सेक्सी बीएफ वीडियो देहाती एचडी

छवि स्रोत,छठी माई के पूजा

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी fucking: सेक्सी बीएफ वीडियो देहाती एचडी, यह सेक्स कहानी कुछ समय पहले उस समय की है, जब मैंने कॉलेज से ग्रेजुएशन पूरी की थी.

मुलीचे xxx photo

मैं भी आंटी के ही सामने उनके खुले मम्मों को मज़े से देख कर अपने लंड को मसलने लगता. कामसूत्र ब्लू फिल्मजहां तक कि मैं शरद को जानती थी, वो इन चार दिनों में मेरी भरपूर चुदाई करने के इरादे से मुझे वहां लेकर गया था.

भाभी बोलीं- अंश आज मैं बहुत दुखी महसूस कर रही हूँ … क्या तुम मेरे लिए बाजार से दो बियर ला सकते हो?मैंने एकदम से चौंक कर भाभी की तरफ देखा और उसी समय मेरे दिमाग की बत्ती जल गई. शेरवानी फोटोएक दिन मैंने रात में संजना का मोबाइल चैक किया, तो उसमें इन दोनों की बहुत गर्म बात हो चुकी थी.

फिर मैंने उससे पूछा कि अगर तुम भी ऑटो से ही कॉलेज जाते हो, तो हम सुबह साथ चलें!वो इस पर राजी था.सेक्सी बीएफ वीडियो देहाती एचडी: थोड़ी देर में कोमल भी फ्रेश होकर आ गयी और बोली- तुमने मुझे तभी जीत लिया था.

मैंने उसकी ब्रा को उतारा और उसके एक मम्मे को अपने मुँह में भर लिया.जब मैंने उनको देखा, तो पूछा- अंकल क्या चाहिए?वो बोले- कुछ नहीं बस तुम्हें देखा तो आ गया.

தேசி செஸ் - सेक्सी बीएफ वीडियो देहाती एचडी

जब वो करीब आई, तब मैंने एक पैर से उसकी साड़ी को थोड़ा ऊपर करके अपना दूसरा पैर अन्दर कर दिया और उसके नंगे पैरों को सहलाने लगा.बॉय बॉय सेक्स कहानी के पहले भागचिकना लड़का लौंडा बनना चाहता थामें मैंने अब तक आपको बताया था कि नील नाम का नमकीन लौंडा मेरे लिए दारू की बोतल लाया था.

वो मेरे दोस्त साहिल से चुदकर एकदम नंगी लेटी थी और उसके साथ सेल्फी ले रही थी. सेक्सी बीएफ वीडियो देहाती एचडी मैंने बाथरूम में उसके आते ही गेट लॉक कर दिया और अपनी तरफ लगा शॉवर चालू कर दिया.

तो मैंने सोचा यहाँ जगह कार सेक्स के लिए सही है, इधर तो कोई नहीं आएगा.

सेक्सी बीएफ वीडियो देहाती एचडी?

कुछ देर बाद हम दोनों ने रात का खाना खाया और उसके बाद हम रूम मैं बैठ कर सिगरेट पीने लगे. उसने कुछ नहीं कहा और मेरे सीने के एक निप्पल को अपने मुँह में ले लिया और चूमते हुए धीरे धीरे नीचे की तरफ जाने लगी. जैसे तैसे करके मैंने शॉर्ट्स पहना मगर लोअर के अन्दर जो शेर था वो बैठा ही नहीं था.

वो अपनी पूरी उद्दंडता से कभी नाभि में उंगली आगे-पीछे कर रहा था, कभी उसमें उंगली घुमा रहा था. लेकिन मुझे ये डर भी लग रहा था कि मॉम मेरी हरकतों के बारे में डैड को ना बता दें. तो मैं तुरंत उसके ऊपर आकर उसके होंठों पर अपने होंठ लगाकर चूसने लगा और धीरे-धीरे उसकी चूचियों को भी सहलाने लगा.

