पोर्न वीडियो बीएफ हिंदी

छवि स्रोत,सेक्सी वीडियो 15 साल की लड़की के साथ

तस्वीर का शीर्षक ,

ब्लू पिक्चर दे दीजिए: पोर्न वीडियो बीएफ हिंदी, धीरे धीरे वो मेरी बीवी से बहुत बातें करने लगी और उसकी बातों से ही हमें पता चला कि वो इस शादी से इतनी खुश नहीं है, उसका पति सोहेल सिर्फ हवस का पुजारी है.

कुत्ता की सेक्सी सेक्सी

मैं भी मजे से आंटी की पूरी चूत पर अपनी जीभ को किसी कुत्ते की तरह फेरने लगा. सेक्सी डॉट कॉम एक्सबीच बीच में वो लंड निकाल कर मेरी चूत को चाट कर मुझे चोदे जा रहा था.

दोनों भाइयों में लगभग छह महीने से बातचीत बंद थी और इतने दिन के बाद वो आपस में बातचीत करने वाले थे. फोटो सेक्सी फोटो सेक्सी वीडियोमुझे मेरे मम्मी पापा बहुत प्यार करते हैं और मैं जो बोलती हूँ वो करते हैं.

शाम को मैंने मामी से मज़ाक में ही बोला- मामी आज आपने कुछ देख लिया था क्या?तो मामी बोलीं- हां मैंने तो बहुत कुछ देखा है.पोर्न वीडियो बीएफ हिंदी: फिर मुझसे 10-15 मिनट बात उसने, तब मुझे जाने को कहा, मैं अपना काम पूरा करके उससे फाइल लेकर चलता बना.

सब जगह देखने के बाद वो फर्स्ट फ्लोर पर एक रूम में किसी लड़की से बतिया रहीं थीं.थोड़ी देर तक तो वो मेरा भार बर्दाश्त करती रही, फिर मुझसे अलग होने के लिये बोली.

एमपी सेक्सी चुदाई - पोर्न वीडियो बीएफ हिंदी

हम दोनों एक दूसरे से बातें करते करते थोड़ा खुलने लगे, वो भी अपनी पर्सनल बातें मुझसे शेयर करने लगा.वो भी सुन्दर थी, मेरे मन में आया कि इसकी चूत भी चोदने को मिल जाये तो मजा आ जाए.

मैं और वे एक ही प्लेट में खाने लगे और वे मुझे बड़े प्यार से कभी कभी अपने हाथों से खिला देती और मैं भी उन्हें बीच-बीच में खिला देता था. पोर्न वीडियो बीएफ हिंदी फिर मामी जी ने थोड़ा सा आगे की तरफ झुकते हुए, अपनी गांड को पीछे से बाहर की तरफ निकाल लिया.

इस तरह से अब हम दोनों एक ही छत के नीचे दो अजनबियों की तरह से रहने लगे.

पोर्न वीडियो बीएफ हिंदी?

उसका कारण ये था कि एक तो उनकी जॉब का बोझ उनके ऊपर था और ऊपर से उनके 2 छोटे छोटे बच्चे थे. मैं उनको छेड़ा- क्यों भइया का कैसा है?भाभी- अरे उस भड़ुए की बात मत करो. दो बजे रात को कौन आएगा बे, चल अब इधर आजा हम चार-पांच लोग भी इस चुदासी सेक्सी तेरी रिश्ते में बहन वन्द्या की प्यास नहीं बुझा पाए, तू जवान लड़का है.

तभी एकदम से गर्मी बढ़ गई और आंटी जोर जोर से अपने शरीर को ऐंठने लगीं. मुझे देख कर बदमाशी वाली मुस्कान से बोली- क्यों राजू यहां क्या कर रहा है? किसी लड़की पर तो लाइन नहीं मार रहा न?मैंने हंस कर उसके ब्लाउज में तनी हुई चूचियों और साड़ी में नंगी कमर देखते हुए कहा- अरे भाभी हमारी ऐसी किस्मत कहां. तो जो उस कम्मो ने मुझे बताया उसकी बातों का सारांश ये है कि वो हाई स्कूल पास कर चुकी है फर्स्ट डिविजन में पर घर वालों ने उसे आगे नहीं पढ़ने दिया और उसकी उमर अभी साढ़े उन्नीस की है, घर में और खेतों में काम करना पड़ता है और उसकी शादी भी तय है, गेहूं की फसल के बाद इसी मई जून में उसकी शादी हो जायेगी.

तो उसने मुझे रोका और मुझे लेटने को कहा और वो मेरे लंड के ऊपर बैठकर अपनी गांड को ऊपर नीचे करने लगा. मैंने उसके लंड को चाट कर साफ़ किया और उसने मेरी चूत को चाट कर साफ़ कर दिया. और हां मैं और तुम्हारी आंटी बाजार जा रहें हैं शाम को आठ साढ़े आठ तक लौटेंगे.

