प्रियंका चोपड़ा का हिंदी बीएफ

छवि स्रोत,भारतीय बीएफ सेक्सी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

क्सनक्सक्स: प्रियंका चोपड़ा का हिंदी बीएफ, और डाल बहुत मजा आ रहा है तेरा लंड बहुत मस्त है और मेरी गांड फट जाए ऐसे चोद…ऐसा मैं जब कहने लगी तो दिनेश और जोश में आकर मेरी गांड में अपनी पूरी ताकत से लंड डालकर बोला- तू साली रंडी है एक नंबर की.

बीएफ एक्स एक्स एक्स हिंदी बीएफ

फिर उसने मुझे अपना लंड चूसने का बोला, तो मैं नीचे बैठ गई और उसके लंड को अपने मुँह में लेकर चूसने लगी. सनी लियोन के बीएफ पिक्चर सेक्सीतभी मेरी नजर पर्दे पर गयी क्योंकि मुझको वहां पर किसी के खड़े होने की आहट हुई.

अब चूंकि पिता ने खुद सुना था कि पद्मिनी को एक टीचर चोदता है, तो खुद पिता भी अपनी बेटी से सवाल करते वक़्त उसके यौवन को देखने लगा. सेक्सी बीएफ देखने वाली वीडियोमैं एक एवरेज बॉडी का मालिक हूँ, लंड भी छह इंच से थोड़ा ज्यादा ही लम्बा है, जो कि किसी भी चुत को भी ठंडा करने के लिए पर्याप्त है.

पूरी कहानी यहाँ पढ़िए…पद्मिनी की माँ का उस समय ही देहांत हो गया था, जब पद्मिनी कच्ची उम्र की थी.प्रियंका चोपड़ा का हिंदी बीएफ: बापू एक एक करके पद्मिनी की नंगी जवानी को निहारता गया और इसी कारण उसका लंड पेन्ट के अन्दर एकदम तन गया था, जिससे पद्मिनी को पेंट उतारने में तक़लीफ़ हो रही थी.

मैं भी उसको मना नहीं कर पाया क्योंकि वो साली थी ही इतनी सेक्सी कि कोई बेवकूफ ही होगा जो उसे चोदने से मना कर देता.मैंने लंड को चुत पर लगाकर ज़ोर से झटका मारा तो मेरा लंड चुत में अन्दर घुसाकर चुदाई चालू कर दी.

बीएफ वीडियो चाहिए भोजपुरी - प्रियंका चोपड़ा का हिंदी बीएफ

मेरे अचानक इस हमले से वो एकदम से घबरा गई और अपने आपको मुझसे छुड़वाने की कशमकश करने लगी थी.क्या तुम ब्लू-फिल्म की बात कर रहे हो?उसने बोला- हां वन्द्या ब्लू फिल्म में लड़का लड़की दोनों मिलकर सेक्स करते हैं.

कुछ देर बाद वो मुझे किसी गेस्ट हाउस में ले आया और बोला- अब मुझे तुम बताओ कि तुम्हें किसभैन के लौड़ेसे बदला लेना है?मैंने अपने पति का नाम और पता बता कर कहा कि इसकी माँ और बहन को इसी से ही चुदवाना है. प्रियंका चोपड़ा का हिंदी बीएफ तभी उसने मुझे देखा और इशारे से आँखें मटका कर होंठ हिला कर हाय बोल कर मुझे बात शुरू कर दी.

उस फ्लोर के बाकी के 3 फ्लैट बंद हैं, सो मेरे फ्लोर पे सिर्फ़ मैं हूँ.

प्रियंका चोपड़ा का हिंदी बीएफ?

बुआ जी ने चुदाई की बात को समझते हुए कहा- हां, मैं मानती हूँ कि उस समय जो हुआ ठीक था, पर अब तुम अनु के साथ कुछ नहीं करोगे और हां मेरा कोई ब्वॉयफ्रेंड नहीं है. इस बार सुरेश जी ने मेरी कमर को कस के पकड़ रखा और एक जोरदार धक्का मारा तो उनका लंड फिर से मेरी गांड के जड़ तक पहुंच गया. रूबी की चूत आग उगल रही थी, वो अपने बूब्स दबा के आहें भर रही थी, सिसकारियाँ मार रही थी.

रूबी ने प्रभु के सर पे अपना हाथ डाल के उसका मुँह अपनी चूत पे दबा दिया. यूं लग रहा था कि जैसे बारिश हो रही है और सामने एक अप्सरा सज धज के अपने प्रेमी के इंतजार में खड़ी है. फिर कुछ मिनट बाद हम दोनों झड़ने वाले थे तो मैंने उसकी गांड में ही सारा माल भर दिया.