अब मैं अपना पूरा लंड बाहर निकलता और पूरा फच करके अन्दर बच्चेदानी तक डाल देता. इसलिए उसकी आंखों में शरारत आई और उसने मुझे ‘हैलो भैया कैसे हो आप …’ कह कर एकदम से होश में ला दिया. ऐसा नहीं है कि उनका इस कदर छूना मुझे पसंद नहीं आया, पर एक शादीशुदा औरत होने की वजह से मैं अन्दर से थोड़ा झिझक भी रही थी.

मुझे मेल करके जरूर बताएं, जिससे मैं अगली सेक्स कहानी और अच्छे से लिख सकूं. मेरी बहन भी एकदम से कसमसा उठी और उसने रस छोड़ कर खुद को निढाल कर दिया.

मैंने उन्हें लिटाया और उनकी दोनों टांगों को अपने कंधे पर रखकर अपने लंड को उनकी चूत पर सैट कर दिया.

आपको मेरी सिस्टर हॉट सेक्स स्टोरी कैसी लगी, प्लीज़ मुझे मेल करके बताएं.

बुआ की हालत पल पल खराब होती जा रही थी और उनकी वासना से भरी हुई सिसकारियां मुझे और भी उत्तेजित कर रही थीं. वो चुत सहलाते हुए बोली- साली रांड कुछ भी नहीं सुनती है, बस लंड देखा नहीं कि शुरू हो गई टपकने. जब वो तैयार होकर आयी तो मैं देखता ही रह गया … सच में क्या क़यामत लग रही थी वो!उसने लाल रंग की साड़ी पहनी थी और स्लीवलैस ब्लाउज था.

करीब 10 मिनट ऐसी चुदाई के बाद मैंने उसको डॉगी स्टाइल में किया और लण्ड को पीछे से एक ही झटके में अंदर कर दिया. मगर मैं बेदर्दी की तरह उसकी चूत को बीस मिनट तक अपने लौड़े से पेलता रहा. इसके बाद अगली बार जब वो आए थे, तो हम एक सप्ताह के मनाली भी घूमने गए थे.

जब ट्रेन मन्ज़िल की ओर चलना शुरू हुई तो मैंने भी शीना भाभी के दूध से सफेद मम्मों पर अपने हाथ रख दिए.

मैंने अपने लौड़े की रफ्तार तेज कर दी और झटके मारते मारते उसकी चूत को वीर्य से भर दिया. होम ट्यूटर सेक्स कहानी में पढ़ें कि कैसे मैंने पड़ोस की एक लड़की जो इंग्लिश एम ए कर रही थी, उससे पढ़ना शुरू किया. मैं अपनी बहन आरू से काफी क्लोज और अट्रैक्ट था … और कहीं न कहीं वो भी मुझे पसन्द करती थी.

मैंने अपने कमरे की लाइट जला रखी थी, जिससे बाहर वालों को अन्दर का नज़ारा साफ साफ दिख सके. जब आशीष मेरे घर के अन्दर आ गया तो मैं भी छत के रास्ते चुपके से नीचे उधर आ गयी जहां मेरी दीदी अंजली एक नीले रंग की बहुत सेक्सी सी साड़ी में थीं. जब डैड घर आ गए तब भी हम मौका देख कर चुदाई कर लेते!उम्मीद है दोस्तो … आपके लौड़े और चूत गीली हुई होगी.

न सब के बीच में पता नहीं कब मेरा हाथ रमा की साड़ी में चला गया और मैं पैंटी के ऊपर से ही उनकी चूत पर हाथ फेरने लगा.

मेरे लंड पर चुत का पानी लगा हुआ था … आंटी सारा रस चाट चाट कर साफ कर रही थीं. साहिल ने अपने कपड़े उतारे और नंगे होकर रंगोली को अपनी बांहों में ले लिया और उसकी ब्रा की स्ट्रिप खोल दी; फिर उसके होंठों को स्मूच किया.

सेक्सी बीएफ वीडियो देहाती एचडी मैं मस्ती से अपनी जीभ से मैडम की चुत का एक एक कतरा चाट कर साफ़ करने में लगा हुआ था. आखिरकार वह घड़ी आ गई थी, जब मैं उनके लंड के नीचे आने वाला था और भाई भी तैयार थे क्योंकि मुझे भी उन्होंने इतनी अच्छी ट्रेनिंग दी थी, जिससे मैं अभी पूरी तरह से लड़की बन चुकी थी.

