एक्स बीपी बीएफ

छवि स्रोत,सेक्सी मूवी फिल्म बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी वॉलपेपर भोजपुरी: एक्स बीपी बीएफ, प्रभु ने अब अपनी ज़ुबान निकली और उसकी चूत पैंटी के ऊपर से चाटने लगा.

बीएफ नंगी पिक्चर हिंदी

मेरी सहेलियां समोसे खाने के बाद बाहर आ गईं और मैं उस लड़के से बातें करने लगी. पंजाबी सेक्सी बीएफ एचडी वीडियोमैंने मेकअप का सारा सामान और रिमूवर भी ले लिया, जिससे झांटें साफ़ की जा सकें.

वो किसान बोले- अरे चाचा, तुम बहुत बड़े वाले निकले हो, इस लड़की की मां से भी तुम्हारा चक्कर था ही और अब उसकी बेटी को भी पटा लिया. बीएफ सेक्सी फिल्म देसीवो खड़ी खड़ी मेरा छह इंच का लंड अपनी गांड में मजे से डलवाए जा रही थी.

मेरी चुत को आज पहली बार सही में कोई लंड मिल रहा था और वो भी बहुत लंबा और मोटा.एक्स बीपी बीएफ: मैंने जूली के होठों को चूसा और उसकी जीभ को अपने मुंह में लेकर चूसता रहा.

कोमल अपनी फ्रेंड के पास चली गयी और मैं सिगरेट पीने के लिए थोड़ा बाहर निकल गया.हम रात को तो नंगे होकर ही सोते हैं और बिना चुदाई किए तो सोते ही नहीं हैं.

देहाती बीएफ दिखाएं वीडियो - एक्स बीपी बीएफ

इतना बोल कर उसने मेरे लंड की चुम्मी ली, फिर दो तीन मिनट लंड को चूसा फिर उठ कर कपड़े पहनने लगी.आओ ना…यह कहकर पद्मिनी खुद अपनी चूचियों को दबाते हुए अपने हाथों से अपनी जीभ को अपने होंठों पर फेरते हुए, नशीली ऑखों से बापू को देखने लगी थी.

रात भर मुझे नींद नहीं आई, यह सोच कर करवटें बदलते रहा कि आख़िर चार महीने बाद कल मैं आंटी को बिना रोक टोक के खूब चोद सकूँगा. एक्स बीपी बीएफ सुनीता ने बताया कि वो हमारे शहर के एक बड़े बिज़नसमैन के घर काम करती है, जिनका नाम बृजेन्द्र शुक्ला है.

मुझे बहुत गुस्सा आ रहा था, क्योंकि दोपहर से ही मेरा लौड़ा चूत के लिए तरस रहा था.

एक्स बीपी बीएफ?

यह दृश्य मुझे बहुत उत्तेजित कर रहा था तथा आज मुझे लंबी देर तक स्खलित ना होने वाली वह चरम सुख पर ना पहुंचने वाली बीमारी ऊपर वाले का आशीर्वाद लगने लगी।रीना दीदी के हाथों ने मेरी कमर पर लाकर मुझे रोकने की कोशिश की. कुछ देर के बाद ट्रेन दादर पहुँची और उधर से दो महिलायें एक छोटी बच्ची के साथ आईं और मेरे सामने वाली सीट पर बैठ गईं. मैंने लंड बाहर निकाला तो उसने मुँह में भर लिया और पूरा चूस के एकदम साफ कर दिया.

उन्होंने मुझे बेड पर अपने नीचे लेटाया और मेरा लंड हाथ में लिए सहलाते हुए मेरे ऊपर आकर उल्टी बैठ गईं. अब फिर उसने मुझसे कहा कि मेरे इस व्हाट्सैप नम्बर पर कभी भी कॉल मत करना. मम्मी कुछ नहीं बोलीं तो फिर राम ने कह दिया कि इसलिए मैं इसे अपनी बाइक पर ले आया.

वो जैसे ही चीखी, मैंने अपने होंठ उसके होंठ पर रख दिए और उसके होंठ चूसता रहा. पर जब से आपने कहा है, मैंने उससे बात भी नहीं की है और आप भी तो सब समझती है ना, आप तो मुझसे भी बड़ी हैं. मैंने भाभी की हंसी देख कर हिम्मत बाँधी और कहा- भाभी ये आपको देखकर खड़ा हुआ है.

ड्यूटी खत्म होने के बाद वह आपके पास आ जाएगी, लेकिन मिस्टर राज! मेरी एक रिक्वेस्ट है कि आप जूली के साथ जरा अच्छा बिहेव करें, जिससे वह आगे न बोल सके. शराब पीते वक्त उनकी हरकतें कुछ नॉटी सी हो रही थीं, मेरे दोस्त की सेक्सी मॉम मुझे एडल्ट जोक सुनाने लगीं और बार बार झुक झुक कर अपने मम्मे दिखाने लगीं.

