मुसलमान सेक्सी बीएफ

छवि स्रोत,व्हिडिओ दाखवा सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

गाना सेक्सी पिक्चर: मुसलमान सेक्सी बीएफ, मैंने फिर से एक जोर का झटका मारा तो पूरा का पूरा लंड आंटी की मांद में घुसता चला गया.

उर्मिला के सेक्सी

हम लोगों को ट्रेन का खाना पसन्द नहीं आता इसलिए कोशिश हमेशा यही रहती है कि हमेशा अपना घर का खाना पानी साथ ले के चलें; हालांकि राजधानी और शताब्दी ट्रेन्स में चाय नाश्ता खाना मिलता ही है और उसका चार्ज पहले ही टिकट के साथ ही वसूल लिया जाता है. www.com ब्लू पिक्चर सेक्सीवैसे तो मैंने कभी सेक्स बहुत ज्यादा नहीं किया था लेकिन ब्लू फिल्म देख कर सब तरह के खेल सीख गया था.

वो उठ कर बिस्तर के नीचे उतर के खड़ी हो गईं, मैं बिस्तर के नीचे उतरा, उनको एक पैर बिस्तर पे रख के घोड़ी बनने को कहा. मोटी गांड वाली भाभी की सेक्सीऔर फिर हम दोनों ने एक दूसरे को साफ किया।फिर मैंने डिम्पल को बोला- पहले तुम चली जाओ कमरे में!डिम्पल के जाने के बाद में भी उसके पीछे पीछे कमरे में जाकर कर डिम्पल के साथ लेट गया और मैंने पूछा- मजा आया?उसने कहा- हां… पर दर्द हो रहा है!मैंने कहा- लाओ मालिश कर दूँ।फिर मैं डिम्पल की चुत की मालिश करने लगा.

मैं इस देसी हिंदी कहानी की सबसे बड़ी साईट अन्तर्वासना पर रोज मजेदार कहानियां पढ़ता हूँ और मुठ मारता हूँ.मुसलमान सेक्सी बीएफ: कुछ देर बाद उठा, लाइट जलाई और दीदी के बाजू में लेट कर उनको प्यार से देखने लगा.

मैंने भी उन्हें बांहों में भर लिया, कुछ पल खुद को ये एहसास कराया कि हां मैं हकीकत का सामना कर रहा हूँ.फिर मैंने भी झट से दरवाजा बंद कर दिया था और उसको बांहों में भर कर चूमने लगा तो उसे भी मजा आया और उसकी कामवासना प्रज्जवलित होने लगी, वो भी मेरा साथ देने लगी, मैंउसके लबों को चूसने लगाऔर साथ ही उसके बदन पर हाथ फिराने लगा.

सेक्सी देवर भाभी की पिक्चर - मुसलमान सेक्सी बीएफ

फिर पवन ने मुझे खड़ा कर दिया, अब मेरी गांड पवन के लंड के पास थी और अजय का लंड मेरे मुँह में था.पहले तो भाईसाहब ने मना कर दिया, पर बाद में बोले कि आप चलिए मैं आता हूँ.

माँ- तुम्हारी माँ किस तरह की ब्रा-पेंटी पहनना पसंद करती हैं?मैं- उन्हें स्टाइलिश और डिज़ाइनर ब्रा पेंटी पहनना ही पसंद हैं. मुसलमान सेक्सी बीएफ मैं उसका लंड देखने के लिए उसके पास से निकली और मैंने तौलिया खींच ली.

कुछ देर बाद वो चुत के होंठों को खोल खोल कर दिखाने लगी, जो मुझे भी दिख रहे थे.

मुसलमान सेक्सी बीएफ?

मैंने कुछ दिन बाद जब उससे उसकी चूत की फ़ोटो मांगी तो उसने ये कहते हुए मना कर दिया कि मुझे शर्म आती है. मैं अपनी हथेली पर प्रिया के जवान और मदमस्त जिस्म की झुलसा देने वाली गर्मी साफ़ महसूस कर रहा था. तभी माँ ने अपने हाथ चलाने शुरू कर दिए और मेरे खड़े और लम्बे मोटे लंड को अपने हाथ में पकड़ लिया.

उसने मुझसे पूछा- तुम कौन हो?‍‌‌मैंने उसका उत्तर न देते हुए उससे पूछा- रमेश है?उसने पूछा- तुम उसके दोस्त हो?मैं बोला- हां. [emailprotected]कहानी का अगला भाग:पति के दोस्तों संग ग्रुप सेक्स करके चुत चुदाई-2. आख़िर मेरी ये पहली असली चुदाई थीमैं नीचे आ गया और उसकी चूत पर अपनी जीभ लगा कर चुत चाटने लगा.

