बीएफ वीडियो करें

छवि स्रोत,बीएफ देना बीएफ बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

स्मोकिंग कैसे बंद करे: बीएफ वीडियो करें, रही बात मुँह दिखाने की, तो कुदरत ने चूत को ऐसा बनाया है कि जब तक लड़की या औरत न चाहे, तब तक कोई भी मर्द उसको समझ नहीं सकता.

हिंदी में सेक्सी दिखाओ बीएफ

और ट्रैवल एजेंट के द्वारा पाँच दिन का हनीमून पैकेज बुक कर लिया।भैया भाभी हनीमून के लिए रात को बस से निकल गये थे. सेक्सी बीएफ भोजपुरी में वीडियोमैंने उसे बेड पर लेटा दिया और झट से उसके लंड को अपने मुँह में लेकर चूसने लगी.

वो मादक सिसकारियां निकाल निकाल कर कहे जा रही थीं- आंह … आह … हां पी ले … आम का रस जितना पीना है … चूस ले. की बीएफ फिल्मउसमें भैया कभी किस करते, स्तन दबाते तो कभी भग्नासा को सहलाते भाभी की तो लगातार सिसकारियाँ निकल रही थी।ये सब करते-करते जब थोड़ी देर हो गयी तो भैया ने भाभी को बाथटब में ही घोड़ी बना दिया और पीछे से चुदाई करने लगे.

थॉमस अगले ही पल मेरे ऊपर चढ़ गया और अपने मोटे मोटे होंठ मेरे गुलाब जैसी पंखुड़ियों वाले होंठों पर रख कर चूसने लगा.बीएफ वीडियो करें: बदले में तू ये बात किसी से बोलेगा नहीं … वरना हम बोल देंगी कि तूने हमारे साथ छेड़छाड़ की है.

ऐसा करते करते अचानक से उसने चूत के छेद पर अपना लंड रख कर जोरदार धक्का मार दिया.मैं वापिस थॉमस के रूम में आ गयी और वहां मैंने अपनी ब्रा पैंटी पहन ली.

सेक्सी बीएफ सेक्स व्हिडिओ - बीएफ वीडियो करें

मैं जोर जोर से चीख रही थी- आह आह आह थॉमस चोद दो मुझे …लगभग 10 मिनट तक उस काले हब्शी ने मुझे और अपने लंड पर उछाला.वैसे भी रगिस्तान में रेत रात को ठंडी हो जाती है तो थोड़ी थोड़ी ठण्ड लग रही थी.

अम्मी ने मेरे लंड पर आठ दस चुप्पे मारे और पूरा लंड मुँह में ले लिया. बीएफ वीडियो करें वाह क्या चौड़ी छाती, चौड़े कंधे, छाती पर घने काले घुंघराले बाल … और मस्त साढ़े सात इंच लम्बा और सवा दो इंच मोटा कड़क लंड.

उसके मुँह से दीदी सुनकर मेरी हंसी निकल गयी और मैं सोचने लगी कि थोड़े दिन में टू इसी दीदी का बहनचोद भाई बनने वाला है.

बीएफ वीडियो करें?

आज तो तुमने मेरे सारे कस-बल निकाल कर जैसे मेरी हड्डियों का कचूमर ही निकाल दिया है। मैं तो अब 2-4 दिन ठीक से चल फिर भी नहीं पाउंगी।”अरे मेरी जान, अभी तो हमें 3-4 राउंड और खेलने हैं. शायद ये वैभव का कमरा रहा होगा क्योंकि पीछे की दीवार पर वैभव की ही पेंटिग टंगी नजर आई. उसे देख कर मेरे दिल में एक अरमान जगा कि काश ये लड़की मेरे साथ ही मेरे ऑटो में बैठ जाए.

वह तुरंत समझ गया कि चुदाई चल रही है।और वैसे भी ऐसी जगहों पर होटलों में जब शादीशुदा जोड़े आते हैं तो चुदाई होती ही है।फिर भईया भाभी ने नाश्ता किया और तैयार होकर आस पास में घूमने के लिए निकल गये जैसे माल रोड़, लक्कड़ बाजार आदि।दोस्तो, अगर आप लोग कभी शिमला जायें तो इन जगहों पर जरूर घूमें. मैंने कहा- ये किसका लंड है सर?वो बोले- मेरा ही है यार, बस कपड़े पोंछ कर फिर से डाल दिया है. !ये कह कर मैंने उसे अपनी बांहों में ले कर उसके गालों पर हौले से एक चुम्बन धर दिया.

