हिंदी में बीएफ ओपन वीडियो

छवि स्रोत,भाई की चुदाई वाली बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

बड़ा गांव वाला सेक्सी: हिंदी में बीएफ ओपन वीडियो, कुछ देर तक चूचों को दबाने के बाद उन्होंने मेरी कमीज को निकलवा दिया.

बिहार का देसी बीएफ वीडियो

दोस्तो, मैं बस इतना कहना चाहूंगा कि आप अपने भाई या बहन से शर्माओ मत … उन्हें खुलकर बोलो. बीएफ सेक्सी देखना है वीडियोसंजय से संयम नहीं हो रहा था, इसलिए उसने जल्दी से अपना लंड मोनिषा आंटी के मुँह में दे दिया और कहा कि मोनिषा आंटी आज आप मेरे लंड को चूसोगी.

मुझे चुदाई से ज़्यादा मज़ा चूत चाटने और होंठों को चूसने में आता है, मैंने उसको ख़ूब समूच किया।बीस मिनट तक मैंने उसकी चूत को ख़ूब चोदा. बिहारी बीएफ चोदने वालाएक बार भाई एक महीने के लिए बाहर गए तो …दोस्तो, मेरा नाम मनीष है … और मैं इंदौर से हूं.

पता नहीं क्यूं मुझे ऐसा लग रहा था कि मुझे उनसे मोहब्बत हो गयी थी।थोड़ी देर किताब खोल कर बैठा, फिर टीवी चालू कर ली और मूवी देखने लगा.हिंदी में बीएफ ओपन वीडियो: नई शर्त के अनुसार उन्हें पूरी तरह निर्वस्त्र हो जाना था, यह बात उन्हें बेचैन कर रही थी और हॉल में मंगल भी मौजूद था.

घर आ कर मेरा मन बिल्कुल भी शांत नहीं था क्योंकि मैंने उनके जिस्म का वो हिस्सा देख लिया था, जो नहीं देखना चाहिए था.मैंने उसकी पेन्टी हटा दी और अपना मुँह उसकी बुर पर रख कर चूत चाटने लगा.

भाभी देवर की चुदाई सेक्सी बीएफ - हिंदी में बीएफ ओपन वीडियो

रीता चूंकि पुरानी चुदक्कड़ थी, इसलिए कुछ ही पलों में उसने मेरे लंड को झेल लिया.सुनील ने अपनी आंखें बंद कर लीं- सऽऽऽ आहऽऽऽ भाभी … जादू है आपके हाथों में.

मगर यहां पर दिलचस्प बात ये थी कि सोनू के इम्तिहान आने वाले थे इसलिए आंटी उसको घर पर ही छोड़ कर जाने के लिए बोल रही थी. हिंदी में बीएफ ओपन वीडियो उनकी पहली पत्नी से एक बेटा है जिसकी उम्र बीस साल के ऊपर होने वाली है.

मैं भी चुदासी हो गई थी क्योंकि मेरा कुछ महीने पहले मेरे ब्वॉयफ्रेंड से झगड़ा हो गया था और मेरी चूत को लंड की बेहद जरूरत थी.

हिंदी में बीएफ ओपन वीडियो?

लगभग पांच मिनट में ही भाभी का शरीर अकड़ने लगा और वो मेरा सिर पकड़ कर अपनी बुर में दबाने लगी. इस बार 15 मिनट बाद मेरा काम हो गया और मैं सीधे अपने कपड़े उठा कर आगे वाले रूम में चला गया. ज्योति ने भी मुझे हाय बोला और कहा- तुम्हारे बारे में मैंने बहुत सुना है … तुम वास्तव में एक होशियार और दोस्ताना स्वभाव के आकर्षक लड़के हो.

प्रतिउत्तर में मैंने भी पहले तो उसके माथे पर चुम्बन लिया, फिर उसके दोनों गालों को चूमने लगा. पूजा- मुझे पहला लड़का 11 वीं क्लास में मिला था, जो अकेले में मुझसे बहुत ही मीठी मीठी बात करता था. कुछ देर तक उसके गालों को प्यार से चूमने के बाद मैंने उसके कानों पर किस किया तो उसका चेहरा शर्म से लाल हो गया.

