बीएफ हिंदी फिल्म बीएफ हिंदी

छवि स्रोत,इंग्लिश सेक्सी चुदाने वाली

तस्वीर का शीर्षक ,

हम सेक्सी: बीएफ हिंदी फिल्म बीएफ हिंदी, मुझे बहुत अच्छा लग रहा था क्योंकि मैं किसी दूसरे आदमी से दूसरी बार ही चुद रही थी.

इंग्लिश हॉट मूवी सेक्सी

उसने अपनी पैंटी से मेरे लंड को साफ कर दिया और हम दोनों नंगे ही सो गये. डॉग फिल्म सेक्सीफिर हम दोनों बहुत देर तक एक दूसरे के होंठों का रस पीने में लगे रहे.

मैंने निहारिका की चूचियों को पकड़ कर उनको जोर से दबाना शुरू कर दिया. देहाती सेक्सी वीडियो दिखाएं हिंदी मेंतुम चिंता ना करो! मगर मेरी पति का लंड लेने के लिए तुम्हें फीस देनी पड़ेगी.

उसकी चूत ने थोड़ी ही देर में पानी छोड़ दिया, पर मेरा लंड अभी और बेकरार था, इसलिए मैंने चूत से लंड बाहर निकाल कर उसकी गांड में डाल दिया और पद्मा भी चूतड़ हिला हिला कर गांड मरवाने का मज़ा लेने लगी.बीएफ हिंदी फिल्म बीएफ हिंदी: उसके बाद सासू माँ ने बोलना शुरू किया:बेटा, तू तो जानती है, हितेश हमारा एकलौता बेटा है … शुरू से ही हमने उसकी परवरिश में कोई कमी नहीं रखी, बहुत ही लाड़ प्यार से पाला है हमने उसे, शुरू से ही मुझे उसकी हरकतें थोड़ी अजीब लगती थीं, तब सोचा कि बचपना है … धीरे धीरे सब सही हो जाएगा, पर जैसे जैसे वो बड़ा होता गया, वैसे वैसे उसकी हरकतें भी बढ़ती गईं.

मैंने धीरे से अपने हाथ से उनके कंधे पर जोर दिया, तो उन्होंने वासना भरी निगाह से मुझे देखा.30 बजे मेरी नियत टाइम पर नींद खुली, तो मैं अपना ट्रैक सूट जो अब तक सूख चुका था, उसको पहन कर घूमने निकल गया.

मराठी लेडीस सेक्सी वीडियो - बीएफ हिंदी फिल्म बीएफ हिंदी

फिर वो बिस्तर पर सीधी लेट गईं और मैंने उनकी दोनों टांगें अपने कन्धों पर रखकर उनकी चूत मारनी शुरू की.मैंने पूछा- अब दुबारा निकाह के बाद कैसे होगा … तुम कैसे मान गईं?वह बोली- अब वह इलाज कराने को मान गया है.

कुछ ही देर बाद भाभी गांड उठाते हुए झड़ गईं और मैं भी उनकी चुत में ही झड़ गया और भाभी के ऊपर ही लेट गया. बीएफ हिंदी फिल्म बीएफ हिंदी इस कहानी में पढ़ें कि कैसे मैंने अपने जिगरी दोस्त की बीवी को उसकी शादी की रात को चोदा.

उसके बाद आंटी ने कहा- जब से तू आया है मैं इसी मौके की तलाश में थी और आज मुझे ये मौका मिला है.

बीएफ हिंदी फिल्म बीएफ हिंदी?

दोस्तो, मेरा नाम है चार्ली! मैं कोल्हापुर, महाराष्ट्र का रहने वाला हूँ. उसको बहुत ज़ोर से दर्द होने लगा था; मुझे लंड वापस बाहर निकालना पड़ा. उनमें से एक आंटी थोड़ी मोटी थीं, पर उनका फिगर बड़ा कमाल का लगता था.

भाभी- मर्जी है, मैं सोच रही थी, तुम घर देख लेते, अच्छा लगे तो यहीं रह भी सकते हो. चूचों की त्वचा पर सीधे मेरे हाथ का सपर्श पाकर पहली बार प्रिया उछल सी पड़ी और कराहने लगी. सोचा कि अब कम से कम रात में बाहर तो धक्के नहीं खाने पड़ेंगे … क्योंकि घर पर तो मैं बोलकर आया था कि दोस्त के यहां बर्थडे पार्टी में जा रहा हूँ और रात में उसी के वहां पर रुकूंगा.