उन्होंने कहा- बहू, आज तेरा गोरा सुन्दर जवान बदन देख कर मन काबू नहीं हो पा रहा है. उसके बाद मैंने नीचे आकर थॉमस का शॉर्ट्स भी उतार दिया और थॉमस के ऊपर आकर उसे चूमने लगी. आपने अब तक की सेक्स ऑन रोड स्टोरी के पिछले भागवाइफ शेयरिंग क्लब में मिली हॉट माल की चुदायी- 2में पढ़ा था कि होटल से खाना खाने के बाद अनिकेत मुझे मेरे पति समीर के सामने ही ले आया था.

मैंने ड्रेसिंग टेबल से क्रीम की शीशी और कॉण्डोम का पैकेट निकाला और अपना लोअर उतार दिया. मीता जैसी लौंडिया की कुंवारी अनछुई चूत तो गर्म होती ही है … और संकरी भी होती है.

मैं दर्द से कराहते हुए उससे बोली- उन्ह … दांत से मत काटो यार … नहीं तो मेरे पति को पता चल जाएगा.

मेरी मेरी वासना की कहानी के पिछले भागसहेली के पति से फ्री सेक्सी इंडियन चुदाई-1में अब तक आपने पढ़ा कि मेरी सहेली शेफाली और उसका पति अंकुश स्विमिंग पूल में मस्ती करने लगे थे.

कुछ देर की घमासान चुदाई के बाद वो अकड़ने लगी और लंड को उसकी चुत में गर्माहट महसूस होने लगी. अन्दर चेंजिंग रूम में मैंने अपने बैग में से वो पैकेट निकाल कर खोला, तो देखा, उसमें बिकिनी स्टाइल का टू-पीस स्विमिंग सूट था. जब तक रश्मि उसके माल को अंदर न गटक गयी तब तक उसने लंड को मुंह से बाहर नहीं निकाला.

रात में नींद खुली तो देखा कि निष्ठा मेरे बगल में ही मुझसे चिपक कर सो रही थी. अंकल ने मुझे अपनी ओर खींच लिया और मुझे अपनी बांहों में लेकर बोले- आज तेरी जवानी की हर प्यास बुझाना है! तू बहुत प्यासी है।अंकल ने मेरे होंठों पे चूमते हुए उन्होंने मेरी कुर्ती उतार दी और तुरन्त ही मेरी लैगी भी। उन्होंने भी अपने सारे कपड़े उतार फेंके बस अपनी चड्डी रहने दी. देसी भाभी की चूत स्टोरी में पढ़ें कि मेरे पति अब मुझे नहीं चोदते थे.

फिर एक दिन संडे को शेफाली मेरे घर आई और उसने मुझसे कहा- चलो स्विमिंग के लिए चलते हैं.

पार्क में जाने की वजह यही थी कि वहां पर कोई न कोई अंकल ऐसा मिल ही जाता था जो जवान लड़कों में रूचि रखने वाला होता था. मैंने उसकी ब्रा को उसके मम्मों से निकाल दिया … और मम्मों को बारी बारी से चूसने लगा. इसके लिये मैं आपका बहुत आभारी हूँ।अन्तर्वासना की मदद से मुझे बहुत से नए मित्र मिले, उनमें से ही एक थी सुरभि।सुरभि जी अन्तर्वासना की नियमित पाठिका हैं.

फिर हम लोग फ्रेश हुए और उसके बाद हम दोनों नीचे एक साथ ही लिविंग एरिया में आ गए. मैंने कहा- अच्छा तो तुमको मेरी चीखों से मजा आ रहा था और मैं मरी जा रही थी. वह लड़का कुनमुनाते हुए कह भी रहा था कि मेरी गांड केवल थूक लगा कर … उसकी क्रीम लगा कर मारी थी.

भाभी आप बोलने लगीं कि बहुत शातिर हो तुम … तुम्हें क्या पता कि मैं चुदाई में माहिर हूँ या नहीं.

निष्ठा ने थोड़ा प्रतिवाद किया पर मैंने उसे समझा दिया कि ये तो कभी कभार ले लेता हूं मैं. फिर हम दोनों ने दोस्ती का हाथ मिलाया।कहा छोड़ दूँ तुम्हें?”आज कोचिंग की छुट्टी.

बीएफ वीडियो करें ’ की मादक ध्वनि निकल पड़ी और वह स्वयं कमर को उछालने का प्रयत्न करने लगी. तो उसने बोला- आप किस साधन से आई हो आंटी?मैं बोली कि मैं तो ऑटो से आई थी.