अब मैं ये तो समझ गया था कि वो चुदने को बेताब है, पर मैं उसे तड़पाना चाहता था, इसलिए दूसरे दिन मैं उसकी स्कूटी से गया. दोनों के माथे से पसीना बहने लगा था और दोनों के चेहरे पे अब शिकन दिखने लगी थी.

कम्मो मेरे मन में उठ रहे इन विचारों से अनजान सी बाहर के दृश्य देखने में मगन थी.

अपने बारे में बता दूं- मैं गोरी चिट्टी और हेल्दी लड़की हूँ, फिगर मीडियम आकार की और कमर 28 की है, चलती हूँ तो गांड अच्छे से हिलाती हूँ, कम उम्र होने के बाद भी 20-22 की लगती हूँ इस कारण मेरे क्लास के ऊपर के लड़के प्रपोजल लेकर आया करते थे पर मैं उन पर ध्यान नहीं दिया करती थी.

मैं भाभी का ये रूप देखते ही पागल हो गया और उनके एक निप्पल को मुँह में लेकर चूसने लगा. जैसे उन्होंने अपना लंड मेरी चूत के होल पर रखा, मैंने अपने हाथ से उसे थोड़ा सा अपनी चूत पे घिसते हुए लंड को चुत के होल के ऊपर रखा और उनको धीरे से बोला- हां अब डालो. इस बार उसकी फ्रेंड ने चारों लोगों को सेक्स प्रोग्राम के लिए सैट कर लिया था.

उसे मेरा लंड देखने में शायद मज़ा आ रहा था लेकिन वह मुझसे कुछ बोल नहीं रही थी. छाती का उभार छुपातीं, तो चूत दिख जाती और चूत छुपातीं तो चुचियां उछलने लगतीं. मेरी क्लासमेट की सेक्स की कहानी के पहले भागक्लासमेट गर्लफ्रेंड बन कर चुद गई-1में अब तक आपने पढ़ा कि मुस्कान एकदम नंगी मेरे सामने थी.

पर रात को सोचते सोचते पता नहीं, अचानक मैंने निश्चय कर लिया कि मिलूंगी.

विक्रम और रजत यह कि थोड़ी देर पहले वो अपनी माँ के अंतःअंगों के साथ अपनों हवस मिटने में व्यस्त थे. फिर हम लोगों ने खाना खाया और साथ में बैठकर सब टीवी देख रहे थे तो अचानक चाची ने चाचा को बताया- गौरी दो दिन से काम पे नहीं आई!तो चाचा ने गौरी को फ़ोन किया और गौरी को पूछा कि काम पे क्यों नहीं आ रही हो?तो गौरी ने तबीयत खराब होने का बहाना किया और अगले दिन आने बोला।तब हम लोग सोने चले गए. हाँ… बेटा…मयूरी- बहुत दिन से एक बात कहना चाह रही थी आपसे!शीतल- हाँ.

उस साले मादरचोद को क्या मालूम कि चूत क्या होती है और उसकी चुदाई कैसे की जाती है. और पूजा भी कहती है- तुम जैसी चुदाई मेरी पूरी रिश्तेदारी में कोई नहीं करता! मैंने सभी अपनी सहेलियों और बहनों से यह पूछा है, सब कहती हैं कि उनके पति तो बस 2-4 मिनट में ही झड़कर दूर जाते हैं. थोड़ी ही देर में मेरे प्रयासों से वह सामान्य हुई और मैं धीरे धीरे बड़े प्यार से अपने लिंग को उसकी चुत में आगे पीछे करके चोदने लगा.

शुरूआत में वैसे तो मेरे मन में उसके लिए कोई खराब विचार नहीं थे, पर ये सिलसिला उसके ब्वॉयफ्रेंड की वजह से शुरू हुआ.

और रही सही बाकी की कसर माइक ने पूरी कर दी, उसने तो मुझे पूरी तरह से निचोड़ ही दिया. उसकी गांड देखते तो मेरा लंड मानो त्रिकोणमिति के जैसे 120 डिग्री पर खड़ा हो जाया करता था और मुझे बाथरूम में जाकर मुठ मारना पड़ता था, तब जाकर शांत होता था.

पोर्न वीडियो बीएफ हिंदी मृदुला मेरे पास आई और बोली- बुरा लग गया?मैंने कहा- हाँ मुझे बहुत बुरा लगा. साधना उठी और सीधा बाथरूम में घुस कर बिना देर किये नंगी हो गई और शावर चला कर उसके नीचे खड़ी हो गई। ठण्डे ठण्डे पानी की बूंदों ने बदन में एक बार फिर से हलचल मचा दी और रात का नजारा याद आते ही साधना का हाथ एक बार फिर से अपनी चुत पर पहुँच गया था।कहानी जारी रहेगी.