मानेसर पार करने के बाद मैंने राव होटल पर गाड़ी रोक दी और हमने चाय नाश्ता लिया. करीब पांच मिनट की ज़ोरदार चुदाई के बाद मॉम चिल्लाने लगीं- ओह माय गॉड. जगह बन जाने पर मैंने उसकी गांड के छेद पर लंड रख दिया और एक जोर का झटका दिया.

मेरी जैसे ही दर्द से चीख निकली, चिंटू ने तुरन्त मेरे मुँह को बन्द कर दिया, जिससे मेरी चीख ज्यादा नहीं निकल पाई. स्वाति बोली- क्या आप मुझे मेरे पसंद की चीज नहीं दिखाओगे?मैं- हाँ हाँ.

जब हम दोनों अपनी चर्म सीमा पर पहुंच कर पूर्णतः संतुष्ट नहीं हुए, यों ही स्थितियाँ बदलते हुए लगे रहे और अंत में दोनों एक दूसरे से अलग हुए।मेरी ये यादें यहीं समाप्त नहीं होगी क्योंकि कहानी ख़त्म हुई लेकिन इनसे जुड़ी कुछ यादें और कुछ लोग अभी बाकी है।आपको मेरी यह कहानी पसंद आई या नहीं? अगर इसमें कोई कमी रही हो तो मुझे जरूर बतायें!मेरा मेल आईडी है-[emailprotected].

मेरी रोमांटिक कहानी के पहले भागस्त्री-मन… एक पहेली-1में अपने पढ़ा कि कैसे मेरी साली की युवा बेटी कम्प्यूटर कोर्स करने मेरे यहाँ रहने आ रही है.

तभी वो बोली– यार ज़रा मेरे निप्पल चूसो ना!मैंने उसका एक निप्पल मुख में लिया और चूसने लगा, दूसरी चुची को मैंने हाथ में दबोच लिया और से जोर जोर से मसलने लगा. कुछ देर बाद वो चुत के होंठों को खोल खोल कर दिखाने लगी, जो मुझे भी दिख रहे थे. अब साहब ने मेरी चूत में पीछे से लंड डाल दिया और जल्दी जल्दी चोदने लगे.

ये मेरी बीवी की रियल कहानी है, मेरी अगली कहानी मेरी वाइफ की चुदाई 2 लंडों से कैसे हुई, जल्दी ही आपके सामने ले कर आऊंगा. उसकी बातें सुन कर मैं रोने लगी और रो रो कर सब कुछ बता दिया कि मेरे साथ क्या क्या हुआ. आपकी भेजी हुई मेल्स मुझे बताएंगी कि आपको मेरी लिखी हुई रियल सेक्स स्टोरी कैसी लगी.

इस वक्त बहुत गर्मी हो रही थी तो वो बोली- चल बाथरूम में फुव्वारे के नीचे नहाते हुए‌ मजा करते हैं.

इस जोरदार ओरल सेक्स से तो वो पागल सी हो गई और दो मिनट में ही मेरी चूत चूसाई से वो झड़ गईं. भाभी की ओर मेरी नज़र गई, वो मेरे लिए खुश तो थीं, पर उनकी प्यास दिख रही थी. मेरी यह कहानी दो बहनों की जवानी की जरूरत पूरी करने की यानि चुत चुदाई है.

मैंने अपनी पेंट से कंडोम का पैकेट निकाला और चढ़ाने लगा तो आंटी बोलीं- ये किसलिए?मैंने कहा कि कहीं आप प्रेग्नेंट हो गई तो?वो बोलीं- तब तो और अच्छा है वैसे भी मेरे हज्बेंड में इतनी दम नहीं थी जो मैं प्रेग्नेंट होती. उनके बड़े बड़े चुचे और बहुत मोटी गांड हैएक दिन मम्मी को किसी काम से मामा के घर जाना था. यह मेरी असली चुदाई की कहानी है, मैं आशा करता हूँ कि मेरी कहानी को पढ़ कर सभी लड़कियों भाभियों और चाचियों की चूत गीली हो जाएगी और लड़कों के लंड भी मुठ मारने पर मजबूर हो जाएंगे.

मैंने आंटी की चुत को चाटा, तो उन्होंने भी मेरे लंड पर लगी आइसक्रीम खा ली.

तो शर्मा कर मुँह फेर लिया।उसने नौकरानी को आवाज लगाई।नौकरानी- जी दीदी।भईया को वाशरूम बता दो।”जी…”नौकरानी मेरे आगे-आगे चल दी। मैं नौकरानी के पीछे पीछे चल दिया। वो बता कर वापिस आ गई। मैंने जल्दी से मुठ्ठ मारी और हाथ-मुँह धो कर बाहर आ गया। इसके बाद मैं मधु के बताए कमरे में चला गया. झुकने के कारण मेरा स्कर्ट थोड़ा ऊपर चढ़ गया और पीछे से भाईसाहब को मेरा खजाना दृष्टिगोचर होने लगा था.