मैं अब बात आगे कैसे बढ़ाऊं, इस बारे में सोच रहा था कि तभी उसने अपनी किसी सहेली के साथ मूवी देखने जाने का प्लान बनाया और मुझे साथ आने के लिए बोला.

दीदी मैं भी उनके लंदन जाने से पहले जितनी बार हो सके, चुदना चाहती हूँ.

बाप ने उसको अपने से सटाते हुए कहा- देख तो तेरा सर मेरे बिल्कुल कंधों के ऊपर आ गया है, अभी कुछ दिन पहले तो तू मेरे छाती तक थी, अब तक़रीबन मेरे जितना ऊंची हो गयी है. मैं वैसे ही दौड़ा तो मेरा पैर कैप्री में फंस गया और मैं बाथरूम के दरवाजे से होते हुए धड़ाम से बाहर की ओर गिरा. मैं तुझे इतनी देर से अपनी चुदाई का खुला आमंत्रण दे रही हूँ और तू मुझे तड़पा रहा है.

पहले से ही उसकी चुत पानी छोड़ चुकी थी, इसलिए मेरा मोटा लंड बिना किसी रूकावट उसकी चुत में घुसता चला गया. उसने विक्रम के लंड के कड़ापन को महसूस किया… वो बहुत ही ज्यादा सख्त था… काफी लम्बा भी था. लेकिन देखोगी तो यह कहने का कोई मतलब नहीं कि छी, ऐसा कैसे हो सकता है।”मैं समझी नहीं।”कहने का मतलब यह है कि दुनिया में बहुत कुछ ऐसा होता है जो तुम्हें मालूम नहीं, लेकिन चूँकि तुम्हें मालूम नहीं तो उसका यह मतलब नहीं कि ऐसा होता ही नहीं।”मैं अब भी नहीं समझी।”मैं एक फिल्म दिखाऊंगा तुम्हें.

रूम पर पहुंचे, लड़कियों को देखकर मैंने भैया को इशारा कर दिया कि ये वाली चोदूँगा, भैया ने आँखों ही आँखों में इशारा किया कि ठीक है.

मैं उनका इशारा समझ गया और उनको बांहों में ले कर उनके बेडरूम में ले गया. उसके बड़े-बड़े बूबे जो कि बिल्कुल तने हुए थे आगे की तरफ लाल रंग के चूचुक… मैं समझ नहीं पा रहा था कि इतने बड़े होते हुए भी ये स्तन बिल्कुल भी लटके हुए नहीं हैं. रितु को दर्द होने लगा पर जेम्स ने जोर लगा कर पूरा लंड पेल दिया और उसकी पीठ पर किस करने लगा.

मैं वैसे ही दौड़ा तो मेरा पैर कैप्री में फंस गया और मैं बाथरूम के दरवाजे से होते हुए धड़ाम से बाहर की ओर गिरा. अब क्यों शरमा रही हो?मैं भी उसकी बात पर मुस्करा पड़ी और वो समझ गया कि मेरी तरफ से आगे बढ़ने के लिए हरी झंडी है. नजर लगाएगा क्या?मैंने भी कह दिया- नींबू मिर्च लटका लीजिए अपने जूड़े में, वर्ना पक्का मेरी नजर लग जाएगी.

तब चाचा अपने चेलों से बोले कि उठो जल्दी और यहां से निकल लो, अपना काम हो गया और वन्द्या भी तृप्त हो गई.

इस बात पर मैंने कहा- मामी जी, पति को तो अपनी पत्नी की कुंवारी बुर मिलती है ना? पर मुझे नहीं मिली. तो मैंने हिम्मत करके उनको शुरू से लेकर अब तक का सब कुछ बताया कि कैसे उस लड़के ने अनु दीदी को प्रेगनेंट किया था और मैंने उनका अबॉर्शन करवाया था और किन हालत में अनु दीदी और मेरे बीच में सेक्स हुआ, अगर मैं नहीं करता तो अनु दीदी किसी और से मजा लेतीं और फिर से चक्कर में फंस जातीं.

एक्स बीपी बीएफ वन्द्या अब तू बता तुझे कैसा लगा?मैं हांफते हुए बोली- मुझे अभी भी कुछ होश नहीं, बिल्कुल पता नहीं कि क्या कहूं कैसे बताऊं? बस आज का ये दिन ये पल कभी नहीं भूलूंगी, बहुत ही मस्त बहुत ही सेक्सी टाइम रहा, मुझे बेइंतहा मजा आया. जिस लड़की से मेरी बात हो रही थी, वह बहुत ही सुंदर घुंघराले बालों वाली लड़की थी, उसकी उम्र लगभग 20 वर्ष रही होगी.