सेक्सी बीएफ वीडियो देहाती एचडी मेरे आते ही राजीव सर ने मेरा गले लगा कर स्वागत किया और मुस्कुराते हुए मुझे अन्दर आने को कहा. दो हफ़्ते बाद वो मुझसे बोली- उस दिन वाले डायरेक्टर ने मुझे ऑफ़िस बुलाया है ट्रायल देने के लिए … एक साइड रोल है, वो ऑफर कर रहा है.

जब मैं खाना खाने के लिए मेस में गई, तो रोहन की नजर मेरे मम्मों पर थी.

नंगी सीन सेक्सी नंगी सीन

उन्होंने भी देरी नहीं और मुझे जोर से पकड़ कर बिस्तर की ओर धकेल दिया और मेरे ऊपर ऐसे चढ़ गए जैसे कोई कसाई अपने जानवर के ऊपर आ गया हो. मेरी यह सच्ची सेक्स कहानी मकान मालकिन की बड़ी बेटी मालती की चुदाई की है, जिसको उसकी सगी छोटी बहन ने ही मेरे बिस्तर तक पहुंचाया था. अंकल बोले- हम्म … आज शाम को तो वैसे भी आना है … तुम्हारे पापा ने बुलाया है.

ओमी अंकल ने तो एक बार मेरी गांड पर भी हाथ फेर कर मुझे शाबाशी दी थी. फिर वो रुके और अपने कपड़े पहनते हुए बोले- आज की ट्रेनिंग बस इतनी ही थी. इनमें से एक लड़की का ईमेल भी था, जो मेरी सेक्स कहानी से काफी प्रभावित थी और मुझसे मिलना चाहती थी.

तभी उसका फिर से एक मैसेज आया- जीजू एक बात बोलूं, आप किसी को बोलेंगे तो नहीं?मैंने कहा- हां बोलो.

एक दिन उन्होंने मुझे अपने घर पर ये कह कर बुलाया कि आज उनका जन्मदिन है. उन तीनों की चुदाई में मैं इतना ज्यादा मगन था कि अपनी गर्लफ्रेंड की चुदाई ही नहीं कर पाता था. मैं भी दीदी की गांड के स्वाद को चखते हुए अपने होंठों पर जीभ फिराई और बेडरूम में जाने लगा.

उसने एक स्माइली भेज कर लिखा- क्या अलग सा लग रहा है?मैंने लिखा- शायद जो बेचैनी तुम्हें हो रही है … उसी तरह से मुझे भी कुछ हो रही है. ”आ रही है तो उसको भी मेरे लण्ड का रस पिला दो, शायद उसके कुछ दुख कम हो जायें, कुछ अधूरी इच्छायें पूरी हो जायें. उसको देख कर अंकल बोले- बहुत हॉट हो तुम …और फिर उन्होंने ब्लू फिल्म को देख कर मोबाइल मुझे देते हुए बोले- तुम चिंता मत करो, मैं किसी को तुम्हारे घर में नहीं बोलूंगा.

अपनी बहन के दूध चूसते समय मुझे ऐसा लग रहा था कि मैं अर्शिया के बोबों से सारा दूध निकाल कर पी लूं. नंबर मिलते ही उसके चेहरे की चमक ही बदल गई और उसने तुरन्त मेरे नंबर को अपने फोन में सेव किया.

वह उसे एक दम लॉलीपॉप की तरह चूस रही थी और मैं उसकी बुर को रसगुल्ले की तरह चचोर रहा था. थोड़ी देर में मेरे लंड से पिचकारी निकली और बाथरूम के फर्श पर गिर गयी. आपको मेरी ये होम ट्यूटर सेक्स कहानी कैसी लगी, प्लीज़ मेल करके जरूर बताएं.

हहहह आ ह रश्मि, मुझे बस हमेशा से पता था तू ऐसी ही चुदक्कड़ होगी … उम्म मेरी जान … उछलती रह, मैं बस आने वाला हूँ … आ आ आ हहह … हां रंडी बस ऐसे ही लंड लेती रह भैन की लौड़ी रुकना मत रंडी.