बीएफ वीडियो करें मेरे हाथ उसके कंधों पर जमे हुए थे और वो मुझे गाली देते हुए चोदता रहा ‘आह … साली रंडी चुद. जबकि प्रकाश भाईसाब ने यह कह कर कि लौंडे मेरा मस्त लंड झेल नहीं पाएंगे, इनकी गांड फट जाएगी … उन दोनों लौंडों की गांड मारने से इन्कार कर दिया था.

आप भी मजा लें पढ़ कर!नमस्कार दोस्तो, एक बार फिर आपका दोस्त राहुल सिंह कानपुर के पास से आपके सामने एक नई सेक्स कहानी के साथ हाजिर है.

বুলু সেক্সি

मैंने अपनी शर्ट के बाकी के बटन खोलना शुरू किए और शर्ट के सारे बटन खोल कर उसे उतार कर टेबल पर रख दी. मैं वैसे ही कमरे से निकलने लगा और दरवाजे पर पहुंच कर मैंने मुड़ कर देखा. वो मेरे पीछे से स्पूनिंग पोजीशन में आ गया, उसने अपने लंड को मेरी चूत में डाल दिया और मेरी चूचियों को मसलते हुए मुझे चूमने लगा.

मैंने भी सोचा कि आज अच्छा मौका है … स्कूल में लोग भी कम हैं … काश सर मेरे साथ कुछ कर लें और टीचर स्टूडेंट सेक्स स्टोरी का आरम्भ हो जाए. मुझे दर्द की वजह से काफी गुस्सा आया, तो मैंने उसकी नाक बंद कर दी और शॉवर की तरफ उसका मुँह कर दिया. क्योंकि लड़कियां सिर्फ उन्हें ही बुद्धू कहती हैं जिन पर वो अपना हक समझती हैं।मैंने भी जवाब दिया- वो तो मैं हूँ ही! पर अभी मेरी किस बात से तुम्हें लगा कि मैं बुद्धू हूँ?खुशी- यार सेक्स कहानी तुम लिखते हो, डरने की जरूरत तुम्हें होनी चाहिए। अपनी पहचान तुम्हें छुपानी चाहिए.

मैं पास के पार्क में घूम रहा था और मुझे डेढ़-दो घंटा हो गया था घूमते हुए.

और मुझसे कहने लगे कि अपना मेडिकल करवाकर आप भी रिपोर्ट लिखवा दो कि इसने आप को मारा है. उनके जांघों वाले हिस्से में मैंने एक दो झटके से महसूस किये और उसके बाद वो हिले ही नहीं. अर्जुन ने वो कमरा साफ करवा दिया समीर को पैसे देकर!फिर कुछ जूस वगैरा लेकर हमने फिर 3 राउंड चुदाई की.

मैं भी उसके मोटे लंड से चुदने के लिए तैयार थी और थॉमस का लंड भी अब मुझे चोदने के लिए पूरी तरह से खड़ा हो चुका था. अपने लम्बे अनुभव में एक अध्याय और जोड़ने के लिए मैं उठा, अपना अण्डरवियर शरीर से अलग किया और ढेर सी क्रीम अपने लण्ड पर चुपड़ कर मैं गुरजीत की टांगों के बीच आ गया. हाय दोस्तो, मैं कहानी के पिछले भाग से ही कहानी को आगे बढ़ा रही हूं.

कुछ देर मज़ा लेने के बाद वो थोड़ा साइड में हुआ और तिरछा होकर बैठ गया. जिसमें मैंने पूजा को अपनी कामुकता जगाने वाले बुर्का की फैंटेसी के बारे में बताया.

तभी विन्नी का मैसेज आया- मैं श्रीनगर में हूँ राज, तुम कहाँ हो?मैं विन्नी से मिलने की जल्दी में अधूरा काम कर तुरन्त बाहर आ गया. पर वो माने तब न!हां बहुत जोर देने पर कभी कभार मेरे लंड की मूठ जरूर मार देती थी. मैंने गलती से रात को सोते समय पम्प के बटन को ऑन ही रख दिया और पम्प रात भर चलता रहा.

नीला ने निशांत के लंड को मुंह से निकाला और बोली- छोड़ दो मुंह में ही, मुझे चूसने में बहुत मजा आ रहा है, मेरा मजा मत खराब करो.