मैंने गुस्से में कहा- यार, ये कैसी पढ़ाई है?वंदना ने हंस कर कहा- ये कामसूत्र है. यहां पर मेरा मतलब मामी के फोन नम्बर से नहीं बल्कि मामी की चूत से था. बात आज से 2 हफ्ते के पहले की है जब सुशी मुझे मिलने के लिए बुलाती थी और हम दोनों चुदाई करने की कोशिश करते थे.

मैंने उसे लिटाया और उसकी चूत में अपनी जीभ से चुदाई करना शुरू कर दिया. पर मैंने उसकी एक न सुनी और थोड़ी देर में एक और ज़ोरदार धक्का दे मारा, जिससे मेरा पूरा लंड उसकी चुत को चीरता हुआ अन्दर चला गया.

सुरेश बोला- सरस्वती, अब हम चुदाई करने जा रहे हैं … और देखना हमें, देख कर ही तेरा पानी खुद निकल जाएगा.

काफी देर तक उसके लंड को चूसने के बाद दीदी ने उसके लंड को निकाला तो उसका लंड दीदी की लार से एकदम चिकना होकर चमकने लगा था.

उस वक्त उसने एक बिना आस्तीन का टॉप पहना हुआ था, जिसमें से उसके मम्मे एकदम तने से दिख रहे थे. एक चादर से जांघों को ढक लिया और उसके चूचों के बारे में साचते हुए लंड को हिलाने लगा. क्योंकि इतने लोग आपके सामने संभोग कर रहे हों और आप को कुछ हुआ न हो, ऐसा तो केवल नपुंसकों के साथ हो सकता है.

मैंने बोला- ठीक है नहीं बोलूँगा, पर उससे मुझे क्या फायदा होगा?वो बोलीं- तू जो बोलेगा, मैं करूंगी, बस तू ये बात किसी से मत बोलना. मैं वाशबेसिन पर झुका था, वे मेरे चूतड़ सहलाने लगे, बोले- यार तू क्या मस्त चीज है. जब तक मैं वहां रहा, मैंने अपने मकान मालिक की बेटी की चूत को जमकर चोदा.

बुआ पहला सिप लेते ही बोलीं- ये तो बड़ी कड़वी है यार … लोग कैसे पी लेते हैं.

मैंने कहा- मौसी की बात मानना … ये बहुत कमीनी है, जितना चाहे उतने लोगों को चढ़वा देगी, तू मना मत करना. मैंने फिर भी उससे कहा- क्यों … मजा नहीं आया क्या?वो बोला- पानी भर तो निकला है, ऐसा तो मैं मुठ मार कर भी निकाल लेता हूँ. मैंने पूछा- तैयारी कैसी है?वो बोली- सब तैयार है, बस मैथ नहीं तैयार है.

उसकी इस बात को सुनकर मुझे कुछ अजीब सा लगा … पर मैं खुद ऐसे ही एक दौर से गुजर चुका था, इसलिए मैंने उसे ही अपना प्यार मान लिया. मैं रात को मुठ मार कर सोने लगा, लेकिन 5 मिनट बाद मेरा लंड फिर से तन कर रॉड जैसा हो गया. वो बोली- हां, आज इसकी सारी खुजली मिटा दो यार… आह्ह … चोदो, और जोर से चोदो … अपने चाचा की जवान बेटी की चुदाई करो!मैं तेजी से उसकी बुर को चोदने लगा.

सेक्सी तो वो थी ही … ऊपर से टच कर रही थी, तो मेरा लंड जींस फाड़ने को रेडी होने लगा था.

मैंने भी आंटी के दूध दबाते हुए कहा- क्यों नहीं मोनिषा आंटी … अभी लो. मैंने चाची की चुदाई करने का प्लान सोचना शुरू कर दिया लेकिन मुझे कुछ समझ नहीं आ रहा था कि मैं यह कैसे कर पाऊंगा.

हिंदी में बीएफ ओपन वीडियो दोस्तो, मुझे उम्मीद है कि मेरी गर्लफ्रेंड सेक्स की कहानी आपको पसंद आई होगी. मैंने शादी के एक दिन उससे बोला- चलो खेत पर चलते हैं, वहां कोई नहीं रहता है.