एक्स बीपी बीएफ मैंने अलसाई आँखों से देखा तो वो मेरे ऊपर झुकी हुईं मेरा कन्धा हिला हिला के मुझे जगा रही थी. फिर उसने कहा कि क्यों नहीं है?मैंने कहा- अब तक कोई अच्छी लड़की नहीं मिली.

बनावटी विरोध में उन्होंने अपने दोनों हाथ मेरे कन्धे पर टिका रखे थे.

औरत तेरी यही कहानी मूवी

ड्राइवर ने कहा- तुम अपनी बहन को अपनी टांगों पर बिठा लो, मैं एक और सवारी को आगे भेज रहा हूं. उन्होंने मुझसे सीधे बोला- कब चुदवाओगी?मैंने भी खुल कर कह दिया बोला- आज रात में. मैंने भाभी की तरफ देख कर लंड को हिलाया तो भाभी नीचे बैठ कर मेरे लंड को सहलाते हुए अपने मुँह में लेकर एक किस के साथ थोड़ा सा चूस कर बोलीं- चलो अब खेल शुरू करो.

मुझे बड़ा अजीब लगा कि सिर्फ़ उन्नीस साल की उम्र में अनु दीदी लंड का सुख पा गईं और मैं 23 साल को होने के बाद भी कुँवारा ही हूँ. वो बोला- अंकित, तू यहां मेरी मौसी के यहां कल या परसों में आ सकता है क्या?उसने पूछा- क्या काम है?लालजी बोला- बहुत मस्त माल दिलवाऊंगा. मेरी बहन प्रीति ने मुझसे कहा- मुझे नींद नहीं आ रही है!और मुझे भी नींद नहीं आ रही थी इसलिए हमने टीवी देखने को निर्णय किया और हमने लगभग आधा घंटा पंजाबी गाने देखे.

अन्दर, और अन्दर वो चलता गया, नूरी खाला दर्द के मारे चिललाने लगी- आहह आमिर उउइइ ओह्ह्ह्हह बहुत दर्द हो रहा है! प्लीज इसे बाहर निकाल लो, मुझे नहीं चुदना तुमसे! तुम बहुत जालिम हो! यह क्या लोहे की गर्म रॉड घुसा डाली है तुमने मुझमें! निकालो इसे! बहुत दर्द हो रहा है, मैं दर्द से मर जाऊँगी.

”ठीक है, मैं तैयार हूं मगर एक बार फिर सोच ले … कुछ गड़बड़ तो नहीं होगी?” मैंने पूछा।कुछ नहीं होगा यार … वैसे वो ज़्यादा से ज़्यादा मुझे चोद ही तो लेंगे बस, उसके लिए में तैयार हूँ. फिर देखिये क्या ज़बरदस्त, भेजा उड़ा देने वाला मज़ा वोआपकी लौंडियाचुदाई मेंदेगी. बाकी आसपास की गलियों की लड़कियां भी यही बात करने लगीं और पद्मिनी से दूर रहने लगीं.

मगर कहाँ करना है, ये मैं नहीं बता सकती क्योंकि मेरे पास कोई भी जगह नहीं है. मैं- क्या लगता है निक्की, पम्मी मानेगी?निक्की- क्या पता यार, मान जाए तो मज़ा बढ़ जाएगा और एक नया अनुभव मिल जाएगा. जब भी मेरे घर पर कोई नहीं रहता, हम मौका देख कर चुदाई का मजा ले लेते.

वो अपनी गर्लफ्रेंड के बारे में बताने लगा कि आज उसको अपनी गर्लफ्रेंड की याद आ रही है. मैंने भाभी की तरफ देख कर लंड को हिलाया तो भाभी नीचे बैठ कर मेरे लंड को सहलाते हुए अपने मुँह में लेकर एक किस के साथ थोड़ा सा चूस कर बोलीं- चलो अब खेल शुरू करो.

मैडम आगे बढ़ गई थीं और पीछे मैं रूम का डोर बंद कर ही रहा था, तभी उन्होंने मुझे पीछे से ज़ोर से हग कर लिया. वो बहुत ही उत्तेजित हो गई थीं, इसलिए ज्यादा समय तक सह नहीं सकीं और उनकी चूत ने पानी छोड़ दिया. फिर मैं ऊपर जाकर टीवी देखने लगा, पता नहीं मुझे नींद कब लग गई और मैं उसी बेड पे लेट गया.

शीतल- आओ अंदर आओ मेरे लाल…विक्रम- जी माँ…विक्रम खाने की टेबल पर बैठ गया.

अब मेरे मुँह में ही दिनेश का लंड छोटा हो गया, मतलब कि दिनेश झड़ कर पूरा खाली हो गया. उनकी मस्त गांड को सहलाते हुए दबाना शुरू किया तो वो कामुक सिसकारियां छोड़ने लगी थीं- अओउउहह मुउउउहह ऑश उन्हह बेबीयी!मैंने उनके नाज़ुक होंठ को अपने होंठ में लेकर चूसता तो कभी जीभ बाहर निकालकर हल्के से उनके होंठ को चाट लेता. अचानक उन्होंने मुझसे पूछा- क्या तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड है?तो मैं चौक गया पर उत्तर दिया- मैं हॉस्टल में पढ़ा था और वहाँ लड़कियां नहीं थीं, इसीलिये कोई बनी नहीं.