मैंने भी मौके की नजाकत को समझा और चुपचाप अपने घर से रात 8:00 बजे निकल के उनके घर की तरफ चल दिया. दोपहर का शो था … तो दोस्त से बात करने लगा कि आज मूवी देखने जाना है. मैं समझ चुका था कि अब दीदी की चूत को मेरा 8 इंच का काला मोटा मूसल लंड का इंतज़ार है.

जैसे ही सलमा से मेरी नजर मिली, मुझे करंट सा लगा और ऐसा ही करंट शायद सलमा को भी लगा था. मैं बिना कुछ पहने किचन में गया और फ्रिज से ठंडे पानी की बोटल निकालने लगा.

अब मैं फंस गया … पक्के दोस्त की शादी का मामला था, तो इस कारण से मैं भी उसे मना नहीं कर पाया. उस दिन उनके पति जिनको मैं चाचा कहता हूँ, दुकान का सामान खरीदने के लिए भिवानी की मार्केट में गये थे. वो टीवी और फिल्मों में काम करना चाहती थी … क्योंकि वो बहुत सुंदर दिखती थी.

भोजपुरी में सेक्सी डांस वीडियो

मैंने धीरे से अपना लंड पीछे को लिया और जोर से अन्दर की तरफ ठांसा तो उसके मुंह से ‘आह्ह अअह …’ निकल गया.

क्लास खत्म होने के बाद उसने मुझसे अपने साथ चलने को बोला और मैं बिना उससे कुछ पूछे उसके पीछे चल दी. फिर भी मैं नवीन को मजा देने के लिए झूठ मूट में ऐसे ही चीखने लगी- आह धीरे कर. तभी बुआ की सिसकारियां एकदम से बढ़ गयी थीं- उम्म्ह हह अह्ह ह्ह्ह्ह … मैं कट गई … आह!मैं समझ गया था कि वो अब झड़ने वाली हैं.

[emailprotected]सुहागरात की देहाती चुदाई कहानी का अगला भाग:मेरी बहन को मेरे रूममेट ने पटाकर चोदा. सेक्स कहानी में आगे बताने से पहले मैं अपने फ्लैट पार्टनर के बारे में बता दूं, जो कि मेरे ऑफिस में साथ काम करता है. लंड और बुर की चुदाईइंडियन एक्ट्रेस बॉलीवुड सेक्स देखने के बाद मैं वहां से निकल कर घर आ गया.

‘नहीं मम्मी, आप मेरे सामने ही पहन लीजिये न!’ गोगी अब भी वहां खड़ा खड़ा अपने पेट पर हाथ फिराते हुए बोला. मुझे यह सुनकर ख़ुशी मिली … मैं समझ चुका था कि अब कोई दिक्कत नहीं है, मैं भाभी को चोद कर खुश कर दूंगा.

जितनी बार मेरा लंड अन्दर जाता, कोमक के मम्मे उछल कर उसके गर्दन तक पहुंच जाते और वो ‘ई ई मां आह आह्ह … आईआ … आईहह …’ की आवाज़ निकलने लगती. अब जब भाभी मेरे पास खड़ी हुई, तो हमारी नज़रें भी बार बार मिल रही थीं. चूंकि मैं उसकी चुदाई के लिए बहुत दिनों से तड़प रहा था इसलिए मैं ज्यादा देर तक टिक भी नहीं पाया.

मैंने दनादन स्पीड से उसके भोसड़े में धक्के लगाए और उसकी कमर को इतनी जोर से कस लिया था कि शायद वहां से थोड़ा खून भी चमकने लगा था. बीच में मुझसे रहा न गया तो मैंने एक बार बाथरूम में जाकर लंड भी हिला कर शांत कर लिया था. इसके तुरंत बाद उसने अपना लंड का टोपा मेरी गांड के छेद पर रख दिया और वो लंड गांड में धंसाने लगा.

कोमल 5 फीट 4 इंच लंबी बंगाली लड़की है, जो अपने 34-26-34 की फिगर से कितने ही लंड को पैंट में शहीद कर देती होगी.