हिंदी में बीएफ ओपन वीडियो मैं तुरंत भाभी की गांड से लंड सटा कर उनकी गांड में अपना लंड डालने लगा. मेरी चूत की कहानी में पढ़ें कि कैसे मेरी दोस्ती पड़ोस के एक जवान लड़के से हुई और वो मुझे छोड़ना चाहता था.

मैं अपनी वासना से डूबी नज़रों से भाभी के नीचे से ऊपर तक की एक एक चीज को देख रहा था.

मिया खलीफा की सेक्सी वीडियो फुल एचडी

उनकी तरफ से कुछ भी जबाव नहीं आया, तो मैंने ये उनकी स्वीकृति मान ली. उस लड़के ने मुझसे दो मिनट वहीं सोफे पर बैठने को कहा और दोनों मियां बीवी एक रूम में चले गए. क्या मज़ेदार समय था यारो … क्या जूस था दस्तूर के होंठों का … आह … वो भी मेरा पूरा साथ दे रही थी.

आधा लंड डाल कर मैंने बाहर निकाल लिया, फिर आधा ही अन्दर बाहर करने लगा. उसने हॉल के बीचों-बीच वस्त्रहीन जॉयश को उतार दिया और खुद एक गुलाम की भांति हाथ बांधकर एक तरफ खड़ा हो गया. इसलिए जैसे जैसे उसका बड़ा मूसल सा लंड मेरी चूत में घुस रहा था, मुझे जोर का दर्द हो रहा था.

साहब का लंड मेरी चूत को फैलाता हुआ अंदर जाने लगा लेकिन बीच में ही अटक गया.

कोई पांच मिनट बाद मैंने कहा- मेरा छूटने वाला है रेनू … मैं क्या करूं?भाभी बोली- चिंता मत करो मेरे राजा … मेरी चूत में ही अपना माल निकाल दो. मैं समझ गई और मैंने भी उसे बिस्तर में आने के लिए अपनी बांहें फैला दीं. अब बताओ दोस्तो … मैं क्या करूँ जिससे उसको ज्यादा तकलीफ भी न हो और सेक्स हो जाये।कृपया अपना सुझाव अवश्य दे क्योंकि मैं वर्जिन हूँ … मैंने आज तक कभी किसी के साथ कोई सेक्स नहीं किया है।सुझाव देने के लिए ईमेल करें-[emailprotected]पर!आगे की कहानी:दोस्त की बहन मुझे लव करती है-3.

क्योंकि भैंस की वजह से मम्मी को सुबह जल्दी उठना पड़ता है और सारा दिन घर के काम रहते हैं, तो वो बहुत ही गहरी नींद में सोती हैं. फिर कुछ मिनट के बाद मॉम की चूत झड़ गयी, लेकिन मेरा लंड अभी भी खड़ा था. मैंने उसकी कमर पकड़ ली और जांघें ज्यादा फैला दीं और टांगें उठा कर उसकी जांघों पर चढ़ा दिया.

उस दिन उन्होंने एक आसमानी रंग का चिकन सूट पहना था और आप सबको तो पता ही है कि वो कितना अच्छा लगता है जब कोई भी 32 साल की महिला पूरे विकसित दूधों पर उसको पहनती है. मगर मेरी ज़िंदगी में बहुत कुछ ऐसा हुआ, जो सामान्य नहीं था, जिसने मुझे असामान्य बना दिया.

फिर भी मैं उनके घर जाता रहा और वो मुझसे चिढ़ने लगी।और एक दिन ऐसा आया कि मैं सुशी के भाई विक्की की पढ़ाई में कुछ मदद कर रहा था उसी के घर में … और उसी दिन विक्की से मिलने कोई लड़की आयी. भाभी बोली- वो कैसे?मैं बोला- भाभी आपको लंड चूसना और लंड से चुदवाना बहुत अच्छे से आता है. उसने कार को घर के अन्दर किया, खुद पहले उतर कर घर का मेन गेट खोला और अन्दर जाने लग गई.

पहले तो चूतिये ने साफ़ मना कर दिया- मैं तो बाजार जाकर नहीं लाने वाला.