उसने मेरे साथ क्या क्या किया?जैसा कि मैंने हिंदी सेक्सी चूत की कहानी के पिछले भाग में बताया था कि थिएटर में पिक्चर देखना नेहा की मम्मी सरोज का शौक था. भाभी ने फटाक से अपना पूरा मुंह खोला और लौड़े को अंदर लेकर चूसने लगी और चूसते चूसते अपने आप को ड्रेसिंग टेबल के शीशे में देखती रही. अब तक की चुसाई और चटाई ओरल सेक्स से भी नैना पूरी तरह से संतुष्ट नजर आ रही थी.

लंड बाहर आते ही बरस पड़ा और लंड के फुहारे उसके पेट पर, चुत पर और उसकी जांघों पर गिरने लगे. इसलिए कुसुम के पास अपने दिल को हल्का कर लेना मुझे अच्छा लगता था।मैंने इस बार भी वही किया.

मैं अपने बॉयफ्रेंड से जी भरके चुदना चाहती थी वो भी अपने पति के सामने बिना किसी हिचकिचाहट और डर के. लूट लो मुझे!आपकी आशना[emailprotected]हॉट सेक्सी कहानी का अगला भाग:मेरी चूत गांड को रोज लंड चाहिए-2. उसे हड़बड़ी थी, पर इस बार भी उसका लंड खिसक कर मेरे नीचे दोनों जांघों के बीच घिस रहा था.

एक्स एक्स एक्स एचडी हिंदी सेक्सी

वो मेरे होंठों को चूमते काटते अपनी जीभ मेरे मुँह में घुसा कर मेरी जीभ को चूसने लगे थे.

हमेशा नये नये कपड़े पहनती थी और अपने जिस्म को संवारने में बहुत खर्च करती थी. मां हंसती हुई बोलीं- तुम बहुत बदमाश हो गए हो … जल्दी से उठो और तैयार हो जाओ. मेरी गर्लफ्रेंड को उधर काम करते हुए समय बीतता गया और मेरी गर्लफ्रेंड के उसके बॉस की हरकतें साथ शुरू हो गईं.

फिर मैंने चुदाई की स्पीड तेज कर दी और लंड को निकाल निकाल कर चूत मारने लगा. कुच्ची बार बार बोलता कि खड़े लंड पर धोखा देगी क्या … और हंसी उड़ाता. हिंदी गुजराती बीएफदोस्तो, इस चुदाई की कहानी में अभी प्रतिभा दास की गांड मारने की सेक्स कहानी भी आना बाकी है.

मैंने अर्पित को धक्का देकर बेंच पर अधलेटा सा लिटा दिया और उसके ऊपर आकर बेहताशा उसको चूमने लगी. अब नैना की चुदाई कैसे हुई, उसकी सेक्स कहानी मैं अगले भाग में लिखूंगा.

और उस चूतिये ने खुद दो लौंडे भेज दिये कि जाओ और जाकर मेरी पत्नी चोद कर आओ. फिर हम दोनों ने दोस्ती का हाथ मिलाया।कहा छोड़ दूँ तुम्हें?”आज कोचिंग की छुट्टी. मेरी सेक्स करने की इतनी अधिक चाहत को सबसे बड़ा सदमा जब लगा था, जब मेरी शादी के चार साल बाद ही मेरे पति का देहांत हो गया था.

मैं लंड को धीरे धीरे चूत के अन्दर ही हिलाता रहा … थोड़ा थोड़ा निकाल कर अन्दर करता रहा. मैंने कुसुम से कहा- यार, ये बताओ कि वो लड़की मुझे बुला रही है तो क्या मुझसे सेक्स संबंध भी बनायेगी? या ऐसे ही दोस्त समझकर बुलाकर रही है? अगर सेक्स संबंध बनाना होता तो अभी शादी के समय क्यों बुलाती? वो भी अपने घर पर! और उसका मंगेतर भी बुला रहा है. उनका लंड फूल कर एक मोटे तंदरुस्त साढ़े सात इंच लम्बे लौड़े में तब्दील हो चुका था.

हम बाहर आ गए और मैंने नेहा और सरोज को कहा- अब आप लोग खुश हो?सरोज ने मेरे कंधे पर हाथ रखा और कहने लगी- राज! तुमने तो आज पासा ही पलट दिया, हमारी तो जान ही सूख गई थी.

प्रतिभा के वार्तालाप करने के दौरान मैं उसके मखमली जिस्म पर हाथ फिरा रहा था. हांफ जाते हैं … घुटने छिल जाते हैं … सुपारे में दर्द होने लगता है … लंड गर्म हो जाता है.