मैं समझ गया कि आज रात आंटी की चुत को मेरे लंड की मेहनत की जरूरत पड़ेगी. तभी एक दिन अपने घर के आँगन में पैर फिसलने से मुमताज गिरकर बेहोश हो गई.

वो शादीशुदा है मगर उसकी पत्नी उसके साथ गांव में नहीं रहती है, वो शहर में रहती है. दो दिन बाद बुर्का पहने नाज आई, सलाम करते हुए बोली- चचा, मैं नाज हूँ, 10 किलो चोकर चाहिए. जहां जहां उनके होंठ मुझे छू रहे थे, वहां मुझे ऐसा लग रहा था, जैसे वहां के मेरे रोंगटें खड़े हो रहे हों.

मैंने उसे अपनी बांहों में ले लिया और जल्दी ही नंगी अलीज़ा मेरे लंड के नीचे आ गई थी. एक रोज सुबह जैसे ही मैं ऑफिस जाने के लिए निकल रहा था तो श्याम ने मुझे आवाज दी. अब आगे जबरदस्त चुदाई की कहानी:मैंने उससे खाने पीने के लिए पूछा कि अब वो काम कैसे करेगी!उसने मेरी आंखों में देखा और अपनी आंखें बंद कर लीं.

सेक्सी बीएफ वीडियो देहाती एचडी शुरुआत के दो दिन मैं भी इसी तरह कॉलेज गयी, लेकिन मेरी किसी से दोस्ती या सही से बात ना हो सकी. उन्होंने भी सबक सीखने की सोच कर मेरी कमर में हाथ डाल कर ज़ोर से पकड़ लिया और अपने दोनों चूचे मेरी पीठ पर दे मारे.

गांव की मोटी औरत की सेक्सी

वो अपना मेकअप ऐसे करती थी … जैसे कोई मॉर्डन लड़की हो और उसकी शादी अब तक हुई ही नहीं हो. मां फिर से चिल्लाने लगीं पर अंकल जोर जोर से मां की चूत में लंड पेलते रहे. तब मॉम बोली- ये सब बाद में कर लेना … अभी मुझे और मत तड़पा! आज मुझे तू अपनी रखैल बना कर चोद दे … और रोज़ चोदना!ये सुनकर मेरी खुशी और जोश दोनों बढ़ गए.

मुझे इसका अहसास तब हुआ जब उसने मेरी चूत में अपनी दो उंगलियां घुसेड़ दीं और जोर जोर से चुत में उंगली करने लगा. वहां पर अपनी जीभ से नाभि को कुरेदना और चाटना शुरू कर दियाजेबा भी पूरी तरह से सिसकारी भरने लगीं. इंडियन हेवी ड्राइवरफिर भी मैं नवीन को मजा देने के लिए झूठ मूट में ऐसे ही चीखने लगी- आह धीरे कर.

फॅमिली चुदाई कहानी में पढ़ें कि मेरी दीदी की देवरानी से मेरी दोस्ती हो गयी.

उस रात हमारी थोड़ी मैसेज से बात हुई, जिसमें मैंने उसको अपने बारे में … और अपने घर के बारे में बताया. मैंने एक गहरी सांस ली और अपनी पूरी ताकत से एक धक्का उसकी चूत में मार दिया.

लेकिन मैं उसे तड़पाना चाहता था … इसलिए मैं उसकी बात को अनसुना करके जीभ को चुत में अन्दर बाहर करता रहा. पहले तो मैंने छूटने की कोशिश की लेकिन फिर मुझे अच्छा लगने लगा, मेरी बुर में चींटियां रेंगने लगी थीं. भाभी बोलीं कि बस मंगलसूत्र ही देख रहे हो … मुझे तो तुम्हारी नजर कहीं और जाती लग रही है.

लेकिन धीरे धीरे स्कूल की सहेलियों से पता चल गया कि इसको चुदाई कहते हैं और इसमें बहुत मजा आता है.

मेरे मुँह से बहुत तेज तेज आवाजें निकल रही थीं … क्योंकि मैं उनके धक्के सहन नहीं कर पा रही थी. मेरा लण्ड सामान्य से बड़ा है जिसकी वजह से आज मेरी पत्नी एक अच्छी सेक्स लाइफ जी रही है और मैं उसको खुश कर देता हूं. मेरी बस ये ख्वाहिश है कि एक बार तुम्हें जी भर के प्यार करना चाहता हूँ.