भैंस भी इसलिए रखी थी कि पिताजी सोचते थे कि घर का दूध होगा, तो बच्चे सेहतमंद होंगे. भाभी ने मेरे लंड को हाथ में लिया और उसे सहलाते हुए बोलीं- मैं तुम्हारी रखैल हूँ … इस रखैल को तुम चाहे जैसे चोदो, मैं मना नहीं करूँगी. तभी मोनिषा आंटी ने मेरे लंड को मेरी पैंट के ऊपर से ही पकड़ा और कहा- ओ माय गॉड … तुम्हारा लंड इतना मोटा और इतना लम्बा है.

थोड़ी देर में उसका लंड आराम से अंदर जाने लगा और मुझे भी मज़ा आने लगा।कुछ देर बाद ही वो गांड से फिर चुत पर आ गया और बोला- नीरू रानी, आज से तू मेरी रंडी बन जा।मैंने उसको कुछ नहीं बोला क्योंकि मुझे एक ही लंड से बार बार नहीं चुदना था. अपनी थोड़ी सी बेशर्मी और बदतमीजी की बदौलत मुझे ज़िंदगी भर याद रहने वाली यादगार चुदाइयां करने का मौका मिला.

अमित अभी तक मुझे कहीं प्यार नहीं मिला … और मैं जैसी मोटी, भद्दी हूँ, उसे देखकर मुझे नहीं लगता कि आगे भी मुझे प्यार मिलेगा. तो वह समझ गयी और कहने लगी- यह सब नहीं!लेकिन मैंने फिर से ज़िद की और वह मान गयी।मैंने फिर से उसको किस करना शुरू किया, इस बार दोनों ही मूड में आ गए। मैंने किस करते हुए एक हाथ उसके दूध पर रख दिया और बुर्के के ऊपर से ही सहलाने लगा. मैंने उसके दूध दबाते हुए कहा- तुमने अपनी दीदी को देखा है … मैंने ही उसे फूल बनाया है … क्या तुम वैसी नहीं बनना चाहती हो?वो मुस्कुराई- मुझे उससे भी ज्यादा मस्त बनना है.

गुजराती गुजराती सेक्सी

पीछे से चढ़ती हुई भीड़ के कारण हम दोनों ससुर बहू को संतुलन बनाना मुश्किल हो रहा था.

उसने मेरी दोनों चूचियों को मन भर चूसा और मेरा हाथ अपने लंड पर रखवा दिया. जहां तक मुझे पता है, मेरे सिंगापुर से लौटने तक दोनों ने एक दूसरे के जिस्म को हर रात भोगा. बुआ चुदास भरी आवाज में बोलीं- आह … केशव अब मत तड़पा … जल्दी से डाल दे मेरी चुत में अपना मूसल …मैंने बुआ की टांगों को फैला कर उनके बीच में बैठ कर अपना सुपारा चुत के छेद पर लगा कर एक तेज झटका दे मारा.

एक तरफ चुदी हुई पूजा और दूसरी तरफ चुदासी कमसिन संध्या … वो तो अच्छा था कि मैं पूरी तैयारी के साथ आया था. मैं उनकी टांगों को हवा में उठा कर आंटी की गांड के छेद को अपनी जीभ से चाटने लगा. हिंदी फिल्म की हीरोइन की बीएफमैंने धीरे से उसकी लेग्गिंग नीचे खिसका दी, उसने कोई विरोध नहीं किया.

जब मेरा हाथ मॉम की चिकनी चूत के पास गया, तो मॉम ने अपने दोनों पैरों को फैला लिया. सब देख रही थी; अब सभी को मज़ा भी आ रहा था और अपनी बारी का इंतजार कर रही थी कि कब मंगल उनके नंगे जिस्म को अपने आगोश में लेगा.

उसने मुझे फिर समझाना शुरू किया कि बचपन में सरस्वती से मेरे लिए ही बात करता था, पर जब शादी हुई तो भूल गया. उनके बहुत बड़े बड़े दूध थे, सेक्सी कमर और बहुत ही मोटी गांड थी … जिसकी चुदाई के लिए आपका भी मन मचल जाएगा. उनकी सास ने बोला- हां देख लो … बेचारी सुबह से अकेले ही परेशान हो रही है.