मैं मुंबई में अपने घर में जहां रहता हूँ, वहां हम सात साल पहले आए थे. आंटी ने मेरी तरफ शरारत भरी नजर से देखा और वहाँ से चलकर सीधी सामने वाले गन्ने के खेत में जा घुसी. मैं उसके पीछे खड़ा हुआ और उसकी दोनों चुचियों को मसलते हुए उसे नहलाने लगा.

उस कॉलब्वॉय को मैंने काफी बड़ी कंपनी से हायर किया था, इसलिए मैं उस पर भरोसा कर सकती थी. उसने भी अपना लंड मुझे पकड़ा दिया और बोला- तुम दोनों लंड को मुट्ठी में पकड़ पकड़ के रगड़ो.

वह दादा साहेब ठाकुर ने अपने लंड का जोर से झटका मेरी चूत में मारा, तो मैं चीख उठी … चिल्ला उठी.

थोड़ी देर बाद ही उसके बॉस की गाड़ी ड्राइवर लेकर आया और उसने मेरी बीवी को चलने को कहा.

कुत्ता प्रयास तो कर रहा था, मगर उसका लिंग योनि के दाएं बांए टकरा रहा था. मैं कभी उसके लंड को चूस लेती तो कभी उसकी गोलियों को मुंह में भर लेती थी. इसी बीच में मैं उसकी चूत में हल्के-हल्के धक्के देने का भी प्रयास करता रहा ताकि लंड उसकी चूत में सही तरह से सेट हो जाये.

उसके बदन की महक से मानो वक़्त जैसे ठहर गया, हवाओं में ठंडक सी महसूस होने लगी. जैसे ही उस औरत ने कहा ‘एक्सक्यूस मी …’ मैं चिल्लाकर उससे बोला- क्या है?वो औरत थोड़ा डर गयी और वहां से चली गयी. हिम्मत करके मैंने फिर से प्रिया के सॉफ्ट बालों में हाथ घुमाया, तो उसकी नशे के मारे आंखें बंद हो गईं.

रमीज मेरी पीठ को और कंधे को पकड़ कर पूरी ताकत लगा कर लंड को मेरी गांड के छेद में लंड अन्दर डालने लगा.

पर अगर इसे चूत कहते हैं तो ये किसी और को दी कैसे जा सकती है?” मीशा ने भोलेपन से पूछा. बाद में उसके द्वारा पता चला कि इसका पहले से भी कोई था, जिससे प्रीति चुद चुकी थी. उसने बाद में मुझे अपने मोबाइल में करीब दस अलग अलग लंड की तस्वीरे दिखाईं, जो अब तक उसे चोद चुके थे.

डॉली को मैंने अपने आगे बैठाया और उसके मम्मों को मैं पानी और बॉडीवाश से साफ करने लगा. जब मैंने पहली बार देखा तो देखा कि मेरी मम्मी नंगी नीचे लेटी हुई थी और मेरे पापा बिल्कुल नंगे मम्मी की चूत में लंड डालकर उसे आगे पीछे कर रहे थे. मैं- नमस्कार नमस्कार झा जी … और कहां घूम रहे है मैडम को लेकर, प्रणाम भाभी जी कैसी हैं?थोड़ा मस्ती मिजाज में जैसे कौशल्या जी उनकी पत्नी हों!कौशल्या जी- मैं तो ठीक हूँ सर … हम लोग ऑफिस के बाद सिनेमा देखने गए थे, आप कैसे हैं और कभी देविका मैडम को भी सिनमा वगैरह देखा दिया कीजिएगा.

यह सुनते ही मेरी गांड बिना लंड डाले ही फट गयी और मैं डर गई, मैंने उससे ‘नो नो …’ कहा, तो इससे उसकी हिम्मत बढ़ गयी और वो सीधे मेरे मम्मों को अपने हाथों में ले कर मसलने लगा और मेरे गले को अपनी जीभ से चाटने लगा.

बड़ी लड़की बोली- अगर माँ और बाबूजी हां कर देते हैं, तो हम दोनों बहनों को कोई परेशानी नहीं है. मैंने अपने हथेली से उसकी पैंटी को एक-दो बार रगड़ा तो सुषी की सिसकारी छूट गई.

बीएफ हिंदी फिल्म बीएफ हिंदी मैंने कहा- अब मेरी चूत को शांत करो जान … ये भट्टी सी गर्म हो गई है. दरवाजा बंद होते ही वो मुझ पर टूट पड़ी और पागलों की तरह मुझे चूमने लगी.

