बीएफ हॉट सेक्स वीडियो

छवि स्रोत,दिवस सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

प्लेबॉय कंपनी: बीएफ हॉट सेक्स वीडियो, मैं भी उनकी चुत के झड़ने से जरा हैरत में आ गया कि इनका रस इतनी जल्दी कैसे निकल गया.

सेक्सी एक्स व्हिडीओ दाखवा

उनके छोटे छोटे बाल, चौड़ा सीना, चमकते चेहरे और काली यूनिफॉर्म मुझे बहुत आकर्षित करती थी. सेक्सी मजाकफिर वो उठा और लंड को चूत के छेद पर लगा कर बोला- तैयार हो जाओ डार्लिंग, तुम्हारी चूत का उद्घाटन होने वाला है.

दीदी को ज्यादा फर्क नहीं पड़ा क्योंकि मैंने इनमें दो दिन में दीदी की चुत की अच्छी तरह से फैला दिया था. राजस्थान सेक्सी वीडियो देहातीइस पोजीशन में हम दोनों को बहुत मजा आ रहा था क्योंकि मेरा पूरा लंड साधना की चूत में उसकी बच्चेदानी तक की खबर ले रहा था.

मैंने सोचा कि कुछ सेक्स वीडियो या नंगी फोटो ही देख लेता हूं टाइम पास करने के लिए.बीएफ हॉट सेक्स वीडियो: उसके पति को शायद ज्यादा समय नहीं मिलता था उसकी चूत को चोदने के लिए, इसी वजह से वो इतनी जल्दी अपनी चूत मुझसे चुदवाने के लिए तैयार हो गयी थी.

कुछ देर तक इसी तरह जबरदस्त रगड़ने वाली चुदाई करके वो सीधा होकर बैठ गया.मुझे यकीन नहीं हो रहा था जिया की चुदाई का मौका दोबारा मेरे हाथ लगा है.

सेक्सी वीडियो रिजल्ट - बीएफ हॉट सेक्स वीडियो

मैंने उनके मुंह से हाथ हटाया तो उनके चेहरे पर आनंद की लहरें तैर रही थीं.तो उसने पूछा- तुम्हें कौन सा फ्लेवर पसंद है?मैंने भाभी को अपनी तरफ खींचा और साड़ी के ऊपर से ही उनकी चूत सहला कर बोला- ये वाला फ्लेवर.

मैंने कहा- तुझे आदत नहीं है क्या किसी मर्द के साथ सोने की?मां बोली- तेरे पापा किसी औरत को संतुष्ट करने के इतने लायक कभी थे ही नहीं. बीएफ हॉट सेक्स वीडियो दीदी की चूत चोदने को लेकर जबरदस्त उधेड़बुन चल रही थी मेरे अंदर।सोचते सोचते करीब एक घंटा बीत गया था.

पापा ने पिंकी को सब काम समझा दिया गया था और वो वापस सवाई माधोपुर जा चुके थे.

बीएफ हॉट सेक्स वीडियो?

किसी भी लड़की को अपने भाई को पटाने में मुश्किल इसलिए होती है क्योंकि भाई-बहन के रिश्ते में हमें शर्म आती है. उसने कहा- अब और सहा नहीं जाता, डाल दो अपना लंड मेरी चुत के अन्दर और मेरी प्यास बुझा दो. मैं नीचे जमीन पर ही बैठ गयी और वहीं काउंटर के पीछे खुद को छुपा लिया.

चुदाई होने के बाद लवली ने कहा- मां, ये आपने क्या किया? अपने दामाद को भी नहीं छोड़ा आपने?सास बोली- तेरी वजह से ही तो कर रही हूं. मैंने तारीफ़ करते हुए कहा- आंटी, आपका घर तो बहुत ही बड़ा और अच्छा है. वो ढीली पड़ गयी।मैंने सोचा कि अगर ऐसे ही छोड़ दिया तो मेरे लंड की तमन्ना रह जायेगी.