उसने मेरे होंठों पर अपने होंठ रख दिए और बोलने लगी- अब और मत तड़पाओ!मैंने भोलेपन से कहा- मसाज तो कर लेने दो मुझे!वो बोली- मुझे नहीं करवानी मसाज वसाज … मैं तो आपके घर पर ही आपको अकेला देख कर चुदने को तड़प रही थी. अभी मुझे सौम्या की चुत चाटते हुए एक मिनट ही हुआ होगा कि अचानक उसने मुझे धक्का मारा और मेरे अंडरवियर को उतारने को कहा. वो चुदक्कड़ भाभी तड़पते हुए कहने लगी- सरदार जी, इतना मत तड़पाओ, मैं बहुत दिनों से प्यासी हूं.

थकान इतनी हो गयी थी कि दोनों को कुछ याद ही नहीं रहा कि कैसे सोए हैं.

अब हम दोनों बिस्तर पर दीवार से टिक के एक दूसरे की बांहों में समाये हुए बैठे थे. उसने कहा- मैडम, अंदर नहीं आने दोगी?तो झट से मैंने उनको रास्ता दिया.

उसके लंड के आकार का अंदाजा मैं उसके पैंट के ऊपर ही लगा रही थी और उस स्पर्श से मैं फिर से जोश में आने लगी थी. हम दोनों भी सामने वाले सोफे पर बैठ गये और आंटी अंदर किचन की तरफ चली गई. ये भी जानती हूँ कि तुम मुझे कैसे घूरते हो, जैसे तुम अपना लंड मेरी चूत के आर पार करना चाहते हो.

मैं उसकी चुत को अपनी जीभ से चाटने लगा, तो रोनिता एकदम पागल हो गयी और कामुक सिसकारियां लेने लगी- अहह यहहह सक मी … मममम अह्ह्ह कम ऑन … अहह ममम ऐसे ही चूसो ज़ोर से … अह्ह्ह …मैंने अपनी जीभ से उसके दाने को खूब चाटा. ऐसा करने के लिए मैं अपने लण्ड को पूरा घुसाने के बाद पूरी ताक़त से चूत पर दबाता हूँ जिससे मेरे लण्ड का सुपारा नहीं दबता औरत की चूत का वो भाग दबता है जिससे वो झड़ जाए. काफ़ी देर की ऊहापोह के बाद दस्तूर समझ गयी और बोली- ठीक है आप मुझे जल्दी से घर छोड़ दो.

हिंदी में बीएफ ओपन वीडियो मैं- फिर आगे क्या हुआ?पूजा- मेरे ज्यादा बोलने पर उसने मुझे डांट दिया. इसके बाद मैंने उसकी चुत के अन्दर उंगली घुसेड़ दी और उसे टांगें चौड़ी करने को कहा.

जिम सेक्सी एचडी

मैं रुका नहीं, उसने मुझे हल्का पीछे धक्का देना चाहा … लेकिन मैंने उसे जकड़ लिया और तेजी से उसकी चूत मारने लगा. ठीक इसी के बाद उसने मुझ पर जोर देना शुरू कर दिया कि प्रीति के साथ उसकी मुलाकात करवाऊं. जैसे तैसे करके हम लोग पालदा में कार्ड देने के बाद वापस आते हुए इंदौर पहुंच गये.

राजशेखर ने कहा- बिल्कुल मेरी जान, इसकी प्यारी गीली चुत खराब थोड़े करूंगा. मैंने भी हल्की सी मुस्कान बिखेर दी और कुर्सी पर चाय पीते हुए बैठ गया. ससुर बहू की बीएफ ससुर बहू की बीएफसुरेश के धक्के मुझे इतने तेज और जोरदार लग रहे थे कि मेरे स्तन हिल हिल कर गले तक ऊपर चले जा रहे थे.

मैं आशा करती हूं कि हर बार की तरह ये उत्तेजक और गर्म कहानी भी आपको पसंद आएगी.

मेरे लंड को तो उसके चुचे देखने की आग लग गई थी तो मैंने कहा- तुम अम्मी से कुछ मत कहना. जिसका दर्शन मिहिर को उर्वशी की आंखों में देखने पर हो रहा था और उर्वशी को मिहिर की आंखों में देखने पर.