बीएफ हिंदी फिल्म बीएफ हिंदी थोड़ी देर में उसने कार रोकी और मुझसे कहा- मेरा घर आ गया है, तुम अपना लंड अन्दर डाल लो और वो नीला दरवाजा खोल कर अन्दर चले जाओ. गर्मी भी लग रही है, आप दोनों एक काम करो, सलवार कमीज़ रहने दो और साड़ी ब्लाउज उतार कर आराम से बैठो, यहां किसी को आना तो है नहीं, फिर बेवजह हिचक कैसी.

बहुत अच्छा लग रहा था लेकिन मैं ही जानती थी कि फर्स्ट क्लास के लिए मैंने क्या कीमत चुकाई थी.

सेक्सी बीएफ सेक्सी बीएफ इंडियन

फ़िर एकदम से उसने मेरी गर्दन जोर से पकड़ी और दूसरी टांग भी उठा कर मेरी कमर पर लपेट कर मुझे यहां वहां चूमने लगी. मीशा के मुख पर थोड़ी दर्द भरी रेखाएं उभर आयी और उसके मुख से निकला- उम्म्ह… अहह… हय… याह…देखो तुम्हारी चूत में मेरी उंगली जा रही है. कुछ देर तक गाजर को लंड समझ कर मैं अपने मुँह में अन्दर बाहर करती रही.

तू जिस भी लड़के या मर्द से मिले, उससे इन्हें ज्यादा से ज्यादा दबवाना और चुसवाना. इसके साथ ही उसे नीना के चेहरे पर कातिल मुस्कान दिखाई पड़ी तो उसने एक झटके में ब्रा का हुक खोल दिया, जिससे दोनों आजाद कबूतर हवा में उड़ने लगे. तो मैंने कहा- फिर स्माइल क्यों कर रहे हो?वह बोला- तुझे मेरी स्माइल अच्छी लगती है ना.

इसी तरह चूमते चाटते मैं उसकी गांड पे आ गया और ज़ोर से उसकी नंगी गांड पे एक थप्पड़ मारा.

मैं इसे अपने हाथ में लेकर देख लूं क्या?” उसने मासूम सा चेहरा बना कर पूछा. उसके बाद मैंने लंड को अंदर धकेला तो लंड केवल एक इंच ही अंदर जा पाया. तब मैंने उसे अपना नाम बंध्या बताया, तो वह खुश हो गया और मुझसे बोला कि मेरा नंबर लिख लो और अपना नंबर बता दो.

मैंने प्यार से प्रिया का सर अपने दोनों हाथों में लिया और चूमता रहा. मेरी बिंदास दोस्त के साथ सेक्स की कहानी कैसी लगी आपको? आप लोग मुझे जरूर मेल करना. निप्पल चूसते चूसते पद्मा बोली- तू सही कह रही थी, दिल करता है कि अपने सैयां का लंड चूसते रहें और मज़ा लेते रहें.

थोड़ी देर में भाभी ने पूछा- तेरी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है?मैं थोड़ा खुश हुआ कि चलो आज बात बन सकती है. उसने मुझे देख लिया और बोली- जी आप कौन?मैं हिचकिचाते हुए बोला- मैं राज … और आप कौन?तो उसने बोला- मैं बिरजू की साली हूँ.

मैं उसके लंड को चूस रही थी और पंकज के मुंह से कामुक सिसकारियां निकल रही थीं. वो सीधा अन्दर आ गयी और बोली- जल्दी से अपने कमरे में जा, निकलने की तैयारी करनी है. मैंने उसकी ब्रा को भी खोल दिया और उसकी नंगी चूचियों को अपने हाथों में भर लिया.

कुछ पलों में उसने अपनी पैंट की जिप बंद की और पलट कर मेरी तरफ बढ़ने लगा.

थोड़ी देर ऐसे ही लेटे रहने के बाद मैंने अपना हाथ उन पर रख दिया, जैसे ही हाथ घुमाया तो पता चला कि ये बड़े बड़े मम्मे मेरी बुआ के हैं रिन्की के नहीं. आज तक जितनी बार मैं चुदी, उसमें से इस चुदाई से मुझे फुल सेटिस्फेक्शन मिला, इसलिए मुझे बहुत अच्छा लग रहा था. भाभी आँख मार कर कहने लगीं- तुम खुद सोचो कि मैंने क्या सब कुछ देख लिया होगा?मैंने समझ तो सब लिया था कि भाविका भाभी का इशारा किस ओर है, लेकिन तब भी मैं रस लेने के नजरिये से उनसे कुरेद कर पूछने लगा था.