एक्स एक्स इमेजमैडम ने उसको बैठने को बोला, तो सारी लड़कियां खिसकते हुए उसके लिए जगह बनाने लगीं ताकि वो उनके पास बैठ जाए. क्योंकि मैं बाइक से आया था तो मैं बारिश और हल्की होने का इन्तजार करने लगा या ये कहो मेरे मन में चोर आ गया था.

कुंवारी कुंवारी लड़की की सेक्सी

जैसे ही हम दोनों ने कमरे में घुस कर उसे लॉक किया, हम दोनों एक दूसरे पर टूट पड़े. भाभी बोलीं- क्या हुआ देवर जी … आपकी पैंट इतनी ऊपर कैसे उठ गई? क्या छिपा रखा है आपने अन्दर!मैंने बोला- आप ही पता लगा लो कि पैंट कैसे उठ गई. मैंने नहाने के बाद ख़ाना बनाया और खाकर अपने बिस्तर पर आराम करने लगा.

होंठों को चूसना छोड़ कर मैंने उसकी तरफ देखा, तो वो शर्मा कर बोली- ऐसे मत देखो!आंखों में भर लेने दो आज … रोको मत. मैंने पूछा- भाई आज भी गांड में उंगली करोगे क्या?भाई ने बोला- नहीं अब तू तैयार हो चुका है … अब तेरी गांड को उंगली से नहीं, अब तुझे तेरी गुलामी का हिसाब देना होगा. अभी कुछ ही महीने पहले उनकी शादी हो गयी और वो अपनी ससुराल चली गई थीं.

मेरी बहन भी चुदवा कर निढाल हो गयी थी, उसके चेहरे पर पूर्ण संतुष्टि झलक रही थी. इसी बीच मेरी कुंवारी चुत में आशीष के मोटे लंड से चुदने की बहुत चुल्ल मचने लगी थी. सच कहूं तो शरद के द्वारा की हुई मेरी हर चुदाई को मैं लगभग हर रात याद करती थी.

दोस्तो, आप मेल करके मुझे जरूर बताएं कि जबरदस्त चुदाई की कहानी कैसी लगी. उसकी चुत चाटते हुए कुछ ही मिनट बाद मेरा लंड फिर से तैयार हो गया और मैंने उसकी चुत चाटना छोड़ करचुदाई का मनबना लिया.

फिर मैं अपना मन मार के छुटटी से वापस आ गया और 3 महीने बाद मुझे पता चला कि चाची ने एक लड़क को जन्म दिया है.

इस बीच मेरी चाची एक बार झड़ चुकी थी; उनकी चूत और मेरे लंड की टकराहट से चप चप की आवाज आना शुरू हो गई थी. लड़की से बातेंउसके सीने को चूमते व काटते हुए मैं उसकी पैंट के ऊपर से उसके लंड को सहलाने लगी. सेक्स पिक्चर वीडियो ब्लू पिक्चरउसकी लगातार 20 मिनट की ताबड़तोड़ चुत चटाई के बाद मेरे अन्दर का गर्म गर्म माल उसके मुँह में ही निकल गया. ऐसा दस मिनट तक होने के बाद राजू ने मेरी बीवी के मुँह में पानी छोड़ दिया.

चुदाई गर्ल सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि कैसे मेरी चूत के बाद मेरे यार ने मेरी गांड भी फाड़ दी.

अब मैं झड़ने वाली थी- आह मेरी जान, ओहतेरी चुत फाड़ दूंगा मैंआज रात … आह मेरी रश्मि … फाड़ दो मेरी चुत … हां और तेज चोदो … शरद … आह … शरद आह … ऊई मां … आह. दस मिनट उसकी कोमल उंगलियों को चूस चूस कर अपने थूक से गीला कर चुका था. मैंने एक नजर उसकी छोटी सी चूत पर डाली और लौड़े पर थपकी देकर उससे कहा कि बस मेरे लौड़े … अब तू इस कमसिन चूत को फाड़ने वाला ही है.