पोर्न वीडियो बीएफ हिंदी तेरे मुंह का क्या है, बस हिलना ही तो है।”अरे भाभी मैं तो …”क्या मैं तो … ज्यादा डॉक्टर न बन। रेजर या वीट वगैरह न लगाती अपने अंडर आर्म पे। आई बात समझ में!”जी में आया कि गंदी-गंदी गालियां दे दूं दो चार, लेकिन बेबसी से देखता रह गया।यह बारिश मेरे पैर रोक सकती है लेकिन मुझे नहीं रोक सकती। मुझे शाम को किटी में जाना है तो जाना है. वो भी मेरी बात से सहमत हो गया था और हम दोनों एक दूसरे को हल्का सा किस करके अलग हो गए.

मैं भी तब पूजा के गोल गोल चूतड़ों पर हाथ फेरते हुए पूजा के पीछे पीछे टॉयलेट चला गया.

सेक्सी वीडियो न्यू गाने

मेरा लंड पिस्टन की तरह अन्दर बाहर हो रहा था और भाभी के मस्त चुचे तूफ़ान मचा रहे थे. तभी मुझे मेरे पड़ोस वाले भैया की आवाज सुनाई दी, वो मेरी मम्मी से बातें कर रहे थे. मृदुला अपने घुटनों पर बैठ गई और अपने मुँह में मेरा लंड भर के चूसने लगी.

और वो मुझे पागलों की तरह चूमने लगी और बोली- मैंने इस रात का बहुत बेसब्री से इंतजार किया है. कुछ देर बाद मौसी अपना काम खत्म करके आईं और रूम अन्दर से बंद करके बेड पे लेट गईं. वो मेरी चूत में अपना लंड डाल कर कभी कभी मेरे ऊपर ही लेट जा रहा था तो कभी कभी मेरी चूत में अपना लंड डाल कर अन्दर बाहर कर रहा था.

इस बार मैं उसकी चूत को अच्छे से चाटना चाहता था क्योंकि मुझे चूत चाटने में बहुत मजा आता है.

अभी तारा पूरी शांत होती कि माइक ने भी उसकी योनि में अपना लावा उगलना शुरू कर दिया. मुझे इस तरह से बड़ा मजा आया और मैंने इस तरकीब से आगे भी खेलने का मन बना लिया. मयूरी अशोक के कमरे में घुसते ही दरवाजा अंदर से बंद करके अपने कपड़े उतारकर फेंकने लगी.

मयूरी- ठीक है मेरे राजा… अपनी दीदी की चूत को एक बार प्यार से अलविदा कहो और जाकर दरवाजा खोलो… मुझे कपड़े पहनने में थोड़ा वक्त लगेगा. आह।फिर मैंने दीदी के मुँह में लंड डाला और दीदी के मुँह में झड़ गया।रात को 2:47 मिनट हो रहे थे। इसका मतलब मेरा पहला सेक्‍स 1 घंटा से भी अधिक देर तक चला था।उसके बाद हम दोनों नंगे ही साथ में सोये। निक्की दीदी ने बाद में अपनी सहेलियों को भी मुझसे चुदवाया। वह कहानी बाद में लिखूँगा।तब तक के लिए विदा।कैसी लगी मेरी सच्ची सिस्टर सेक्स स्टोरी? मुझे ईमेल करिये. प्रिया जैसी खूबसूरत लड़की और उसके कौमार्य को भंग करने का सौभाग्य मुझे मिला, ये सोचकर ही मैं उत्तेजना से भर गया.

अच्छा उठो तो सही वर्ना चाय ठंडी हो जायेगी; कहो तो यहीं ला दूं?” वो बोलीं. यह बात उस लड़की पता चली, तो एक दिन उसने मुझे क्लास के बाद रोक के मुझसे मेरा फोन नम्बर ले लिया.

एक दिन जनवरी के महीने के शाम को ऑफिस से आते समय उसकी स्कूटर ख़राब हो गयी. दस मिनट बैठकर हम दोनों ने थोड़ी सेक्सी बातें की, फिर मैं भाभी को किस करने लगा. मैंने उससे कहा कि अगर दिन में दिल किया करे तो तुम टीवी देख लिया करो.

मैं भी अब अपने आप में नहीं था और उसकी चूत में उंगली घुसा दी, जिसकी वजह से उसके मुँह में तेज सिसकारियां निकलने लगीं.

हम सुरक्षित जगह पर ही मिलेंगे और दिन में ही मिलेंगे ताकि मेरे घर वालों को कोई आपत्ति न हो. फिर वो बोली- हाँ होता है कभी कभी … बिना खेले ही खिलाड़ी आउट हो जाता है. उसकी गांड देखते तो मेरा लंड मानो त्रिकोणमिति के जैसे 120 डिग्री पर खड़ा हो जाया करता था और मुझे बाथरूम में जाकर मुठ मारना पड़ता था, तब जाकर शांत होता था.