मेरे ऐसा कहने पर उसने जवाब में कहा- जो हुक्म मेरे मालिक। और बस मेरी चूत ही नहीं मेरी गांड भी चाटो न मेरे राजा … मुझे अच्छा लगेगा, अगर तुम ऐसे करोगे तो। और जब भी तुम मेरी गांड पर चपत मारते हो तब बहुत अच्छा लगता है तो प्लीज और मारो मेरी गांड पर।मैंने उसकी चूत पर अपना मुँह लगा दिया तो उसकी एक तीख़ी सी आह … निकल गयी और वो जम कर अपने बोबे मसलने लगी और कुतिया की तरह अपने मूत को चाटने लगी. शीला के चुचे पद्मा से बड़े और ज्यादा मुलायम थे और शीला की गांड भी पद्मा की गांड से बड़ी और सेक्सी थी.

फिर कुछ देर बाद में वो अचानक से बोली- एक मिनट रुको, मैं सुसु करके आती हूँ. फिर उन्होंने मेरी शर्ट, पैन्ट, कच्छा सब उतार कर मुझे नंगा कर दिया और मेरे लंड को पकड़ हिलाने लगीं. अब मुझे उसकी गांड मारे बिना चैन नहीं आने वाला था, मैंने उससे कहा कि डबल चार्ज कर लेना.

ಓಪನ್ ಸೆಕ್ಸ್ ಪಿಚ್ಚರ್

मैंने एक बात नोट की है कि एक बार जब औरत अपना पानी छोड़ देती है, उसके बाद उसे सेक्स का असली मज़ा आता है.

तब मैंने उसकी गोल लंबी आंखों पर एक हल्का सा चुंबन किया, तो वो सिहर उठी. मैं खुद में बहुत गर्म हो गयी थी और मन में लिंग योनि में घुसाता निकलता दिखने लगा था. इनके अब्बू और अम्मी भी शरम से बेहाल थे और मुझे मेरी हालत देखकर मुझे कुछ समय के लिए अपने घर जाने को कहा ताकि शायद वो कुछ कर सकें.

उफ्फ … स्सस … अमित … आह्ह … क्यों इतनी देर लगा रहे हो?” मैंने मिन्नत भरे स्वर में अमित से गुजारिश की. मैंने तुक्का मारते हुए बोला- इस प्यार के बारे में तो इसने बता ही दिया होगा. देसी भाभी सेक्सी गर्लवो मेरी गांड में अपना लंड पेलते हुए मैक से कह रहा था कि इसकी चूत में जम के लंड पेलो.

लगभग 20 मिनट लगातार चोदने के बाद उसने अपना माल मेरी बीवी के दोनों संतरों पर छुड़ा दिया और लंड के सुपारे को दोनों निप्पल ऊपर रगड़ कर माल मलने लगा. कुछ देर सोचने के बाद मैंने भाभी से कहा- मैं तो कंडोम लेकर आया था लेकिन आपने तो मेरे पैसे बचा लिए.

मेरी सास एक हाथ से मेरा लंड सहला रही थीं और दूसरे हाथ से मेरे बाल पकड़ कर सिर पर हाथ फेर रही थीं. मैंने पूछा- वो कैसे? आपने उनका हाथ देखा है क्या?वो हँसने लगा और बोला- वो इसलिए कि उनको आप जैसी खूबसूरत वाइफ मिली है. आप अपनी पसंद का कोई भी ड्रेस ले लो, स्कर्ट या नीचे पहनने का, जो भी आपको अच्छा लगे.

अब नीचे से मुझसे रहा नहीं गया, मैंने अभी तक अपनी पेशाब को रोक के रखी थी. मैंने सोनू से कहा- मैंने कब कहा है कि करना है? तुम इतनी क्यों घबरा रही हो? क्या तुमने पहले कभी किसी आदमी का लंड नहीं देखा है?उसने बताया कि उसने लंड देखा है. और अपनी कमर उछाल-उछाल कर मेरा मुँह अपनी योनि में घुसाए जा रही थी कोमल.

मैंने सफाई देते हुए कहा- भाभी! वो अकेली हैं, मैं भी अकेला हूँ, बस यूँ ही मिल लेते हैं, और कुछ नहीं है.

अच्छी बात ये थी कि आधी रात का समय था, कोई हमें इस तरह देखने वाला नहीं था. ”मुझे कोई परेशानी नहीं है … हाँ अगर तुम्हें कोई परेशानी है तो बताओ … अगर कहो तो तुम्हारे लिए दूसरा कमरा ले लूँ?”नहीं कमरे की कोई जरूरत नहीं है … आप बहुत अच्छे है … मुझे आपके साथ कोई परेशानी नहीं … मैं एडजस्ट कर लूँगी.