ये कहने के साथ ही मैंने ये समझ लिया कि मेरी बात दीपक को दिल पर लग गई है. वो खुश हो गया और मेरी गर्दन आगे घुमाने से पहले ही एक धक्का आया और आधा लिंग मेरे अन्दर घुस गया. और फिर वो अगर ये करने में कामयाब हो जाती है तो वो पापा को भी चोद सकती है क्यूँकि इसके बाद माँ मयूरी को अपने बाप से चुदने के लिए मना नहीं कर पायेगी क्योंकि वो खुद अपने दो जवान बेटों से चुद रही होगी.

तुम लोगों को ऐसी यादें दूँगी कि ज़िंदगी भर संजो के रखोगे!कीकु ने झुक के रूबी का मुँह चूम लिया, फिर उसके गालों को चूमा, कभी उसकी गर्दन को चूमता. आज की कहानी में मैं आपको बताऊँगी कि कैसे मैं एक गाँव के देसी बॉय से चुदी.

अब तक मेरी बीस से ज्यादा कहानियाँ अन्तर्वासना पर प्रकाशित हो चुकी हैं.

मेरा लंड एक बार फिर से हिलोरें मारने लगा और मामी ने भी मेरी उत्तेजना को पहचान लिया था.

उनके व्यवहार से मैं समझ गया कि मोहतरमा आज बहुत खुश हैं, तो मैंने खुशी का राज जानने के लिए उनसे कहा- ये आज आप कहां पे अपनी खूबसूरती का कहर ढाके आ रही हैं?भाभी ने खुश होते हुए कहा कि आज किसी रिलेटिव के यहां फंक्शन था तो वहीं पे गई थी. एक बार जब मेरी बड़ी बहन की शादी नहीं हुई थी, यह बात तब की है, मैं, मेरी बड़ी बहन और छोटी बहन अमनदीप कौर ने अमृतसर से आगे वाघा बॉर्डर पर जाने का प्लान बनाया. जैसे इस साईट के रुल्स रेग्यूलेशन्स में कहा गया है कि कोई वास्तविक नाम, स्थल का उल्लेख नहीं होगा तो ये बात ध्यान में रखते हुए आवश्यक बदलाव किए गए हैं.

तब तक पद्मिनी के दोनों हाथ बापू को अपने आप से अलग करने में लगी हुई थी, पर जब उसने अपने बापू के हाथ को अपने स्कर्ट के नीचे पेंटी पर महसूस किया. उसने कहा- मैं तुम्हें दुल्हन की तरह देखना चाहता हूँ, क्या तुम वैसे कल तैयार मिलोगी?मैंने हामी भर दी, मैंने कहा- कुछ होगा तो नहीं?उसने कहा- मैं हूँ ना, कुछ नहीं होगा. ऐसा ही चलता रहा, एक दिन रवि की रात को तबियत खराब हो गई तो भाभी ने तुरंत मुझे फ़ोन लगाया.

’आंटी को करीब दस मिनट तक चोदने के बाद वो और मैं एक साथ झड़ने को हो गए। आंटी झड़ीं तो मैंने लंड को बाहर निकाला और सारा पानी उनके मुँह के पास ले जाकर छोड़ा। आंटी ने मेरे लंड को मुँह में रख कर साफ किया और हम दोनों नंगे ही सो गए। जब आँख खुली तो तीन बज चुके थे.

मैंने उसका हाथ पकड़ कर अचानक से मेरे लौड़े पे रखा, तो उसने झट से हाथ छुड़ा लिया और पीठ पर जोरदार मुक्का मारा. वो मेरे होंठ चूसते हुए ही चुदवा रही थीं और मादक आवाजें निकाल रही थीं- आहह आ मुउउः ऑश. मैंने उसे पलट कर देखा और पूछा- अब इतनी बारिश में कहाँ से लाओगे? ऐसे ही कर लो.

मैं तुम्हारी माँग में सिंदूर भर कर तुम्हें आज से ही अपनी पत्नी मानता हूँ. तेरे जैसे तगड़े लौड़े ही फील कर पाती है अब मेरी चूत!उसकी गांड ज़ोर से दबाते, अपने अंगूठे से उसकी गांड फैलाते चोदे जा रहा था. जब उसने अपने कपड़े उतारे और मेरी नज़र उसके लंड पर गई, तो मैं तो देखती ही रह गई.

जब शादी ब्याह जैसा उन्मुक्त माहौल मिले तो तमन्नाएं कुछ ज्यादा ही मचलने लगतीं हैं.

मैंने धक्के लगाने शुरू किए … पूरा जंगल उसकी चीख से गूंज रहा था, वो ‘आह उफ्फ उम्म्ह… अहह… हय… याह… हम्म ओह्ह. मेरे डैड बहुत बिज़ी रहते थे तो मेरी पढ़ाई के लिए मुझे बोरडिंग स्कूल भेज दिया गया.