इस दो बार की चुदाई में मैं दो बार झड़ चुका था और आंटी तीन बार झड़ चुकी थीं. पर अब मेरी बारी थी, मैंने रितु की चूत को कपड़े से साफ़ किया और अपना लंड पेल दिया.

मैं आपके सामने अपनी कुछ आपबीती बताने जा रही हूँ, जो बिल्कुल सच्ची है. मैं पूरी मदहोशी में डूबी हुई थी, मुझमें हवस का मानो पागलपन सवार था. दिखने में सांवली, गठीला बदन, परफेक्ट शेप में गांड, बड़े बड़े मम्मे, तेज आंखें.

हॉट सेक्सी एक्स

मैं इस साईट का बहुत पुराना शैदाई हूं और बड़े ही प्यार से और उत्सुकता से कहानियों को पढ़ता हूं.

करीब एक घण्टे बातें करने के बाद वो फिर से कॉफी बनाने जाने लगीं, तो मैंने उन्हें रोक लिया, मैंने कहा कि इस बार कॉफ़ी में बनाऊंगा. उसने मेरे हाथों को रोका, मेरे बाल पकड़ कर मुझे खड़ा कर दिया- पहले तेरी पैन्ट निकालूंगी. मेरे पापा ने उसके आने से पहले ही मुझे बोल दिया था- तुम उसको अच्छे से सब कुछ समझा देना तथा उसकी ट्रेनिंग भी वहीं लगवा देना, जहां तुम ट्रेनिंग कर रहे हो!मैंने उस लड़की के साथ जाकर सभी डाक्यूमेंट्स जमा करवा के उसकी ट्रेनिंग लगवा दी.

मैंने कोमल का एक निप्पल मुँह में ले लिया और लंड को जोर जोर से पेलने लगा. मैं तो अपना सब कुछ आप पर लुटाना चाहती हूँ मगर आप लूटना ही नहीं चाहते. ब्लू फिल्म बीएफ भेजोवल्लिका- मैं कुछ समझी नहीं प्रभु?बाबा- तुम्हारी पवित्रता तुम्हारे पति के मार्ग में बाधक है.

दोस्तो, मैं आपकी प्यारी प्यारी दोस्त प्रीति शर्मा।आपने मेरी पिछली कहानीप्रीति भाभी का कैजुअल सेक्सपढ़ी और पसंद की, धन्यवाद. प्रिय पाठको, मेरी यह कामुक रसभरी चुदाई की कहानी कैसी लग रही है, आप अपने मेल मुझे भेज सकते हैं.

प्रोमिस!” पापा गर्म साँस छोड़ते हुए मुझसे बोले।ठीक है पापा…” मैं धीरे से पापा से बोली।पापा बिना देर किये साबुन उठाकर मेरी पीठ पर लगाने लगे, उनका हाथ साबुन लगाते हुए जब मेरी गांड तक पहुंचा तो पापा के हाथों में थरथराहट सी हुई, लेकिन मैं इसका कारण नहीं जान पायी, अब पापा मेरे चूतड़ों पर हाथ चलाने लगे, उन्हें जोर से दबाने और सहलाने लगे. मैंने फिर से उसके चुचे दबाने शुरू कर दिए और थोड़ी देर के बाद फिर से उंगली डालने की कोशिश की. बाद में मैंने खुश होके 1000 रूपए शिल्पा को दिए और कहा- आपके घर आकर रीमा जैसी जन्नत की हूर को चोदने का मजा मिला.

पर थोड़ी देर में दोनों की मुस्कुराहट आश्चर्य के मारे मुँह खुला का खुला रह जाता है क्यूँकि विक्रम ने कुछ अप्रत्याशित से कर दिया था- अगर ऐसी बात है तो ठीक है… मैं तुम दोनों के लिए कुछ भी कर सकता हूँ. मेरा घर उसके घर से कुछ ही दूरी पर था तो कॉलेज जाते वक्त वह अपनी बाइक से मुझे मेरे घर तक छोड़ देता था. हेलो फ्रेंड्स, मेरा नाम पुनीत वर्मा है और मैं 21 साल का हूँ और मेरा लन्ड 6.

वो उस दिन पीले रंग के सूट में ऑफिस आई थीं और अप्सरा से कम नहीं लग रही थीं.

उन्होंने दुबारा चार्जर के बारे में पूछा, तो मैंने चार्जर लाकर उनके हाथ में थमा दिया और उनका चेहरा देखने लगा. उसने कहा कि कल जब मैं अपने कॉलेज जाऊंगी, तो तुम मेरे साथ बाइक लेकर चलोगे.