उसके बाद वो दोनों थोड़ा सा और अंधेरे की तरफ चले गए और उसने मिशिका को नीचे बैठा कर उसके मुंह में अपना लंड दे दिया. मेरे अन्दर एक बेचैनी थी कि मैं एक लड़के के साथ अपने घर में अकेली हूँ. वे लोग अच्छे खासे ऊंचे घराने के लोग थे और वे लोग सभी प्रकार के सुख सुविधा से परिपूर्ण लोग थे.

अभी तक कुत्ते का लिंग थोड़ा बाहर था, पर अब उसका लिंग पूरी तरह बाहर आकर लाल दिख रहा था. एग्जाम खत्म हुआ और मैं तुरंत कॉलेज से बाइक उठाकर मेडिकल स्टोर गया और वहां से एक पैकेट कंडोम का लिया. नम्रता भी मस्त फटका आईटम लगती थी, बिल्कुल मेरी दोनों इन्हीं माल की तरह.

बीएफ हिंदी फिल्म बीएफ हिंदी इस बार वो और जोर से उछलीं पर मुझे रोका नहीं और अपने होंठों को भींच लिया. अब फ़िक्र करने की कोई बात नहीं है और मेरा इतना ख्याल रखने के लिए शुक्रिया.

सनी लियोन वीडियो बीएफ

कुछ देर बाद मैंने उन्हें घोड़ी बनाया और पीछे से एक ही बार में पूरा लंड पेल दिया. उसने थोड़े ही टाइम में मेरी चूत में ही अपना माल छोड़ दिया और खुद मेरे ऊपर ढेर हो गया. मैं जैसे जैसे आगे बढ़ रही थी, कुत्तों के गुर्राने और भौंकने की आवाजें आ रही थीं.

मैंने भी अपना सुपारा उसकी चुत पर सैट किया और हल्का धक्का मारा, तो उसकी हल्की चीख निकली ‘आह. यह कहानी जो मैं आपको आज बताने जा रहा हूँ, आज से लगभग दो या तीन साल पहले की है. सेक्सी चुदाने वाली व्हिडिओइस सेक्स स्टोरी के पिछले भागदीदी को चोद कर बीवी बनाया-1में आपने पढ़ा था कि मैं किचन में दीदी के पीछे खड़े हो कर उसके मम्मों को टच कर रहा था, जिसका वो कोई विरोध नहीं कर रही थी.

रात 11 के आस पास बजे होंगे, उसकी कॉल आयी- और जानेमन, क्या कर रहे हो?मैं बोला- कुछ खास नहीं … बस लेटा हूँ.

बस 5-6 मिनट बाद मैं भी उसकी चूत में झड़ गया और उठ कर अपने लंड को पानी डाल कर साफ़ किया. थोड़ी देर बाद मैंने हाथ इधर-उधर घुमाना शुरू कर दिया और हाथ को पूरी कमर पर फिराते हुए भाभी की चूचियों को छुआने लगा.

जब मुझे अकेले में टाइम मिलता या रात में लेटती थी, तो एकदम से मौसी के यहां जो हुआ, उन पलों की शुरू से अंत तक के सीन याद आते और फिर अपने आप ही मेरी चूत गीली हो जाती. तभी भाभी ने मेरे पास आकर मुझे दीवार से चिपका दिया और मेरे एकदम करीब आकर माफी मांगने लगीं. असली एहसास तो मुझको हमारे हनीमून पे मिला, जहां उन्होंने मेरे एक एक अंग को भरपूर रूप से तृप्त किया और मेरे हर छिद्र का भेदन किया.

जिससे मेरी आवाजें बगल वाले कमरे में मेरी सहली और उसके चोदू दोस्त को सुनाई दे रही थीं.

वो- अरे पहले बताते, मेरे घर पे एक रूम खाली है, हम किराये पे देते हैं, दो रूम तो पहले से ही फुल हैं. जब उसने मेरा देखा तो घबरा गई, मैंने अपना लण्ड उसके हाथ में दिया और उसे मुँह में लेने को कहा. वो मेरा लण्ड और मैं उसकी चूत चाट रहा था।मैंने उसकी चूत में अपनी एक उंगली डाली पर चूत इतनी टाइट थी कि मेरी उंगली आसानी से अंदर नहीं जा पा रही थी। फिर मैंने जैसे-तैसे अपनी दो उंगलियों को उसकी चूत में डाल कर उसे चोदना शुरू कर दिया। इसी बीच वो एक बार झड़ चुकी थी।तब अनामिका ने कहा- अब और न तड़पाओ मेरे राजा.