मैं दिन भर पढ़ती रही और फिर शाम को हम खाना खा कर अपने रूम में आ गए. वर्मा ने मुझे अपनी ओर खींच लिया और अपने सीने से चिपका कर मेरी गांड को दबाने लगा. मां की झांटों का मेरे बदन से रगड़ खाना मेरे पूरे जिस्म में एक गुदगुदी पैदा कर रहा था.

मैंने उसकी गांड को पकड़ लिया और तेजी से उसकी चूत में लंड की पिलाई करने लगा. मैं आंटी की चूत चाटने लगा और अपने हाथों को आगे करके उनके मम्मों को दबाने लगा.

उसके बाद वो दीदी से बोला- मेरी जान… जब मैं और तुम दोनों नंगे होकर चुदाई करते हैं तो अलग ही मज़ा आता है।पंकज ने सरिता दीदी को वहीं जमीन पर गमछे पर लिटा दिया और दीदी के ऊपर आकर उन्हें चोदने लगा। चुदाई की आवाजें और उन दोनों की कामुक सिसकारियां सुन कर अब मैं खुद को रोक नहीं पा रहा था.

काफी देर तक वो मेरा लंड ऐसे ही चूसती रही एक पोर्न स्टार की तरह से मेरे लंड को न केवल चूस रही थी … बल्कि मेरी गोटियों को भी चूस रही थी.

[emailprotected]कहानी का अगला भाग:फाइव स्टार होटल की स्टाफ लड़कियों की चुदाई-2. मैंने उनको कभी भी बुरी नजर से नहीं देखा था और मैं हमेशा उन्हें आंटी ही बोलता था. वो भी नशीली आवाज में बोलीं- हां … बना दो … जो करना है कर दो … आज से मैं तुम्हारी रंडी बन कर रहूंगी.

इसके लिए हम तीनों ने मिल कर एक प्लान बनाया जिसके मुताबिक मैं और मेरी बीवी मेरी मां के सामने चुदाई करने वाले थे. कुछ मिनटों तक ऐसे ही करते करते लंड वापस अपने विकराल रूप में आ गया और इस बार भाभी बिना वक़्त गंवाए लंड को चूसने लगी. पीछे से मैं दीदी की गर्दन को चूम रहा था और आगे से जीजा जी अपनी बीवी को किस कर रहे थे.

फिर आंटी अन्दर चली गई थीं, तो मैंने आंटी को आवाज़ देकर पूछा- आंटी, क्या मैं ये पार्सल खोल कर टोस्टर देख लूं, कैसे हैं?आंटी ने कहा- हां देख लो.

रात में मुझे मौसी की नंगी टांगें दिखाई दे गयी तो मैंने क्या किया?दोस्तो, मेरा नाम है शिवम और मैं भोपाल का रहने वाला हूँ. फिर जब मैंने खिड़की से झांक कर अंदर देखा तो पाया कि वहां पर लवली की मां यानि कि मेरी सासू मां के ऊपर कोई आदमी चढ़ा हुआ है और उनको चोद रहा है. दो मिनट तक चूत को चूसने के बाद मैं उठा और उनको इसी अवस्था में निहारने लगा.

उसके बाद दीदी ने एक गिलास में दारू डाली और दूसरे में जैसे ही डालने लगीं मैंने उन्हें रोक दिया. उसकी दोनों चूचियों को मैं बारी बारी मुँह में ले कर चूस रहा था और हाथ से निचोड़ रहा था. चोद दे आह्ह … और जोर से चोद साले।मुझे भी फुल जोश आ गया और मैं उसकी चूत को जोर से पेलने लगा.

प्रिंसीपल सर की आवाज़ सुनते ही मैडम जी ने अपना पर्स उठाया और उनके चेंबर में चली गईं.

[emailprotected]गर्म भाभी की हिंदी सेक्स कहानी का अगला भाग:मेरी चुदासी चूत और गांड की चुदाई-3. नीचे से मैंने काले रंग की ब्रा पहनी हुई थी जिसमें मेरी गोरी चूचियां बहुत मस्त लग रही थी.