प्रियंका चोपड़ा का हिंदी बीएफ इसके बाद मैंने उठा कर पैग बनाए और कोमल से बोला कि लो तुम अपना गिलास उठाओ. उसने टाइट स्कर्ट और टॉप पहन रखा था, उसके बूब्स लटक रहे थे और उस सफ़ेद टॉप से निप्पल दिखाई दे रहे थे.

प्रियंका चोपड़ा का हिंदी बीएफ उसने अब मेरी पेंटी निकाल दी थी, वो मेरी चूत की पंखुड़ियों को होंठों में लेकर चूसे जा रहा था. फिर देखिये क्या ज़बरदस्त, भेजा उड़ा देने वाला मज़ा वोआपकी लौंडियाचुदाई मेंदेगी.

मुझे लग रहा था कि शायद भाभी मुझे और भी ज्यादा फंसाने के मूड में हैं.

कोलकाता की सेक्सी बीएफ

मैं बेडरूम के अन्दर चली गयी और पैंटी ब्रा में औंधी लेट गयी और ख़ुद को टावल से ढक लिया. पहले मुँह को गोल कर उसकी चूत पर अपनी गर्म गर्म हवा फेंकने लगा, उसके बाद अपनी नाक को उसकी भगनासा के पास ले जाकर उसको सहलाने लगा, चूत से निकलती गंध अच्छी लगने लगी थी, लग रहा था कि बरसात की पहली बूँदें धरती पर गिरी हो और उसकी सोंधी महक सीधे मेरे नाक में घुस गई हो।हिम्मत करके मैंने जीभ निकाली और पहले उसकी भगनासा को सहलाया, नमकीन का सा स्वाद महसूस हुआ. और सही में वह अपनी चूत को उठा उठा कर चुसवा रही थी और मैं उसकी चूत को खूब चाट भी रही थी.

’ फिर वो बोला ‘यो बेबी…सेक्स इन द पूल! मेरा फिगर देख कर सबके होश उड़ गए फिर हम सबने कपड़े उतार दिए और हम लोगों ने पूल में ही सेक्स किया. अभी ऐसा लग रहा है जैसे मेरे बदन की पूरी गर्मी उतर गई, मेरे जिस्म की हर ख्वाहिश पूरी हो गई, मैं बहुत ही कम उम्र की लड़की हूं. मैंने लंड का पानी चुत के अन्दर ही निकाल दिया और निढाल होकर उसके ऊपर गिर गया.

मैं- तो क्या तुम्हें भी चाहिए मज़ा तो खुल के बोलो न?निक्की- अब चाय पिलाओ, यह गर्म हो गया है.

अब हम दोनों ने एक दूसरे को कसकर चिपका लिया था, उनकी चुत ने मेरे लंड को ज़ोर से जकड़ना चालू किया. रात को तीनों को चुदाई करने का पूरा मौका मिलता और तीनों इस मौके को कभी जाने नहीं देते, बस दुःख यह था कि तीनों खुलकर उस दिन जैसा चुदाई नहीं कर पा रहे थे. औऱ आप कौन?वैसे मुझे लग रहा था कि ये मुस्कान है क्योंकि मैंने उसका नम्बर नहीं लिया था.

फिर कुछ देर ऐसे ही बात होती रही। बात बस वो ही ज्‍यादा कर रही थी। मैं तो बस हॉं हूँ से काम चला रहा था। कुछ देर बात करते करते मैंने उससे कहा कि मुझे उससे बात करके बहुत अच्‍छा लग रहा है. फिर पूरे लंड को उनकी चुत की जड़ तक घुसाकर टाइटली हग करके चुत में ही पानी डाल दिया. अब मेरे सामने मामी जी के चूतड़ थे, जिनको सिर्फ़ देख कर ही मेरा लंड खड़ा हो जाता था.

और मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया, मेरा लंड रेशमा के बदन पर चुभ रहा था. ”मैंने कहा- अब कभी भरेगा भी नहीं क्योंकि बहुत मुश्किलों से यह चुत तुम्हारे हाथ आई है ना.

विजय और रीना एक दूसरे को किस करते हुए एक दूसरे के गुप्तांगों को छूने लगे. उन्होंने अपने हाथों से विरोध तो जताया, लेकिन आज उस विरोध में वो बात नहीं थी. जब बाप चूत चाट रहा था तो पद्मिनी अपने दोनों हाथों से अपने बापू के सर को ज़ोर से पकड़े थी और ‘उफ.

मैं मचल गई और मेरे मुँह से दर्द भरी आवाज निकली- कितना गया?उन्होंने बोला- अभी आधा गया.