आपने मेरा पहला सच तो पढ़ा होगा अगर नहीं, तो मेरी अन्तर्वासना हिंदी कहानीदिल्ली की चूत चंडीगढ़ का लंडपढ़ लीजियेगा. एक बच्चे की माँ होने के बावजूद उसके मुँह से चीख निकल पड़ी और फिर शुरू हुआ धक्कों का खेल. लेकिन रेखा की बात से और उसकी आँखों से यह साफ़ लग रहा था कि वो चुदने के लिए ज़्यादा इंतज़ार नहीं करना चाहती.

आशिना ने भी अपना पूरा परिचय दिया कि वो एक तलाक शुदा है, अकेली रहती है. दोनों की साँसें बहुत ही ज्यादा तेज़ हो चुकी थी और दोनों एक दूसरे की धड़कने को आराम से सुन और महसूस कर सकते थे… मयूरी अभी एकदम तृप्त महसूस कर रही थी. लालजी उन तीनों ने इतना चोदा और ऐसे चोदा कि मुझसे सच में चलते नहीं बन रहा है.

एक्स बीपी बीएफ मैं तुम्हारे सामने तुम्हारी पिक्चर डिलीट कर देती हूँ और मैंने कोई मेल भी कहीं पर नहीं की. मैं अपने दोस्ती की बहन को सब छेदों का मजा देना चाहता था तो कुछ समय बाद मैंने उसे उल्टा किया और डॉगी स्टाइल में होने को कहा.

एक्स एक्स एक्स इंग्लिश पिक्चर सेक्सी

ये बात सही है दोस्तो कि मैं जब रूम में होता हूँ, तो डोर कभी लॉक नहीं करता, सिर्फ रात में जब सोने जाता हूँ, तभी दरवाजा बंद करता हूँ. बापू ने एक मिनट अपनी पद्मिनी को उसके गले से छाती पर देखते हुए, पेट के ऊपर अपने नज़र को रोक कर. तब मैंने उसे अपनी एक टी-शर्ट दी और उससे बोला- इसे अपने मुँह में दबा लो, जिससे आंटी के रूम तक आवाज़ न जाये.

शीतल- एक काम करते हैं… आज रात में मैं तेरे कमरे में जाकर थोड़ी देर तक अपने बेटों की रिझाऊंगी और उसी वक्त तुम मेरे कमरे में जाकर अपने पापा को अपने हुस्न का जादू दिखाओ… क्या कहती हो?मयूरी- आईडिया बुरा नहीं है. मैंने मधु से कहा- अब तो तुम्हें किसी के देखने की या कोई आने का तो डर नहीं ना?ऐसा बोल कर मैंने पीछे देखा तो मेरी आंखें फटी की फटी रह गईं. खून करने वाली बीएफमैं बोली- हैलो अंकित बोल रहे हो?वह बोला- हां तुम वन्द्या हो?मैं बोली- हां वन्द्या हूं.

कीकु बहुत गर्म हो चुका था, वो रूबी की निप्पल को अपने दाँत से दबाने लगा.

उसका एकदम नंगा बदन, बदन से फव्वारे का बहता हुआ पानी, उसके सिर से उतर कर गांड की तरफ जाता हुआ बड़ा मादक लग रहा था. इसके बाद महेश ने अगले दो महीने में मुझे चार बार और चोदा था, इसके बाद मेरी शादी हो गई.

सच में पुन्नी जान मेरा लंड तुमको हर समय याद करता रहा और मैं उसको तुम्हारा नाम ले ले कर हाथों से ठंडा करता रहा. फिर मैंने अभिलाषा से पूछा- रिसेप्शन से जो घुंघराले बालों वाली लड़की मुझे आपके कमरे में लेकर आई थी, मुझे वह पसंद है. वो ज्यादा पढ़ी लिखी नहीं थीं, तो उन्होंने मुझे अपना फोन दे दिया और बोलीं कि लो तुम ही मेरा नम्बर ले लो और अपना नम्बर भी इसमें सेव कर देना.

इसी वक्त मैं भी चाची को चोदते चोदते एक बार फिर से उनकी गांड में ही झड़ गया.

उसके बाद हमने फोन नंबर्स एक्सचेंज कर लिए और व्हाट्सएप्प पर बातें करने लगे. इसी बात को पकड़ कर निक्की ने चुटकी ली, निक्की ने कहा कि अब तो चैक करना पड़ेगा. सोनम ने कहा- तुम्हारी गर्लफ्रेंड कैसी है?मैंने कहा- मेरी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है.