अपने बेटे प्रकाश की छाती को नंगी कर दिया मैंने और फिर उसके जिस्म को चूमने लगी. मेरा मन उसके मम्मों को ज़ोरों से दबाने और मुँह में लेकर चूसने को कर रहा था. चूंकि ये उसका ही शहर था और वहां सब जान पहचान वाले भी थे, इसलिए उसका डरना लाजिमी था.

मैं- सोनीपत में कहां आना है?रीता- मैं सोनीपत से हूँ उधर रहती नहीं हूँ.

मैंने कई मिनट तक उसके लंड को चूसा तो उसने मुझे हटा दिया और फिर नीचे फर्श पर गिरा लिया. भाभी ने मस्त होते हुए कहा- आह … मेरे कुत्ते को कुतिया की गांड बहुत अच्छी लग रही है … आह क्या मस्त चाटता है. वो तेजी से मुंह से मच-मच की आवाज करते हुए मेरी दीदी की चूत को चाट रहा था.

बीएफ कॉम बीएफमैं- क्यों तुम्हारी पत्नी कुंवारी नहीं थी क्या, जो इतनी टाइट लग रही थी वो. भाभी बोलने लगीं- मैं ये बात तेरी मम्मी को और सबको बता दूंगी कि तुम मेरे मैसेज और फोटो वगैरह देखते हो.

एक्स एक्स एक्स वाली सेक्सी वीडियो

उसने मुझे टाइट पकड़ रखा था, तो मैंने भी उसके चूतड़ों को दबा कर मजे लिए. वो मॉम के पेटीकोट को ऊपर करके अपना लंड, मेरी मॉम की मोटी गांड में डालने लगा. मैं उम्मीद करता हूँ कि मेरी ये सेक्स कहानी आप सबको उत्तेजित और खुश कर देगी.

लड़के तो मिलने आएंगे ही; आनंद लें उनका भी मजा लें … शाम तक थकान छू मंतर हो जाएगी. मिहिर ने पहली रात को कहा था कि वो नाश्ते के समय पर पहुंच जायेगा और मेरे घर आकर ही नाश्ता करेगा. इतने से ही हिलाने में उसके लिंग से एक तरल बूंद उसके मूत्रद्वार पर आ गयी.

ज्योति मेरे बालों में अपना हाथ फिरा रही थी और मेरे मुँह को अपने स्तनों पर जोर-जोर से दबा रही थी. मैं और भी जोश में आ गया और जोर जोर से मोनिषा आंटी की चूत को चूसने लगा. शायद उसने अपनी बेटी को भी डांटा होगा, उसके बाद वो भी मुझसे कन्नी काट गई.

गांड मराने का शौक रखने वाले मेरे सारे गे दोस्तों को मेरा प्रणाम, उनको भी जो माशूक चिकने लौंडों की गांड को अपने मस्त लंड के गांड फाड़ू धक्कों से फाड़ कर रख देते हैं. मैं उनके एक चूचे को चचोरने लगा और धक्का मारते हुए मैंने बुआ की चुत को अपने पानी से भर दिया.

सौम्या ने मुझे बड़ी प्यार से देखा और मुझसे लिपट कर कहा- तुम आज बहुत मस्त लग रहे हो.

मैंने भी अब उठ कर उसकी टांगों को ऊपर उठा लिया और उसकी चूत में लंड को पेलने लगा. ब्लू पिक्चर बीएफ देसीवो तेजी से मुंह से मच-मच की आवाज करते हुए मेरी दीदी की चूत को चाट रहा था. मोटी भाभी का बीएफक्या मस्त फन्टिया दिख रही थी वो … उसकी उम्र 19 साल थी, लेकिन मुझे तो वो कमसिन सी दिख रही थी. मैंने उसकी चूत की चुदाई को जारी रखा और अगले दो मिनट तक मजे लेकर उसकी चूत में धक्के मारे.

मैं उसके सुपारे को मुँह से घर्षण प्रदान करने लगी और बीच बीच में जुबान से चाट चाट कर थूक से लिंग सुपारे से लेकर जड़ तक गीला करने लगी.