फिर रीना बोली- देखो अब वो 8 बजे आएँगे, तुम्हें उनका वेलकम करने जाना है ओके. बैठिये, आप कुछ लेंगे ठंडा या गर्म?मैं- नहीं, मैं तो बस आपसे ऐसे ही बात करने आया था.

चुदाई के साथ ही अब मैं उसकी गांड पर थप्पड़ भी मार रहा था, जिससे प्रिया की चुदाई के साथ उसको दर्द भी हो रहा था, इस दर्द के साथ उसकी ‘आह हम्म अअअअ …’ निकल जाती. करीब 6-7 लेडीज थी और 10-12 जेन्ट्स!जब मैं लेटी तो करीब 10:30 बजे रात का समय हो चुका था पर मुझे बिल्कुल नींद नहीं आ रही थी, मेरे को सुबह के बाद अंकित भी नहीं दिखा, पता नहीं कहाँ चला गया था. माइक ने धक्के ऐसे मारने शुरू कर दिए कि उसके धक्कों की एक एक ठोकर मुनीर की योनि की गहराई में जाने लगा.

ब्लू फिल्म सेक्सी नई वीडियो

मयूरी- आ… आह… पापा…अशोक कुछ नहीं बोला और अपने हाथ की एक उंगली मयूरी की गांड की दरार से होते हुए उसकी गांड की छेद में डालने लगा.

अब क्या था … मेरी की आँखें मुंदने लगीं और जांघों के बीच अब सनसनाहट फैलने लगी. मेरी यह बात सुनकर उसने मुझे सहारा दिए रखा और जब मैंने कमजोरी का सा दिखावा जारी रखा, तो उसने मुझे गोद में उठा कर कहा- चलो मैं तुम्हें वहाँ पेड़ के नीचे लिटा दूं. फिर मैंने मानसी की गर्म चूत से अपनी उंगलियाँ निकाल ली और अपना मुँह उसकी चूत से लगा दिया और चाटने लगा.

जब हम दोनों नहा लिये तो सर मुझे अपनी गोद में उठा कर कमरे में ले गए. मैं अपना मुँह उसकी चूत पर रख जीभ अन्दर-बाहर करने लगा। पिंकी मेरी हरकत से ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’ करने लगी।कुछ देर के बाद मैं अपना लंड पिंकी की पिंकी के अन्दर डालने लगा. शुद्ध देहाती हिंदी सेक्सी वीडियोअंकित अपने हथेली से मेरे बूब्स को दबाने लगा सहलाने लगा, थोड़ी देर बाद अब अंकित मेरे बूब्स जोर जोर से दबाने लगा और मेरी गांड के छेद के पास अपना लन्ड रगड़ने लगा.

कुछ देर बाद मैंने उसके दोनों चूतड़ों को अलग करते हुए उसकी गांड के छेद को अपनी जीभ से सहलाने और चाटने लगा. बस अपने बदन से बदन को ऐसे लिपटाए, चिपकाए और चिपटे रहे कि बीच में हवा के लिए भी जगह नहीं थी.

अचानक उन्होंने कुछ मेरी तरफ़ फेंकते हुए ऐसा जताया कि कपड़े धोते वक्त आ गया हो. मेरा पानी निकलने वाला है, कहाँ निकालूँ?मामी बोलीं कि मेरी गांड में ही अपना पानी निकाल दो. फिर मैंने उसके पेट पर चुम्बन किया और जीभ फेरने लगा, कभी चूमता तो कभी जीभ फेरता और वो मदहोश हो जाती.

सब जगह देखने के बाद वो फर्स्ट फ्लोर पर एक रूम में किसी लड़की से बतिया रहीं थीं. इतना सुनते ही मैंने मनीषा को पूरी तरह से अपनी बांहों में जकड़ लिया और अपनी कमर को थोड़ा ऊंचा किया. उन्होंने अपने हाथ से मेरे लंड की खाल ऊपर नीचे किया और मुँह में ले कर धीरे-धीरे अन्दर बाहर करने लगीं.

मेरी उम्र अठारह वर्ष से ऊपर हो गयी थी लेकिन मेरे शरीर पर बाल नहीं थे.

उन्होंने बताया- हिमानी बीच में एक बार फेल भी हो चुकी है और इसकी मम्मी ने कहा था कि इसकी दो सब्जेक्ट की ट्यूशन रखनी है, तो मैं वही बात करुँगी. मैंने होंठ जकड़ कर उसकी चूची को जोर से दबाया तो उसने एकदम से अपनी गांड उठा दी.