मुसलमान सेक्सी बीएफ ”मैं नहीं जानता था कि वो इतनी ओपन माइंडेड हैं और इतनी जल्दी मुझे पकड़ लेगी. करीब बीस मिनट बाद मेरे शरीर में ऐंठन सी होने लगी और मैं एकदम से शिथिल सी हो गई.

मुसलमान सेक्सी बीएफ मैं अपने रूम से निकल कर एनएच 24 पर गया, वहां से मेट्रो के लिए शेयरिंग ऑटो मिलती है. यूं ही थोड़ी देर साथ लेटे रहने से गलती से मेरा हाथ उसके एक स्तन को लग गया.

करीब दस मिनट दीदी की चुदाई में दीदी फिर से झड़ गईं और उनकी चुत में जलन होने लगी, उन्होंने मेरे लंड से खुद की चुत को अलग कर लिया.

मौसी वाली सेक्स

दिव्या हंसी- मुझे पता है, उसका दोस्त था उसका बॉस नहीं और तू इतना छिनालपने में बिजी थी कि एक बार घर नहीं आ सकी और कपड़े क्या पहने तूने रंडी. मैंने दूसरा हाथ चुत पर लगा कर महसूस किया कि चुत बहुत ही ज्यादा फ़ैल चुकी थी और बैंगन का नीचे का हिस्सा बहुत ही मोटा था. मेरी उम्र 25 साल है, नवम्बर में ही मेरी शादी हुई है, मेरे पति अमेरिकन हैं.

उस समय मेरी भी बॉडी और हाईट से पता नहीं चलता था कि मेरी उम्र क्या है, मैं पूरा 22 साल का बांका मर्द लगता था. इस हॉट सेक्स स्टोरी के पहले भागबेटी ने मम्मी के यारों का लंड शेयर किया-1में अपने पढ़ा कि कैसे मैं मम्मी की कामुकता का इलाज करवाने उन्हें उनके यारों से चुदवाने ले गई. इसके बाद मैंने भाभी के कपड़े पूरी तरह से अलग किए और अपने कपड़े भी उतार कर उनके ऊपर चढ़ गया, भाभी ने भी अपनी बांहें पसार कर मुझे अपने आगोश में भर लिया.

क्या बताऊं क्या मस्त माल लग रही थीं, मेरी कामवासना मुझे दीदी की चुदाई के लिए कह रही थी.

अब उसको भी थोड़ा मजा आया और वो बोलने लगी- बेबी थोड़ा और तेज बेबी और तेज. एक दिन मैं दोपहर में गर्मी होने के कारण रूम में अंडरगारमेंट्स में घूम रहा था. उनका रूखा और चिड़चिड़ापन देख कर मैं समझ गया कि इनकी चुदाई भैया ठीक से नहीं कर पा रहे हैं.

फिर मेरी तरफ देख कर बोला- बिंदु जी, आपने ठीक कहा था, वो साला बहुत कमीना है. मैंने उसे हाय बोला तो उसकी मुस्कराहट से पता चला कि वह मेरे घर ही आ रही थी. डैड को 5 दिन बाद आना था और इन 5 दिनों में हम दोनों माँ बेटे ने कई बार चुदाई की.

नवीन ने जैसे ही अपना पजामा उतारा, उसका सात इंच लम्बा बिल्कुल काला लंड नाग की तरह फनफना रहा था. मैं उसको पहले कभी इस नजर से नहीं देखता था, पर जब उसको पहली बार टाइट सलवार कुरता में देखा, तो उसका फिगर मेरे मन को अन्दर तक झंझोड़ गया.

मगर समय की कसौटी ने मुझे बताया कि तुम्हारे पापा उससे ना सिर्फ प्यार ही करते थे, बल्कि उसका भविष्य भी सुधारना चाहते थे, जो मैं समझ नहीं पाई. मैंने उसकी शर्म को तोड़ने के लिए कहा- जल्दी चलो, मेरी मम्मी ने तेरे लिए गरम गरम खाना परोस के रखा है. मेरी फुफेरी बहन गोरी चिट्टी, स्मार्ट है, उसकी फीगर 32-26-32 के करीब थी, उसकी हाईट करीब 5 फीट तीन इंच होगी.

वो अब मस्त हो चुकी थी और लंड के स्वाद से अपनी चुत को मजा दिला रही थी.

फिर कुछ देर बाद अवी उठा और मेरे शरीर पर लगे वीर्य और अपने लंड पर सने वीर्य और खून को पोंछ कर साफ किया. वो मेरे लंड को अपने हाथ से सहला रही थी और उसको बड़े प्यार से देख रही थी. मुझसे कंट्रोल नहीं हुआ और मैंने सोचा क्यों न एक बार अपना लंड मॉम की चुत पर टच किया जाए.