कुछ देर तक लंड से यूं ही खेलने के बाद उसने लंड पकड़ कर मसलते हुए मुठीयाने लगी और फिर वो झुकी और सुपारा चाटने लगी और फिर गप्प से आधा लंड मुंह में भर लिया. मैंने अपने झटकों की ताकत बढ़ाई और स्पीड भी … और भाभी को जोर जोर से चोदने लगा. फिर उसकी रसीली चुत की फांकों में लंड का सुपारा लगा कर एक हल्का सा झटका दे दिया.

प्रकाश भाई ने लंड पर खूब सारी क्रीम पोती, थूक मला और लौंडे की गांड पर टिका कर कहा- ढीली रखना … लगेगी नहीं, वरना नहीं डालूंगा. अब तक मैं एकदम दब्बू सी लड़की थी, लेकिन उसके बाद से मेरे शरीर और मुझमें काफी बदलाव आए. फिर उसने अपना सारा माल मेरी चुचियों पर ही छोड़ दिया और मेरी बगल आकर लेट गया.

बीएफ वीडियो करें उसके बाद वो दोनों कैमल सफारी पर गये और फिर वापस आकर एक दूसरे के साथ शैम्पेन पीने लगे और किस करते हुए मजा लेने लगे. मुझसे रहा नहीं गया तो मैंने उसे अपनी बांहों में भर लिया और उसे चूमने लगा फिर उसका अधर चूसने लगा.

सेक्सी फिल्म हिंदी में गांव की

अभी मैं उन चटाई के बारे में सोच ही रहा था कि तभी भाभी के चिल्लाने की आवाज़ आई. जहाँ वो मुझे चोद रहा था, वहाँ हम दोनों को कोई भी नीचे से देख सकता था. मैंने उसको क्लेरिसा और मेरे रिश्ते के बारे में बताया कि कैसे हम दोनों ऑफिस कॉ-वर्कर हैं और वो तलाकशुदा है.

मैंने उंगली बाहर निकाली और अपनी पोजीशन उसकी टांगों के बीच बना कर लेट गया. पर सोच रहा था ट्रेनिंग पर बंगलुरु जाते समय एक दिन मुंबई भी मिल आऊँ. मुसलमानों की लड़कियों की बीएफउसके बुर्का पहनते ही मैंने पूजा को अपनी गोद में उठा लिया और उसके पति के सामने अपनी कार में बैठा कर अपने होटल के रूम पर ले आया.

मैं समझ गई कि ये अब मुझे चिल्लाने का कोई मौका नहीं देने के मूड में है.

मीता, तुम्हारे कोमल-कोमल गाल, कोमल-कोमल होंठ, बड़ी-बड़ी आंखें, जो हल्का सा काज़ल लगने के बाद इतनी कातिलाना हो जाती हैं कि किसी का भी खून हो जाए. थॉमस ने मेरी बात को अनसुना करते हुए फिर से एक और तेज झटका मारा और अपना पूरा लंड मेरी चुत में डाल दिया.

अब उसकी चूत मेरे मुँह के सामने हो गयी और मेरा लंड उसके मुँह के सामने था. प्राची भाभी ने लंड चूस कर अंतिम बूंद भी निचोड़ी और चेहरे पर बिखरे वीर्य को उंगलियों में लगाकर चाटने लगीं. मैं मस्ती से आवाज कर रही थी- आहह उहह धीरेन्द्र मज़ा आ रहा है … हां अन्दर बाहर करते रहो.

उसकी पकड़ ढीली पड़ते ही मैंने भी तेज तेज झटके मारे और हम दोनों स्खलित हो गए.

”वो तुम बता रही थी बेबी को टीका लगवाना था? लगवा दिया क्या?”हओ … लगवा दिया … पर बाबू बहुत रो रहा था. जो चीज़ मुश्किल से मिलती है कद्र भी उसकी ही होती है इसीलिये मैं विन्नी को केवल सुख नहीं बल्कि चरमसुख देना चाहता था. मैं एक मिनट के लिए रुका और सोचने लगा कि साली ये तो सील पैक निकली … क्या अब तक इसने लंड का मजा लिया ही नहीं था!मैं मन ही मन खुश हो गया और मैंने धीरे धीरे फिर से अपने झटके शुरू कर दिए.

बीएफ साड़ी वाली बीएफ साड़ी वालीलड़की या औरत की नग्न जंघाओं का भी एक अलग ही सौन्दर्य होता है, साली जी की जांघें भी अत्यंत सुन्दर और मनोहर लग रहीं थीं, केले के तने जैसी चिकनी और मांसल एकदम गुलाबी रंगत लिए हुए. उस रात हमने सबको जिम से जल्दी रवाना कर दिया और जिम 10 बजे ही अन्दर से बंद कर दी.