मैं बोली- चाचा पूरा डालो गांड में और जमकर चोदो, अभी मत निकालना चाचा. फिर क्या था जैसे मैंने उसकी चूत को चाटा था वैसे ही वह मेरी चूत को चाटने लगी और बोली- मेरी जान, तुम्हारी चूत तो बहुत गीली है, क्या मैं इसे साफ कर दूँ?मैंने कहा- हाँ जानू, इसकी गर्मी को भी शांत कर दो!फिर क्या था… वह मेरी चूत को चाटने लगी और करीब 20 मिनट तक उसने मेरी चूत को चाटा. अब मुझे रात में नींद नहीं आ रही थी, बार बार यही विचार आ रहे थे कि कल क्या होने वाला है.

अब वो चिकना हो चुका था और मेरी चुत में घुसने को पूरी तरह से बेताब था. मैंने उसे बहुत कुछ बताया और उसने भी, जो उसे पता था मुझसे शेयर किया.

रूबी ने पलट कर मेरी ओर देखा, और मुस्कुराते हुए अपनी आँखों से अपनी पीठ की ओर इशारा किया. हम दोनों एक दूसरे को बहुत देर तक चुम्मा चाटी की और उसके बाद उसने मुझे अपने बिस्तर पर खींच लिया. मैंने लंड निकाल लिया तो वो घोड़ी बन गईं और बोलीं- अब जल्दी से लंड डाल कर फिर से चोदो.

बीएफ फुल एचडी सेक्सी वीडियो

मैंने देखा कि उस आदमी ने अपना लंड बाहर निकाला हुआ था और उसका लंड बाहर से आती हुई रोशनी में थोड़ा चमक रहा था.

एक दिन मैंने पूछा कि आपके हज्बेंड कहाँ रहते हैं?तो उन्होंने बताया कि वो चंडीगढ़ में जॉब करते हैं, एक या दो हफ्ते में ही आ पाते हैं. उसके बाप ने गौर से पद्मिनी की चूचियों पर अपना नज़र दौड़ाईं, फिर अपनी वासना से लिप्त नज़रों को पद्मिनी के चूतड़ों पर किया. मैंने भाभी से कहा कि भाभी आपको डोर बेल बजाना चाहिए न!उन्होंने कहा कि तुम दरवाजा बंद क्यों नहीं रखते?उनकी इस बात पे मैं चुप हो गया.

मैं बताती हूँ कि किस कैसे करते हैं।आंटी मेरा मुँह खोलकर उसमें थूकने लगीं. एक और बार चुदाई के दौर से गुजरने के बाद तीनों भाई बहन नहाने के लिए बाथरूम में गए और एक साथ ही नहाने लगे. बीएफ एचडी ब्लू वीडियोपहले तो मैं डर गया क्योंकि इससे पहले उन्होंने कभी इस तरह रिएक्ट नहीं किया था.

ये सब इसलिए लिख रहा हूँ ताकि ये बता सकूँ कि हम लोगों को किसी को लाने में कोई तकलीफ नहीं होती थी. तब न तो मोबाइल फोन थे न इन्टरनेट और न ही लड़कियां यूं कोचिंग जाती थीं.

मैं समझ गई कि इसने मुझे अपनी कमाई के लिए ही मेट्रो में गरम किया था।मैंने कहा- देखो, अभी पांच तो नहीं हैं मेरे पास लेकिन अभी तीन ही रख लो, बाकी अगली बार आओगे तो ले लेना. तब उसकी कुर्ती में से उसके बड़े बड़े चुचे दिखने लगे और मेरा लंड जो बडी मुश्किल से शान्त हुआ था फ़िर हलचल करने लगा. मैंने उसके कन्धों पर हाथ रख कर उसको बिस्तर पर बिठा दिया और नीचे बैठ कर उसकी जयपुरी जूतियां उतार दीं.

अब मैंने अपनी बनियान भी उतार दी और दीदी को पलंग पे लेटा कर उनसे चिपक गया. मामी ने कहा कि मैंने अपने जीवन में कभी इतनी जबरदस्त चुदाई नहीं की है. वो ठीक से चल भी नहीं पा रही थी तो मैं उसे सहारा देकर ले गया, फिर हम भी बहन ने एक दूसरे को साफ किया और वापस आ गए।वापस आने के बाद हम भाई बहन बाक़ी पूरी रात एक दूसरे को चूमते चाटते रहे.

फिर कुछ देर बाद वो कार मेरे सामने से ग़ुज़री, पर उसमें उस मोटे आदमी के अलावा कोई नहीं था.

इसी बीच मेरा एक हाथ काजल, जो कि बाजू में सोई हुई थी, उसके चूतड़ों पे चला गया. कुछ दिन दीदी रुकी, फिर दीदी को छोड़ने के लिए मैं और मम्मी दीदी की ससुराल गये। वहां पर हम सब से मिले.