फिर मैंने बिना देर किए आप लोगों की सलाह के अनुसार अपने लंड पर और अपने दोस्त की बहन की चूत में उंगली से वैसलीन लगाती. एक दिन चाचा जब घर पर नहीं थे तो चाची ने काम के बहाने से मुझे रात को घर पर बुला लिया. मेरे मोटे चूतड़ और कम ऊँचाई की वजह से उसका लिंग मेरी योनि में गहराई तक नहीं जा रहा था.

अब ऐसा क्या हुआ, वो सब मैं आपको बताने जा रहा हूँ, ये शुरुआत की बात है, मगर इसके बाद भी ऐसा बहुत कुछ हुआ था, जिसने मेरी ज़िंदगी ही बदल दी. जब तक भाभी का पानी नहीं निकल गया तब तक मैं उनकी चूत चूसता रहा।पानी निकलते ही भाभी निढाल होके बिस्तर पे गिर गईं।कुछ देर बाद भाभी ने मेरा लण्ड अपने मुंह में ले लिया और चूसने लगीं. तब ये सुनकर मैंने भी सोचा कि एक बार तुम्हारी मॉम की गांड चोदने को मिल जाए.

सेक्सी आयल

दूसरे दिन भी में शूट पर गया और शूट खत्म होने के बाद हम दोनों बातें करने लगे. ज्यादा लड़कियों को चोदने और मुठ मारने की वजह से मेरा लंड थोड़ा टेढ़ा था. बात पिछले ही कुछ दिन पहले की है जब मेरी मुलाकात फेसबुक पर एक भाभी से हुई.

मैं झट से उठा और दरवाजे की सिटकनी खोल कर फिर उन्हीं के ही घर में सोफ़े और दीवार के कोने में छिप गया.

इसे लिखने या बताने में मुझसे कोई भूल हो जाए, तो प्लीज मुझे माफ कर देना.

मैंने उसका साथ दिया और हम दोनों एक दूसरे की आंखों में देखते हुए अपने भाव शेयर कर रहे थे. ये प्रोग्राम मैंने उसके साथ उस लड़की को लेकर बनाया था, जिसे मैं पटाना चाहता था. चूत चाटने वाली सेक्सी बीएफमैं बोला- मामी मैं जानता हूं कि आप के चेहरे पर जो उदासी है वो मामा की वजह से है.

एक बार ख्याल आया कि सुरेश को फोन कर बहुत गालियां दूं, पर फिर रुक गयी. ऑफ़िस जाकर मुझे पता चला कि मुझे चार दिन के लिए ऑफिस के काम से सिंगापुर जाना पड़ेगा. फिर जब तक मैं वहां रहा उसने अपनी चूत चुदवाई लेकिन उसने कभी दोबारा चूत की चुदाई में चूत में वीर्य नहीं गिराने दिया.

मैं उसके सुपारे को मुँह से घर्षण प्रदान करने लगी और बीच बीच में जुबान से चाट चाट कर थूक से लिंग सुपारे से लेकर जड़ तक गीला करने लगी. इसलिए मैंने अपना लैपटॉप निकाला, उसकी स्क्रीन का वालपेपर बदल कर मैंने वहाँ एक नंगी लड़की का फोटो लगाया.

मुझे समझ में आ गया कि वो झड़ने वाली है … इसलिए मैंने अपनी दो उंगलियां भी उसकी चूत में पेवस्त कर दीं.

मेरे लंड का साइज पहले से काफी बढ़ गया था और ये सब मोनिषा आंटी के कारण हुआ था. बीस मिनट तक गांड बजाने के बाद मैंने उसकी गांड में ही अपना माल छोड़ दिया. मेरी इस सेक्स कहानी में पढ़ें कि कैसे मेरे बेटे ने अपनी माँ को चोदा जंगल में ले जा कर! दिन में उसने मेरी चूत को घर में चोदा और फिर शाम को जंगल में तालाब के किनारे!मां को चोदा कहानी के पिछले भागमां की चूत बेटे से चुदीमें मैंने बताया था कि कैसे मैंने अपने बेटे के लंड को अपनी चूत में लिया था.

बीएफ बीएफ टीवी चैनल जब मेरा वीर्य निकलने को हुआ तो मैंने उसकी चूत में ही वीर्य छोड़ दिया. वो चुप हो गई, लेकिन उसने सिर्फ इतना कहा- अगले हफ्ते से मैं भी ट्यूशन आ रही हूँ.