बीएफ हॉट सेक्स वीडियो मैंने भी वक़्त की नज़ाकत को समझते हुए भाभी को अपने पास बुलाया और उनको इशारों में समझाया तो भाभी मेरे इशारों को समझ गई और एक आज्ञाकारी बच्चे की तरह अपनी ननद के होंठों को चूसने लगी. मैं उसके होंठों को चूसने लगा और फिर धीरे धीरे उसकी चूत में लंड को आगे पीछे करने लगा.

बीएफ हॉट सेक्स वीडियो वो मजे से लंड चूसने के बाद मेरे ऊपर आ गई और चुत पर लंड को सैट करके गांड हिलाने लगी. अब जब भी दोनों पढ़ने आतीं तो मैं उसे ही देखता रहता था और इशारे करता.

थोड़ी देर की लंड चुसाई में ही मुझे लगा कि मेरे से अब रुका नहीं जाएगा.

डॉक्टर ब्लू पिक्चर

उसने मेरे होंठों को अपने होंठों में जकड़ लिया और मैं बस हूंऊऊ … हूंऊऊ … करती रह गयी. मैंने एक पल रुक कर उसे देखा और कहा- प्रीति मुझे तो कोई दिक्कत नहीं है. मां के शरीर की बनावट इतनी सुन्दर लग रही थी कि उस पर तो मैं अपनी बीवी लवली जैसी 10 और लवली कुर्बान कर दूं.

धीरे धीरे करके अब मैं रोज़ाना किताब पढ़ने लगा और रोज ही बहन की पैंटी में मुठ मारने लगा. उनके लिए बहुत सारी चॉकलेट भी लेकर गया और साथ में ही एक डॉटेड कॉन्डम भी. मामी के मुंह से निकलने वाली मादक सिसकारियों में अब मजे के साथ दर्द भी था.

दोनों हाथ से मौसा के लंड की लम्बाई नापी जाये तो करीब 7 इन्च के ऊपर ही था.

उनकी चूत में अपना लंड बहुत आराम से अंदर बाहर करने लगा।वो कहने लगी- कितना अच्छा चोदते हो आप, और जोर से करिए, मुझे बहुत अच्छा लग रहा है।फिर मैंने एक तकिया बगल से उठा लिया और उनकी गांड के नीचे रख दिया. इधर खड़े होकर कब तक चुदाई करोगे?मैंने मोनिका को गोद में उठाया और बेडरूम में आ गया. मैंने लाल ब्रा के ऊपर से ही आंटी के मम्मों पर किस किया और प्यार से चूमते हुए अपनी जीभ से चाट लिया.

काफी देर तक चुदवाने के बाद वो बोले- साले, अब तो छोड़ दे, कितनी मारेगा?मैंने कहा- पहले मुंह में लो. एकाएक दो लोग उठे और अमिता के सामने आकर उसके आगे वाली सीट में बैठ गए. आकाश सर अपनी बीवी को पराये मर्द के साथ चुदते हुए देख कर मजा ले रहे थे.

फिर वो बेड पर चित लेट गईं और अपनी नाइटी ऊपर करके चूत दिखाते हुए बोलीं- यहां के बाल भी शेव कर दे. उसकी लोअर नीचे होते ही लंड बाहर निकल आया और मैंने उसके गर्म गर्म लंड को हाथ में भर कर पकड़ लिया और उसके लंड की मुठ मारने लगी.

ये मेरी पहली सेक्स कहानी है, इसलिए अगर कोई गलती हो जाए तो प्लीज नजरअंदाज कर दीजिएगा. उसकी आंखों बंद थीं … उसके मासूम चेहरे पर वासना की प्यास साफ़ झलक रही थी. हाइट 5’9” है और लंड का साइज 6” है। मैं बहुत शर्मीला टाइप का बंदा हूं.

मेरे मुंह से सिसकारियां तो नहीं निकल रहीं थी क्योंकि हसन का लंड मुंह में था.

जैसे ही मैंने भाभी की चुत पर जीभ को लगाया, उन्होंने मेरे बाल खींचना शुरू कर दिए. करीब 10 मिनट की चुदाई के बाद मुझे लगा कि मेरा काम तमाम होने वाला है. मेरा एक हाथ उसकी चूचियों पर था और दूसरे हाथ से मैं उसकी देसीचुत को कपड़ों के ऊपर से ही छेड़ रहा था.