सेक्सी वीडियो हिंदी नंगी पिक्चर

अब की बार 30 मिनट तक चुदाई चली होगी और वे दोनों थक कर निढाल हो गये. उसके जाते ही आंटी ने अपनी नाइटी फिर से ऊपर कर ली और फिर से सेक्स मूवी देखने लगीं. अन्तर्वासना के सभी पाठकों को मेरा हैल्लो! मेरा नाम विकास है और मैं देहरादून का रहने वाला हूँ.

वहां बर्फबारी होती है, दोस्तो, अगर आप सर्दियों में शिमला जाते हैं और आपको बर्फ गिरते हुए देखना है तो कुफरी जरूर जायें।वहां भैया भाभी ने बर्फ में आनन्द लिया और शाम को वापस अपने होटल आ गये. अब मुझे कोई शर्म नहीं थी क्योंकि रोहन ने थॉमस और मुझे पूरा नंगा देख ही लिया था. मुझे दुःख इस बात का है इसने अपनी तरफ से मुझे प्रपोज किया था उसके बाद इसने मेरे साथ ऐसा किया.

मैंने हिम्मत करके पीछे से ममा की पीठ पर अपनी चूचियां रगड़ दीं और ममा से चिपक गयी. मैंने कहा- तुम कबसे जाग रही हो?उसने कहा- जब तुमने मेरे उरोजों को सहलाया था, मेरी नीद तभी टूट चुकी थी, पर मैं देखना चाहती थी कि तुम आगे क्या करते हो. वो शॉवर के नीचे आ गया।अब उसके भीगी हुई चड्डी में उसका मोटा सांड सा लण्ड चिपका हुआ था। मौका देखकर मैंने भी अपनी ब्रा उतार दी और अपने 34 के चूचों को आजाद कर दिया.

मैं चिल्ला भी नहीं सकती थी … क्योंकि सास यही समझती कि चुदने के बाद बहू नाटक कर रही है. कहां से चॉकलेट को चाटना शुरू करूं?उन्होंने मस्ती से आंख दबाते हुए कहा- जहां से तुम्हारी मर्जी.

वो जानता था कि रश्मि रवि की बेटी है और यही उसका मकसद था कि वो रवि की बेटी को रंडी बना कर उसके बाप के सामने ही पेले.

इसके बाद अंकुश ने आगे बढ़ कर मेरी जीन्स का बटन खोला और मेरी जीन्स को उतार दिया. बीएफ एचडी फिल्म हिंदीये देख कर वो अपनी धोती उठा कर ज़मीन पर सीधा लेट गया और मुझे अपना लंड चूसने को बोला. तमिल बीएफ फुल एचडीफनफनाते हुए लंड को देख कर मीता की एक तेज सिसकी निकल गई- उई मम्मी … ये क्या है?मैं- ये तुम्हारा खिलौना है … खेलो जी भर कर. मेरी पिछली कहानी थीप्यासी भाभी ने चुदाई के लिए घर बुलायाये सेक्स कहानी मेरी और दुर्ग में रहने वाली मारवाड़ी सेक्सी लेडी की है.

एहसास ना हो जब तकएक लम्बी चुदाई काना जाने देना अपने साथी कोजब तक उसकी चूत ना बोलेलंड की बानी उसकी ठुकाई काहम रास्ते में जा रहे थे, तो मुझे होटल से पहले रास्ते में स्पोर्ट्स की दुकान थी.

मीता मेरी बातों से कुछ संतुष्ट सी दिखाई दी, पर डर अभी भी उसके चेहरे पर दिख रहा था और इसका इलाज उसकी कामुकता को जगा कर ही हो सकता था. एक बार रात के समय मैं पढ़ रहा था, तो मैंने अपना मोबाइल ऑफ कर दिया था. मगर मुझे दुःख इस बात का है कि जब तुमने सिम चालू किया, तब न तो तुमने मुझे बताया, न ही उस नम्बर से फ़ोन किया.

प्राची भाभी ने अपना मुँह खोल लिया और वो हर बार लंड को मुँह में लेने के लिए बेचैन हो जाती थी. मैं बोला- मुझे सब पता है कि कब तुम्हारे पास सिम आयी थी, कब तुमने रिचार्ज करवाया. बहुत देर तक मैं उसकी चूत को अपनी जीभ से तरह तरह से चूसता, चाटता रहा और कुछ ही देर में बिन्दू मुझे अपने ऊपर खींचने लगी.