लेकिन मुझे अब तक ये नहीं मालूम चल सका कि रवि के अलावा वो मुझसे क्यों चुदती है. जिन लोगों ने मेरी पिछली कहानी को पढ़ा था वो मेरे बारे में जानते हैं। और जो नहीं जानते उनको मैं बता देता हूँ कि मेरा नाम जितेन्द्र है और पर मुझे जीतू नाम से ज्यादा बुलाते हैं, मैं राजस्थान के एक छोटे से गाँव से हूँ पर अपनी पढ़ाई के लिए जयपुर रहता हूं. उसकी आँखें हल्की गुलाबी हो चली थी, वह अपने पूरे शवाब पर थी, पता नहीं क्या क्या बोल रही थी।उसने नीचे झुक कर मेरी पैन्ट चड्डी एक साथ उतार दी और लंड को हाथ में लेते हुये कहने लगी- हाय मेरा मुन्ना कितना मुरझा गया है.

वह तो लगभग छः महीने पहले दतिया बस स्टैंड पर रामसुख के उस्ताद दादा ( मेरी पिछली कहानीगांड चुदाई के शौक का माराके पात्र) ने गलतफहमी में मेरी मार दी. राज अब मंजू के बालों को कस कर पकड़ कर जोर जोर से आगे पीछे करने लगा! मुझसे अब ये सब देख बर्दाश्त के बाहर हो गया. [emailprotected]कहानी का अगला भाग:मुसीबत से निजात मिली मज़े के साथ-2.

प्रियंका चोपड़ा का हिंदी बीएफ जैसे ही मैंने मना किया टीचर जी सीधे खड़े हो गए और मुझसे लिपटने लगे. अब गांड में दिनेश का लंड जड़ तक पहुंचने लगा, जिससे मैं बिल्कुल पागल हो गई और चिल्लाने लगी- आह.

सेक्सी बीएफ हिंदी लड़की

दोनों बार झड़ने से पहले उसने लंड बाहर निकाल लिया था और ज़मीन पर माल छोड़ दिया था. उम्म्ह… अहह… हय… याह… आअह्ह …”दोस्तो, उसके मुलायम होंठों से लंड चूसने का मजा ही कुछ अलग था. वो तो मैं नहीं कह सकती मगर जब वापिस आई तो उसको चाल से पता लगता था कि उसकी चूत की आज जमकर चुदाई हुई है.

मेरा मेलजोल भी कई लोगों से हो चुका था और उन सबसे मैं अब पिंकी को अपनी कजिन बताती थी. धीरे धीरे उन्होंने अपनी उछलने की स्पीड बढ़ा दी और कुछ ही देर में अकड़ने लगीं. मुसलमान वाला सेक्सी बीएफउसने विक्रम की जबान को चूसना शुरू किया और दोनों एक-दूसरे को करीब पांच मिनट तक चूसते रहे.

मैंने थोड़ा सा लंड पीछे किया उठा और फिर से धक्का दिया, अन्दर अवरोध महसूस होने लगा था.

बाबा ने ये चमत्कार कैसे किया था, यह बात अभी तक वल्लिका को समझ न आ सकी थी. बापू घुटनों पर ही था और सर ऊपर उठाकर पद्मिनी से कहा- बस अपना यह स्कर्ट ऊपर उठाकर बापू को अन्दर की जाँघ और अपनी पेंटी दिखा दे, मैं बहुत खुश हो जाऊँगा.

वैसे तो मुझे चुदाई का कोई अनुभव नहीं था, ना ही उसको… लेकिन मुझे सब पता है क्योंकि मैं लगभग हर दिन अन्तर्वासना की कहानियां पढ़ता हूँ और सेक्स की वीडियो देखता हूं।फिर मैंने अपनी बहन की पैंटी पकड़ कर नीचे सरकाई और निकाल कर उसकी चूत को सूंघने लगा. फिर मैंने आंटी के मैक्सी को धीरे धीरे खोला, अब वो केवल ब्रा और पैंटी में थीं. मैंने उसकी तरफ देखा तो उसने कहा- अब तो आपको मैं मिल सकता हूँ ना?मैंने कहा- मिल तो रहे हो.

मैंने बहूरानी को हर रूप में देखा था, हर रूप में हर तरह से चोदा था उसे … पर ये वाला रूपरंग पहली बार ही देख रहा था.