कहानी का श्रीगणेश करने के लिए पति ने इसलिए कहा था क्योंकि वो चाहते थे कि हमारी लाइफ की तरह हमारी कहानी भी सुपर होनी चाहिए. फिर मैंने चुत चूसने के साथ ही उनकी चूचियों को जोर से दबाना शुरू किया.

पापा के पास मां जाकर बोली- आशीष और लवली दोनों अब दिन में भी चुदाई करने लगे हैं. मुझे लड़कों के साथ सेक्स करके बदनाम नहीं होना है और बिना सेक्स के जिंदगी में कोई मज़ा नहीं है. मैंने उन्हें घूमने के लिए इशारा किया और उनको पूरी बॉडी दिखाने का कहा.

दीपिका पादुकोण एक्स

मैंने कहा- अच्छा … आप क्या करती हैं?वो बोलीं- मेरा खुद का बिज़नेस है … मैं वो करती हूँ.

नीचे वाली डबल सीट मेरे पति और मेरे बेटे की थी जबकि ऊपर वाली सीट मेरी थी. कभी बीच बीच में वो मेरी चूचियों पर टूट पड़ता और उनके निप्पलों को चबा चबा कर खाने लगता. मैंने सक्सेना को जोर से पकड़ लिया क्योंकि वर्मा का लंड मेरी गांड में घुसने वाला था.

मैंने दांतों से पकड़कर उनकी पैंटी नीचे सरका दी और अब उनकी खूबसूरत चूत मेरे सामने थी. साथ ही वो मेरे लंड को और उसकी गोटियों को अपने हाथों से सहला भी रही थी. दूसरा वाला सेक्सी वीडियोलेकिन ललिता को शायद मुझसे ज्यादा जल्दी थी, उसने अपनी सलवार का नाड़ा खोल दिया और बोली- जल्दी कर लो, कोई आ न जाये.

घर आया तो सबसे पहले मैंने बाथरूम में घुस कर जोर जोर से लंड की मुठ मारी और वीर्य गिराने के बाद ही मुझे और मेरे लौड़े को चैन मिला. मैं अपने दोस्तों की मदद नहीं ले सकता हूं क्योंकि इससे तुम्हारी दीदी का करेक्टर डाउन होगा.

और मैं ये स्टोरी आपको बताने पर मजबूर हूँ क्योंकि वो रातें मैं नहीं भूल सकता. दीदी ने मेरे कंधे पर दोनों हाथ रख दिए- राज सच बताना … तुम इसके लिए राजी तो हो न?मैं- दीदी, मैं आपके लिए जान भी दे सकता हूं. कुछ देर के बाद एक आदमी की आवाज सुनाई दी जो एक लड़के के साथ में बात कर रहा था.

जिया का हाथ सहलाते हुए आकाश सर बोले- तो फिर अब आगे का क्या प्लान है?जिया- किस बारे में?आकाश- दोबारा उसी के साथ करने का, और किस बारे में!जिया- तुम भी दोबारा? नहीं, मैं नहीं कर सकती. मौसा जी बोले- आह साली रंडी … चुदवा ले अपनी चुत … चुदवा ले साली कुतिया. उसकी आंखों बंद थीं … उसके मासूम चेहरे पर वासना की प्यास साफ़ झलक रही थी.

मेरी एक कोशिश है कि इन चूत चुदाई स्टोरी के जरिये कुछ टेंशन से फ्री हो सकूं.

पूरा रूम भाभी की सिसकारियों से गूंज उठा- आह्ह … चोदो राहुल, आज मेरी गांड को फाड़ ही दो. उसके बालों में डाई लगने से और हाथों में नेल पॉलिश लगने से वो बहुत मस्त लगने लगी थी … बिल्कुल पोर्न स्टार्स की तरह.

