ में इतनी हिम्मत ही नहीं है कि अपने सगे भाई से इस तरह की बात पूछ सके और अगर पूछती भी है तो वो तैयार नहीं होगा.

मेरे बहुत से अंतरवासना मित्रों की मेल्स आई और मैं उनको धन्यवाद देता हूँ मेरी कहानियों को प्यार देने के लिए!मेरी पिछलीहिंदी सेक्स कहानी शादीशुदा गर्लफ्रेंड की चूत में लन्डमें आपने पढ़ा कि कैसे मैंने जानवी के साथ मज़े किए और आज भी कर रहा हूँ. घर जाकर तेरी आंटी को चोदूँगा, तभी चैन मिलेगा मुझे!’ मैंने कहा और उठ कर खड़ा हो गया.

अब दोस्तो, आप सोच रहे होंगे इतना सब कुछ होने के बाद आँख ना खुले तो ऐसा हो सकता है क्या.

तुम रुको यहीं…और मैं कमरे में जाकर किताब लाकर उसे दिखाते हुए बोला- यह क्या है दीदी? गन्दी और नंगी तस्वीर?सीमा डर गई और घबराने लगी थी, वह डरते हुए बोली- सुन छोटू, तू भी जवान है तो समझता है शरीर की जरूरतों को! अब मैं जवान हो गई हूँ और तूने तो कर भी लिया होगा पर मैं तो कुंवारी हूँ. पूजा रोज की तरह संजय के सीने पे पेट के बल लेट गई और लंड को चूसने लगी, इधर संजय भी उसकी चुत पर अपनी जीभ से मरहम लगाने में लग गया।थोड़ी ही देर में संजय का लौड़ा फिर से हार्ड हो गया और उसको बस चुत की जरूरत होने लगी तो संजय ने पूजा को हटाया और कहा- धीरे से लंड पे बैठ जा, अब चुदाई का टाइम हो गया है।पूजा- मामू मज़ा आ रहा था. जो दो बार फेल हो चुका था। उससे मेरी बहुत ज्यादा दोस्ती हो गई थी। वो एक बिगड़े किस्म का लड़का था।जब हम पेशाब करने जाते तो बोलता कि तू अपनी लुल्ली दिखा.

गुलशन जी को लगा कि उनका लंड पैन्ट फाड़ कर बाहर आ जाएगा और सुमन को पता चल जाएगा कि उसका अपना बाप उसके जिस्म की गर्मी से पागल हो रहा है. हमें देखकर मनोज और सुलेखा भी लंड चुसाई करने लगे, सुलेखा भी लंड चूसने में माहिर थी, वो कुछ देर तक मनोज का लंड चूसती रही और फिर रुचिका को बोली- मुझे भी अपने वाला लंड टेस्ट करवा न!कहते हुए उसने हम दोनों के लंड पकड़ लिए, हम भी तुरंत घूम गए और मैं मनोज के बिल्कुल पास हो गया, और अरमान और नेहा हमारे बिल्कुल सामने चुदाई कर रहे थे. तभी उसको ग्रुप में शामिल किया है।संजय ने ‘हाँ’ में गर्दन हिलाई और अपना प्लान उन सबको बताया, जिसे सुनकर सबके चेहरे पे ख़ुशी आ गई।अजय- यार उसके चूचे बड़े प्यारे हैं… क्या समोसे से नुकीले तने हैं.

दर्द के मारे मेरी तो आवाज ही बंद हो ग़ई थी, आँखों से पानी बह रहा था.

सेक्सी एचडी बीएफ सेक्स: एक दिन मैंने उससे बात की तो उसका बातों ही बातों में मैंने उससे उसके घर का पता लिया फिर वो पता मैंने अपने दोस्त से कन्फर्म किया तो पता चला कि वो उसकी बहन ही है. इधर सबीना रफीक के लण्ड का जूस निचोड़ने में लगी थी और जमीला मेरे टट्टे और रफीक की गांड चाट रही थी, बीच बीच में सबीना को किस करते हुए उसके बड़े बड़े चुचों को दबा रही थी.

अब फच फच की आवाज़ कम होते-होते बन्द हो गई और मैं निढाल होकर चाची पर ही गिर गया. अब मुझे थोड़ा सा मज़ा आने लगा था हालांकि चूत में दर्द अभी भी था मगर अब मैं दर्द सह पा रही थी. मैंने उनकी कमर को नीचे से हाथ डालकर मेरी तरफ खींचा तो वो बोलीं- ये क्या कर रहे हो?तो मैंने कहा- बर्फ की वजह से ठंड लग रही है।आंटी मेरे पैरों पर ब्लैंकेट डालकर उसी पोजीशन में सो गईं।अब मैंने उनकी तरफ करवट ली.

मेरा नाम निशा है, मैं पंजाब से एक देसी भाभी हूँ, मेरी लव मैरिज हुई है.

नताशा अण्डों समेत उसके भयानक मोटे लंड को अपने दोनों हाथों से सहलाने लगी और स्वान झाड़ता गया. फिर मैं पीठ के बल बिस्तर पर लेट गया और माला को मेरे लिंग के ऊपर बैठने का इशारा किया. जब मैं क्लीनिक में गया तो रिसेप्शनिस्ट/नर्स ने एक अजीब सी स्माइल पास की और कहा- डॉक्टर अंदर पेशेंट देख रही हैं.