करीना कपूर के बीएफ सेक्सी वीडियोखैर जब इसकी बात हो ही गयी तो मैं अपनी वर्जिनिटी लूज़िंग की कहानी से शुरू करता हूँ. हम दोनों कुछ देर बातें करते रहे, फिर मैंने उसका हाथ पकड़ा और गिफ्ट उसके हाथ में दे दिया- जन्मदिन मुबारक हो सारिका!उसने हंसते हुए गिफ्ट ले लिया और बोली- चलो खाना खाते हैं.

द सेक्सी फिल्म

अब दिनेश मेरी गांड मार रहा था और मनोहर मेरी चूत में अपना मूसल पेले हुए मुझे धकापेल चोदे जा रहा था. आपको मेरी यह सेक्स स्टोरी पसंद आई या नहीं, प्लीज़ मुझे मेल अवश्य करें. ये मुझे जब मालूम हुआ जब मैंने उनसे उनकी गांड मारने की इच्छा जाहिर की, तब भाभी बोलीं कि थोड़ा रुक कर मार लेना.

मयूरी- तुम लोग मायूस मत हो… ईश्वर ने चाहा तो शायद माँ तुम दोनों का लंड एक साथ चूसे… और क्या पता मां भी ऐसा ही चाहती हो?विक्रम- क्या सच में… म… मतलब ऐसा हो सकता है क्या?मयूरी- हाँ. वो अभी भी साड़ी और ब्लाउज में थीं, तो मैं फिर से उनको एकटक प्यार से देखता रहा. जान ए बहार तुम किसी शायर का ख्वाब होचौदहवीं का चाँद हो, या आफताब होजो भी हो तुम खुदा की कसम लाजवाब हो!रेखा मुनमुनाई- झूठे कहीं के.

और जो नहीं समझा है उन्हें मैं बता दूँ कि जवान लौंडों की सौ में नब्बे टाइम दारू की पार्टी ही होती है. मेरी उम्र 21 साल है, लंबाई 6 फिट है और मेरे लंड की साइज लगभग सात इंच और मोटाई ढाई इंच है. पिछले भाग में आपने पढ़ा कि कैसे अहाना ने मुझे मानसिक रूप से तैयार करके अपनी उंगली से मेरी सील तोड़ी.

लंड भाभी के मुंह में जाते ही मेरे मुँह से मादक सिसकारियां निकलने लगी थीं. अगर मेरा उससे बात करने का मन करता था तो मैं उसको कुछ भी मैसेज करता था और सोचता था कि इस मैसेज का अच्छा रिप्लाई आये और मुझे उस से बात करने का बहाना मिल जाये,मन में बहुत सारी बातें सोचता था.

रूबी की चूत आग उगल रही थी, वो अपने बूब्स दबा के आहें भर रही थी, सिसकारियाँ मार रही थी.

तभी उसने एक झटके में अपनी ब्रा निकाल कर बोला कि ले चूस इसे भैन के लौड़े… और ऐसा चूस कि पूरे लाल हो जाने चाहिए. बीएफ सेक्सी वीडियो एचडी देहातीमैंने यू ट्यूब पर देखा तो मुझे प्री स्टिच साड़ी पहनने की विडियो मिल गयी. सेक्स सेक्सी बीएफ हिंदीफिर भाभी ने अपनी चुत साफ की और मेरे लंड को भी बाथरूम में जाकर दोनों को साफ किया. चोद कमीने जितना चोद सकता है…वो लंड ठोकने लगा, मैं भी अपनी कमर उठा कर बोली- दिनेश आह.

मेरे धक्कों से और उनकी गांड उछलने से हमारे बदन की घर्षण से ठप ठप की आवाज़ और हमारी सीत्कारों की आवाज गूंज रही थी ‘आहह आहह श इस्स यस्स.

मगर तभी शाज़िया ने मुझे इशारा किया तो मैंने उसके पीछे जाकर ब्रा का हुक खोल दिया. झड़ जाने के बाद उन्होंने अपना जिस्म पूरी तरह से मेरे हवाले कर दिया था. मयूरी- पर ये तब हो पायेगा जब तुम्हारी बीवी इस बात के लिए मानेगी… और हर लड़की तुम्हारी अपनी बहन मयूरी नहीं है… की तुम दोनों का लंड एक साथ लेने को तैयार हो जाएगी.

अब उन्होंने अपने अपना मोटा लंड मेरी चूत में टिका कर अन्दर डाल दिया और धक्के लगाते हुए चोदने लगे, तो मैं उनके मोटे लंड की चोट एकदम से बर्दाश्त नहीं कर पाई और एक तेज चीख मेरे मुँह से निकल गई. मुझे जब से सेक्स के बारे में मालूम हुआ, तभी से ऐसा अच्छा लगने लगा था. मैं अब बिस्तर पर आ गया, हल्की होने के बाद वो भी मेरी बाजू में लेट गईं और अपने हाथों से मेरा लंड सहलाते हुए उससे खेलने लगीं.