फिर माँ और वो आदमी जिसका नाम निखिल कह कर मां पुकार रही थी, वो दोनों हॉल में आकर बात करने लगे. मैंने भाभी के दोनों पैरों को अपने कंधे पर ले लिया और उनकी चुत को चाटना चालू किया. उसकी आंखें खुली की खुली रह गयी थी क्योंकि वो और बड़ा होकर बाहर आना चाह रहा था।मैंने उसका ध्यान न हटाकर दूसरा सवाल पूछा- आज तक आपने कितने मर्दों को नंगा देखा है?वो चुप रही और अपनी पीठ मेरी तरफ कर दी.

मैं सोच रही थी मां के पास चली जाऊं, पर घर भी तो अकेला नहीं छोड़ सकती. मेरे कहने पर वो ऐसे ही लेटी रही और मैं भी उसकी चूत में लंड डाले हुए पड़ा रहा. पहली बार में दीदी को अजीब सा लगा लेकिन वो लंड को धीमे धीमे से चूसने लगीं.

बीएफ हॉट सेक्स वीडियो खाना खाकर आराम ही करना अब।दूसरे दिन राजेश भैया दुकान पर गये और मौसी भी चली गयी. इसी परम्परा का निर्वाह करने के लिए मैं अपनी मां के साथ अपने ननिहाल गई थी.

जंगल में चुदाई

वो मेरे लिए खाना निकाल कर रख देती थी और मैं खाकर चुपचप लेट जाता था. चुदाई के मैदान में वह किसी भी रिश्ते को आराम से अपने बस में कर लेती थी. फिर उसने मुझे नीचे बिठा कर अपना लन्ड चुसवाया और मेरे मुख में माल झाड़ कर मुझे अपने साथ बाहर ले आया।अब वो मुझे सीधे उसी फ्लोर के सब से किनारे वाले कमरे में ले गया जो बंद था और उसको खोल कर उसने मुझे अंदर किया.

ललिता के चूतड़ों पर हाथ फेरा तो छोटे छोटे चूतड़ों पर हाथ फेरना मेरे लिए नया अनुभव था क्योंकि मैं अभी तक कांता आंटी के मोटे मोटे चूतड़ ही दबाया करता था. पर कोमल दीदी की चूचियां तो ऐसे हिलते हुए दिख रही थीं, जैसे उन्होंने ब्रा ही ना पहनी हो. सेक्सी ब्लू एचडी मूवीशाम को दादी (फरहान भाई की अम्मी) की तबीयत थोड़ी खराब थी, तो भाई उन्हें डाक्टर के पास ले गए थे.

मैंने केल्कुलेशन लगा कर देखा कि मौसा पन्द्रह साल तक और इसी तरह सेक्स बखूबी कर सकते हैं।आप को एक महत्वपूर्ण बात बताना तो मैं भूल ही गयी.

मैंने ललिता को फोन मिलाया और पूछा कि स्मृति कॉलेज से कितने बजे तक लौटती है?चार, साढ़े चार बजे तक लौटेगी. आइए पहले इस इरोटिक ब्लोजॉब सेक्स स्टोरी के पात्रों से परिचय कर लेते हैं.

मेरे गणित शिक्षक के सुझाव पर पिताजी ने अवकाश के दिनों में मुझे शिक्षक के घर भेज देने का मन बना लिया. उनके हाथ जो उनके वक्ष उभारों पर रखे हुए उनको दबा रहे थे, उन्हीं पर मैंने भी अपने हाथों को रख दिया और उनकी मदद करने लगा. तभी अचानक से पर्दा हटा और वही भाभी मेरी बर्थ पर लेटने के लिए अन्दर आ गई.

रोशन लाल लम्बी सांस भर कर खूशबू का मजा लेते हुए बोला- आह क्या मस्त जुल्फें हैं तेरी अलीज़ा जान.

इसके बाद हम दोनों ने एक एक पैग और लिया और चुदाई की अगली कुश्ती की तैयारी करने लगे. मगर मेरी किस्मत ने मेरा साथ दिया और आकाश सर ने खुद ही एक बार फिर से अपनी बीवी की चूत मेरे साथ चुदवाने के लिए उनको मना लिया. ऊपर से दारू का नशा भी था इसलिए आंटी की चूत चोदने में पूरा मजा आ रहा था.