मेरी छोटी भाभी नीता 26 साल की हैं और बड़ी शोभा भाभी की उम्र 28 साल की है. रजत भी धीरे-धीरे सामान्य महसूस कर रहा था पर उसका लंड अभी भी अपनी बहिन के इस स्वरूप को देखकर एकदम खड़ा था. उन्होंने भी मेरी बनियान को उतारा और आगे ही पल मेरे पजामे को भी उतार दिया.

लेकिन पीने बैठने के वक्त, चाय पे ठेले पे उसी की बातें करते थे और घर में आकर मुठ मारते थे. मैं सर से पांव तक काँपने लगा, मुझे अपने पैरों पर खड़ा होना मुश्किल हो रहा था. तारा- मुझे ख़ुशी है कि तुम्हें मेरा साथ पसंद आया, तुम बहुत ही कामुक महिला हो.

पोर्न वीडियो बीएफ हिंदी मैंने नोटिस किया कि मनीषा भी मेरे लंड को कनखी निगाहों से देख रही है. तो जो उस कम्मो ने मुझे बताया उसकी बातों का सारांश ये है कि वो हाई स्कूल पास कर चुकी है फर्स्ट डिविजन में पर घर वालों ने उसे आगे नहीं पढ़ने दिया और उसकी उमर अभी साढ़े उन्नीस की है, घर में और खेतों में काम करना पड़ता है और उसकी शादी भी तय है, गेहूं की फसल के बाद इसी मई जून में उसकी शादी हो जायेगी.

हिंदी सेक्सी गाली

शौर्य एकदम गर्म हो चुका था और बोलने लगा- सैम, और कितना तड़पाओगे? जल्दी से अपना लंड मेरी गांड में डालो और उसकी आग बुझाओ. जो भी आते हैं, वो मुख्य द्वार से अन्दर आते हैं और वहीं के गेस्ट हाउस में रुकते हैं. इस बार मैं नीचे था, वो मेरे लंड को अपनी चूत में लेकर मेरे ऊपर चढ़ गई और हिलने लगी.

उस दिन से जब तक टूर था, मैंने मौक़ा पाते ही उसको बहुत बार चोदा और एक बार उसकी गांड भी मारी. उसने एक हाथ को मेरे मम्मों और दूसरे को मेरी चूत पर रख कर बोला- मैं हर दिन इनके बिना कैसे रहता था, मैं ही जानता हूँ. देखें सेक्सी वीडियोतुम चुपचाप उसके लैटर मुझे दे दो वरना मुझे तुम्हारे पिता जी को स्कूल में बुलाना पड़ेगा और हो सकता है तुम्हारा नाम भी काटना पड़े.

मैंने कांच लेकर गांड के पीछे किया तो कूल्हों पर दांत के निशान ही निशान.

उस रात को सोते समय भी मैंने डर के मारे मौसी को टच नहीं किया, लेकिन तभी मेरा ध्यान स्नेहा की तरफ गया. यह सब में अपनी मर्ज़ी के बिना, डॉक्टर किस सलाह पर ही कर रही थी ताकि उसे होश आ जाए.

उसके बाद मैं अपने लंड को उनकी चूत पर रख कर सहलाने लगा, सिर्फ ऊपर से सहलाने लगा. अरे तो क्या हो गया, तू मेरी प्यारी प्यारी छोटी नन्ही मुन्नी सी गुड़िया है न. शीतल अपने एक साथ से विक्रम का सर सहला रही थी और दूसरे हाथ से रजत का लंड.

कुछ देर बाद हमारे लंडों को रूसी गोरी लड़की के मुंह में पूरा अन्दर घुसने की इच्छा जोर पकड़ने लगी और हम बारी-बारी से अपने लंडों को उसके होठों के बीच घुसा कर बाहर निकालने लगे.

मैंने कहा- जाओ पूजा … पूजा कर लो!तो पूजा बोली- थोड़ी देर रुको, जब सब ऊपर से नीचे चले जाएंगे, तब हम जाकर पूजा करेंगे. सुरा का असर होने लगा था, तो मैं अपने रूम में जाने की ज़िद करने लगा. मुझे इस तरह से बड़ा मजा आया और मैंने इस तरकीब से आगे भी खेलने का मन बना लिया.

हिंदी सेक्सी ओपन डांसमयूरी उसके भावों के बदलाव को अच्छे से नोटिस कर रही थी पर कुछ बिना व्यक्त किये हुए उसने अपना तौलिया उतार कर बगल में रख दिया. मयूरी अशोक के कमरे में घुसते ही दरवाजा अंदर से बंद करके अपने कपड़े उतारकर फेंकने लगी.