पर अब तक मैं यह भी समझ चुका था कि वो नाटक कर रही है और उसे इस खेल का पूरा मजा आ रहा है. तीनों बार मैंने उसकी चुत को ही चोदा, मेरा मन तो था उसकी गांड मारने का, लेकिन मैंने पहली ही रात ऐसा करना सही नहीं समझा क्योंकि अब हम दोनों को साथ में रहना था और उसकी गांड तो मैं बाद में कभी भी मार लूँगा.

फिर मैंने उंगली से थोड़ी देर तक उसकी चूत को चोदा, पहले ही उसकी चूत बहुत पानी छोड़ चुकी थी, जिससे उसकी पैंटी काफी गीली हो गई थी. अब मुझसे भी रहा नहीं गया और मैंने सोफे पे बैठे हुए ही अपना टॉप निकाल कर फेंक दिया. दोस्तो, क्या बताऊँ जब मैंने उसे देखा तो देखता ही रह गया, कितनी खूबसूरत थी वो, मैं शब्दों में बयां नहीं कर सकता.

बीएफ मेवाती

मेरे घर के थोड़ी दूरी पर मेरी एक फ्रेंड रहती थी, जिसका नाम अदिति (बदला हुआ नाम) था.

मैंने दूसरा हाथ चुत पर लगा कर महसूस किया कि चुत बहुत ही ज्यादा फ़ैल चुकी थी और बैंगन का नीचे का हिस्सा बहुत ही मोटा था. दोनों हाथों से मॉम की गांड को कसके दबोचा और एक ज़ोरदार झटका मार दिया. लेकिन भैन की लौड़ी नाटक तो ऐसे कर रही थी, जैसे पहली बार लंड लिया हो.

आंटी पूरी तरह से मेरी संगिनी बनकर चुदाने को रेडी थी लेकिन मैं उन्हें और तड़पाना चाहता था. जैसे ही मैं बाजार में मां के पीछे पहुंचा… तो मैंने देखा कि रमेश अंकल अपनी कार लेकर खड़े थे. थिस इस सेक्सीरंग एकदम दूध सा गोरा, आँखें ऐसी कजरारी कि जिसे कोई नजर भर के देख ले, तो वो कुछ और देख ही नहीं सकता.

तभी उनका हाथ टाप से अंदर ले जा कर ब्रा के ऊपर से दूध दबाने लगे और एक हाथ लेगी के अंदर से पैंटी के नीचे घुसा कर मेरी चूत में उंगली करने लगे, मैं गरम होने लगी. मैं- शादी के बाद कितनी ब्वॉयफ्रेंड बनाए?माँ- अच्छा पहले तुम ये बताओ तुम्हारी कितनी जीएफ रही हैं?मैं- दो.

शाम को उसका मैसेज आया- आज का दिन काफ़ी अच्छा रहा… आई लव यू जीजू…तो मैंने उसे रिप्लाई किया- आई लव यू टू… ऐसा अच्छा दिन आगे भी आ सकता है, अगर तू चाहे तो. एक खिड़की किसी ने खींच कर खोल भी दी और हम दोनों को उसी चुदाई की हालत में देख कर बहुत जोर से जीजा को गाली देकर वो चिल्लाया, बोला- दरवाजा खोल गांडू शुक्ला!जीजा फटाक से डर के उठे, बोले- मकान मालिक है, साली चिल्लाकर गड़बड़ कर दी!और उठ खड़े हुए, जल्दी से सिर्फ अंडरवियर पहना. उधर पंकज कभी रेखा के होंठों को चूमता कभी उसके निप्पलों को चूसता, कभी उसकी कान की लौ को चूसता तो कभी उसकी हाथ की बगलों को चाटता, जिसे लोग कांख भी कहते हैं.

मैंने धक्कों की स्पीड बढ़ा दी और भाभी की चूत ने उछल उछल कर लंड को गपागप खाना शुरू कर दिया. तभी चिंटू ने मेरे हाथ से अपने लंड को अलग किया और मेरे जिस दूध को वो मसल रहा था, उसे पीना शुरू किया और फिर मुझे किस करने लगा. शुरुआत में तो हमेशा की तरह नताशा थोड़ा बहुत कुनमुनाई लेकिन फिर आदत हो जाने पर हमारे सर्बियन मेहमान के लंड को हौले हौले कराहते हुए अपनी गांड का मीठा रास्ता दिखाना शुरू कर दिया.

वो बोले- देखना साली, तू आज खुद बोलेगी कि मेरी चूत में लंड डाल दो अपना!तो मैं बोली- यह नहीं होगा… चाहे मेरी जान निकल जाए! बस मैंने सोच लिया कि चाहे सबसे चुदाई करवाती रहूं नहीं रहा जायेगा तो… पर तुझसे सुहागरात के दिन ही चुदवाऊँगी.