मैंने पूछा- इसका क्या मतलब हुआ?रघु ने बताया कि श्रेया कि सील भी उसी लड़के ने तोड़ी थी. इस सेक्स कहानी में मेरी जीएफ की एंट्री कैसे हुई और हम तीनों ने थ्रीसम सेक्स का मजा लिया. मेरे लौड़े के नीचे मार खा रही लता दर्द की वजह से लगातार कराह रही थी- ऊईई ईमा मां मर गईईई फाड़ दी आह रुक जा हरजाई … आह.

हिंदी सेक्सी चुदाई करते दिखाओ

उसको इतना ज्यादा मज़ा आ रहा था कि वो मादक आवाजों से चिल्ला रही थी- आह और और जोर से … आह अअउ … आह. पर बहुत जल्दी ही और केवल बीस साल की उम्र में मेरे साथ शादी हो जाने के कारण वो कुछ ख़ास मुकाम हासिल नहीं कर सकी थी. मेरा ध्यान बार बार ना चाहते हुए भी नन्दिनी की चूचियों पर जा रहा था.

आंटी ने अपने मम्मों की न्यूड पिक्स सेंड की तो मैंने भी आंटी को अपने खड़े लंड की फोटो भेज दी.

नंगे होने के बाद मैंने सरोज को लिटा दिया और उसकी टांगों को चौड़ा कर दिया.

पहली बार किसी रियल लाइफ की घटना गरम चुत की देसी चुदाई को बता रहा हूं इसलिए थोड़ा घबरा रहा हूं. मैंने उसकी टांगों को अपने कंधे पर लिया और उसकी गांड पकड़ कर जोर जोर से झटके मारने लगा. पावर रेंजरमैंने पहली बार मौसी की नंगी टांगें देखी थीं, बहुत ही गोरी और सुडौल टांगें थीं.

अर्शिया की मम्मी भी मान गईं और वो अर्शिया को मेरे घर ही छोड़ कर चली गईं. फिर अरविन्द ने धीरे-धीरे करके मेरे सारे कपड़े उतार दिए और रूम की लाइट ऑफ कर दी. उसने बताया था कि वो एक सरकारी जॉब करती है और अपनी सुरक्षा के प्रति ज्यादा जागरूक है.

पर मैं भी फ्रेश हो गया और कोमल को इण्टरकॉम पर कॉल करके आगे का प्लान बनाने लगा. अरे कुछ नहीं मम्मी, मैं तो मज़ाक कर रहा था, अगर आपका और पापा का हो गया हो तो आप कपड़े पहन लेना, तब तक मैं सुसु करके आता हूँ.

अचानक मुझे याद आया कि पेड़ के नीचे से आते समय अपने मोबाइल को डिक्की में रखते समय मेरे कॉलेज का आईडी कार्ड शायद वहीं गिर गया था.

मैं उस वक्त 12वीं कक्षा में पढ़ता था और उस अपने गांव से दूर शहर में किराए पर कमरा लेकर रहता था. एसी चैक करते टाइम मेरी नजरें उन मोहतरमा से हट ही नहीं रही थीं, उनके रसभरे उभार मुझे हद से ज्यादा पागल कर रहे थे. मैंने सारे कपड़े पहने, अपने सारे गहने पहने और अपने खुले बालों को संवार कर हल्का सा मेकअप किया, होंठों पर लाल रंग की लिपस्टिक लगाई.

xxxएक्सएक्सएक्स मैंने मैडम के साथ दो पैग खींचे और उसके बाद मैडम ने एक सिगरेट सुलगा ली. आज इस रूपवती को मैं एक ऐसी गिफ्ट दूंगा जो तुम्हारे साथ जीवन भर रहेगी.

ऐसा नहीं था कि समय सीमा सुनकर सिर्फ मैं ही आतुर थी; उसके भी हाथ का जोर मेरी गहरी योनि पर बढ़ता जा रहा था. दोस्तो, मैं मानसी रावत एक बार फिर से अपनी चुदाई की कहानी में आपका स्वागत करती हूँ. इस तरफ कोई नहीं आता था और आशीष कॉलेज टाइम में मुझे यहीं लाकर चोदता था.