पुलिस वालों की सेक्सी वीडियो हिंदीसलोनी- अअअअ … हहह … ह्ह्ह्ह … ओह … उफ्फ्फ … ओह!सलोनी का मखमल सा कोमल बदन और उसकी गर्माहट, मेरे अंदर ऊर्जा का संचार करने के लिए काफी थे. जब वह खाना खत्म करके जाने लगी तो जाते हुए भी मेरी तरफ ही देख रही थी.

sex वीडियो hindi

चुचे से खेलते ही वो एकदम से गरम हो गयी और अपने हाथ से मेरे पैर को पकड़ कर अपने चुचे पर दबाने लगी. किसी भी जवान लड़की के साथ ऐसे मर्द का छूना टच करना उसको गर्म करने लगता है. शायद वो मेरी इस हालत को पहचान गयी क्योंकि वो मेरे पैंट को देख रही थी.

मेरी पिछली कहानीतन्हा औरत को परम आनन्द दियाको आप लोगों का बहुत प्यार मिला, जिसके लिए मैं आप लोगों का दिल से आभारी हूं. तब मैंने नीरू से कहा- बहन, मैं तेरी गांड मारना चाहता हूँ लेकिन उसमें तुझे थोड़ा सा दर्द होगा. एक बार मेरे सभी रूममेट्स फिल्म देखने बाहर गए हुए थे और रात के समय मैं अकेला बैठकर शराब पी रहा था.

उसने ही ये सब बातें मुझे बताई थीं कि बार बार एक ही लड़के के लंड से चुदवाने में उसको मजा नहीं आता है. पूरे गांव में इन तीनों औरतों ने मेरी मम्मी का नाम लेकर फैला दिया कि उसकी बेटी अब रंडी हो गई है. अब मुझे लगा कि मेरा निकलने वाला है तो बोली कि रस अन्दर ही गिराना, मैं तुमको अपने बच्चे का पापा बनाऊंगी.

तीन साल के लिए बैठी रहेगी घर … और ये लेटर भी तो अख़बार में देने लायक है …” सर ने कहा।सर प्लीज़ … ऐसा मत कीजिए. मैं बोला- ऐसा क्या? तो उसको भी अपने पास बुला लो न … आप दोनों का टाइम पास हो जाएगा.

शुरुआत में मेरा ऐसा कोई इरादा नहीं था … लेकिन ये बात उस समय की है … जब मेरी बहन को मेरी गर्लफ्रेंड के बारे में पता चल गया.

वो आकर पलंग पर बैठ गई और पूछा- कैसा लगा सरप्राइज?मैंने सुषी का हाथ पकड़ कर कहा- इससे अच्छा सरप्राइज मुझे आज तक नहीं मिला. गुजराती सेक्सी वालीलता बोली- ट्राई जल्दी करनी है, दो-तीन दिन में मेरे हस्बैंड टूर से वापिस आ जायेंगे, उनके सामने या किसी पड़ोसन से यह बात न कर ले. सेक्सी एक्स मास्टर’मैंने कल्पना के माथे और होंठों को चूमते हुए कहा- कुछ भी नहीं होगा, बस दो मिनट में दर्द चला जाएगा. मैंने उसकी गांड में लंड घुसेड़ा और शीला चूतड़ उठा उठा कर गांड मरवाने लगी.

रवि मेरी बीवी ऋतु के साथ थ्री सीटर सोफे पे था और मैं बगल के टू सीटर सोफे पे बैठा था.

हैलो, मेरा नाम अश्विनी है, सब मुझे आशु बुलाते हैं, मैं दिल्ली में अपने पति के साथ रहती हूँ. तब उसने मेरी चुत पर किस करने के लिए अपने मुँह को मेरे चुत के पास लाया और जैसे ही आशीष ने मेरी नंगी चुत पर अपने होंठ रखे, मैं उछल पड़ी. चूंकि मैं पहली बार लिख रहा हूँ तो यदि लिखने में कुछ गलती हो जाए, तो प्लीज़ मुझे माफ़ कर देना.

वो दोनों वहां से चले गए, ये सारी बातें पान दुकान वाला राजू मुँह खोल कर सुन रहा था. वो आई और उसने मुझे टॉवेल देने के लिए हाथ आगे बढ़ाया तो मैंने पूरा डोर ओपन कर दिया और जैसा कि मैंने सोचा था. मैंने उससे बोला- मुझे कोई प्रॉब्लम नहीं है, बस तू अपने घर पर पूछ ले.