बस मुझे अगर ये सब अच्छा लगता है तो इसमें गलत क्या है? मैं किसी और के साथ थोड़ी कुछ कर रही रही हूँ. मैं खड़ा हुआ और चेयर पर ही उसकी एक टांग को पकड़ कर लंड को चुत पर सैट किया.

ऐसा लग रहा था कि साली पूरा का पूरा खा जाएगी, वो पूरा लंड अपने गले तक ले जा रही थी और फिर पूरा बाहर निकाल कर जीभ से टोपा चाट कर फिर से अंदर ले रही थी. मैं जब से कॉलेज में हूँ, तब से बस एक ही ख्वाहिश थी कि पूरे कॉलेज के सामने गांड मरवाऊं. इन चंद घंटों की मीठी याद के सहारे मैं जिंदगी की मुश्किल से मुश्किल दुश्वारी हसीं-ख़ुशी सह लूंगी.

वैसे तो स्टेशन घर से 40 मिनट की दूरी पर है, परन्तु शाम के समय ट्रैफिक ज्यादा होता है तो अब्बू और भाई जल्दी निकल गए जिससे स्टेशन समय पर पहुँच सकें. मैंने फिर से सुपारे को चूत के अन्दर डाल कर निकाल लिया, फिर पूरे तेजी के साथ उसकी चूत में अपना लंड पेल दिया. क्या परेशानी है? क्या मैं आपके कुछ काम आ सकता हूँ?आंटी पहले तो गुमसुम रहीं.

मुसलमान सेक्सी बीएफ आंटी ने अपने घर का एड्रेस दिया और मैं ऑटो पकड़ कर उसके दरवाजे पर पहुंच गया. मैंने देखी कि मेरी गांड बहुत टाइट थी क्योंकि आज तक मैंने कभी अपने पति को गांड मारने नहीं दी थी.

एक्स एक्स हिंदी ब्लू पिक्चर

चाची ने एकदम से पूछ लिया- ये तेरे मुंह पर क्या लगा है?मैं थोड़ा घबरा गया फिर मैंने कहा कि पानी है. अब दीदी चेयर पर बैठी हुई फोन को स्पीकर पे डाल कर प्रीति की चुदाई की स्टोरी को सुन रही थी और अपनी चुत को सहलाए जा रही थीं. मिंकी दर्द से तड़प रही थी तो मैं कुछ देर के लिये मिंकी की चूत में अपना लंड डाल कर रुक गया और अपने दोनों हाथों से मिंकी के दूध पकड़ लिये और एक को दबाने लगा, दूसरे को मैंने अपने मुँह में डाल लिया और चूसने लगा।मैंने करीब 5 मिनट ही मिंकी के एक दूध को चूसा होगा कि मिंकी का दर्द मजे में बदल गया तो वो नीचे से अपनी कमर को हिला हिला कर मेरे लंड को अपनी चूत में अंदर बाहर करने लगी.

अब मैं क्या पहनूं बताओ?सैम ने उसमें से एक उठा कर दी और कहा कि ये जल्दी से पहन लो. मैंने समधी जी को नाश्ता दिया और उनके बगल में बैठ गयी, उनसे बातें करने लगी।वो मुझसे बोले- समधन जी, आप तो आज भी जवान हो!मैंने खुश होकर उनसे कहा- क्यों आप जवान नहीं हो अब क्या?वो हँसने लगे. सेक्सी वीडियो हिंदीbfमैंने मेरे लिंग को उनकी योनि पे रखा और डालने की कोशिश की, पर उन्हें बहुत दर्द हो रहा था.

फिर उन्होंने भी देर नहीं की और चिंटू ने मुझे उनकी गोदी में उठा कर अपने लंड को मेरी चूत में फंसाने लगा.

मैं बेहोश सी हुई जा रही थी।फिर वो ‘आआह हम्म… की आवाज के साथ मेरी चूत में अपने वीर्य को डालने लले और मेरे ऊपर ही गिर गये. मॉम बेड पर मुझसे छूटने की हल्की सी कोशिश कर रही थीं और मैंने उनको रगड़ रगड़ कर गरम कर दिया था.

मैं सोचने लगा कि लड़कियां पता नहीं कैसे इतनी टाईट जींस पहन लेती हैं. मैंने पूछा- क्या हुआ, मूड खराब है?वो बोली- नहीं, ऐसी कोई बात नहीं है. अब जब भी साहब मेरे घर आते हैं, मैं खुद ही उनको कमरे में ले जाकर चुदवा लेती हूँ.

इसके बाद मैंने बिस्तर से 3 फिट दूर खड़ा होकर वहां से उनको बिस्तर पर फेंका.

सुरेश अंकल बोले- आरती मेरा पैन्ट अपने हाथों से खोल दो और अंडरवियर नीचे करो!मैं चुप रही, कुछ नहीं किया. करीब बीस मिनट चोदने के बाद उसने मां को खड़ा किया और वापस उनकी चूत में आगे से टांग उठा कर लंड पेला और मां को चोदना स्टार्ट कर दिया. ये सब सोच कर कि अब मेरी चूत को लंड मिलने वाला है, मेरी वासना जागने लगी थी.