होली की दूज के तारीख की है

उसके चेहरे पर ग्लानि के भाव देख कर रमेश मुस्करा दिया- तुम कुँवारी नहीं हो. फिर हम दोनों 69 की पोज़िशन में आ गए और एक दूसरे का आइटम चूसने-चाटने लगे. विन्नी भी अब मेरे साथ साथ मेरे गले मे दोनों हाथ डाल सर झुकाए मेरी गोद में बैठी थी.

मैंने नेहा से पूछा- क्या हुआ?नेहा बोली- कुछ नहीं, बहुत बड़ा लंड है, पहली बार लिया है, ऐसा लगता है जैसे सुपारा बच्चेदानी के अंदर घुस गया है?मैंने कहा- दर्द हो रहा है या मजा आ रहा है?नेहा ने आंखें बंद करते हुए कहा- एक बार दर्द हुआ था, अब मजा आ रहा है!और यह कहकर नेहा ने अपने दोनों हाथ मेरी कमर पर कस लिए.

बिन्दू शरारती लहजे में बोली- थक गए क्या? पहले दिन तो मुझे बड़े रौब से कह रहे थे कि मुझे धोखा नहीं देना, अब जब आपके सामने नंगी पड़ी हूँ तो कहते हो कपड़े पहन ले और कमरे में जाओ.

पायल ने मेरी चोरी पकड़ ली और मुस्कुरा कर कहने लगी- आप अच्छे इंसान नहीं हो. मैंने कहा- ऐसे नहीं, अपने कपड़े उतार कर सिर्फ ब्रा पैंटी के ऊपर ही बुर्का पहनो. मिया खलिफा की बीएफचुत में आधी टॉफी घुसेड़ कर बॉस ने अपनी जीभ को नुकीली किया और टॉफी चूसते हुए गर्लफ्रेंड की चूत के दाने को अपनी जीभ से छेड़ने लगा.

वह कहने लगी- फिर मुझे आंटी क्यों कहते हो?मैंने कहा- बताओ मैं आपको क्या कहा करूं?आंटी कहने लगी- सभी लोग मुझे मैडम कहते हैं, आप भी मैडम कह लिया करो या भाभी कहा करो. मेरे बगल में करीब पैंतालिस साल का आदमी बैठा था, तो वो थोड़ा सा आगे को हो गया और मैं पीछे होकर बैठ गयी. रमेश सिसकार उठा- आह्हह … साली रांड … तू तो सब जानती है, मेरे सामने नाटक कर रही थी? नौटंकी कहीं की! आह्ह.

वैसे भी मैं डर के कारण ये काम अकेले नहीं करना चाहता था इसलिए मैंने शरद को भी उसके मजे देने का वादा किया था. मैं और शरद एक दूसरे की तरफ देखकर हंस रहे थे कि हमने किला फ़तेह कर लिया.

थोड़ी ही देर में हम दोनों में वो वाली बातें आ गईं, जैसे फोन पर हुआ करती थीं.

दो मिनट के बाद सर की स्पीड कम हो गयी और मेरी चूत में गर्म गर्म सा महसूस हुआ. रमेश लगातार रश्मि की चूत और गांड में कुत्ते की तरह चाटने में लगा हुआ था. मैंने उसके बगल में लेटी अपने ताऊ जी की लड़की को देखा, तो वो अपनी आंखें बंद किए सो सी रही थी.

सेक्सएक्स वीडियो बीएफ लेकिन मैंने उस लड़की पर गौर किया, तो वो मुझे बड़ी ही तिरछी नज़रों से मुझे देख कर निहार रही थी. एक ही बार में लंड उसकी चूत में उतर गया और मैं उसकी चूत को पेलने लगा.

फिर लगा कि अब मैं आ सकता हूँ, तो मैंने अधमरी हो चुकी प्राची भाभी को उठाकर सामने कुतिया बनाया. नेहा ने कहा- मुझे होटल में जॉब करते काफी समय हो चुका है, पर आज तक मैंने किसी ग्राहक की नजरों में अपने लिए आंसू नहीं देखे. उस दिन मैं बैकलेस ब्लाउज और काले रंग की साड़ी पहन कर गयी थी … काफी हॉट लग रही थी.