पवन सिंह की सेक्सी वीडियो

वैसे तो मैं कुछ ऐसी वैसी हरकत करता नहीं हूँ, पर दूध की तरह सफेद स्किन देखता हूँ तो मन में कुछ कुछ होता है. अभी तक आपने इस कहानी में पढ़ा कि बहू ने अपनी विधवा सास की कामुकता को समझा और उसकी मदद करने की कोशिश की. दोनों के मुँह से आवाज़ें निकल रही थी और दोनों बेपरवाह होकर एक दूसरे को चोदने में व्यस्त थे.

मैंने अपनी जीभ उनकी फुद्दी में डाल दी और फुद्दी को टंगफक करते हुए चोदने लगा. थोड़ी देर पहले जो लड़की उसे अपनी बेटी नजर आ रही थी अब उसमें उनको कुछ और नजर आता है. कुछ देर बाद मैंने प्रिया को डॉगी स्टाइल में आने को बोला और मैं उसके पीछे घुटनों के बल खड़ा हो गया.

मयूरी की पीठ का आकार बहुत की प्रभावशाली था और उसकी गांड तो बस… कमाल की थी. अगर मैंने कुछ पहल दिखाई और उसने मना कर दिया तो मैं उससे फिर नज़र नहीं मिला पा सकूँगी. मैं फिर से उफान पे आ गया और बिना देर किए मैंने भाभी को अपने नीचे लेटा कर उनके दोनों पैरों को फैला दिया.

उसके बाद हाथ को पेट पर फिराते हुए धीरे से सलवार में डाल दिया और साथ में फिर से किस करने लगा. उसकी उम्र 21 साल है उसके शरीर की बनावट ऐसी है कि मोहल्ले और कॉलेज के सभी लड़के उसे भूखे कुत्ते की तरह देखते हैं … कि कब मौका मिले और कब उसकी जवानी लूट लें!और मेरी ननद का कहना है कि मैं उससे चार गुना ज़्यादा सेक्सी हूँ.

अचानक मुझे अपने लौड़े पे उसका हाथ महसूस हुआ, वो उसे पकड़ने की कोशिश कर रही थी जो पूरी तरह खड़ा होकर तन चुका था.

वो सब को सरप्राइज कर देना चाहती थी और इसीलिए उसने सबको एक दूसरों से चुदवा भी दिया था पर फिर भी किसी को अपने सिवा किसी और की चुदाई के बारे में कुछ जानकारी नहीं थी, जैसे कि विक्रम और रजत को मयूरी और शीतल की बीच हुई चुदाई और मयूरी और अशोक के बीच हुई चुदाई के बारे में कोई जानकारी नहीं थी. सेक्सी पिक्चर खुली सेक्सीऐसे ही बात करते करते शाम हो गई और मेरा कज़िन बोला- भैया, चलो कहीं घूम कर आते हैं. मर्दाना सेक्सीइसके कहानी के बाद भी, मैं आपके साथ कुछ और भी सच्चे अनुभव आपके साथ सांझा करूँगा. उनकी गुदा का छेद अब एकदम नरम और चिपचिपा गीला था, खुला हुआ भी लग रहा था.

पर मेरे साथ नार्मल रहती है, मैं पढ़ाई में अच्छी हूँ और क्लास में अच्छे नंबर लाती हूँ इस कारण कॉलेज में भी चर्चे होते हैं मेरे!अब कहानी पर आती हूँ.

अगले दिन वो चला गया मगर जाने से पहले एक पत्र लिख कर मुझे देते हुए बोला कि इसे मेरे जाने के कम से कम चार घंटे के बाद खोलना. की आवाज निकालने लगी।मैं दीदी की चुत को बहुत प्यार से चूस रहा था जैसे आइसक्रीम हो…दीदी आहें भरे जा रही थी और मैं उनकी चुत चूसे जा रहा था- आह अह आह और पीहू और चूसो. फिर धीरे धीरे उसकी पीठ की बगल से उसकी चूचियों को टच करना शुरू कर दिया.

पटा नहीं उसे क्या हुआ कि जल्दी ही उसके मुंह से सिसकारी छूटने लगी और आवाज लगाने लगी- आ आ उ उ अब बर्दाश्त नहीं हो रहा है, जल्दी से मुझे चोद दो!उसकी चूत ने इतना पानी छोड़ रखा था कि ऊपर आते ही मेरा लंड जो 6 इंच का लंबा 3 इंच मोटा है, उसकी चूत में घुस गया और मैं भी हैरान रह गया कि बिना कंडोम के उसने लंड कैसे मेरा चूत के अंदर ले लिया. पायल की पूरी चुत यूं समझो कि रशीद ने फाड़ ही दी और अंत में अपना माल गिरा कर पायल की साईड में गिर कर ढेर हो गया. जल्दी करो… वैसे तुम घबराओ नहीं… मैं वादा करती हूँ कि तुम्हें इस बात के लिये कभी भी जीवन में पछतावा नहीं होगा.