ब्लू सेक्सी रोमांस

करीब 3 मिनट के बाद मुझे महसूस हुआ कि उसके मुंह से दर्द की सिसकारियां कम होने लगी थीं. वह कभी मेरी कमर और मेरे पेट पर हाथ फिराता तो कभी मेरी जांघों पर किस करता. मैंने अपनी मौसी की गांड मार ली थी और अब तो मौसी के सभी छेद रमा हो गए थे.

मॉम के बड़े बड़े बूब्स देखकर मेरा लन्ड उछलने लगा, मैंने सीधे मॉम के होंठ से होंठ मिला दिए और गहन चुम्बन करने लगे. वो पौंछा लगाते समय या कपड़े धोते समय अपनी साड़ी को इतना ज्यादा उठा देती थीं कि मुझे अक्सर उनकी पैंटी दिखाई दे जाती थी.

तभी उन्होंने मुँह ऊपर उठा कर अपने होंठ मेरे होंठों से चिपका दिए और मुझे चूमने लगीं.

मैंने अपना एक हाथ सीट पर रखा था और दूसरे में सब्जी का थैला पकड़ा हुआ था. उत्तेजना वश मैं और ज़ोर ज़ोर से चूची मसल रहा था, जिससे उनको दर्द हो रहा था. मैं वही तुम्हारी चिकनी चुत के मस्त मजे लूंगा जान!मैं- अच्छा अच्छा तुरंत दिमाग लगा लिए मेरे राजा डॉक्टर साहब.

उसकी लगातार 20 मिनट की ताबड़तोड़ चुत चटाई के बाद मेरे अन्दर का गर्म गर्म माल उसके मुँह में ही निकल गया. फिर अलग हुए तो हम दोनों ने बाथरूम में जाकर शॉवर लिया और एक दूसरे को साबुन से रगड़ रगड़ कर पूरा साफ़ कर दिया. मैं भी अपने कैरियर की चरम पर थी और हाल ही में मेरा भी अपनी कंपनी में प्रोमोशन हुआ था.

तभी वो मेरे पास आ गईं और बोलीं- क्या आपने कभी ट्रेन के बाथरूम में चुदाई की है?मैं बोला- नहीं … जब हमारे पास अच्छी जगह है, तो वहां क्यों?वो बोलीं- मुझे एडवेंचर सेक्स करना है, अगर आपको करना हो तो बोलो.

सेक्सी बीएफ वीडियो देहाती एचडी: फिर मैंने सोचा कि अभी मॉम को चोदने का अच्छा मौका है, डैड काफी दिन बाद आएंगे. शादी के समय से ही मेरे जेठ जी मुझ पर फिदा हो गए थे, क्योंकि शादी की रिसेप्शन पार्टी के समय से वो मेरे आगे पीछे कुछ ज्यादा ही मंडरा रहे थे.

मेरा लंड अभी पानी छोड़ने के मूड में नहीं था तो मैंने अब अंजुमन को घोड़ी बनाकर उसकी चूत को चोदना शुरू कर दिया. दर्द के मारे उसका चेहरा लाल हो गया मगर मैं तो जैसे स्वर्ग में पहुंच गया था।उसकी चूत में लंड डालकर जो मजा आ रहा था वो दुनिया का सबसे खूबसूरत अहसास था. उसके झटके तेज़ हो रहे थे और वो पागलों की तरह मेरी चुत चोदे जा रहा था.

और मैं इतनी सेक्सी हूँ कि मेरे पड़ोस के लड़के मुझे लाइन मारते रहते हैं और मैं कितनों के साथ चुदाई के मजे भी ले चुकी हूँ.

फिर मैंने पूरी ताकत से मारा तो नील दर्द से छटपटाने लगा और उसके मुंह से आवाज निकलने लगी- आहह हहह. अंजुमन की चूत पानी निकलने से चिकनी हो चुकी थी इसलिए एक ही झटके में उसकी चुत ने मेरा आधा लंड अन्दर तक ले लिया था. उसने- तुम साड़ी ही पहनती हो या कभी जींस टॉप या मिडी स्कर्ट भी पहना है!मैं- जी, सिर्फ साड़ी ही पहनती हूँ.