செக் பிலிம் வீடியோ

काफी देर मनाने के बाद भी जब वो नहीं मानी तो मैं उसे समझाने लगा, कुछ देर समझाने के बाद वो मान गयी और आधे मन से उसे मुँह में लेकर चूसने लगी. जेम्स ने अपने लंड पर तेल लगया और रितु की गांड पर अपना लंड टिका दिया, रितु के होंठों को मैंने अपने होंठों से दबा रखा था और जेम्स ने उसकी गांड में अपना लंड पेल दिया. शादी के दौरान जूसी रानी की बहन रेखा और उसके पति शशिकांत से एक बार परिचय तोहुआ था लेकिन शादी की भागमभाग में सब दिमाग से निकल गया था.

थोड़ी देर बाद चाय नाश्ता लिये रज़िया भी आ गयी। मैंने हस्बे आदत गहरी निगाहों से उसका अवलोकन किया।चौबीस-पच्चीस से ज्यादा उम्र न रही होगी उसकी.

लेकिन आज तक मैंने कभी किसी लड़की को प्रपोज़ नहीं किया था तो मैं उसको कुछ भी नहीं बोल पा रहा था.

अब मैंने उनका साड़ी का पल्लू नीचे गिराया और चूचियाँ दबाना शुरू कर दिया, आंटी मेरा लन्ड सहलाने लगी. फिर मैं उसका सर पकड़ कर अपना लंड उसके मुँह में अन्दर बाहर करने लगा और कुछ ही देर में मैं झड़ गया. एक्स एक्स एक्स हिंदी में सेक्सी बीएफजब मुझे लगा मैं पानी छोड़ दूँगा तो मैं रुका, उसका सर पकड़ कर पूरा लंड ज़ोर से उसके गले तक घुसा दिया.

यह बात मेरे दिमाग में घूमने लगी और अब मैं जब भी अब अकेली होती तो सर ने जो सेक्स कहानियों की बुक दी थी, उनको जरूर पढ़ती और मैगजीन के नंगे चित्र देखती. उसको कुछ नहीं आता था, तो सर ने उसको मेरे साथ रख दिया ताकि मैं उसको कुछ बता सकूं. वो ब्रा पैंटी में और मैं चड्डी में था, जिसमें मेरा लंड फूल कर रॉड बन गया था.

मैं उनकी कामुक अवस्था देखते ही समझ गया कि ना तो नौकरी जाएगी, ना ही जेल जाना पड़ेगा. पद्मिनी ने अपनी गरदन को पीछे की तरफ करते हुए अपने बालों को खोलना शुरू किया.

सर अपना लंड लेकर मेरे मुँह के सामने होंठों पर टच कराने लगे और तभी मेरे दोनों बूब्स जोर से दबा दिए.

दस मिनट लंड चुसवाने के बाद उसने अपना सारा रस मेरे मुँह में निकाल दिया. उन्होंने दुबारा चार्जर के बारे में पूछा, तो मैंने चार्जर लाकर उनके हाथ में थमा दिया और उनका चेहरा देखने लगा. दूसरे ड्रिंक पर हम दोनों ने बातचीत करना शुरू किया और दूसरे ड्रिंक के बाद रितु डिनर की तैयारी शुरू करने के लिए चली गयी.

बीएफ सेक्सी फिल्म वीडियो बीएफ फिर एक दिन करवा चौथ थी और उसका व्रत था तो रात के टाइम उसने मुझे फ़ोन किया और कहा- चाँद को देखो निकला है अभी या नहीं?मैंने छत पर जाकर देखा तो चाँद नहीं निकला था, मैंने उसको बोल दिया कि अभी नहीं निकला. वादा तुझसे वन्द्या कभी किसी को पता नहीं चलेगी आज की ये बात मैं तेरे साथ हूं.

मयूरी रजत के सीने पर चढ़ी हुई थी और रजत ने अपने हाथ मयूरी के मस्त गोल-गोल बड़ी-बड़ी चूचियों को सहलाने और थोड़ी ही देर बाद उनको जोर-जोर से बड़ी ही बेदर्दी से मसलने में व्यस्त हो गया. अपने मुँह में उसका पूरा बूब ले लिया और जलन के मारे उन्हें ज़ोर के काटे जा रहा था. उन्होंने अपने दोनों हाथों से मेरे दोनों मम्मों को पकड़ कर तेजी से दबाना चालू कर दिया.

सेक्सी चुदाई बड़े लंड

मैंने मामी जी से कहा आपके नितम्ब बहुत ही बड़े बड़े हैं, तो आप अपने हाथों से उन्हें चौड़ा कीजिए. उस रात को मैं न सिर्फ एक छोटी सी टी-शर्ट पहनी हुई थी और मैं कमसिन सी थी. फिर मैंने केक लेकर उसके चेहरे पर लगाया और उसे फिर से खिलाया, फिर वो चेहरा धोने जाने लगी तो मैंने उसे दीवार से चिपका कर उसके चेहरे अपने होंठों से जीभ से उसका चेहरा साफ किया.