लड़की कुत्ते से

मैंने कहा- अच्छा सुन, शहद है क्या?बोली- अब शहद का क्या करेगा तू हैरी?मैं- अरे दूध में शहद मिला के पीने से वो वियाग्रा का काम करता है. उसकी बात मैंने अनसुनी की और अपनी उंगली की रफ़्तार और तेज कर दी; उसकी चूत की चिपचिपाहट और गीलापन अब मुझे अच्छे से महसूस होने लगा था. राज अंकल ने अंकित को उठाया, धीरे से बोले- अंकित उठ … उठ जा!जैसे ही अंकित उठा तो अंकल बोले- तू घबरा नहीं, डर नहीं, हमारी सारी बातें तो तूने सुन ही ली होंगी, अब तुझे डरने की जरूरत नहीं, तूने कुछ गलत नहीं किया, ना इस सोनू की गलती है, यह जवान है, सेक्सी है, इस उम्र में सबका मन करता है.

मैंने बोला- इतना क्या है रीना यहां?उसने बोला- वो जो उनके दोस्त आने वाले है, उनके लिए पार्टी अरेंज की है, ये सब उसी की तैयारी हो रही है.

अब मैं उसकी चूत को सहला रहा था, उसके होंठों से किस करते हुए नीचे की तरफ आता जा रहा था.

मेरा लौड़ा चड्डी में टाइट होने लग गया था और थोड़ा थोड़ा गीला भी होने लगा था. सूट पहने हुए कम्मो का आलिंगन करने में मज़ा नहीं आ रहा था सो मैंने अपनी टाई निकाल दी और कोट भी उतार डाला. लेडीज लेडीज सेक्सीजिस दिन शादी थी, उस दिन सुबह 6 बजे ही मैसेज आया कि आपको घर पर 12 बजे ही पहुँच जाना है.

एक तरह से ऐसा लग रहा था, जैसे वे दोनों बारी बारी मुझे अपने गाल की पप्पी दे रहे हों. वो बिना शर्माए हर यौन इच्छा मुझसे बताती हैं और मैं उनको पूर्ण रूप से संतुष्ट करता हूं. कुछ दूर आगे जाकर हमें एक बार दिखाई दिया, वहाँ जाकर हमने बियर पी, कुछ देर बाद उसे चढ़ने लगी।फिर जब वो अपना होश खोने लगी तो मैं उसे वहाँ से लेकर जाने लगा पर उसे इतनी चढ़ गई थी कि वो सही से चल भी नहीं पा रही थी.

आज कल सभी लड़कियां यही करती हैं, इसमें कोई बुराई नहीं … जो चीज करना ही है उसमें कुछ पैसे मिल जाएं तो क्या बुरी बात है।मुझे अंकित की यह बात सच में पसंद आई और अच्छी लगी पर मैं उसे अभी कुछ नहीं बोली. मेरी मंशा जानकर वो पहले तो मुस्कुराईं फिर अपने दोनों पैर खोल कर मेरा स्वागत किया।मैंने भी देर न करते हुए अपने होंठ उनके नीचे वाले होठों (चूत) पर लगा दिये और अपने तरीके से पहले धीरे धीरे अपनी जीभ से फिर जल्दी जल्दी उनके चूत के दाने से खेलने लगा और वो मस्ती में सिसकारियां भरने लगी.

मैं सर से पांव तक काँपने लगा, मुझे अपने पैरों पर खड़ा होना मुश्किल हो रहा था.

उसके 2-3 बार कहने के बाद मैंने गिलास ले लिया और चीयर्स बोल कर एक पैग खींच लिया. मेरा हाथ लगने से शायद वो मदहोश होने लगीं, मैं भी खुजाने के बहाने उनकी पीठ सहलाने लगा और थोड़ा सा हाथ आगे ले जाकर उनके मम्मों को टच करने लगा, इससे वो एकदम सिहर से गईं. इसके अलावा जब मामी काम करती थीं, तो उनकी साड़ी भी खुलने सी लगती तो मैं उन्हें घूरता रहता था.

सेक्सी फिल्म फुल एचडी हिंदी मूवी यहाँ आए हुए मुझे 10 दिन हो गए थे, लेकिन चुदाई तो दूर, अभी तक तो एक भी लड़की से हाय हैल्लो तक नहीं हुई थी. अब मेरा रस निकलने वाला है, सोनू तू यह बता कि मेरा लंड रस चूत में लेगी या अपने मुँह में लेगी.

मुझे जानकर बहुत खुशी हुई और अब मेरे सपनों की रानी चाची मुझसे चुदने वाली थी।चाची की चुदाई की कहानी फिर कभी।उस दिन के बाद जब भी मौका मिलता है मैं गौरी की चुदाई कर लेता हूँ।यह मेरी पहली कहानी है कोई गलती हुई तो क्षमा करना। कैसी लगी मेरी सेक्स कहानी?मुझे मेरी मेल आईडी[emailprotected]पर मेल करके जरूर बताइयेगा।आपका अपना शौर्य सुथार. और उसके बाद भी इसी तरह उसे जब भी मौका मिलता वो मुझे अपने घर बुला कर खूब मस्त होकर मजे ले ले कर चुदती थी. चाँदनी की हल्की सी रोशनी में हमारे बदन किसी छाया की तरह दिख रहे थे.