सेक्सी इंडियन मुस्लिमखाना-वाना खा पी कर मुझे और प्रिया को वापिस घर पहुँचते पहुँचते 10:30 बज गए. उस दिन मैंने उसको 1000 रूपये दे दिए थे क्योंकि वह एक ग़रीब घर से थी.

ब्लू सेक्सी वीडियो में चलने वाली

मैंने कहा- झांटें बना के रखी हैं, या जंगल उगा रखा है?वो बोली- मेरी चुत एकदम साफ़ है, साले तेरा लंड कैसा है, उसको भी साफ़ कर ले. थोड़ी देर तक अपनी गुलाबी गांड चटवाने बाद मेरी साली ने कहा- अब जल्दी अपना काम खत्म करो, वर्ना कोई आ जाएगा. थोड़ी देर बाद मैं धीरे से उठा, मेरे पैर काँप रहे थे, कमरे का दरवाजा धीरे से खोल कर बाहर झांका तो ड्राइंग रूम की लाइट बंद थी.

कुछ देर बाद मेरे बगल में एक लड़की आ कर बैठी, एक साइड में वो थी बीच में मैं था और एक साइड में एक और आदमी बैठा था. और तभी भाभी मेरे लंड को कस कर पकड़ कर चाटने लगी, मैं समझ गया कि भाभी झड़ने वाली हैं और मैंने उनकी चुत को चाटने का काम जारी रखा और भाभी मेरे मुख में ही झड़ गयी. जब मैं उनके घर पंहुचा तो वो काम में बहुत ज्यादा बिजी थी तो उन्होंने मुझे आते हुए नहीं देखा वो घर की सफाई ब्लाउज और पेटीकोट में कर रही थी।भाभी बहुत सेक्सी लग रही थी, मैं उन्हें बहुत ही गौर से देख रहा था कि अचानक उनकी नज़र मुझ पर पड़ गयी तो वो एकदम घबरा सी गयी और अपने शरीर को ढकने की कोशिश करने लगी.

कुछ मिनट के बाद मैंने माँ को अपने नीचे लेटा लिया और उनकी जी स्ट्रिंग पेंटी उतार कर मम्मी की मदमस्त चूत पर अपनी जुबान फेरना शुरू कर दी. इसके बाद उन तीनों ने बारी बारी से मां के होंठों का चुंबन किया और घर आने के लिए निकल गए. आप सबको मेरी यह इंडियन सेक्स स्टोरी पसंद आई या नहीं? मुझे मेल कीजिएगा.

बाहर एक बच्चे को दिखाते हुए बोली- ये मेरा छोटा बेटा है, बड़ा दिल्ली में है, वो नहीं आया. पर मैं उनको नहीं देख पाती थी।इसलिए जब पापा छुट्टी पर मुंबई से आते तब जब भी मम्मी पापा अंदर होते तो दरवाजे के होल से चुदाई करते देखती थी। मम्मी पापा की चुदाई देख कर मैं खुद को सम्भाल नहीं पाती थी। मैं मम्मी के कमरे में चारपाई के नीचे चुपके से घुस जाया करती थी.

एक बात बताओ कि तुमने मेरी किस सहेली को चोदा था?मैंने बताया- रोमी आंटी को.

मैं लंड लहराता हुआ बोला- मुँह में लोगी इसे?उन्होंने मना कर दिया, मैंने भी जबर्दस्ती नहीं की और वो मेरे सामने टाँग फैलाकर लेट गईं. मां की चूत चुदाई सेक्सीमेरे यूं उसके फोटो शूट करने से बहूरानी मुझे कभी गुस्से से देखती हुई मना करती. तीन लड़कियों की सेक्सी वीडियोमैंने वहीं उसके होंठों किस किया और उसके दूध मसलते हुए शाम को उसे रूम पर मिलने को कहा. उसने कुछ मिनट ही लंड को अन्दर बाहर किया होगा कि बहुत तेजी से बाहर निकाल लिया क्योंकि उसने कंडोम नहीं लगाया था.

विनय- अच्छा क्या मेरा लंड तुमको पसन्द आया?मैं- वो तो टेस्ट करके ही पता चलेगा.

एक दिन वो गहरी नींद में थीं, मैंने उनकी मैक्सी को ऊपर किया और उनकी चुत पर जीभ लगा दी. मुझे मस्ती करनी है अडल्ट वाली मस्ती!”मैंने उसे ओके बोला और आगे की बात समझाई. वैसे ही हम बोतल निकालने लगे मगर मेरी नज़र उनकी बड़ी गांड से हट ही नहीं रही थी, मेरा जी करने लगा कि उनकी साड़ी उठा कर उनकी गांड को चूम लूँ.