सेक्सी चोदा चोदी खुल्लम-खुल्ला वीडियोफिर मैंने कार से वो पार्सल निकाले और आंटी के साथ अन्दर उनके घर में आ गया. चाची की आंखों में मुझे साफ साफ मायूसी दिखी … पर मुझे अपने घर जाना पड़ा.

हसीन की बीएफ सेक्सी

मौसा ने मामी की चूत पर थोड़ा सा तेल लगाया और थोड़ा सा तेल उनके दोनों गोल मम्मों पर लगा कर मालिश की. आदमी बोला- मेरा एक दोस्त है, अगर तुम कहो तो उसे बुलाऊं?मां बोली- ठीक है कल बुला लेना. ये कह कर मैं भाभी की गर्दन पर किस करते करते उनकी गांड दबाने में लग गया.

मैं भी जोर जोर से हाँफने लगा और मेरे लंड से झटके के साथ ही वीर्य निकलने लगा. मैं भी नशे में था इसलिए मैंने ज्यादा कुछ रिएक्ट नहीं किया और हल्का सा मुस्करा कर बेड पर आकर गिर गया. तुम उनके काम में टांग क्यों फंसा रही हो?मां बोली- जब वो लोग करते हैं तो मेरा दिमाग भी खराब हो जाता है.

उसके बाद उसके लिए दुल्हन का सारा सामान किराये पर लिया और उसको तैयार करके होटल में ले गया. चूंकि मैं उसकी जवानी की आग को अपने लंड से चोद कर शांत कर ही रहा था तो उसने भी मेरी बात को अच्छे से निभाना जारी रखा. इसी तरह तकरीबन 20-25 मिनट तक गांड चुदाई के बाद मेरा पानी निकल गया और मैं उनके ऊपर ही निढाल हो गया.

चार चार चूतों की चुदाई एक ही दिन में करने के बाद मैं काफी कमजोर सा महसूस करने लगा. इस कहानी के माध्यम से मैंने आपको यही बताना चाहा है कि जिन्दगी का असली मजा सेक्स में ही है.

उसने कहा- क्या?मैंने कहा- ये बताओ कि अब तक तुमने कितने लंड चूसे हैं?उसने कहा- एक!मैंने कहा- किसका? और कैसे थोड़ा प्रैक्टिकल करके बताओ.

मैंने उसकी गांड अपने हाथों से पकड़ी हुई थी और अपना मुंह चुदवा रही थी. सेक्सी डॉट कॉम वीडियो मूवीमनोज ने गाड़ी में से कपड़ा और मैट निकाले और वह अम्मी को झाड़ियों में लेकर चला गया. पंजाबी सेक्सी लड़की की चुदाईहालांकि गलती मां की थी कि उसने अपनी ननद के बेटे के लंड का गलत इस्तेमाल किया. फिर वो एक तरफ हो गयी और मौसा ने मुझे पकड़ कर अपने ऊपर कर लिया और खुद नीचे लेट गये.

मैं समझ गया कि आज ये दोनों सब कुछ भूल कर मुझसे चुदने का प्रोग्राम बना कर आई हैं.

मुझे यकीन नहीं हो रहा था कि एक अन्जान भाभी मुझे मिली और उसने मुझे नम्बर भी दे दिया है. जब मैंने आंखें खोलीं तो पाया कि पीछे एक 50-55 साल का बुड्ढा खड़ा हुआ अपने लंड को निकाल कर हिला रहा था. पूरी दुनिया में ढूंढने पर भी मुझे कोई और ऐसा मर्द दूसरा नहीं मिलने वाला है.

मैं बोला- ये सब रंडीबाजी तुम और तुम्हारी मां जो मिलकर कर रही हो मुझे इसके बारे में पता लग गया है. मैंने जोर दिया, तो उन्होंने कहा- अच्छा देख कर आना … कोई शक करे … तो मत आना. मैंने कभी कल्पना भी नहीं की थी कि अपनी मामी की चुदाई मुझे अपने ही घर में करने का ये सुनहरा अवसर मिलेगा.