आज भी मैं उसे मिस करता हूँदोस्तो, मेरी ये ट्रेन सेक्स की कहानी कैसी लगी, जरूर बताएं. चाची भी आनन्द के मारे सिसकारियां भर रही थी ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’मैंने चाची से कहा- मेरा लंड मुँह में ले लो चाची, लगता है कि लंड चुसवाने में बहुत मजा आता होगा… मैंने वीडियो में देखा है!चाची को भी लंड चूसने की चुल्ल थी तो उन्होंने झट से उठ कर मेरा लंड अपने मुँह में ले लिया और मस्ती से चूसने लगीं. उसकी अन्दर की गर्मी मेरे ऊपर हावी होने लगी मेरी स्पीड बढ़ती जा रही थी और नीचे से अंजलि पूरा साथ दे रही थी.

बीएफ सेक्सी वाला पिक्चरजब मैंने भाभी से उनकी सेक्स लाइफ के बारे में पूछा तो उन्होंने बताया कि कुछ नहीं महीनों हो जाते हैं. अनीता दीदी अपने घर में अकेली रहती थीं, कभी कभी अपने भाई के घर आ जाया करती थीं.

ससुर बहु का बीएफ वीडियो

मेरी बात सुन कर वो बहुत हैरान हुआ और बोला- क्यों ऐसे क्या बात हुई है. तुम राज को रोकोगी नहीं क्या?”मंजू- राज, प्लीज़ ऐसा मत करो, मुझे कुछ हो रहा है!मैंने फिर मंजू को बोला- देखो, वो तो रुक ही नहीं रहा है, उसने अब तुम्हारी ब्रा को खोल दिया है, और मैंने खुद ही उसकी ब्रा खोल दी. लंड से लास्ट धार के निकलते ही मेरे दिल को एक सुकून सा मिला और अनजाने में ही शावर का हैंडल मुझसे मुड़ गया.

” हम दोनों एक दूसरे को बांहों में पकड़े हुए ही दरवाजे की तरफ गए, बाहर देखा तो गार्डन में बड़े पेड़ की एक टहनी नीचे पड़ी थी और उसकी आवाज आई थी।अरे … रे … तेज हवा की वजह रे टहनी टूट गयी. फिर बीवी ने कहा कि अब मैं कुतिया बन जाती हूँ, तुम अपना मोटा लंड पीछे से मेरी चुत में डालकर चोदो. मैं अपने घर वालों को ऐसे ही चूतिया बना बना कर राम के लंड से चुदती रहती थी.

बापू ने गहरी साँस लेते हुए पद्मिनी को सिखाया कि कैसे वह अपने हाथ को उसके लंड पर चलाए. जैसे ही मैंने अपने रूम का डोर ओपन किया, वहाँ रानी शुक्ला को लेटी पाया. हम एक हॉलीवुड मूवी देख रहे थे और थोड़ी देर बाद उसमें एक बहुत ही सेक्सी किसिंग सीन आया.

आंटी मेरे बारे में पूछने लगीं कि कौन हूं, कहां से आया हूं, वगैरह वगैरह. जब बाथरूम से निकलने पर उनकी निगाह मुझ पर पड़ी, तो उन्हें लगा कि मुझे कोई परेशानी है, इसलिए वो मेरे पास आकर बैठ गईं.

[emailprotected]कहानी का अगला भाग:पेयिंग गेस्ट से कामवासना की तृप्ति-2.

उन्होंने गुस्सा होते हुए कहा कि उनका पीरियड चल रहा है और उन्हें पीरियड में कमर दर्द की समस्या रहती है. हिंदी सेक्सी बीएफ चोदामैंने तो पहले जूस ऑर्डर किया, पर जब मैडम को वोड्का के शॉट लगाते देखा तो मुझे भी हिम्मत आ गई और मैंने व्हिस्की आर्डर कर दी. जाति सेक्सी वीडियो बीएफपापा के न रहने का फायदा पापा के दोस्त उठाते थे, साथ में और भी कुछ लोग थे, वे सब मम्मी की मदद करने के बहाने मेरे घर आते-जाते रहे हैं. जब उसने उसका देखा तो पूछा- यह पिंकी का ही मेल एड्रेस है क्या?मैंने कहा- नहीं तो क्या मेरा है?अब सब कुछ साफ़ हो चुका था.

जब भी मैं और निक्की फोन पे बात करते तो वो अन्दर जाकर एडमिन ऑफिस के फोन से हमारी बातें सुना करती थी और इसी चक्कर में साला एक दिन चोरी पकड़ी गयी.

कुछ देर बाद जैसे ही मेरी आँख खुली, मेरी नज़र दरवाज़े पर गयी, जहाँ पापा खड़े मुझे फटी फटी आँखों से देख रहे थे। मेरे दोनों हाथ अभी भी मेरे बालों में फंसे हुए थे।मैं पापा को इस तरह घूरते देख कर बहुत डर गयी- सॉरी पापा… मेरे बाथरूम में लाईट नहीं जल रही है, इसलिए मैंने आपका बाथरूम यूज कर रही हूँ. हेलो फ्रेंड्स, मेरा नाम पुनीत वर्मा है और मैं 21 साल का हूँ और मेरा लन्ड 6. उसकी चुत पर हाथ रखा तो वो पूरी तरह गीली हो गई थी और भट्टी की तरह गर्म थी.