आईला झवले

चाची की चूत की मोटी फांकों के बीच से मेरा लंड अन्दर बाहर हो रहा था. विक्रम- अरे हाँ… कल तो तुम्हारा जन्मदिन भी है न… वाओ!फिर तीनों भाई-बहन ने आपस में खूब चुदाई की. कइयों ने मुझे अपने छोटे बड़े, बैठे खड़े लंडों की फोटो भेजी हैं और मेरे साथ रात गुजारने की इच्छा जाहिर की है.

आज तुम मेरे साथ रहना।फिर हम एक बिल्डिंग में गए, कार पार्क की और लिफ्ट से साक्षी के घर गए। अन्दर आते ही साक्षी ने गेट बंद किया और बोली- रोबिन जाओ बेटे रूम में. हमारे यहां पर कचरा की गाड़ी आती है तो घर का कचरा नीचे जाकर देना पड़ता था.

पर क्यों?रशीद बोला- अगर नहीं डूबी थीं, तो मेरा जाम इतना कड़क कैसे हो गया.

वो अभी तक यही समझ रहा था कि यह मौका फिर दुबारा नहीं मिलने वाला, तो जितना मजा लेना है, ले लो. मेरी मम्मी ने मुझे बोला- ओ … आज अपनी भाभी के पास सोने चले जाना।मैंने झूठ मूठ मना किया पर मेरे मन में तो लड्डू फूट रहे थे, मैंने बुरा मुँह बना के बोल दिया- ओके … चला जाऊंगा।रात को मां ने कोई ख़ास खाना नहीं बनाया हुआ था, मूंग चावल बनाए थे जो मुझे पसंद नहीं तो मैं बिना खाए पूजा के घर चला गया. उस दिन से जब तक टूर था, मैंने मौक़ा पाते ही उसको बहुत बार चोदा और एक बार उसकी गांड भी मारी.

मैंने चूत पर लंड रखा एक ही झटके में पूरा लंड अन्दर कर दिया और रात भर आंटी को इतना चोदा कि सुबह वो ठीक से चल नहीं पा रही थीं. मैंने रीना से पूछा तो उसने बताया कि मैंने तुम्हें बोला था ना, मेरा लवर है. मुझे शर्म सी महसूस हुई कि वह हिन्दी जानती है फिर भी मैं उसके बगल में बैठ कर मस्तराम जी के साइंस को समझने की कोशिश कर रहा हूँ।मैंने झेंपते हुए कहा कि मैं उसे तमिलियन समझ रहा था.

रांड ले लंड ले… खा जा लंड को साली… अहह अहह अहह’ करते हुए उसे चोद रहा था.

पोर्न वीडियो बीएफ हिंदी: इसके कहानी के बाद भी, मैं आपके साथ कुछ और भी सच्चे अनुभव आपके साथ सांझा करूँगा. आज शाम को ऑफिस से आते वक्त ले आई, इसलिए तो बस में जाती थी।मैं- ओके!मैं साक्षी के बेटे के साथ ‘हैलो…’ करने लगा।साक्षी- हैलो करो रोबिन।रोबिन ने हैलो की, साक्षी ने कहा- मुझे लगा था कि तुमने नंबर गलत न नोट कर लिया हो।मैं- नहीं जी.

देखा जाए तो माइक और मुझे एक समानता यह थी कि उसे हिंदी ठीक से आती नहीं थी और मुझे अंग्रेज़ी ठीक से नहीं आती थी. बड़ा स्वादिष्ट पानी था, थोड़ा थोड़ा नमकीन टाइप का बड़ा मजा आ रहा था. मेरी चूत एकदम टाइट थी, उसकी उंगली ठीक से अंदर नहीं जा पा रही थी, वो फिर भी कोशिश करता रहा और उसकी उंगली मेरे अंदर तक चली गई.

हम उसकी बिल्डिंग में पहुंच गए थे और लॉबी में लिफ्ट का इंतज़ार कर रहे थे.

उसकी उम्र लगभग 33-34 साल की होगी, रंग गोरा और वो एक शादीशुदा औरत थी. उसने तारा को बिस्तर के बगल में खड़ा कर दिया और एक टांग उठा कर बिस्तर पे टिका दिया. तो उसने बड़े आराम से सब कुछ सुयोजित किया और भाई बहन सेक्स की योजना के मुताबिक सबसे पहले उसने बड़े भाई पर लाइन मारना चालू किया.