बांग्ला एचडी बीएफ

मेरी झक्की खुल गई और मैं बेसाख्ता बोलने लगा- ओह तुम … यार बड़ी मस्त आवाज़ है तेरी … एकदम एकदम गांड फाड़ दी. ऐसे लोगों की बांहों में उनकी टांगों के नीचे होगी, तुझे ऐसे मस्त लोगों से मिलवाऊंगा कि तू कायल हो जाएगी उन मर्दों के लंड की … अभी सब मैं बहुत जल्दी में कर रहा हूं, नहीं तो तुझे चोदने से पहले एक बोतल दारू पीता, फिर तुझे हाथ लगाता. तो वो लंड के सुपा़ड़े को मुँह में लेकर चूसने लगी और धीरे-धीरे जितना लंड अंदर जा सका चूसने लगी.

उसके बाद उसने मेरी बीवी के दोनों चूचुक अपने दांतों से काटने शुरू कर दिए.

कल्पना- बस 5 मिनट वहीं रुको, अभी थोड़ी देर में तुम्हारे पास एक ब्लैक कलर की होंडा सेडान आकर रुकेगी, उसमें बैठ जाना.

मैनेजर ने मेरी बीवी का इंटरव्यू लिया और मेरी बीवी इंटरव्यू में पास हो गई. एक ऐसा माल जिसे देखकर, जितने बाराती थे, बड़े बूढ़े … साला जिसका खड़ा ना होता हो … उसके लंड को खड़ा कर दे. ओन्ली मराठी सेक्सीकल से रेगुलर कमलेश सर से ट्यूशन अच्छे से पढ़ना और मैं उस लड़के से बात करूंगी.

यही कोई 12-13 मिनट तक मैंने उसे हचक कर चोदा और चूंकि मैंने कंडोम लगाया हुआ था तो उसकी बुर में ही मेरा पानी निकल गया. मैंने अपनी जुबान को उनके मुँह में डाला, तो वो पागलों की तरह उसे चूसने लगीं और मैं उनके मुँह को जुबान से अन्दर बाहर करके चोदने लगा. कुछ पल यूं ही रुकने के बाद मेरी सांस लौटी और मैं जैसे ही दर्द से चिल्लाने को हुई, मयूर ने अपने होंठों का ढक्कन मेरे मुँह पर लगा दिया.

उस दिन दोपहर को जब मैं खाना बना रही थी, तब मयूर किचन में आया और उसने मुझे पीछे से कस के पकड़ लिया. मैंने पीछे हाथ ले जाकर उसकी ब्रा का हुक खोल दिया और बिना ब्लाउज़ उतारे उसकी ब्रा निकाल दी.

मैंने सोनू से कहा- मैंने कब कहा है कि करना है? तुम इतनी क्यों घबरा रही हो? क्या तुमने पहले कभी किसी आदमी का लंड नहीं देखा है?उसने बताया कि उसने लंड देखा है.

सुजाता बोलने लगी- तुमको किसने बोला है?रमेश बोलने लगा- मेरे को सब मालूम है अजय का और तुम्हारा क्या लफड़ा रहता है. मैंने अपना मुँह खोल दिया तो मैक ने मेरे मुँह में अपना लंड डाल दिया और उसे जैसे ही घुसाया, तो उसके लंड से बाकी बचा गरम गरम रस मेरे मुँह में भरने लगा. मुझे एक ऐसे दर्द का एहसास कराया, जो मैं अब जीवन भर लेना उनसे चाहती थी.

सेक्सी बुर चुदाई चुदाई चुदाई कहाँ से किया है और मेरी ट्रेड क्या थी? यही सब नॉर्मल बातें हुई और वहीं पर मुझे ये मालूम चला कि शिखा की ट्रेड कंप्यूटर साइंस थी और मेरा तो इलेक्ट्रॉनिक्स एंड कम्युनिकेशन था और इसी तरह थोड़ी बहुत बातें हुईं. धीरे से निहारिका के कान के पास अपने होंठों को ले गया और मैंने उससे पलंग पर चलने को कहा.

लंड चूसते चूसते मैंने अपनी गांड उठा फुद्दी को ऊपर किया, जिसको अजय समझ गया और उसने अपने होंठ मेरी गर्म फुद्दी पर टिका दिए. मैं अपने बॉयफ्रेंड के लंड पर कूदने लगी और वो मजे से मेरी चूत में अपना लंड डाल कर सेक्स का मजा ले रहा था. वो खुद अपने हाथ से उसे खड़ा करने की कोशिश कर रहा था, पर इतनी जल्दी उसका कैसे खड़ा होता.