जब किसी मस्त आंटी के पीठ या पेट पर पसीने की बूंदें देखता हूँ, तो मेरा लौड़ा अपने आप तैयार होने लगता है. वो ठीक से चल भी नहीं पा रही थी तो मैं उसे सहारा देकर ले गया, फिर हम भी बहन ने एक दूसरे को साफ किया और वापस आ गए।वापस आने के बाद हम भाई बहन बाक़ी पूरी रात एक दूसरे को चूमते चाटते रहे. परंतु कुछ सालों के बाद एक शाम को स्कूल की लड़कियां पद्मिनी के बारे में कुछ अनाप शनाप बक रही थीं, जो मोहल्ले के दूसरे लोगों ने सुना और वह बात पद्मिनी के पिता के कानों तक पहुंची.

नंगी बीएफ सेक्सी ब्लू

मम्मी…” मैं भर्राये गले से बोली। मुझसे मम्मी की हालत देखी नहीं गयी, उनका सुन्दर चेहरा मुरझा गया था, आँखें ऐसी सूजी हुई थी जैसे वो सालों से सोना भूल गयी हो। मुझे ज़िन्दगी में पहली बार मम्मी के दुःख का एहसास हुआ।मुझे मम्मी मत कह… मैं तेरी माँ नहीं सौतन हूँ। जा चली जा यहाँ से… मुझे तुम लोगों की जरूरत नहीं है। मैं अकेली जी सकती हूँ. इस समय उनको मेरी नंगी गांड दिखाई दे रही थी, अब जाकर सामने मम्मी का पेटीकोट मुझे नजर आया. अब अंडरवियर में बापू का लंड एकदम फॉर्म में था और पद्मिनी एक बार अपनी नज़र वहां करके मुस्करा रही थी.

रजत ने इतनी देर में मयूरी के मुँह में अपना मुँह जोड़ दिया और वो उसको प्रगाढ़ चुम्बन करने लगा… साथ ही साथ उसकी विशाल चूचियों को धीरे धीरे दबाने लगा.

फिर उसने थोड़ा रुक कर जोर का झटका मार कर अपना पूरा लंड मेरी बुर में पेल दिया.

उसने मेरे गले से हाथ करते मेरे बालों में हाथ डाला और मुझे खींच के स्मूच करने लगी. मैंने भी पूरी उंगली अन्दर डाल दी और जोर जोर से अन्दर बाहर करने लगा. हीरो हीरोइन के बीएफ वीडियोमैं थोड़ा और आगे हो कर खड़ा हो गया और लंड को उसकी गांड में ज़ोर से घुसा दिया.

मैं- बात ही कुछ ऐसी है, मामी जी की तबियत खराब है और डॉक्टर ने उन्हें खुली हवा में रहने के लिए कहा है, तो हम दो दिनों के लिए यहां रहने आए हैं. इसके बाद तो जैसा ब्लू-फिल्मों में होता है, हम दोनों ने कई बार वैसे भी किया. लेकिन शायद किस्मत को कुछ और ही मंजूर था।जब रात को हम दोनों एक ही बिस्तर पर लेटे और वो बिल्कुल मेरे पास लेटी.

उसने ब्लैक कलर की साड़ी पहनी थी और झीने काले रंग के ब्लाउज के अन्दर सफ़ेद रंग की ब्रा पहनी थी, जोकि एकदम साफ़ झलक रही थी. मैंने कहा- तुम्हारा बाप मुझे पूरी रात नंगी करके रखता था और बोलता था कि पैसे दिए हैं तुम्हें नंगी करने के.

मम्मी ने भी ससुर जी को बांहों में भर लिया।दीदी जीजा जी को लेकर मेरी खिड़की के बगल में आ गयी मैं डर कर वहां से हट गई। लेकिन दीदी ने मुझे नहीं देखा.

इस वक्त वो मेरे सामने पसीने में नहाई हुई सिर्फ़ सफेद ब्रा और रेड और वाइट आड़े स्ट्रिप्स वाली पेंटी में लेटी हुई थीं. मैंने कहा- कब तक वापिस आ जाओगी?वो बोली- जल्दी आ जाऊंगी मगर अगर देरी होगी तो मैं आपको फोन कर दूँगी. अब मैंने सोच लिया कि मैं ऐसा कुछ नहीं करूँगी, जिससे यह समझे कि मेरी चूत में इसके लंड को लेने की आग लगी हुई है.