दुबारा उसका लंड अपना रस निकालने में आना कानी करने लगा, जिसका नतीजा यह हुआ कि वो अपने कसे हुए धक्कों से मेरी चुत को बहुत देर तक चोदता रहा. वो मुझे अपनी जिन्दगी के बारे में बताता था और मैं भी उसको अपनी जिन्दगी के बारे में बताती रहती थी.

मैंने उसकी बुर की गर्मी धीरे धीरे अपने मुँह से चाट चाट कर साफ़ किया.

उन्होंने नीचे से चुत उठा कर पेलने का इशारा किया तो मैंने देर ना करते अपना लंड फूली हुई चुत पर सैट करके पहले थोड़ा हल्के से अन्दर घुसाया और फिर एक ज़ोर के झटके के साथ अन्दर घुसा दिया. उस समय महसूस किया कि जब वो नीचे थी तो मेरी ढेर सारी लार उसकी चूत में समा रही थी और बहुत ही थोड़ा कामरस निकल रहा था. मुझे नहीं पता कि पिंकी को कितनी ज़रूरत थी मगर मेरी तो बहुत बढ़ गई थी, जब से मैंने उसकी मेल्स पढ़े और लंड के फोटो देखे.

यह तो मजबूरी है कि लंड अपना पानी निकाल कर चुत से बाहर आ जाता है और फिर कुछ समय बाद उसे दुबारा खड़ा होना पड़ता है, वरना मैं तो इसे तुम्हारी चूत में डाल कर निकालना ही नहीं चाहता. मामी की हवस भरी नज़रों ने यह बात नोटिस कर ली थी और वो थोड़ा सा मुस्कुराई भी!उस दिन मैं यह बात समझ गया कि आग दोनों ही तरफ लगी है, मेरी कामुक मामी पहले से ही मेरा शिकार करना चाहती हैं पर उनको यह नहीं पता था कि मैं भी बहुत बड़ा शिकारी हूँ, मुझे तो तलाश ही रहती थी चूतों की… जो कि अब मुझे मिल चुकी थी, वो भी ऐसी कि जहाँ मैं जब चाहूं तब शिकार कर सकता हूँ. ”तो आपका कभी मन नहीं हुआ कुछ करने का?”अब हम दोनों थोड़ा खुलने लगे थे.

शाम को जब मैं चारा लाने के लिए खेत में गया था तो रास्ते में क्रिकेट का खेल चल रहा था, तो मैं खेल देखने लगा.

एक्स बीपी बीएफ: मैंने बुआ से पूछा कि उन्होंने और किस किस से करवाया है… तो बुआ ने मुझे कुछ किस्से सुनाए. कमलेश सर को मम्मी बोलीं- अगर लाइट गुल हो गई थी तो बाहर बैठ जाते, आप भी पसीने-पसीने हो गए.

मेरी मौसेरी बहन के दो भाई हैं एक उससे छोटा और दूसरा उससे बड़ा… मैं अक्सर उन्हीं दोनों के साथ खेलता था।जब मैं 12वीं में था, तब से मैं अपनी बहन के ऊपर लट्टू था और हमेशा उसे निहारता आ रहा हूँ, मैंने कई बार उसे सोते हुए किस किया है और ना जाने कितनी बार उनके नाम की मुठ मारी है।उसके बाद वो पढ़ने के लिए हॉस्टल में चली गयी थी. अपने मुँह में उसका पूरा बूब ले लिया और जलन के मारे उन्हें ज़ोर के काटे जा रहा था. पापा कमाने के लिए मुंबई काम करने चले जाते हैं और आठ दस महीने बाद ही फिर वापिस आते हैं.

सुबह के सात बजे थे, फिर पटना आ गया और हम लोग अपना सामान उठाकर गाड़ी से उतरे और स्टेशन से बाहर जाने लगे.

सपना ने मेरे पास आकर मेरी 34 साइज गांड को पानी के अंदर मसलना शुरू कर दिया। मैं उस जाटणी की हिम्मत देख कर हैरान रह गई। वो पानी के अंदर मेरे सेक्सी बदना को सहलाने लगी. हुआ भी ऐसा ही।दो दिन बाद उसका फोन आया, बोला- मज़ा आ गया यार… तीन लोग थे, एक तो बिल्कुल पहलवान टाइप था।मैंने उसे चिढ़ाते हुए कहा- फिर तो तेरी हसरत अच्छे से पूरी की होगी उसने?वो बोला- और क्या… तीनों ने ही मेरी गांड मारी, बहुत मज़ा आया।मैंने कहा- शाबाश. मैं नहीं चाहता कि मेरी वजह से मेरी बहन की शादीशुदा जिंदगी में कोई तूफान आए.