बंगाली भाषा में बीएफ

खुद ही मेरे लंड को हाथ में लेकर अपनी चूत में देने का प्रयास करने लगी. मौसी की चूत शेव करते वक़्त चूत से पानी भी बाहर आ रहा था, जिससे उनकी चूत गीली हो रही थी. उस जवान लड़के को चूत का अहसास मिलने से वो इतना गर्म हो गया था कि उसके लंड ने उसकी लोअर को लंड के टोपे के इर्द गिर्द से गीला करना शुरू कर दिया था.

ललिता तो चुदासी हो ही रही थी, मैं भी कुंवारी चूत चोदने को उत्सुक था इसलिए मैंने ललिता को गोद में उठाया और उसके बेडरूम में ले आया.

मैं उस हिसाब से तैयार होकर बस स्टैंड पहुंच गया और वहीं पास के एक मेडिकल स्टोर से कंडोम का एक पैकेट लिया और बस काउंटर पर पहुंच गया।वो भी सीधा बस स्टैंड पर आ गयी। उसने पटियाला सूट पहना था.

बिना किसी स्टाफ को बताए गेस्ट एरिया से मैं आया, उसकी चाबी इस्तेमाल करके कमरे में गया. वो आपसे बात करने के लिए कह रही थी और कह रही थी आप उनके पास फोन कर लें. मराठी सेक्सी गांव की वीडियोमैंने उससे कहा- ये चाय यहां रख दो और ये जो फटे हुए कपड़े यहां पर पड़े हुए हैं इनको उठा कर डस्टबिन में डाल देना.

वो डर गयी और बोलीं- नहीं राजा … तुम्हारा लंड इतना बड़ा है, मैं गांड में नहीं ले सकूँगी … मेरी गांड फट जाएगी आज तक मैंने तुम्हारे मामा से भी कभी गांड नहीं मरवाई है … नहीं नहीं … मैं गांड में लंड नहीं लूंगी. मगर आज भी उसको याद करता हूं तो मन एकदम से जैसे ताजगी से भर जाता है. मुझे डर लग रहा था कि अगर ये जाग गयी तो सारा काम खराब हो जायेगा और हो सकता था कि वो मेरे पिताजी को भी मेरी हरकत के बारे में बता दे.

वो मुस्कराते हुए खुद ही तैयार हो गई।मैंने थोड़ा सा तेल लेकर उनकी गांड पर डाला और थोड़ा सा अपने लंड पर भी डाला. लग तो वो सेक्सी रही थी, पर मैंने सोचा कि आज तो इसकी पुंगी कोई और बजाएगा.

एक ओर मेरे लिंग पर बलविंदर के कठोर हाथ मालिश का सुख दे रहे थे और दूसरी ओर बलविंदर के कठोर लिंग पर मेरे कोमल हाथ एक न्यारा ही रोमांच मेरे शरीर में पैदा कर रहे थे.

फिर मैंने अपनी स्पीड काफी तेज कर दी और धकापेल चाची की चूत चोदने लगा. दो मिनट के अंदर ही सासू मां की चूत में मेरा लंड फच-फच की आवाज करने लगा. बड़ी मुश्किल से मैंने उनके बाल साफ किये जिसमें मुझे पूरे 15 मिनट लग गये.

लक्ष्मी सेक्सी फिल्म माँ की आंखें बंद थीं और उसके चेहरे पर पूर्ण संतुष्टि के भाव दिखाई दे रहे थे. फिर वो उठा और लंड को चूत के छेद पर लगा कर बोला- तैयार हो जाओ डार्लिंग, तुम्हारी चूत का उद्घाटन होने वाला है.

उसकी चूत पर पैंटी बिल्कुल चिपकी हुई थी और चूत की फाकें पैंटी पर लाइन बना रही थीं. (आपके लिए सब हाजिर है)मेरे मैसेज का रिप्लाई भाभी ने दिल वाली इमोजी के साथ किया. मेरी X स्टोरी इन हिंदी में पढ़ें कि कैसे बस में एक हैंडसम लड़के पर मेरा दिल आ गया.