सेक्सी वीडियो फिल्म दिखाएं वीडियो

चूत और उसके होंठ इतने गुलाबी थे कि समझ नहीं आ रहा था कि मेरा लंड पहले चूत में डालूं या मुँह में. मुझे इतनी गहरी सोच में डूबा हुआ देख कर मामी ने मुझे हल्का सा धक्का दिया और बोलीं- कहां खो गया?मैंने मुस्कुराते हुए का कहा- नहीं नहीं … कहीं नहीं … मामी … बस कुछ नहीं. वो बिस्तर में तड़प रही थी जैसे मानो मछली को जल से बाहर निकाल दिया हो और जब तक पानी में नहीं डालो तब तक वो छटपटाती ही रहेगी.

फिर पिताजी बोले- बेटा हर्षद … अब तुम भी सो जाओ, सुबह तुम्हें जल्दी जाना है ना! मैं भी सोने को जाता हूँ … कल मुझे ऑफिस भी जाना है. मुझे तो लगा जैसे मैं स्वप्न में खोकर परी से बात कर रहा हूँ।वो खुशमिजाज थी जिसके कारण उसके गालों पर लालिम उभार थे.

मैं अपने पति के सामने एक गैर मर्द के सामने चुदने में काफी ज्यादा उत्तेजना महसूस कर रही थी और चिल्ला चिल्ला कर चुत में लंड ले रही थी.

उसको मैंने पकड़ा और जोर से गरज कर कहा- क्या बात है? कौन हो तुम? क्यों झगड़ा कर रहे हो?तभी सरोज एकदम मुझसे बोली- राज! मारो इसको, इससे बच्चा ले लो और इसको बाहर निकाल दो. ये देखकर मेरे लंड से भी वीर्य का बड़ी मात्रा में फव्वारा छूट पड़ामैं- आह्ह … मेरा हो गया आरूषि! तुम्हारी सिसकारियों को सुनकर मैं अपने वेग को रोक नहीं पाया. इसमें खतरा है तो ऐसा क्यों करती है?रमेश- रति, तुम भी ना बहुत डरपोक हो। यह मेरी बेटी है। इसे अच्छी तरह पता है कि बिजनेस कैसे किया जाता है, यह कोई ख़राब काम नहीं कर रही.

थॉमस ने हंसते हुए मेरी गांड थपथपाई और चूत में धक्के मारने शुरू कर दिए थे. मैंने उन्हें हग किया और प्रॉमिस किया कि कभी किसी को पता नहीं चलेगा और ये दुबारा भी नहीं होगा. फिर उसने मम्मी को उठाकर अपने ऊपर ले लिया और दोनों 69 की पोजीशन में आ गये.

मैंने अपना दायां हाथ अपने चूतड़ों पर जोर से मारा ताकि उनका ध्यान चाटने से हट कर चोदने के लिए तत्पर हो जाए.

बीएफ वीडियो करें: मगर फिर कुछ सोच कर हमने हाँ कह दिया क्योंकि हमने आपको एक बार ऑफिस में देखा था और आप हमें बहुत सही लगी तो हमने हामी भर दी। तो अब बॉस ने हमें आपकी सेवा में भेजा है, आप जो कहोगी, वैसे ही हम आपकी सेवा कर देंगे।अब वो तो चुप हो कर मुझे देखने लगा. मैंने फिर से उन्हें कहा- जेठ जी, सास जी जग रही होंगी तो बहुत अनर्थ हो जाएगा.

मगर उन औरतों के पति तो जैसे मुझसे बात करने के लिए मरे ही जा रहे थे. मैंने भी ये महसूस किया, तो अपनी गांड थोड़ी बाहर को निकाल कर खड़ी हो गयी. कोई प्रेम से चुदवा रही है, कोई जिगोलो समझकर, तो कहीं किस्मत से चुदाई नसीब हो रही है.

फिर मैंने सनम को आवाज़ लगाई तो वो भी उठ गयी और हमें ऐसे देखकर कूदकर राजू के पास आयी और उसे थप्पड़ मार दिया जिससे मैं चौंक गयी.

चूत में कामरस का रिसाव हो चुका था, जो लंड को चिकनाई प्रदान करने लगा था. मैंने बस सीईईई … करते हुए कहा- चोद कुत्ते, चोद मुझे।सुनील ने इतना सुनते ही मुझे ज़ोर ज़ोर से चोदना शुरू कर दिया पीछे से।मैं उसके धक्कों से आगे पीछे हिलने लगी. उसकी समझ में कुछ नहीं आ रहा था। मैंने उसे जल्दबाजी में पूरी बात समझायी.