मेरी सेक्स कहानी पढ़ कर एक भाभी मधु ने मुझे मेल की, मधु ने अपनी नीरस सेक्स लाइफ और बेबसी की कहानी सुना कर मुझसे अपनी जिस्म की भूख को शांत करने के लिए कहा।अब आगे. उसकी चूत में लिसलिसा पानी हो जाने से मेरा लंड अब उसके चूत में आसानी से जा रहा था और उसकी कामुक सिसकारियां सुनकर मुझे बहुत मज़ा आ रहा था. तो सबसे पहले एक लीगल डॉक्यूमेंट साइन होगा, जिसमें अगर तुम मुझे डाइवोर्स देते हो तो मुझे हर महीने पांच लाख रुपये और बीस प्रतिशत प्रॉपर्टी मेरे नाम करोगे.

चोदा चोदा बीएफ

फिर उसके खून से भरे लंड ने मेरे पेट पर से मेरे गले तक वीर्य की पिचकारी से लथपथ कर दिया. मैंने उससे कहा कि तुम बाहर क्यों आ गईं?तो वो बोली- मैं उधर बोर हो रही थी इसलिए बाहर आ गई. मैंने मोबाइल को दरवाजे के पीछे ऐसे सैट कर दिया कि अच्छी तरह से शूटिंग हो जाए और मोबाइल दिखाई भी न दे.

दीदी और जीजू हैं यहां, मुझको दर्द होगा, मैं ज्यादा चिल्लाना नहीं चाहती हूँ.

यारो… रानी के हर धक्के पर इधर उधर उछलते चूचे, रानी के बिखरे हुए बाल, उसके होंठों पर छायी हुई अनंत सुख की मुस्कान, लंड के अंदर बाहर होने पर फचाक फचाक फचाक की आवाज़ें और अलका रानी की ऊँची ऊँची आवाज़ में सिसकारियां इत्यादि सब मिल के वातावरण को अत्यधिक कामुक बना रहे थे.

मैंने उसे बेड पर लिटाया और उसकी चिकनी चूत को हाथों से सहलाने लगा, वो बहुत ही गर्म हो गयी थी और उसके मुँह से सिर्फ़ सिसकारियाँ निकल रहीं थी ‘उउउ आआ आआअईईई ईईई…’ करके वो मेरे जोश को और बढ़ा रही थी. हम वहाँ से रीमा के घर जाने लगे तो कॉलेज के गेट पर गार्ड के साथ चपरासी बैठा था. अमेरिका के सेक्सी वीडियो दिखाओजब वो कमर मटका कर चलती थी तो सभी लड़कों की नज़र उसकी थिरकती गांड पर ही होती थी.

दीदी एकदम मस्त हो चुकी थीं, अपनी आँखें बंद करके बस अपनी चुत की रगड़ाई का मज़ा ले रही थीं. अब तो मानो मेरे दिल के अरमान की पतंग की डोर कट सी गयी थी और मेरा काम खत्म हुए डेढ़ घंटा हो चुका था. उसे ये पता था कि आख़िर पिंजरे का पंछी कहाँ उड़ कर जाएगा, वो बोली- डार्लिंग, तुम्हें मैं दुनिया की असलियत दिखा रही हूँ.

अर्पिता- फिर?धीरे धीरे उसका हाथ अपने हाथों में लिया और कार चलते हुए ही हाथ पर किस किया. मैं उनके होंठों को चूसने लगा, वो पीछे जा कर दीवार से सट गईं मैंने उन्हें जकड़ लिया.

जो सुख मुझे मेरी सगी बीवी, मेरे बेटे की माँ नहीं दे सकी थी वो सुख उसकी बीवी, मेरी पुत्रवधू… कुलवधू मुझे दे रही थी.

दोस्तो, मैं बबलू, मेरी पिछली कहानीप्रीति चूत चुदाने को मचल रही थीसभी पाठकों को पसंद आई थी. यह सुन कर चाची भी हँसने लगीं और बोलीं- हट बेशर्म…फिर वहां से हम दोनों चाय लेकर रूम में आ गए और अपनी अपनी चाय पीने लगे. मैंने बुआ को खटिया पर औंधा लिटाया और उनकी गांड पर बैठ कर लंड हिला हिलाकर घिसा.

भाई बहन की नंगी चुदाई सेक्सी दीदी थोड़ा चिल्लाईं और मैंने जल्दी से एक बार फिर जल्दी से लिंग बाहर निकाल कर उतनी तेजी से वापस अन्दर पेल दिया. हालांकि मेरा मन तो नहीं था, फिर भी मैंने स्मिता से कहा- चलें यहां से?उसने कहा- नहीं थोड़ी देर और रुकते हैं.