चूत लंड वाली सेक्सी बीएफ मैं बोली- तेरे दोस्त का क्या नाम है?उसने बताया- अंकित शुक्ल नाम है. अगर कुछ गलतिय़ां है, तो वो भी बताना ताकि अगली कहानियों में हमें सुधारने का मौका मिले.

मैंने उसका मुँह एक हाथ से बंद करके ज़ोर से धक्का मार के पूरा लंड उसके चूत में पेल दिया. मैंने अपने लंड को बाहर निकालते हुए उनकी बड़ी-बड़ी गांड पर अपना वीर्य गिरा दिया. फर्क था ही नहीं… बिल्कुल जैसे कि पुष्पा ही की तस्वीर थी, जब वह जवान थी तब जैसी ही छवि थी.

नेपाली के बीएफ सेक्सी

मुझे देखते हुए जब वो उसे उठाने के लिए झुकीं तो मुझे उनकी पूरी चुचियां दिख गईं. मैं बुक लेने के लिए लाइन में लगा हुआ था, वहां पहले से ही बहुत लड़कियाँ और लड़के लगे थे. मैंने कहा- कोई बात नहीं भाभी जी, नम्बर तो दे ही दिया है, अब बात का क्या है.

किस करते करते वो अपना लंड मेरी गांड पे रगड़ रहा था और मेरे मम्मों को मसल रहा था. उसके बाद मैंने खाला को इस तरह लिटा दिया कि मेरी छाती के साथ नूरी खाला की पीठ लगने लगी.

एक तो मुझे मेरे मोटे और बड़े लंड की प्रॉब्लम होती है, क्योंकि कुँवारी लड़की मेरे लंड को पहले दिन लेने से घबराती है.

कुछ बाइक की वजह से, कुछ मैं अपने आप ही इस तरह से उससे चिपकती थी कि उसे मेरे मम्मों का पूरा पता लगे कि वो कैसे हैं. तीनों जब इस घनघोर चुदाई के बाद थक गए तो एक साथ ही सोफे पर एक दूसरे पर गिर गए लेकिन थोड़ी ही देर में तीनों इस चुदाई के खेल के लिए फिर से तैयार हो गए. मैं बहुत खुश था, उस रात को मुझे नींद नहीं आई थी और बस उसी के ख्याल आते रहे थे.

सुरेश जी का वजन ज्यादा होने की वजह से अब मैं हिल भी नहीं पा रहा था. उसका बच्चा मेरे डॉगी के साथ खेलने में लग गया और मैं उसकी माँ के साथ बातें करने लगा. दस मिनट बाद मैंने उसे घोड़ी बनाया और उसके पीछे जा के लौड़ा चूत में डाल दिया.

लेकिन धीरे-धीरे पता नहीं मुझे उनके प्रति कैसी फीलिंग आने लगी।एक दिन मैं अपने कमरे के दरवाजे पर खड़ा था और वो झाड़ू लगा रही थीं। उस समय मैं घर में अकेला था।उन्होंने मुझसे कहा- अभिषेक दरवाजे पर ऐसे क्यों खड़े हो?मैंने कहा- कुछ नहीं बस यूं ही.

प्रियंका चोपड़ा का हिंदी बीएफ: मुझे किधर मिलोगे?मैंने बोला- ठीक है आ जाओ जान, मैं इन्तजार कर रहा हूँ. धीरे धीरे मेरी बहन भी मेरी तरह काफी गर्म होने लगी और काफी तेज सिसकारियां लेने लगी और मेरे सिर को पकड़ के अपने चूत पे दबाने लगी.

वो कसमसाते हुए बोलीं- आह मर गई हनी… आज मेरा सपना पूरा कर दो आह…मैंने झट से भाभी की पेंटी निकाल दी और उनकी चुत को किस कर दिया. इसके बाद उसने उस पकौड़े जैसी चूत के अन्दर अपना लंड पेल दिया और उसको दबा दबा कर चोदने लगा. फिर कुछ मिनट बाद हम दोनों झड़ने वाले थे तो मैंने उसकी गांड में ही सारा माल भर दिया.

अब मंजू के जिस्म की बढ़ती हुई गर्मी उसे बेचैन कर रही थी, वो चुप थी! मैंने उसे राज के लिए मना लिया था लेकिन फिर भी मन में डर था कि वो फिर से मना नहीं कर दे.

‘अभी उंगली जाने में तो खंजर भुकने जैसा लगा था, वह बैंगन कितना दर्द देगा. मैंने मोबाइल ले लिया, उसने मुझसे मोबाईल का वीडियो कैमरा चालू करने के लिए कहा तो मैंने वीडियो कैमरा चालू कर दिया. दोस्तो, मेरा नाम नितिन है और मैं अपनी वकालत की पढ़ाई के लास्ट ईयर में हूँ.