एक्स वीडियो bf

मेरी आंखों के सामने जैसे मेरी मां की चुदाई का वो सीन अभी भी लाइव चल रहा था. नेल पॉलिश लगाते समय मैं बार-बार गीली तौलिया में उसके तने हुए मम्मों को देख रहा था. मगर तू सच कह रहा है न? कभी मैं टिकट करा लूं और तू आए ही ना?मैंने कहा- नहीं जान … तेरी कसम। पक्का आऊंगा.

कुछ देर के बाद मैंने फिर से उनके मुंह में लंड देकर चुसवाना शुरू कर दिया. जिससे उसे मेरे अगले स्टेप का पता लग गया और उसने झट से बाजू नीचे कर ली।मैंने दोबारा उसी पल किस करते हुए सख्ती से बाजू ऊपर कर दी जिससे वो थोड़ी नॉर्मल हो गयी और फिर उसने प्रतिरोध नहीं किया।मैंने अपना हाथ उसके टॉप के अंदर डाला और सहलाने लगा.

विक्रांत जोर जोर से मेरे बूब्स को दबाने लगा और मैं सिसकारियां लेने लगी- आह्ह … विक्रांत कोई आ जायेगा.

मेरी कॉलोनी में क्रिकेट का ग्राउंड है, जहां बहुत से बच्चे क्रिकेट खेलते हैं. उसकी बातों से साफ साफ पता लग रहा था कि वो वहीं पर मुझे लिटा कर मुझे पूरी नंगी करके चोदने की चाहत रख रहा था. जब मैं उनके घर पहुंचा तो मैंने धीरे से उनके घर के दरवाजे को धक्का दिया.

पहली ही बार की चुदाई में ही भाभी ने तीन अलग अलग पोज में मुझसे अपनी चूत चुदवा ली. मौसी की पैंटी को मैंने खींचने की कोशिश की लेकिन उनकी भारी गांड के नीचे दबी हुई थी. मम्मी के पास पहुंचने की आहट सुनकर लवली जोर जोर से सिसकारियां लेने लगी- आह्ह चाटो जान, और तेज से चाटो… आह्ह मैं तो पागल हो जाऊंगी.

उस दिन मुझे अपने पति मनीष और मनोहर के व्यक्तित्व का अंतर मालूम चला.

बीएफ हॉट सेक्स वीडियो: मम्मी बोली- आपको मजाक लग रहा है लेकिन अब मैं उसके सामने कैसे जाऊंगी? कल ही वो लवली को पीछे वाले रूम में ले जाकर चोद रहा था और आज मुझे ऐसे देख कर मुस्करा रहा था जैसे मैं उसकी मां नहीं बल्कि कोई लड़की हूं. मैं बोला- अब इसमें मेरी क्या गलती है भाभी?वो बोली- गलती तो मेरी ही है.

अब उसका लंड मेरी गांड की दरार में पहले से ज्यादा अंदर घुसता सा लगने लगा. कुछ देर तक वो पागलों की तरह मेरी चूत को चूसता और चाटता रहा और मुझे भी पागल करता रहा. थोड़ी देर ऐसे ही पड़े रहने के बाद जब मेरा दर्द कम हुआ तो मैंने नीचे से अपनी कमर हिलाई जिससे अमन ने मुझे छोड़ दिया और फिर धीरे धीरे अमन अपना लंड मेरी चूत में अंदर बाहर करने लगा.

वो बोली- क्यों? तेरी गर्लफ्रेंड नहीं चूसती है क्या?मैं बोला- नहीं भाभी, वो नखरा बहुत करती है.

पर साला मन नहीं मान रहा था मेरा।मैं मां की चूत की आग को शांत करना चाह रहा था. जो तुम विजेता रही तो तुम जो कहोगी हम दोनों करेगे और मैं जीता तो आज हम दोनों में से कोई एक आज रात को तुम्हारी गांड चोदेगा. चूंकि आंटी कुछ ढूंढने में बिज़ी थीं, तो वो मेरी तरफ ध्यान नहीं दे पा रही थीं.