मैं जैसे ही दरवाजा की खिटकिली अंदर से खोलने लगी, जीजा ने फिर से पकड़ लिया पीछे से और मेरे हाथ से चाकू छीनकर ऊपर रैक में फेंक दिया, और मुझे फिर से उठाकर बिस्तर में पटक दिया. अवी ने मुझसे कहा- देखो ऐसे जा रही थीं मुझे छोड़ कर?मैंने कहा- नहीं ऐसी बात नहीं है. शुरुआत में तो आर्थर धीरे-धीरे ही मेरी श्रीमती की चूत को अपनी तोप पर बैठाता रहा लेकिन कुछ ही धक्कों के बाद उसने अपनी जानी पहचानी लय पा ली और किसी वेट लिफ्टर की तरह लड़की को अपनी कलाइयों पर उठा कर उसकी चूत को अपने तीर जैसे लंड पर पटकना शुरू हो गया.

पति-पत्नी की सेक्सी चुदाई

विनय- अच्छा क्या मेरा लंड तुमको पसन्द आया?मैं- वो तो टेस्ट करके ही पता चलेगा. हालांकि मुझे पक्का नहीं मालूम कि मैं सही हूँ या गलत हूँमाँ- क्या?मैं- मुझे लगता है कि आप अपने पति से खुश नहीं हैं. अब देखना ये है कि किसी दिन डॉक्टर मैडम को अपने लंड की दवा पिला कर उनकी चुत की आग को ठंडा करना है.

मैंने अपने हाथों को उसके मम्मों पर टिका दिया और धीरे से दबाना शुरू कर दिया. उसने लपक कर मेरा लंड पकड़ लिया और सहलाने लगी; अचानक उसने मेरा लंड अपने मुँह में भर लिया.

मेरे प्यार दोस्तो, कैसे हो आप सब… मेरा नाम हरी है, मैं गाज़ियाबाद के पास मोदीनगर शहर में रहता हूँ.

मैं बोला- यार अंजलि, कुछ नहीं… बस अंदर अकेले बैठे हुये बोर हो रहा था तो तेरे पास आ गया. मैंने लंड उसकी गांड से निकाला और एक टांग हाथ में लेकर उसकी चुत में शॉट लगाने लगा. बिंदु ने उसको लैपटॉप पर उसका बाथरूम वाला सीसी कैमरा से रिकॉर्डेड क्लिप दिखाया और बोला- क्या यह सब करोगे यहाँ पर? पुलिस को बुलाना पड़ेगा.

आशीष मेरे बूब्स को इतना जोर से चूसने लगा कि मुझसे बर्दाश्त नहीं हो रहा था, मैं अपने होने वाले पति बालू को देख नहीं पा रही थी क्योंकि मेरे मुंह में आशीष का लन्ड था. मुझे आज भी याद है उसने सबसे पहली फ़ोटो लाल ब्रा में भेजी थी, जिसमें वो बहुत सेक्सी लग रही थी. सभी रिलेटिव मेरे साथ सब कुछ कर चुके हैं, सभी लड़कियों को उनके रिलेटिव जान पहचान वाले ही करते हैं।ये जब भाभी ने बोला, तब थोड़ा राहत मिली.

राज की उम्र कोई 26 साल के आस पास है, वो 6 फुट लंबा है और उसके लंड का साइज़ किसी नीग्रो के जैसा है जो कि भारत में कम ही मिलता है.

मुसलमान सेक्सी बीएफ: उसने ये सब शर्तें मान लीं और पहले लीगल डाक्यूमेंट्स के लिए मुझसे कुछ समय माँगा. पारुल ने ब्रांडेड और काफी कॉस्टली ब्रा पहनी थी जिसमें वो बहुत ही सेक्सी लग रही थी.

उनका रूखा और चिड़चिड़ापन देख कर मैं समझ गया कि इनकी चुदाई भैया ठीक से नहीं कर पा रहे हैं. फिर धीरे से अपने लंड को उसकी चुत पे रख कर उसके बालों को सहलाने लगा. उसकी कामुक मुस्कान देख कर मुझे लगा जैसे उसक उसकी मनपसंद खिलौना मिल गया हो.

वो चोदू भी बड़े ही चाव से साली के चुचे चूस रहा था, जैसे बरसों का प्यासा हो और उसमें से दूध आ रहा हो.

अगर आप लोग का प्यार मिलता रहेगा तो ऐसे ही कहानियां मैं भेजता रहूंगा।आपका दोस्त बैड मैन[emailprotected]आगे की कहानी:गर्लफ्रेंड की सहेली की प्यासी चूत और गांड. मेरा उसे चोदने का उस दिन का प्लान तो फेल हो गया, पर उस दिन से फ़ोन सेक्स होना स्टार्ट हो गया. मैंने उसकी लेगी को पूरी तरह से उतार दिया और उसे खड़ी करके उसके चूतड़ों पर दोनों हाथ रख कर उसकी चूत को चूमने लगा, उसकी खुश्बू सूंघने लगा.