भाभी और देवर की सेक्सी बीएफ वीडियो

वो एकदम से गनगना उठी और अपनी गांड उठाते हुए मेरे मुँह की तरफ चूत को रगड़ने लगी. मैं एक अदद लंड को बुरी तरह तरस रही थी।उन्होंने इसी मंच से मेरे लिये हेल्प मांगी थी और जो लोग दिये थे, उनमें भी ज्यादातर बेसब्रे और डरपोक किस्म के ही निकले। वह एक सीधा सिंपल लॉजिक नहीं समझ पाते कि मैं एक शादीशुदा औरत हूँ और कुछ भी हो, मैं अपने विवाहेत्तर सम्बंधों के चलते अपनी निजी जिंदगी और तबाह तो करूँगी नहीं, जो पहले ही ठीक नहीं ही है. मैं गांड हिलाते हुए लंड लेने लगी और मैंने भैया से कहा- मार और जोर से … और तेज मार … फाड़ डाल.

जब वो शांत हुईं, तो मैंने उन्हें डॉगी पोज़िशन में होने को कहा और वो झट से हो भी गईं. साथ ही नामित और निक अपनी चटाई और मसलाई करके मेरी वासना को और बढ़ा रहे थे.

मैं हाँफ रहा था और कोमल ने मेरे सारे वीर्य को अपने अंदर गटक लिया था.

जगत अंकल बोले- राज, अब इधर ध्यान दे … और बता पहले कहां चलना है?मम्मी बोलीं- राज जीजा, सबसे पहले दुकान में ही चलो, पहले खरीददारी कर लेते हैं … फिर ही कुछ और सोचना या और कहीं चलना … नहीं तो दुकान बंद हो जाएगी. साथ ही उसने भी अपनी गति बढ़ा दी और मेरी ताल के साथ ताल मिलाते हुए वाणी की सामने से चुदाई करने लगी. जब उसका लंड खड़ा हो गया तो उसके बाद उसने मुझे लेटाया और अपना 9 इंच का लंड मेरी चूत पर टिकाते हुए बोला- जान, जरा संभाल लेना.

चूत पर लंड का सुपाड़ा टिकते ही लता भाभी ने अपनी आंखें बंद कर ली और तरह-तरह की शी… शी… की आवाज़ निकालने लगी. मेरी ऐसी कामुक प्रतिक्रिया देख सरदारजी का सब्र टूट पड़ा और उन्होंने मेरी जांघें पकड़ सीधा घुटनों के बल खड़े होकर मुझे थोड़ा ऊपर उठा कर धक्के मारने शुरू कर दिए. लेकिन वह रोने लगा।बड़ी मुश्किल से मैंने उसे चुप करवाया और लगातार समझाने की कोशिश करती रही कि इस उम्र में ऐसा आकर्षण सहज स्वाभाविक प्रतिक्रिया है, इसमें ज्यादा ध्यान देने की जरूरत नहीं। मेरे लगातार नकार ने शायद उसमें झुंझलाहट पैदा कर दी.

” मैं अब उसका यूँ पीछा छोड़ने को तैयार नहीं थी।मतलब?” उसने अर्थपूर्ण निगाहों से मेरी तरफ देखा।कुछ हेल्प कर दोगे ना … प्लीज़ …” मैंने उसकी तरफ प्यार भरी मुस्कान उछालते हुए कहा।मुझे अपना पेपर भी तो करना है … बाद में कुछ टाइम बचा तो ज़रूर …” उसने फॉरमेलिटी सी पूरी कर दी।प्लीज़.

बीएफ हिंदी फिल्म बीएफ हिंदी: उसे पीछे खींच कर उसके होंठों को चूसने लगा और बोला कि चल अब तेरी बारात निकालता हूँ साली. वैसे हमारी वॉट्सएप्प पर रोज बातें होती थीं और हम खुल कर सम्भोग संबंधी बातें भी करते थे.

जो मुझसे चार-पांच साल बड़ी होतीं या जिनका शरीर मेरी पसन्द का होता था. वह दादा साहेब ठाकुर ने अपने लंड का जोर से झटका मेरी चूत में मारा, तो मैं चीख उठी … चिल्ला उठी. मेरी एक उंगली मामी की चूत में क्या गई, वो तो एकदम से कामुक आवाजें लेते हुए जोर से ‘अओउउ.

रिशु भी समझ गया कि मिशिका अब उसके लंड को अपनी चूत में लेने के लिए कह रही है.

उसने मेरी कामोत्तजना इस प्रकार और अधिक बढ़ा दी क्योंकि अब उसका लिंग हर धक्के पर मेरी बच्चेदानी को चूम रही थी. आह्ह … आह्ह … ओह्ह … चोदो … आह्ह … उम्म … करो … कहती हुई वह चुदाई करवा रही थी. मैं भी अब ये जान गई हूं कि मेरे लिए हर एक मर्द की सिर्फ यही चाहत होगी, उसका यही अरमान होगा कि एक बार मुझे पा ले और मेरे साथ एक रात गुजार ले.