वो अपनी जीभ मेरे मुँह के अन्दर डाल के घुमाने लगी और मैं उसकी जीभ को चूसने लगा. हम दोनों पानी पीने के बाद एक दूसरे को किस करने लगे और उसके बाद फिर से चुदाई करने लगे. फिर अपना लंड दस्तूर की चूत के छोटे से छेद पर रख कर एक ज़ोर सा झटका दे मारा.

हिंदी सेक्सी डब्लू डब्लू डॉट कॉम

”क्या हुआ डार्लिंग … अभी भी दर्द हो रहा है क्या?”नहीं मेरे राजा … बहुत अच्छा लग रहा है … इतना मजा मुझे पूरी जिंदगी में नहीं मिला. आकार में ऐसे उठे हुए थे जैसे कह रहे हों कि आकर हमें दबा कर पूरा दूध बूंद बूंद करके निचोड़ दो. मैंने उसकी कुवारी चूत में जीभ को अंदर तक डाल दिया तो वो तड़पने लगी.

ऊपर से मैं बुर में झटके मार रहा था और नीचे से वो कमर उठा उठा कर मेरे लंड को अपनी बुर में ले रही थी. जैसे ही मैडम के मुंह से मैंने अनु का नाम सुना तो मैं घबरा गया और तुरंत मना कर दिया कि उसके और मेरे बीच में कुछ नहीं चल रहा है.

एक पल बाद मैं उठ कर चुदाई की पोजीशन में आया और मैंने उसे ऊपर से नीचे तक देखा.

पर वो सब बाद में देख लेना, अभी कोई के आने से पहले कुछ करना हो, तो कर ले … नहीं तो मैं जा रही हूँ. कल्पना ने बहुत शर्माते हुए अपनी सेक्स फेंटेसी बताई कि उसका बहुत मन है कि वह किसी औरत के साथ लेस्बियन सेक्स करे. फिर सोचा कि ऐसी सूखी कल्पना करने से बेहतर तो मामी को फोन ही कर लूं और मामी की आवाज सुनते हुए अपना लंड को हिलाऊं.

मैंने सारी साड़ियों पर नजर दौड़ाई और फिर एक रेड चिली कलर की साड़ी उठा कर मैडम की तरफ कर दी. अभी के लिए इतना ही, प्यासी जवानी की कहानी पढ़ कर बुर और लंड से पानी निकला होगा. फिर मैंने उसके पूरे शरीर को चाटना शुरू कर दिया, जिससे रोनिता फिर से गर्म हो गयी.

सबको इस जिस्म से तो प्यार था, पर कोई मुझे अपने साथ कहीं ले नहीं जाना चाहता था.

हिंदी में बीएफ ओपन वीडियो: कुछ पल रुकने के बाद मैंने फिर से धक्का मारा तो मेरा लंड भाभी की चूत को चीरता हुआ अंदर समा गया. क्योंकि मुझे नहीं पता था कि निर्मला स्त्रियों के साथ भी सक्रिय रूप से कामक्रीड़ा में माहिर थी.

तीन-चार मिनट में ही मेरे उतावले लौड़े ने वीर्य को फर्श पर फेंक दिया. कई बार तो मैंने उसके हाथ को अपने तने हुए लंड पर लगाने की कोशिश की लेकिन मैं कामयाब नहीं हो पाया. दो-तीन मिनट हो गये थे लंड को हिलाते हुए कि मेरे फोन की रिंग बजने लगी और मैंने देखा तो मामी के ही नम्बर से फोन आ रहा था.

सुनील के घर से सामने जाकर मैंने दरवाजा खटखटाया, तो दरवाजा अपने आप ही खुल गया.

कुछ देर बाद उसने अपना माल दीदी के चूचियों पर गिरा दिया और दो चार राउंड आगे से मार कर हट गया. वो नहाकर आयी और एक हल्की सी कुर्ती पहनी जो काफी पतले कपड़े की थी, अंदर ब्रा भी आसानी से देखी जा सकती थी. लड़के ने कंप्यूटर संबंधित कुछ काम बताया, उन्हें कुछ प्रिंट निकलवाने थे.